Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label सिंगरौली. Show all posts
Showing posts with label सिंगरौली. Show all posts

Thursday, 2 April 2020

19:04

एनसीएल की कृति महिला मण्डल ने बाँटी मास्क और रसद सामाग्री



 सिंगरौली एनसीएल की  कृति महिला मण्डल ने गुरुवार  को  ‘ज्ञान ज्योति’ के अंतर्गत ग्राम पंचायत बिरकुनिया से जुड़े  बच्चों में रसद सामग्री एवं मास्क का वितरण कराया l  रसद सामग्री के प्रत्येक पैकेट में 5 kg चावल, 5kg.  आटा 1kg. दाल, 1kg.  नमक ,1/2 लीटर तेल ,2kg.  आलू ,1kg. प्याज़ ,50gm हल्दी और  50gm मसाला शामिल था l इस अवसर पर बच्चों एवं उपस्थित परिजनों को कोरोना वायरस जनित समस्या एवं बचाव हेतु ज़रूरी उपायों के बारे में जानकारी भी दी गयी l

गौरतलब है कि  कृति महिला मण्डल ने अपने प्रयास  ‘ज्ञान ज्योति’ के अंतर्गत ग्राम पंचायत बिरकुनिया में एक से पाँचवी कक्षा के ऐसे  बच्चे जो किसी न किसी कारण से अपनी पढ़ाई जारी नहीं रख पाये , की पढ़ने की व्यवस्था एनसीएल निर्मित बिरकुनिया  सामुदायिक केंद्र में की है ताकि एक बार पुनः इन्हें पढ़ाई की मुख्य  धारा से जोड़ा जा सके  l

फ़िलहाल कोरोना वायरस जनित समस्या के वजह से अभी बच्चों को पढ़ाया नही जा रहा है l  इन्हीं बच्चों व इनके परिजनों के बीच में सरपंच बिरकुनिया के माध्यम से उक्त सामानों का वितरण कराया  गया l

Tuesday, 31 March 2020

07:27

रिलायंस के कोल माइंस में हुआ बड़ा हादशा




  DINESH PANDEY (journalist)
     
सिंगरौली:-- रिलायंस के सासन पॉवर लिमिटेड कोल ब्लॉक अमलोरी एण्ड मुहेर के सीएचपी कन्वेयर बेल्ट में फंसने से काम के दौरान मजदूर ऑपरेटर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।घटना सोमवार की सुबह लगभग 5:बजे की है।बताते है कि सीएचपी TH-2 के  कन्वेयर बेल्ट रोलर में फसने से  मजदूर की मौत हो गई,रोलर में फसे हुये शव को काफी मशक्कत से निकाला गया। घटना के बाद पावर प्लांट में काम करने वाले सैकड़ों मजदूर व परिजन मुआवजा की मांग को ले कर अड़े रहे स्थानीय प्रसाशन के समझाईस व कड़ी मशक्कत के बाद स्थिति नियंत्रण में आई।

*इस तरह घटी घटना*

-बताया जाता है कि रिलायंस कोल ब्लॉक अमलोरी के सीएचपी में वार्षिक रख रखाव का काम करने वाली कंपनी स्टार वेंडम में कोतवाली क्षेत्र के कचनी गाँव निवासी मुकेश कुशवाहा पिता सीताराम कुशवाहा सीएचपी TH02 नंबर बंकर के कोयला के कन्वेयर बेल्ट में ऑपरेटर का काम कर रहा था। काम के दौरान सोमवार सुबह लगभग 5:बजे बेल्ट में फंसे किसी धातु को निकाल रहा था। इसी दरम्यान कन्वेयर बेल्ट चालू हो गया जिसमें कार्य में लगा आपरेटर मुकेश बेल्ट के साथ घिसटता हुआ बेल्ट के नीचे जाकर रोलर में फंस गया,जिसकी कार्यस्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई।

वार्ता के बाद उठाया मृतक का गया शव

मृतक मजबूर के आश्रित को मुआवजा तथा आश्रित के  नियोजन को लेकर कोल माइंस में काफी देर तक पुलिस प्रशासन, कंपनी व परिजनों के बीच सकारात्मक वार्ता चली वार्ता होने के बाद सीएचपी से शव को उठाया गया।वार्ता के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक प्रदीप सेंडे, कोतवाली टीआई अरुण पाण्डेय, विध्यनगर टीआई राघनेन्द्र दुवेदी,बरगवां टीआई मनीष त्रिपाठी, लंघाडोल थाना के टीआई यू.पी.सिंह आरआई आशीष तिवारी व कंपनी प्रबंधन  मौजूद रहे इस बीच तय हुआ कि मृतक के आश्रित को उसके योग्यतानुसार संविदा कंपनी में रोजगार दिलाया जायेगा तथा उन्होंने यह स्पष्ट किया कि उसके रोजगार की निरंतरता लगातार बनी रहेगी।कंपनी की ओर से आश्रित को 50 हजार रुपए नगद व दो 2 लाख 75 हजार,1लाख 75 हजार का दो चेक प्रदान किया गया।यानी कंपनी के तरफ से टोटल पांच लाख रुपये परिजनों को बतौर मुआवजा दिया गया।

कोल ब्लॉक में सेफ्टी के नियमों का नही होता अनुपालन

रिलायंस के सासन पॉवर लिमिटेड कोल ब्लॉक अमलोरी के खदान में कार्य कर रही संविदा कंपनियों में सेफ्टी नियमों का अनुपालन नही होता है।माइंस का सेफ्टी बिभाग मूकदर्शक बना हुआ है।रिलायंस कोल माइंस में सीएचपी के वार्षिक रखरखाव साफसफाई का काम करने वाली कंपनी स्टार वेंडम सहित अन्य कंपनियों के कामों में प्रावधान के तहत एक इंजीनियर का कार्यस्थल पर होना जरूरी होता है और उसी के सुपरविजन में कंपनियों को काम करना होता है परंतु यहाँ ऐसा नही होता, अगर उक्त संविदा कंपनी के साइट पर कोई इंजीनियर मौजूद होकर अपने सुपरविजन में काम करवाता तो शायद मजदूर मुकेश कुशवाहा की मौत नही होती।

Monday, 30 March 2020

07:19

सिंगरौली कोरोना वायरस के चलते, देश को प्रधान मंत्री के लॉक डाउन के आदेश का मजाक बना रही एनसीएल की आउटसोर्सिंग कंपनियां।



पढ़े,के सी शर्मा की एक खास रिपोर्ट


सिंगरौली/सोमभद्र जिले की एनसीएल मे आउटसोर्सिंग का कार्य कर रही कंपनियां क्यो नही कर रही प्रशासन के आदेश का पालन और जिला प्रशासन एवं प्रवंधन मौन क्यो?
आखिरकार जिम्मेदार जिला प्रशासन इन कंपनियों पर इतना मेहरवान क्यों है?,

