Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Saturday, 27 June 2020

16:33

गांव में बढ़ेगी जागरूकता तो प्रदेश भी होगा जागरूक - रामचंद्र मीणा

सवाई माधोपुर@ रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा । कोरोना जागरूकता अभियान के अन्तर्गत शनिवार को जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामचन्द्र मीणा ने चौथ का बरवाडा पंचायत समिति के बिन्जारी गांव पहुंच कर मनरेगा श्रमिकों को अभियान के मुख्य बिन्दुओं की जानकारी दी तथा उन्हें सोशल डिस्टेसिंग, घर से बाहर निकलते समय मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने का महत्व समझाया तथा सार्वजनिक स्थानों पर न थूकने की अपील की।
उन्होंने श्रमिकों को कोरोना जागरूकता की शपथ भी दिलवाई। स्थानीय सरपंच ने श्रमिकों को सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा प्रकाशित जागरूकता सामग्री का वितरण किया तथा ग्राम पंचायत में कोरोना प्रसार रोकने के लिये अब तक किये गये सरकारी और गैर सरकारी कार्यो का विवरण प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि बाहर के जिलों व राज्यों से आये लोगों को होम क्वारेंटाइन किया गया जिससे कोरोना प्रसार न हो। उन्होंने मनरेगा श्रमिकों को सावधानियां बरतने के संबंध में खुद जागरूक रहने तथा अपने आस-पडौस एवं परिवार को जागरूक करने का आग्रह किया।
16:31

जागरूकता अभियान के अंतर्गत गौवंश को खिलाया गया हरा चारा


सवाई माधोपुर @रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। कोरोना जागरूकता अभियान के अन्तर्गत शनिवार को जिलेभर में आवारा और निःसहाय गौवंश को हरा चारा खिलाया गया।
पशुपालन विभाग के अधिकारियों और कार्मिकों ने भामाशाहों, सामाजिक संगठनों, सरपंचों और स्वयं के व्यक्तिगत खर्च पर पुण्य का यह कार्य किया। जिला मुख्यालय, गंगापुर सिटी, शिवाड, चौथ का बरवाडा, खण्डार आदि दर्जनों स्थानों पर यह सुखद दृश्य देखकर लोगों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार प्रकट किया। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री महोदय ने कोरोना संक्रमण शुरू होते ही राज्य के भामाशाहों, जनप्रतिनिधियों और आमजन का आव्हान किया था कि कोई व्यक्ति भूखा न सोये, साथ ही निरीह जानवर और पक्षियों के भोजन, पानी का भी प्रबंध किया जाये। इस संकल्प को जिले में अब तक पूर्ण रूप से साकार किया गया है। 21 से 30 जून तक चल रहे कोरोना जागरूकता सप्ताह में भी शनिवार को इसी बिन्दु पर ध्यान केन्द्रित कर गौवंश की सेवा की गई। जिला कलेक्टर नन्नूमल पहाडिया ने इस कार्य में लगे सभी भामाशाहों, जनप्रतिनिधियों और सरकारी कार्मिकों की प्रशंषा करते हुये आगे भी इसी भावना से निरीह जानवरों के भोजन, पानी का ध्यान रखने की अपील की है।
गंगापुर में विधायक रामकेश मीना के निर्देशन में पशुपालन विभाग के कार्मिको, नगर परिषद एवं अन्य सामाजिक संगठनों के तत्वावधान में विभिन्न स्थानों पर पशुओं को चारा डाला गया।  इसी प्रकार जिला मुख्यालय पर उप निदेशक पशुपालन डॉ.ओपी गुप्ता सहित अन्य कार्मिकों एवं संगठनों ने पशुओं को चारा खिलाया। शिवाड में ग्राम विकास अधिकारी जितेन्द्र शर्मा की अगुवाई में विभिन्न स्थानों पर पशुओं को चारा खिलाया गया। इस मौके पर कोरोना जागरूकता की शपथ ली गई।
07:04

जनसमस्याओं को लेकर बामनवास के भाजपाई 29 जून को सौंपेंगे एसडीएम को ज्ञापन

 सवाई माधोपुर/ बामनवास@ रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। बामनवास उपखंड क्षेत्र की विभिन्न जनसमस्याओं एवं उनके निराकरण के प्रयास को लेकर भारतीय जनता पार्टी द्वारा बामनवास उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपने की तैयारी जारी है। बरनाला मंडल मीडिया प्रभारी अशोक मीणा ( जोरवाल) ने बताया कि 29 जून  सोमवार को प्रातः 11बजे भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व प्रधान राजेन्द्र मीणा के नेतृत्व में भाजपाइयों के एक शिष्टमंडल की ओर से एसडीएम बामनवास को ज्ञापन दिया जायेगा जिसमें क्षेत्र में व्याप्त विभिन्न समस्याओं के निराकरण की मांग रखी जाएगी। इस अवसर पर बामनवास ओर बरनाला भाजपा मंडल के समस्त पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता   शामिल होंगे। ज्ञापन देते समय सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं द्वारा प्रशासनिक एडवाइजरी एवं सोशल डिस्टेंसिंग की पालना भी सुनिश्चित की जाएगी, ताकि कोरोना संक्रमण काल में किसी तरह की कोई समस्या ना हो। अशोक मीणा ने बताया कि जन विरोधी कांग्रेस नीत सरकार के शासन में चारों ओर अराजकता एवं भय का माहौल है, किसान, मजदूर, व्यापारी एवं आम नागरिकों को राज्य सरकार द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना के चलते लगाए गए लॉकडाउन में किसी भी प्रकार की सुविधाएं या सहूलियतें नहीं दी गई है। बल्कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा प्रदान की गई सुविधाओं का ही लाभ दिया गया है, और उन सभी का श्रेय गहलोत सरकार द्वारा अपने खाते में डाले जाने का ढिंढोरा पीटा गया है, जो कि न्यायोचित नहीं है। 3 माह के बिजली के बिल भी सरकार द्वारा माफ नहीं किए गए हैं। लॉकडाउन में बेरोजगारी का दंश झेल चुके मजदूरों के लिए राज्य में किसी भी प्रकार के रोजगार की संभावनाएं फिलहाल नजर नहीं आ रही है, केवल दिखावे मात्र के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया जारी है। सवाई माधोपुर जिले में भी कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है, और सरकार है, कि विद्यार्थियों के स्कूल खोलने की तैयारी में हैं। मीणा ने कहा कि सरकार व प्रशासन को चाहिए कि वह आपदा कि इस स्थिति में आमजन को हर प्रकार से राहत प्रदान करें। नहीं तो आगामी चुनाव में जनता की नाराजगी गहलोत सरकार को भारी पड़ेगी।
07:02

कृष्ण कुमार गोयल का अध्यक्ष पद पर पुन: निर्वाचन,मनीष बने सचिव तो मयंक को मिली कोषाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी


सवाई माधोपुर/गंगापुर सिटी@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। जिले के गंगापुर सिटी उपखंड मुख्यालय पर शुक्रवार को लॉयन्स क्लब गरिमा के (आगामी लॉयन वर्ष 2020-21 के) चुनाव निर्विरोध सम्पन्न हुए। जिसमें लॉयन कृष्ण कुमार गोयल (कुबेर मेडिकल) पुन: निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए। लॉयन मनीष अग्रवाल (सागवान फर्नीचर) सचिव व लॉयन मयंक अग्रवाल एडवोकेट कोषाध्यक्ष पुन: चुने गए।
इनके अलावा प्रथम उपाध्यक्ष लॉयन पंकज गुप्ता (होटल मंगलम पैलेस), द्वितीय उपाध्यक्ष लॉयन पी. सी. जैन (खाद्य सुरक्षा अधिकारी), क्लब प्रशासक लॉयन सौरभ बरडिय़ा (विजय पैलेस), सह सचिव लॉयन राहुल नरुका (होटल नरुका प्राइड), सह कोषाध्यक्ष लॉयन सोमव्रत अग्रवाल (यूटीआई), मेम्बरशिप कमेटी चैयरमैन लॉयन अमित गोयल (रौंसी वाले), क्लब पीआरओ लॉयन विनोद खण्डेलवाल पत्रकार को पुन: जिम्मेदारी सौंपी गई।
गौरतलब है कि गत वर्ष में लॉयन्स क्लब गरिमा व श्री श्याम पैरामेडिकल के संयुक्त तत्वावधान में 1630 आँखों के नि:शुल्क ऑपरेशन किए गए। सर्दियों के मौसम में मिनी सचिवालय के बाहर हेल्पजोन संचालित किया, जिसमें जरुरतमंदों को करीब 10 हजार वस्त्र वितरित किए। मकर संक्रांति के मौके पर नए कपड़ों का वितरण किया गया, जिसमें बच्चों के कपड़े व साडिय़ां थी।
क्लब की ओर से गोद ले रखे राजकीय बालिका माध्यमिक विद्यालय में बालिकाओं को पठन सामग्री, गणवेश, परिवार के लिए अन्नदान व स्वच्छता अभियान के तहत सैनेट्री नेपकिन्स का वितरण भी किया गया। इसी के साथ इस विद्यालय में कक्षा 10 में अध्ययनरत बालिकाओं की फीस क्लब की ओर से दी गई। इसी विद्यालय की दो बालिकाओं के पिता, जो कि डायलिसिस पर हैं और उन्हें हर दूसरे दिन जयपुर जाना होता है, इसके लिए लॉयन राहुल नरूका ने बस यात्रा नि:शुल्क सुविधा प्रदान कराई।
विश्व में चल रही कोरोना महामारी के बचाव के लिए लॉयन्स क्लब गरिमा ने बीड़ा उठाया और गंगापुर शहर के नागरिकों का इम्युनिटी पावर बढ़ाने के लिए
होम्योपैथिक दवा का वितरण किया जा रहा है।
चुनाव के दौरान लॉयन नितिन करौली क्लब, लॉयन शुभम गुप्ता, लॉयन मुकेश राजाराम मीना, लॉयन ओम अग्रवाल, लॉयन लक्ष्मीनारायण अग्रवाल, अमित गोयल, लॉयन डॉ. संतोष सिंघल, लॉयन सचिन बंसल, लॉयन विमल अग्रवाल आदि क्लब सदस्य मौजूद थे।
06:59

