Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label उत्तर प्रदेश. Show all posts
Showing posts with label उत्तर प्रदेश. Show all posts

Wednesday, 20 January 2021

04:20

आम आदमी पार्टी फर्रुखाबाद ने किया जनसंवाद कार्यक्रम

आज दिनांक 20 एक 2021 को आम आदमी पार्टी फर्रुखाबाद के कायमगंज विधानसभा क्षेत्र के ग्राम रायपुर खास कुंवरपुर ग्राम में आम आदमी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष सलीम खान जी के नेतृत्व में जनसंवाद का कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें सलीम भाई जी ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी जिला पंचायत चुनाव पूरी ताकत के साथ लड़ेगी वही जिला संगठन मंत्री माजिद भाई ने भी ग्रामीणों को संबोधित किया और कहा कि आने वाले 2022 के चुनाव में आम आदमी पार्टी दिल्ली की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ेगी वहीं आम आदमी पार्टी के जुझारू कार्यकर्ता मोइनुद्दीन उर्फ अदनान शाह ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता गांव गांव जाकर आम आदमी पार्टी को नीतियों के बारे में लोगों को जागरूक कर रहे हैं तथा प्रदेश सरकार की दमनकारी नीतियों के बारे में भी बता रहे हैं उन्होंने कहा कि जिस प्रकार आम आदमी पार्टी के सरकार ने दिल्ली में मॉडल लागू किया है उसी मॉडल को यूपी में भी लागू किया जाएगा इस मौके पर मोहसिन खान पप्पू का नासिर खान इसरार खां अमन खान आदि कार्यकर्ता सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे तथा कई लोगों ने आम आदमी पार्टी की सदस्यता भी ग्रहण की गौतम कुमार कश्यप जिला मीडिया प्रभारी आम आदमी पार्टी फर्रुखाबाद
01:48

उप्र में एक और 'कागज' की कहानी का हुआ खुलासा tap news

Tap news India deepak tiwari   
मिर्जापुर, 20 जनवरी | यह एक ऐसी कहानी है, जिसने सुर्खियां तो खूब बटोरीं, लेकिन इसका सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर के अमोई गांव में 65 वर्षीय भोला सिंह को मृत घोषित कर राजस्व अधिकारियों के साथ मिलकर उनके भाई ने उनकी खानदानी जमीन को हड़प लिया।

भोला की यह कहानी काफी हद तक लाल बिहारी से मेल खाती है, जिन्होंने सरकारी कागजातों में खुद को मृत साबित कर दिए जाने के बाद लगभग 19 साल तक भारतीय नौकरशाही के साथ संघर्ष किया। उनकी जिंदगी की इसी असल घटना पर फिल्मकार सतीश कौशिक ने 'कागज' बनाई है, जिसे हाल ही में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज किया गया।

भोला के मामले में मिर्जापुर जिला प्रशासन ने उनकी असली पहचान को साबित करने के लिए डीएनए टेस्ट कराने का आदेश दिया है।

भोला को जिला कलेक्ट्रेट के बाहर एक साइन बोर्ड के साथ बैठे देखा जा सकता है, जिसमें लिखा है : "सर, मैं जिंदा हूं। सर, मैं एक इंसान हूं, कोई भूत नहीं।"

इस मामले की जांच कर रहे जिले के एक अधिकारी ने कहा है कि डीएनए टेस्ट कराए जाने की सिफारिश की गई है क्योंकि अमोई के लोग उसे पहचान नहीं पा रहे हैं।

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (फाइनेंस) यू.पी. सिंह ने कहा, "हमने मामले की जांच की है। यह आदमी अब अमोई गांव में नहीं रहता है बल्कि किसी और गांव में रहता है। जब भोला सिंह को अमोई में ले जाया गया, तो कोई भी उन्हें नहीं पहचान सका। जब उनसे अपने सगे भाई को पहचानने की बात कही गई, तो वह नहीं पहचान सके। यहां तक कि वह गांव में किसी को भी नहीं पहचान पाए। इसके बाद उन्होंने कहा कि पिछले करीब बीस साल से वह किसी और गांव में रह रहे हैं।"

जिला मजिस्ट्रेट के कार्यालय के बाहर 65 वर्षीय इस बुजुर्ग ने पत्रकारों को बताया, "मेरा नाम भोला है। मैं यहां इसलिए हूं क्योंकि मेरे पिता का निधन होने के बाद जमीन दो लोगों के नाम लिखी गई थी - दोनों भाइयों के नाम पर थी। जमीन के कागजातों में मुझे मृत दिखाया गया है, जबकि मैं जिंदा हूं।"

इस केस की शुरुआत करीब पांच साल पहले तब हुई थी, जब नवंबर 2016 में कोतवाली पुलिस स्टेशन में जालसाजी, धोखाधड़ी पर एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।

भोला सिंह के यह आरोप लगाने के बाद कि उनका भाई राज नारायण और दो जिलाधिकारियों ने मिलकर गलत तरीके से उन्हें मृत घोषित कर उनकी पैतृक जमीन को हड़पने का काम किया है और इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई, जिसके चलते उनके द्वारा एफआईआर दर्ज कराई गई

Sunday, 10 January 2021

04:06

मुरादनगर में हुई घटना पर आप प्रभारी संजय सिंह ने की प्रेस कान्फ्रेंस tap news

मुरादनगर में शमशान में दलाली का जो मामला सामने आया जिसमें 25 लोगों की जान चली गई है उनके परिवारों से मैं मिलने गया था, वे लोग काफी दुखी है, पीड़ित और आक्रोशित हैं।लोग अपने परिजन की लाश लेकर श्मशान गए थे लेकिन उन्हें नहीं मालूम था कि योगी आदित्यनाथ सरकार के दलाली खाने के कारण, श्मशान में ही 25 लोगों की जान चली जाएगी जहाँ से उनकी लाशों को घर ले जाना पड़ेगा।
स्थानीय लोगों ने बताया कि वर्तमान चेयरमैन से इस भ्रष्टाचार की कई बार शिकायत हुई फिर भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। 
विभागीय मंत्री और विभागीय अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही ना होना साबित करता है कि ऊपर से लेकर नीचे तक योगी आदित्यनाथ जी की सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त है।
मुरादनगर में हुई घटना केवल एक नगरपालिका का मामला नहीं है बल्कि ऐसी दलाली और भ्रष्टाचार उत्तर प्रदेश के सभी नगर पालिकाओं और ज़िलों में हो रहा है।
निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार, कर्मचारियों की नियुक्ति में भ्रष्टाचार, सफाई कर्मचारियों को रखने में भ्रष्टाचार हो रहे हैं और जब इन घोटालों के विरुद्ध आवाज़ उठाई जाती है तो योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा SIT बना कर जांच का ढोंग किया जाता है।
कोरोना में दलाली खाई गई, PPE किट में दलाली खाई गई, ऑक्सीमीटर - थर्मामीटर में दलाली खाई गई, जब इसके खिलाफ बोलो तो एक नया मजाक किया जाता है योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा और एक सुरक्षा कवच के तौर पर SIT बनाने का ढोंग करते हुए मामले को रफा-दफा कर दिया जाता है।

