Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label दातागंज. Show all posts
Showing posts with label दातागंज. Show all posts

Monday, 5 October 2020

08:45

शोषितों पीड़ितों किसानों व्यापारियों की समस्याओं को लेकर गांव-गांव चलेगा हस्ताक्षर अभियान

दातागंज। विधानसभा क्षेत्र में कोरोना काल से गरीब,किसान,व्यापारियों, मजदूर,पीड़ितों,शोषितों की मदद के लिए हम हैं की मुहिम चलाने वाले क्षेत्र के कद्दाबर किसान नेता डा. शैलेश पाठक अब इन सभी लोगों की 12 सूत्रीय समस्याओं के निराकरण को जनसमर्थन जुटाने के लिए छह अक्टूबर से गांव-गांव हस्ताक्षर अभियान शुरु कर रहे हैं। वह हस्ताक्षर अभियान के दौरान विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक गांव में जाएंगे और चौपाल लगा कर समस्याओं को समझेंगे। अभियान समाप्ति के बाद समूचे विधानसभा क्षेत्र के हस्ताक्षरों समेत सभी समस्याओं को राज्यपाल को भेजेंगे। शासन स्तर से इनके निराकरण का प्रयास शुरु करेंगे। 
डा. शैलेश पाठक ने आज अपने आवास पर प्रेस वार्ता के दौरान मीडिया को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में जनता की समस्याओं को उनके बीच जाकर नजदीकी से महसूस किया। कोरोना काल में संकट में फंसी जनता,किसान,व्यापारी,प्रवासी मजदूर समेत सभी लोगों की भोजन,प्रवास,यात्रा,विवाह,आर्थिक सभी तरह से मदद की। उसी दौरान हम हैं की मुहिम शुरु की। यह मुहिम अब भी जारी है। इसी मुहिम के तहत अब छह अक्टूबर से समूचे विधानसभा क्षेत्र में हस्ताक्षर अभियान शुरु कर रहे हैं। 
उन्होंने बताया कि 12 समस्याओं के निराकरण के लिए जनसमर्थन जुटाने को हस्ताक्षर अभियान शुरु किया जा रहा है। इसमें बिजली बिल माफ,बिजली दरें कम करने, किसान उत्पीड़न बंद, कर्जा माफी, मनरेगा में प्रत्येक ग्रामीण को काम, प्रवासी मजदूरों को राहत, आशा बहनों, एंबुलेंस कर्मियों को कोरोना योद्धा का दर्जा देकर बीमा राशि चिकित्सकों के समान करने, युवाओं को रोजगार, शोषितों,पीड़ितों, व्यापारियों, ठेले,फड,दिहाड़ी मजदूर, रिक्शा चालकों आदि समस्याएं शामिल हैं।      
उन्होंने बताया कि हस्ताक्षर अभियान के दौरान वह खुद भी प्रत्येक गांव जाएंगे। गांव-गांव जाकर चौपाल लगा कर जनसमस्याओं को नजदीक से समझेंगे और उनके निराकरण पर भी चर्चा करेंगे। विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक गांव में हस्ताक्षर अभियान पूर्ण होने पर वह इस क्षेत्र की समस्याओं, दिक्कतों और उनकी भावनाओं से प्रदेश के राज्यपाल को हस्ताक्षरों के प्रपत्र समेत अवगत कराएंगे। वह हस्ताक्षर अभियान के दौरान बताई गई समस्याओं के निराकरण के लिए शासन-प्रशासन स्तर युद्ध स्तर पर प्रयास शुरु करेंगे। जिससे क्षेत्र के लोगों को राहत मिल सके।