Tap news india

Tap here ,India News in Hindi top News india tap news India ,Headlines Today, Breaking News, latest news City news, ग्रामीण खबरे हिंदी में

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label उत्तर प्रदेश. Show all posts
Showing posts with label उत्तर प्रदेश. Show all posts

Sunday, 13 October 2019

21:28

ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश का 32 वा प्रांतीय सम्मेलन संपन्न

ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उ प्र का 32 वाँ प्रान्तीय सम्मेलन जनपद सहारनपुर में गांधी मैदान
के जन मंच सभागार में 13 अक्टूबर 2019 दिन रविवार को सम्पन्न हुआ।  प्रान्तीय सम्मेलन में सभी अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर सम्मेलन की शुरुआत करते हुए पत्रकारों के हित की बात कही। सम्मेलन के मुख्य अतिथि पूर्व में पत्रकार रहे अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पद्म भूषण से सम्मानित योग गुरु स्वामी मदन भूषण जी ने पत्रकारिता पर बिशेष चर्चा करते हुए मूर्धन्य साहित्यकारों, पत्रकारों के बारे में प्रकाश डालते हुए समाज में ग्रामीण पत्रकारों की अहम भूमिका पर भी चर्चा किया।सम्मेलन में लगभग सभी समाचार पत्रों के ब्यूरो चीफ केसाथ साथ जिलाधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय नें भी अपने अपने विचारों को रखा।  सम्मेलन को संगठन के प्रखर वक्ता एवं प्रदेश महासचिव श्री देवीप्रसाद गुप्ता जी, के.जी.गुप्ता संगठन मंत्री महेन्द्र सिंह ,प्रान्तीय उपाध्यक्ष श्रावण कुमार द्विवेदी कैप्टन वीरेन्द्र सिंह , प्रान्तीय कोषाध्यक्ष उमाशंकर चौधरी , प्रान्तीय सचिव अजय गुप्ता जी सहित प्रदेशके कई पदाधिकारियों नें पत्रकारिता सहित संगठन के गतिविधियों पर विस्तार से चर्चा करते हुए एसोसिएशन के संस्थापक बाबू बालेश्वर लाल जी को याद किया गया प्रान्तीय सम्मेलन को अपने
अध्यक्षीय भाषण में प्रदेश अध्यक्ष सौरभ कुमार ने  संगठन की एकजुटता पर जोर देते हुए सभी
सदस्यो को आश्वस्त किया किपत्रकार साथियों की लड़ाई हर समय लड़ते रहे है तथा भविष्य में भी लड़ाई
समय-समय पर लड़ता रहूँगा। उन्होंने सम्मेलन को ऐतिहासिक बताते हुए खुले मंच से कार्यक्रम संयोजक आलोक तनेजा एवंम उनकी पूरी टीम की भरपूर सराहना की तथा पूरे सदन ने खड़े होकर तालियों की करतल ध्वनि से उनकी बात का समर्थन किया
सम्मेलन में अतिथियों सहित प्रदेश के पदाधिकारियों , विभिन्न जनपदों से आए जिलाध्यक्षो एवंम मंडलाध्यक्षों,को प्रतीक चिन्ह प्रदान कर एवंम प्रमाणपत्र प्रदानकरसम्मानित किया गया जिसमें हरदोई के जिलाध्यक्ष अनुराग अस्थाना सहित उनके साथ सम्मेलन में गए जिला के पदाधिकारियों को भीसम्मानित किया गया।सहारनपुर के जिलाध्यक्ष एवं 
सम्मेलन संयोजक श्री आलोक तनेजा को प्रदेश कमेटी में प्रचार मन्त्री का दायित्व सौपने के साथ साथ उन्हें सहारनपुर व मुरादाबाद मण्डल अध्यक्ष का भी दायित्व दिया गया साथ ही राष्ट्रीय संयोजक कमेटी का भी सदस्य बनाया गया है।संयोजक ने अतिथियों सहित
सभी सम्मानित सदस्यों का स्वागत करते हुए आभार ब्यक्त करने के साथ साथ यह भी कहा कि सहारनपुर के नये जिलाध्यक्ष का चयन सर्वसम्मति से अतिशीध्र करके उन्हें दायित्व सौप दिया जायेगा।