कोरोना जागरूकता अभियान: रंगोली सजा एवं स्लोगन लिख दिया कोरोना से बचाव का संदेश


सवाई माधोपुर@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। सवाई माधोपुर जिले में कोरोना जागरूकता अभियान के अन्तर्गत शुक्रवार को आंगनबाडी केन्द्रों की महिलाओं, राजीविका के स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं तथा अन्य लोगों द्वारा जागरूकता अभियान के तहत रंगोली सजाई गई और जागरूकता के स्लोगन लिखकर कोरोना से बचाव के लिए आमजन को जागरूक किया गया।
महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक एवं एसीईएम सवाई माधोपुर वर्षा मीना के अनुसार जिला मुख्यालय के कलेक्ट्रेट परिसर एवं अंबेडकर सर्किल पर  रंगोली सजा कर एवं जागरूकता का संदेश देते स्लोगन लिख कर लोगों को आकर्षित किया गया और कोरोना से बचाव के मुहिम में योगदान दिया गया। इस दौरान जिला कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कुमार ने भी निरीक्षण कर जागरूकता का संदेश देते स्लोगन एवं रंगोली की भूरी भूरी प्रशंसा की ।
इसी क्रम में उपखंड मुख्यालय गंगापुर सिटी पर उपखंड अधिकारी बिजेन्द्र मीना के निर्देशन में ईदगाह चौराहा मिनी सचिवालय, उदेई मोड पर रंगोली एवं स्लोगन लिखे गए तो उपखंड मुख्यालय बामनवास में उपखंड अधिकारी हेमराज परिड़वाल के निर्देशन में जागरूता के संदेश एवं स्लोगन लिखने का कार्य किया गया। पंचायत समिति चौथ का बरवाडा में उपखंड अधिकारी एवं विकास अधिकारी के संयुक्त निर्देशन में गांव- गांव में रंगोली सजाने के साथ स्लोगन लिखे गए। रंगोली एवं स्लोगन के माध्यम से कोरोना से "जागरूकता ही बचाव है" का संदेश दिया गया। महिलाओं ने रंगोली एवं स्लोगन के माध्यम से सावधानी रखें, कोरोना हारेगा-सवाई माधोपुर जीतेगा का संदेश आमजन को दिया। उन्होंने कोरोना वायरस के बचने के लिए बार-बार 20 सेकंड तक साबुन से हाथ धोने, एक दूसरे व्यक्ति के बीच 2 गज की निश्चित दूरी बनाए रखने, घर से बाहर निकलते समय मास्क लगाकर निकलने, सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूंकने के संदेश देने वाली रंगोली एवं स्लोगन लिखे।
इसी प्रकार शिवाड में ग्राम विकास अधिकारी जितेन्द्र शर्मा के निर्देशन में शिव तालाब पर मनरेगा कार्य में श्रमिकों द्वारा जागरूकता की शपथ ली और दिलाई गई।
 *आरयूआईडीपी ने एसटीपी पर दिलाई श्रमिकों को शपथ:-* आरयूआईडीपी द्वारा जागरूकता अभियान के तहत श्रमिकों को एसटीपी सूरवाल पर जागरूकता की शपथ दिलाई गई। इस मौके पर कार्मिकों की स्क्रीनिंग एवं चिकित्सकीय जांच भी की गई। साथ ही आरयूआईडीपी के कार्मिकों एवं श्रमिकों के सेंपल भी लिए गए।
06:57

30 जून तक विद्युत बिल की राशि जमा कराने पर मिलेगी छूट



जयपुर/सवाई माधोपुर@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। जयपुर डिस्काॅम के उपभोक्ताओं को 30 जून तक विद्युत
बिल की राशि जमा कराने पर आगामी माह में जारी होने वाले बिल में छूट दी
जाएगी। इसके साथ ही उपभोक्ताओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए जयपुर
डिस्काॅम के सभी विद्युत बिल राशि संग्रहण केन्द्र शनिवार व रविवार को भी
खुलेगें।

जयपुर डिस्काॅम के प्रबन्ध निदेशक श्री ए.के.गुप्ता ने बताया कि कृषि एवं
घरेलू श्रेणी के उपभोक्ताओं द्वारा 30 जून तक विद्युत बिलों की राषि का
भुगतान करने पर 5 प्रतिशत की छूट आगामी बिल में दी जाएगी। इसके साथ ही
अन्य श्रेणी के उपभोक्ताओं को भी 30 जून तक बिल की राशि जमा कराने पर एक
प्रतिशत की छूट आगामी बिल में दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि बिल राशि संग्रहण केन्द्र शनिवार 27 जून व रविवार 28
जून को भी कार्यालय समय में खुलेगें, ताकि उपभोक्ता शनिवार-रविवार को भी
अपने विद्युत विपत्र की राशि जमा सकते हैं।

एमनेस्टी योजना- कृषि एवं घरेलू श्रेणी के उपभोक्ता जिनके कनेक्सन 31
मार्च, 2019 से पूर्व से कटे हुए है उनके लिए एमनेस्टी योजना 30 जून,
2020 तक लागू है। ऐसे उपभोक्ता भी बिलम्ब शुल्क व ब्याज की छूट का लाभ
उठाते हुए मूल बकाया राशि एकमुश्त जमा करवाकर पुनः अपने कनेक्सन को जुड़वा
सकते हैं।
06:56

रणथंभौर बाघ परियोजना क्षेत्र में अवैध चराई रोकने के लिए धारा 144 की गई लागू


सवाई माधोपुर@ रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। सवाई माधोपुर रणथंभौर बाघ परियोजना क्षेत्र में असामाजिक तत्वों व इस क्षेत्र के गांवों के लोगों द्वारा वर्षा ऋतु के दौरान मवेशी चराने व मवेशी चराने के लिए प्रेरित करने का कार्य कर इस राष्ट्रीय उद्यान के अस्तित्व को खतरा पैदा किया जा सकता है।
ऐसे में जिला मजिस्ट्रेट नन्नूमल पहाड़िया ने दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 144 में प्रदत्त शक्तियो का प्रयोग करते हुुए आदेश जारी किए है। उन्होंने जारी आदेश में बताया कि सम्पूर्ण जिला सवाई माधोपुर क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति/संगठन/दल उक्त राष्ट्रीय उद्यान के प्रतिबंधित क्षेत्र मे मवेशी चराने के लिए प्रेरित करने हेेतु किसी प्रकार के सभा, धरने, प्रदर्शन आदि का आयोजन नही करेगा। कोई भी व्यक्ति/संगठन/दल उक्त प्रतिबंधित क्षेत्र में मवेशी लेकर प्रवेश नही करेगा। आदेश की अवमानना भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध है। यह आदेश दिनांक एक जुलाई से 31 अगस्त 2020 की सांय छह बजे तक प्रभावी रहेगा।
06:53

कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए कार्यपालक मजिस्ट्रेटों की नियुक्ति