जैसा कि महा प्रचंड रूप धारण किये कोरोना वायरस की गंभीरता को देखते हुए देश के प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हुए सम्पूर्ण देश में लॉक डाउन का आवाह्न किया है। जिसमे मात्र मेडिकल सुविधायें, गैस एजेंसी, डीजल पेट्रोल पंप, किराने की दुकान,सब्जी, फल की दुकान, दूध की सुविधा, ओ भी सीमित समय 12 बजे से 04 बजे तक के लिए इसके अलावा सारे प्रोडक्सन बैन किया है,कोई भी अपने घरों से बाहर नही निकलने का आदेश जारी किया है इसके बावजूद  जिला प्रशासन के नियमों की धज्जियाँ आउटसोर्सिंग की कंपनियां उड़ा रही है।
जिला प्रशासन के द्वारा कहाँ गया है कि सीमित कर्मचारियों मे खदान चलाये लेकिन इनके द्वारा प्रशासन के नियमों को तार- तार करते हुए पुरे कर्मचारियों को बुलाकर कार्य कराया जा रहा है लॉक डाउन के पूर्व जितने कर्मचारी कार्य कर रहे थे आज भी उतने ही कर्मचारियों से कार्य करवाया जा रहा है।
अगर प्रशासन को इनकी करतूत देखनी हो तो शिफ्टिंग समय एवं मेंटिनेंस समय देख सकते है कि कितना नियमो का पालन हो रहा है।
इन कंपनियों के द्वारा अपने फायदे के लिए लोगो की जान से ऐसा खिलवाड़ किया जा रहा है जैसे मानो कोरोना वायरस जैसी महामारी का कोई डर ही न हो।आखिर आउटसोर्सिंग कंपनियां क्यो मौत का सौदागर बनने की सोच रही है?
प्रशासन की छूट का कही न कही नाजायज फायदा उठा रही है ?
  आखिरकार भोले-भाले मजदूरों का जीवन इतना सस्ता कैसे होगया, कौन बतायेगा ?

जहां देश के हर कोनों में अगर कोई गरीब घर से बाहर निकलता है तो उसे पुलिस प्रशासन द्वारा मार कर घर के अंदर भेज दिया जाता रहा है | वही आउटसोर्सिंग कंपनियों में  मजदूरों को शिप्ट बस के सहारे  कम्पनी के अंदर जाने से क्यों नही रोका जाता है जिसमे कई मजदूर एक साथ जाते है?
 यह एक महत्वपूर्ण सवाल विचारणीय है?
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कंपनी प्रबंधन द्वारा कहा गया है कि अगर कोई मजदूर कार्य पर नही आएगा तो उसका पैसा तो मिलेगा तो है ही नही उसको काम से भी निकाल दिया जायेगा।
ऐसे मे कैसे होगा लॉक डाउन का पालन या प्रधानमंत्री मंत्री के लॉक डाउन को आउटसोर्सिंग की कंपनियां खत्म करने मे लगी नही लगती  है?
इन कंपनियों के द्वारा कुछ सीमित  मजदूरों को मास्क बाटकर और मजदूरों को बिना मास्क बाटे ही कार्य करवाया जा रहा है।साथ ही ए भी कहा गया है कि अगर किसी से कंपनी के बारे मे शिकायत की तो काम से निकाल देंगे और फिर कभी नही रखेंगे,तो क्या यह धमकी नही है क्या?

यदिआउटसोर्सिंग कंपनियों की तानाशाही से अगर क्षेत्र में कोरोना वायरस किसी को हुआ तो उसका जिम्मेदार कौन, होगा यह एक गम्भीर सवाल जिम्मेदारों के समक्ष खड़ा है₹

Sunday, 29 March 2020

18:28

लॉकडाउन के दौरान "एनसीएल परिवार" ने असहाय एवं ग़रीबों की मदद के लिए बढ़ाया हाथ



सिंगरौली लॉकडाउन के दौरान "एनसीएल परिवार" ने  असहाय एवं ग़रीबों की मदद के लिए बढ़ाया हाथ
 आज ज़ब  राष्ट्र कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ निर्णायक जंग लड़ रहा है, इस विषम एवं चुनौती पूर्ण समय में कोल इंडिया की अनुषंगी कम्पनी एनसीएल  ‘मानवीय संवेदना के साथ राष्ट्र की ऊर्जा संरक्षा को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से अनवरत प्रयत्नशील है l

लॉकडाउन के दौरान एनसीएल परिवार असहाय एवं ग़रीबों की मदद के लिए लगातार प्रयास  कर रहा  है l साथ ही एनसीएल ज़िला प्रशासन को भी इस मुहिम में हर सम्भव सहयोग कर रही है l
*एनसीएल ब्लाक -बी की मुहिम* :
 ब्लॉक बी क्षेत्र में सामाजिक निगमित दायित्व के अंतर्गत दिन शनिवार  को सेमुआर  पंचायत के अंतर्गत महदेइया रेलवे स्टेशन के पास रह रहे दिहाड़ी मजदूर परिवारों को 10 किलो गेहूं, 5 किलो चावल व दो किलो दाल का वितरण किया गया |इस दौरान करीब 60 परिवारों की सहायता की गयी |

*एनसीएल अमलोरी की मुहिम* :
अमलोरी क्षेत्र द्वारा  सामाजिक निगमित दायित्व  के  अंतर्गत आस-पास के क्षेत्र में वार्ड 25 मे 150 नग, वार्ड 26 मे 120 नग, वार्ड 28 मे 150 नग एवं एनसीएल पुनर्वास क्षेत्र ग्राम नन्दगाँव मे 100 नग मास्क वितरित किये  गए  । साथ ही साथ एनसीएल अमलोरी परियोजना के द्वारा सीएसआर के अंतर्गत "कौशल विकास उन्नयन योजना" के तहत प्रशिक्षित 200 ग्रामीण महिलाओं द्वारा निर्मित 1000 नग (एक हजार नग) मास्क  रु. 15.00 प्रति मास्क के दर से क्षेत्रीय ग्रामीणों में वितरित करने  के उद्देश्य से क्रय किया गया है जिनको  आस पास के क्षेत्र में बाँटा   जा रहा है |


*एनसीएल बीना की मुहिम* :

एन सी एल बिना की टीम के द्वारा समीपवर्ती गांव बरवानी के प्रधान को 300 मास्क सौंपे गए |
बीना प्रबंधन जिला  प्रशासन को भी इस मुहिम में हर सम्भव सहयोग कर रहा है ,  इसी कड़ी में बीना क्षेत्र ने सोनभद्र ज़िला प्रशासन द्वारा स्थापित पब्लिक पुलिस अन्नपूर्णा बैंक को 500 पैकेट खाद्य सामग्री सौंपी ।

Thursday, 26 March 2020

18:40

कोरोना को लेकर म. प्र. संयुक्त श्रमजीवी पत्रकार महासंघ के प्रांतीय अध्यक्ष रामलखन गुप्ता की अपील