मुरादनगर के पीड़ित परिवारों को सरकारी नौकरी देने की बात कही गई थी लेकिन कोई निश्चित समय निर्धारित नहीं किया गया है, हमारी मांग है कि उनको 1 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया जाए क्योंकि उनका सब कुछ तबाह हो गया है।

Saturday, 2 January 2021

09:54

भूदान यज्ञ समिति के कार्यकर्ताओं ने दिया ज्ञापन tap news india

उत्तर प्रदेश/आचार्य विनोबा भावे द्वारा जमीदारों से प्राप्त हुई जमीने जो गरीबों को बांटने के लिए आचार्य विनोबा भावे ने जमीदारों से मांगी थी उनका पुत्र कहकर, वह जमीने भूमिहीनों गरीबों को देने के लिए आचार्य विनोबा भावे जी ने कहा था उसमें से पूरे देश के सभी जिलों में कुछ जमीने जमीदारों ने आचार्य विनोबा भावे जी को दान में दी थी और विनोबा भावे जी द्वारा भूदान यज्ञ समिति बनाकर के वह जमीन गरीबों को बांट दी गई थी काफी जगह बहुत से जिलों में वह जमीन गरीबों को भूमिहीनों को बट नहीं पाई थी। आज समाजसेवियों की टोली ने जिलाधिकारी महोदय को ज्ञापन देकर उनसे मांग की 1952 में अधिनियम के तहत जो जमीन दी गई थी उनको एक रजिस्टर में दर्ज किया गया था जिनका डीएम महोदय के पास एक रजिस्टर में दर्ज हुआ था उन जमीनों को उनके पात्र भूमिहीनों को बांटने की व्यवस्था की जाए और जिन जमीनों पर भू माफियाओं द्वारा या सरकार द्वारा कब्जा कर लिए गया है उन सब की जांच करके वह जमीन उनके पात्रों को दी जाए एक आरटीआई लगाई गई जिसमें मांग की गई जमीनों का लेखा-जोखा दिया जाए इन समाजसेवियों में प्रमुख रूप से बृजेश कुमार सक्सेना, अनुज कुमार गुप्ता, जेके गुप्ता, बनै सिंह पहलवान,राहुल खेर,  राजकुमार भारती, चेतन, रोहित, हकीम सिंह, विक्रम सिंह, नरेश सिंह आदि समाजसेवियों ने ज्ञापन दिया

Monday, 21 December 2020

08:55

पंचायत चुनाव की तारीख के एलान से पहले आयोग ने दिए डीएम को दिशा-निर्देश

यूपी में पंचायत चुनाव की तैयारी जोरों पर हैं। परिसीमन, आरक्षण सूची और वोटर लिस्ट तैयार करने का काम अंतिम चरण में है। अधिसूचना जारी होने से पहले चुनाव आयोग ने जिलाधिकारियों को पत्र भेज कर आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं। चुनाव आयोग और प्रशासनिक स्तर पर चल रही तैयारियों को देखकर संभावना जताई जा रही है कि फरवरी में पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी हो सकती है और 31 मार्च से पहले चुनाव भी हो जाएंगे। 

*चुनाव आयोग ने क्या दिए निर्देश :*


*- जिलाधिकारी पंचायत चुनाव को लेकर प्रभारी अफसरों की तैनाती कर लें।*

*- निर्वाचन सामग्री की व्यवस्था, पोलिंग पार्टी के लिए किट की समुचित व्यवस्था पूर्व में दिए निर्देश के तहत समय से करा लें।*

*- पोलिंग पार्टियों की रवानगी व अन्य सामग्री को भेजने आदि के लिए ट्रकों बसों व हल्के वाहन की आवश्यकता का आकलन अभी से कर लें।*


*- आपूर्ति के स्रोत ज्ञात कर लिए जाएं।*

*- मतगणना स्थल का चयन, चुनाव संबंधित सामग्री के भंडारण आदि का इंतजाम समय से करा लें।*

*- संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों की सूची तैयार कर लें।*


*- मतदान केंद्र तक पार्टियों के पहुंचने के लिए रूट चार्ट आदि का निर्धारण कर लें।*

*सीएम ने भी की मंत्रियों के साथ मीटिंग :* 

यूपी पंचायत चुनाव मार्च तक कराने के संकेत दिए गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सभी मंत्री व कार्यकर्ता इस चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं। पंचायत चुनाव बहुत मजबूती से लड़ना है। वोटर लिस्ट में खामियां दूर करवा कर इसे समय से तैयार करवाया जाए। सरकार के कामकाज को जनता के बीच ले जाया जाए। सुनील बंसल ने कहा कि पंचायत चुनाव में मंत्री व पदाधिकारी अपने रिश्तेदारों को चुनाव लड़ाने से बचें। सभी प्रभारी मंत्री अपने जिलों में कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर पंचायत चुनाव की तैयारियों में जुटें। इसके लिए प्रभारी मंत्रियों को कार्यक्रम अलग से दिए जाएंगे। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा भाजपा के यूपी प्रभारी राधा मोहन सिंह, संगठन महामंत्री सुनील बंसल, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह व दोनों उपमुख्य मंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डा. दिनेश शर्मा मौजूद रहे। इसके अलावा भाजपा के सह प्रभारी सत्या कुमार, सुनील ओझा व संजीव चौरसिया भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक में पहले मंत्रियों का राधा मोहन सिंह से औपचारिक परिचय हुआ। प्रभारी बनने के बाद राधा मोहन सिंह का मंत्रियों से सामूहिक मेल मुलाकात का यह पहला मौका था। 