सवाई माधोपुर@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। बाघ परियोजना रणथम्भौर सवाई माधोपुर में अवैध चराई की समस्या से उत्पन्न स्थिति के दौरान कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किये गये हैं।
जिला मजिस्ट्रेट नन्नूमल पहाड़िया ने अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट सवाई माधोपुर को जिला सवाई माधोपुर की सीमा के अन्तर्गत सम्पूर्ण परियोजना क्षेत्र के लिए कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किया है। इसी प्रकार उप जिला मजिस्ट्रेट सवाई माधोपुर को बाघ परियोजना के सवाई माधोपुर उपखण्ड में आने वाले समस्त क्षेत्र के लिए, उप जिला मजिस्ट्रेट खण्डार को बाघ परियोजना के खण्डार उपखण्ड में आने वाले समस्त क्षेत्र के लिए, उप जिला मजिस्ट्रेट मलारना डूंगर को बाघ परियोजना के मलारना डूंगर उपखण्ड में आने वाले समस्त क्षेत्र के लिए, तहसीलदार एवं कार्यपालक मजिस्ट्रेट सवाई माधोपुर को बाघ परियोजना के तहसील सवाई माधोपुर में आने वाले समस्त क्षेत्र के लिए, तहसीलदार एवं कार्यपालक मजिस्ट्रेट खण्डार को बाघ परियोजना के तहसील खण्डार में आने वाले समस्त क्षेत्र के लिए एवं तहसीलदार एवं कार्यपालक मजिस्ट्रेट मलारना डूंगर को बाघ परियोजना के तहसील मलारना डूंगर में आने वाले समस्त क्षेत्र के लिए कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किया है।
06:51

बड़ोदिया से महैशरा गांव तक रास्ते से जेसीबी द्वारा हटाया गया अतिक्रमण

   सवाई माधोपुर / मलारना डूंगर@रिपोर्टर चंद्रशेखर शर्मा। जिले के मलारना डूंगर उपखंड क्षेत्र की जोलन्दा ग्राम पंचायत के महैशरा व बड़ोदिया गांव के बीच स्थित रास्ते में हों रहे अतिक्रमण को शुक्रवार के दिन प्रशासन की मदद से हटावा दिया गया। ग्रामीणों की शिकायत पर कार्यवाही करते हुए सरपंच श्री विजेन्द्र सिंह ने मामले में उचित कार्रवाई के आदेश दिए जिसके चलते स्थानीय गिरदावर एवं चार पटवारीयों द्वारा रास्ते का सीमा ज्ञान किया गया और प्रशासनिक अधिकारीयों की उपस्थिति में अतिक्रमण को हटवाने की कार्यवाही की गई । ग्राम पंचायत सरपंच विजेन्द्र सिंह ने बताया कि महैशरा से बड़ोदिया गांव में आने-जाने वाले रास्ते में गांव के ही कुछ दबंगों द्वारा अतिक्रमण कर रखा था। जिसके चलते लोगों को उक्त सकरे रास्ते से आवागमन में खासी परेशानी उठानी पड़ रही थी। समस्या  को लेकर पिछले दिनों ग्रामीणों द्वारा प्रशासन के समक्ष गुहार लगाई गई। जिसकी परिणति में मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन द्वारा मुख्य रास्ते को अतिक्रमण मुक्त करने के आदेश पारित किए गए, जिसके चलते मलारना डूंगर उपखंड क्षेत्र के प्रशासनिक अधिकारियों एवं मलारना डूंगर पुलिस द्वारा मौके पर पहुंच कर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही को अंजाम दिया गया। इस दौरान तहसीलदार मलारना डूंगर किशन मुरारी मीणा के नेतृत्व में हल्का पटवारी ने उक्त भूमी का सीमा ज्ञान कर तकरीबन 40 फीट रास्ता तय कर अतिक्रमणकारियों से समझौता कर अतिक्रमण  हटाने के आदेश दिए। अतिक्रमणकारियों की ना- नुकर व भूमि पर झूंठे दावे के बीच प्रशासन द्वारा दर्जनों लोगों की उपस्थिति में जेसीबी की सहायता से अतिक्रमण को हटा कर रास्ते को चालू करवाया गया।इस दौरान पुलिस जाब्ता भी मौके पर मौजूद रहा।
06:47

घोटालों के विरुद्ध भी होंगे कुटुम्ब सत्याग्रह-एडवोकेट हरि प्रताप राठौड़



बदायूँ भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के सहयोगियों ने पूर्व घोषित कार्यक्रमानुसार जनपद बदायूं में गेहूं खरीद में हो रहे भ्रष्टाचार के विरुद्ध आपदाकाल के दृष्टिगत कुटुम्ब सत्याग्रह किया तथा चार सूत्रीय मांगपत्र प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को ईमेल/ट्विटर व माई ग्रीवांस पोर्टल/जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से प्रेषित किए।

इस अवसर पर विचार व्यक्त करते हुए भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट ने कहा कि जनपद बदायूं में उड़द घोटाला, उर्वरक घोटाला, गेहूं घोटाला की पुरानी परंपरा रही है। किसानों का खुलेआम शोषण होता है। किन्तु गेहूं माफिया,गन्ना माफिया व उर्वरक माफिया संरक्षण प्राप्त करने में सफल हो जाते हैं।प्याऊ घोटाला व भूमिगत विद्युतीकरण घोटाला को भी संरक्षण दिया जा रहा है। बेसिक शिक्षा विभाग में साक्षर भारत मिशन में अभी तक आडिट न कराने के कारण घोटाले की गन्ध आ रही है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र इस्लामनगर पर चार नवजात शिशुओं की मौत के मामले में भी प्रभावी कार्यवाही नहीं हो रही है।इस प्रकरण में सभी सूचना कार्यकर्ता पूर्व में प्रेषित मांगपत्रो पर कार्यवाही की प्रगति जानने के लिए आर टी आई का प्रयोग करेंगे। भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के सहयोगी आपदाकाल में कुटुम्ब सत्याग्रह के माध्यम से भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज उठाते रहेंगे।

श्री राठोड़ ने कहा कि जनपद बदायूं में गेहूं खरीद व्यवस्था पूरी तरह भ्रष्टाचार की गिरफ्त में हैं, अनेक ऐसे कृषक हैं जिनका गेहूं क्रय नहीं किया गया,क्रय केंद्रों पर अतिरिक्त धन की मांग की गई, धन न देने पर गेहूं में कमी निकालकर गेहूं क्रय करने से मना कर दिया गया, तौल में गड़बड़ी की गई, बिचौलियों के माध्यम से गेहूं बेचने को विवश किया गया, शिकायत करने पर भी कार्यवाही नहीं की गई, बल्कि डराया धमकाया गया, शिकायत का गलत निस्तारण कर दिया गया। आज कुटुम्ब सत्याग्रह के माध्यम से हमने उच्च स्तरीय बहुसदस्यीय जांच समिति गठित करने, गेहूं क्रय केंद्रों पर व्याप्त अनियमितताओं के सम्बन्ध में अब तक प्राप्त समस्त शिकायतों की जनसुनवाई करके सामूहिक जांच करने तथा जिला मुख्यालय पर निर्धारित तिथि पर गेहूं किसानों की व्यथा को सुनने, गेहूं क्रय केंद्रों की व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों की चल अचल परिसम्पतियो की जांच उनके द्वारा उपलब्ध कराए गए विवरण के आधार पर कराये जाने तथा गेहूं किसानों के शोषण में लिप्त कार्मिकों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कराये जाने की मांग की है।  

कुटुम्ब सत्याग्रह में एम एल गुप्ता, डाल भगवान सिंह,राम रतन सिंह पटेल,एस सी गुप्ता, राम सिंह ,शमसुल हसन, रामगोपाल,एम एच कादरी, वेदपाल सिंह, अखिलेश सिंह, राम-लखन,असद अहमद,सी एल वर्मा एडवोकेट, अखिलेश सोलंकी,अभय माहेश्वरी,आर्येन्द्र पाल सिंह, विपिन कुमार सिंह, सत्येन्द्र सिंह गहलौत, कृष्ण गोपाल, महेश चंद्र, वीरपाल,नारद सिंह, भुवनेश कुमार,भानु प्रताप सिंह, देवेन्द्र शाक्य, अरविंद कुमार, जयकिशन लाल, सुमित कुमार आदि प्रमुख रूप से सम्मिलित रहे।
06:39

नोएडा में इस मुश्किल समय मे असंगठित श्रमिकों व रेहड़ी पटरी को न उजाड़े प्रशाशन-रामजी पांडे