Friday, 11 October 2019

13:27

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने झांसी इन काउंटर को बताया फर्जी




पंकज पाराशर छतरपुर
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में राम का नहीं बल्कि नाथूराम का राज है  यहां फर्जी एनकाउंटर का दौर जारी है  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहते हैं कि ठोक दो ही यह भाषा उनकी मानसिकता को दर्शाने के लिए काफी है  झांसी में हुई मुलाकात के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा पर जमकर आरोप लगाए  उन्होंने आरोप लगाया कि झांसी जिले के चिरगांव ब्लॉक के करगुवा खुर्द निवासी पुष्पेंद्र यादव का एनकाउंटर नहीं बल्कि हत्या की गई है  इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच हाईकोर्ट के न्यायाधीश से कराई जानी चाहिए, उन्होंने बताया कि अप चुनाव के बाद समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में न्याय यात्रा निकालेगी जिसकी शुरुआत ललितपुर से होगी ।

Thursday, 10 October 2019

06:52

युवा जोश से भरी है उत्तर प्रदेश कांग्रेश की नई टीम


उत्तर प्रदेश में कांग्रेस कांग्रेस ने लल्लू कुमार पर दांव खेलकर साबित कर दिया है कांग्रेश पार्टी अब सिर्फ राजघरानों की पार्टी नहीं है बल्कि यहां जमीन से जुड़ी हुई भी है इसलिए उत्तर प्रदेश में संजीवनी देने का काम अभी युवा कंधों पर पार्टी ने डाल दिया है काफी समय के बाद कांग्रेस पार्टी की ओर से ऐसा प्रयास किया गया है वरना अभी तक कांग्रेस पार्टी एक दर्जन बड़े नेताओं के इर्द-गिर्द घूमती रहती थी लेकिन प्रियंका गांधी के बागडोर संभालने के बाद उत्तर प्रदेश में युवा जोश से भरी हुई कांग्रेश के तैयार हो रही है जिसमें ज्यादातर 40 से 45 साल की आयु के ही पदाधिकारी हैं वैसे तो उत्तर प्रदेश कांग्रेश टीम छोटी है लेकिन इस नई टीम में जातिगत संतुलन भी है यूपी में कांग्रेस को नया जीवन देने की जिम्मेदारी पार्टी हाईकमान ने महासचिव प्रियंका गांधी को सौंपी है प्रियंका गांधी की नजर में 2022 का उत्तर प्रदेश चुनाव है इसके बाद उनकी निगाह राज्य भर में फैल गई उन्होंने जमीनी कार्यकर्ताओं को चिन्हित करके पार्टी को सक्रिय और मजबूत करने का जिम्मा उन्हें ही सौंप दिया जो वर्षों से मेहनत करके पार्टी के लिए अपना खून पसीना एक किए हुए थे इस बार राज बब्बर जैसे सेलिब्रिटी की जगह जमीन से जुड़े अजय कुमार लल्लू को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है लल्लू कुशीनगर के सेवरही गांव के रहने वाले हैं और तमकुही राज विधानसभा से कांग्रेस की सीट पर दूसरी बार विधायक हैं वे पिछड़ी जाति के वैसे समाज से आते हैं कहा जाता है कि लल्लू कुमार अव्वल दर्जे के आंदोलनकारी हैं और वहां जन समस्याओं को लेकर आए दिन धरना प्रदर्शन करते रहते हैं इसके चलते हुए धरना कुमार के नाम से काफी विख्यात है

Tuesday, 8 October 2019

12:01

अजय कुमार लल्लू होंगे उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अब होगा कांग्रेस का हाथ आम आदमी के साथ