कोरोना एक महामारी के रूप में इस देश में व्याप्त हो गया है,ऐसे समय में आवश्यक जीवन रक्षक वस्तुओं के साथ ही लोगों को अफवाह से दूर रहने की जरूरत है।इस समय सारा देश लाकडाउन  की स्थिति में है। राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय एवं प्रादेशिक खबरें तो प्रमाणित चैनल के माध्यम से लोगों तक पहुंच रही है किंतु ग्रामीण अंचल में कस्बाई अंचल में एवं जिला स्तर की खबरें लोगों तक प्रमाणित एवं सही ढंग से पहुंचे उसके लिए एकमात्र प्रमाणित सहारा है समाचार पत्र एवं स्थानीय प्रमाणित चैनल । समाचार पत्र के माध्यम से लोगों के पास तक शासन प्रशासन की सूचना/ अपील एवं शासन प्रशासन के पास तक जनता की समस्याएं पहुंचे ।और ऐसे समय में  संवाद सेतु का काम  पत्रकार बंधु एवं समाचार पत्रों के वितरक कर रहे हैं ।उनके कामों में यदि रोक लगाई जाती है तो सत्यता से परे अफवाहों का प्रभाव बढ़ेगा,और जनता में अफरा-तफरी का माहौल निर्मित होगा । समाचार पत्र जगत से जुड़े  सभी लोग प्रिंट मीडिया , इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एवं सोशल मीडिया ऐसे समय में सत्य प्रमाणित एवं परखी हुई बातों का ही प्रसारण कर रहे हैं। लेकिन यह बात जनता तक सही समय पर कैसे पहुंचे,इसके लिए प्रशासन का भी पूर्ण सहयोग अपेक्षित है। विशेष तौर पर समाचार पत्रों के वितरण के लिए जो हाकर एवं उससे लगे कर्मचारी हैं उन्हें अखबार वितरण में कोई असुविधा न हो,इसके लिए प्रशासन से अपेक्षा है कि वह सुरक्षा में लगे प्रशासनिक अधिकारियों को ऐसा निर्देश जारी करें कि समाचार पत्रों का वितरण एवं समाचार संकलन में किसी तरह की कोई बाधा उत्पन्न ना हो सके। यदि संकट के दौर पर सही समाचार, सही सूचना, सही व्यक्ति तक सही समय पर पहुंचा दिया जाएगा तो निश्चित रूप से महामारी के नाम पर झूठी अफवाहों को रोकने में एक कारगर कदम होगा । इसके लिए सभी लोगों एवं प्रशासन से सहयोग सादर अपेक्षित है।
 *रामलखन गुप्त*
प्रांताध्यक्ष
संयुक्त श्रमजीवी पत्रकार महासंघ मध्य प्रदेश इकाई
09:55

जनता कर्फ्यू का ब्यापक असर शहर की दुकाने रही बंद, सड़कों पर पसरा सन्नाटा


   DINESH PANDEY (journalist)
       ------------------------------
*सिंगरौली:--* कोरोना को लेकर जनता कर्फ्यू का असर पूरे जिले में दिखाई दिया। ऐसी बंदी लोगों ने शायद पहले कभी नहीं देखी होगी। लोग घरों में कैद रहे और पुलिस व स्वास्थ्य महकमे की गाड़ियां ही सड़कों पर नजर आ रही थी। इक्का-दुक्का आम जनता जिसे जरूरी काम था वही अपने साधनों से सड़क नजर आया।स्थिति को देखते हुये जिले के जिम्मेदार अधिकारी भी दिन भर शहर व ग्रामीणांचलों का चक्रमण कर माहौल पर नजर रखे हुए थे।शहर का सबसे भीड़भाड़ वाला क्षेत्र व मुख्य चौक पूरी तरह से बंद था।पुलिस के जवानों के अलावा कुछ भी नजर नहीं आ रहा था।दुकानें पूरी तरह से शटडाउन थी।कोतवाली छेत्र के अम्बेडकर चौक से तुलसी मार्ग,काली मंदिर रोड पुरानी सब्जीमंडी व मस्जिद चौक, तथा राजीव चौक से इंदिरा चौक नवजीवन बिहार व सासन चौकी छेत्र के शिवपहरी तथा विन्ध्यनगर,नवानगर, जयंत,मोरवा,बरगवां थाना क्षेत्र की सभी दुकाने बंद रही व सड़को पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा । जिला मुख्यालय के आसपास तिराहे पर सुबह के वक्त जरूर कुछ लोग सड़क पर आये,जिन्हें पुलिस के जवानों ने घर भेज दिया।इस क्षेत्र में गलियों पर भी लोग इधर-उधर बैठे हुए थे, जो पुलिस के जवानों के पहुंचने पर घरों में दुबक गए।वही बरगवां पुलिस आने जाने वाले लोगों पर कड़ी नजर रखे रही तथा बरगवां बाजार में बंदी का जबरदस्त व्यापक असर रहा। शहर का कोई भी इलाका ऐसा नहीं था जहां जनता कर्फ्यू का असर देखने को नहीं मिला हो। कोरोना को लेकर पीएम मोदी के आह्वान के साथ ही लोग अपनी स्वेच्छा से भी इस वैश्विक समस्या से निजात पाने हेतु अपने आप को घरों के अंदर पैक रहना ही  मुनासिब समझा।

*मंदिर, मस्जिद, चर्च और गुरुद्वारे भी रहे बंद*
        -----------------------------
जनता कर्फ्यू के समर्थन में सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों पर भी बंदी नजर आई। शहर के मुख्य जगहों पर स्थित देवी देवताओं के मंदिर का कपाट दिन भर बंद रहे।मस्जिद में भी सुबह से साम तक आने-जाने पर प्रतिबंध नजर आया।चर्च व गुरूद्वारों के दरवाजे भी जनता कर्फ्यू के समर्थन में बंद रहे।कर्फ्यू के दौरान जिले के आलाधिकारी शहर के साथ साथ सीमांचल इलाके पर भी कड़ी नजर बनाये हुये थे।

*अस्पताल पर भी पसरा सन्नाटा*
         -------------------------
जनता कर्फ्यू को लेकर इधर जिला अस्पताल पर भी सन्नाटा नजर आया।अस्पतालो पर जो मरीज भर्ती थे वे वार्डो के अंदर ही थे और उनके साथ रहने वाले भी अस्पताल के अंदर बैठे नजर आए।अस्पतालो की इमरजेंसी में भी इक्का दुक्का मरीज ही इलाज के लिए पहुचे अस्पतालो में डॉक्टरो व कर्मचारियों की टीम चौकन्नी नजर आयी।
06:47

देश का हर बल्ब जलता रहे, इसलिए खदानों में तैनात हैं एनसीएल कर्मी



मध्यप्रदेश राज्य के सुदूर पूर्व स्थित सिंगरौली जिला जो देश के एक बड़े हिस्से को अपनी बिजली से रौशन करता हैं। ऊर्जा राजधानी के नाम से मशहूर सिंगरौली में हजारों मेगावाट बिजली बनती हैं जिसके लिए निर्बाध कोयला सप्लाई की ज़िम्मेदारी विश्व की सबसे बड़ी कोयला कंपनी की अनुषंगी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के कंधों पर हैं । जिसके लगभग 15 हजार कर्मी दिन रात एक करके देश की ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं ।

इस समय जब विश्व एक कोरोना वायरस (कोविड 19) की महामारी से गुजर रहा हैं ऐसे दौर में एनसीएल की निगाही खदान के ईस्ट सेक्शन में तैनात शोवेल आपरेटर श्री सुशांतो गोस्वामी हैं, जो कोरोनो वायरस से उत्पन्न स्थिति के बावजूद बाक़ी कोल कर्मियों की तरह राष्ट्र की ऊर्जा सुरक्षा के लिए इस आपदा की स्थिति में भी बिजली की आबाध आपूर्ति हेतु एक योद्धा की तरह काम करे रहें हैl

श्री सुशांतो की तरह की एनसीएल 10 खुली खदानों से कोयला आपूर्ति सुनिश्चित करने के के लिए हजारों कर्मी दिन रात अपनी परवाह किए बगैर कार्यस्थल पर डटे हुए हैं ताकि देश अंधेरे में न डूबे...

