Tap news india

Tap here for latest news, entertainment news from India in Hindi. Read news from your city top news in india .हिंदी में

Breaking news

Tuesday, 3 September 2019

तनाव और डिप्रेशन से बचने के लिए फिटनेस है जरूरी

विभिन्न संस्कृतियों के संगम दिल्ली एनसीआर में एक चीज है जो कि सभी को एक ही वर्ग में खड़ा करती है और वह है यहां की जीवन शैली बड़ी-बड़ी कंपनियां फूड चैन पार्टी कल्चर रेस्तरां और बार सभी को एक ही रंग में रंग देते हैं यहां की लाइफ स्टाइल चकाचौंध से भरी है जिसका आकर्षण उस वक्त तक लोगों को बांधे रखता है जब तक वे बीमार नहीं हो जाते तब तक बहुत देर हो जाती है कई सर्वेक्षणों में सामने आया है कि दिल्ली-एनसीआर में बदलता हुआ खानपान और उसे बढ़ता हुआ तनाव अवसाद और भागदौड़ युवाओं को अंकित बना रहा है आपको बताते चलें कि हिन्द बड़े शहरों की चकाचौंध भरी लाइफ में हर तरफ मौज मस्ती का आलम है लेकिन फिर भी युवा कम उम्र में ही डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं हाल ही में एक निजी स्वास्थ्य बीमा कंपनी के सर्वे में यह बात सामने आई है की एनसीआर में 65% युवा डिप्रेशन का शिकार हैं सर्वे में यह बात भी सामने आया है कि शहरी युवाओं में यह प्रतिशत बढ़ा है जबकि बड़ी उम्र के लोगों में अधिवेशन का प्रतिशत अपेक्षाकृत कम हुआ है ।
जिस पर मनोचिकित्सक सलाहकार सौम्या मुद्गल का कहना है कि हम लोग पुरानी सामाजिकता को भूलते जा रहे हैं व्यायाम व योग नहीं करते हेल्थी फ़ूड नहीं खाते तो जाहिर सी बात है कि अवसाद होगा ही युवाओं के ऊपर फैमिली को बेस करना बॉस को इंप्रेस करना और फिर काम भागदौड़ सब तनाव को बढ़ावा देते हैं जब मैं लोगों को देखती हूं तो पाती हूं कि इतना बदलाव आ गया है कि आज के दौर में ना तो लाइफ है ना स्टाइल है सिगरेट शराब जैसी चीजें हाइपरटेंशन हृदयाघात व डायबिटीज के शिकार बना रहे हैं लेकिन युवा ज्यादा दर इन सब चीजों का प्रयोग करने से बाज नहीं आ रहे हैं इसलिए हमें अपनी व्यस्त जीवनशैली में कुछ समय अपने लिए भी निकालना चाहिए जिससे आप स्वस्थ रह सके अगर आपका शरीर स्वस्थ नहीं रहेगा तो आप कुछ भी नहीं कर सकते ।
क्योंकि फिटनेस बॉडी केवल आकर्षण के लिए ही नहीं होती है बल्कि या मानसिक सुकून के लिए भी आवश्यक है इसको अपने ब्रेकफास्ट और लंच की तरह रूटीन में शामिल कर कर अपने शरीर पर ध्यान रखें लगाता जंक फूड खाना भी आपके सेहत के लिए ठीक नहीं है लेकिन अपने पसंदीदा भोजन से समझौता मत कीजिए जो पसंद हो खाना चाहिए लेकिन इसकी एक ही शर्त है यह नियमित रूप से वर्कआउट जरूर करें वैसे भी फिटनेस को लोग आजकल गलत तरीके से देखते हैं फिटनेस का मतलब केवल बॉडी बनाना ही नहीं है बल्कि यहां अपने शरीर को तरोताजा और ऊर्जावान देखने के लिए जरूरी है

No comments:

Post a Comment