लखनऊ से वशिष्ठ चौबे / कांग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश के नए पार्टी अध्यक्ष की घोषणा कर दी है। कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू को पार्टी ने नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। राज बब्बर के स्थान पर उनको कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया है। राज बब्बर ने लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा दे दिया था।वैश्य (ओबीसी) समाज से आने वाले अजय कुमार लल्लू दो बार के विधायक हैं। यूपी कांग्रेस में बड़ा फेरबदल करते हुए पार्टी ने अजय कुमार लल्लू पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाने के साथ ही चार उपाध्यक्ष, 12 महासचिव और 24 सचिव भी बनाए गए हैं। कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू कुशीनगर की तमकुहीराज विधान सभा सीट से विधायक हैं। कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर 2017 का विधानसभा चुनाव लड़ते हुए अजय कुमार ने भाजपा प्रत्याशी जगदीश मिश्र को हराया था। वह 2012 में भी कांग्रेस के टिकट पर जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। अजय कुमार कांग्रेस के पूर्वी यूपी के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं। वह कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा के करीबी भी माने जाते हैं। प्रियंका जब भी यूपी के दौरे पर आती हैं तो अजय कुमार लल्लू उनके साथ ही नजर आते हैं। अजय कुमार की कार्यशैली और उनके पार्टी से जुड़ाव के कारण प्रियंका वाड्रा काफी प्रभावित हैं।

Sunday, 6 October 2019

20:03

मुलायम सिंह यादव के राजनीतिक प्रतिद्वंदी पूर्व सांसद रमाकांत यादव सपा में शामिल



सांसद रमाकांत यादव रविवार को अपने समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी (सपा) में शामिल हो गयेचार बार सांसद रह चुके रमाकांत सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुए। वह वर्ष 2014 में आज़मगढ़ सीट से भाजपा के टिकट पर सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के खिलाफ चुनाव लड़े थे।रमाकांत इस साल भदोही लोकसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे, मगर कामयाबी नहीं मिली। उन्हें गत तीन अक्टूबर को कांग्रेस से निष्कासित कर दिया गया था।

सपा अध्यक्ष अखिलेश ने रमाकांत और उनके साथियों का पार्टी में स्वागत करते हुए कहा कि इससे दल को और मजबूती मिलेगी।उन्होंने कहा, ‘‘सपा की यह जो ताकत बढ़ रही है उससे भरोसा हो रहा है कि वर्ष 2022 (उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव) में आप सबका सहयोग मिलेगा तो भाजपा को हटाने में हम जरूर कामयाब होंगे।’’

अखिलेश ने कहा, ‘‘बीच में कुछ कारणों से दूरियां बनी थी, लेकिन अब कोई दूरी नहीं रहेगी। आने वाले समय में हम लोग मिलकर काम करेंगे।करीब 15 साल बाद सपा में वापसी कर रहे रमाकांत यादव ने कहा, ‘‘आज जो देश के हालात हैं, उनमें देश का नौजवान, किसान और मजदूर एक आशा भरी निगाह से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की तरफ देख रहा है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं विश्वास दिलाता हूं कि एक सिपाही के रूप में आप जहां कहेंगे, वहां मैं खड़ा रहूंगा।’’रमाकांत वर्ष 1996 में सपा के टिकट पर आज़मगढ़ से सांसद चुने गये थे। उसके बाद 1999 में भी वह इसी सीट से एक बार फिर पार्टी सांसद बने। वर्ष 2004 में वह बसपा और 2009 में भाजपा के टिकट पर आज़मगढ़ सीट से लोकसभा के लिए चुने गये थे।

इस मौके पर बसपा के पूर्व विधान परिषद सदस्य अतहर खां और पूर्व सांसद फूलन देवी की बहन रुक्मणी देवी निषाद भी सपा में शामिल हुई। 

