Tap news india

Tap here ,India News in Hindi top News india tap news India ,Headlines Today, Breaking News, latest news City news, ग्रामीण खबरे हिंदी में

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Wednesday, 9 October 2019

आज के दौर में इंसान का नम्र होने के साथ साथ चतुर होना भी बेहद जरूरी है जाने क्यों



आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में आगे निकलने की आपाधापी में लोग एक दूसरे को नीचा दिखाने और छल कपट करने से भी बाज नहीं आते हैं ऐसे दौर में जीना है तो हर समय अपना दिमाग खुला रखना होगा आज के दौर में व्यक्ति का चतुर और खुले दिमाक वाला होना बहुत जरूरी है नहीं तो लोग सिर्फ आपको यूज़ करते रहेंगे और आप यूज़ होते रहेंगे आपकी होशियारी यह सिर्फ आपकी ताकत ही नहीं है आपका व्यक्तित्व इसमें अहम भूमिका निभाता है जीवन में अगर आप कुछ भी करना चाहते हैं तो उसकी चाबी है खुद पर विश्वास करना अगर आप आत्मविश्वास  नहीं है तो ज्यादातर आपके काम रुक रुक कर ही चलेंगे या यूं कहिए चलेंगे ही नहीं इसलिए अपनी काबिलियत पर कभी भी शक नहीं करना चाहिए आप हमेशा अपने से कहे कि मैं हर वह काम कर सकता हूं जो दूसरा कर सकता है यह काम मेरे लिए है इसके अलावा हमेशा आप अच्छी और सफलता से जुड़ी  प्रेरणादायक कहानियों को  इससे जीवन में आगे बढ़ने का प्रोत्साहन मिलता रहेगा आज के दौर में अपने अंदर अच्छा व्यक्तित्व बनने के अलावा विकास लाने का एक और सबसे बड़ा कार्य है वह है अपनी दिव्य दृष्टि को खुला रखना दूसरों की बात को ध्यान से सुने और अपने दिमाग के बल पर अपना सुझाव या उत्तर दें अपने फैसलों को खुद के दम पर पूरा करें क्योंकि दूसरों के फैसलों पर चलना या कदम उठाना असफलता का मुख्य कारण होता है इसके अलावा कामयाब होने के लिए आपको अपने शारीरिक भाषा में भी सुधार करना चाहिए व्यक्तिगत विकास के लिए शारीरिक भाषा में सुधार लाना बहुत आवश्यक है इससे आप के विषय में बहुत कुछ पता चलता है चाहे वह आपके खाने का तरीका हो या बात करने का स्टाइल आपका बॉडी लैंग्वेज सब कुछ बयां कर देती है इस लिये  आप में सकारात्मक सोच जागृत करें चाहे आपकी बातें हो या आपके कार्य सभी जगह आपकी सकारात्मक सोच का होना अच्छे व्यक्तित्व के विकास के लिए बहुत जरूरी है जब कभी आपके सामने मुश्किल परिस्थितियां आए तो शांति से काम लेना चाहिए क्योंकि बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो मुश्किल के समय में घबरा जाते हैं इसलिए कभी भी मुश्किल पड़े तो घबराना नही चाहिए बल्कि इमरजेंसी के समय आपका दिमाग बिल्कुल खुला होना चाहिए तभी आप सामने आई हुई मुसीबत का डटकर सामना कर सकेंगे एक बात और आप भले ही कितने भी प्रतिभाशाली हो और बहुत बड़े व्यक्ति हो परंतु अगर आपके जीवन में विनम्रता नहीं है तो आपका व्यक्तित्व कभी अच्छा नहीं हो सकता बड़ा अहंकार करने वाले व्यक्तियों को कोई पसंद नहीं करता समय कैसा भी हो आप हमेशा खुश रहें और मस्त रहें दुनिया की हर चीज में खुशी देखने के प्रयास करें दूसरों के साथ हंसी मस्त रहें और आप हमेशा नए लोगों से जुड़ते रहे ज्यादा से ज्यादा नए लोगों से मिलना और उनसे बातें करना जरूरी है जिससे आप लोगों को अच्छी प्रकार से समझ पाते हैं लोगों की हां में हां मिलाने से बेहतर है कि आप उन्हें सुने सामने वाला आपसे क्या और किस मकसद से कह रहा है उस हिसाब से सोच कर उसको उचित जवाब देना चाहिए नहीं तो सामने वाला आप की सभ्यता का फायदा उठा कर अपना काम निकाल सकता है और आपको ठेंगा दिखा सकता है

No comments:

Post a Comment