*जुटाया जा रहा है कर्मचारियों का डाटा :*

निर्वाचन आयोग द्वारा इलेक्शन स्टाफ डेप्लॉयमेंट (ईएसडी) सॉफ्टवेयर विकसित किया है। सभी विभागों को अधिकारियों और कर्मचारियों का ब्योरा प्रपत्र एक पर 22 दिसंबर तथा प्रपत्र दो पर 31 दिसंबर तक फीड करना होगा। इसके लिए विभागों को यूजर आईडी और पासवर्ड उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा हार्ड कॉपी भी उपलब्ध करानी होगी। कर्मचारियों को ब्योरा फीड कराने के लिए झांसी जिले में एडीएम (प्रशासन) बी प्रसाद को प्रभारी अधिकारी कार्मिक, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी आसिफ खान को सह प्रभारी अधिकारी कार्मिक, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी को जिला इंचार्ज तथा सभी कार्यालयाध्यक्ष व विभागाध्यक्षों को कार्यालय इंचार्ज बनाया गया है। झांसी के सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी गुलाब हुसैन ने बताया कि  पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से जारी हैं। विभागों से कर्मचारियों का ब्योरा मांगा गया है। ये उन्हें इलेक्शन स्टाफ डेप्लॉयमेंट (ईएसडी) सॉफ्टवेयर पर फीड करना होगा। इसके लिए विभागों को यूजर आईडी और पासवर्ड उपलब्ध कराया जाएगा।

Wednesday, 16 December 2020

07:58

यूपी में 2022 का आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी tap news india

लखनऊ उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले आम चुनाव को देखते हुए राजनीतिक पाटियां अपना समीकरण बैठा रही है। इसी क्रम में आम आदमी पार्टी ने अपनी सियासत को यूपी में जमाने के लिए उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में लड़ेगी। इसका ऐलान अरविंद केजरीवाल ने किया है। उन्होंने कहा विकास के मुद्दे पर आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ेगी। केजरीवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भ्रष्ट नेताओं की वजह से प्रदेश का विकास नहीं हो राह है। बता दें कि आदमी पार्टी दिल्ली की सत्ता में पूर्ण बहुमत की सरकार पर अब पार्टी उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में एंट्री करने का फैसला लिया है।
इससे पहले दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव लडऩे का ऐलान किया था। इसके लिए दलित समाज से आने वाले मंत्री राजेंद्र पाल गौतम को चुनाव प्रभारी बनाया गया है। आम आदमी पार्टी ने डिप्टी स्पीकर राखी बिड़लान और विधायक सुरेंद्र कुमार को सह प्रभारी बनाया है।

Friday, 27 November 2020

00:28

UP को 16 NH का तोहफा:deepak tiwari

गोरखपुर.उत्तर प्रदेश में रोड इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूती देने के लिए गुरुवार को केंद्र सरकार के सहयोग से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 16 नेशनल हाईवे की सौगात दी। नई दिल्ली से केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़े। जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के सर्किट हाउस में थे। गडकरी और योगी ने प्रदेश को 7476.56 करोड़ रुपए की लागत की 504.32 किमी लंबी 16 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जितने राजमार्ग 60 साल में बने उतने छह साल में बनाकर दिखाए हैं।
प्रदेश नई गति से आगे बढ़ता दिखाई दिया
CM योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना काल में भी 505 किमी लंबी 7477 करोड़ की सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया गया है। छह वर्ष में प्रदेश में विकास और राजमार्ग का निर्माण हुआ है, इसके लिए केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय बधाई का पात्र है। छह वर्षों में उन्होंने विकास कार्यों को हर जगह पहुंचाया है। जितने राजमार्ग 60 साल में बने उतने 6 साल में बना कर दिखाए हैं। पहली बार जब गडकरी आए थे, तो एक बाईपास बनाने के बात कही थी। आज उसका भी लोकार्पण हो रहा है। आज 16 कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण हो रहा है। प्रदेश के अंदर कार्य नई गति से आगे बढ़ता हुआ दिखाई दिया।
आम नागरिकों का भी होगा विकास
योगी ने कहा कि यूपी शासन से जुड़ी हुई कोई भी समस्या है, वहां समस्या को हल करने के लिए आश्वस्त करते हैं। ग्राम सभा की जमीन को जरूरत पड़ने पर राजमार्ग के लिए निशुल्क जमीन उपलब्ध कराएं। राजमार्ग के निर्माण से प्रदेश और आम नागरिकों का भी विकास होगा। प्रदेश की जनता की ओर से गडकरी और जनरल वीके सिंह को प्रदेश की जनता की ओर से धन्यवाद देता हूं।
इन परियोजना का शिलान्यास व लोकार्पण
61.19 किमी लंबी मेरठ से बुलंदशहर राष्ट्रीय राजमार्ग का 4 लेन चौड़ीकरण होगा। इस पर 2407.91 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
कौड़िया से गोरखपुर बाइपास को 4 लेन किया जाएगा। इस पर 866 करोड़ रुपए खर्च आएगा।
कबरई से बांदा NH 76 का अपग्रेडेशन होगा। जिस पर 215 करोड़ रुपए खर्च होगा।
चित्रकूट और प्रयागराज जिले में मऊ से जसरा तक NH 76 का चौड़ीकरण होगा। यहां 218 करोड़ रुपए खर्च किया जाएगा।
प्रतापगढ़ और प्रयागराज जिले में प्रयागराज से प्रतापगढ़ के बीच NH 76 का अपग्रेडेशन। लागत 599 करोड़ रुपए है।
सिद्धार्थनगर जिले में बरहनी से कटाया के बीच NH 730 का अपग्रेडेशन होगा। इसकी लागत 209 करोड़ रुपए है।
बहराइच और श्रावस्ती जिले में बहराइच से श्रावस्ती के बीच NH 730 का अपग्रेडेशन किया जाएगा। इसकी लागत 389 करोड़ रुपए है।
कानपुर जिले में ROB का निर्माण होगा।
सोनभद्र जिले में यूपी/झारखंड सीमा से मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश सीमा पर NH 75E का अपग्रेडेशन। इस पर 87 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
इटावा और औरैया जिले में कुदरकुट से भरथना चौक तक NH 91A का चौड़ीकरण। 39 करोड़ रुपए लागत।
मिर्जापुर जिले में ड्रमंडगंज से हालिया के बीच NH 135C का चौड़ीकरण। 39 करोड़ रुपए लागत।
प्रयागराज जिले में रामपुर से भदेवरा के बीच NH135C का चौड़ीकरण। 76 करोड़ रुपए लागत।
गोरखपुर जिले में सिकरिनगंज से गोला के बीच NH 227 का चौड़ीकरण। लागत 37.52 करोड़ रुपए।
कुशीनगर जिले में तमकुहीराज से पडरौना के बीच NH 730 का चौड़ीकरण। 69 करोड़ रुपए लागत।
प्रयागराज जिले में फाफामऊ से गंगा नदी पर मौजूदा पुल के समानांतर 6 लेन के पुल का निर्माण होगा। जिस पर 1948 करोड़ रुपए लागत आएगी।