नोएडा आम आदमी पार्टी की ट्रेड विंग श्रमिक विकास संगठन SVS के जिला अध्यक्ष रामजी पांडे ने कहा कि आज नोएडा समेत देश भर में जो हालात है उसमें रोजगार काम धंधे बुरी तरह प्रभावित है कोरोना महामारी से हुए लॉक डाउन/ अनलॉक डाउन में सबसे ज्यादा रेहड़ी पटरी व असंगठित क्षेत्र के कामगार बुरी तरह प्रभावित हुए हैं यह वही लोग है जिन्हें, सरकार व जिला प्रशासन द्वारा किसी भी तरह की आर्थिक मदद नहीं मिली है ।इस कारण आर्थिक तंगी से मजबूर होकर श्रमिको और रेडी पटरी वालों को अपने गांव भागना पड़ा है जो कुछ लोग अभी भी बचे हैं उन्हें भी नोएडा प्राधिकरण प्रशाशन रोजगार नहीं करने दे रही है और  अतिक्रमण व वैध अवैध के नाम पर पथ विक्रेताओं को हटाने की कार्रवाई की जा रही है कल भी पुलिस और प्राधिकरण कर्मियों द्वारा कई सेक्टरों में तोड़फोड़ हटाने उजाड़ने की कार्रवाई की गई जो सरासर गलत है उन्होंने कहा कि जब नोएडा में वेंडिंग जोन बनाने की कार्रवाई अभी तक पूरी नहीं हुई है तो किसी को अवैध कैसे बताया जा सकता है वेंडिंग जोन के प्रथम चरण में जमा हुए आवेदन कर्ताओं को अभी तक सभी को लाइसेंस नहीं दिए गए हैं और जो वेंडिंग जोन बनाए गए हैं उन्हें भी व्यवस्थित कर कार्य योग्य नहीं बनाया गया है और दूसरे चरण के लिए आवेदन लिया जाना अभी लंबित है उक्त पर अभी कोई काम नहीं हो रहा है तो फिर हटाने व उजाड़ने की कार्रवाई क्यों की जा रही है?
 रामजी पांडे ने मीडिया के  माध्यम से नोएडा प्राधिकरण और पुलिस प्रशासन से मांग किया कि जब तक कोरोना महामारी से बने हालात पूरी तरह सामान्य नहीं होते हैं और शहर में वेंडिंग जोन बनाने की प्रक्रिया पूरी नहीं होती है तब तक अतिक्रमण व वेध अवैध के नाम पर पथ विक्रेताओं को हटाने उजाड़ने व तोड़फोड़ के चल रहे अभियान को तुरंत बंद किया जाए। 
06:15

श्रमिकों की समस्याओं को उठाना हमारी प्राथमिकता-रामजी पांडे

 गौतमबुद्ध नगर के सभी प्राइवेट एव सरकारी स्कूलों की तीन माह(अप्रैल,मई,जून की फीस व तीन माह का बिजली बिल माफ होना चाहिए इसके अलावा दिल्ली की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में भी श्रमिकों को उचित सेलरी मिलनी चाहिए जिससे वह अपने परिवार का पालन पोषण कर सके यह कहना है आम आदमी पार्टी की श्रमिक इकाई SVS के गौतमबुद्ध नगर जिला अध्यक्ष रामजी पांडे का उन्होंने मीडिया में जारी एक बयान में  कहा कि लॉकडाउन की वजह से लोगो का रोजगार पूरी तरह बंद हो गया है अनलॉक के बाद भी काम धंधा सब चौपट है काफी सारे लोगो के पास कोई अन्य कमाई का साधन  उपलब्ध नही है इशलिये आम आदमी को स्कूल फीस व बिजली बिल जमा करने में काफी दिक्कतें हो रही है प्रदेश सरकार को जनमानस की आवाज को समझते हुए उचित कार्यवाई करनी चाहिए उन्होंने कहा कि
नोएडा महानगर में ज्यादातर वह लोग रहते है जो रोज कमाते है और खाते है जिसमे श्रमिक भी शामिल है लॉक डाउन के कारण तीन महीने सभी के कारोबार ठप रहे है,ऐसे में परिवार को पालन पोषण करने में आमजन मानस को काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है,रामजी पांडे ने  कहा है कि प्रदेश की जनता त्राहि त्राहि कर रही है लेकिन केन्द्र एव प्रदेश की भाजपा सरकार अपनी चुनावी  रैलियों में व्यस्त है,भाजपा सरकार वादे करने में नम्बर वन है लेकिन मदत के नाम पे चुप हो जाती है उन्होंने कहा यही कारण है कि लॉकडाउन में  सरकार के किये गए कई वादे पूरे नही हुए जिसमे एक है लॉक डाउन के दरमियान श्रमिको को तीन महीने सेलरी देने का वादा धरा का धरा रह गया और कम्पनियों की मनमानी जारी रही  इसके अलावा देश की जनता कोरोना वायरस माहमारी से परेशान है ऊपर से केंद्र में भाजपा की सरकार लागतार 21 वे दिन से पेट्रोल डीजल के दामों में बेहतासा वृद्धि करने में लगी है,इससे आम आदमी व श्रमिको को मंहगाई की मार झेलनी पड़ेगी किसान भी  परेशान है कि डीजल पेट्रोल के रेट बढ़ने से उसे भी मंहगाई का शिकार होना पड़ेगा रामजी पांडे ने कहा कि जनता हर बार नई सरकार इशलिये चुनती है कि उसे उम्मीद होती है कि यह हमारे हित में फैंसला करेंगी लेकिन होता बिल्कुल उसके विपरीत है।

Friday, 26 June 2020

17:26

विधायक रामकेश मीना के नेतृत्व में गलवान घाटी में शहीद हुए जवानों को दी श्रद्धांजलि


सवाई माधोपुर/ गंगापुर सिटी @रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। ब्लॉक कांग्रेस कमेटी गंगापुर सिटी के तत्वावधान में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा ब्लॉक स्तर पर शुक्रवार को पंचायत समिति परिसर स्थित महात्मा गांधी पार्क गंगापुर सिटी में गलवान घाटी में शहीद हुए वीर जवानों को श्रद्धांजलि देने हेतु ‘शहीदों को सलाम’ कार्यक्रम रखा गया। चीन की सेना द्वारा हमारे जांबाज वीर सैनिकों पर हमला किया और वह देश के लिए शहीद हो गए। इसी को लेकर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी देहात में शहर के समस्त कांग्रेसजनों एवं क्षेत्रीय विधायक रामकेश मीणा की उपस्थिति में गांधी पार्क में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित किए और वीर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई।
कार्यकर्ताओं ने शहीदों को सलाम दिवस के रूप में कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग एवं राज्य सरकार की गाइड लाइन की पालना करते हुए शहीदों के लिए 2 मिनट का मौन रखा एवं राष्ट्रीय ध्वज के साथ सलामी देते हुए वीर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। साथ ही मोमबत्ती जलाकर पुष्प अर्पित किए गए।
विधायक रामकेश मीणा ने वीर शहीदों को नमन करते हुए कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार देश की सुरक्षा के मोर्चे पर विवल रही है जिसका परिणाम है कि चीन व पाकिस्तान हमारी सीमा में आए दिन घुसपैठ कर हमारे वीर जवानों पर हमला कर रहे हैं और भाजपा सरकार चुप्पी साधे हुए है। हमें हमारे देश की सेना पर गर्व है और हमारे देश की सुरक्षा में 24 घंटे तैनात रहकर देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले जवानों पर पूर्ण भरोसा है। शहीद हुए हमारे देश के सैनिकों को हमारा सलाम है और उन सभी के परिवार जनों के प्रति हमें पूर्ण सहानुभूति है।
इस अवसर पर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी शहर अध्यक्ष हरगोविंद कटारिया, देहात अध्यक्ष मुकेश कुमार शर्मा देहात, गहलोत ट्रैक्टर्स निदेशक छोटे लाल सैनी, जिला कांग्रेस कोषाध्यक्ष संतोष दुबे, युवा कांग्रेस अध्यक्ष रामकिशोर कटारिया, विजय ठाकुरिया, हनुमान गुप्ता, जितेंद्र तलावड़ा, वरिष्ठ कांग्रेसी बृजनंदन दीक्षित एडवोकेट, गफ्फार सोनी, राजकुमारी जांगिड़, कैलाश मीणा, सलीम बाबूजी, रामराज मीणा, जावेद खान, सत्तार टाइगर, दीपचंद जांगिड़, पुष्पेंद्र बैरवा, मुकेश मीणा, प्रसादी गुर्जर, कृष्ण कुमार गोयल, मानसिंह सैनी, मोती लाल माली, सरपंच प्रहलाद गुर्जर, सरपंच गिर्राज मीणा, सरपंच मुरारी सैनी, सरपंच कैलाश माली, सरपंच पति शरीफ चौधरी, सरपंच पति बबलू मीणा, सरपंच पति राम गुर्जर, जिला परिषद सदस्य सत्यनारायण गुर्जर, रामस्वरूप सैनी, राहुल गुप्ता, मोती बैरवा, रिंकू गुप्ता, जावेद पार्षद आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।
17:24

