Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label उत्तर प्रदेश. Show all posts
Showing posts with label उत्तर प्रदेश. Show all posts

Sunday, 1 August 2021

06:33

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लखनऊ में उत्तर प्रदेश राज्य फोरेंसिक विज्ञान संस्थान की आधारशिला रखी TNI


नई दिल्ली 1अगस्त 21:केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने आज लखनऊ में उत्तर प्रदेश राज्य फोरेंसिक विज्ञान संस्थान की आधारशिला रखी। केंद्रीय गृह मंत्री ने पौधरोपण भी किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य और उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक डॉ दिनेश शर्मा, वरिष्ठ अधिकारी और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

केंद्रीय गृह मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि उत्तर प्रदेश राज्य न्यायिक विज्ञान संस्थान अपने विशाल परिसर के साथ एक भव्य शुरुआत करेगा। आज इसका बीज बोया गया है, लेकिन जब यह बरगद का पेड़ उगेगा तो यहां से कई छात्र अपना करियर बनाएंगे। न केवल उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे देश में कई छात्र यहां शोध में भाग लेंगे और कानून व्यवस्था की मशीनरी की रीढ़ बनेंगे। श्री अमित शाह ने कहा कि जब श्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उन्होंने गुजरात में दुनिया में अपनी तरह का पहला फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय स्थापित किया था। मैं भाग्यशाली था कि उस समय मैं राज्य का गृह मंत्री था और जब नरेंद्र मोदी प्रधान मंत्री बने, तो उन्होंने 2019 में राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय की स्थापना की और गांधीनगर विश्वविद्यालय को राष्ट्रीय मंच पर लाया। गृह मंत्री ने कहा कि लखनऊ में बनने वाले उत्तर प्रदेश राज्य न्यायिक विज्ञान संस्थान पर करीब 200 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. इसके साथ ही भारत सरकार ने यहां डीएनए सेंटर बनाने के लिए 15 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की है, ताकि यहां देश का सबसे उन्नत डीएनए सेंटर बनाया जा सके। श्री अमित शाह ने कहा कि शुरू में इस संस्थान से हर साल लगभग 150 छात्र स्नातक होंगे और 350 से अधिक फैकल्टी होंगे। यह संस्थान फोरेंसिक विज्ञान के क्षेत्र में अनुसंधान और विकास प्रदान करेगा और इसे व्यावहारिक अनुप्रयोगों के साथ एकीकृत करेगा। व्यवहार विज्ञान तथा दीवानी एवं फौजदारी कानून के लिए एक संसाधन केंद्र भी होगा, जो पूरे उत्तरी क्षेत्र के सभी राज्यों में न्याय के क्षेत्र में मदद करेगा।


श्री अमित शाह ने कहा कि 44 विकास योजनाओं के क्रियान्वयन में उत्तर प्रदेश देश में सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि योजनाओं को बनाना बहुत आसान है लेकिन योजनाओं को धरातल पर लागू करने के लिए एक प्रणाली बनाना बहुत मुश्किल है, लाभार्थी तक पहुंचना, बिचौलियों को खत्म करना ताकि लाभार्थी को बिना किसी समस्या के योजनाओं का लाभ मिल सके। रिश्वत दे रहा है। योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम ने 44 योजनाओं में पूरे देश में पहला स्थान हासिल किया है और यह हम सभी के लिए गर्व की बात है। गृह मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हर क्षेत्र में विकास हुआ है. चाहे वह औद्योगिक निवेश हो, योजनाओं का सफल क्रियान्वयन हो या कानून-व्यवस्था की स्थिति में सुधार हो, गरीब किसानों का कर्ज माफ करना हो,

श्री अमित शाह ने कहा कि उन्होंने पिछले छह वर्षों में 2013-2019 से उत्तर प्रदेश के हर जिले और तहसील का दौरा किया है, और इसलिए उन्हें पहले के उत्तर प्रदेश की अच्छी तरह याद है। क्या राज्य के पश्चिमी हिस्सों में लोग डर के मारे घर छोड़ रहे थे, क्या महिलाएं असुरक्षित महसूस कर रही थीं, चाहे भू-माफियाओं ने गरीबों की संपत्ति और सार्वजनिक भूमि पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया हो, चाहे दिनदहाड़े फायरिंग हो या अराजक उत्तर प्रदेश। श्री शाह ने कहा कि 2017 में उनकी पार्टी ने वादा किया था कि हम उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति में सुधार कर राज्य को विकसित बनाएंगे. गृह मंत्री ने कहा कि आज जब मैं 2021 में यहां हूं तो गर्व से कह सकता हूं कि योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को देश में सबसे आगे ले जाने का काम किया है. इसके परिणामस्वरूप, उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था चार साल में 11 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 22 लाख करोड़ रुपये हो गई है और अब देश में दूसरे स्थान पर है। उन्होंने कहा कि कोविड की दोनों लहरों के दौरान योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार ने बहुत अच्छा काम किया है.


श्री अमित शाह ने कहा कि हमारी पार्टी के नेतृत्व वाली सरकारें जातियों और परिवारों के आधार पर नहीं चलती हैं, हमारे नेताओं के परिवारों को लाभ पहुंचाने के लिए काम नहीं करती हैं, बल्कि हमारी सरकारें देश के सबसे गरीब लोगों के विकास और कानून में सुधार के लिए काम करती हैं। गण। 22 करोड़ की आबादी वाले इतने बड़े राज्य में पिछली सरकार द्वारा सौंपी गई खराब स्वास्थ्य व्यवस्था को ठीक करना एक बड़ी उपलब्धि है। श्री शाह ने कहा कि टीकाकरण में भी उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है। अस्पतालों में बेड उपलब्ध कराने और टेस्टिंग में सबसे आगे रहने के साथ ही उत्तर प्रदेश प्रदेश के लोगों को सुरक्षा मुहैया कराने में भी सबसे आगे है.

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश हमारी राज्य सरकारों में सबसे आगे है जो नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लोगों के कल्याण के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि हमने वादा किया था कि शासन किसी एक जाति या परिवार के लिए नहीं होगा, लेकिन शासन सभी के लिए होगा, शासन कुछ बिल्डरों या अमीर लोगों के लिए नहीं बल्कि गरीबों के लिए होगा. आज चार साल बाद मैं गर्व से कह सकता हूं कि हमने इस दिशा में काफी प्रगति की है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश में कानून-व्यवस्था को मजबूत करना शुरू कर दिया है. नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गृह मंत्रालय ने कई नई शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि हालांकि कानून-व्यवस्था राज्य का विषय है, लेकिन केंद्र कुछ ऐसी पहल कर रहा है जिससे पूरे देश की कानून व्यवस्था को मजबूत किया जा सके. देश भर में कई फोरेंसिक साइंस कॉलेज स्थापित किए जाएंगे, जो कि राष्ट्रीय फोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी, गुजरात से संबद्ध होंगे। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि 2024 से पहले देश भर के आधे राज्यों में फॉरेंसिक साइंस कॉलेज खोल दिए जाएंगे. केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि हमारे देश में दोषसिद्धि का अनुपात अन्य देशों की तुलना में बहुत कम है और इसका मुख्य कारण व्यावसायिक शिक्षा की कमी है। श्री अमित शाह ने कहा कि फोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी वैज्ञानिक आधार पर अपराधियों को सजा दिलाने में न्यायपालिका की मदद करेगी। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि इससे सजा के अनुपात में वृद्धि होगी और साथ ही अपराधों की दर में भी कमी आएगी। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमने 2020 में राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय भी शुरू किया है। यह विश्वविद्यालय देश भर के कॉलेजों को जोड़ने का भी काम करेगा, जिससे हमें प्रशिक्षित जनशक्ति भी मिलेगी।

