Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label बागपत. Show all posts
Showing posts with label बागपत. Show all posts

Thursday, 11 November 2021

15:46

खेकड़ा थाना पुलिस ने फर्जी सीआईडी ऑफिसरो को किया गिरफ्तार वॉकी टोकी सहित रुपये भी किये बरामद


तस्लीम बेनकाब

बागपत। खेखड़ा थाना प्रभारी एम एस गिल बहुत ही जुझारू मेहनती थाना प्रभारी माने जाते हैं यह जहां पर भी रहते हैं बहुत ही शानदार पुलिसिंग का उदाहरण पेश करते हैं तथा वही अपराधियों के खिलाफ अपराध उन्मूलन अभियान बड़ी सख्त गति के साथ चलाते हैं तथा अपराधियों पर सख्त नजर आते हैं। एम एस गिल ने हमेशा अपनी कार्यकुशलता से सभी को प्रभावित किया है इनका अब तक का कार्यकाल सराहनीय एवं प्रशंसनीय रहा है बेबाकी और निष्पक्षता के साथ काम करने वाले एम एस गिल वे उनकी टीम ने आज एक बार फिर एक और बड़ा सराहनीय कार्य को अंजाम देते हुए एक शातिर गिरोह की कमर तोड़ते हुए फर्जी 
सीआईडी ऑफिसर बनकर अवैध रूप से मेडिकलो पर ठगी करने वाले 05 अतंरााज्यीय ठगों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त करते हुए इन ठगों के कब्जे से एक वॉकी-टाकी वायरलेस सैट मेट्रोला कम्पनी, 
03 पहचान पत्र, 03 मोबाईल फोन, ठगी के 35 हजार रुपये नगद बरामद भी बरामद किए हैं।

खेकड़ा थाना प्रभारी एम एस गिल को दीपक शर्मा पुत्र महेंद्र सिंह निवासी मोहल्ला पट्टी औरंगाबाद कस्बा व थाना खेकड़ा जनपद बागपत ने सूचना दी कि उसके मेडिकल स्टोर पर 5 फरवरी सीआईडी ऑफिसर लखनऊ बताकर मेडिकल स्टोर में दवाओं की चेकिंग करने व मेडिकल लाइसेंस निरस्त करने का डर दिख कर उससे 5 लाख रुपए की मांग करना तथा 1 लाख रुपए में मामला तेय होना जिसमें से ₹35000 उनको मौके पर दे दिए तथा बाकी के आज ₹65000 रेलवे स्टेशन खेकड़ा के पास देने हैं इस संबंध में प्राप्त तहरीर के आधार पर थाना खेकड़ा पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर आरोपियों की तलाश करना शुरू कर दिया था जिस पर आज खेकड़ा थाना प्रभारी एम एस गिल है उनकी टीम को यह सफलता प्राप्त हुई हैं खेकड़ा थाना पुलिस को पूछताछ में फ़र्ज़ी सीआईडी ऑफिसरो ने बताया कि टीवी पर चल रहे सीआईडी सिरियल को देख कर हुम् लोगो ने भी प्लान बनाया कि क्यों ना हम भी कुछ महिला पुरुष से मिलकर फर्जी सीआईडी ऑफिसर बंद कर मोटा पैसा कमा लें हम लोगों ने बालाजी इंटर कॉलेज दिनांक 16,8,2021 को बालाजी इंटर कॉलेज शामली मैं अंकित गर्ग पुत्र सुनील गर्ग के मेडिकल स्टोर पर छापा मारकर फर्जी मुकदमे में स्थानीय व मेडिकल स्टोर का लाइसेंस निरस्त कराने का भय दिखाकर ₹85000 रुपये लिए थे इसी तरह दिनांक 10, 9 सन 2021को डॉक्टर सुशील निवासी उत्तरांचल बिहार सोसाइटी लोनी गाजियाबाद के मेडिकल स्टोर पर छापा मारकर डर दिखाकर ₹200000 लिए थे इसके अलावा अन्य कई जगहों से भी पैसे ले चुके है यह गिरोह एक शातिर  किस्म का गिरोह जो घटनाओं को अंजाम देता रहता है लेकिन खेकड़ा थाना प्रभारी एम एस गिल व उनकी टीम की नजरों से नहीं बच पाया और कानून की जद में आ गया यह खेकड़ा थाना पुलिस की बड़ी कामयाबी कहीं जा सकती है कि ऐसे शातिर गिरोह का पर्दाफाश कर उन्हें बेनकाब किया है पकड़े गए अभियुक्त गणों के नाम अंकुश पुत्र संजय सिंह निवासी राकेश मार्ग थाना कोतवाली जनपद गाजियाबाद व अनिल पुत्र धर्मवीर निवासी विकास कुंज इंदिरा पुरी थाना लोनी जनपद गाजियाबाद व यामीन खान पुत्र यासिर खान निवासी अमर कॉलोनी थाना ज्योति नगर दिल्ली व दो महिलाओं को भी गिरफ्तार किया हैं।

Thursday, 22 October 2020

18:04

जाने क्यों इस पुलिस वाले को एसपी ने किया निलंबित tap news

deepak tiwari 
बागपत.उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में तैनात दरोगा इंतसार अली को बिना विभाग की अनुमति दाढ़ी रखना भारी पड़ा है। पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने दरोगा इंतसार को निलंबित कर दिया है। दरअसल, एसपी ने दरोगा को तीन बार दाढ़ी कटवाने के लिए हिदायत दी थी। साथ ही कहा गया था कि यदि उन्हें दाढ़ी रखना है तो इसके लिए विभाग से अनुमति लेना होगा। कारण बताओ नोटिस भी जारी किया था। इसके बावजूद उन्होंने न तो कोई जवाब दिया, न ही दाढ़ी कटवाई। दरोगा की इन दिनों रमाला थाने में तैनाती थी।
कुछ भी बोलने से बचते नजर आए दरोगा, सोशल मीडिया पर छिड़ी बहस
दरोगा इंतसार अली सहारनपुर जिले के रहने वाले हैं। एसपी के एक्शन के बाद दरोगा कुछ भी बोलने से बचते नजर आ रहे हैं। सूत्रों की मानें तो दरोगा इंतसार ने दाढ़ी रखने के लिए आईजी ऑफिस में अनुमति के लिए आवेदन किया था, लेकिन यह अब तक स्वीकार नहीं किया गया और अब ये कार्रवाई हो गई। हालांकि सोशल मीडिया पर इस बात को लेकर एक बहस भी शुरू हो गई है कि कप्तान की यह कार्रवाई गलत है। वहीं, कुछ लोगों का कहना है कि पुलिस की नौकरी में नियम कायदों का पालन करना जरूरी होता है। दरोगा ने ड्रेस कोड का पालन नहीं किया। इसीलिए उन पर सही कार्रवाई की गई है।
एसपी अभिषेक सिंह बोले...
एसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि पुलिस मैनुअल के अनुसार, सिख समुदाय के पुलिसकर्मियों को छोड़कर कोई भी अन्य अधिकारी या कर्मचारी दाढ़ी नहीं रख सकता और अगर कोई रखना चाहता है तो उसे प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। लेकिन दारोगा इंतसार अली बिना अनुमति के ही दाढ़ी रख रहे थे, जिसकी शिकायत मिल रही थी। काफी समझाने और नोटिस देने के बावजूद भी उन्होंने दाढ़ी नहीं कटवाकर अनुशासनहीनता दिखाई है। इस पर दरोगा के खिलाफ कार्रवाई की गई है।