राजस्थान के सवाई माधोपुर में जिले में 3 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि, जिले में संख्या हुई 93


सवाई माधोपुर/गंगापुर सिटी@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्म। सवाईमाधोपुर जिले में कोरोना का कहर लगातार रुकने की अपेक्षा बढ़ता ही जा रहा है। ऐसा ही रहा तो,  जल्द ही जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या सैंकड़ा पार कर जाएगी। शुक्रवार का दिन भी जिले के लिए अच्छा नहीं रहा क्योंकि पूर्व से ही कोरोना प्रभावित गंगापुर क्षेत्र में जहां 2 कोरोना पॉजिटिव मिले वहीं अब तक कोरोना से अछूते रहे मलारना डूंगर उपखंड क्षेत्र से भी 1 कोरोना पॉजिटिव केस की उपस्थिति में लोगों की चिंता बढ़ा दी है। इसी बीच राहत की खबर यह है, कि शुक्रवार को ही कोविड सेंटर से 4 व्यक्ति रिकवर होकर अपने अपने घरों को लौट गए।
जानकारी के अनुसार गंगापुर सिटी के सालौदा मोड़ से 32 वर्षीय पुरुष तथा अलीगंज से 55 वर्षीय पुरुष तथा मलारना डूंगर में स्थित ग्राम डीडवाड़ा से 52 वर्षीय महिला कोरोना संक्रमित मिली पाई गई है।
जिले में दिनों-दिन कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है।जो कि आमजन व प्रशासन के लिए गहन चिंता का विषय है। आज कोरोना के 3 नए मरीज मिलने से  जिले में कोरोना संक्रमितों का घास बढ़कर 93 की संख्या को छू गया। अगर हालात इसी तरह जारी रहे तो सैकड़ा पार करने में ज्यादा दिन नहीं लगेंगे।
कोरोना के प्रति प्रशासन की ओर से जिले की सम्पूर्ण जनता को सावधानी बरतते हुए सरकारी गाइडलाइन का पालन करने का अनुरोध किया गया है। गंगापुर शहर के बाजार में बढ़ती भीड़ को देखते हुए डर लगता है कि कहीं कोरोना का प्रकोप बढ़ ना जाए। हमें चाहिए कि हम इस भीड़ में शामिल नहीं होवें। तभी हम कोरोना से बच सकते हैं। प्रशासन को बाजारों में बढ़ती भीड़ पर कंट्रोल करना चाहिए, जिससे हम कोरोना पर विजय पा सकें।
आपको बता दें कि अब तक जिले में 6 लोगों की मौत हो चुकी है। साथ ही रिकवरी दर भी बढ़ी है।
03:28

पेट्रोल,डीजल के दामो मे लगातार बढोत्तरी को लेकर आम आदमी पार्टी नोएडा का सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

  आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद तथा उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह एवं प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह के आह्वान पर आज 26 जून 2020 को पेट्रोल,डीजल के दामो मे लगातार वृध्दि से आम आदमी पर जो महँगाई की मार पड़ रही है इसी को लेकर प्रदेश के प्रत्येक जनपद में पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।।                     
            
           इसी कड़ी में गौतमबुद्ध नगर के जिलाध्यक्ष भूपेंद्र जादौन के नेतृत्व में आज दोपहर 12 बजे पार्टी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओ ने मेन मार्केट हरौला,सेक्टर 5 नोएडा में रिक्शा चलाकर केंद्र सरकार की गलत नीतियो के विरुद्ध प्रदर्शन किया ।जिलाध्यक्ष भूपेंद्र जादौन ने कहा कि इतिहास मे पहली बार डीजल का दाम पेट्रोल से अधिक हो गया |लेकिन केंद्र की सरकार कुम्भकरणीय नीद मे सो रही है उसको आम आदमी की कतई भी फिक्र नही है |    इसके अलावा अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव इमरान नम्बर दार व श्रमिक प्रकोष्ठ (श्रमिक विकास संगठन) SVS गौतमबुद्ध नगर के जिलाध्यक्ष रामजी पांडे ने भी अपना विरोध दर्ज कराया।                  
रामजी पांडे ने कहा कि यह सरकार तानाशाह हो चुकी है इशलिये उसे जनता का दुःख दर्द नही दिखता।
 जिला महासचिव व पार्टी प्रवक्ता संजीव निगम ने कहा कि पेट्रोल व डीजल को जी. एस. टी. के दायरे मे लाया जाये एवं मूल्यो  को कम कर आम जनमानस को तेल की बढ़ी हुई कीमतो से राहत दिलवाई जाय।आज के इस प्रदर्शन में यूथ विंग के प्रदेश अध्यक्ष फैसल वारसी व यूथ विंग के जिलाध्यक्ष राहुल सेठ,नोएडा महानगर अध्यक्ष एडवोकेट प्रशांत रावत व उपाध्यक्ष विक्की पंडित,राजेन्द्र तोमर,चिंटू, गौरव मेहरा,सुरेन्द्र भुरांडे सतीश आदि मौजूद थे 

Wednesday, 24 June 2020

20:30

सवाई माधोपुर में रोजगार कार्यालय की ओर से ऑनलाईन/डिजिटल प्लेसमेन्ट शिविर का आयोजन आज

सवाई माधोपुर@ रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा । सवाई माधोपुर जिला रोजगार कार्यालय सवाई माधोपुर द्वारा बेरोजगार आशार्थियों को रोजगार के लिये कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों में ऑनलाईन/डिजीटल कौशल, रोजगार एवं उद्यमिता शिविर/प्लेसमेन्ट के लिए चल रहे शिविर का आयोजन का 25 जून तक होगा।
जिला रोजगार अधिकारी विवेक भारद्वाज ने बताया कि ऑनलाईन शिविर में विभिन्न क्षैत्रों की कम्पनियों को ऑनलाईन आमंत्रित किया गया है जो पात्र आशार्थियों को ऑनलाईन शिविर के माध्यम साक्षात्कार लेकर चयन प्रक्रिया करेगी। उन्होंने बताया कि इसके लिए आशार्थी की आयु 18 से 30 वर्ष एवं कम से कम 10वीं पास होना आवश्यक है। कम्पनियों द्वारा भर्ती के लिए ऑनलाईन आवेदन ऑनलाईन/डिजीटल शिविर के माध्यम से साक्षात्कार लिये जायेंगे।
इच्छुक बेरोजगार आशार्थी जो ऑनलाईन शिविर का लाभ लेना चाहते है, वे … ई-मेल आईडी पर जाकर भी  आवेदन कर सकते हैं।
20:29

श्रमिकों और उद्यमियों को साझा मंच उपलब्ध करवा रहा राजकौशल, अब तक जिले के 16646 श्रमिक हुए पंजीकृत