केंद्रीय गृह मंत्री ने यह भी कहा कि आज की पुलिस व्यवस्था 20 साल पहले जैसी नहीं रही, आज नकली नोट, नशीले पदार्थ, नार्को-आतंक, आतंकवाद, साइबर अपराध, आर्थिक अपराध, हथियारों की तस्करी और गौ तस्करी जैसे कई अपराध सामने आए हैं. पूरे देश में पुलिस बल को आधुनिक बनाने की जरूरत है। इसी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय की स्थापना की है। श्री अमित शाह ने कहा कि पुलिस दो कारणों से बदनाम है, या तो कोई कार्रवाई नहीं या अतिरिक्त कार्रवाई। कोई भी कार्य अच्छा नहीं है क्योंकि निष्क्रियता कानून और व्यवस्था को ठीक नहीं कर सकती है और चरम कार्रवाई भी अच्छी नहीं है क्योंकि इससे प्रतिक्रिया होती है। इसलिए, पुलिस को इनसे बाहर निकलकर जस्ट एक्शन की दिशा में तर्कसंगत प्रतिक्रिया की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए। इस दिशा में ये दोनों विश्वविद्यालय बहुत अच्छा काम करेंगे।


श्री अमित शाह ने कहा कि बाढ़, कोविड महामारी, किसानों से अनाज की खरीद, किसानों की कर्जमाफी, शौचालय, बिजली, गैस मुहैया कराने और गरीबों के सिर पर छत के बिना घर देने के लिए ज्यादातर नेताओं को नहीं देखा जाता है। लेकिन चुनाव के दौरान वे नए कपड़े पहनकर मैदान में उतरती हैं। उन्होंने कहा कि 2017 में उत्तर प्रदेश में किए गए सभी वादों को पूरा कर हम 2024 में राज्य की जनता का सामना करेंगे। उत्तर प्रदेश की जनता ने कभी दंगा मुक्त राज्य की कल्पना भी नहीं की थी, युवाओं ने कभी नौकरी का सपना नहीं देखा था। व्यापारी अनधिकृत करों का भुगतान किए बिना एक सफल व्यवसाय के बारे में नहीं सोच सकते थे, और उत्तर प्रदेश में इतने औद्योगिक निवेश के बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था। लेकिन योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार ने यह सब बदल कर राज्य को बहुत आगे तक ले जाया है.

श्री अमित शाह ने कहा कि आज लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक की पुण्यतिथि भी है। देश की जनता, देश का इतिहास और आने वाली कई पीढ़ियां स्वतंत्रता आंदोलन में तिलक महाराज के योगदान को कभी नहीं भूल सकतीं। लोकमान्य तिलक पहले व्यक्ति थे जिन्होंने कहा कि स्वतंत्रता मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है। इस नारे ने ब्रिटिश साम्राज्य की नींव हिला दी। लोकमान्य तिलक और उनके समकालीन लाला लाजपत राय और बिपिन चंद्र पाल, - लाल, बाल और पाल, वह त्रिमूर्ति जिसने पूरे भारत में एक आंदोलन को एक साथ रखा, उस आंदोलन की नींव पर, आज हमारा देश स्वतंत्र है और सबसे विकसित देशों में से एक होने की ओर बढ़ रहा है। दुनिया के देश। आज मैं तिलक महाराज को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और आशा करता हूं कि आने वाली पीढ़ियां उनके सिद्धांतों और देशभक्ति की भावना को आत्मसात कर देश को आगे बढ़ाएं

Tuesday, 20 July 2021

18:11

UP उत्तर प्रदेश का बेरोजगार युवा भाजपा सरकार को राजनीति से बेदखल करेगा : वंशराज दुबे


नोएडा, 20 जुलाई 2021आम आदमी पार्टी द्वारा यूपी जोड़ो अभियान के तहत विगत 8 जुलाई से पूरे उत्तर प्रदेश में सदस्यता अभियान सभी 403 विधानसभा में चलाया जा रहा है इसके तहत आम आदमी पार्टी छात्र विंग सीवाईएसएस के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष वंशराज दुबे का आगमन नोएडा सेक्टर 44 में हुआ।

           सदस्यता अभियान कार्यक्रम के जरिए छात्र विंग प्रदेश अध्यक्ष वंशराज दुबे ने सैकड़ों लोगों को आम आदमी पार्टी की सदस्यता दिलवाई। कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने योगी आदित्यनाथ सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में आदित्यनाथ जी की सरकार में प्रदेश के नौजवानों को हर साल 13 लाख नौकरियां देने को सरकार ने कहा था कि जब हम सत्ता में आएंगे तो 90 दिनों के अंदर सभी सरकारी रिक्त भर्तियों को भरने का काम करेंगे किंतु योगी आदित्यनाथ जी सत्ता पाते ही अपने एक बयान में कहते हैं कि उत्तर प्रदेश में तो नौकरियां बहुत हैं लेकिन उत्तर प्रदेश का नौजवान उस नौकरी के योग्य नहीं है लायक नहीं जबकि साढ़े 4 सालों में यह देखने को मिला कि वर्तमान की आदित्यनाथ सरकार साढ़े 4 सालों में उत्तर प्रदेश के नौजवानों को 4 नौकरियां भी नही दिला सकी।

    उन्होंने कहा कि यूपी जोड़ो अभियान के तहत आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश में 1 माह के अंदर एक करोड़ सदस्य बनाने का लक्ष्य प्राप्त करने जा रही है इस अभियान से उत्तर प्रदेश के सभी वर्गों के लोग ,नौजवान, किसान व व्यापारी बड़ी संख्या में जुड़ रहे हैं वर्तमान के आदित्य नाथ सरकार से परेशान समाज का प्रत्येक वर्ग आज आम आदमी पार्टी के साथ जुड़ रहा है उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल को अब महज 6 माह बचे हुए हैं और साढ़े 4 सालों में सरकार, कानून व्यवस्था,शिक्षा और स्वास्थ्य की व्यवस्था,बिजली के बिल, नौजवानों के रोजगार को लेकर सभी मुद्दों पर पूरी तरह से विफल साबित रही।  उन्होंने कहा कि प्रदेश में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी तो प्रदेश की जनता को दिल्ली की केजरीवाल जी की सरकार जैसे सभी सुविधाएं उत्तर प्रदेश की जनता को मिलेगी।

      प्रदेश सचिव व जिला प्रभारी मीनाक्षी श्रीवास्तव ने संबोधित करते हुए कहा कि "बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ वाली सरकार में सबसे ज्यादा अत्याचार बेटियों और महिलाओं पर ही हुये है अभी हाल ही में सम्पन्न ब्लॉक प्रमुख चुनावो में महिलाओं के साथ किया गया अत्याचार भुलाया नही जा सकता है जिलाध्यक्ष भूपेंद्र जादौन ने प्रदेश अध्यक्ष का स्वागत किया और संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी से रोज नए नए लोग जुड़ रहे है और बताया कि शीघ्र ही प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह जिले का दौर करेंगे। प्रदेश सचिव अशोक कमांडो ने उपस्थित लोगो को दिल्ली सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया ।

  कार्यक्रम का  आयोजन नोएडा विधानसभा  प्रभारी नितिन प्रजाति व संचालन जिला महासचिव व पार्टी प्रवक्ता संजीव निगम ने किया । संजीव निगम ने बताया कि  आज यहाँ सैकड़ों लोगों ने।सदस्यता ली व इस कार्यक्रम में CYSS के प्रदेश सचिव अजय यादव,नोएडा महानगर अध्यक्ष प्रशांत रावत, वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष अनिल चेंची व उपाध्यक्ष कैलाश शर्मा,नोएडा सदस्यता प्रभारी पंकज अवाना, जेवर अध्यक्ष व सदस्यता प्रभारी मुकेश प्रधान, जिला सचिव हर्षित श्रीवास्तव व पंडित अमित भारद्वाज,चिकित्सा प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष डॉ बी पी सिंह, युवा प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष राहुल सेठ, पंचायत प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सोमेश्वर तोमर,नोएडा वरिष्ठ उपाध्यक्ष राम कृपाल कुशवाहा व उपाध्यक्ष तरुण तंवर ,महासचिव प्रवीण धीमान, जयकिशन जायसवाल,संजय तुगलपुर,विनोद नागर सहित कई पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे


Monday, 12 July 2021

18:53

UP में आकाशीय बिजली गिरने से अलग-अलग जिलों में 40 की मौत 23 से ज्यादा लोग झुलसे


उत्तर प्रदेश में हुई बारिश के दौरान गिरी आकाशीय बिजली कई परिवारों के लिए मातम बन गई. राज्य के अलग-अलग जिलों में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 40 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब दो दर्जन से ज्यादा लोग गंभीर रूप से झुलस गए. अकेले प्रयागराज में आकाशीय बिजली गिरने से 2 मासूम बच्चों सहित 13 लोगों की मौत हुई है. जिले में 8 मवेशी भी आकाशीय बिजली की चपेट में आकर मारे गए हैं.

