Sunday, June 9, 2019

फर्जी डिग्री विवाद छात्रों ने प्रबन्धको को बनाया बंधक

उत्तर प्रदेश का एजुकेशन हब कहे जाने वाले ग्रेटर नोएडा में स्थित शारदा यूनिवर्सिटी में फर्जी डिग्री का विवाद अभी थमा भी नहीं कि अब नॉलेज पार्क स्थित एआईएचएम कालेज में में फर्जी डिग्री विवाद गहरा गया है। लाखों रुपये खर्च करने के बाद फर्जी डिग्री थमाए जाने से नाराज छात्रों ने प्रबंधकों को बंधक बना लिया। पुलिस ने उन्हें जेल भेजने की धमकी दी, लेकिन छात्र अपनी बात पर अड़े हुए हैं। कई छात्रों ने सुसाइड नोट लिख रखा है। उनका कहना है कि यदि उनकी समस्या का समाधान नहीं हुआ तो वे बिल्डिंग से कूदकर आत्महत्या कर लेंगे। एआईएचएम कालेज में अलग-अलग कोर्सेस में एडमिशन लेने वाले छात्रों का गुस्सा अब कालेज प्रबंधन के खिलाफ चरम पर है। शनिवार को छात्रों दो प्रबंधकों प्रखर और अंकित को बाथरूम में बंद कर बंधक बना लिया। उनका मोबाइल फोन भी अपने कब्जे में कर लिया। छात्रों का कहना है कि वे कालेज के मुख्य प्रबंधक विनीत से मिलना चाहते हैं। लेकिन, विनीत उनसे नहीं मिलना चाहते हैं। गुस्साए छात्रों का कहना है कि उन्होंने रेगुलर कोर्सेसे में दाखिला लिया था। उसके लिए उन्होंने लाखों रुपये बतौर फीस जमा की है। अब उन्हें डिस्टेंस की डिग्री दी जा रही है।
छात्रो का आरोप है कि कालेज ने विद्यार्थियों को फर्जी डिग्री दे दी। कालेज के एक छात्र ने जिलाधिकारी बीएन सिंह  को दिए पत्र में कहा है कि उसने एआईएमएच कालेज में वर्ष-2015 में एडमिशन लिया था। वर्ष-2018 में उनका कोर्स खत्म हो गया। लेकिन, डिग्री अब तक नहीं मिली। विपुल शर्मा नाम के छात्र ने बताया कि कुछ समय पहले वह पंजाब स्थित लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के लिए गया था। वहां उसके मार्कशीट का फर्जी बताया गया। यह भी बताया गया कि कालेज का यूजीसी में रजिस्ट्रेशन न होने के कारण उसे एडमिशन नहीं मिल सकता है। वहां से लौटने के बाद जब एआईएचएम कालेज के मैनेजमेंट से संपर्क किया तो बताया गया कि आपको जो कार्रवाई करनी है, कर लो। कालेज के डायरेक्टर विनीत से भी मिलने की कोशिश की, लेकिन संभव नहीं हो सका। जब पुलिस बंधक बनाए प्रबन्धको छुड़ाने पहुंची तो छात्रों कहा कि उन्होंने अपने सुसाइड नोट लिख रखे हैं। यदि उनकी समस्या का समाधान नहीं हुआ तो वे सामूहिक रूप से कालेज की बिल्डिंग से कूदकर आत्महत्या कर लेंगे। छात्रों का आरोप है कि पुलिस प्रबंधकों का ही पक्ष ले रही है और उसे बचाने की कोशिश कर रही है। प्रबंधकों को बंधक बनाने के बाद आई पुलिस ने छात्रों को ही जेल भेजने की धमकी दी। लेकिन, छात्रों ने भी दो टूक कह दिया, कुछ भी हो, न्याय के बिना कोई समझौता नहीं होगा।

No comments:

Post a Comment