Tuesday, 24 November 2020

23:09

UP में लव जिहाद बना जुर्म:deepak tiwari

लखनऊ.उत्तर प्रदेश में अब धर्म छिपाकर शादी करना जुर्म होगा। मंगलवार की शाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने लव जिहाद के खिलाफ कानून के प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी। लव जिहाद पर 20 नवंबर को गृह विभाग ने न्याय व विधि विभाग को प्रस्ताव बनाकर भेज दिया था। प्रस्ताव के मुताबिक, गैर जमानती धाराओं में केस दर्ज होगा और दोषी पाए जाने पर 5 साल की सख्त सजा होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर, बागपत, मेरठ समेत यूपी के कई शहरों में लगातार हो रही लव जिहाद की घटनाओं के बाद गृह विभाग से रिपोर्ट मांगी थी। इसी के साथ उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने लव जिहाद के खिलाफ कानून को मंजूरी दी है।
यूपी के लॉ कमीशन के चीफ आदित्य नाथ मित्तल ने बताया कि भारतीय संविधान ने धार्मिक स्वतंत्रता दी है, लेकिन कुछ एजेंसियां इसका गलत इस्तेमाल कर रही हैं। वे धर्म परिवर्तन के लिए लोगों को शादी, नौकरी और लाइफ स्टाइल का लालच देती हैं। हमने इस मसले पर 2019 में ही ड्राफ्ट सौंप दिया था। इसमें अब तक तीन बार बदलाव किए गए हैं। आखिरी बदलाव में हमने सजा का प्रावधान जोड़ा है।
धर्म परिवर्तन के लिए की जा रही शादियां भी दायरे में
ड्राफ्ट के मुताबिक, शादी के लिए गलत नीयत से धर्म परिवर्तन या धर्म परिवर्तन के लिए की जा रही शादियां भी धर्मांतरण कानून के तहत आएंगी। अगर कोई किसी को धर्म परिवर्तन करने के लिए मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना देता है, तो वो भी इस नए कानून के दायरे में आएगा। धर्मांतरण के मामले में अगर माता-पिता, भाई-बहन या अन्य ब्लड रिलेशन कोई शिकायत करता है तो उनकी शिकायत पर कार्रवाई की शुरुआत की जा सकती है। धर्मांतरण के लिए दोषी पाए जाने पर एक साल से लेकर पांच साल तक की सजा दी जा सकती है। शादी कराने वाले पंडित या मौलवी को उस धर्म का पूरा ज्ञान होना आवश्यक है।
एक महीने पहले DM को देना होगा आवेदन
ड्राफ्ट के मुताबिक, लव जिहाद जैसे मामलों में सहयोग करने वालों को भी मुख्य आरोपी बनाया जाएगा और दोषी पाए जाने पर सजा होगी। शादी के लिए धर्मांतरण कराने वालों को भी सजा का प्रावधान है। अगर कोई अपनी मर्जी से शादी के लिए धर्म बदलना चाहता है तो उसे एक महीने पहले कलेक्टर को एप्लीकेशन देनी होगी। यह आवेदन अनिवार्य होगा।
हाईकोर्ट ने सोमवार को दिया था अहम फैसला
उत्तरप्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ कानून लाने की योगी सरकार की कोशिशों को झटका लगा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने धर्म बदलकर शादी करने के एक मामले में सुनवाई के दौरान कहा कि किसी को भी अपनी पसंद के व्यक्ति के साथ रहने का अधिकार है, चाहे वह किसी भी धर्म को मानने वाला हो। यह उसकी व्यक्तिगत स्वतंत्रता का मूल तत्व है। दो लोग अगर राजी-खुशी से एक साथ रह रहे हैं तो इस पर किसी को आपत्ति लेने का हक नहीं है। कोर्ट के इस फैसले के साथ ही योगी सरकार के लव जिहाद को लेकर कानून बनाने की तैयारियों को झटका लग सकता है। यह आदेश जस्टिस पंकज नकवी और जस्टिस विवेक अग्रवाल की बेंच ने कुशीनगर के सलामत अंसारी और प्रियंका खरवार उर्फ ​​आलिया की याचिका पर दिया है।

Monday, 23 November 2020

19:50

उत्तर प्रदेश में शादी समारोह की नई एडवाइजरी जारी :deepak tiwari

लखनऊ.देश में कोरोना की दूसरी वेव के खतरे को भांपते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सोमवार को शादी समारोह को लेकर नई एडवायजरी जारी की है। कंटेनमेंट जोन के बाहर होने वाले शादी समारोह, सांस्कृतिक, खेल, राजनीतिक कार्यक्रमों व अन्य आयोजनों में महज 100 लोग ही शामिल होंगे। वहीं, 100 लोगों की क्षमता वाले हॉल में एक बार में सिर्फ 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। शादी में बैंड और डीजे लगाने पर बैन रहेगा। बीमार व बुजुर्ग व्यक्ति किसी भी समारोह का हिस्सा नहीं होंगे।
यह दिशा-निर्देश मुख्य सचिव आरके तिवारी की तरफ से जारी किया गया है। हर जगह दो गज की दूरी, मास्क, हैंडवॉश व सैनिटाइजर की व्यवस्था का अनुपालन करना अनिवार्य होगा। सख्ती से कहा गया है कि यदि नियमों का उल्लंघन हुआ तो FIR दर्ज होगी। यह निर्णय कोरोना की रोकथाम के लिए लिया गया है।
एडवायजरी में क्या है अब नियम?
यदि शादी समारोह में बंद हॉल में आयोजित किया गया है तो क्षमता के अनुसार 100 लोगों के निमंत्रण में 50% (50-लोग) एक बार में शामिल हो सकते हैं। वहीं खुले हाल में 100 में से 40% (40-लोग) एक बार में शामिल होंगे।
किसे बुलाएं किसे करें मना, बड़ी मुश्किल में फंसे लोग
प्रदेश में 25 नवंबर से 11 दिसंबर तक शादी समारोह के शुभ मुहूर्त हैं। इनमें अधिकतर वो शादियां हैं, जो लॉकडाउन के चलते अप्रैल-मई और जून माह में टल गई थीं। ऐसे में उन परिवारों के लिए मुश्किलें बढ़ गई हैं, जिन्होंने शादी की तैयारियां पूरी कर ली है। उन लोगों ने पुराने नियम के अनुसार, 200 मेहमानों को शादी समारोह में शामिल होने के लिए कार्ड दिया था। अब वे किसे बुलाएं और किसे मना करें, उनके सामने बड़ी मुश्किल है। एक आंकड़े के अनुसार प्रदेश 17 दिनों में 35 हजार शादियां होनी है।
सीएम योगी ने जताई थी चिंता
दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखकर योगी सरकार पहले ही सतर्क हो गई है। एक तरफ जहां NCR में दिल्ली से आने वालों का टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। वहीं, अब सामूहिक आयोजनों में शामिल होने वालों की संख्या पर पाबंदी लगाने का फैसला लिया है। योगी आदित्यनाथ ने शादी-समारोहों में 200 की जगह 100 से अधिक लोगों को शामिल न होने देने के निर्देश दिए थे। टीम-11 के साथ समीक्षा बैठक के दौरान सीएम ने एडवायजरी बनाने का निर्देश दिया था।