कानपुर देहात में भी 2 महिलाओं सहित 5 लोगों की मौत हो गई, जबकि 3 लोग गंभीर रूप से झुलस गए. इसके अलावा फिरोजाबाद में 3 और कौशांबी में 2 लोगों की मौत हो गई. वहीं मिर्जापुर में एक बच्चे की झुलसने से मौत हो गई. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आकाशीय बिजली की चपेट में आकर हुई मौतों का संज्ञान लेते हुए मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया है. घायलों को समुचित इलाज के लिए कहा है.

प्रयागराज के कोरांव थाना क्षेत्र के भागेश्वर गांव में बकरी चराने गए 2 बच्चे बारिश के दौरान आम के पेड़ के नीचे बैठे थे तभी आकाशीय बिजली गिरी. इसकी चपेट में आने से 11 साल के पुष्पेंद्र और 12 साल के रामराज की मौत हो गई. महुली गांव में एक 55 साल के बुजुर्ग की मौत हो गई. शंकरगढ़ थाना क्षेत्र भीतरिया कला गांव निवासी होमगार्ड कामता प्रसाद सिंह पटेल की मौत हो गई. वहीं सोरांव थाना इलाके में एक महिला की भी मौत हो गई.

फिरोजाबाद के नगला उमर गांव में हेमराज और रामपाल नाम के 2 लोगों की मौत हो गई. ये दोनों ही खेत में पशुओं के लिए चारा लेने गए थे, इसी बीच बारिश होने लगी. बारिश से बचने के लिए दोनों किसान खेत के पास लगे नीम के पेड़ के नीचे बैठ गए.

थोड़ी देर बाद हेमराज खेत में तोड़ी गई सब्जियों को ढंकने के लिए चले गए. उनकी मदद के लिए रामसेवक भी साथ गए. दोनों जैसे ही खेत में पहुंचे, आकाशीय बिजली गिर गई और वे मारे गए. वहीं गांव नगला चांट में धान की रोपाई कर रहे किसान की मौत हो गई.

Thursday, 1 July 2021

06:23

पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने की मांग को लेकर पेट्रोल पम्पों पर कांग्रेस चलाएगी हस्ताक्षर अभियान-अजय कुमार लल्लू


लखनऊ 01 जुलाई 2021कांग्रेस पार्टी बढ़ती आवश्यक वस्तुओं की कीमतों व भाजपा की केंद्र सरकार द्वारा की जा रही पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस में लूट के खिलाफ ब्लाक, तहसील, जिला और राज्य स्तर पर राष्ट्रव्यापी आंदोलन कार्यक्रम शुरू करेगी ।
उत्तर प्रदेश में आंदोलन की तैयारी को लेकर प्रदेश अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू ने प्रदेश कांग्रेस के सभी फ्रंटल संगठनों व विभागों के पदाधिकारियों और नेताओं के साथ बैठक कर रणनीति को अंतिम रूप दिया ।
कांग्रेस के चरणबद्ध आंदोलन में कांग्रेस नेता व  कार्यकर्ता, महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस, भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन, किसान कांग्रेस, मजदूर कांग्रेस, पिछड़ा विभाग, चिकित्सा विभाग, पर्वतीय प्रकोष्ठ, खेल कूद, व्यापार प्रकोष्ठ, सूचना के अधिकार विभाग सहित अन्य सभी कांग्रेस के फ्रंटल संगठन, बेतहाशा महंगाई, डीजल-पेट्रोल एवं रसोई गैस के बढ़ते दामों के विरुद्ध आंदोलन में शामिल रहेंगे।
    उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू ने कांग्रेस के सभी विभाग व फ्रंटल संगठनों के पदाधिकारियों के साथ तैयारी बैठक में सरकार की जनविरोधी नीतियों पर कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व की चिंताओं व निर्देश से अवगत कराते हुए कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों व उद्योगपतियों से प्रेम के चलते बेतहाशा महंगाई बढ़ रही है, जिसके बोझ के तले जनता दबती जा रही है। इस लूट को रोकने के लिये कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय श्रीमती सोनिया गांधी जी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह जी, माननीय राहुल गांधी जी, माननीय श्रीमती प्रियंका गांधी जी ने पत्र लिखकर इस सम्बंध में भाजपा सरकार को जनता की पीड़ा बताने और दाम कम करने को लेकर प्रयास किये, लेकिन संवेदनहीन सरकार अनसुना करती रही।
    कांग्रेस पार्टी जनता पर हो रहे अत्याचार को सहन नही करेगी, इसलिये राष्ट्रीय नेतृत्व ने सड़क पर आंदोलन के माध्यम से आवश्यक खाद्य पदार्थो के बेतहाशा बढ़ते दामों, रसोई गैस व पेट्रोल-डीजल में लूट के विरोध में जनता की आवाज उठाने का निर्णय लिया है। कांग्रे स अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी जी के निर्देश पर इस जनहित के आंदोलन में आप सभी कांग्रेसजनों को पूरी ताकत के साथ सड़क पर उतरकर जनता की आवाज को बुलन्द करना है।

Wednesday, 30 June 2021

13:41

मुख्तार अंसारी से जुड़े एम्बुलेंस प्रकरण में वांछित इनामी बदमाश सलीम गिरफ्तार

बाराबंकी 30 जून  मुख्तार अंसारी से जुड़े एम्बुलेंस प्रकरण में वांछित इनामी बदमाश सलीम को उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने लखनऊ के जानकीपुरम से गिरफ्तार कर बाराबंकी पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी पर बाराबंकी और गाजीपुर पुलिस ने क्रमश: 20 और 25 हजार रूपये का इनाम घोषित कर रखा था। पुलिस लंबे समय से उसकी तलाश में थी। शहर कोतवाल पंकज सिंह ने बुधवार को बताया कि एसटीएफ की वाराणसी इकाई ने एम्बुलेंस मामले में मुख्तार अंसारी गिरोह के बदमाश और एम्बुलेंस चालक गाजीपुर निवासी सलीम को लखनऊ के जानकीपुरम क्षेत्र से एक स्कूल के पास से गिरफ्तार किया है। उसे बाराबंकी शहर कोतवाली के हवाले कर दिया गया है, जहां एम्बुलेंस प्रकरण में उससे पूछताछ की जाएगी। उसे बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा। सिंह के मुताबिक पूछताछ में आरोपी सलीम ने बताया कि वह पिछले 20 वर्षों से मुख्तार अंसारी के गिरोह से जुड़ा हुआ है। उसके खिलाफ गाजीपुर जिले में कई मामले दर्ज हैं। उसके साथ सुरेंद्र, रमेश और फिरोज भी मुख्तार के ड्राइवर थे। ये लोग मुख्तार अंसारी के पंजाब के रोपड़ जेल में बंद होने के दौरान व इससे पहले वह जहां-जहां जाता था, उसके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली एम्बुलेंस को चलाते थे। उन्होंने बताया कि एम्बुलेंस मामले में आरोपी सलीम व उसके साथी बाराबंकी में दर्ज मामले में वांछित थे। उनके खिलाफ इनाम घोषित किया गया था।

गौरतलब है कि जबरन वसूली के एक मामले में बसपा विधायक मुख्तार अंसारी को गत 31 मार्च को पंजाब के मोहाली स्थित अदालत में पेश किया गया था। अंसारी को जिस एम्बुलेंस से लाया गया था, उस पर बाराबंकी की नंबर प्लेट लगी थी। जब पुलिस ने जांच की तो पाया कि मऊ के श्याम संजीवनी अस्पताल की संचालिका अलका राय और उनके कुछ सहयोगियों ने साल 2013 में इस एम्बुलेंस का फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पंजीकरण कराया।