सवाई माधोपुर@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। कोरोना के कारण बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक दूसरे राज्यों से राजस्थान लौटे हैं। इनको उचित रोजगार उपलब्ध करवाना राज्य सरकारी की प्राथमिकता है। दूसरी ओर राज्य में संचालित कारखानों/फैक्ट्रियों में कार्यरत दूसरे राज्यों के काफी प्रवासी श्रमिक अपने राज्यों को चले गये हैं जिससे इन उद्योगों के पूरी क्षमता से कार्य करने में बाधा आ रही है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने इन श्रमिकों और उद्यमियों की समस्याआें को दूर करने, श्रमिक को रोजगार और नियोक्ताओं को श्रमिक उपलब्ध करवाने का एक ऑनलाइन मंच प्रदान करते हुये राजकौशल पोर्टल की शुरूआत की है जिसके शानदार परिणाम सामने आये हैं। इस पोर्टल पर अब तक 52.75 लाख श्रमिकों ने पंजीयन हुआ है। इनमें से सवाईमाधोपुर जिले के 16646 श्रमिक शामिल हैं।
बुधवार को राज्य के श्रम सचिव नीरज के. पवन ने सभी जिला कलेक्टरों, श्रम, उद्योग, रीको, सूचना एवं प्रौद्योगिकी, कौशल विकास से जुडी विभिन्न ऐजेन्सियों के अधिकारियों के साथ वीसी कर इस पोर्टल का अधिकतम प्रचार-प्रसार कर प्रवासी और स्थानीय श्रमिक तथा उद्यमियों को इसका लाभ दिलवाने के निर्देश दिये।
इस पोर्टल पर पंजीकृत प्रत्येक श्रमिक की पूरी डिटेल कोई भी उद्यमी देख सकता है। श्रमिक के अनुभव, पूर्व में कहां कार्य किया, वर्तमान में कहॉं निवास कर रहा है आदि जानकारियॉं उपलब्ध है जिससे नियोक्ता को कुशल, अर्धकुशल और अकुशल सभी प्रकार का श्रम एक ही मंच पर उपलब्ध हो रहा है।
श्रम सचिव ने निर्देश दिये कि दी गई जानकारी को तत्काल अपडेट किया जाये। एसडीएम और विकास अधिकारियों को यह जिम्मेदारी सौंपी गयी है। उन्होंने कहा कि बडी संख्या में प्रवासी श्रमिक राज्य में लौटै हैं। इनमें से काफी श्रमिकों को मनरेगा में कार्य दिया गया है लेकिन बडी संख्या में श्रमिक ऐसे भी हैं जो किसी ट्रेंड में कुशल हैं और उन्हें राज्य के कल-कारखानों में आसानी से रोजगार मिल सकता है।
राज पोर्टल मास्टर डेटा बेस में संनिर्माण श्रमिक, कोविड प्रवासी श्रमिक, पंजीकृत बेरोजगार, आरएसएलडीसी, प्रशिक्षित आईटीआई, प्रशिक्षित इत्यादि का डेटा एक ही क्लिक पर प्राप्त किया जा सकता है।
श्रमिक अपने मोबाइल से राज कौशल पोर्टल पर पंजीकरण कर सकता है। उसे तकनीकि समस्या आये अथवा प्रोसेस की जानकारी न हो तो आने निकटतम ई-मित्र कियोस्क पर जाकर पंजीयन करवा सकता है। वह अपनी रोजगार की स्थिति, सेवा श्रेणी कार्य का प्रकार, शैक्षणिक योग्यता, तकनीकि योग्यता, प्रशिक्षण की आवश्यकता इत्यादि दर्ज कर अपना पंजीयन करवा सकता है। पंजीयन के लिए श्रमिक को मोबाइल नंबर एवं आधार कार्ड की आवश्यकता है। इसी प्रकार नियोक्ता भी अपना पंजीयन करवा सकता है। जिन फर्माे द्वारा पंजीयन नहीं करवाया गया है वे भी पंजीयन कर बीआरएन नंबर ले सकते है।
राज-कौशल पोर्टल पर श्रमिक पंजीयन, प्रोफाइल देखना, अपडेट करना, नई सेवा/स्किल को जोड़ना, रोजगार की स्थिति अपडेट करना, अपनी सेवा की श्रेणी व कार्य के आधार पर उपलब्ध रोजगारों की तलाश करने का कार्य कर सकता है। ऐसा करने पर उसकी सूचना संबंधित नियोक्ता के पास उपलब्ध हो जाएगी। वह किसी भी समय अपने आवेदन की स्थिति जांच सकता है, प्रशिक्षण की आवश्यकता को दर्ज करवा सकता है।
नियोक्ता किसी भी श्रमिक की प्रोफाइल देखकर उसे एसएमएस भेज सकता है। उपलब्ध श्रमिक/जनशक्ति में से नियोक्ता अपनी आवश्यकता (सेवा की श्रेणी, कार्य का आधार, पता इत्यादि) के आधार पर तलाश कर सकता है तथा किसी भी श्रमिक/जनशक्ति के प्रोफाइल में एसएमएस भेजकर अपनी रूचि दर्शा सकता है। किसी श्रमिक को नौकरी मिलने पर श्रमिक और नियोक्ता दोनों की प्रोफाइल में यह सूचना दर्ज हो जायेगी।
वीसी में उपस्थित जिला कलेक्टर नन्नूमल पहाडिया ने उद्योग, रीको आदि विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे जिले में स्थित सभी औद्योगिक इकाई संचालकों के निरन्तर सम्पर्क में रह कर योजना का अपडेट उन्हें देते रहें, साथ ही जिन प्रवासी या स्थानीय श्रमिकों का अभी इस पोर्टल पर पंजीयन नहीं हुआ है, उनका पंजीयन करवायें, डेटा अपडेशन जल्द से जल्द पूर्ण करवायें। इसके लिये सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के एसीपी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। वीसी में श्रम आयुक्त प्रतीक कुमार ने पंजीयन प्रक्रिया व इससे जुडे तकनीकि पहलुओं की विस्तार से जानकारी दी।
20:27

लोग अगर जागरूक रहेंगे तो रूकेगा कोरोना का प्रसार - सीईओ


सवाई माधोपुर @रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय पर 10 दिवसीय कोरोना जागरूकता अभियान के तहत बुधवार को विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर नागरिकों को 2 गज दूरी, बार-बार हाथ धोने, घर से निकलते समय मास्क लगाने, सार्वजनिक स्थानों पर न थूकने और भीडभाड की जगह जाने से बचने का संदेश दिया गया, कोरोना जागरूकता शपथ दिलाई गयी तथा सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा प्रकाशित सामग्री का वितरण किया गया।
जिला मुख्यालय स्थित महावीर पार्क में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कुमार ने उपस्थित नागरिकों को जागरूकता की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में छूट आर्थिक गतिविधियों को पुनः पटरी पर लाने के लिये दी गई है, सावधानी तो पहले से भी ज्यादा बरतनी पडेगी। उन्होंने जागरूकता प्रचार सामग्री का वितरण भी किया। आयुर्वेद विभाग के उप निदेशक इन्द्रमोहन शर्मा के निर्देशन में 300 लोगों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने वाला काढा पिलाया गया। इस अवसर पर नगर परिषद आयुक्त रविंद्र यादव, जनसंपर्क अधिकारी, रुडिप के अधिशासी अभियंता हरीश अग्रवाल व नगरपरिषद के कार्मिक भी उपस्थित रहे।
गंगापुर सिटी नगर परिषद द्वारा स्थानीय हायर सैकन्डरी स्कूल ग्राउंड पार्क, शास्त्री पार्क, भगतसिंह पार्क में कोरोना जागरूकता पैम्फलेट, सन बोर्ड, सन पैक तथा मुख्यमंत्री महोदय के संदेश का वितरण किया गया। पार्कों में घूमने आये वरिष्ठ नागरिकों व अन्य लोगों को कोरोना जागरूकता की शपथ दिलाई गई और कोरोना से बचाव हेतु जानकारी दी गई। इस अवसर पर पार्षदगण तथा नगरपरिषद आयुक्त भी उपस्थित रहे।
जिला खेल स्टेडियम में अभ्यास के लिए आने वाल खिलाड़ियों, प्रातः भ्रमण पर आने वाले आम नागरिकों को कोविड-19 के तहत बचाव एवं उपाय मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, भीड़-भाड़ से बचाव इत्यादि के संबंध में समझाया गया तथा इस संबंध में लिखित में भी एक आवश्यक सूचना जारी की गई। इसमें कोरोना काल में खिलाडियों द्वारा पालन किये जाने वाले स्टैंडर्ड प्रोटोकॉल को दर्शाया गया है। कोरोना महामारी से बचाव हेतु राज्य सरकार द्वारा जारी पैम्फलेट, मुख्यमंत्री महोदय के संदेश, सन बोर्ड, सन पैक का स्थानीय कार्यालय में प्रदर्शन किया गया, जागरूकता शपथ दिलाई गई तथा खिलाड़ियों व आमजन को आयुर्वेद विभाग की ओर से काढा पिलाया गया।
20:23