Sunday, 22 November 2020

08:21

आधी रात को प्रेमिका से मिलने पहुंचे प्रेमी की जमकर धुनाई फिर हुई जमकर धुनाई deepak tiwari

रामपुर.उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में आधी रात को प्रेमिका से मिलने पहुंचे प्रेमी को युवती के परिजनों ने पकड़ लिया। इसके बाद प्रेमी की रातभर धुनाई की। दिन निकलते ही आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया गया। लेकिन थोड़ी देर बाद ही गांव वालों का दिल पसीज गया और उन्होंने मध्यस्थता करते हुए प्रेमी-प्रेमिका की शादी करा दी।
जानकारी के अनुसार, मामला अजीम नगर थाना क्षेत्र के एक गांव का है। रामपुर जिले के स्वार निवासी युवक का अजीम नगर थाना इलाके के एक गांव में रहने वाली युवती के साथ प्रेम संबंध था। प्रेमी अक्सर अपनी प्रेमिका से मिलने आया करता था। गुरुवार की देर रात 12 बजे प्रेमी प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंच गया। प्रेमिका के परिजनों को कुछ आहट हुई तो वे सतर्क हो गए। इससे पहले प्रेमी कुछ समझ पाता परिजनों ने उसे कमरे में ही पकड़ लिया।
शोर-शराबा होने पर आसपास के लोग आ गए और प्रेमी की धुनाई कर दी। युवक को कमरे में बंद करने के बाद पुलिस को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और आरोपी युवक को थाने ले आई।
गांव के लोगों ने कराई सुलह
गांव के सम्मानित लोगों ने समझौता कराने का प्रयास शुरू कर दिया। करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद दोनों के परिवार शादी के लिए सहमत हो गए। इसके बाद पंडित को बुलाया गया और शादी की तैयारी शुरू हुई। शुक्रवार शाम को प्रेमी जोड़े ने एक दूसरे के गले में वरमाला डाल अपना जीवनसाथी चुन लिया।

Saturday, 17 October 2020

23:52

SVS:उत्तर प्रदेश में श्रमिक विकास संगठन की डिजिटल बैठक आयोजित

आम आदमी पार्टी की श्रमिक इकाई श्रमिक विकास संगठन (SVS) उत्तर प्रदेश की बैठक SVS के राष्ट्रीय महासचिव श् कृष्ण यादव  की अध्यक्षता मे एव  वैभव यादव तथा  मनदीप पर्वेक्षक उत्तर प्रदेश एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी के साथ उत्तर प्रदेश कमेटी की बैठक 7/10/2020 को सम्पन्न हुई।, जिसमे कई महत्वपूर्ण विन्दुओं पर चर्चा की गई जिसमे उत्तर प्रदेश के संगठन को आगे बढ़ाने व संगठन के कार्यक्रमों को गति देने पर चर्चा की गयी । बैठक में उत्तर प्रदेश अध्यक्ष इकबाल हुसैन रिजवी, प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती इशरत रिजवी, प्रदेश सचिव श्री प्रशांत त्रिपाठी, श्री गज़्ज़नफर जाफरी, पुर्वांचल प्रान्त अध्यक्ष श्री फैज अहमद ज़ैदी, रामजी पांडे तथा प्रदेश के समस्त जिलों के जिला प्रभारी, जिलाध्यक्ष, जिला महासचिव एव कार्यकारिणी सदस्य शामिल रहे।
19:19

UP:क्रान्तिरथ लेकर पूरे प्रदेश के हर जिले मे जायेगे शिवपाल यादव

जसवंतनगरः प्रगतिशील समाजवादी पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष/क्षेत्रीय विधायक शिवपाल सिंह यादव ने कहा है कि वे जल्द ही क्रान्तिरथ लेकर पूरे प्रदेश के हर जिले मे जायेगे और उपेक्षित लोगो को साथ मिलाकर सडको पर संघर्ष करेगे तथा स्वाभिमान सम्मान के खिलाफ नही झुकेगे यह बात उन्होने छिमारा रोड पर एक निजी कार्यक्रम मे सम्मलित होकर अपने सम्बोधन मे कही    उन्होने आगे कहा कि जसवंतनगर की जनता ने उन्हे लगातार पांच वार विधायक तथा तीस वर्षो से वे सहकारी वैक के अध्यक्ष रहे है और वे हमेशा किसानो का भला करते रहे वे जब लोक निर्माण विभाग के मंत्री थे तो जिन लोगो की समस्याओ के निपटारे के लिए उन्हे प्रार्थना पत्र दिया उनकी सडके कुल तुंरत बनवा दी गई उन्होने प्रदेश मे चौतीस सौ नये टयूवैल लगवाये उन्होने कहा कि अपनी सरकार मे किसानो को उनकी फसल के बदले समर्थन मूल्य भी ज्यादा दिलवाया उन्होने मोदी सरकार तथा उ0प्र0 सरकार पर निशाना सादते हुये कहा कि उन्हेने जो वादे किये थे उसपर वो खरे नही उतरे डीजल, पेट्रोल तथा बिजली के बिलो पर लगातार पैसे वढ रहे है तथा सरकार अपनी गलत निर्णय कानून बनाकर निजीकरण कर रही है उद्योगपतियो को वढावा दे रही है उसे गरीबो व किसान की चिंता नही है हर जगह भ्रष्टाचार है विद्युतबिलो के बकायेदारी के नाम पर अधिकारियो द्वारा छापेमारी कर बसूली की जा रही है    उन्होने आगे कहा कि उनकी अगर सरकार बनी तो 65 वर्ष के गरीबो को तथा जो नये बकील बनकर तैयार होगे व साहितकारो व पत्रकारो को भी पैंसन देने का काम करेगे उन्होने आगे कहा कि क्रान्तीरथ लेकर पूरे प्रदेश मे निकलेगे और गैर भाजपावाद की सरकार बनाने का काम करेगे उन्होने कहा कि समाजवादी पार्टी के मुखिया से भी एक साथ होने का प्रस्ताव रखा था मगर एक वर्ष बीत गया है अभी तक उन्हे कोई जवाब नही मिला है अव मैनुपरी, कन्नौज तथा इटावा की जनता जो फैसला करेगी मे उसका फालन करूआ और स्वाभिमान के लिए संघर्ष करता रहूगा इस अवसर पर उपस्थित प्रमुख लोगो मे महाबीर सिंह यादव, रघुराज शाक्य, ब्लाक प्रमुख अनुज मोंटी यादव, कर्मराम सिंह, खन्ना यादव, अनिल प्रताप सिंह, अजेन्द्र गौर, चंदगीराम, राहुल गुप्ता, महाबीर सिंह, सुनील यादव, सुनील मिश्रा, तथा रामबीर सिह यादव, बबलू शाक्य, अरविद वघेल, आदि उपस्थिति रहे। 