Tuesday, 10 September 2019

23:00

उत्तर प्रदेश में कल्याण सिंह की भाजपा में वापसी नए राजनीतिक समीकरण के संकेत



राजस्थान में 5 साल राज्यपाल रहने के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह अपने प्रदेश लौट आए हैं उनका भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जोर-शोर से स्वागत किया अमौसी एयरपोर्ट से सैकड़ों वाहन के काफिले में भाजपा मुख्यालय पहुंचे कल्याण सिंह ने राम मंदिर मुद्दे पर राजनीतिक दलों को अपना रुख स्पष्ट करने की चुनौती दे दी है इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में फिर से राम मंदिर का मुद्दा गरमाने लगा है राज्यपाल होने की वजह से अभी तक सीबीआई बाबरी विवादित विद्युत धारा केस में अदालत में उनकी पेशी नहीं करा रही थी लेकिन अब यह प्रक्रिया भी शुरू होगी इससे कल्याण सिंह दोबारा सुर्खियों में आ जाएंगे वैसे उत्तर प्रदेश में आते ही कल्याण सिंह ने अपनी भविष्य की भूमिका भी जगजाहिर कर दी है इसीलिए मंदिर के सवाल पर विपक्ष को घेरा है यह बताना नहीं भूले कि राजपाल रहते हुए उत्तर प्रदेश के बारे में बोलते तो नहीं थे लेकिन जानकारी पूरी रखते थे कल्याण सिंह के अमौसी एयरपोर्ट पर पहुंचते ही जय श्रीराम के नारे लगने शुरू हो गए अमौसी एयरपोर्ट से भाजपा मुख्यालय तक जय श्री राम के नारों से इलाका गूंजता रहा कल्याण की तीन पीढ़ियां भी उनके साथ चल रही थी उनके साथ उनके सांसद पुत्र राजवीर सिंह राजू और पुत्र राज्य मंत्री संदीप सिंह व सौरभ सिंह भी उनके दाएं बाएं चल रहे थे उन्हें पकड़ा गया कल्याण सिंह के स्वागत में भारतीय जनता पार्टी के स्वतंत्र देव सिंह पूर्व केंद्रीय मंत्री शिव प्रताप शुक्ला प्रदेश राज्य सरकार के राज्यमंत्री अशोक कटारिया वार्ड नीलिमा कटारिया मनोहर लाल कोरी भी सिंह के साथ मौजूद थे उत्तर प्रदेश में वापस लौटते ही कल्याण सिंह को स्वतंत्र देव ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता दिलाई जिस पर कल्याण सिंह ने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी का सक्रिय कार्यकर्ता रहूंगा लेकिन चुनाव नहीं लड़ूंगा कुल मिलाकर कल्याण सिंह की उत्तर प्रदेश में फिर से वापसी एक नए समीकरण को जन्म दे रही है।