चाहे वो अस्पतालों में डॉक्टर हो या मेडिकल स्टाफ, सुरक्षा से लेकर पानी आपूर्ति करने वाले सभी के इस जज्बे को सलाम ....

Wednesday, 25 March 2020

22:24

आउटसोर्सिंग कंपनियां लोगो की जान से कर रही खिलवाड़ इन्हें नही है कोरोना वायरस का डर



आउटसोर्सिंग कंपनियां लोगो की जान से कर रही खिलवाड़
 इन्हें नही है कोरोना वायरस का डर

*प्रधानमंत्री के आदेश की उड़ा रही है धज्जियां प्रसाशन बना मूकदर्शक*

एक ओर जहाँ पुरा भारत देश के साथ साथ पुरा विश्व कोरोना वायरस जैसी महामारी से लड़ रहा है अपने देश के लोगो की जान बचाने मे हर तरह से प्रयास कर रहा है वही एनसीएल मे आउटसोर्सिंग का कार्य कर रही कंपनियां अपने फायदे के लिए ऐसे लोगो के जान के साथ खिलवाड़ कर रही जैसे इनको इस महामारी के बारे मे कुछ पता ही ना हो।एक ओर जहाँ देश के प्रधानमंत्री ने नरेन्द्र मोदी ने पुरे देश मे एक साथ लॉकडाउन का आदेश दिया है और अपने घर मे रहने को कहा है कि जिससे लोगो को इस महामारी से दुर रखा जाए।लेकिन आउटसोर्सिंग कंपनियां बीजीआर,वीपीआर, डीबीएल, आदि कई कंपनियां जो एक शिफ्ट बस मे 50 से 60 आदमी बैठाकर ले जा रही हैऔर अपना कार्य करवा रही।जबकि इनको ए भी नही मालूम कि कम से कम एक मीटर की दुरी होनी चाहिए।

*कंपनी वालो पर प्रशासन मेहरबान*

एनसीएल मे कार्य कर रही आउटसोर्सिंग कंपनियों पर सिंगरौली प्रशासन मेहरबान है, क्योंकि एक ओर जहां आम आदमी के साथ सख्ती एवं कड़ाई बरती जा रही है वही इन कंपनियों पर प्रशासन मौन बना है जैसे कुछ दिखाई ही न देता हो।

*फायदे के चक्कर मे हो सकता है बड़ा हादसा*

आउटसोर्सिंग कंपनियां अपने फायदे के लिए लगातार अपना कार्य करवा रही मजदूर भी इसी कारणवश ड्यूटी पर जाने को मजबूर हो जाते है अगर यही हॉल रहा तो कोरोना वायरस जैसी महामारी को सिंगरौली मे फैलते देर नही लगेगा।
मजदूरों के परिवार वालो ने प्रशासन से गुहार लगायी है कि जल्द से जल्द आउटसोर्सिंग कंपनियों को बंद कर लॉक डाउन किया जाये।

*प्रशासन के आदेश का नही कर रही पालन*

सिंगरौली जिले की एनसीएल मे  आउटसोर्सिंग का कार्य कर रही कंपनियों को आदेश है कि सीमित आदमियों मे ही खदान चलाये पर इनको प्रशासन के आदेश की कोई परवाह नही है, लोगो की जान से खिलवाड़ कर रही है।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इन कंपनियों के अधिकारियों द्वारा कर्मचारियों को कहा जाता है कि की अगर कार्य पर नही आये तो पैसा तो नही मिलेगा साथ ही ड्यूटी भी बन्द कर दी जाएगी।लगभग प्रतिदिन 1000 लोगो बुलाकर कार्य करवा रही है।

Monday, 23 March 2020

06:40

जनता कर्फ्यू बाजार बंद व सड़को पर पसरा रहा सन्नाटा





सिंगरौली-

    घोषित  वैश्विक महामारी नोबल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आह्वांवित जनता  कर्फ्यू  का देश के साथ सिंगरौली जिले में भी बंद का  शत-  प्रतिशत असर दिखा। पूरे दिन अपने घर के कमरों में रहकर  जनता कर्फ्यू का सिंगरौली वासियो ने पूरा समर्थन किया। इस दौरान जिले की गलयों व सड़को पर जहाँ सन्नाटा पसरा रहा वहीं पुलिस टीम पूरे दिन गस्त कर जनता को घर के अंदर रहने अलाउंस करती रही। दूसरी तरफ  डॉक्टर , नर्स व अन्य स्वास्थ्य कर्मी जिला क्षेत्र के तमाम चिकित्सालयो में ड्यूटी पर पूरी तन्मयता से डटे रहें।


   गौरतलब है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाने के लिए  देश के प्रधानमंत्री श्री मोदी ने लोगों से रविवार *सुबह 7 बजे से रात 9 बजे* तक *'जनता कर्फ्यू'* का हिस्सा बनने का आह्वान व अनुरोध किया था। प्रधानमंत्री की अपील का मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले  में इसका शत प्रतिशत  असर रहा।
*जनता कर्फ़्यू * के दौरान वै ढ़ न , विन्ध्यनगर, जयंत, मोरवा, झिंगुरदा, बरगवां, चितरंगी, गढ़वा, देवसर, सरई, माडा, लंघाडोल , मकरोहर, सासन , निगरी, निवास आदि पूरे जिले के  ग्रामीण व शहर की गलियो व सडको पर सन्नाटा पसरा रहा।
बंद के आह्वान पर लोगों ने बढ़ चढ़कर सहयोग किया। इस दौरान व्यवसायी  *सुबह 7 बजे से ही अपनी दुकानें बंद कर घर में दुबके रहे।* जिस कारण सुबह से ही मुख्य बाजार समेत चहल-पहल वाले सभी इलाकों में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। हर तरफ सड़कें वीरान रहीं, कहीं-कहीं पर इक्का-दुक्का लोग आवश्यक सामग्री की खरीदारी हेतु निकलते दिखे। इस दौरान *नगर निगम अमले द्वारा दिन भर जगह-जगह लाउडस्पीकर से अनाउंसमेंट* कर जनता कर्फ्यू में सहयोग करने की अपील के साथ कोरोना वायरस से बचने के लिए सावधानी बरतने की अपील की जाती रही।