पूर्व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित


सवाई माधोपुर रिपोर्ट@ चंद्रशेखर शर्मा। सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय पर बुधवार को भाजपा की ओर से जिला कार्यालय  पर पूर्व प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी कि प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन पूर्व मण्डल अध्यक्ष व भाजपा के वरिष्ठ नेता रामकिशोर  अग्रवाल की अध्यक्षता में जिला किया गया।
श्रृद्धांजली सभा में जिला मंत्री हरिप्रसाद गुप्ता,जिला महामंत्री आचार्य लोकेन्द्र शर्मा तथा जिलाध्यक्ष डां भरत मथुरिया ने मदन जी सैनी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि मदन लाल जी सैनी साधारण कार्यकर्ता से प्रदेश के शीर्ष नेतृत्व तक पहुंचने वाले,अत्यन्त सादगी का जीवन जीने वाले तथा अनुशासनप्रिय बताया।
जिलाध्यक्ष डां मथुरिया ने मदन लाल जी सैनी को पार्टी का सच्चा सिपाही तथा धेर्यधारी नेता करार दिया,जो सिर्फ एक बार विधायक रहने के अलावा लम्बे समय तक बिना विधायक या सांसद रहे तथा सत्ता से दूर रहकर भी पार्टी द्वारा राष्ट्रीय अनुशासन समिति के अध्यक्ष तक की जिम्मेदारी निभायी।तथा जीवन के अंतिम पड़ाव में पार्टी द्वारा राज्यसभा सांसद तथा प्रदेशाध्यक्ष जैसी महत्वपूर्ण जिम्मैदारी भी मिली,जो हम सभी भाजपा कार्यकर्ताओं के लिये थोड़े समय पार्टी का काम करने पर ही कई बार बड़ी जिम्मेदारी नहीं मिलने या वार्ड पार्षद अथवा अन्य जनप्रतिनिधि के चुनाव प्रत्याशी नहीं बनाने पर नाराज़ न होना या पार्टी प्रत्याशी का विरोध न करने की प्रेरणा देता है।श्रृद्धांजली सभा मे जिला अध्यक्ष भरत लाल मथुरिया, महामंत्री लोकेंद्र आचार्य, मंत्री हरिप्रसाद गुप्ता, पूर्व मण्डल अध्यक्ष रामकिशोर अग्रवाल, महिला मोर्चा प्रदेश प्रतिनिधि संतोष मथुरिया, मिडिया प्रभारी दीनदयाल मथुरिया,शहर मण्डल अध्यक्ष श्रीचरण महावर, बजरिया मण्डल अध्यक्ष अनिल शर्मा,भाजयुमो जिला महामंत्री मुकेश शर्मा,स.मा. शहर मण्डल उपाध्यक्ष सत्येन्द्र शर्मा,शहर मण्डल महामंत्री मनीष जैन, रोहित गुप्ता,बजरिया मण्डल महामंत्री विक्की राजवंशी,कोषाध्यक्ष हरिशंकर सुवालका सहित अनेक भाजपा कार्यकर्ता शामिल रहे तथा सभी ने मदन लाल जी सैनी के चित्र पर पुष्पांजली अर्पित की।
17:01

जानिएअन्य देवताओं की तरह ब्रह्माजी की पूजा क्यों नहीं की जाती है -के सी शर्मा




ब्रह्मा  सनातन धर्म के अनुसार सृजन के देव हैं। हिन्दू दर्शनशास्त्रों में ३ प्रमुख देव बताये गये है जिसमें ब्रह्मा सृष्टि के सर्जक, विष्णु पालक और महेश विलय करने वाले देवता हैं।  व्यासलिखित पुराणों में ब्रह्मा का वर्णन किया गया है कि उनके चार मुख हैं, जो चार दिशाओं में देखते हैं। ब्रह्मा को स्वयंभू (स्वयं जन्म लेने वाला) और चार वेदों का निर्माता भी कहा जाता है। हिन्दू विश्वास के अनुसार हर वेद ब्रह्मा के एक मुँह से निकला था।

भगवान ब्रह्मा त्रिदेवों में सबसे पहले आते हैं । ये लोकपितामह होने के कारण सभी के कल्याण की कामनाकरते हैं क्योंकि सभी इनकी प्रजा हैं । देवी सावित्री और सरस्वतीजी के अधिष्ठाता होने के कारण ज्ञान, विद्या व समस्त मंगलमयी वस्तुओं की प्राप्ति के लिए इनकी आराधना बहुत फलदायी है । वे ही ‘विधाता’ कहलाते हैं ।

भगवान ब्रह्मा की पूजा-आराधना का एक विशिष्ट सम्प्रदाय है जो ‘वैखानस आगम’ के नाम से प्रसिद्ध है । ब्रह्माजी के नाम से श्रौतसूत्र, गृह्यसूत्र, स्मार्तसूत्र तथा स्मृतियां प्राप्त होती हैं ।

ब्रह्माजी की सब जगह अमूर्त उपासना होती है । सभी प्रकार के सर्वतोभद्र, लिंगतोभद्र तथा वास्तु आदि चक्रों में उनकी पूजा मुख्य स्थान में होती है किन्तु मन्दिरों के रूप में उनकी पूजा मुख्यत: पुष्कर तथा ब्रह्मावर्त क्षेत्र (बिठूर) में होती है ।

मध्व-सम्प्रदाय के आदि प्रवर्तक-आचार्य ब्रह्माजी ही माने गये हैं इसलिए उडूपी आदि मुख्य पीठों में इनकी बड़े आदर से पूजा-आराधना की जाती है ।

अन्य देवताओं की तरह ब्रह्माजी की पूजा क्यों नहीं की जाती है ?

भगवान विष्णु, शिवजी, श्रीकृष्ण, श्रीराम, देवी दुर्गा और हनुमानजी की प्रतिमा की तरह ब्रह्माजी की प्रतिमा की पूजा न होने का कारण पद्मपुराण के सृष्टिखण्ड में दिया गया है—

पुष्कर के महायज्ञ में सभी देवता और देवपत्नियां उपस्थित हो गये और सभी की पूजा आदि के पश्चात् हवन की तैयारी होने लगी, किन्तु ब्रह्माजी की पत्नी सरस्वतीजी देवपत्नियों के बुलाये जाने पर भी विलम्ब करती गईं । बिना पत्नी के यज्ञ का विधान नहीं है और यज्ञ आरम्भ करने में बहुत बिलम्ब देखकर इन्द्र आदि देवताओं ने कुछ समय के लिए सावित्री नाम की कन्या को ब्रह्माजी के वामभाग में बैठा दिया ।

कुछ देर बाद जब सरस्वतीजी वहां पहुंचीं तो वे यह सब देखकर क्रुद्ध हो गयीं और उन्होंने देवताओं को बिना विचार किये काम करने के कारण संतानरहित होने का शाप दे दिया और ब्रह्माजी को पुष्कर आदि कुछ स्थानों को छोड़कर अन्य जगह मन्दिर में प्रतिमा रूप में पूजित न होने का शाप दे दिया ।  यही कारण है कि ब्रह्माजी की मूर्ति रूप में पूजा-आराधना अन्य जगह नहीं होती है । 

किन्तु इससे ब्रह्माजी का महत्व कम नहीं होता क्योंकि—

 बारह भागवताचार्यों (भगवान ब्रह्मा, भगवान शंकर, देवर्षि नारद, सनकादि कुमार, महर्षि कपिल, महाराज,मनु, भक्त प्रह्लाद, महाराज जनक, भीष्मपितामह, दैत्यराज बलि, महामुनि शुकदेवजी और यमराजजी) में ब्रह्माजी का प्रथम स्थान है । सृष्टि के आदि में भगवान शेषशायी विष्णु की नाभि से एक ज्योतिर्मय कमल प्रलयसिन्धु में प्रकट हुआ और उसी कमल की कर्णिका पर ब्रह्माजी प्रकट हुए । ब्रह्माजी ने यह देखने के लिए कि यह कमल कहां से निकला है, उसके नाल-छिद्र में प्रवेश किया और सहस्त्रों वर्षों तक उस नाल का पता लगाते रहे । पर जब कोई पता न लगा तो उसी समय अव्यक्त वाणी में उन्हें ‘तप’ शब्द सुनाई दिया और वे दीर्घकाल तक तप करते रहे । उन्हें अंत:करण में भगवान के दर्शन हुए और भगवान ने चार श्लोकों में ‘चतु:श्लोकी भागवत’ का उपदेश किया । ब्रह्माजी ने यह उपदेश देवर्षि नारद को और नारदजी ने भगवान व्यासजी को यह उपदेश किया । व्यासजी ने ‘श्रीमद्भागवत’ के रूप में इसे शुकदेवजी को पढ़ाया । इस प्रकार संसार में श्रीमद्भागवत के ज्ञान का प्रकाश फैला ।

 जब कभी पृथ्वी पर अधर्म और अनीति बढ़ जाती है तो पृथ्वी माता दुराचारियों के भार से पीड़ित होकर गौ का रूप धारण कर ब्रह्माजी के पास ही जाती हैं । इसी तरह जब देवता भी दैत्यों से पराजित होकर अपना राज्य खो बैठते हैं तो वे भी प्राय: ब्रह्माजी के पास ही जाते हैं । भगवान ब्रह्मा देवताओं के साथ भगवान विष्णु की स्तुति करते हैं और तब जैसा भी भगवान का आदेश होता है, वैसा कार्य करने का आदेश वे देवताओं को देते हैं । इस प्रकार भगवान के अधिकांश अवतार ब्रह्माजी की प्रार्थना से ही होते हैं । अत: भगवान विष्णु के चौबीस अवतारों में प्राय: ब्रह्माजी ही निमित्त बने हैं।

