Tap news india

Tap here for latest news, entertainment news from India in Hindi. Read news from your city top news in india .हिंदी में

Breaking news

Saturday, 7 September 2019

जेल में पहुंचा हेड कांस्टेबल और कैदी हुआ बाहर


गाजियाबाद मसूरी थाना की हवालात में बंद मादक पदार्थ की तस्करी का आरोपी पहरे पर तैनात हेड कांस्टेबल को चकमा देकर फरार हो गया आरोपी के हवालात से भागने की सूचना पर पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया और आनन-फानन में पुलिस के आला अफसर थाने पहुंचे और ड्यूटी में लापरवाही दिखाने के आरोप में हेड कांस्टेबल को सस्पेंड कर उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने के आदेश दे दिए जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया पुलिस का कहना है कि ऋषिकेश सैमसंग कंपनी के शोरूम में हुई चोरी के मामले में शामिल था जिसको मसूरी पुलिस ने डेढ़ किलो गांजे के साथ गिरफ्तार किया था इस पर एसएसपी नीरज कुमार यादव ने मीडिया को बताया कि आरोपी मोहसिन को पुलिस ने वीरवार देर रात एनडीपीएस के मामले में गिरफ्तार किया था ।



और उसे हवालात में रखा गया था आरोपी ने उत्तराखंड ऋषिकेश थाना क्षेत्र के एक सभासद के साथ मिलकर चोरी की वारदात को अंजाम दिया था और इस मामले में फरार था लेकिन कुछ दिनों के बाद गांजा के साथ पकड़े जाने पर पुलिस ने आरोपी को थाने के लॉकअप में बंद कर रखा था जहां पर आरोपी सुबह 4:00 बजे पेट दर्द का बहाना बनाकर हवालात से बाहर आया और फिर हेड कांस्टेबल को चकमा देकर फरार हो गया इस मामले में जयकरण सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है और भागे हुए आरोपी की तलाश की जा रही है पुलिस का कहना है कि आरोपी ने बीमारी की बात बोलकर पेट में दर्द होने की बात कही थी उसे दर्द से चिल्लाता देख हेड कांस्टेबल ने उसे बाहर निकाल दिया था और हथकड़ी खोलने के बाद कांस्टेबल उसे वासरूम ले गया और बाहर इंतजार करता रहा बाहर आने के बाद मोहसिन ने पहले तो उस कांस्टेबल का धन्यवाद किया और फिर उसे धक्का देकर वहां से फरार हो गया है हेड कांस्टेबल ने उसे पकड़ने की कोशिश तो बहुत की लेकिन वह बहुत दूर निकल गया था उसके बाद सकते में आई पुलिस ने आनन-फानन में सभी क्षेत्रों में बदमाश की तलाश शुरू कर दी लेकिन आरोपी अभी तक पुलिस की पकड़ से बाहर है जिसकी सूचना पर थाने पहुंचे आला अधिकारियों ने लापरवाही बरतने के आरोप में हेड कांस्टेबल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसे हवालात में बंद करने का  आदेश दे दिया।

No comments:

Post a Comment