*पुलिस टीम पूरे दिन लगाती रही गस्त*
जनता कर्फ्यू  को सफल बनाने  *पुलिस अधीक्षक टी के विद्यार्थी* के निर्देशन व ए एसपी प्रदीप शेंडे के मार्गदर्शन में वै ढ़ न टी आई अरुण पाण्डेय, बरगवां टी आई मनीष त्रिपाठी , मोरवा टी आई  नागेंद्र प्रताप सिंह, लंघाडोल टी आई यू पी सिंह सहित नवानगर, माडा आदि थाना के टी आई  दल-  बल के साथ क्षेत्र के भ्रमण पर डटे रहे और लोगों को कोरोना वायरस से बचने समझाइस देते रहे।

*सीमाएं रही सील*
कलेक्टर केवीएस चौधरी के निर्देश पर मध्यप्रदेश- उत्तरप्रदेश व छत्तीसगढ़ की  सीमाएं पूरी तरह से सील रही। कर्फ्यू के दौरान बस,ऑटो, ट्रेन आदि सभी तरह के  परिवहन वाहन बंद रहे। बार्डर पर बेरिकेट्स लगा कर अन्यत्र राज्य के लोगों को वापस भेजा गया और बाहर से अपने राज्य व जिले में आ रहे लोगो के हाथ पर होम का निशान बनाया गया। बसों पर अग्रिम आदेश तक पहले ही रोक लगा दी गई थी। पीएम के आह्वान अनुसार जिले की  जनता ने उनकी  सुरक्षा में लगे पुलिस,  सस्वास्थ्य विभाग व अन्य जिम्मेदारों का शंख, ताली व थाली बजा कर शायं 5 बजे अभिवादन व आभार जताया।

Friday, 20 March 2020

17:00

मेडिकल कॉलेज स्वीकृत होना क्षेत्र की जनता की बड़ी जीत --अमित द्विवेदी



 सिंगरौली जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा जिले की जनता की बहुत बड़ी जीत है  सिंगरौली क्षेत्र की जनता के मंशा के अनुरूप उक्त मांग को लगातार अमित द्विवेदी प्रदेश सचिव मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा प्रदेश स्तर व देश तक पहुंचाने का प्रयाश किया जाता रहा है 8 मार्च  2019 में आए तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी सिंगरौली भ्रमण के दौरान सिंगरौली में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की मांग पत्र सौंपा गया था श्री द्विवेदी ने कहा कि सिंगरौली जिला देश में नहीं बल्कि विश्व स्तर में भी विद्युत उत्पादन एवं कोयला उत्पादन के क्षेत्र में अपना अग्रणी स्थान स्थापित किया हुआ है क्षेत्र में बढ़ते औद्योगिक प्रदूषण एवं स्वास्थ्य सुविधा की कमी विगत 20 वर्षों से महसूस की जा रही थी सिंगरौली की जनता की आवाज जैसे प्रमुख समस्या जिसमे मेडिकल कॉलेज खोलने हेतु प्रदेश स्तर पर कई पत्र तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ, चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ विजयलक्ष्मी साधो, पीडब्ल्यूडी व पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, प्रभारी मंत्री प्रदीप जयसवाल ,पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल, सांसद सीधी सिंगरौली श्रीमती रीति पाठक , पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल भैया एवम सिंगरौली जिले के कलेक्टर सहित कई प्रमुख लोगों को आवश्यक समस्या से अवगत कराकर सिंगरौली में मेडिकल कॉलेज खोलने हेतु लगातार प्रयाश व अनुरोध किया है उक्त संबंध में की गई मांग को आवश्यक मानते हुये तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा प्रमुख सचिव स्वास्थ्य सेवा मध्य प्रदेश शासन भोपाल एवम कलेक्टर सिंगरौली को तत्काल जमीन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे जिस पर जिला कलेक्टर सिंगरौली ने सिंगरौली में नौगढ़ में 25 एकड़ जमीन आरक्षित करने की त्वरित कार्यवाही प्रारंभ कर दी ,सिंगरौली की प्रमुख समस्या को देखते हुए मध्यप्रदेश शासन व केंद्र सरकार ने आवश्यक समझते हुए सिंगरौली को मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति मिल गई है प्रदेश सचिव अमित द्विवेदी द्वारा सिंगरौली की प्रमुख मांग जैसे सिंगरौली क्षेत्र के विस्थापितों को मुआवजा व रोजगार, मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज ,सिंगरौली में हवाई पट्टी, परसोना से बाईपास रिंग रोड बनाए जाने, सर्व सुविधा युक्त इंडोर स्टेडियम, बरगवां से परसोना रजमिलान 04 लाइन सड़क , तेलदह(गड़ेरिया) से कसर पहुंच मार्ग ,हर्रईया बुधेला खुटार पहुंच मार्ग, खुटार से सहोखर होकर बिहरा पहुंच मार्ग ,बैढ़न जिला मुख्यालय को रेल मार्ग से जोड़ने हेतु, नगर निगम क्षेत्र में 03 सड़क मार्ग, स्टेडियम चौक बैढन से राज कमल होटल तक तथा अंबेडकर चौक तक फ्लाईओवर बनाए जाने हेतु निर्माण की मांग लगातार की जाटी रही हैं मुझे उम्मीद है कि क्षेत्र के विकास के लिए चाहे जो भी सरकार रहे, जनहित में इन मुद्दों को पूरा कराने के लिए अपनी पूरी भूमिका निभानी चाहिए

Saturday, 14 March 2020

16:48

केन्द्रीय अस्पताल, सिंगरौली ने कोरोना वायरस पर किया जागरूकता कार्यक्रम



नॉर्दन कोलफील्ड्स लिमिटेड के सिंगरौली स्थित केन्द्रीय अस्पताल में गुरुवार को कोरोना वायरस के लक्षणो एवं बचावों को लेकर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें अस्पताल की डॉ कल्पना गुप्ता एवं डॉ रजत कुमार ने उपस्थित सभी प्रतिभागियों को विस्तार मे कोरोना वायरस के बारे मे बताया तथा सभी को बिना डरे हुए इससे बचाव करने की सलाह दी। साथ ही, बचाव के तरीके जैसे अपने आसपास एवं घर मे सफाई रखना, बार-बार हाथ धोना, लोगों से पर्याप्त दूरी बनाकर बात करना , व्यायाम करना, घर का खाना एवं अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता पर ध्यान देने आदि भी बताए|

गौरतलब है कि एनसीएल  के  नेहरु शताब्दी चिकित्सालय में किसी भी स्थिति से निपटने के लिये आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है तथा एक प्रशिक्षित नोडल चिकित्सक पूरी टीम के साथ एलर्ट पर हैं व जिला प्रशासन की त्वरित कार्यवाही टीम के लगातार सम्पर्क मे है।
08:53

चने के खेत में पालतू पशु जाने से हुए विवाद में 7 लोगों ने वृद्ध पर किया प्राणघातक हमला, इलाज के दौरान जिला अस्पताल में हुई मौत।