इस बाबत बाराबंकी की नगर कोतवाली में मामला दर्ज किया गया, जिसमें मुख्तार अंसारी को साजिश और जालसाजी का आरोपी बनाया गया था। बाराबंकी पुलिस का कहना है कि डॉक्टर अलका राय, उनके सहयोगी डॉक्टर शेषनाथ राय, मुख्तार अंसारी, मुजाहिद, राजनाथ यादव और अन्य ने आपराधिक षड्यंत्र के तहत एम्बुलेंस के पंजीकरण के लिए फर्जी दस्तावेज तैयार किए थे। इस मामले में पुलिस ने अलका राय, शेषनाथ राय और राजनाथ यादव को गिरफ्तार किया है।

संवाददाता मतीन अहमद 

13:35

UP मुकुल गोयल बने उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी

यूपी से एक बड़ी खबर है। 1987 बैच के आईपीएस अफसर मुकुल गोयल को प्रदेश का नया डीजीपी नियुक्त किया गया है। मुकुल गोयल वर्तमान में भारत सरकार में एडिशनल डीजी ऑपरेशंस, बीएसएफ के पद पर तैनात हैं।
बता दें कि आईपीएस हितेश चंद्र अवस्थी गुरुवार को ही डीजीपी के पद से रिटायर हुए हैं। इसके बाद डीजीपी का चार्ज एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार को दे दिया गया था। मंगलवार की शाम आईपीएस मुकुल गोयल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात भी की थी।

प्रदेश के नए पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल यूपी के मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं। उन्होंने आईआईटी दिल्ली से बीटेक करने के बाद एमबीए भी किया। वह यूपी के आजमगढ़ जिले के पुलिस अधीक्षक और वाराणसी, गोरखपुर, सहारनपुर व मेरठ जिलों के एसएसपी रह चुके हैं। इसके अलावा वह कानपुर, आगरा, बरेली रेंज के डीआईजी और बरेली जोन के आईजी भी रह चुके हैं।

मुकुल गोयल उत्तर प्रदेश की पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार में प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर के पद पर भी तैनात रह चुके हैं। उन्हें मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान अरुण कुमार को हटाकर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर बनाया गया था।

यूपी में 30 जून को डीजीपी समेत 21 पुलिस अफसर रिटायर हो गए। इनमें से 9 आईपीएस और 12 पीपीएस अफसर हैं। 21 पुलिस अफसरों में यूपी काडर और प्रांतीय पुलिस सेवा के अधिकारी शामिल थे रिटायर होने वाले आईपीएस अफसरों में 2 डीजी रैंक, 2 आईजी रैंक, 3 डीआईजी रैंक और 2 एसपी रैंक के अफसर हैं।

Sunday, 14 February 2021

17:51

घायल युवक को देख रुके पूर्व CM अखिलेश यादव deepak tiwari

लखनऊ.उत्तर प्रदेश के समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सड़क हादसे में घायल युवक को देख कर रुक गए। यह मामला राजधानी लखनऊ के गोसाईगंज अर्जुनगंज के पास स्थित मरी माता मंदिर का है। अखिलेश यादव के द्वारा युवक के हाथ को उठाकर देखा गया और उसे समुचित इलाज के लिए यूपी 112 के साथ हॉस्पिटल में भर्ती कराने के लिए भेजा। सोशल मीडिया पर अखिलेश यादव का यह पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा है।
जानकारी के अनुसार, यह पूरा मामला 12 फरवरी दोपहर 3 से 3:30 बजे का होना बताया जा रहा है। दिल्ली से लखनऊ आए, अपने लखनऊ आवास लौट रहे थे, तभी अर्जुनगंज के समीप घंटी माता मंदिर के पास एक सरकारी गाड़ी ने बाइक सवार को पीछे से टक्कर मार दी थी। बाइक सवार पलटी खा कर सड़क पे ही गिर पड़ा, ये देखते ही सामने गुजर रही अपनी फ्लीट रुकवा के अखिलेश यादव ने उस युवक के पास जा पहुंचे। उसको अपने हाथों से उठाया और पूछा चोट तो नहीं लगी।
अखिलेश को देखते हुए खुश हो गया युवक
अचानक जब उसकी नज़र अखिलेश यादव पर पड़ी तो वह चौंक गया और पास की पुलिया पे जा बैठा और जब गौर से अखिलेश को देखा तो उसकी बाल सुलभ मुस्कान देखने लायक थी। तब तक यूपी 112 आ गई।
अखिलेश यादव हंसते हुए बोले देखो हमारी यूपी 112 मदद के लिए आ गई है। बाइक सवार की मदद की, और बोले कि इस सड़क को 6 लेन बनाने का रास्ता हमने अपने कार्यकाल में रक्षा मंत्रालय से बात करके साफ कर दिया था।
पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने यूपी 112 के मौके पे पहुंचे पुलिसकर्मियों से कहा, अबकी जब सपा की सरकार आएगी तो हम और अधिक आधुनिक उपकरणों से लैस यूपी 112 की गाड़ियां और बाइक आप लोगों को देंगे। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड के मो. एबाद ने इस पूरे मामले की पुष्टि भी की है।

Tuesday, 9 February 2021

02:16

सुप्रीम कोर्ट ने उप्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग वाली याचिका खारिज की tap news India deepak tiwari

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करने वाली याचिका को खारिज कर दिया है। उत्तर प्रदेश में खराब कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की गई थी। याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में कहा था कि उत्तर प्रदेश (उप्र) में अपराध दर बढ़ गई है और संवैधानिक मशीनरी भी टूट चुकी है। याचिका में उप्र में सबसे खराब क्राइम रिकॉर्ड का भी दावा किया गया था। प्रधान न्यायाधीश एस. ए. बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा, “आपने कितने राज्यों के अपराध रिकॉर्ड का अध्ययन किया है?”
इस पीठ में न्यायाधीश ए. एस. बोपन्ना और वी. रामासुब्रमण्यन भी शामिल थे। पीठ ने याचिकाकर्ता-इन-पर्सन वकील सी. आर. जय सूकिन को चेतावनी दी कि वह याचिका की प्रकृति को देखते हुए उन पर भारी जुर्माना लगा सकते हैं। सूकिन की ओर से उनकी दलीलें सुनने के लिए लगातार किए जा रहे प्रयास के बाद प्रधान न्यायाधीश ने कहा, “क्या आपने अन्य राज्यों के अपराध रिकॉर्ड का अध्ययन किया है? रिसर्च कहां है?” इस पर सूकिन ने उत्तर दिया कि राष्ट्रीय आंकड़ों की तुलना में उत्तर प्रदेश में लगभग 30 प्रतिशत अपराध हुए हैं।

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के आंकड़ों का हवाला देते हुए, सूकिन ने कहा कि उन्होंने अपनी रिसर्च की है और उत्तर प्रदेश में अपराध का ग्राफ बढ़ गया है। उप्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की दलील को खारिज करते हुए पीठ ने सूकिन से कहा, “हमें बताएं कि आप इसे किस आधार पर कह रहे हैं?”

मामले में एक संक्षिप्त सुनवाई के बाद, प्रधान न्यायाधीश बोबड़े ने कहा कि याचिकाकर्ता के पास अपने दावों का समर्थन करने के लिए कोई रिसर्च नहीं है और वह ये स्थापित करने में विफल रहे हैं कि उनके मौलिक अधिकार का उल्लंघन हुआ है। शीर्ष अदालत ने सुनवाई के दौरान याचिका को खारिज करते हुए याचिकाकर्ता से कहा कि ज्यादा बहस करेंगे तो भारी जुर्माना लगाएंगे। पीआईएल में जनवरी 2020 में जारी एनसीआरबी के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा गया है कि उत्तर प्रदेश में हर दो घंटे में दुष्कर्म का मामला दर्ज किया जाता है, जबकि राज्य में हर 90 मिनट में एक बच्चे के खिलाफ अपराध दर्ज किया जाता है।