 जब भी विश्वामित्र या पृथु जैसे समर्थशाली सृष्टि में व्यतिक्रम करने लगते हैं तो सृष्टि में सामंजस्य बनाये रखने के लिए उन्हें समझाने के लिए ब्रह्माजी को ही आना पड़ता है ।

 ब्रह्माजी के चार मुखों से चार वेद—पूर्व मुख से ऋग्वेद, दक्षिण मुख से यजुर्वेद, पश्चिम मुख से सामवेद तथा उत्तर मुख से अथर्ववेद का आविर्भाव हुआ । इनके अतिरिक्त उपवेदों के साथ इतिहास-पुराण के रूप में ‘पंचम वेद’ का भी ब्रह्माजी के मुख से आविर्भाव हुआ । अथर्ववेद तो ब्रह्माजी के नाम पर है इसलिए ‘ब्रह्मवेद’ भी कहलाता है ।

 इनके अतिरिक्त यज्ञ के होता, उद्गाता, अर्ध्वयु और ब्रह्मा आदि ऋत्विज् भी ब्रह्माजी से ही प्रकट हुए हैं । यज्ञ के मुख्य निरीक्षक ऋत्विज् को ‘ब्रह्मा’ नाम से जाना जाता है जो प्राय: यज्ञकुण्ड के दक्षिण दिशा में स्थित होकर यज्ञ-रक्षा और निरीक्षण का कार्य करता है । 

 ब्रह्माजी का यज्ञादि में सादर आवाहन-पूजन करके आहुतियां प्रदान की जाती हैं ।

▪️ यज्ञ-कार्य में सबसे अधिक प्रयोग होने वाली पवित्र समिधा पलाश-वृक्ष की मानी जाती है जो ब्रह्माजी का ही स्वरूप माना जाता है ।

 देवता और असुरों की तपस्या में सबसे अधिक आराधना ब्रह्माजी की ही होती है । सृष्टिकर्म में लगे रहने से वे बहुत कठोर तप करने पर ही तुष्ट होते हैं । विप्रचित्ति, तारक, हिरण्यकशिपु, रावण, गजासुर तथा त्रिपुर आदि असुरों को इन्होंने ही अवध्य होने का वरदान दिया था । देवता, ऋषि, मुनि, गंधर्व, किन्नर और विद्याधर आदि इन्हीं की आराधना करते हैं ।

 ब्रह्माजी ने पुष्कर, प्रयाग और ब्रह्मावर्त क्षेत्र में विशाल यज्ञों का आयोजन किया था, इसलिए ब्रह्माजी के कमल के नाम पर पुष्कर और यज्ञ के नाम पर प्रयाग तीर्थ स्थापित हुए जिसे सभी तीर्थों के राजा, पुरोहित व गुरु माना गया है । काशी के मध्यभाग में ब्रह्माजी ने दस अश्वमेध यज्ञ किए थे जिस कारण इस स्थान को दशाश्वमेध-क्षेत्र कहते हैं।

इसी कारण भगवान ब्रह्मा त्रिदेवों में सबसे पहले आते हैं । ये लोकपितामह होने के कारण सभी के कल्याण की कामना करते हैं क्योंकि सभी इनकी प्रजा हैं । देवी सावित्री और सरस्वतीजी के अधिष्ठाता होने के कारण ज्ञान, विद्या व समस्त मंगलमयी वस्तुओं की प्राप्ति के लिए इनकी आराधना बहुत फलदायी है । वे ही ‘विधाता’ कहलाते हैं।

Tuesday, 23 June 2020

20:30

24 जून का इतिहास महारानी दुर्गावती का बलिदान दिवस पर विशेष-के सी शर्मा




महारानी दुर्गावती कालिंजर के राजा कीर्तिसिंह चंदेल की एकमात्र संतान थीं। महोबा के राठ गांव में 1524 ई. की दुर्गाष्टमी पर जन्म के कारण उनका नाम दुर्गावती रखा गया। नाम के अनुरूप ही तेज, साहस और शौर्य के कारण इनकी प्रसिद्धि सब ओर फैल गयी।

उनका विवाह गढ़ मंडला के प्रतापी राजा संग्राम शाह के पुत्र दलपतशाह से हुआ। 52 गढ़ तथा 35,000 गांवों वाले गोंड साम्राज्य का क्षेत्रफल 67,500 वर्गमील था। यद्यपि दुर्गावती के मायके और ससुराल पक्ष की जाति भिन्न थी। फिर भी दुर्गावती की प्रसिद्धि से प्रभावित होकर राजा संग्राम शाह ने उसे अपनी पुत्रवधू बना लिया।

पर दुर्भाग्यवश विवाह के चार वर्ष बाद ही राजा दलपतशाह का निधन हो गया। उस समय दुर्गावती की गोद में तीन वर्षीय नारायण ही था। अतः रानी ने स्वयं ही गढ़मंडला का शासन संभाल लिया। उन्होंने अनेक मंदिर, मठ, कुएं, बावड़ी तथा धर्मशालाएं बनवाईं। वर्तमान जबलपुर उनके राज्य का केन्द्र था। उन्होंने अपनी दासी के नाम पर चेरीताल, अपने नाम पर रानीताल तथा अपने विश्वस्त दीवान आधारसिंह के नाम पर आधारताल बनवाया।

रानी दुर्गावती का यह सुखी और सम्पन्न राज्य उनके देवर सहित कई लोगों की आंखों में चुभ रहा था। मालवा के मुसलमान शासक बाजबहादुर ने कई बार हमला किया; पर हर बार वह पराजित हुआ। मुगल शासक अकबर भी राज्य को जीतकर रानी को अपने हरम में डालना चाहता था। उसने विवाद प्रारम्भ करने हेतु रानी के प्रिय सफेद हाथी (सरमन) और उनके विश्वस्त वजीर आधारसिंह को भेंट के रूप में अपने पास भेजने को कहा। रानी ने यह मांग ठुकरा दी। इस पर अकबर ने अपने एक रिश्तेदार आसफ खां के नेतृत्व में सेनाएं भेज दीं। आसफ खां गोंडवाना के उत्तर में कड़ा मानकपुर का सूबेदार था।

एक बार तो आसफ खां पराजित हुआ; पर अगली बार उसने दुगनी सेना और तैयारी के साथ हमला बोला। दुर्गावती के पास उस समय बहुत कम सैनिक थे। उन्होंने जबलपुर के पास नरई नाले के किनारे मोर्चा लगाया तथा स्वयं पुरुष वेश में युद्ध का नेतृत्व किया। इस युद्ध में 3,000 मुगल सैनिक मारे गये। रानी की भी अपार क्षति हुई। रानी उसी दिन अंतिम निर्णय कर लेना चाहती थीं। अतः भागती हुई मुगल सेना का पीछा करते हुए वे उस दुर्गम क्षेत्र से बाहर निकल गयीं। तब तक रात घिर आयी। वर्षा होने से नाले में पानी भी भर गया।

अगले दिन 24 जून, 1564 को मुगल सेना ने फिर हमला बोला। आज रानी का पक्ष दुर्बल था। अतः रानी ने अपने पुत्र नारायण को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया। तभी एक तीर उनकी भुजा में लगा। रानी ने उसे निकाल फेंका। दूसरे तीर ने उनकी आंख को बेध दिया। रानी ने इसे भी निकाला; पर उसकी नोक आंख में ही रह गयी। तभी तीसरा तीर उनकी गर्दन में आकर धंस गया।

रानी ने अंत समय निकट जानकर वजीर आधारसिंह से आग्रह किया कि वह अपनी तलवार से उनकी गर्दन काट दे; पर वह इसके लिए तैयार नहीं हुआ। अतः रानी अपनी कटार स्वयं ही अपने सीने में भोंककर आत्म बलिदान के पथ पर बढ़ गयीं। गढ़मंडला की इस जीत से अकबर को प्रचुर धन की प्राप्ति हुई। उसका ढहता हुआ साम्राज्य फिर से जम गया। इस धन से उसने सेना एकत्र कर अगले तीन वर्ष में चित्तौड़ को भी जीता।

जबलपुर के पास जहां यह ऐतिहासिक युद्ध हुआ था, वहां रानी की समाधि बनी है। देशप्रेमी वहां जाकर अपने श्रद्धासुमन अर्पित करते हैं।