सिंगरौली

बरगवां पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दिनांक 10/03/2020 के देर शाम को रामबरन यादव की गाय  रामप्यारे बैगा  के खेत में चली गई थी जिस पर रामप्यारे द्वारा रामबरन यादव को मना करने गया इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद होने लगा, रामबरन यादव द्वारा आवाज देकर अपने कुछ रिश्तेदारों को बुला लिया  7 लोगों ने मिलकर कुल्हाड़ी डंडा गोची से रामप्यारे बैगा पर प्राणघातक हमला कर घायल कर दिया।
 परिवार वालों ने घायल रामप्यारे को  जिला अस्पताल बैढ़न में भर्ती करा दिया जहां इलाज के दौरान दिनांक 11 मार्च 2020 को दोपहर में रामप्यारे बैगा की मौत हो गई।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक टी के बिद्यार्थी के निर्देशन पर स्वयं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रदीप सेन्डे थाना प्रभारी बरगवां को लेकर घटना स्थल ग्राम जुडवार पहुच कर मृतक के परिजनों से मिलकर यथास्थिति के आधार पर थाना बरगवां में अपराधियों के खिलाफ  अपराध क्रमांक 93/2020 धारा 302, 323, 34 ता.हि. 3(2) (V) एस.सी. एस.टी एक्ट कायम कर 06 आरोपियो  साहब लाल यादव, अरविंद यादव, विजेंद्र यादव, रामप्रसाद यादव, लालता यादव, सुरेश यादव, सभी निवासी जुडवार  की गिरफ्तारी की गई सभी ने अपना गुनाह कबूल कर घटना के प्रयुक्त कुल्हाड़ी डंडा गोची जप्त कराया 1 आरोपी फरार है जिसकी  गिरफ्तारी शेष है।
06:39

आदिवासी वृद्ध के आधे दर्जन हत्यारो को बरगवां पुलिस ने किया गिरफ्तार,एक फरार,




सिंगरौली-
            जिला मुख्यालय से तकरीबन 40 किलोमीटर दूर बरगवां थाना क्षेत्र के ग्राम जुड़वार में होली के दिन चने के खेत में गाय जाने के विवाद को लेकर आदिवासी वृद्ध युवक के ऊपर  सामूहिक रूप से लाठी- डंडा 'कुल्हाड़ी व धारदार हथियार से हमला करने वाले आधा दर्जन हत्यारो को *एसपी टी.के. विद्यार्थी के निर्देश, ए एसपी प्रदीप शेंडे व एसडीओपी नीरज नामदेव के मार्गदर्शन* में बरगवां टी आई मनीष त्रिपाठी के नेतृत्व में गिरफ्तार कर लिया गया  है, एक आरोपी अभी फरार है।


  घटना की जानकारी में बरगवां टी आई मनीष त्रिपाठी ने बताया कि घटना दिनांक 10 मार्च की दोपहर ग्राम जुड़वार निवासी आरोपी  *राम बरन यादव का पालतू गाय राम प्यारे बैगा* के चने के खेत मे चली गयी जहाँ दोनो के बीच वाद-विवाद शुरू हुआ। इसी बीच *राम बरन यादव ने अपने 3 बेटों* सहित अन्य परिवार के लोगों को बुलाया और सामूहिक रूप से मिलकर *मृतक राम प्यारे बैगा उम्र 60 वर्ष* के ऊपर लाठी-डंडा, कुल्हाङी व धारदार हथियार(गोची) से हमला कर अधमरा कर दिया।

     टी आई श्री त्रिपाठी ने आगे बताया कि घटना के बाद परिजनों ने गंभीर रूप से घायल  राम प्यारे बैगा को उपचारार्थ जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया ,जहां 11 मार्च की दोपहर उसकी मौत हो गई । मौत की सूचना  वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई जिसके बाद सिंगरौली पुलिस अधीक्षक टीके विद्यार्थी के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रदीप संडे एसडीओपी नीरज नामदेव दस्वयं  घटना स्थल का निरीक्षण करने गए और परिजनों सहित अन्य चश्मदीदों  से पूछताछ व जानकारी उपरांत सात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया गया।  एएसपी श्री शेंडे व  एसडीओपी श्री नामदेव के मार्गदर्शन में बरगवां पुलिस टीम ने हत्या में शामिल 7 आरोपियों में से 6 को गिरफ्तार कर लिया जबकि विवाद का मुख्य किरदार रामबरन यादव फिलहाल फरार है।

*सामूहिक हत्याकांड के 5 आरोपी गिरफ्तार ,एक फरार*

टीआई श्री त्रिपाठी ने बताया कि रामप्यारे बैगा के सामूहिक हत्याकांड में शामिल 7 आरोपियों में से छह आरोपी *साहब लाल यादव उम्र 32 वर्ष अरविंद यादव उम्र 30 वर्ष लालता यादव उम्र 27 वर्ष तीनों पुत्र रामबरन यादव बृजेंद्र यादव पुत्र राम प्रसाद यादव उम्र 30 वर्ष राम प्रसाद यादव पुत्र हीरालाल उम्र 65 वर्ष व सुरेंद्र यादव पुत्र रामाधार उम्र 31 वर्ष सभी निवासी ग्राम जुड़वार* को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि एक आरोपी रामबरन यादव फिलहाल फरार है आरोपियों के खिलाफ धारा 302 323, 34 ताहि 3 (2)(v)  एससी -एसटी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर सभी को न्यायालय भेज दिया गया।

Sunday, 8 March 2020

18:44

ट्रेन हादसा को लेकर कांग्रेसियों ने मंत्री को सौंपा ज्ञापन


सिंगरौली 8 मार्च। एक सप्ताह पूर्व गनियारी गेट नंबर-3 के पास एनटीपीसी रिहन्द की दो मालगाड़ी आपस में टकरा जाने से लोको पायलट सहित तीन लोगों की अकाल मौत पर कांग्रेसियों ने एनटीपीसी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जिन कर्मचारियों व अधिकारियों के द्वारा लापरवाही की गयी है उनके खिलाफ एनटीपीसी कड़ा रूख अपनाये, लेकिन अभी तक एनटीपीसी ने कोई कठोर कार्रवाई नहीं की है।
म.प्र.कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव अमित द्विवेदी ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल सिंगरौली जिले के कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक सिंगरौली को पत्र देकर तत्काल उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग की है। श्री द्विवेदी ने कहा है कि एनटीपीसी के द्वारा कई दिनों के बीत जाने के बावजूद भी दोषियों के खिलाफ  किसी तरह का कड़ा रुख नहीं अपनाया जा रहा है। श्री द्विवेदी ने कहां की  दोषी अधिकारियों को तत्काल निलंबन की कार्रवाई के साथ-साथ वसूली की जाय जो इस घटना से जुड़े हुए हैं। प्रदेश सचिव अमित द्विवेदी ने आगे कहा कि इस घटना में आखिर कौन-कौन जिम्मेदार हैं, इसकी विधिवत एनटीपीसी जांच करे। इस घटना में जिसके द्वारा लापरवाही हुई है उसको पहले निलंबित किया जाय। साथ ही उसके पेमेंट से वसूली करें व मृतकों के परिजनों को कम से कम 25-25 लाख रूपये की सहायता राशि प्रदान की जाय। श्री द्विवेदी ने आगे कहा कि मृतकों के परिजनों को एनटीपीसी में नौकरी प्रदान की जाय, ताकि परिजनों का भरण-पोषण किया जा सके। श्री द्विवेदी ने आगे कहा कि इस दर्दनाक हादसे में एनटीपीसी के द्वारा कहीं न कहीं बड़ी लापरवाही की गयी है। ज्ञापन देने में जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष रमाशंकर शुक्ल, प्रदेश उपाध्यक्ष पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ
राम शिरोमणि शाहवाल, प्रदेश उपाध्यक्ष ट्रांसपोर्ट प्रकोष्ठ ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू, जिला महामंत्री देवेंद्र पाठक, संगठन प्रभारी अनिल सिंह, कोषाध्यक्ष राघवेंद्र श्रीवास्तव सहित कई कांग्रेसियों ने दोषियों पर तत्काल कार्यवाही करने के लिए ज्ञापन सौंपा।

