Friday, June 14, 2019

जिले के नोडल अधिकारी ने अस्पताल और तहसील का किया निरीक्षण

गोंडा ब्यूरो पवन कुमार द्विवेदी
शासन से नामित जिले के नोडल अधिकारी प्रमुख सचिव उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण सुधीर गर्ग ने शुक्रवार को जनपद पहुंचकर विभिन्न विभागों का निरीक्षण किया तथा जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर शासन के प्राथमिकता कार्यक्रमों की विभागवार समीक्षा की।नोडल अधिकारी श्री गर्ग सबसे पहले जिला महिला अस्पताल पहुंचे। वहां पर पहुंचते ही उन्होने सीएमएस ए0पी0 मिश्र से संस्थागत प्रसवों के बारे में जानकारी ली। इसके बाद उन्होने भोजनालय, औषधि भण्डार तथा जननी सुरक्षा योजना कार्यालय का निरीक्षण किया। वहां पर उन्होने दवाओं की उपलब्धता और डिमाण्ड के बारे में गहन पूछताछ की तथा रजिस्टर चेक किया। इसके बाद वे सीधे ओपीडी कक्ष पहुंचे। वहां पर उन्होने रजिस्ट्रेशन कक्ष, पैथालोजी रिपोर्ट प्राप्ति काउन्टर पर मौजूद कर्मियों से पूछताछ की तथा वहीं पर उन्होने मरीजों व तीमारदारों से भी बात कर व्यवस्थाओं की हकीकत जानने का प्रयास किया। कुछ तीमरादारों द्वारा रैन बसेरा न खुलने की शिकायत की गई जिस पर उन्होने सीएमओ को निर्देश दिए कि हर हाल में रैन बसेरा खुलना चाहिए और तीमारदारों के बैठने का समुचित प्रबन्ध करने के सख्त निर्देश दिए। अस्पताल परिसर में एक जर्जर भवन को उन्होने ध्वस्त कराने के निर्देश सीएमएस को दिए हैं। इसके बाद उन्होने शौचालय, वाश बेसिन, दवा वितरण काउन्टर का निरीक्षण किया। दवा वितरण कक्ष में दवा वितरण रजिस्टर मेनटने नहीं मिला। इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए उन्होने तत्काल दवा वितरण रजिस्टर बनाते हुए वितरण व उपलब्ध स्टाॅक का मिलान कराकर रोजाना रिपोर्ट तैयार कराने के निर्देश दिए। टीकाकरण कक्ष में मौजूद कर्मचारी उन्हे टीकारकण के बारे में संतोषजनक जवाब नहीं दे सकी और संस्थागत प्रसव के सापेक्ष टीकाकरण नहीं मिला। अल्ट्रासाउण्ड कक्ष में बताया गया कि रोजाना ढाई सौ के आस-पास अल्ट्रासाउण्ड किया जाता है जिस पर वे संतुष्ट नही दिखे। सैम्पलिंग कक्ष में प्रमुख सचिव ने मौजूद कर्मी से सैम्पलिंग के बारे में पूछा और स्वयं का खून निकलवाकर जांच रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। 102 व 108 इमरजेन्सी सेवा के बारे में भी उन्होने विधिवत जानकारी ली और रिस्पान्स टाइम बेहतर बनाने के निर्देश दिए। उन्होने 102 व 108 सेवा की पूरी रिपोर्ट सीएमओ से मांगी है। बताया गया कि अस्पताल में रेडियोलाजिस्ट न होने की वजह से अल्ट्रासाउण्ड में दिक्कत आ रही है। उन्होने सीएमओ को निर्देश दिए कि अगले निरीक्षण के पहले वे सभी खामियों को दूर करा लें और स्वास्थ्य सेवाओं को दुरूस्त करा दें।
इसके बाद प्रमुख सचिव सीधे तहसील सदर पहुंचे। वहां पर अभिलेखागार में पान की पीचें देखकर वे नाराज हो गए। उन्होने साफ चेतावनी दी कि कार्यालयों में गन्दगी फैलाने वालों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही की जाय और हर हाल में सरकारी दफ्तरों को साफ-सुथरा रखा जाए। तहसील में उन्हें अभिलेखों का रखरखाव ठीक नहीं मिला उन्होने तत्काल सुधार कराने के निर्देश दिए। तहसील कार्यालय में ही संचालित आपूर्ति विभाग के कार्यालय में महत्वपूर्ण दस्तावेजों को उन्होने वहां से हटवाकर डीएसओ कार्यालय में सुरक्षित रखवाने के निर्देश दिए हैं। एसडीएम कोर्ट पर पहुंचकर उन्होने मुकदमा व पत्रावलियों के निस्तारण का जायजा लिया।