Saturday, 6 February 2021

22:28

श्रमिकों की न्यूनतम मजदूरी 21000 तय करे सरकार -रामजी पांडे


 उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर में श्रमिक विकास संगठन एसवीएस द्वारा चलाए जा रहे  सदस्यता अभियान के अध्यक्ष और श्रमिक  नेेता रामजी  पांडे ने कहा की श्रमिक हमेशा से ही देश के विकास में अहम भूमिका निभाता रहा है और किसी भी समाज, देश, संस्था और उद्योग में काम करने वाले श्रमिक संगठन की रीड की हड्डी   होते हैं इसीलिए  श्रमिकों के बिना किसी भी औद्योगिक ढांचे के खड़े होने की कल्पना नहीं की जा सकती। श्रमिकों का समाज में अपना ही एक स्थान है। लेकिन आज भी देश में मजदूरों के साथ अन्याय और उनका शोषण होता है। आज भारत देश में बेशक मजदूरों के 8 घंटे काम करने का संबंधित कानून लागू हो लेकिन इसका पालन सिर्फ सरकारी कार्यालय ही करते हैं, बल्कि देश में अधिकतर प्राइवेट कंपनियां या फैक्टरियां अब भी अपने यहाँ काम करने वालों से 12 घंटे तक काम कराते हैं। जो कि एक प्रकार से मजदूरों का शोषण है। आज जरूरत है कि सरकार को इस दिशा में एक प्रभावी कानून बनाना चाहिए और उसका सख्ती से पालन कराना चाहिए। भारत में मजदूरों की मजदूरी के बारे में बात की जाए तो यह भी एक बहुत बड़ी समस्या है, आज भी देश में कम मजदूरी पर मजदूरों से काम कराया जाता है। यह भी मजदूरों का एक प्रकार से शोषण है। आज भी मजदूरों से फैक्ट्रियों या प्राइवेट कंपनियों द्वारा पूरा काम लिया जाता है लेकिन उन्हें मजदूरी के नाम पर बहुत कम मजदूरी पकड़ा दी जाती है। जिससे मजदूरों को अपने परिवार का खर्चा चलाना मुश्किल हो जाता है। पैसों के अभाव से मजदूर के बच्चों को शिक्षा से वंचित रहना पड़ता है। भारत में अशिक्षा का एक कारण मजदूरों को कम मजदूरी दिया जाना भी है बेशक इसको लेकर देश में विभिन्न राज्य सरकारों ने न्यूनतम मजदूरी के नियम लागू किये हैं, लेकिन इन नियमों का खुलेआम उल्लंघन होता है और इस दिशा में सरकारों द्वारा भी कोई विशेष ध्यान नहीं दिया जाता और न ही कोई कार्यवाही की जाती है। आज जरूरत है कि इस महंगाई के समय में सरकारों को प्राइवेट कंपनियों, फैक्ट्रियों और अन्य रोजगार देने वाले माध्यमों के लिए एक कानून बनाना चाहिए जिसमें मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी 21000 तय की जानी चाहिए।  जिससे श्रमिकों के परिवार को भूखा न रहना पड़े और न ही मजदूरों के बच्चों को शिक्षा से वंचित रहना पड़े।

 


 

 


 


Saturday, 30 January 2021

16:50

पंचायत चुनाव में गाँव स्तर पर संगठन मजबूत कर लड़ेंगे चुनाव AAP

कोंच(जालौन)- पंचायत ग्राम विधानसभा चुनाव के लिए जमीन बना रही आम आदमी पार्टी ने विकास खण्ड के ग्राम अंडा में कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजन किया जिसमें आम आदमी पार्टी  के दिल्ली विधानसभा के विधायक ने शिरकत कर पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह और जोश पैदा करने की कोशिश की।
प्रदेश में चुनाव लड़ने का एलान कर चुकी आम आदमी पार्टी अब ग्राम स्तर पर संगठन खड़ा करने का प्रयास कर रही है दिल्ली की देवली विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रकाश जारवार ने ग्राम अंडा में आयोजित पार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित किया उन्होंने कहा उनकी पार्टी आम आदमी की पार्टी है वह हमेशा आम आदमी के दुख तकलीफों को दूर करने के लिए कार्य करती है शिक्षा और स्वास्थ्य रोजगार की दिशा में पार्टी आगे बड़कर कार्य कर रही है दिल्ली के स्कूलों और अस्पतालो में आम आदमी को दी जा रही सुविधा के बारे में बताया इस दौरान कार्यक्रम के आयोजक युवा नेता विक्रम सिंह यादव,जिलाध्यक्ष दीनदयाल काका,राम किशोर खरे,अरुण कुमार शुक्ला,अरविंद यादव चतुर्भुज  अग्रवाल श्याम जी नामदेव सहित कई पदाधिकारी मौजूद रहे।
रिपोर्ट
इंजी० असद अहमद

Wednesday, 20 January 2021

04:20

आम आदमी पार्टी फर्रुखाबाद ने किया जनसंवाद कार्यक्रम

आज दिनांक 20 एक 2021 को आम आदमी पार्टी फर्रुखाबाद के कायमगंज विधानसभा क्षेत्र के ग्राम रायपुर खास कुंवरपुर ग्राम में आम आदमी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष सलीम खान जी के नेतृत्व में जनसंवाद का कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें सलीम भाई जी ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी जिला पंचायत चुनाव पूरी ताकत के साथ लड़ेगी वही जिला संगठन मंत्री माजिद भाई ने भी ग्रामीणों को संबोधित किया और कहा कि आने वाले 2022 के चुनाव में आम आदमी पार्टी दिल्ली की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ेगी वहीं आम आदमी पार्टी के जुझारू कार्यकर्ता मोइनुद्दीन उर्फ अदनान शाह ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता गांव गांव जाकर आम आदमी पार्टी को नीतियों के बारे में लोगों को जागरूक कर रहे हैं तथा प्रदेश सरकार की दमनकारी नीतियों के बारे में भी बता रहे हैं उन्होंने कहा कि जिस प्रकार आम आदमी पार्टी के सरकार ने दिल्ली में मॉडल लागू किया है उसी मॉडल को यूपी में भी लागू किया जाएगा इस मौके पर मोहसिन खान पप्पू का नासिर खान इसरार खां अमन खान आदि कार्यकर्ता सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे तथा कई लोगों ने आम आदमी पार्टी की सदस्यता भी ग्रहण की गौतम कुमार कश्यप जिला मीडिया प्रभारी आम आदमी पार्टी फर्रुखाबाद
01:48

उप्र में एक और 'कागज' की कहानी का हुआ खुलासा tap news

Tap news India deepak tiwari   
मिर्जापुर, 20 जनवरी | यह एक ऐसी कहानी है, जिसने सुर्खियां तो खूब बटोरीं, लेकिन इसका सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर के अमोई गांव में 65 वर्षीय भोला सिंह को मृत घोषित कर राजस्व अधिकारियों के साथ मिलकर उनके भाई ने उनकी खानदानी जमीन को हड़प लिया।

भोला की यह कहानी काफी हद तक लाल बिहारी से मेल खाती है, जिन्होंने सरकारी कागजातों में खुद को मृत साबित कर दिए जाने के बाद लगभग 19 साल तक भारतीय नौकरशाही के साथ संघर्ष किया। उनकी जिंदगी की इसी असल घटना पर फिल्मकार सतीश कौशिक ने 'कागज' बनाई है, जिसे हाल ही में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज किया गया।

भोला के मामले में मिर्जापुर जिला प्रशासन ने उनकी असली पहचान को साबित करने के लिए डीएनए टेस्ट कराने का आदेश दिया है।

भोला को जिला कलेक्ट्रेट के बाहर एक साइन बोर्ड के साथ बैठे देखा जा सकता है, जिसमें लिखा है : "सर, मैं जिंदा हूं। सर, मैं एक इंसान हूं, कोई भूत नहीं।"

इस मामले की जांच कर रहे जिले के एक अधिकारी ने कहा है कि डीएनए टेस्ट कराए जाने की सिफारिश की गई है क्योंकि अमोई के लोग उसे पहचान नहीं पा रहे हैं।

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (फाइनेंस) यू.पी. सिंह ने कहा, "हमने मामले की जांच की है। यह आदमी अब अमोई गांव में नहीं रहता है बल्कि किसी और गांव में रहता है। जब भोला सिंह को अमोई में ले जाया गया, तो कोई भी उन्हें नहीं पहचान सका। जब उनसे अपने सगे भाई को पहचानने की बात कही गई, तो वह नहीं पहचान सके। यहां तक कि वह गांव में किसी को भी नहीं पहचान पाए। इसके बाद उन्होंने कहा कि पिछले करीब बीस साल से वह किसी और गांव में रह रहे हैं।"