Thursday, 5 September 2019

00:00

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार का जोर का झटका धीरे से

उत्तर प्रदेश में पेट्रोल डीजल के बाद अब बिजली की दरों में भी जबरदस्त इजाफा देखने को मिलने वाला है उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने बिजली दरों में जहां  12 फ़ीसदी का इज़ाफ़ा किया है वहीं शहरी घरेलू उपभोक्ता की बिजली 12 फ़ीसदी तक महंगी की गई है ग्रामीण उपभोक्ता किसानों की बिजली की दरें 15 फ़ीसदी तक बढ़ाई गई हैं व्यापारियों के लिए बिजली दर 15 फीस बढ़ाई गई है उद्यमों की की बिजली दाढ़ में अधिकतम 10 फ़ीसदी की वृद्धि हुई है जो सभी से काफी कम है कम बिजली खपत वाले उपभोक्ता की दरें यथावत हैं नई बिजली की दरें 12 सितंबर से पूरे प्रदेश में लागू हो जाएंगी इसके साथ ही प्रीपेड मीटर के साथ किसी भी श्रेणी में नया कनेक्शन लेने पर 2 फ़ीसदी तक सस्ती बिजली आपको प्राप्त हो सकती है आयोग ने प्रीपेड मीटर को बढ़ावा देने के लिए पहले से चली आ रही छूट को अब और बढ़ा दिया है इसके अलावा निजी ट्यूबल व पंप सेट के डेढ़ ₹100 प्रति बीएचपी की मौजूदा दर को बढ़ाकर ₹170 किया गया है फिक्स चार्ज भी 60 से बढ़ाकर ₹70 किया गया है मीटर निजी ट्यूबल की दर को भी बढ़ाया गया है गौरव तलब है कि वर्ष 2017 में निकाय चुनाव के बाद दिसंबर में औसतन 12 पॉइंट 73 फ़ीसदी बिजली की दरों में इजाफा किया गया था लोकसभा चुनाव में जनता की नाराजगी से बचने के लिए पिछले वर्ष बिजली की दरों में बढ़ोतरी नहीं की गई लोकसभा चुनाव के बाद पिछले माह जहां पेट्रोल डीजल के दाम में इजाफा किया गया वहीं 21 माह बाद अब बिजली के दाम बढ़ाए गए हैं कहा गया है कि वित्तीय संकट से जूझ रहे पावर कारपोरेशन ने लगातार हो रहे घाटे से उबरने के लिए जबकि बिजली की मौजूदा दरों में औसतन 14 फ़ीसदी बढ़ोतरी चाही थी लेकिन आयोग ने कारपोरेशन के खर्चों में कटौती करते हुए 11 पॉइंट 69 फ़ीसदी की बढ़ोतरी की मंजूरी दे दी है बताते चलें कि जहां एक तरफ उत्तर प्रदेश में बिजली के बिल दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं वहीं पड़ोसी राज्य दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार ने अपनी जनता को बड़ी राहत देते हुए बिजली के लैपटॉप में काफी कमी की है एक बात यह समझ नहीं आ रही की जब दिल्ली में बिजली विभाग को कम रेट में बिजली देकर फायदा मिल रहा है तो वहीं उत्तर प्रदेश में बिजली के रेट बढ़ाकर भी निगम को घाटा हो रहा है आखिर ऐसा कैसे हो रहा है समझ से परे है बताते चलें कि उत्तर प्रदेश में बिजली महंगी होने के विरोध में उपभोक्ता परिषद रिव्यू याचिका दाखिल करेगी उपभोक्ता परिषद ने कहा कि सरकार बिजली के बिल बढ़ाकर जनता को परेशान कर रही है उन्होंने महंगी बिजली करने को प्रदेश में ढाई करोड़ उपभोक्ताओं के साथ धोखा करार दिया है विद्युत विभाग उपभोक्ता परिषद ने इसके विरोध में विद्युत नियामक आयोग में रिव्यू याचिका दायर करने की तैयारी की है परिषद ने आम सुनवाई के दौरान किसानों ग्रामीणों व घरेलू उपभोक्ताओं द्वारा रखे गए तर्कों और तथ्यों पर आयोग द्वारा ध्यान न दिए जाने पर भी सवाल उठाया और बिजली के दरों में बढ़ोतरी को असंवैधानिक ठहराते हुए उपभोक्ता परिषद अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने इसके विरोध में प्रदेश भर में आंदोलन करने और सड़क पर संघर्ष करने की चेतावनी दी है पावर कारपोरेशन के दबाव में आयोग पर देर शाम चुपचाप हर तरह से टैरिफ जारी करने का आरोप लगाते हुए परिषद अध्यक्ष ने कहा कि पावर कारपोरेशन के प्रस्ताव में थोड़ी बहुत काट छांट करते हुए आयोग ने सभी श्रेणियों की दरों में 12 से 15 फ़ीसदी की बढ़ोतरी की है जो सरासर गलत है

Sunday, 1 September 2019

00:00

योगी सरकार ने प्राइवेट स्कूलों पर कसी नकेल 2018 स्वतंत्र विद्यालय अधिनियम शुल्क किया लागू

