Wednesday, July 3, 2019

नोएडा सौरभ तोमर की हत्या में दो महिला समेत चार गिरफ्तार

पुलिस ने 10 जून से लापता सौरव तोमर के मामले की जांच के बाद खुलासा किया है सौरव को हनी ट्रैप फंसा हापुड़ बुला कर उसकी हत्या कर दी गई, उसके शव गढ़मुक्तेश्वर नहर में फेंक दिया गया था। पुलिस की जांच में हत्या का मोटिव जेल में बंद बदमाश की पत्नी से संबंध बनाने को बताया जा रहा है। पुलिस ने हत्या के चार आरोपियों के गिरफ्तार किया है। जबकि दो की तलाश अभी जारी है। पकड़े गए आरोपियों में दो महिलाएं भी शामिल हैं। उनके पास से हत्या में इस्तेमाल कुल्हाडी, घटना मे प्रयुक्त 3 मोबाइल फोन तथा एक महिन्द्रा पिकअप गाड़ी बरामद की गई है।  पुलिस की गिरफ्त में खड़े रमेश कुमार, मैसी उर्फ महेश, प्रीति उर्फ राधिका और निशा उर्फ अफसाना पर आरोप है कि इन लोगो ने रिंकू और राजेन्द्र के साथ मिल कर सौरव को हनी ट्रैप में फंसा कर हापुड़ बुलाया जहां कुल्हाड़ी से काटकर उसकी हत्या कर दी और उसके शव को अपनी गाड़ी में रखकर गढ़मुक्तेश्वर नहर में डाल दिया। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल की गई खिलाड़ी घटना में प्रयुक्त 3 मोबाइल फोन एक महिंद्रा पिकअप गाड़ी भी बरामद की गई है जबकि रिंकू और राजेन्द्र कि गिरफ्तारी के दबिस दी जा रही है। सौरभ कि हत्या का कारण गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि जेल में बंद रिंकू कि पत्नी से संबंध बनाने के कारण कि गई थी। सौरभ तोमर के अवैध सम्बन्ध निशा उर्फ अफसाना से थे। निशा का पति रिन्कू उर्फ रंजीत मुजफ्फरनगर जेल मे निरूद्ध था। जेल से छूटने पर रिन्कू ने ही अपने भाई रमेश की पत्नी प्रीति को राधिका बनाकर सौरभ तोमर से मोबाइल पर बातचीत शुरू कराई। योजना के अनुसार प्रीति ने प्रेम प्रसंग में फंसाकर 26 जून को सौरभ को मिलने के लिए ग्राम लोधीपुर थाना गढ़ जिला हापुड़ मे बुलाया। सौरभ के आने पर उसकी कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी गई। हत्य के बाद सौरभ के शव को अपनी गाड़ी पिकअप में रखकर गढ़मुक्तेश्वर नहर में डाल दिया और मृतक की स्विफ्ट कार को लावारिस हालत में एनटीपीसी के पास छोड़कर फरार हो गये थे।

No comments:

Post a Comment