जिला मजिस्ट्रेट के कार्यालय के बाहर 65 वर्षीय इस बुजुर्ग ने पत्रकारों को बताया, "मेरा नाम भोला है। मैं यहां इसलिए हूं क्योंकि मेरे पिता का निधन होने के बाद जमीन दो लोगों के नाम लिखी गई थी - दोनों भाइयों के नाम पर थी। जमीन के कागजातों में मुझे मृत दिखाया गया है, जबकि मैं जिंदा हूं।"

इस केस की शुरुआत करीब पांच साल पहले तब हुई थी, जब नवंबर 2016 में कोतवाली पुलिस स्टेशन में जालसाजी, धोखाधड़ी पर एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।

भोला सिंह के यह आरोप लगाने के बाद कि उनका भाई राज नारायण और दो जिलाधिकारियों ने मिलकर गलत तरीके से उन्हें मृत घोषित कर उनकी पैतृक जमीन को हड़पने का काम किया है और इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई, जिसके चलते उनके द्वारा एफआईआर दर्ज कराई गई

Sunday, 10 January 2021

04:06

मुरादनगर में हुई घटना पर आप प्रभारी संजय सिंह ने की प्रेस कान्फ्रेंस tap news

मुरादनगर में शमशान में दलाली का जो मामला सामने आया जिसमें 25 लोगों की जान चली गई है उनके परिवारों से मैं मिलने गया था, वे लोग काफी दुखी है, पीड़ित और आक्रोशित हैं।लोग अपने परिजन की लाश लेकर श्मशान गए थे लेकिन उन्हें नहीं मालूम था कि योगी आदित्यनाथ सरकार के दलाली खाने के कारण, श्मशान में ही 25 लोगों की जान चली जाएगी जहाँ से उनकी लाशों को घर ले जाना पड़ेगा।
स्थानीय लोगों ने बताया कि वर्तमान चेयरमैन से इस भ्रष्टाचार की कई बार शिकायत हुई फिर भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। 
विभागीय मंत्री और विभागीय अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही ना होना साबित करता है कि ऊपर से लेकर नीचे तक योगी आदित्यनाथ जी की सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त है।
मुरादनगर में हुई घटना केवल एक नगरपालिका का मामला नहीं है बल्कि ऐसी दलाली और भ्रष्टाचार उत्तर प्रदेश के सभी नगर पालिकाओं और ज़िलों में हो रहा है।
निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार, कर्मचारियों की नियुक्ति में भ्रष्टाचार, सफाई कर्मचारियों को रखने में भ्रष्टाचार हो रहे हैं और जब इन घोटालों के विरुद्ध आवाज़ उठाई जाती है तो योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा SIT बना कर जांच का ढोंग किया जाता है।
कोरोना में दलाली खाई गई, PPE किट में दलाली खाई गई, ऑक्सीमीटर - थर्मामीटर में दलाली खाई गई, जब इसके खिलाफ बोलो तो एक नया मजाक किया जाता है योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा और एक सुरक्षा कवच के तौर पर SIT बनाने का ढोंग करते हुए मामले को रफा-दफा कर दिया जाता है।

मुरादनगर के पीड़ित परिवारों को सरकारी नौकरी देने की बात कही गई थी लेकिन कोई निश्चित समय निर्धारित नहीं किया गया है, हमारी मांग है कि उनको 1 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया जाए क्योंकि उनका सब कुछ तबाह हो गया है।

Saturday, 2 January 2021

09:54

भूदान यज्ञ समिति के कार्यकर्ताओं ने दिया ज्ञापन tap news india

उत्तर प्रदेश/आचार्य विनोबा भावे द्वारा जमीदारों से प्राप्त हुई जमीने जो गरीबों को बांटने के लिए आचार्य विनोबा भावे ने जमीदारों से मांगी थी उनका पुत्र कहकर, वह जमीने भूमिहीनों गरीबों को देने के लिए आचार्य विनोबा भावे जी ने कहा था उसमें से पूरे देश के सभी जिलों में कुछ जमीने जमीदारों ने आचार्य विनोबा भावे जी को दान में दी थी और विनोबा भावे जी द्वारा भूदान यज्ञ समिति बनाकर के वह जमीन गरीबों को बांट दी गई थी काफी जगह बहुत से जिलों में वह जमीन गरीबों को भूमिहीनों को बट नहीं पाई थी। आज समाजसेवियों की टोली ने जिलाधिकारी महोदय को ज्ञापन देकर उनसे मांग की 1952 में अधिनियम के तहत जो जमीन दी गई थी उनको एक रजिस्टर में दर्ज किया गया था जिनका डीएम महोदय के पास एक रजिस्टर में दर्ज हुआ था उन जमीनों को उनके पात्र भूमिहीनों को बांटने की व्यवस्था की जाए और जिन जमीनों पर भू माफियाओं द्वारा या सरकार द्वारा कब्जा कर लिए गया है उन सब की जांच करके वह जमीन उनके पात्रों को दी जाए एक आरटीआई लगाई गई जिसमें मांग की गई जमीनों का लेखा-जोखा दिया जाए इन समाजसेवियों में प्रमुख रूप से बृजेश कुमार सक्सेना, अनुज कुमार गुप्ता, जेके गुप्ता, बनै सिंह पहलवान,राहुल खेर,  राजकुमार भारती, चेतन, रोहित, हकीम सिंह, विक्रम सिंह, नरेश सिंह आदि समाजसेवियों ने ज्ञापन दिया

Monday, 21 December 2020

08:55

पंचायत चुनाव की तारीख के एलान से पहले आयोग ने दिए डीएम को दिशा-निर्देश

यूपी में पंचायत चुनाव की तैयारी जोरों पर हैं। परिसीमन, आरक्षण सूची और वोटर लिस्ट तैयार करने का काम अंतिम चरण में है। अधिसूचना जारी होने से पहले चुनाव आयोग ने जिलाधिकारियों को पत्र भेज कर आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं। चुनाव आयोग और प्रशासनिक स्तर पर चल रही तैयारियों को देखकर संभावना जताई जा रही है कि फरवरी में पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी हो सकती है और 31 मार्च से पहले चुनाव भी हो जाएंगे। 

*चुनाव आयोग ने क्या दिए निर्देश :*


*- जिलाधिकारी पंचायत चुनाव को लेकर प्रभारी अफसरों की तैनाती कर लें।*

*- निर्वाचन सामग्री की व्यवस्था, पोलिंग पार्टी के लिए किट की समुचित व्यवस्था पूर्व में दिए निर्देश के तहत समय से करा लें।*

*- पोलिंग पार्टियों की रवानगी व अन्य सामग्री को भेजने आदि के लिए ट्रकों बसों व हल्के वाहन की आवश्यकता का आकलन अभी से कर लें।*


*- आपूर्ति के स्रोत ज्ञात कर लिए जाएं।*

*- मतगणना स्थल का चयन, चुनाव संबंधित सामग्री के भंडारण आदि का इंतजाम समय से करा लें।*

*- संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों की सूची तैयार कर लें।*


*- मतदान केंद्र तक पार्टियों के पहुंचने के लिए रूट चार्ट आदि का निर्धारण कर लें।*

*सीएम ने भी की मंत्रियों के साथ मीटिंग :* 

यूपी पंचायत चुनाव मार्च तक कराने के संकेत दिए गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सभी मंत्री व कार्यकर्ता इस चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं। पंचायत चुनाव बहुत मजबूती से लड़ना है। वोटर लिस्ट में खामियां दूर करवा कर इसे समय से तैयार करवाया जाए। सरकार के कामकाज को जनता के बीच ले जाया जाए। सुनील बंसल ने कहा कि पंचायत चुनाव में मंत्री व पदाधिकारी अपने रिश्तेदारों को चुनाव लड़ाने से बचें। सभी प्रभारी मंत्री अपने जिलों में कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर पंचायत चुनाव की तैयारियों में जुटें। इसके लिए प्रभारी मंत्रियों को कार्यक्रम अलग से दिए जाएंगे। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा भाजपा के यूपी प्रभारी राधा मोहन सिंह, संगठन महामंत्री सुनील बंसल, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह व दोनों उपमुख्य मंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डा. दिनेश शर्मा मौजूद रहे। इसके अलावा भाजपा के सह प्रभारी सत्या कुमार, सुनील ओझा व संजीव चौरसिया भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक में पहले मंत्रियों का राधा मोहन सिंह से औपचारिक परिचय हुआ। प्रभारी बनने के बाद राधा मोहन सिंह का मंत्रियों से सामूहिक मेल मुलाकात का यह पहला मौका था। 