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने प्रदेश में निजी स्कूलों की मनमानी और और बेतहाशा फीस वृद्धि के खिलाफ 2018 स्वतंत्र विद्यालय शुल्क अधिनियम लागू कर  दिया है जिसके तहत प्राइवेट स्कूलों पर नकेल कसने का काम शुरू कर दिया है अब अगर कोई स्कूल इसकी अवहेलना करता है तो उसके खिलाफ कठोर करवाई की जाएगी नए कानूनों में प्राविधान है सभी प्राइवेट स्कूलों को अपने वेब पोर्टल पर अपने स्कूल की संरचना अपडेट करनी होगी विद्यालय द्वारा अधिक फीस बढ़ोतरी की शिकायत मिलने पर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी सभी जिलों में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति के सामने सभी प्रकरण प्रस्तुत करने की व्यवस्था शुरू की गई है इसका रूट  मैप तैयार कर लिया गया है यह नए कानून का असर है कि हर साल प्राइवेट स्कूल मनमाने तरीके से 20 से 30% की फीस बढ़ोतरी करते थे लेकिन इस साल 10% की फीस बढ़ोतरी ही कर पाए हैं।
जिस पर अभिभावकों का कहना है कि सरकार के इस निर्णय से प्राइवेट स्कूलों की मनमानी फीस बढ़ोतरी पर कुछ हद तक लगाम लगना संभव है शुल्क अधिनियम 2018 लागू होने के बाद स्कूल निर्धारित प्रतिशत के अंदर ही फीस की बढ़ोतरी कर रहे हैं जिस कारण से अभिभावकों के ऊपर से थोड़ा आर्थिक दबाव कम हुआ है उन्हें मालूम है कि अब उन्हें कितनी फीस देनी है वैसे तो अभी एक-दो कमियां छूट गई है लेकिन जब शुरुआत हो गई है तो वह कमियां भी जल्द ही पूरी कर ली जाएंगी। बताते चलें कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा की मजबूत इच्छा शक्ति से उत्तर प्रदेश  में शिक्षा सेवा अधिकरण का गठन हो गया है अधिकरण में अशासकीय सहायता प्राप्त महाविद्यालयों, अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों ,अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक संस्कृत विद्यालयों, अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक उच्च प्राथमिक विद्यालयों ,तथा उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में कार्यरत अध्यापकों तथा कर्मचारियों की सेवा संबंधी विवादों का निस्तारण जल्द से जल्द किया जाएगा जिसमें अधिकरण में सेवा नियुक्त न्यायाधीश को अध्यक्ष और सदस्य बनाया जाएगा अधिकरण के गठन से बेसिक माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग के खिलाफ न्यायालय में लंबित वादों में कमी आएगी और शिक्षकों को भी  त्वरित न्याय मिलेगा बताते चलें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने शैक्षिक कैलेंडर बनाकर शिक्षा के क्षेत्र में परिवर्तन लाने में सफलता हासिल की है लेकिन यहां परिवर्तन धरातल पर कितना सही साबित होगा यह देखने का विषय है

Saturday, 31 August 2019

00:00

अब अगर सिक्के लेने से मना किया तो होगी कार्रवाई

 उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के  सरकारी बसों में  कंडक्टर जॉब द्वारा  अपनी सवारी चाहिए  सिक्का नहीं लेने  और उनसे बदसलूकी करने की  काफी शिकायतें  निगम को मिल रही थी जिसके बाद तुरन्त हरकत में आये प्रशाशन ने इस मामले की गहराई पता कि तो उनकी शिकायत सच निकली इसके बाद रोडवेज बसों के कंडक्टर द्वारा अपनी सवारी
किराए के रूप में सिक्का नहीं लेने की शिकायत पर उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने मुख्य प्रधान प्रबंधक संचालन ने यह आदेश जारी कर दिया है कि अगर रोडवेज परिचालक अपनी किसी भी सवारी से सिक्का लेने से मना करते हैं या उनके साथ बुरा व्यवहार करते हैं तो अगर इसकी शिकायत उत्तर प्रदेश परिवहन निगम को मिली तो उनके खिलाफ कठोर कार्यवाही करते हुए उन्हें निलंबित कर दिया जाएगा ।



जिसके बाद से उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के सभी परिचालकों ने सिक्का लेना शुरू कर दिया है बताते चलेगी रोडवेज बस में सफर करने वाली बहुत सारी सवारियों ने निगम से शिकायत की थी कि बस कर्मी सिक्का लेने से मना कर रहे हैं इस बारे में जब उनसे कुछ कहो तब वह सवारियों से बुरा बर्ताव करते हैं जिसके बाद तुरंत हरकत में आए परिवहन निगम में एक आदेश पारित कर दिया है जिसमें यह कहा गया है कि अगर किसी भी परिचायक ने शिखा लेने से मना किया तो उसके विरुद्ध कठोर कार्यवाही होगी इसके बाद से बसों में सिक्का का संचालन संचालन फिर से शुरू हो गया है

Friday, 23 August 2019

00:00

जाने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में किसको मिला कौन सा मंत्रालय