Thursday, 5 March 2020

07:00

एनसीएल के निदेशक वित्त श्री नाग नाथ ठाकुर ने प्रस्तुत्त किया कोल इंडिया के सीएसआर कार्यों का व्योरा



नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के निदेशक वित्त श्री नाग नाथ ठाकुर ने मंगलवार को नई दिल्ली में लोक उद्यम विभाग द्वारा आयोजित एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट (आकांक्षी जिलों) में सीपीएसईज द्वारा सीएसआर के कार्यान्वयन पर एक दिवसीय कोंफ्रेस में कोल इंडिया द्वारा किए जा रहे कार्यों का व्योरा प्रस्तुत किया ।  कोन्फ्रेंस में एनसीएल की तरफ से महाप्रबंधक (सीएसआर) श्री आत्मेश्वर पाठक भी शामिल  हुए।

कोल इंडिया की अनुषंगी कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड का परिचालन क्षेत्र मध्यप्रदेश के सिंगरौली व उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिलों में स्थित हैं, ये दोनों ही जिले नीति आयोग द्वारा घोषित आकांक्षी जिलों की सूची में शामिल हैं । इन जिलों के लोगों को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए एनसीएल मॉडल आगंवाड़ियाँ, मेडिकल कैंप, पेय जल, वित्तीय साक्षारता, स्वास्थ सुविधा जैसी कई मूल-भूत सुविधाओं व्यवस्था कर रहा हैं ।

साथ ही, एनसीएल अपनी निगमित सामाजिक दायित्व (सीएसआर) के तहत समाज के विकास के लिए अपने कार्यों को विभिन्न वर्गों जैसे गाँव जोड़ो, सब साक्षर, सब स्वस्थ्य, स्वच्चछ जल, कौशल, आधार व खेल तरंग में बाँट कर कार्यान्वन के साथ समावेशी विकास के लिए लगातार प्रयत्नशील हैं।

Tuesday, 3 March 2020

06:19

एनटीपीसी के लापरवाहों पर निलंबन व वसूली की हो कार्रवाई: अमित द्विवेदी




सिंगरौली 2 मार्च। अमलोरी एमजीआर से लोड मालगाड़ी व रिहन्दनगर से अमलोरी खाली मालगाड़ी में आमने-सामने एक ही टै्रक पर भिड़ंत होने व लोको पायलट सहित तीन की अकाल मौत को लेकर म.प्र.कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव अमित द्विवेदी ने बड़ा बयान दिया है। श्री द्विवेदी ने कहा है कि एनटीपीसी के उन लापरवाहों पर निलंबन की कार्रवाई के साथ-साथ वसूली की जाय जो इस घटना से जुड़े हुए हैं।
प्रदेश सचिव अमित द्विवेदी ने आगे कहा कि अमलोरी से रिहन्द लोड मालगाड़ी जा रही थी और रिहन्द से अमलोरी खाली मालगाड़ी एक ही रेलवे ट्रैक पर आखिर कैसे आ गयीं। इन दोनों का एक ही टै्रक पर आना तीन लोगों की मौत का कारण बना। साथ ही इस घटना से एनटीपीसी को करोड़ों का नुकसान हुआ है। इस घटना में आखिर कौन-कौन जिम्मेदार हैं इसकी विधिवत एनटीपीसी जांच करे। साथ ही इस घटना में जिसके द्वारा लापरवाही हुई है उसको पहले निलंबित किया जाय साथ ही उसके पेमेंट से वसूली करें व मृतकों के परिजनों को कम से कम 25-25 लाख रूपये की सहायता राशि प्रदान की जाय। श्री द्विवेदी ने आगे कहा कि मृतकों के परिजनों को एनटीपीसी में नौकरी प्रदान की जाय ताकि परिजनों का भरण-पोषण किया जा सके। श्री द्विवेदी ने आगे कहा कि इस दर्दनाक हादसे में एनटीपीसी के द्वारा कहीं न कहीं बड़ी लापरवाही की गयी है और एनटीपीसी के संबंधित जिम्मेदार अमले की घोर लापरवाही की बदौलत भारत सरकार को करोड़ों रूपये का नुकसान झेलना पड़ा है। वहीं इस घटना को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ-साथ केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री को पत्र भेजेंगे। ताकि लापरवाहों पर शिकंजा कसा जाय और इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति न हो*

Saturday, 29 February 2020

07:04

सृष्टि महिला समिति ने नौनिहालों को दिये खिलौने



नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के निगाही क्षेत्र की सृष्टि महिला समिति ने शुक्रवार को बच्चों में  खिलौनों का वितरण किया। खटखरी ग्राम के आंगनवाड़ी क्रमांक 1 में आयोजित इस कार्यक्रम में  कुल 25 नौनिहालों में  खिलौने का वितरण किया गया।
इस अवसर पर सृष्टि महिला समिति के सदस्याओं  ने मौजूद महिलाओं को स्वच्छता के बारे में बताया और बीमारियों से बचने के लिए साफ-सफाई पर ध्यान देने के लिए प्रेरित किया ।  इसके साथ ही उन्होंने उपस्थित महिलाओं से अपने बच्चों को प्रतिदिन आगनवाड़ी केंद्र पर भेजने हेतु अनुरोध भी किया।

इस अवसर पर सृष्टि महिला समिति  सदस्याएं श्रीमती मीना वर्मा,श्रीमती माधवी मिश्रा एवं श्रीमती कविता मोहन उपस्थित रहीं एवं कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग प्रदान किया।

कार्यक्रम के अंत में ग्राम आगनवाड़ी केंद्र की कार्यकर्ता एवं सहायिका के द्वारा महिला समिति की सभी सदस्यों का आभार जताया गया एवं भविष्य में भी इस प्रकार के सहयोग की कामना की गयी।
07:01