19:16

विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटें सपा कार्यकर्ता-अखिलेश यादव

सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है समाजवादी पार्टी के नेता पदधिकारी कार्यकर्ता और समर्थक कोरोना माहमारी से बचाव करते हुए सम्पन्न होने बाले आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटें। 
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शनिवार को अपने पैतृक गांव सैफई से आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे मार्ग से वापस लखनऊ लौट रहे थे। इस बीच भरथना के एक दर्जन से अधिक सपा युवा कार्यकर्ताओं ने उनके काफिले को ताखा भर्तियां कोठी स्थित एक्सप्रेसवे पर हाथ हिलाकर रोक लिया। जिसपर भरथना नगर पालिका परिषद के सभासद व अखिलेशवादी निहलुद्दीन सभासद अजीम शानू ने अपने प्रिय नेता अखिलेश यादव का पुष्पहार पहना कर स्वागत किया। इस मौके पर सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री यादव ने मौजद सभी कार्यकर्ताओं से कहा है कि वर्तमान में कोरोना माहमारी के चलते कार्यकर्ता आपस मे सामाजिक दूरी बनाकर रहे और कोविड-19 का पालन करते हुये मास्क लगाकर ही घरों से वाहर निकले। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा है कि कोरोना माहमारी के समाप्त होने पर सभी कार्यकर्ता लखनऊ कार्यालय पर आकर उनसे मुलाकात करें। और सम्पन्न  होने बाले आगामी विधानसभा के आम चुनाव की तैयारी में अभी से जुट जायें। इस मौके पर सपा युवा कार्यकर्ता सजंय यादव,अंशुल यादव,इरम सिद्दीकी,अजय यादव,रोहित यादव,ऋषि यादव,सन्नी यादव आदि के स्वागत पर उन्हीने कार्यकर्ताओं का भिवादन किया। और उनकी कारों का काफिला लखनऊ के लिए कूँचकर गया।

Monday, 5 October 2020

03:35

AAP: सांसद श्री संजय सिंह ने 36 दिन से धरना दे रहे दलित परिवार के लिए आयुक्त आजमगढ़ को लिखा पत्र

AAP: सांसद श्री संजय सिंह ने 36 दिन से धरना दे रहे दलित परिवार के लिए आयुक्त आजमगढ़ को पत्र लिखा ही ज्ञात हो कि बलिया से आये एक दलित परिवार ने कथित रूप से उनके जमीन कब्जा होने एवं परिवार को शासन प्रशासन से कोई मदद न मिलने पर पिछले 36 दिन से हाई कोर्ट के डॉ अम्बेडकर मूर्ति पर लगातार कर्मिक अनसन पर है मिली जानकारी के अनुसार  गीता रानी का 7 डिसमिल जमीन बलिया के बेल्थरा रॉड में थी जिसके वहां के पूर्व ब्लाक प्रमुख ने उनकी जमीन धोखे से कब्जा कर लिया जिसकी शिकयत उक्त परिवार ने बलिया एसडीएम बलिया डीएम एवं आयुक्त आजमगढ़ को की परंतु कोई भी सुनवाई शासन द्वारा नहीं की गई निराश होकर परिवार आज 36 दिन से हाईकोर्ट के डॉक्टर अंबेडकर मूर्ति पर क्रमिक अनशन कर रहा है परिवार के पास खाने-पीने तक को भी पैसा नहीं है इस परिस्थिति में उनके पति की मानसिक स्थिति भी खराब हो गई है उनके अनशन को देखते हुए आम आदमी पार्टी के महानगर अध्यक्ष श्री ज्योति प्रकाश चौबे एवं जिला अध्यक्ष श्री डॉक्टर अल्ताफ अहमद ने इनको मदद का भरोसा दिया था इसी क्रम में अभी पिछले दिनों  राज्यसभा सांसद माननीय श्री संजय सिंह का आगमन प्रयागराज में हुआ था महानगर अध्यक्ष श्री ज्योति प्रकाश चौबे ने उनकी समस्या से अवगत कराया उक्त परिवार की बात को सुनते हुए सांसद जी ने आयुक्त आजमगढ़ को एक पत्र लिखा है आज उस पत्र को महानगर अध्यक्ष श्री ज्योति प्रकाश चौबे एवं महानगर सदस्य श्री हरेंद्र प्रताप ठाकुरद्वारा उक्त परिवार को दिया गया और यह भी आश्वासन दिया गया कि आप की लड़ाई में आम आदमी पार्टी न्याय मिलने तक साथ देगी।

Thursday, 1 October 2020

06:30

हाथरस जाने पर अड़े राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया deepak tiwari

हाथरस। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी गुरुवार को हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मिलने जा रहे थे। उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन्हें ग्रेटर नोएडा पर रोक दिया गया है। वहां से राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पैदल मार्च कर जा रहे थे। इस दौरान पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

 
इस दौरान नोएडा ADCP रणविजय सिंह ने कहा कि यहां महामारी अधिनियम का उल्लंघन हो रहा है। माननीय हाई कोर्ट की अवमानना हो रही है। अभी हम इनको यहां से आगे नहीं जाने देंगे। उधर, राहुल गांधी ने कहा कि अभी पुलिस वालों ने मुझे धकेल के लाठी मारकर गिराया ठीक है, मैं कुछ नहीं कह रहा हूं, कोई प्रॉब्लम नहीं। इस हिंदुस्तान में क्या RSS और BJP के लोग ही चल सकते हैं? क्या आम आदमी नहीं चल सकता? क्या इस देश में नरेंद्र मोदी ही पैदल जा सकते हैं?