लखनऊ आखिर कार उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने अपने मंत्री  परिषद का विस्तार कर ही दिया है काफी उधेड़बुन के बाद उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट विस्तार किया गया जिसमें कुछ नए मंत्री बनाए गए जिनके लिस्ट नीचे श्रमिक की जा रही है
मंत्रियों को विभाग का बंटवारा किया गया
सुरेश खन्ना को वित्त विभाग मिला
जय प्रताप सिंह चिकित्सा एवं स्वास्थ्य
बृजेश पाठक के पास ग्रामीण अभियंत्रण भी
चेतन चौहान को होमगार्ड विभाग मिला
श्रीकांत शर्मा को अतिरिक्त ऊर्जा भी मिला
मोती सिंह को ग्राम्य विकास विभाग
सिद्धार्थनाथ सिंह को खादी एवं ग्रामोद्योग
आशुतोष टंडन नगर विकास मंत्री बने
नंदी से स्टाम्प विभाग हटाया गया
महेंद्र सिंह जलशक्ति मंत्री बने
सुरेश राणा गन्ना विकास मंत्री बने
भूपेंद्र चौधरी के पास पंचायतीराज बना रहेगा
अनिल राजभर पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री
राम नरेश अग्निहोत्री  को आबकारी विभाग
कमला रानी प्राविधिक शिक्षा मंत्री बनीं
केशव प्रसाद मौर्या - लोक निर्माण ,खाद्य प्रसंस्करण,  मनोरंजन कर ,सार्वजनिक उद्यम
दिनेश शर्मा - माध्यमिक शिक्षा उच्च शिक्षा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी इलेक्ट्रॉनिक्स सूचना प्रौद्योगिकी
सूर्य प्रताप शाही - कृषि , कृषि शिक्षा  ,कृषि अनुसंधान
सुरेश खन्ना - वित्त ,संसदीय कार्य ,चिकित्सा शिक्षा विभाग
जय प्रताप सिंह - चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण
बृजेश पाठक -विधायी , न्याय , ग्रामीण अभियंत्रण सेवा
लक्ष्मी नारायण चौधरी - पशुधन , दुग्ध विकास
चेतन चौहान-  सैनिक कल्याण होमगार्ड प्रांतीय रक्षक दल नागरिक सुरक्षा
राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह  - ग्राम विकास समग्र ग्राम विकास
सिद्धार्थ नाथ सिंह खादी एवं ग्रामोद्योग रेशम उद्योग वस्त्र उद्योग सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम निर्यात प्रोत्साहन n.r.i. निवेश प्रोत्साहन
आशुतोष टंडन - नगर विकास शहरी समग्र विकास नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन
नंद गोपाल नंदी - नागरिक उड्डयन ,राजनीतिक पेंशन ,अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ ,हज
महेंद्र सिंह - जल शक्ति विभाग
सुरेश राणा - गन्ना विकास ,चीनी मील
भूपेंद्र चौधरी-  पंचायती राज
अनिल राजभर - पिछड़ा वर्ग कल्याण , दिव्यांगजन सशक्तिकरण
रामनरेश अग्निहोत्री - आबकारी,  मद्य निषेध
कमला रानी वरुण - प्राविधिक शिक्षा
......
स्वतंत्र प्रभार मंत्री
----------------------------
उपेंद्र तिवारी स्वतंत्र प्रभार खेल विभाग
धर्म सिंह सैनी आयुष के साथ CM के साथ अटैच
स्वाति सिंह महिला कल्याण एवं बाल विकास
नीलकंठ तिवारी पर्यटन एवं धर्मार्थ
कपिल देव अग्रवाल व्यवसायिक शिक्षा
सतीश द्विवेदी बेसिक शिक्षा स्वतंत्र प्रभार
अशोक कटारिया परिवहन विभाग स्वतंत्र प्रभार
श्रीराम चौहान उद्यान एवं मंडी परिषद
रविंद्र जायसवाल स्वतंत्र प्रभार स्टाम्प विभाग
राज्यमंत्री