सुरभि महिला समिति ने सेटेलाइट विद्यालय कचनी में वितरित की परीक्षा लेखन सामग्री



नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के अमलोरी क्षेत्र की सुरभि महिला समिति ने कचनी ग्राम के सेटेलाइट विद्यालय में आगामी परीक्षाओं के मद्देनजर स्कूली बच्चों को लेखन सामग्री बोर्ड, पेंसिल, रबर, कटर, बाक्स आदि का वितरण स्कूल के 35 छात्र-छात्राओं को किया गया ।  जिसमें मुख्य रूप से कक्षा 3 से कक्षा 5 तक के विद्यार्थी शामिल रहे।

सुरभि महिला समिति की अध्यक्षा श्रीमती आभा द्विवेदी ने बच्चों को मन लगा कर पढ़ने एवं जीवन मे सफल व सरल इंसान बनने की सलाह दी साथ ही साथ समझाया की किताबों के ज्ञान के साथ-साथ आस-पास के सामाजिक एवं व्यवहार ज्ञान की भी जरूरत है व असफलताओं से निराश होकर हिम्मत नहीं हारने की भी प्रेरणा दी।

कार्यक्रम में सुरभि महिला समिति की सदस्याएं भी मौजूद रहीं

Friday, 28 February 2020

06:05

समरसता व सौहार्द को बरकरार रखना सभी का दायित्व





सिंगरौली-
        सिंगरौली पुलिस टीम व तमाम विभाग के साथ सिंगरौली के  लोग बहुत अच्छे हैं। जिले में भरपूर समरसता है, जो दूसरे स्थानो पर बहुत कम देखने को मिलता है। सिंगरौली की समरसता व सौहार्द को बरकरार रखना सभी का दायित्व है। जिले में अच्छी यादें मिली हैं जिन्हें संजोय कर जा रहा हूँ।

       उक्ताशय के उद्गार सिंगरौली जिले से मंडला जिले के लिए  स्थानांतरित पुलिस अधीक्षक अभिजीत रंजन के है ,जिसे उन्होंने एनटीपीसी परियोजना के सूर्या भवन में आयोजित अपने विदाई समारोह में व्यक्त किया। अपने तकरीबन 30 मिनट के उद्बोधन में एसपी श्री रंजन ने कहा कि सिंगरौली के ए एसपी प्रदीप शेंडे व  टी आई मनीष त्रिपाठी, अरुण पांडेय सहित सभी टी आई व चौकी प्रभारियों का  समर्पण व सराहनीय  सहयोग रहा। सिंगरौली की पूरी पुलिस टीम एक बेहतरीन टीम है।  एसपी श्री रंजन ने आगे कहा कि पद की गरिमा अपने स्थान पर है, लेकिन परिस्थितियों के अनुसार एक व्यक्ति काम करता है ना कि पद। सिंगरौली की टीम ने पद के बजाय एक व्यक्ति के रूप में काम किया है। इस दौरान सिंगरौली  कलेक्टर के व्ही एस चौधरी व न्यायधीशों से मिले सहयोग की भी  तारीफ की।

*टीम के साथ रखें इमोशनल अटैचमेंट*

स्थानांतरित एसपी श्री रंजन ने जाते -जाते सिंगरौली पुलिस टीम के ए एसपी व सभी टी आई को सुझाव देते हुए कहा कि अपनी टीम के साथ हमेशा इमोशनल अटैचमेंट रखें साथ ही विभाग के आखिरी कर्मचारी तक को उसके काम का पहचान मिले इसका ध्यान अवश्य रखें। इसके अलावा एसपी श्री रंजन ने सुझाव में कहा कि पुलिस का काम स्ट्रेस का है ऐसे में  भले ही रिमोट एरिया में रहे ,पर प्रसन्नचित रह कर काम करें। अपना पेशेंस ना खोएं  और उल्टा सीधा निर्णय लेने से बचे।

*डी एम ,ए एस पी, आयुक्त, डीएफओ, सीईओ व टी आई ने उद्बोधन से व्यक्त की भावनाएं*

सिंगरौली ए एसपी प्रदीप शेंडे ने अपने स्वागत उद्बोधन में जहाँ एसपी अभिजीत रंजन के 8 माह के सफलतम कार्यकाल का विवरण दिया। कलेक्टर सिंगरौली ने भी एसपी श्री रंजन के बेहतर  ला एण्ड आर्डर की तारीफ की और उनके कार्यकाल में सिंगरौली पुलिस टीम को 99% सफल बताया। सिंगरौली पालिक निगम के आयुक्त शिवेंद्र सिंह कहावत के माध्यम से स्थानन्तरण को बेहतर बताया तो  वहीं डीएफओ विजय सिंह व सीईओ जिला पंचायत ऋतुराज ने इसे सरकारी नौकरी का एक प्रसाशनिक प्रक्रिया बता साथ के अनुभवों को शेयर किया। टी आई मनीष त्रिपाठी व अरुण पांडेय ने भी उपलब्धियों को गिनाया और कहा कि एसपी श्री रंजन चेहरा देख अधीनस्थ कर्मचारियों का दुख दर्द समझ जाते थे। सभी ने उद्बोधन के माध्यम से उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।
विदाई समारोह में एनटीपीसी विन्ध्यनगर के सीआईएसएफ कमांडेंट, एसडीओपी नीरज नामदेव, जेपी पॉवर के रजनीश गौर, फैमिली जिला न्यायालय के न्यायधीश ऋतुराज बसंत सहित सभी थानों के टी आई ,चौकी प्रभारी व मीडिया साथी मौजूद रहे।
05:57

उर्वरक के लिए किसानों को नहीं भटकना पड़ेगा: अमित द्विवेदी



सिंगरौली 27 फरवरी। म.प्र.कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव अमित द्विवेदी ने प्रदेश सरकार के साथ-साथ जिला प्रशासन के सार्थक प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार के बदौलत जिले के अन्नदाताओं को एक बड़ी सौगात मिली है। अन्नदाताओं को अब उर्वरक के लिए दर-दर नहीं भटकना पड़ेगा और उन्हें 40 से 50 रूपये अन्य वर्षों की तुलना में अब कम दाम पर उर्वरक समितियों के माध्यम से मुहैया कराया जायेगा। उन्होंने आगे कहा कि बरगवां रेलवे स्टेशन पर फर्टिलाईजर के लिए पहली रैक पहुंची। जहां 3 हजार 59 हजार मैट्रिक टन समितियों में पहुंचाने का काम जिला प्रशासन के द्वारा युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। श्री द्विवेदी ने प्रदेश सरकार के मुखिया कमलनाथ के कामकाज का बखान करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री बातों में कम काम पर ज्यादा भरोसा करते हैं। उन्होंने बरगवां में फर्टिलाईजर की पहली रैक भिजवाकर यह साबित कर दिया कि किसानों के लिए संवेदनशील हैं। श्री द्विवेदी ने इसका श्रेय मुख्यमंत्री के साथ-साथ प्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव, सिंगरौली जिले के प्रभारी मंत्री प्रदीप जायसवाल व पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल के अलावा कलेक्टर केव्हीएस चौधरी को दिया है।