*जुटाया जा रहा है कर्मचारियों का डाटा :*

निर्वाचन आयोग द्वारा इलेक्शन स्टाफ डेप्लॉयमेंट (ईएसडी) सॉफ्टवेयर विकसित किया है। सभी विभागों को अधिकारियों और कर्मचारियों का ब्योरा प्रपत्र एक पर 22 दिसंबर तथा प्रपत्र दो पर 31 दिसंबर तक फीड करना होगा। इसके लिए विभागों को यूजर आईडी और पासवर्ड उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा हार्ड कॉपी भी उपलब्ध करानी होगी। कर्मचारियों को ब्योरा फीड कराने के लिए झांसी जिले में एडीएम (प्रशासन) बी प्रसाद को प्रभारी अधिकारी कार्मिक, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी आसिफ खान को सह प्रभारी अधिकारी कार्मिक, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी को जिला इंचार्ज तथा सभी कार्यालयाध्यक्ष व विभागाध्यक्षों को कार्यालय इंचार्ज बनाया गया है। झांसी के सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी गुलाब हुसैन ने बताया कि  पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से जारी हैं। विभागों से कर्मचारियों का ब्योरा मांगा गया है। ये उन्हें इलेक्शन स्टाफ डेप्लॉयमेंट (ईएसडी) सॉफ्टवेयर पर फीड करना होगा। इसके लिए विभागों को यूजर आईडी और पासवर्ड उपलब्ध कराया जाएगा।

Wednesday, 16 December 2020

07:58

यूपी में 2022 का आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी tap news india

लखनऊ उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले आम चुनाव को देखते हुए राजनीतिक पाटियां अपना समीकरण बैठा रही है। इसी क्रम में आम आदमी पार्टी ने अपनी सियासत को यूपी में जमाने के लिए उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में लड़ेगी। इसका ऐलान अरविंद केजरीवाल ने किया है। उन्होंने कहा विकास के मुद्दे पर आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ेगी। केजरीवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भ्रष्ट नेताओं की वजह से प्रदेश का विकास नहीं हो राह है। बता दें कि आदमी पार्टी दिल्ली की सत्ता में पूर्ण बहुमत की सरकार पर अब पार्टी उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में एंट्री करने का फैसला लिया है।
इससे पहले दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव लडऩे का ऐलान किया था। इसके लिए दलित समाज से आने वाले मंत्री राजेंद्र पाल गौतम को चुनाव प्रभारी बनाया गया है। आम आदमी पार्टी ने डिप्टी स्पीकर राखी बिड़लान और विधायक सुरेंद्र कुमार को सह प्रभारी बनाया है।

Friday, 27 November 2020

00:28

UP को 16 NH का तोहफा:deepak tiwari

गोरखपुर.उत्तर प्रदेश में रोड इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूती देने के लिए गुरुवार को केंद्र सरकार के सहयोग से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 16 नेशनल हाईवे की सौगात दी। नई दिल्ली से केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़े। जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के सर्किट हाउस में थे। गडकरी और योगी ने प्रदेश को 7476.56 करोड़ रुपए की लागत की 504.32 किमी लंबी 16 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जितने राजमार्ग 60 साल में बने उतने छह साल में बनाकर दिखाए हैं।
प्रदेश नई गति से आगे बढ़ता दिखाई दिया
CM योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना काल में भी 505 किमी लंबी 7477 करोड़ की सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया गया है। छह वर्ष में प्रदेश में विकास और राजमार्ग का निर्माण हुआ है, इसके लिए केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय बधाई का पात्र है। छह वर्षों में उन्होंने विकास कार्यों को हर जगह पहुंचाया है। जितने राजमार्ग 60 साल में बने उतने 6 साल में बना कर दिखाए हैं। पहली बार जब गडकरी आए थे, तो एक बाईपास बनाने के बात कही थी। आज उसका भी लोकार्पण हो रहा है। आज 16 कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण हो रहा है। प्रदेश के अंदर कार्य नई गति से आगे बढ़ता हुआ दिखाई दिया।
आम नागरिकों का भी होगा विकास
योगी ने कहा कि यूपी शासन से जुड़ी हुई कोई भी समस्या है, वहां समस्या को हल करने के लिए आश्वस्त करते हैं। ग्राम सभा की जमीन को जरूरत पड़ने पर राजमार्ग के लिए निशुल्क जमीन उपलब्ध कराएं। राजमार्ग के निर्माण से प्रदेश और आम नागरिकों का भी विकास होगा। प्रदेश की जनता की ओर से गडकरी और जनरल वीके सिंह को प्रदेश की जनता की ओर से धन्यवाद देता हूं।
इन परियोजना का शिलान्यास व लोकार्पण
61.19 किमी लंबी मेरठ से बुलंदशहर राष्ट्रीय राजमार्ग का 4 लेन चौड़ीकरण होगा। इस पर 2407.91 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
कौड़िया से गोरखपुर बाइपास को 4 लेन किया जाएगा। इस पर 866 करोड़ रुपए खर्च आएगा।
कबरई से बांदा NH 76 का अपग्रेडेशन होगा। जिस पर 215 करोड़ रुपए खर्च होगा।
चित्रकूट और प्रयागराज जिले में मऊ से जसरा तक NH 76 का चौड़ीकरण होगा। यहां 218 करोड़ रुपए खर्च किया जाएगा।
प्रतापगढ़ और प्रयागराज जिले में प्रयागराज से प्रतापगढ़ के बीच NH 76 का अपग्रेडेशन। लागत 599 करोड़ रुपए है।
सिद्धार्थनगर जिले में बरहनी से कटाया के बीच NH 730 का अपग्रेडेशन होगा। इसकी लागत 209 करोड़ रुपए है।
बहराइच और श्रावस्ती जिले में बहराइच से श्रावस्ती के बीच NH 730 का अपग्रेडेशन किया जाएगा। इसकी लागत 389 करोड़ रुपए है।
कानपुर जिले में ROB का निर्माण होगा।
सोनभद्र जिले में यूपी/झारखंड सीमा से मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश सीमा पर NH 75E का अपग्रेडेशन। इस पर 87 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
इटावा और औरैया जिले में कुदरकुट से भरथना चौक तक NH 91A का चौड़ीकरण। 39 करोड़ रुपए लागत।
मिर्जापुर जिले में ड्रमंडगंज से हालिया के बीच NH 135C का चौड़ीकरण। 39 करोड़ रुपए लागत।
प्रयागराज जिले में रामपुर से भदेवरा के बीच NH135C का चौड़ीकरण। 76 करोड़ रुपए लागत।
गोरखपुर जिले में सिकरिनगंज से गोला के बीच NH 227 का चौड़ीकरण। लागत 37.52 करोड़ रुपए।
कुशीनगर जिले में तमकुहीराज से पडरौना के बीच NH 730 का चौड़ीकरण। 69 करोड़ रुपए लागत।
प्रयागराज जिले में फाफामऊ से गंगा नदी पर मौजूदा पुल के समानांतर 6 लेन के पुल का निर्माण होगा। जिस पर 1948 करोड़ रुपए लागत आएगी।