उधर, इस दौरान प्रियंका गांधी ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी योगी सरकार को लेनी होगी, जिस तरह से प्रदेश में महिलाओं के साथ अत्याचार हो रहें, ये बंद होने चाहिए। यही स्थिति पिछले साल भी थी। पिछले साल तकरीबन इसी समय हम उन्नाव की बेटी की लड़ाई लड़ रहे थे। प्रदेश में हर रोज़ 11 रेप हो रहे हैं। उधर, जिला प्रशासन ने हाथरस में गैंगरेप पीड़िता के घर पर किसी के भी जाने पर पूरी तरह से रोक लगाई गई। घर का इलाका बेरिकेडिंग करके सील किया। इसके साथ ही पूरे जिले में धारा-144 लागू कर सीमाएं सील कर दी गई हैं। इस दौरान मीडिया की एंट्री पर भी रोक दी गई है।
06:28

भोजपुरी स्टार रविकिशन को Y+ सुरक्षा, कहा-शुक्रिया महाराजजी deepak tiwari

नई दिल्ली। फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में ड्रग्स के मामले को लेकर दंगल मचा हुआ है। इस मसले को संसद में उठाने वाले भारतीय जनता पार्टी के सांसद रवि किशन बीते दिनों काफी चर्चा में रहे। इसी चर्चा के बीच अब रवि किशन को Y+ श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। इसकी जानकारी रविकिशन ने गुरुवार सुबह खुद ही दी।
गोरखपुर से से भाजपा सांसद ने सुरक्षा उपलब्ध कराए जाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शुक्रिया अदा किया। रवि किशन ने ट्वीट कर लिखा कि पूजनीय महाराज जी, मेरी सुरक्षा को देखते हुए आपने जो Y+ श्रेणी की सुरक्षा मुझे उपलब्ध करवाई है, इसके लिए मैं, मेरा परिवार तथा मेरे लोक‑सभा क्षेत्र की जनता आपकी ऋणी हैं तथा आपका धन्यवाद करती है। मेरी आवाज़ हमेशा सदन में गूंजती रहेगी।

आपको बता दें कि बॉलीवुड में ड्रग्स को लेकर उठे बवाल के बीच रवि किशन ने लोकसभा में इस मसले को उठाया था, इसके अलावा पायल घोष के द्वारा निर्देशक अनुराग कश्यप पर जो आरोप लगाए गए उस मसले को लेकर भी उन्होंने लोकसभा में आवाज उठाई थी। इसी के बाद से ही रवि किशन लगातार चर्चा में थे और बॉलीवुड में कई लोगों के निशाने पर भी थे। समाजवादी पार्टी की सांसद और अभिनेत्री जया बच्चन ने राज्यसभा में ही रवि किशन को खरी खोटी सुनाई और उन्हें जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करने वाला बता डाला।
इसके अलावा रविकिशन को लेकर बॉलीवुड की कई सेलेब्रिटी ने सवाल खड़े किए और उनपर इंडस्ट्री को बदनाम करने का आरोप लगाया गया। ऐसे में इस सब बवाल के बीच रवि किशन ने गुरुवार को वाई प्लस सुरक्षा मिलने की बात कही। रवि किशन ने इससे पहले एक बयान में कहा था कि संसद में ड्रग्स कनेक्शन को लेकर आवाज उठाने के बाद उन्होंने बॉलीवुड में अपने कई प्रोजेक्ट गंवा दिए हैं।

Tuesday, 8 September 2020

11:28

UP : उत्तर प्रदेश में संजय सिंह की धमक से विरोधियों में मची हलचल



Ramji pandey:उत्तर प्रदेश में आप की एंट्री और राज्यसभा सांसद संजय सिंह की सक्रियता ने वर्षो से जमी जमाई पार्टियों में खलभली मचा दी है इसी का नतीजा है कि संजय सिंह के बेबाक आरोपों से घबराई योगी सरकार ने उन पर अब तक 10 मुकदमे ठोंक दिए जो कहीं न कहीं आम आदमी पार्टी को उत्तर प्रदेश में संजीवनी देने का काम करने लगे है यही कारण है कि आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश में अपनी पकड़ दिन पर दिन बढ़ाती जा रही है। अगर आप  2022 में विधानसभा चुनाव तक इसी स्पीड में रही तो आने वाले समय मे यूपी में अपनी सल्तनत का दावा करने वाली भाजपा, कांग्रेस, सपा, बसपा की मुश्किलें बढ़ना तय है। बताते चले कि संजय सिंह की उत्तर प्रदेश में लगातार उपस्थिति और  उनके आक्रामक तेवर ने आप के कार्यकर्ताओं में भी नई जान डाल दी है जिससे अब उन्हें रोक पाना आसान नही दिखता उत्तर प्रदेश की धरती पर संजय सिंह ने हर छोटे बड़े मुद्दों पर अपनी बारीक समझ और लगातार संघर्ष से  जनता को एक बार आम आदमी पार्टी के बारे में सोंचने पर मजबूर कर दिया है।लेकिन  यूपी के राजनीतिक खिलाड़ी दिल्ली की तरह यूपी में भी आम आदमी पार्टी को हल्के में लेने के मूड में नही दिख रहे है इसलिए वह हर हाल में यूपी में आप को रोकने का भरकस प्रयास करेगे इशलिये यह तो तय है कि इस बार यूपी में 2022 के विधानसभा चुनाव जबर्दस्त होने वाले है ।वैसे तो यूपी में अपने राजनीतिक मंसूबो में कौन कितना कामियाब होगा यह तो समय ही बताएगा लेकिन  अब यह तो जगजाहिर  है कि संजय सिंह के यूपी में आने से विरोधी पार्टियों में जबर्दस्त हलचल है ।
                

Sunday, 16 August 2020

05:34

पूर्व क्रिकेटर और यूपी सरकार के मंत्री चेतन चौहान का निधन, कोरोना संक्रमण के चलते गई जान deepak tiwari

