Sunday, June 30, 2019

ड्यूटी फरार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की सेवा हो सकती है समाप्त नही तो जिमेदारी से करें अपना का।

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी

पोषण अभियान में लापरवाही बरतने वाले  सीडीपीओ व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां अब डीएम के निशाने पर आ गई हैं। ड्यूटी से फरार चल रहीं व कार्यों में रूचि न लेने वाली आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की बर्खास्तगी की कार्यवाही होने जा रही है, वहीं लापरवाह सीडीपीओ से जवाब तलब उनके निलम्बन की कार्यवाही करने के आदेश डीएम ने दिए हैं। यह कार्यवाही डीएम डा0 नितिन बंसल ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला पोषण समिति एवं पोषण मिशन की समीक्षा के दौरान की है।डीएम ने मीटिंग में स्पष्ट चेतावनी दी है कि अब पोषण मिशन में आंकड़ेबाजी बन्द कर दें तथा गांवों को गोद लेने वाले अधिकारी अपने-अपने गोद लिए हुए गांवों में जाकर पोषण की स्थिति स्वयं देखें तथा करेन्ट रिपोर्ट से उन्हें अवगत कराएं। उन्होने कहा कि दफ्तरों में बैठकर सिर्फ आंकड़े भर कर उनके सामने आने वाले अधिकारी अब कार्यवाही के लिए तैयार रहें। उन्होने कहा कि अधिकारी होने के नाते जनता उनकी बातों को मानती है तथा विश्वास करती है इसलिए मानवता के नाते वे इस कार्य में व्यक्तिगत रूचि लें। बाल पुनर्वास केन्द्रों में अपेक्षानुसार कुपोषित बच्चों की संख्या बेहद कम मिलने पर डीएम ने बैठक में ही सीडीपीओ कटरा बाजार, मनकापुर, बभनजोत तथा छपिया को जमकर फटकार लगाई और सुधर जाने की चेतावनी दी है। वहीं कटरा बाजार, मनकापुर, बभनजोत, छपिया हलधरमऊ कई ब्लाकों के प्रभारी चिकित्साधिकारियों द्वारा महिलाओं को आयरन की गोलियां न बांटने पर लताड़ लगाई है। राशन कार्डो की फीडिंग में लापरवाही बरतने पर एआरओ गोण्डा, पूर्ति निरीक्षक तरबगंज, नवाबगंज, बभनजोत तथा छपिया से स्पष्टीकरण तलब किया गया है। ज्ञात हुआ कि तरबगंज में 2753 के सापेक्ष मात्र 356, नवाबगंज में 2576 के सापेक्ष 372 तथा बभनजोत में 5322 के सापेक्ष मात्र 282 राशन कार्ड न फीड हो पाए हैं। हाउस होल्ड सर्वे में सबसे पीछे रहने पर सीडीपीओ नगर से स्पष्टीकरण तलब कर निलंबन की चेतावनी दी गई है। इसके अलावा जिले की सभी 166 न्यायत पंचायतों में अन्तर्विभागीय बैठक आयोजित कराकर कन्वर्जेन्स कराने के निर्देश दिए गए हैं। सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर महिला हेल्पलाइन व अन्य जरूरी नम्बरों को प्रदर्शित कराने के भी निर्देश दिए गए हैं। प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे टीकाकरण व कुपोषित बच्चों की मानीटरिंग में लापरवाही न बरतें वरना कठोर कार्यवाही की जाएगी। डीएम ने कहा कि अगली बैठक में एक जिला स्तरीय अधिकारी व एक सीडीपीओ अपने गोद लिए हुए गांव के बारे में मीटिंग हाल में ही प्रजेन्टेशन देगें। प्रजेन्टेशन में फेल होने वाले अधिकारी के खिलाफ तत्काल एक्शन लिया जाएगा।
      बैठक में सीडीओ आशीष कुमार, सीएमओ  डा0 संतोष श्रीवास्तव, जिला कार्यक्रम अधिकारी दिलीप पाण्डेय, डीपीआरओ घनश्याम सागर, डीपीओ जयदीप सिंह, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव, जिला समाज कल्याण अधिकारी अंजनी वर्मा, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 आरपी यादव, एक्सईएन जल निगम, पीओ डूडा, तहसीलदार सदर वेद प्रकाश पाण्डेय, सभी खंड विकास अधिकारी, सीडीपीओ तथा प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment