Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Saturday, 19 September 2020

अंसारी महापंचायत 40 सीटों पर लड़ेगी चुनाव:अंसारी

महुआ(वैशाली)अंसारी समाज को राजनीति में हिस्सेदारी नहीं मिली तो अंसारी महापंचायत बिहार के 40 विधानसभा क्षेत्रों में अपना उम्मीदवार खड़ा करेगा।क्योंकि पूरे बिहार में अंसारी समुदाय लगभग 11.5 प्रतिशत है फिर भी किसी भी राजनीतिक दल ने इस समुदाय को आबादी का उचित हिस्सा नहीं दिया।यह बात अंसारी महापंचायत के संयोजक वसीम नैय्यर अंसारी ने महुआ के वी सेलिब्रेशन हॉल में अंसारी महापंचायत के बैनर तले आयोजित"संकल्प सभा"में उमड़ी जनसभा को संबोधित करते हुए कही।उन्होंने कहा कि बड़ी आबादी होने के बावजूद अंसारी समाज अभी भी राजनीतिक रूप से हाशिए पर है।हम उस पार्टी का समर्थन करेंगे जो आबादी के अनुपात में योगदान करती है।यदि किसी ने इस समाज को आबादी का हिस्सा नहीं दिया तो 2020 के विधानसभा चुनाव में जहां-जहां अंसारी समुदाय की आबादी 25,000 से अधिक है हम उन सभी निर्वाचन क्षेत्रों से अपना उम्मीदवार खड़ा करेंगे।क्योंकि लोकतंत्र में सभी की समान हिस्सेदारी है।फिर भी इतनी बड़ी आबादी के बावजूद अंसारी समाज को एमएलए,एमपी,एमएलसी या अन्य क्षेत्रों में किसी भी पार्टी द्वारा आबादी के अनुरूप हिस्सा नहीं दिया गया।जिस कारण यह समाज अब भी पिछड़ा हुआ है।मौके पर पूर्व एडीएम खुर्शीद अकबर अंसारी ने कहा कि वर्तमान में बिहार में सभी दलों के भीतर अंसारी महापंचायत की लहर को देखते हुए सभी राजनीतिक पार्टी के लोगों मे खलबली मच गई है।अंसारी समाज अब अपनी आबादी के लिए एकजुट हो गई है और सभी पार्टियों को चुनौती दे रहे हैं।समय आ गया है कि आप सभी एकजुट होकर अंसारी महापंचायत की आवाज को बुलंद करें।राजद पार्टी के पातेपुर प्रखंड अध्यक्ष मकबूल अहमद शाहबाज़पुरी ने कहा कि अगर अंसारी समाज अपने सभी संगठनों को एकजुट करके एक मंच पर आ जाएं तो यह समाज आसानी से अपना पूरा हिस्सा हर स्तर पर प्राप्त कर लेगा।यह सफल तभी होगा जब इस समाज के बड़े- बुजुर्गों को भी शामिल किया जाएगा।कोई मुस्लिम उम्मीदवार महुआ  विधानसभा क्षेत्र से आता है तो उसे एकजुट होकर मतदान करने की अपील की।सामाजिक कार्यकर्ता अल्हाज मोहम्मद फहीम उर्फ ​​बब्लू ने कहा कि वैशाली जिले में महुआ और पातेपुर विधानसभा क्षेत्रों में मुसलमानों की सबसे बड़ी आबादी है।इस आबादी को देखते हुए मैं सभी राजनेताओं से मांग करता हूं कि वैशाली में मुसलमानों की कम से कम 2 सीटें मिलनी चाहिए।अंसारी महापंचायत के उप संयोजक अब्दुल खालिक अंसारी ने कहा कि इस संकल्प सभा की जरूरत थी।क्योंकि आज हर समाज एकजुट है और अपने हिस्से की मांग कर रहा है। इसलिए पूरे बिहार में अंसारी समाज की एक बड़ी आबादी है।लेकिन किसी पार्टियों ने उचित हिस्सा देने के लिए काम नहीं किया।यही वजह है कि यह समाज अभी भी अपने हिस्से के मामले में अंतिम पायदान पर है।अब यह समाज अपने हिस्से के लिए अंसारी महापंचायत के साथ एकजुट है।इस अवसर पर अंसारी महापंचायत वैशाली के जिलाध्यक्ष अरशद अंसारी ने संयोजक वसीम नैय्यर अंसारी,पूर्व एडीएम खुर्शीद अकबर अंसारी,उप संयोजक अब्दुल खालिक अंसारी, संस्थापक डॉक्टर रजी अंसारी,संगठन सचिव जमालुद्दीन अंसारी,स्टार प्रचारक अब्दुल वहाब उर्फ ​​बिगू अंसारी का फूल माला पहनाकर गर्मजोशी से स्वागत किया।जिलाध्यक्ष अरशद अंसारी ने कहा कि यदि हम एकजुट होते तो कोई भी पार्टी टिकट देने में चूं  चरा नहीं करती और सफलता कदम चूम लेती।वहीं सभा को मुस्तफा हसन मुखिया,मोहम्मद सज्जाद अंसारी भैरोखरा,डॉक्टर जमाल अंसारी,मोहम्मद नियाज़ अंसारी,मोहम्मद अकबर अली जन्दाहा, क़ैसर अली सोंधो,अब्दुल रज्जाक अंसारी,इम्तियाज़ आदिल,मोहम्मद सगीर आलम,मोहम्मद साबिर,हासिम मुखिया,रोजीद अंसारी,अफजल अंसारी,अमजद अंसारी,मोहम्मद इंतिखाब उर्फ ​​राजा,मोहम्मद मुनीर अंसारी,मोहम्मद शकील अंसारी आदि ने संबोधित किया।कार्यक्रम की अध्यक्षता अब्दुल्ला अंसारी व संचालन एजाज अहमद आदिल ने किया।कार्यक्रम के अंत में पूर्व एडीएम खुर्शीद अकबर अंसारी ने वैशाली जिले के कोने-कोने से आए हजारों अंसारी समुदाय के सदस्यों को संविधान की प्रस्तावना के साथ शपथ दिलाई।अंसारी महापंचायत द्वारा एक भी बैनर उर्दू मे नहीं लिखवाने पर लोगों ने आपत्ति जताई।जो कार्यक्रम में उर्दू के खिलाफ पक्षपातपूर्ण था।कार्यक्रम का अंत हाजी फहीम उर्फ ​​बब्लू ने आभार व्यक्त करते हुए किया।
रिपोर्ट व फोटो मोहम्मद शाहनवाज अता

No comments:

Post a comment