Tuesday, 24 November 2020

23:09

UP में लव जिहाद बना जुर्म:deepak tiwari

लखनऊ.उत्तर प्रदेश में अब धर्म छिपाकर शादी करना जुर्म होगा। मंगलवार की शाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने लव जिहाद के खिलाफ कानून के प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी। लव जिहाद पर 20 नवंबर को गृह विभाग ने न्याय व विधि विभाग को प्रस्ताव बनाकर भेज दिया था। प्रस्ताव के मुताबिक, गैर जमानती धाराओं में केस दर्ज होगा और दोषी पाए जाने पर 5 साल की सख्त सजा होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर, बागपत, मेरठ समेत यूपी के कई शहरों में लगातार हो रही लव जिहाद की घटनाओं के बाद गृह विभाग से रिपोर्ट मांगी थी। इसी के साथ उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने लव जिहाद के खिलाफ कानून को मंजूरी दी है।
यूपी के लॉ कमीशन के चीफ आदित्य नाथ मित्तल ने बताया कि भारतीय संविधान ने धार्मिक स्वतंत्रता दी है, लेकिन कुछ एजेंसियां इसका गलत इस्तेमाल कर रही हैं। वे धर्म परिवर्तन के लिए लोगों को शादी, नौकरी और लाइफ स्टाइल का लालच देती हैं। हमने इस मसले पर 2019 में ही ड्राफ्ट सौंप दिया था। इसमें अब तक तीन बार बदलाव किए गए हैं। आखिरी बदलाव में हमने सजा का प्रावधान जोड़ा है।
धर्म परिवर्तन के लिए की जा रही शादियां भी दायरे में
ड्राफ्ट के मुताबिक, शादी के लिए गलत नीयत से धर्म परिवर्तन या धर्म परिवर्तन के लिए की जा रही शादियां भी धर्मांतरण कानून के तहत आएंगी। अगर कोई किसी को धर्म परिवर्तन करने के लिए मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना देता है, तो वो भी इस नए कानून के दायरे में आएगा। धर्मांतरण के मामले में अगर माता-पिता, भाई-बहन या अन्य ब्लड रिलेशन कोई शिकायत करता है तो उनकी शिकायत पर कार्रवाई की शुरुआत की जा सकती है। धर्मांतरण के लिए दोषी पाए जाने पर एक साल से लेकर पांच साल तक की सजा दी जा सकती है। शादी कराने वाले पंडित या मौलवी को उस धर्म का पूरा ज्ञान होना आवश्यक है।
एक महीने पहले DM को देना होगा आवेदन
ड्राफ्ट के मुताबिक, लव जिहाद जैसे मामलों में सहयोग करने वालों को भी मुख्य आरोपी बनाया जाएगा और दोषी पाए जाने पर सजा होगी। शादी के लिए धर्मांतरण कराने वालों को भी सजा का प्रावधान है। अगर कोई अपनी मर्जी से शादी के लिए धर्म बदलना चाहता है तो उसे एक महीने पहले कलेक्टर को एप्लीकेशन देनी होगी। यह आवेदन अनिवार्य होगा।
हाईकोर्ट ने सोमवार को दिया था अहम फैसला
उत्तरप्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ कानून लाने की योगी सरकार की कोशिशों को झटका लगा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने धर्म बदलकर शादी करने के एक मामले में सुनवाई के दौरान कहा कि किसी को भी अपनी पसंद के व्यक्ति के साथ रहने का अधिकार है, चाहे वह किसी भी धर्म को मानने वाला हो। यह उसकी व्यक्तिगत स्वतंत्रता का मूल तत्व है। दो लोग अगर राजी-खुशी से एक साथ रह रहे हैं तो इस पर किसी को आपत्ति लेने का हक नहीं है। कोर्ट के इस फैसले के साथ ही योगी सरकार के लव जिहाद को लेकर कानून बनाने की तैयारियों को झटका लग सकता है। यह आदेश जस्टिस पंकज नकवी और जस्टिस विवेक अग्रवाल की बेंच ने कुशीनगर के सलामत अंसारी और प्रियंका खरवार उर्फ ​​आलिया की याचिका पर दिया है।

Monday, 23 November 2020

19:50

उत्तर प्रदेश में शादी समारोह की नई एडवाइजरी जारी :deepak tiwari

लखनऊ.देश में कोरोना की दूसरी वेव के खतरे को भांपते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सोमवार को शादी समारोह को लेकर नई एडवायजरी जारी की है। कंटेनमेंट जोन के बाहर होने वाले शादी समारोह, सांस्कृतिक, खेल, राजनीतिक कार्यक्रमों व अन्य आयोजनों में महज 100 लोग ही शामिल होंगे। वहीं, 100 लोगों की क्षमता वाले हॉल में एक बार में सिर्फ 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। शादी में बैंड और डीजे लगाने पर बैन रहेगा। बीमार व बुजुर्ग व्यक्ति किसी भी समारोह का हिस्सा नहीं होंगे।
यह दिशा-निर्देश मुख्य सचिव आरके तिवारी की तरफ से जारी किया गया है। हर जगह दो गज की दूरी, मास्क, हैंडवॉश व सैनिटाइजर की व्यवस्था का अनुपालन करना अनिवार्य होगा। सख्ती से कहा गया है कि यदि नियमों का उल्लंघन हुआ तो FIR दर्ज होगी। यह निर्णय कोरोना की रोकथाम के लिए लिया गया है।
एडवायजरी में क्या है अब नियम?
यदि शादी समारोह में बंद हॉल में आयोजित किया गया है तो क्षमता के अनुसार 100 लोगों के निमंत्रण में 50% (50-लोग) एक बार में शामिल हो सकते हैं। वहीं खुले हाल में 100 में से 40% (40-लोग) एक बार में शामिल होंगे।
किसे बुलाएं किसे करें मना, बड़ी मुश्किल में फंसे लोग
प्रदेश में 25 नवंबर से 11 दिसंबर तक शादी समारोह के शुभ मुहूर्त हैं। इनमें अधिकतर वो शादियां हैं, जो लॉकडाउन के चलते अप्रैल-मई और जून माह में टल गई थीं। ऐसे में उन परिवारों के लिए मुश्किलें बढ़ गई हैं, जिन्होंने शादी की तैयारियां पूरी कर ली है। उन लोगों ने पुराने नियम के अनुसार, 200 मेहमानों को शादी समारोह में शामिल होने के लिए कार्ड दिया था। अब वे किसे बुलाएं और किसे मना करें, उनके सामने बड़ी मुश्किल है। एक आंकड़े के अनुसार प्रदेश 17 दिनों में 35 हजार शादियां होनी है।
सीएम योगी ने जताई थी चिंता
दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखकर योगी सरकार पहले ही सतर्क हो गई है। एक तरफ जहां NCR में दिल्ली से आने वालों का टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। वहीं, अब सामूहिक आयोजनों में शामिल होने वालों की संख्या पर पाबंदी लगाने का फैसला लिया है। योगी आदित्यनाथ ने शादी-समारोहों में 200 की जगह 100 से अधिक लोगों को शामिल न होने देने के निर्देश दिए थे। टीम-11 के साथ समीक्षा बैठक के दौरान सीएम ने एडवायजरी बनाने का निर्देश दिया था।

Sunday, 22 November 2020

08:21

आधी रात को प्रेमिका से मिलने पहुंचे प्रेमी की जमकर धुनाई फिर हुई जमकर धुनाई deepak tiwari

रामपुर.उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में आधी रात को प्रेमिका से मिलने पहुंचे प्रेमी को युवती के परिजनों ने पकड़ लिया। इसके बाद प्रेमी की रातभर धुनाई की। दिन निकलते ही आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया गया। लेकिन थोड़ी देर बाद ही गांव वालों का दिल पसीज गया और उन्होंने मध्यस्थता करते हुए प्रेमी-प्रेमिका की शादी करा दी।
जानकारी के अनुसार, मामला अजीम नगर थाना क्षेत्र के एक गांव का है। रामपुर जिले के स्वार निवासी युवक का अजीम नगर थाना इलाके के एक गांव में रहने वाली युवती के साथ प्रेम संबंध था। प्रेमी अक्सर अपनी प्रेमिका से मिलने आया करता था। गुरुवार की देर रात 12 बजे प्रेमी प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंच गया। प्रेमिका के परिजनों को कुछ आहट हुई तो वे सतर्क हो गए। इससे पहले प्रेमी कुछ समझ पाता परिजनों ने उसे कमरे में ही पकड़ लिया।
शोर-शराबा होने पर आसपास के लोग आ गए और प्रेमी की धुनाई कर दी। युवक को कमरे में बंद करने के बाद पुलिस को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और आरोपी युवक को थाने ले आई।
गांव के लोगों ने कराई सुलह
गांव के सम्मानित लोगों ने समझौता कराने का प्रयास शुरू कर दिया। करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद दोनों के परिवार शादी के लिए सहमत हो गए। इसके बाद पंडित को बुलाया गया और शादी की तैयारी शुरू हुई। शुक्रवार शाम को प्रेमी जोड़े ने एक दूसरे के गले में वरमाला डाल अपना जीवनसाथी चुन लिया।