भाजपा विधायक चौहान इस समय उत्तर प्रदेश सरकार में होमगार्ड मंत्री भी थे
पूर्व क्रिकेटर और उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान (73) का रविवार को निधन हो गया है। कोरोना संक्रमित होने के बाद उनका गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। पिछले महीने वे संक्रमित हुए थे। उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल में चौहान के पास सैनिक कल्याण, होमगार्ड, पीआरडी और नागरिक सुरक्षा मंत्रालय थे। वे दो बार लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं।
कोरोना पॉजिटिव आने के बाद चेतन चौहान को किडनी और ब्लड प्रेशर से जुड़ी दिक्कतें शुरू हो गई थीं। उसके बाद उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। इसी दौरान उनकी कोरोना रिपोर्ट दो बार निगेटिव आने के बाद तीसरी बार पॉजिटिव आई थी।
40 टेस्ट में 2084 रन बनाए
चेतन चौहान ने टीम इंडिया के लिए 1969 से 1978 के बीच 40 टेस्ट खेले थे। इनमें उन्होंने 31.54 की एवरेज से 2084 रन बनाए। उनका बेस्ट स्कोर 97 रन रहा। चेतन ने 7 वनडे में 153 रन बनाए। चौहान और सुनील गावस्कर की ओपनिंग जोड़ी 1970 के दशक में काफी सफल रही थी। दोनों ने मिलकर 10 शतकीय साझेदारियां कीं और 3 हजार से ज्यादा रन बनाए। चेतन घरेलू क्रिकेट में दिल्ली और महाराष्ट्र की टीम से खेले थे।
दुनिया के कई क्रिकेटर कोरोना संक्रमित
दुनिया के कई दिग्गज खिलाड़ी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी और बांग्लादेश के पूर्व कप्तान मशरफे मुर्तजा भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। मुर्तजा बांग्लादेश में सांसद भी हैं। उधर, इंग्लैंड दौरे पर जाने से पहले पाकिस्तान के 10 क्रिकेटर्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इनके अलावा टेनिस में वर्ल्ड नंबर-1 नोवाक जोकोविच और उनकी पत्नी भी संक्रमित हो चुकी हैं।

Saturday, 1 August 2020

23:21

आर्थिक तंगी से जूझ रहे टीवी एक्टर अनुपम श्याम CM योगी ने दिए हर संभव मदद के निर्देश

लखनऊ। टीवी सीरियल 'प्रतिज्ञा' ठाकुर सज्जन सिंह के किरदार से मशहूर हुए अनुपम श्याम ओझा किडनी में संक्रमण की समस्या से जूझ रहे हैं। अनुपम का इलाज मुंबई के लाइफलाइन मेडिकेयर हॉस्पिटल में चल रहा है। बीमारी की वजह से अनुपम को आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ रहा है, जिसे लेकर उनके छोटे भाई अनुराग श्याम ओझा ने सोशल मी​डिया पर मदद की गुहार लगाई थी। अनुपम की मदद के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आगे आए हैं। मुख्यमंत्री योगी ने अधिकारियों को अनुपम ओझा की हर संभव मदद करने का निर्देश दिया है। बता दें, अभिनेता अनुपम ओझा यूपी के प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं।

 अनुपम के भाई ने लगाई थी मदद की गुहार
अनुपम के भाई ने लगाई थी मदद की गुहार
अनुपम के भाई अनुराग ने मदद की गुहार लगाते हुए कहा था, ''बड़े भाई अनुपम की तबीयत बीते छह महीने से ही खराब चल रही है। उनकी किडनी में इंफेक्शन है, जिसके कारण उन्हें हिंदुजा हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया, वहां उनका करीब डेढ़ महीने तक इलाज चला। उस समय उनकी तबीयत ठीक हो गई थी, लेकिन उन्हें समय-समय पर डायलिसिस पर रहने की सलाह दी गई, डायलिसिस की अधिक कीमतों के कारण उन्होंने आयुर्वेदिक इलाज कराने का निर्णय किया। लेकिन यह काम नहीं आया. डायलिसिस पर न जाने के कारण उन्हें सांस लेने में भी परेशानी होने लगी। उनके चेस्ट में पानी भर गया, जिससे हम उन्हें डायलिसिस के लिए लेकर गए, हालांकि, अब उन्हें थोड़ा आराम भी मिल रहा है।''

 'जो कमाया, वो दवा पर खर्च'
'जो कमाया, वो दवा पर खर्च'
अनुराग ने आगे कहा था, ''मैं मालाड़ हॉस्पिटल में उनका डायलिसिस करा रहा था, लेकिन डायलिसिस के बाद वह अचानक गिर गए और उन्होंने हमें इन्हें किसी और हॉस्पिटल में भर्ती कराने की सलाह दी, जहां आईसीयू भी मौजूद हो। ऐसे में हम उन्हें इस अस्पताल लेकर आए, लेकिन यह थोड़ा महंगा था और हमारे पास इलाज के लिए अब ज्यादा पैसे नहीं बचे हैं। जो भी उन्होंने कमाया था, वह उनकी दवा पर खर्च हो चुका है। हमें पैसों की सख्त जरूरत है। मैं आप लोगों से निवेदन करता हूं कि इन शब्दों को फैलाएं, ताकि कोई आगे आए और हमारी मदद कर सकें।''

 सोनू सूद, राज भैया के बाद सीएम योगी मदद के लिए आए आगे
सोनू सूद, राज भैया के बाद सीएम योगी मदद के लिए आए आगे
अनुराग की मदद की गुहार लगाने के बाद अभिनेता सोनू सूद और मनोज बाजपेयी सहित विधायक राजुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने अनुपम की मदद की है। वहीं, अब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ अधिकारियों को अनुपम ओझा की हर संभव मदद करने का निर्देश दिया है।

Tuesday, 21 July 2020

01:28

गाजियाबाद: पत्रकार पर हमला निंदनीय-रामजी पांडे

 
आम आदमी पार्टी के नेता रामजी पांडे ने गाजियाबाद में हुई घटना की निंदा करते हुए कहा कि गाजियाबाद के विजयनगर इलाके में  एक अखबार के पत्रकार विक्रम जोशी पर हमला किया जाना यूपी में बेख़ौफ़ बदमाशों की सरेआम गवाही दे रहा है ।रामजी पांडे ने कहा  इसका सीसीटीवी फुटेज सामने आया है. इस सीसीटीवी फुटेज में विक्रम जोशी अपनी दो बेटियों के साथ मोटरसाइकिल से जा रहे थे. तभी बदमाशों ने उन्हें घेर लिया और मारपीट करते हुए उन्हें गोली मार दी  जबकि कुछ दिन पहले भी विक्रम जोशी ने थाना विजय नगर में एक तहरीर दी थी, जिसमें उन्होंने बताया था कि कुछ लड़के उनकी भांजी के साथ छेड़खानी करते हैं. इसका उन्होंने विरोध  किया था, जिसका नतीजा यह निकला कि नाराज बदमाशों ने पत्रकार को गोली मार दी।आप नेता ने कहा उत्तर प्रदेश में जब पत्रकार ही सुरछित नही है तो आम आदमी का तो भगवान ही मालिक है।