Sunday, July 7, 2019

केजीएमयू के ट्रामा सेंटर पन्द्रह घण्टे तड़फता रहा मासूम नही पहुंचा कोई डॉक्टर

लखनऊ। केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में इलाज के दौरान लापरवाही ने एक बच्चे की जान ले ली।
  मासूम करीब 15 घंटे तक तड़पता रहा, लेकिन सीनियर डॉक्टर उसे देखने नहीं पहुंचे। परिवारीजनों की गुहार को भी अनसुना कर दिया गया।
चिकित्सा शिक्षा मंत्री कार्यालय से फोन आने के बाद शुक्रवार दोपहर को सीनियर डॉक्टर बच्चे को देखने पहुंची, लेकिन तब तक मासूम की सांसें थम चुकी थीं।
  परिवारीजनों ने मुख्यमंत्री और चिकित्सा शिक्षा मंत्री से पूरे मामले की शिकायत की हैकेजीएमयू में डॉक्टरों की ऐसी लापरवाही के मामले आए दिन सामने आते हैं।
एक विभाग में भर्ती होने वाले मरीज को देखने के लिए बार-बार पत्र भेजा जाता है। इसके बाद भी दूसरे विभाग के डॉक्टर मरीज देखने नहीं जाते। इतना ही नहीं जिस विभाग में मरीज भर्ती होता है, उसके सीनियर डॉक्टर भी उसके पास जाने से कतराते हैं।

No comments:

Post a Comment