निरीक्षण के दौरान डीएम डा0 नितिन बंसल, एसपी आर0पी0 सिंह, सीडीओ आशीष कुमार, सीएमओ डा0 संतोष श्रीवास्तव, नगर मजिस्ट्रेट राकेश सिंह, एसडीएम सदर नितिन गौर, सीएमएस डा0 ए0पी0 मिश्र, सीओ सिटी महावीर सिंह, सीओ करनैलगंज जितेन्द्र दूबे व अन्य मौजूद रहे।नोडल अधिकारी ने जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास कार्यक्रमों की परखी हकीकत निरीक्षण के बाद प्रमुख सचिव ने कलेक्ट्रेट मीटिंग हाॅल में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर शासन के प्राथमिकता कार्यक्रमों की विभागवार समीक्षा की। उन्होने मीटिंग शुरू होने से पहले सभी अधिकारियों का परिचय लिया और उन्हें साफ संदेश दे दिया कि सरकार विकासपरक व जनकल्याणकारी कार्यक्रमों को लेकर बेहद संवेेदनशील है और जीरो टाॅलरेन्स की नीति पर काम कर रही है।  इसलिए वे सब व्यक्तिगत रूचि लेकर कार्यक्रमों को धरातल पर लागू करें। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, बीज व उर्वरकों की उपलब्धता हर हाल में सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। प्रोबेशन व समाज कल्याण विभाग में लम्बित पेंशन आवेदनों को एक माह के अन्दर शून्य करने की चेतावनी दी है। पाइप्ड पेयजल योजनाओं के सही व सुचारू संचालन के निर्देश एक्सईएन जल निगम को दिए हैं। उन्होने कहा कि सरकार का लख्य है कि जल्द से जल्द हर घर को शुद्ध पेयजल मुहैया कराया जायं इसलिए करोड़ों की लागत से बन रही पाइप्ड पेयजल योजनाओं पर तेजी से और गुणवत्तापरक काम किया जाय। एआरटीओ को सख्त निर्देश दिए कि जिले में डग्गामार, कन्डम वाहनों एवं बिना परमिट के चल रहेे वाहनों के खिलाफ अभियान चलाकर ऐसे सभी वाहनों को दस दिन के अन्दर सीज करने की कार्यवाही करें तथा यह भी सुनिश्चित करें कि आरटीओ दफ्तर में किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार न होने पावे। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि फरेन्दा-जरवल मार्ग पर निर्माणाधीन फोरलेन सड़क का काम जल्द से जल्द पूरा कराएं। एक्सईएन विद्युत को निर्देश दिए प्रत्येक दशा में विद्युत चोरी रोकी जानी चाहिए। ओर विद्युतीकरण योजना में युद्धस्तर पर काम किया जाय। उपश्रमायुक्त उद्योग से वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट की संतोषजनक स्थिति नहीं मिली। कुक्कुट उद्योग को बढ़ावा देने के निर्देश दिए और एलडीएम को सख्त निर्देश दिए कि उद्योग लगाने के इच्छुक आवेदकों को बिना कियी परेशानी के लोन दिलाएं। बेसिक शिक्षा अधिकारी को नसीहत दी कि वे समय से पाठ्य पुस्तकों व पाठन सामग्रियों का वितरण सुनिश्चित कराएं। छात्रों की उपस्थिति पंजीकरण के सापक्ष सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि समय से पशुओं का टीकाकरण करा दिजया जाय तथा गौ आश्रय केन्द्रांें पर पशुओं के लिए समुचित प्रबन्ध कराएं जिससे पश्ुाओं की हानि न हो। एक्सईएन बाढ़ वी0एन0 शुक्ला सेया एल्गिन-चरसड़ी बांध के निर्माण की रिपोर्ट ली और बाढ़ आने से पहले बंधे का निर्माण कार्य पूरा कराने के निर्देश दिए।
         स्वच्छता कार्यक्रमों की समीक्षा में उन्होने सभी अधिशासी अध्किारियों की जमकर क्लास ली। उन्होने स्पश्ट किया कि नगरीय क्षेत्रों में कहीं भी गन्दगी न मिले। अभियान चलाकर सफाई कराई जाय। ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन के लिए भी ठोस कदम उठाने तथा लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि अगला निरीक्षण वे नगर निकायों का करेगें इसलिए अभी से तैयारी कर लें। अन्त में उन्होने एसपी सेे कानून व्यवस्था ककी विधिवत जानकारी ली।। उन्होने निर्देश दिए कि कोई भी मजिस्ट्रेट अपने न्यायालयों पर छः माह से ज्यादा मुकदमों का न लटकाएं।
          बैठक में डीएम डा0 नितिन बंसल, एसपी आर0पी0 सिंह, सीडीओ आशीष कुमार, सीआरओ राजितराम प्रजापति, सीएमओ डा0 संतोष श्रीवास्तव, नगर मजिस्ट्रेट राकेश सिंह, एसडीएम सदर नितिन गौर,सीएमओ डा0 संतोष श्रीवास्तव सहित सभी एसडीएम, सीओ सिटी महावीर सिंह, डीपीआरओ, डीपीओ, पीडी, डीसीओ, एआरटीओ, एलडीएम, डीडी एग्रीकल्चर सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment