Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label केरल. Show all posts
Showing posts with label केरल. Show all posts

Saturday, 21 January 2023

05:16

स्वास्थ्य सेवा प्रणालियों में कमजोरियों और असमानताओं को दूर करने के लिए चिकित्सा मूल्य यात्रा एक आवश्यक घटक है: वैद्य राजेश कोटेचा

 केरल:-20 सदस्य देशों ने केरल के तिरुवनंतपुरम में आयोजित जी-20 इंडिया प्रेसीडेंसी के पहले स्वास्थ्य कार्य समूह की बैठक के दौरान सृजनात्मक चर्चा की। तीन दिन की इस बैठक के मुख्य आकर्षणों में से एक, चिकित्सा मूल्य यात्रा पर होने वाला एक साइड इवेंट था। आयुष मंत्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने एकीकृत स्वास्थ्य सेवा के माध्यम से समग्र कल्याण हासिल करने के विषय पर पैनल चर्चा के दौरान मुख्य भाषण दिया। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी. के. पॉल और केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव श्री राजेश भूषण भी जी-20 देशों के प्रतिनिधियों के साथ उपस्थित थे।

इस अवसर पर आयुष मंत्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा, “हमने कोविड के बाद समग्र स्वास्थ्य और कल्याण के प्रति रोगियों के स्वास्थ्य चाहने वाले व्यवहार में एक आदर्श बदलाव देखा है। नई स्वस्थ आत्मनिर्भर स्वास्थ्य व्यवस्था का सपना तभी साकार हो सकता है जब उच्च गुणवत्ता वाली, सस्ती और सुलभ स्वास्थ्य सेवाएं सभी को समान रूप से उपलब्ध कराई जा रही हों। जब साक्ष्य, मान्यता और नवीनतम चिकित्सा तकनीकों के साथ विभिन्न स्वास्थ्य प्रणालियों तक पहुंच को बढ़ाया जा रहा हो।”

वसुधैव कुटुम्बकम के सिद्धांत के साथ 'वन वर्ल्ड, वन हेल्थ' प्रतिध्वनित होता है, जिसका मतलब है कि पूरी दुनिया एक परिवार है, जहां सब बराबर हैं। रोगी को वित्तीय कठिनाइयों के बिना सस्ती और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा तक समान पहुंच उपलब्ध कराना इसका एक महत्वपूर्ण परिणाम होगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि एकीकृत स्वास्थ्य सेवा पर आधारित चिकित्सा मूल्य यात्रा के माध्यम से दुनिया को जोड़ने से मौजूदा स्वास्थ्य प्रणालियों में असमानताओं को दूर करने में मदद मिलेगी।

यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज के बारे में बात करते हुए सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा कि साक्ष्य आधारित पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों और आधुनिक प्रणाली पर आधारित एकीकृत स्वास्थ्य सेवा की बात करें तो ये गुणवत्ता, दक्षता, हिस्सेदारी, जवाबदेही, टिकाऊपन और मजबूती के जरिए यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज हासिल करने में सहायक होगी। यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज की ये विशेषताएं व्यापक एकीकृत स्वास्थ्य सेवा को डिजाइन करने का फैसला लेने वालों का मार्गदर्शन करने के लिए मूल सिद्धांतों के रूप में भी काम करती हैं।

इस तीन दिवसीय जी-20 स्वास्थ्य कार्य समूह की बैठक के दौरान प्रतिनिधियों ने स्वास्थ्य संबंधी आपात स्थितियों की रोकथाम और तैयारी, दवा क्षेत्र में सहयोग को मजबूत करने और डिजिटल स्वास्थ्य नवाचार और समाधान जैसी स्वास्थ्य प्राथमिकताओं पर चर्चा की। इन प्रतिनिधियों ने दूसरे दिन आयोजित सुबह के योग सत्र में भी भाग लिया और समग्र स्वास्थ्य सेवा वितरण प्रणाली को समझने के लिए केरल के कोवलम में सोमाथीरम आयुर्वेद गांव का दौरा किया।

अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, इटली, इंडोनेशिया, जापान, मैक्सिको, कोरिया, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोपीय संघ सहित जी-20 के सदस्य देशों के प्रतिनिधियों ने इस कार्यक्रम में शिरकत की। इस दौरान विशेष आमंत्रण वाले देशों में बांग्लादेश, मिस्र, मॉरीशस, नाइजीरिया, सिंगापुर, स्पेन, ओमान, नीदरलैंड और संयुक्त अरब अमीरात शुमार थे।

 

Sunday, 5 September 2021

01:55

केरल के कोझीकोड जिले में निपाह वायरस का मामला सामने आया

प्रविष्टि तिथि: 05 SEP 2021

केरल के कोझीकोड जिले में निपाह वायरस का एक मामला सामने आया है जिसमे केरल के कोझीकोड जिले से 3 सितंबर 2021 को एन्सेफलाइटिस और मायोकार्डिटिस के लक्षण के साथ 12 साल के एक लड़के में निपाह वायरस का एक संदिग्ध मामला सामने आया था।

यह वायरस चमगादड़ों की लार से फैलता है। लड़का अस्पताल में भर्ती था और आज सुबह उसकी मौत हो गई।

केंद्र सरकार ने एनसीडीसी की एक टीम को राज्य के लिए रवाना किया है जो आज वहां पहुंच रही है। यह टीम राज्य को तकनीकी सहायता उपलब्ध कराएगी।

केंद्र सरकार द्वारा तत्काल निम्नलिखित सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों की सलाह दी गई है:

 

1. परिवारों, गांवों और समान भौगोलिक क्षेत्र (विशेषकर मलप्पुरम) में सक्रिय मामले की खोज।

2. पिछले 12 दिनों के दौरान सक्रियता से संपर्क (किसी भी संपर्क के लिए) की पहचान।

3. संपर्क में आने वाले लोगों को सख्‍ती से क्वारंटाइन करना और किसी भी संदिग्ध को आइसोलेट करना।

4. प्रयोगशाला परीक्षण के लिए नमूनों का संग्रह और परिवहन।

 

गौरतलब है कि 2018 में भी केरल के कोझीकोड और मलप्पुरम जिलों में निपाह वायरस का प्रकोप हुआ था।

Saturday, 7 November 2020

11:57

केरल की 30 वर्षीय दिव्यांग राजी राधाकृष्णन खुद मास्क बनाकर अपने मेहनत से कर रहीं कोरोना वॉरियर्स की मदद deepak tiwari

केरल की 30 वर्षीय दिव्यांग राजी राधाकृष्णन खुद बनाती हैं मास्क, अपने मेहनत से कर रहीं कोरोना वॉरियर्स की मदद deepak tiwari 
राजी की मां प्रभा एक समाज सेविका हैं जो तिरूवनंतपुरम में 'मदर क्वीन फाउंडेशन' के नाम से दिव्यांग बच्चों के लिए एक एनजीओ का संचालन करती हैं
कुछ महीनों पहले के के शैलजा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर राजी की तारीफ की थी
केरल की 30 वर्षीय दिव्यांग राजी राधाकृष्णन ने लॉकडाउन के कुछ महीनों पहले ही सिलाई सीखी थी। कोरोना काल के दौरान राजी केरल के उन हेल्थ वर्कर्स और पुलिस प्रशासन के लिए मास्क सिल रही हैं जो लोगों की सेवा में लगे हुए हैं। कुछ महीनों पहले के के शैलजा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर राजी की तारीफ की थी। अप्रैल में राजी ने अपनी मां प्रभा उन्नी के साथ मिलकर केरल की स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा को 1000 मास्क सिलकर दिए थे।
प्रभा के अनुसार, राजी को दिव्यांगों के लिए बने विशेष स्कूल में जाना अच्छा नहीं लगता लेकिन पिछले साल नवंबर में वे कुछ दिनों के लिए इस स्कूल में गई थीं। तभी उसने ये मास्क सिलना सीखा। राजी की मां प्रभा एक समाज सेविका हैं जो तिरूवनंतपुरम में 'मदर क्वीन फाउंडेशन' के नाम से दिव्यांग बच्चों के लिए एक एनजीओ का संचालन करती हैं।
प्रभा कहती हैं ''राजी के दिमाग का पूरी तरह विकास नहीं हुआ। इसलिए उसे कोरोना से मची तबाही के बारे में ज्यादा समझ में नहीं आता। फिर भी मुझे इस बात की खुशी है कि उसने मास्क सिलकर कोरोना वॉरियर्स की मदद का प्रयास किया है''।

Tuesday, 6 October 2020

16:20

केरल के इस कपल ने 58 साल की शादीशुदा जिंदगी में पहली बार कराया फोटोशूट जाने क्यों deepak tiwari

केरल के इडुकी राज्य में रहने वाले 85 साल के कंजूट्‌टी और 80 साल की चिनम्मा की शादी को 58 वर्ष हो गए। पिछले 58 वर्ष के दौरान इस कपल का एक भी फोटो साथ में नहीं था। ये बात जब उनके पोते को पता चली तो उसने अपने दादा-दादी के लिए वेडिंग फोटोशूट प्लान किया।
इस कपल का पोता वेडिंग फोटोग्राफर है। उसने इन दोनों की जिन फोटोज को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया, वे वायरल हुई जिसे लोगों को खूब सराहा।
इस कपल के पोते ने इंस्टाग्राम पर लिखा कि जब मुझे अपने दादा-दादी से ये पता चला कि इतनी लंबी मैरिड लाइफ में उनका एक भी फोटो साथ में नहीं है तो मैंने तभी ये तय किया कि मैं इन दोनों का वेडिंग फोटोशूट करूंगा।
कंजूट्‌टी ने फोटो में ब्लैक कलर का सूट पहना है और इसी कलर का सनग्लास लगा रखा है। वहीं चिनम्मा ने सफेद साड़ी पहन रखी है जिसमें वे सुंदर लग रही हैं। इन दोनों के हाथ में फ्लॉवर बकेट है और गले में खूबसूरत सफेद फूलों की माला है। ये वेडिंग कपल जब भी इन फोटोज को देखेंगे तो उनके चेहरे पर मुस्कान जरूर आएगी।

Saturday, 12 September 2020

05:46

इन दिनों चर्चा में है भागीरथी और कार्थयायनी अम्मा जाने क्यों:deepak tiwari

चर्चा में भागीरथी और कार्थयायनी अम्मा:deepak tiwari केरल की 2 बुजुर्ग महिलाएं ऑनलाइन क्लास के जरिये सीख रहीं पढ़ना, 10 वी कक्षा पास करके पूरा करना चाहती हैं पढ़ाई करने का सपना
केरल में कोल्लम की भागीरथी और अलपुझा में कार्थयायनी अम्मा 10 वीं की परीक्षा देने वाली हैं। 10 वी पास करना इनका सपना है और इसे पूरा करने के लिए ये दोनों लैपटॉप और मोबाइल पर ऑनलाइन पढ़ाई कर रही हैं।
इसी साल दोनों को नारी शक्ति पुरस्कार भी मिला है। भागीरथी ने सबसे ज्यादा उम्र में चौथी कक्षा पास करने का खिताब जीता था। चौथी में वे स्टेट टॉपर रहीं थीं। फिलहाल ये दोनों बुजुर्ग महिलाएं ऑनलाइन पढ़ाई को लेकर चर्चा में हैं।
वे ब्लैकबोर्ड या स्लेट पर लिखने के बजाय कम्प्यूटर स्क्रीन पर टाइप करना सीख रही हैं। हालांकि उन्हें मोबाइल चलाना सीखने में भी वक्त लगा, लेकिन लॉकडाउन के वक्त का उपयोग उन्होंने डिजिटल ज्ञान बढ़ाने में बिताया।
भागीरथी अम्मा हमेशा ही पढ़ना चाहती थीं लेकिन बचपन में ही उनकी मां के न रहने की वजह से उन्हें अपना ये सपना छोड़ना पड़ा। मां के गुजर जाने के बाद भाई-बहनों की देखरेख की जिम्मेदारी उन पर आ गई थी। तब से अपनी जिम्मेदारियां पूरी करते हुए उन्हें पढ़ाई करने का कभी मौका नहीं मिला।
जब उन्हें पढ़ने का मौका मिला तो वे एक दिन भी बेकार गंवाना नहीं चाहतीं। वे फिलहाल अपनी ऑनलाइन क्लासेस पर ध्यान दे रहीं हैं। स्कूल बंद होने की वजह से उनके पोता-पोती भी घर में हैं जो पढ़ाई के साथ-साथ दिनभर मस्ती करते रहते हैं। इसलिए वे अपनी इंस्ट्रक्टर शर्ली के साथ सुबह और शाम कमरे का दरवाजा बंद कर पढ़ाई करती हैं ताकि पढ़ते समय बच्चे उन्हें तंग न करें।
कार्थयायनी अम्मा आजकल अपना अधिकांश समय लैपटॉप के सामने बिता रही हैं। लैपटॉप पर वे अपनी पढ़ाई के साथ-साथ साक्षरता मिशन से जुड़े यू ट्यूब चैनल 'अक्षरम' को भी देखती हैं। इस चैनल पर पहले से रिकॉर्ड किए गए क्लासरूम के वीडियोज प्रसारित होते हैं। इसकी मदद से वे अपने लिए नोट्स तैयार करती हैं।