-------------------------
गुलाब देवी राज्यमंत्री माध्यमिक शिक्षा
अनिल शर्मा वन राज्यमंत्री बनाए गए
धुन्नी सिंह खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री
मन्नू लाल कोरी श्रम राज्यमंत्री
संदीप सिंह चिकित्सा शिक्षा एवं वित्त
सुरेश पासी गन्ना विकास राज्यमंत्री
बलदेव ओलख जलशक्ति राज्यमंत्री
गिरीश चंद्र यादव आवास राज्यमंत्री
अतुल गर्ग चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री
महेश गुप्ता नगर विकास राज्यमंत्री
आनंद स्वरूप शुक्ला संसदीयकार्य राज्यमंत्री
विजय कश्यप राजस्व राज्यमंत्री
गिरिराज धर्मेश समाज कल्याण राज्यमंत्री
लाखन राजपूत कृषि राज्यमंत्री
नीलिमा कठियार उच्च शिक्षा राज्यमंत्री
चौधरी उदयभान लघु उद्योग राज्यमंत्री
चंद्रिका उपाध्याय PWD राज्यमंत्री
रमाशंकर पटेल ऊर्जा राज्यमंत्री
अजीत सिंह पाल इलेक्ट्रॉनिक राज्यमंत्री
स्वतंत्र प्रभार मंत्री
----------------------------
उपेंद्र तिवारी स्वतंत्र प्रभार खेल विभाग
धर्म सिंह सैनी आयुष के साथ CM के साथ अटैच
स्वाति सिंह महिला कल्याण एवं बाल विकास
नीलकंठ तिवारी पर्यटन एवं धर्मार्थ
कपिल देव अग्रवाल व्यवसायिक शिक्षा
सतीश द्विवेदी बेसिक शिक्षा स्वतंत्र प्रभार
अशोक कटारिया परिवहन विभाग स्वतंत्र प्रभार
श्रीराम चौहान उद्यान एवं मंडी परिषद
रविंद्र जायसवाल स्वतंत्र प्रभार स्टाम्प विभाग
राज्यमंत्री
--------------------------
गुलाब देवी राज्यमंत्री माध्यमिक शिक्षा
अनिल शर्मा वन राज्यमंत्री बनाए गए
धुन्नी सिंह खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री
मन्नू लाल कोरी श्रम राज्यमंत्री
संदीप सिंह चिकित्सा शिक्षा एवं वित्त
सुरेश पासी गन्ना विकास राज्यमंत्री
बलदेव ओलख जलशक्ति राज्यमंत्री
गिरीश चंद्र यादव आवास राज्यमंत्री
अतुल गर्ग चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री
महेश गुप्ता नगर विकास राज्यमंत्री
आनंद स्वरूप शुक्ला संसदीयकार्य राज्यमंत्री
विजय कश्यप राजस्व राज्यमंत्री
गिरिराज धर्मेश समाज कल्याण राज्यमंत्री
लाखन राजपूत कृषि राज्यमंत्री
नीलिमा कठियार उच्च शिक्षा राज्यमंत्री
चौधरी उदयभान लघु उद्योग राज्यमंत्री
चंद्रिका उपाध्याय PWD राज्यमंत्री
रमाशंकर पटेल ऊर्जा राज्यमंत्री
अजीत सिंह पाल इलेक्ट्रॉनिक राज्यमंत्री

Tuesday, 20 August 2019

17:15

उत्तर प्रदेश में 14 आईपीएस अधिकारियों के

लखनऊ - यूपी में 14 आईपीएस अफसरों के तबादले
जाने कौन कौन से अधिकारी बदले गए

यूपी में 7 जिलों के एसएसपी बदले गए

शैलेश पांडेय बरेली के नए एसएसपी

ख्याति गर्ग अमेठी की नई एसपी

प्रताप गोपेंद्र यादव एसपी बागपत बने

विनोद मिश्रा एसपी कुशीनगर बने

रविशंकर छवि एसपी जौनपुर बनाए गए

रामबदन सिंह एसपी भदोही बने

सुनील सिंह एसएसपी एटा बनाए गए

स्वप्निल ममगैंन एसपी रायबरेली

विपिन मिश्रा सेनानायक पीएसी वाराणसी

राजेश कुमार पीटीसी मुरादाबाद

राजीव मिश्रा एसपी एसटीएफ

मुनिराज सेनानायक पीएसी मुरादाबाद

राजेश एस. एसपी ट्रेनिंग लखनऊ

मो. इमरान एसपी सोशल मीडिया डीजीपी मुख्यालय