Thursday, June 20, 2019

गोंडा में गेंहू खरीद में लापरवाही पर नपे अधिकारी

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
स्टेट इंचार्ज यूपी

लक्ष्य के सापेक्ष गेहूं खरीद न करने तथा खरीद के सापेक्ष भुगतान न करने पर पीसीएफ के क्षेत्रीय प्रबन्धक वी0एस0 कुशवाहा तथा यूपी एग्रो प्रबन्धक को प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई है। यह कार्यवाही देवीपाटन मण्डल के आयुक्त महेन्द्र कुमार ने गेहूं खरीद की मण्डलीय समीक्षा में की है।
बताते चलें कि विपणन वर्ष 2019-20 के तहत इस साल गेहूं खरीद की समीक्षा लगातार मण्डलायुक्त द्वारा की जा रही है। समीक्षा में ज्ञात हुआ कि मण्डल में कुल 269900 हजार मीटरिक टन  खरीद होेनी थी जिसमें से गोण्डा में कलु 71 हजार मीटरिक टन, बलरामपुर में 3500 हजार मीटरिक टन, बहराइच में 133500 हजार मीटरिक टन तथा  श्रावसती में 32900 हजार मीटरिक टन गेहूं की खरीद होनी थी जिसके सापेक्ष गोण्डा में 33444 हजार मीटरिक टन, बलरामपुर में 20292 हजार मीटरिक टन, बहराइच में 75201 हजार मीटरिक टन तथा श्रावस्ती में 19000 हजार मीटरिक टन खरीद हो सकी है और देवीपाटन मण्डल का कुल लक्ष्य के सापेक्ष खरीद का प्रतिशत 55 प्रतिशत है। निर्देश के बावजूद पीसीएफ द्वारा लक्ष्य 159500 हजार मीटरिक टन के सापेक्ष 136855 हजार मीटरिक टन की ही खरीद की गई और खरीद के सापेक्ष भुगतान की स्थिति बहुत कम पाइ गई। नाराज आयुक्त ने प्रतिकूल प्रविश्अि देते हुए चेतावनी दी है कि यदि तीन दिन में सुधार न हुआ उनके खिलाफ कार्यवाही के लिए प्रबन्ध निदेशक पीसीएफ को लिख दिया जाएगा। वहीं यूपी एग्रो के प्रबन्धक द्वारा बहुत कम लक्ष्य होते हुए भी खरीद न कर पाने पर प्रतिकूल प्रविष्अि दी गई है। मण्डलायुक्त ने सभी क्रय एजेन्सियों के अधिकारियों को अद्वतन रिपोर्ट के साथ सोमवार 24 जून सोमवार को तलब किया है। मण्डलायुक्त ने यह भी निर्देश दिए कि मण्डी व एफसीआई में कही भी खाद्यान्न खुले में न रहने पावे। उन्होने कहा कि बरसात आने वाली है इसलिए सभी अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें कि कहीं भी अनाज खुले में न रहने पावे।
        बैठक में आरएफसी दिनेश शर्मा, डिप्टी आरएमओ गोण्डा, बहराइच, बलरामपुर व श्रावस्ती, आरएम पीसीयू, यूपी एग्रो सिहत अन्य संस्थाओं के अधिकारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment