Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label नई दिल्ली. Show all posts
Showing posts with label नई दिल्ली. Show all posts

Sunday, 26 January 2020

15:29

आम आदमी पार्टी ने 71वें गणतंत्र दिवस पर जनता के बीच जाकर किया ध्वजा रोहण

गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली में ध्वजारोहण करते आप संयोजक अरविंद केजरीवाल।
आईटीओ आफिस आप मुख्यालय पर ध्वजारोहण करते
आप नेता संजय सिंह।




नई दिल्ली आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश के 71 वें गणतंत्र दिवस पर जनता के बीच जाकर ध्वजारोहण किया और उनके साथ मुलाकात की मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह अरविंद केजरीवाल ने नई दिल्ली विधानसभा में अपने विधानसभा में जाकर आम जनता के बीच ध्वजारोहण किया इसके अलावा आम आदमी पार्टी के हेड क्वार्टर आईटीओ पर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद और कई राज्यों के प्रभारी संजय सिंह ने भी ध्वजारोहण कर 71 वां गणतंत्र दिवस मनाया इसी कड़ी में आदमी पार्टी गौतमबुद्ध नगर इकाई ने भी सेक्टर  18 नोएडा पार्टी कार्यालय में गणतंत्र दिवस मनाया 71 वें गणतंत्र दिवस पर जिलाध्यक्ष भूपेंद्र जादौन ने  ध्वजारोहण किया वहाँ पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते भूपेंद्र जादौन ने कहा कि 70 साल आज ही के दिन संविधान लागू हुआ था । हमारे पूर्वजों ने बहुत संघर्षों से एवं बलिदान से यह आज़ादी प्राप्त की है हम सब की जिम्मेदारी है कि देश के लिए रक्षा एवं सम्मान के लिए हम सभी को तैयार रहना चाहिए
   इस अवसर पर जिला महासचिव व पार्टी प्रवक्ता संजीव निगम ने बताया कि इस अवसर पर परशुराम चौधरी,  ए के सिंह,दिलदार अंसारी,राहुल सेठ,गुड्डू यादव,राजेश बेनीवाल,प्रशांत रावत, अजय कुमार,प्रदीप सुनाईया, जयकिशन,वीरेन चौधरी राजकुमार प्रसाद, केशव उपाध्याय,यामीन अंसारी आदि मौजूद रहे

Sunday, 19 January 2020

08:06

दिल्ली मे राष्ट्रीय महागठबन्धन पार्टी का आगाज़ -- घोषित की 35 प्रत्याशियो की सूची


सुनील मिश्रा नई दिल्ली ::  दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 मे अनेक पार्टियों के बीच गठबन्धन का दौर जारी है इसी दौर मे दिल्ली की राजनीतिक पार्टियों मे राष्ट्रीय महागठबन्धन पार्टी भी मैदान मे उतर चुकी है और दिल्ली की 70 विधानसभा मे से 35 विधानसभा मे उम्मीदवार उतारने की घोषणा कर चुकी है और राष्ट्रीय महागठबन्धन के अध्यक्ष श्री हरि भाई पटेल के अनुसार भाजपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी की वादाखिलाफ़ी से नाराज़ होकर दलित, पिछड़ा, अल्पसन्ख्यक समुदाय के साथ अन्य समुदाय का सहयोग भी हमे प्राप्त हो रहा है राष्ट्रीय महागठबन्धन के सभी पदाधिकारियो ने सर्वसम्मति से श्री अशोक अग्यानी बाल्मीकि को दिल्ली के मुख्यमन्त्री पद के दावेदारी की घोषणा की श्री अशोक अग्यानी ने मुख्यमंत्री पद का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हम हमारी सरकार चुनाव जीतने के बाद दिल्ली को सामाजिक न्याय दिलाने का वादा करती है राष्ट्रीय गठबन्धन के प्रवक्ता श्री सिराज़ साहिल के साथ लिबरल पार्टी ओफ़ इन्डिया की अध्यक्ष सुमन मल्होत्रा, महासचिव पलाबोन भट्टाचार्य जी, राष्ट्रीय महागठबन्धन के कोआर्डिनेटर कर्नल श्री कृष्ण दलाल, स्टार प्रचारक रेणू दलजीत सिंह, मन्जुबेन पाल एवं प्रभारी लोक दल दिल्ली प्रदेश डाक्टर बी के तेवतिया भी उपस्थित थे.

भारतीय सामाजिक न्याय पार्टी

1. नई दिल्ली -  अशोक अग्यानी
2. नरेला. -  मास्टर  रमेश
3. बवाना. - कपूर सिंह तँवर
4. सुल्तान्पुर माज़रा - विजय
5. मन्गोलपुरी. - दीपक कुमार
6. तिमारपुर  - कविता पीहल
7. राजेन्द्र नगर  - शशि राज
8. माडल टाउन  -पवन कुमार
9. आर के पुरम - मुकेश
10. मादीपुर  - ब्रम्हपाल
11. गोकुलपुर - अनिल कुमार
12. देवली  -  रोशनलाल
13. बुराडी -अनिल यादव
14. सीमापुरी - आर आर प्रभाकर
15. अम्बेडकर नगर - अमित कुमार
16. कालकाजी : प्रिया पन्वार
17. दिल्ली कैंट : सचिन टाक

             आम जनता पार्टी
18. नान्गलोई जाट : एस पी वर्मा
19. शकूर बस्ती : रिया पटेल
20. मटियामहल :  दानिश अली
21. विकास पुरी : गोपाल रन्जन उर्फ़ बिहारी बाबू
22. मटियाला :  सुनीता सिंह पटेल
23. कस्तूरबा नगर : सुमन लता कटियार
24. छतरपुर. :  दीपशिखा
25. त्रिलोक पुरी : राजेश कश्यप
26. लक्ष्मी नगर : आनन्द कुमार पाल
27. कोन्डली  : सुरेश कुमार
28.  क्रष्णा नगर :  अजीत कुमार
29. करावल नगर : महफ़ूज़ खान

नेशनल प्रोग्रेसिव पार्टी
30.  किराडी  : मोहम्मद हसन
31. चांदनी चौक  : राज कुमार
32. बल्लीमारान : नवाब सिद्धिकी
33. सीलमपुर : मोहम्मद मुश्ताक
34. मुश्तफ़ाबाद : मो. शाहिद खान
35. ओखला : डा. चन्द्रा राजन

Saturday, 18 January 2020

19:41

भारत की पहली वैश्विक, मेगा-विज्ञान प्रदर्शनी ‘विज्ञान समागम’ की मेज़बानी करेगी


नयी  दिल्ली सुनील मिश्रा नई दिल्ली :  भारत की पहली बहु-स्थलीय मेगा विज्ञान प्रदर्शनी, 'विज्ञान समागम' नई दिल्ली में 21 जनवरी 2020 से राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र दिल्ली में शुरू की जायेगी। यह प्रदर्शनी जनता के देखने के लिए खुली रहेगी, जिसमें ब्रह्माण्ड को समझने में अंतर्राष्ट्रीय समूहों के प्रयासों को प्रदर्शित करके पूरे अंतरिक्ष और समय में सूक्ष्म से स्थूल स्तर तक मानव के ज्ञान और जिज्ञासा के विस्तार को प्रदर्शित करेगी। 8 सप्ताह के बाद, 20 मार्च 2020 को इस प्रदर्शनी का समापन होगा।
दो महीने तक चलने वाली यह प्रदर्शनी विश्वभर की मेगा विज्ञान परियोजनाओं में भारत का दम-ख़म दिखायेगी और इसके साथ ही छात्रों और विज्ञान में दिलचस्पी रखने वालों के लिए अभिनवकारी कार्यक्रमों की मेजबानी करेगी. यह प्रदर्शनी दुनिया की जानी-मानी मेगा साइंस7भी परियोजनाओं में भारतीय उद्योग के योगदान को प्रदर्शित करेगी  विज्ञान में दिलचस्पी रखने वाले लोग राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र दिल्ली में विश्व प्रसिद्ध मेगा विज्ञान परियोजनाओं को देखेंगे कार्यक्रम के दौरान प्रख्यात वैज्ञानिकों के साथ बातचीत करने का मौका मिलेगा पूरे कार्यक्रम के दौरान विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों में छात्रों के बीच वैज्ञानिक प्रवृति का विकास करने के लिए सार्वजनिक स्तर पर जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे।.
प्रदर्शनी का उद्घाटन उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास मंत्रालय के माननीय केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. जितेंद्र सिंह; राज्य मंत्री, प्रधान मंत्री कार्यालय; कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय; परमाणु ऊर्जा विभाग (डी.ए.ई.); और अंतरिक्ष विभाग द्वारा किया जायेगा।
मुंबई, बेंगलुरु और कोलकाता में सफलता प्राप्त करने के बाद राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र दिल्ली 11 महीने की 4-शहरों से होकर आनेवाली प्रदर्शनी के अंतिम चरण की मेज़बानी करेगा। इससे पहले आयोजित किए गए संस्करणों में, विज्ञान समागम मुंबई और बेंगलुरु में बहुत अधिक प्रतिक्रिया प्राप्त हुई जो कि दोनों स्थानों पर लगभग 1.3 लाख लोगों के देखने आने से साफ़ तौर पर नज़र आती है। कोलकाता में लगभग 3 लाख आगंतुकों के साथ आनेवाले लोगों की संख्या दोगुनी हो गई। राष्ट्रीय राजधानी को मेगा साइंस प्रदर्शनी की मेज़बानी करने के लिए पूरी तरह से तैयार है, जिसने पिछले तीन संस्करणों से अब तक 5.5 लाख से अधिक लोगों को आकर्षित किया है। ज़मीनी स्तर पर होने वाले कार्यक्रम के अलावा, डिजिटल और सोशल मीडिया के अभियानों ने विज्ञान समागम को पूरे देश के लाखों लोगों तक पहुँचाया दिया है।
उद्घाटन समारोह में डॉ. आर. चिदंबरम, भारत सरकार के पूर्व प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार, परमाणु ऊर्जा आयोग (एईसी) के अध्यक्ष और परमाणु ऊर्जा विभाग (डीएई) के सचिव; डॉ. पॉल हो, महानिदेशक, ईस्ट एशियन ऑब्ज़र्वेटरी, हवाई, यूएसए; श्री के.एन. व्यास, अध्यक्ष, एईसी और सचिव, डीएई; प्रो. आशुतोष शर्मा, सचिव, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी); श्री योगेन्द्र त्रिपाठी, सचिव, संस्कृति मंत्रालय शामिल होंगे। पॉल हो इस अवसर पर मुख्य भाषण देंगे।
परमाणु ऊर्जा विभाग (डीएई), विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) और राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद (एनसीएसएम) संयुक्त रूप से इस बहु-स्थलीय मेगा-विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन कर रहे हैं, जो दुनिया की कुछ सबसे बड़ी विज्ञान परियोजनाओं को एक ही स्थान पर प्रदर्शित कर रही है . विज्ञान समागम के अंतिम संस्करण की प्रमुख बातों, उद्देश्यों और गतिविधियों को भी बताया गया। श्री अरुण श्रीवास्तव, सचिव एईसी, और प्रमुख, संस्थागत सहयोग एवं कार्यक्रम प्रभाग (आईसीपीडी), डीएई, मुंबई; डॉ. प्रवीर अस्थाना, इंस्पायर और मेगा विज्ञान संभागों के प्रमुख, डीएसटी, दिल्ली ने  बताया।
विज्ञान समागम प्रदर्शनी का उद्देश्य भारत में मेगा-विज्ञान के तीन स्तंभों, उद्योग, शिक्षाविद और छात्रों के लिए एक ही पारस्परिक प्लैटफॉर्म प्रदान करना है।. मेगा साइंस प्रोजेक्ट्स यूरोपियन ऑर्गेनाइजेशन फॉर न्यूक्लियर रिसर्च (सीईआरएन), फैसिलिटी फॉर एंटिप्रटन और आयन रिसर्च (एफएआईआर), इंडिया-बेस्ड न्यूट्रीनो ऑब्ज़र्वेटरी (आईएनओ), इंटरनेशनल थर्मोन्यूक्लियर न्यूमेंटल रिएक्टर (आईटीईआर), लेज़र इंटरफेरोमीटर ग्रेविटेशनल - वेव ऑब्ज़र्वेटरी (एलआईजीओ), मेजर एटमॉस्फेरिक चेरेनकोव एक्सपेरिमेंट्स (एमएसीई), स्क्वायर किलोमीटर एरे (एसकेए) और थर्टी मीटर टेलीस्कोप (टीएमटी)।
इस अवसर पर बोलते हुए, श्री अरुण श्रीवास्तव ने कहा, “विज्ञान समागम वैश्विक विज्ञान परियोजनाओं और विज्ञान के छात्रों को प्रोत्साहित करने के एक संपूर्ण प्रयास की एक परिणति है।
यह प्रदर्शनी छात्रों और परियोजनाओं को एक अनूठा अवसर प्रदान करेगी।
डॉ. प्रवीर अस्थाना ने विज्ञान को आकर्षक विकल्प के रूप में स्थापित करने में विज्ञान समागम की प्रासंगिकता पर जोर दिया और कहा, “भारत में वैज्ञानिक समुदाय को अधिक वैज्ञानिकों की आवश्यकता है और युवाओं को प्रत्यक्ष परियोजनाओं के माध्यम से उन्हे एक प्लैटफॉर्म प्रदान करने का बेहतर तरीका है।
15:26

दिल्ली विधान सभा 2020 के लिये बीजेपी ने की 57 उम्मीदवारो घोषणा



दिल्ली विधान सभा 2020 के लिये बीजेपी ने की 57 उम्मीदवारो घोषणा


सुनील मिश्रा नई दिल्ली ::  भारतीय जनता पार्टी की केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक माननीय अध्यक्ष श्री अमित शाह जी की अध्यक्षता मे सम्पन्न हुई बैठक मे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा, रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह, सडक परिवहन, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री मन्त्री श्री नितिन गडकरी एवं केन्द्रीय चुनाव समिति के अन्य सभी सदस्य उपस्थित रहे!
इस केन्द्रीय चुनाव समिति ने दिल्ली विधान्सभा चुनाव के लिये निम्न उम्मीदवारो की घोषणा की

57 उम्‍मीदवारों की सूची संलग्न है

नरेला- नीलदमन खत्री
तिमारपुर -सुरेंद्र सिंह बिट्टू
आदर्श नगर -राजकुमार भाटिया
बादली- विजय भगत
रिठाला - मनीष छौधरी
बवाना - रवीद्र कुमार इंद्राज
मुंडका - मास्टर आजाद सिंह
किराड़ी - अनिल झा
सुल्तानपुर माजरा - रामचंद्र छावरिया
मंगोलपुरी - करमसिंह करमा
रोहिणी - विजेंद्र गुप्ता
शालीमार बाग - रेखा गुप्ता
शकूर बस्ती - एससी वत्‍स
त्रीनगर - तिलकराम गुप्ता
वजीरपुर - महेंद्र नागपाल
मॉडल टाउन - कपिल मिश्रा
सदर बाजार- जयप्रकाश
चांदनी चौक - सुमन कुमार गुप्ता
मटिया महल- रवींद्र गुप्ता
बल्लीमारान - लता सोढ़ी
करोलबाग - योगेंद्र चंदौलिया
पटेल नगर- परवेश रत्न
मोती नगर- सुभाष सचदेवा
मादीपुर- कैलाश सांखला
तिलकनगर - राजीव बब्बर
जगतपुरी - आशीष सूद
विकासपुरी - संजय सिंह
उत्तमनगर - कृष्ण गहलोत
द्वारका - प्रधुम्न राजपूत
मटियाला - राजेश गहलोत
नजफगढ़ - अजीत खड़खड़ी
ब्रिजवासन - सत्यप्रकाश राणा
पालम - विजय पंडित
राजेंद्र नगर - सरदार आरपी सिंह
जंगपुरा - सरदार इमरित सिंह बक्शी
मालवीय नगर - शैलेंद्र सिंह मोंटी
आरके पुरम - अनिल शर्मा
छत्तरपुर - ब्रह्म सिंह तंवर
देवली - अरविंद कुमार
अंबेडकर नगर - खुशीराम
ग्रेटर कैलाश - शिखा राय
तुगलकाबाद - विक्रम बिधूड़ी
बदरपुर - रामवीर सिंह बिधूड़ी
ओखला - ब्रह्म सिंह
त्रिलोकपुरी - किरण वैद्य
कोंडली - राजकुमार ढिल्लों
पटपड़गंज - रवि नेगी
लक्ष्मी नगर - अभय कुमार वर्मा
विश्वास नगर - ओपी शर्मा
गांधी नगर - अनिल बाजपेयी
रोहतास नगर - जीतेंद्र महाजन
सीलमपुर - कौशल मिश्रा
घोंडा - अजय महावत
बाबरपुर- नरेश गौड़
गोकुलपुर - रंजीत कश्यप
मुस्तफाबाद- जगदीश प्रधान
करावल नगर - मोहन सिंह बिष्ट
05:58

आप नेता अनिल पांडे ने सम्हाली बवाना विधान सभा की कमान



दिल्ली में जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आती जा रही  चुनावी सरगर्मियां  भी तेजी से बढ़ती जा रही है इसी के तहत आम आदमी पार्टी पानीपत से अनिल पाण्डेय दिल्ली चुनाव में प्रचार में अपनी टीम के साथ "बवाना" विधानसभा चुनाव को लेकर वर्तमान विधायक राम चन्द्र व सक्रिय कार्यकर्ता अमरजीत सरोज के साथ व अन्य कई कार्यकर्ताओं की टीम के साथ प्रचार प्रसार पर विचार विमर्श किया मीडिया से बात करने पर अनिल पाण्डेय ने बताया कि दिल्ली में चारो तरफ केजरीवाल सरकार के कार्यों की लहर है और यह लहर दिल्ली की 70 की 70 विधानसभा पर जबरदस्त है। दिल्ली में पूर्ण बहुमत की सरकार केजरीवाल सरकार पुनः 70 सीटों पर जीत हासिल कर रही है। दिल्ली की हर विधानसभा में केजरीवाल सरकार के कार्यों शिक्षा, स्वास्थ्य,बिजली,पानी इत्यादि क्षेत्रों में हुये बेहतर कार्यों की जबरदस्त लहर है। दिल्ली की जनता अबकी बार काम पर वोट करेगी। इस मौके पर मुख्य रूप से सन्दीप जायसवाल, शुशान्त पाण्डेय, जय कुमार व अन्य कई साथी भी मौजूद रहे।

Friday, 17 January 2020

06:35

विश्व पत्रकार महासंघ के साथ राजधानी संदेश समाचार पत्र के कार्यालय का हुआ उद्घाटन


देश मे सबसे बड़े पत्रकार समूह "विश्व पत्रकार महासंघ" और राजधानी सन्देश समाचार पत्र के कार्यालय का उद्घाटन दिल्ली मे 15 जनवरी 2020 को पश्चिम विहार क्षेत्र मे हुआ.  इस उद्घाटन समारोह मे अनेक नेता, सचिव, सामाजिक कार्यकर्ता और देश के विभिन्न राज्यों से आये विश्व पत्रकार महासंघ के अनेक पदाधिकारियो एवं दिल्ली के कई अधिकारी गण मौजूद थे  इस उद्घाटन समारोह मे राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय शुक्ला राष्ट्रीय संयोजक गीता चौहान, प्रदेश अध्यक्ष मध्य प्रदेश असलम खान,अध्यक्ष उत्तर प्रदेश शिव शंकर  त्रिपाठी,हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष जगदीश यादव,राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष दीपक सैनी ओर दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष विक्रम गोस्वामी और दिल्ली के पूर्वी दिल्ली क्षेत्र से जिला अध्यक्ष बिरेन्द्र प्रधान, पूर्वी दिल्ली जिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रा, पूर्वी दिल्ली से जिला सचिव अनिल कुमार चौहान, दक्षिण दिल्ली क्षेत्र से जिला अध्यक्ष नीरज अवस्थी, दक्षिण दिल्ली से जिला उपाध्यक्ष मोहम्मद शाह नवाज़ खान तथा अन्य राज्यों से आये सभी पदाधिकारियो को नियुक्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया.  हरियाणा,दिल्ली,राजस्थान,उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड के  जिला स्तर का विस्तार किया और नियुक्तियां की गयी ताकि भविष्य मे लगातार पत्रकारों पर होने वाली हिंसा पर आवश्यक कार्यवाही की जा सके हो ताकि सभी पत्रकार भयमुक्त होकर स्वतंत्र पत्रकारिता कर सके इस मौके पर पत्रकारों की अन्य समस्याओं को लेकर भी विचार विमर्श  किया गया जहां प्रमुख समाज सेवी बिजेंद्र गुप्ता, समाज सेवी खेम चंद डाबला व सैकड़ो पत्रकार ने दिल्ली अन्य राज्यो से उपस्थिति दर्ज कराई ।इस मौके पर राजधानी संदेश न्युजपेपर के दिल्ली, हरियाणा ,गुजरात के चैयरमैन बिजेंद्र गुप्ता,सुरेश परमार,खैम चंद डाबला ,गीता चौहान संयोजक विश्व पत्रकार संघ व राजधानी संदेश न्युजपेपर की संपादक,जगदीश यादव अध्यक्ष हरियाणा ,देविंद्र भारद्वाज ,श्याम बंसल,गौरव गर्ग,सुनील गर्ग ,रोशन भारद्वाज,मोहित अग्रवाल,विक्रम गौस्वामी,पुरशोतम गोयल,गोरीशंकर,अभिषेक अग्रवाल,विरेंद्र यादव,पवन कुमार ,दिनेश,संदीप चौधरी सभी सदस्य गण मौजूद थे.

Wednesday, 8 January 2020

19:37

दिल्ली की प्रशासनिक व्यवस्था और भ्रष्टाचार दूर करेगी राष्ट्रीय निर्माण पार्टी




सुनील मिश्रा दिल्ली : दिल्ली चुनाव आयोग द्वारा दिल्ली विधान सभा चुनाव 2020 की घोषणा के साथ साथ चुनाव की तिथियों की भी घोषणा हो चुकी है सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपने अपने उम्मीदवारो को  चुनाव मे उतारने की तैयारी शुरू कर दी है इसी बीच राष्ट्र निर्माण पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व गृह मंत्रालय के पूर्व स्पेशल डायरेक्टर डॉ. आनंद कुमार ने कहा कि पिछले दो महीनों में दिल्ली में कई ऐसी घटनाओ मे आम लोग प्रभावित हुए, आगजनी की तीन भीषण दुर्घटनाओ जिसमे 52 से ज्यादा लोग ज़िंदा जल गए और उससे अधिक लोग घायल हुए और करोड़ो की सम्पति का नुकसान हुआ वो अलग, इन दुर्घटनाओं में मरने वाले गरीब प्रवासी लोग थे।  दिल्ली में बिना लाइसेंस के फ़ैक्ट्री चलती है जहाँ इन मजदूरों का न तो कोई बीमा होता है न कोई मेडिकल फिर भी हज़ारो ऐसी फ़ैक्ट्री, होटल और मार्किट चल रही हैं जहाँ पर फायरब्रिगेड की गाड़ियां तक नहीं पहुँच पाती, इस अराजकता के लिए कोई सरकार, कोई विभाग जिम्मेदारी नहीं लेता,
इस  प्रकार की अव्यवस्था पूरी दिल्ली में है दिल्ली में प्रदूषण की समस्या भयावह, हवा - पानी जहरीला, यमुना नदी, नाले, गलियां, गंदगी से भरपूर हैं, आज दिल्ली की हालत नरक से भी बदतर हो चुकी है और इसके लिए आप, भाजपा व कांग्रेस तीनों ही पार्टियां जिम्मेदार हैं,


ये सभी पार्टियां मुफ़्तखोरी को बढ़ावा देने लगी हैं, आम जनता के टैक्स के धन को यह सरकारें व्यवस्थाओं को विकसित करने के स्थान पर वोट खरीदने में उपयोग कर रही हैं। एक तरफ हम समाज को भिखमंगा बनाने का पाप, दूसरी तरफ हम उन्हें स्वावलंबी न बनाकर गरीब बनाए रखने का काम कर रहे हैं।
राष्ट्र निर्माण पार्टी के अध्यक्ष ठाकुर विक्रम सिंह  ने कहा कि कभी भ्रष्टाचार के प्रहरी, रहे और भ्रष्टाचार के नाम पर आंदोलन करने वाले लोग आज भ्रष्टाचार के पर्याय बन गए हैं, सत्ता में आने के बाद अब लोकायुक्त की चर्चा ही बंद कर दी है, 8 लाख बेरोजगार नौजवानों को नौकरि.  का वायदा करने वाले आज अपने रिश्तेदारों व अपने निकट के कार्यकर्ताओं को सरकारी पद देकर पार्टी का काम करा रहे हैं।



सरकारी खर्चे पर बड़े-बड़े विज्ञापन एवं विशाल आयोजन भ्रष्टाचार का नया प्रकार बन गया है। आप, बीजेपी व कांग्रेस इस क्षेत्र में सभी एक-दूसरे से प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं।
मैं आह्वान  करता हूँ आज के नौजवानों से जो जाति, मत, पंथ व क्षेत्रवाद की राजनीति से ऊपर उठकर सभी भारतीयों के सुख, समृद्धि, शिक्षा एवं स्वास्थ्य के लिए आगे बढ़े, राष्ट्रहित सर्वोपरि है, हम नौजवानों से अनुरोध करते हैं कि राष्ट्र निर्माण पार्टी से जुड़कर अपने सपनों के भारत का और देश के लिए बलिदान होने वाले शहीदों के सपनों के भारत का निर्माण करने में सहयोगी बनें। क्योंकि हम इस अव्यवस्था/अराजकता को खत्म करने व अच्छी व्यवस्थाएं विकसित करने के लिए कृतसंकल्पित हैं तथा दिल्ली राज्य हेतु निकट भविष्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में 70 सीटों पर संघर्ष करने हेतु कटिबद्ध हैं।

Tuesday, 7 January 2020

04:47

एंड टीवी ने प्रस्तुत की भक्त और भगवान से जुड़ी दो कहानियां



सुनील मिश्रा : दिल्ली :  &tv ने "भक्त और भगवान" के बीच के सम्बन्ध को प्रकट करने के लिए दो रोचक कथाएं प्रस्तुत की है
"कहत हनुमान जय श्री राम" के कलाकार एकाग्र द्विवेदी, स्नेहा वाघ, जितेन लालवानी, निर्भय वाधवा आदि द्वारा इस सीरियल का प्रीमियर 7 जनवरी 2020 को रात 9:30 बजे &tv पर सोमवार से शुक्रवार को होगा
इसी के साथ "संतोषी मां सुनाएं व्रत कथा" का प्रीमियर 21 जनवरी 2020 को रात 9.00 और प्रसारण हर सोमवार से शुक्रवार को केवल &tv पर होगा जिसके  कलाकार हैं  ग्रेसी सिंह, तन्वी डोगरा, आशीष कादियान, आदि.

इस सीरियल के प्रसारण मे भगवान की भक्ति को मानवीय भावनाओ मे महत्वपूर्ण मानते हुए भगवान श्री राम के प्रति हनुमान की भक्ति और निस्वार्थ समर्पण उन्हे भक्ति का प्रतीक बनाता है और हर समय भक्त की जिन्दगी मे भगवान की उपस्थिति, उनका मार्गदर्शन जीवन यात्रा को सुगम बनाती है
पेनिनसुला पिक्चर्स द्वारा निर्मित  "कहत हनुमान जय श्री राम" सीरियल में हनुमान का किरदार एकाग्र द्विवेदी और अंजनी और केसरी का किरदार स्नेहा वाघ और जितेन लालवानी निभा रहे हैं टेलीविजन अभिनेता निर्भय वाधवा बाली की भूमिका में है दोनों सीरियल के लांच में मनोज तिवारी ने विश्व विख्यात हनुमान चालीसा का अपनी मधुर आवाज में पाठ करके दर्शकों का मन मोह लिया
 देवी और भक्तों के बीच एक नया वर्णन प्रस्तुत करने के लिए &tv लाया है "संतोषी मां सुनाए व्रत कथा" इसके निर्माता है रश्मि शर्मा टेलिफिल्म्स.  मां का मार्गदर्शन विभिन्न व्रतों, उनकी कथाओं, कारणों और आस्थाओं तथा व्रत रखने के तरीकों में मिलता   है बॉलीवुड की अभिनेत्री ग्रेसी सिंह संतोषी मां की भूमिका में है तनवी डोगरा भक्त स्वाति की भूमिका में है और आशीष कादयान इन देश की भूमिका निभा रहे हैं
मशहूर सेलिब्रिटी मनोज तिवारी ने कहा मैं हनुमान चालीसा और इस शो के टाइटल ट्रैक को गाकर बहुत गौरवान्वित हूं मुझे उम्मीद है कि यहां मेरी उपस्थिति और मेरा गायन लोगों को उतना ही अच्छा लगेगा जितना आनंद इसे गाने में आया है.
एंड टीवी के व्यवसाय प्रमुख विष्णु शंकर के अनुसार भक्त है तो भगवान है भक्तही भक्तों को भगवान के पास ले जाती है वही भक्ति भगवान को भी भक्तों के पास ले जाती है इसीलिए भक्तों के बिना सृष्टि अधूरी है इसी भक्तों के भाव को 10 को तक पहुंचाने के लिए एंड टीवी लाया है दो नए शोज़ "कहत हनुमान जय श्री राम" और "संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं"!
पेनिनसुला पिक्चर्स के निर्माताओं आलिंद श्रीवास्तव और निसार परवीन ने कहा पौराणिक कथा शैली जनसांख्यिकी से नहीं बनती है कहत हनुमान जय श्री राम के माध्यम से हम हनुमान जी की बाल्यावस्था से लेकर उनके बचपन और परिवार के संबंध पर प्रकाश डालेगा.
 बाल हनुमान के किरदार एकाग्र द्विवेदी ने कहा कि मैं यह किरदार निभाने में बहुत रोमांचित हूं हनुमान जी मेरे लिये सुपर हीरो है  मैं भी उनके जैसी भक्ति करना चाहता हूं
मां अंजनी के भूमिका में अभिनेत्री स्नेहा वाघ ने बताया पुरानी पौराणिक के साथ निभाना एक चुनौतीपूर्ण और रोमांचक होता है मुझे एक अभिनेत्री के तौर पर शो के लांच होने पर मुझे बहुत खुशी है क्योंकि दिल्ली रामलीला के लिए प्रसिद्ध है अंजनी के रूप मे हनुमान जी की मां का किरदार निभा कर मुझे अपने कौशल अभिनय को निखारने और बहुमुखी बनाने का अवसर मिलता है.
"संतोषी मां सुनाए व्रत कथाएं" पर रश्मि शर्मा टेलीफिल्म्स की रश्मि शर्मा ने कहा मानवीय गुणों का एक ऐसा गुण जिसकी संस्कृति और भाषाएं सीमा नहीं है पौराणिक कथाओं के प्रति दर्शकों की रुचि रहती है और संतोषी मां सुनाए व्रत कथाएं के जरिए व्रतों की प्रमाणिक कथाएं और उनके अर्थ को बताना और जीवन में उनकी प्रासंगिकता को हम दिखाना चाहते हैं.
संतोषी मां की भूमिका में अभिनेत्री ग्रेसी सिंह ने कहा संतोषी मां और उनके किरदार से मेरे दिल में बहुत खास जगह है मैं अपनी भक्त स्वाति के लिए व्रत कथाओं के माध्यम से उसे जीवन की कठिनाइयों के समाधान में सहायता करती हूं और वह विजयी भी होती है.
संतोषी मां की भक्त स्वाति की भूमिका में अभिनेत्री तनवी डोगरा ने कहा हम सभी में एक स्वाति है भक्तों को एक मार्गदर्शक चाहिए जो हमें सही मार्ग दिखा सके यह सोशियो माइथोलॉजी शैली में मेरा डेब्यु है मैं खुद मा संतोषी के भक्त हूं और उनके मार्ग पर विश्वास करती हूं अभिनेता आशीष कादयान ने कहा इंद्रेश का किरदार भक्त स्वाति को प्यार करने वाला एक पति है भगवान शिव का सच्चा भक्त है वह चीज लेकिन मासूम है और जरूरतमंद की चुपके से मदद करता है उसके पिता ही उसकी दुनिया है उनके प्रति आदर के कारण हुए उनका हर आदेश मानता है और स्वाति को संतोषी मां से मिलने वाले मार्गदर्शन के कारण उन पर विजई होते हैं इस स्तर के शो में और कैसे जी के साथ काम करने का अवसर पाकर आभारी हूं

Tuesday, 17 December 2019

20:32

डीपीएस निगाही की छात्रा का एप्पल कंपनी में हुआ चयन


दिल्ली पब्लिक स्कूल,निगाही की छात्रा श्वेता जायसवाल का चयन एप्पल कंपनी के लिए हुआ है।इसकी जानकारी देते हुए प्राचार्य सुखवंत सिंह थापर ने बताया कि एनसीएल,निगाही में वरीय लिपिक के पद पर रहे स्वर्गीय श्री आनंद कुमार जायसवाल एवं वर्तमान में कार्यरत श्रीमति सुषमा जायसवाल की सुपुत्री श्वेता जायसवाल इस विद्यालय में नर्सरी कक्षा से ही पढा़ई कर रही थी।सत्र २०१५-१६ में इसने बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में उच्चतर अंकों से सफलता प्राप्त कर आईआईटी की परीक्षा में सराहनीय स्थान हासिल किया और इसका चयन आईआईटी खड़गपुर के लिए हुआ है।अभी श्वेता कंप्यूटर इंजीनियरिंग के फाइनल ईयर में अध्ययनरत है।
ज्ञात हो कि एप्पल कंपनी कुशल कर्मियों के चयन के लिए आईआईटी खड़गपुर आई और कुछ अन्य छात्रों के साथ इसका भी चयन किया।विद्यालय की प्रातःकालीन सभा में प्राचार्य ने गर्व से बताते हुए कहा कि श्वेता जायसवाल ने विद्यालय की गरिमा बढा़ई है।उन्होंने विद्यालय परिवार की ओर से श्वेता को कोटिशः बधाई दी एवं उसके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।गौरतलब है कि स्वयं श्वेता विद्यालय परिवार से आशीर्वाद लेने एवं मिठाई खिलाने के लिए उपस्थित हुई थी।शिक्षकों एवं विद्यालय के कर्मचारियों ने बधाई देते हुए उसे और भी ऊँचे पद पर प्रतिष्ठित होने की कामना की।

Friday, 13 December 2019

07:17

माता चंद्र कौर जी के कातिलों को राजनीतिक पार्टियों के दबाव में बचाने का लगाया आरोप नामधारी संघर्ष


सुनील मिश्रा दिल्ली : पौने चार साल में नामधारी गुरु माता चन्द कौर जी के कातिलो के नहीं पकड़े जाने के कारण आज नामधारी संगत ने नई दिल्ली (जंतर-मंतर) में हज़ारो की गिनती में भारी रोष प्रदर्शन किया। राजनीतिक दबाब में आकर, माता चन्द कौर जी के
हत्यारो को जानबूझ कर गिरफ्तार नहीं करने का आरोप सी.बी.आई. और पंजाब पुलिस के ऊपर लगाए।
नामधारी माता चन्द कौर एक्शन कमेटी के प्रधान मास्टर सुखदेव सिंह द्वारा, एक गुरुद्वारा भैणी साहिब के अन्दर कत्ल हुआ
और वहाँ से एक भी व्यक्ति गिरफ्तार नही हुआ, इसका क्या मतलब ? सी.बी.आई. और पंजाब पुलिस द्वारा गुरुद्वारा भैणी साहिब के किसी भी व्यक्ति से पौने चार साल तक गिरफ्तार करके पूछताछ न करना, जांच एजेंसी के द्वारा भैणी साहब के व्यक्तियों को बचाने वाले पक्षपात को दर्शाता है। हमें भरोसा है कि नामधारी दरबार के प्रधान और कांग्रेस नेता हरविन्दर सिंह
हंसपाल (पूर्व कांग्रेस पाटी प्रधान और पूर्व सांसद) और गुरुद्वारा भैणी साहिब वालो नेअपनी पसन्द के सी बी आई जांच अधिकारी इस के लिए नियुक्ति करवाए हैं। एच.एस. हंसपाल कत्ल कांड में शामिल व्यक्तियों को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है। जो कि इस बात से सन्देह होता है  आज तक गुरुद्वारा भैणी साहिब परिसर के अन्दर से एक भी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं  करने दिया।
नामधारी माता चंन्दकौर एक्शन कमेटी ने, सी.बी.आई. को कांग्रेसी नेता एच.एस. हंसपाल और गुरुद्वारा भैणी साहिब प्रबंधको के प्रभाव में नामधारी गुरु माता चंन्द कौर जी के कत्ल की जााँच एक तरफा करने के दोष लगाए।
इस गुरद्वारा भैणी साहिब परिसर की किले जैसी चारदीवारी है, CCTV  कैमरा हर स्थान पर लगे हुए है, गेट पर मैटल डिटेक्टर भी है और करीब 50 हथियारबन्द पुलिस वाले और प्राइवेट सुरक्षा कर्मी हर समय तैनात रहते हैं। अगर ऐसी जगह पर कत्ल हो जाए, तो इसकी पहली जिम्मेदारी वहााँ के मालिक और प्रबंधको की होती है, पर पौनेचार साल बीत जाने के बावजूद  आजतक गुरद्वारा भैणी साहिब के एक भी व्यक्ति को गिरफ्तार करके सख्ती से पूछताछ नहीं की गई। इतनी कड़ी सुरक्षा होने के बावजूद भी कातिल गुरद्वारा परिसर के अन्दर घुस गए और कत्ल करके बचकर वहा से कैसे भाग गए? जिस गुरुद्वारे के अन्दर ठाकुर उदय सिंह जी (अखौती वर्तमान नामधारी मुखी) की अपनी सगी मााँ बेबे दिलीप कौर जी को जाने की आज्ञा नहीं थी, वहााँ ही उनकी ताई माता चन्द कौर जी के कातिल, उनकी आज्ञा के बिना अन्दर कैसे चले गए और कत्ल करके बाहर कैसे निकल गए।
सांगत ने प्रधानमंत्री जी से विनती की है कि आप भारत से भ्रष्टाचार खत्म करना चाहते हैं। तो फ़िर, सी.बी.आई. कांग्रेस लीडर एच. एस. हंसपाल के इशारो पर क्यो काम कर रही है? माता जी के कातिल तक पहुचने के लिए गुरद्वारा भैणी साहिब में पिछले  25 सालो के दौरान हुए अपराधो की खोज करनी ज़रूरी है. ताकि माता जी के कातिल पकड़े जाएं । भा.ज.पा. राज में कांग्रेसियो का आज भी इतना प्रभाव है कि वह ब्!. से अपराधियों को बचा लेते हैं।  क्या गुरद्वारा भैणी साहिब के लोगो को बचाने के लिए सी.बी.आई. पर भाजपा सरकार का प्रभाव है या यह भ्रष्टाचार का
नतीजा है? लगता है कि गुरद्वारा भैणी साहिब में मौजूद माता चन्द कौर जी के कातिलो को बचाने के लिए सभी पार्टिया एक जुट हैं।
सरकार चाहे किसी भी पार्टी की हो, गुरद्वारे भैणी साहिब वालो की हर सरकार में चलती है जिस कारण गुरद्वारा परिसर के अन्दर लम्बे समय से कई प्रकार की आपराधिक गतिविधियां होने के बावजूद न पुलिस और न ही प्रशासन वहां की ओर रुख करते हैं।
नामधारी माता चन्द कौर एक्शन कमेटी ने कहा है कि इसीलिए ही इस संबंध में एक विनती पत्र माननीय प्रधानमंत्री श्री
नरेंद्र मोदी जी और गृह मंत्री अमित शाह जी को सौंप कर माता जी के कातिलो को जल्द से जल्द पकड़ने और  निश्पपक्ष जाच की मााँग की है !

Monday, 9 December 2019

09:04

तिहाड़ जेल को जल्लाद की तलाश



दिल्ली की तिहाड़ जेल में कोई जल्लाद नहीं होने के मद्देनजर जेल प्रशासन ने जल्लाद मुहैया कराने के लिए देश की अन्य जेलों से संपर्क किया है। सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी। तिहाड़ जेल में ही निर्भया बलात्कार और हत्या मामले के दोषी बंद है। सूत्रों ने बताया कि उत्तर प्रदेश के जेल प्रशासन से अनौपचारिक बातचीत चल रही है।

सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से अनुशंसा की है कि 23 वर्षीय पैरा मेडिकल छात्रा से दुष्कर्म कर उसकी हत्या के मामले में दोषी एक आरोपी विनय शर्मा की दया याचिका खारिज कर दी जाए। उन्होंने बताया कि इसके एक दिन बाद शर्मा ने यह कहकर दया याचिका वापस ले ली कि उसे बिना उसकी सहमति के भेजा गया था।
निर्भया से 16 दिसंबर, 2012 की रात सामूहिक दुष्कर्म के मामले में चार लोगों को फांसी की सजा सुनाई गई है जबकि एक आरोपी ने सुनवाई के दौरान ही खुदकुशी कर ली थी। एक दोषी को नाबालिग होने की वजह से तीन साल सुधार गृह में रखने के बाद रिहा कर दिया गया।

उच्चतम न्यायालय ने 12 दिसंबर 2018 को उस जनहित याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें केंद्र सरकार को मामले के दोषी मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को मिली फांसी की सजा पर अमल करने के निर्देश देने की मांग की गई थी। गौरतलब है कि तिहाड़ जेल में आखिरी बार फांसी की सजा 13 फरवरी 2013 को संसद हमले के दोषी अफजल गुरु को दी गई थी।

Wednesday, 4 December 2019

19:46

पी चिदंबरम की जमानत को कांग्रेस ने बताया सत्य की जीत संबित पात्रा ने कसा तंज




बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने INX Media money laundering case में कांग्रेस नेता एवं देश के पूर्व वित्‍त मंत्री पी. चिदंबरम को सशर्त जमानत दे दी. चिदंबरम की याचिका पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सियासी माहौल भी गरमा गया. भाजपा और कांग्रेस ने एक दूसरे पर ट्वीट करके तंज कसे। कांग्रेस ने कहा कि आखिरकार सत्‍य की जीत हुई. इसके बाद भाजपा की ओर से कहा गया कि कांग्रेस भ्रष्‍टाचार का जश्‍न मना रही है.


मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस के आधिकारिक ट्व‍िटर हैंडलर से कहा गया, 'आखिरकार सत्‍य की जीत हुई, सत्‍यमेव जयते.' दूसरी ओर मामले में चिदंबरम के वकील और कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा कि एक लंबे अंधेरे के बाद चमकीला प्रकाश... इसके बाद भाजपा नेता संबित पात्रा ने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस का जश्‍न मनाने का क्‍लासिक मामला... आखिरकार पी. चिदंबरम भी 'आउट ऑन बेल क्‍लब' में शामिल हो गए हैं. इस क्‍लब के कुछ सदस्य हैं... 1- सोनिया गांधी 2- राहुल गांधी 3- रॉबर्ट वाड्रा 4- मोतीलाल वोहरा 5- भूपिंदर सिंह हुड्डा 6- शशि थरूर आदि.

दुसरी और इस मामले को लेकर नितिन गडकरी ने कहा कि हम कभी भी प्रतिशोधी नहीं रहे हैं. दूसरी तरफ जब कांग्रेस के शासनकाल में चिदंबरम जी गृह मंत्री थे उन्होंने हमारे खिलाफ झूठे मुकदमे दायर किए.उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ भी झूठे मामले दर्ज किए. बाद में हम सभी निर्दोष साबित हुए. गडकरी ने कहा कि चिदंबरम के खिलाफ मुकदमों के सबूत हैं, उनसे पूछताछ हुई है, अब मामला न्यायालय में है और अदालत इस पर फैसला लेगी. दूसरी ओर पी चिदंबरम को INX मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग केस (ED केस) में जमानत मिलने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर जश्न मनाया. कार्यकर्ताओं ने लड्डू बांटे और एक-दूसरे को मिठाईयां खिलाईं.

Monday, 2 December 2019

19:15

हैदराबाद गैंग रेप केस आरोपियों को खाने में मिल रहा है लजीज व्यंजन


*नई दिल्ली।* हैदराबाद गैंगरेप और मर्डर केस से देश में सनसनी मच गई है। इस घटना को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है और विरोध में सड़कों पर प्रदर्शन भी जारी है। वहीं, इस घटना के आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है और पुलिस लगातार उनसे पूछताछ कर रही है। पूछताछ के दौरान इस मामले में एक के बाद एक कई चौंकाने वाले खुलासे हो चुके हैं।

वहीं, सभी आरोपियों को हैदराबाद के पास चेरापल्ली की हाई सिक्योरिटी जेल में रखा गया है। आरोपियों का जेल में 'शाही तरीके से स्वागत' किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि चारों आरोपियों को जेल के अंदर लंच में दाल-राइस, जबकि डिनर में मटन करी दिया जा रहा है।

 हालांकि, कहा यह जा रहा है कि आरोपियों को यह खान जेल मैन्यू के तहत ही दिया जा रहा है। फिलहाल, पुलिस की ओर से इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं कहा जा रहा है। लेकिन, आरोपियों से लगातार पूछताछ की जा रही है।

गौरतलब है कि विगत 27 नवंबर की रात आरोपियों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था। सुबह में महिला की जली हुई बॉडी बरामद की गई थी। पुलिस ने इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। यहां आपको बता दें कि 27 साल की मृतक पीड़िता पेशे से पशु चिकित्सक थी। वारदात के दिन महिला की स्कूटी पंक्चर हो गई थी, जिसका फायदा आरोपियों ने उठाते हुए उसे शराब पिला दी और उसके साथ गैंगरेप किया। फिर, बाद में महिला डॉक्टर को जिंदा जला दिया गया।
13:45

अब सस्ती काल डेटा का दौर खत्म सभी कंपनियों ने बढ़ाई दरें






नयी दिल्ली
वोडाफोन आइडिया तथा एयरटेल के प्रीपेड उपभोक्ताओं की जेबों पर तीन दिसंबर से अतिरिक्त बोझ पड़ने वाला है। दोनों कंपनियों ने प्रीपेड मोबाइल सेवाओं की दरें 50 प्रतिशत तक बढ़ाने की रविवार को घोषणा की जो करीब चार साल में पहली वृद्धि है।

दूरसंचार सेवा प्रदाताओं ने दिसंबर के शुरू में दरें बढ़ाने की घोषणा पहले ही कर रखी थी। इन दोनों कंपनियों ने रविवार को अलग-अलग बयान जारी कर में अपने विभिन्न प्लान की बढ़ी दरों की जानकारी दी।

वोडाफोन आइडिया ने सिर्फ अनलिमिटेड डेटा एवं कॉलिंग की सुविधा वाले प्रीपेड प्लान की दरें बढ़ायी हैं।

एयरटेल ने सीमित डेटा एवं कॉलिंग वाले प्लान की शुल्कों में भी संशोधन किया है।

वोडाफोन आइडिया की विज्ञप्ति के मुताबिक उसने सर्वाधिक 41.2 प्रतिशत की वृद्धि सालाना प्लान में की है। उसके इस प्लान की दर 1,699 रुपये से बढ़कर 2,399 रुपये हो गयी है।

इसी तरह रोजाना डेढ़ जीबी डेटा की पेशकश के साथ 84 दिन की वैधता वाले प्लान की दर 458 रुपये से 31 प्रतिशत बढ़ा कर 599 रुपये कर दी गयी है।

कंपनी का 199 रुपये वाला प्लान अब 249 रुपये का हो जाएगा।

कंपनी ने इसके साथ ही अन्य नेटवर्क पर आउटगोइंग कॉल करने पर छह पैसे प्रति मिनट की दर से शुल्क लगाने की भी घोषणा की है।

एयरटेल ने सालाना प्लान को 41.14 प्रतिशत बढ़ा कर 1,699 रुपये की जगह 2,398 रुपये का कर दिया है।

कंपनी का सीमित डेटा वाला सालाना प्लान अब 998 रुपये की जगह तीन तारीख से 1,498 रुपये का हो जाएगा। इस प्लान की दर में यह 50.10 प्रतिशत की वृद्धि है।

इसी तरह एयरटेल ने 82 दिन की वैधता के साथ असीमित डेटा वाले प्लान को 499 रुपये से 39.87 प्रतिशत बढ़ाकर 698 रुपये और सीमित डेटा कर दिया है।

कंपनी की 82 दिन की वैधता वाले प्लान की दर 33.48 प्रतिशत महंगी हो गयी है। इसकी दर अब 448 रुपये से बढ़ाकर 598 रुपये कर दी गयी है। इन दोनों प्लान की वैधता अब 82 दिन की जगह 84 दिन होगी।

कंपनी ने 28 दिन की वैधता वाले विभिन्न प्लान की दरों में 14 रुपये से लेकर 79 रुपये तक की वृद्धि की है।
11:21

दिल्ली में महिलाओं के लिए डीटीसी में फ्री का क्या औचित्य है- शैलेंद्र


दिल्ली में डीटीसी महिलाओं के लिए फ्री का क्या औचित्य, यह तो पैसे की बर्बादी है-मैं शैलेंद्र वर्णवाल कुछ दिनों से दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन डीटीसी बस क्लस्टर बस शेयर ऑटो ई-रिक्शा ग्रामीण सेवा आदि का प्रयोग कर रहा हूं l मैं यह जानने की कोशिश कर रहा हूं कि क्या यह योजना वास्तव में महिलाओं के लिए कल्याणकारी है या फिर यूं ही पैसे की बर्बादी l
इस योजना से वास्तव में दिल्ली की महिला वोटर लाभान्वित हो रही है या फिर कोई और ,क्योंकि इस परियोजना को चलाने के पीछे आम आदमी पार्टी की योजना दिल्ली के महिला वोटर की सहानुभूति, एवं वोट लेना भी है l

इसी दौरान कई ई-रिक्शा शेयर ऑटो ग्रामीण सेवा चलाने वाले भाइयों से भी बात हुई वह वास्तव में इस परियोजना से दुखी हैं l उनका कहना है कि पहले उन्हें सवारी तुरंत मिल जाती थी अब उन्हें सवारियों के लिए इंतजार करना पड़ता हैl क्योंकि महिलाएं अब डीटीसी का इंतजार करती हैं और वह उसी से फ्री में चली जाती हैं l जब महिला बस में सफर करेंगी तो उनके साथ का मर्द भी डीटीसी में ही चला जाता हैl इस कारण से उनकी रोजी-रोटी पर असर पड़ रहा है और वह केजरीवाल जी के इस परियोजना से काफी खफा दिखे l उनका कहना है कि हम अपने रोजगार की कीमत पर  किसी  से समझौता नहीं कर सकते  यह हमारे  रोजी  रोटी  को नुकसान पहुंचाने वाला परियोजना है l, इसका खामियाजा केजरीवाल जी को आगामी विधानसभा चुनाव में पहुंचेगा l
जब हमने इनसे  कहा कि इस योजना से दिल्ली के महिलाओं को बहुत लाभ हो रहा है तो उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है l दिल्ली के लोग चाहे महिला हो या पुरुष वह ज्यादातर कामकाजी होते हैं और काम के लिए ही वह ई-रिक्शा ग्रामीण सेवा ऑटो आदि का प्रयोग करते हैं l इनमें महिलाओं के पास भी इतना समय नहीं है कि वह डीटीसी बस का प्रयोग करें और भीड़भाड़ एवं और असुरक्षित तरीके से यात्रा करें l फ्री टिकट होने के बाद भी  दिल्ली में लाखों की संख्या में ऑफिस कार्य, फील्ड वर्क, यहां तक कि घरों में काम करने वाली मेड भी डीटीसी बस का प्रयोग नहीं करती हैं l मध्यम एवं उच्च वर्ग की महिलाएं कार, स्कूटर वं मेट्रो का सहारा लेती हैं l
इसलिए दिल्ली की महिलाएं बहुत कम डीटीसी बसों का प्रयोग करती हैं वैसे भी वे इतनी सक्षम है कि अपने गंतव्य एवं कार्य स्थल तक पहुंचने कि पैसे के खर्च स्वयं वहन कर सकें l फिर यह मामला कामकाजी महिलाओं के  स्वाभिमान से भी जुड़ा मामला है l
डीटीसी बसों में ज्यादातर  वह महिलाएं सफर कर रही हैं जो बाहर से आए हुई होती हैं या फिर वापस जिनके पास समय होता है l
कुछ दिल्ली की महिलाएं जो बसों में सफर कर रही थी lउनसे जब हमने पूछा कि  दिल्ली सरकार आपको फ्री में  डीटीसी की सफर करा रही है तो क्या आप उन्हें वोट दोगे तो उन्होंने हंसते हुए कहा  कि क्या हमारे पास पैसे नहीं है जो कि हम डीटीसी बस  की टिकट नहीं ले सकते ?
यह तो सरकार फ्री में दे रही है तो हम इसका प्रयोग कर रहे हैं l
उनका साफ मत था कि  फ्री टिकट के लालच में हम  वोट नहीं करेंगे l
सरकार  बनाने के लिए हमें बहुत सारी चीजों को देखना हैl हम कभी कभार ही डीटीसी से सफर करते हैंl
वैसे भी पांच ₹ की टिकट  बहुत बड़ी रकम नहीं है  इससे ज्यादा हम भीख में ही दे देते हैं l

कुछ कॉलेज के छात्राओं से भी चर्चा करने पर उन्होंने कहा कि सरकार फ्री दे रही है इसलिए हम इसका प्रयोग कर रहे हैं अन्यथा हमारे पास पैसे हैं lअभिभावक हमें इतना पैसे देते हैं कि हम आराम से कॉलेज पहुंचकर अपनी पढ़ाई कर सकें l हमारे लिए नौकरी की  रोजगार  की  ज्यादा  चिंता है उसी को  हम ध्यान रखते हुए अपने अच्छे भविष्य के लिए  चुनाव के वक्त मत का प्रयोग करेंगे l
कुल मिलाकर संक्षेप में हम यह कह सकते हैं कि महिलाओं के लिए फ्री डीटीसी पार्क टिकट की परियोजना दिल्ली के सक्षम एवं स्वाभिमानी  महिलाओं को प्रभावित नहीं कर पा रही हैं l, इसलिए केजरीवाल जी की यह उम्मीद की यह परियोजना उनको वोट दिलवाएगा इसमें उनको पूर्णता निराशा हाथ लगेगी l
मैं दिल्ली को विगत 18 सालों में समझ पाया हूं तो यह है कि पूरे देश में दिल्ली वालों की प्रति व्यक्ति आय प्रथम या द्वितीय पोजीशन पर रहती रही है ऐसा कांग्रेस के समय से ही है l सभी दिल्लीवासी के पास गाड़ी एवं स्कूटर हैl, परियोजना दिल्ली से बाहर आने वाले लोगों को आकर्षित कर सकती है लेकिन यह मूल रूप से दिल्ली वालों के लिए गैर जरूरी परियोजना है l

शैलेंद्र वर्णवाल की कलम से
9891167773

Saturday, 30 November 2019

11:57

कर्मवीर चक्र अवार्ड से सम्मानित हुए दिल्ली के श्री कर्मवीर सिंह


 दिल्ली के मयूर विहार के कर्मवीर सिंह को संयुक्त राष्ट्र द्वारा समर्पित अंतरराष्ट्रीय परिषद एनजीओ "आई कांगो "द्वारा कर्मवीर चक्र सम्मान से सम्मानित किया गया यह सम्मान नोएडा में आयोजित तीन दिवसीय 25 /26/ 27 नवंबर 2019 "रेकस कर्मवीर ग्लोबल फैलोशिप के दौरान प्रदान किया गया यह सम्मान प्राप्त करने वाले देश विदेश  के नामचीन रह चुके हैं जिसमें पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम, सफेद क्रांति के जनक वर्गीज कुरियन ,एक्ट्रेस गुल पनाग, संयुक्त राष्ट्र के पूर्व डायरेक्टर डेविड नूर, अमेरिकी राजदूत और समाजसेवी जॉन ग्रहमआदि शामिल है जिसमें कर्मवीर सिंह को यह सम्मान" फूड सेफ्टी और डिस्ट्रीब्यूटर ऑफ फूड स्ट्रीट चिल्ड्रंस " उत्कृष्ट योगदान के लिए प्रदान किया गया है बता दें कि कर्मवीर सिंह ऑल इंडिया रोटी बैंक ट्रस्ट के ईस्ट दिल्ली के प्रेसिडेंट है जिसके माध्यम से गरीब बेसहारा बस्ती में रहने वाले बच्चों को डेली खाना खिलाते हैं समय-समय पर बच्चों को कपड़े स्टेशनरी और किताबें भी देते हैं इससे पहले इन्हें रोबिन्हुड आर्मी एसोसिएशन सर्टिफिकेट भी दिया जा चुका है रोबिन हुड की टीम "कौन बनेगा करोड़पति" में भी आ चुकी है इन्होंने सामाजिक कार्यों से भारत का दिल दिल्ली का नाम रोशन किया है और आगे भी करते रहेंगे!
07:08

क्या महाराष्ट्र की राजनीति का असर झारखंड में होने वाले चुनाव पर भी पड़ेगा



महाराष्ट्र की सत्ता येन केन प्रकारेण हथिया कर उद्धव ठाकरे, शरद पवार, और सोनिया गांधी ने खुद को कितना सुरक्षित कर लिया कहना थोड़ा कठिन है, पर एक बात साफ है कि कांग्रेस की धर्म निरपेक्षता, शिव सेना का हिंदुत्व,और शरद पवार की राजनैतिक महत्वाकांक्षा को देश की जनता नए नजरिए से देखेगी,कथित अल्पसंख्यक और धर्मनिरपेक्ष मतों पर यह दुरभि सन्धि असर अवश्य डालेगी इसमें कोई दो राय नहीं, साथ ही झारखंड, और पश्चिम बंगाल में होने वाले चुनाव पर भी इसका असर अवश्य पड़ेगा,इसमें भी कोई दोराय नही।
तत्कालिक तौर पर भाजपा को सत्ता से बाहर होना अवश्य पड़ा, किंतु भाजपा गठबंधन से अलग होना शिवसेना को भारी अवश्य पड़ेगा,सीटों के बंटवारे में दोनों(भाजपा व शिवसेना)ने लगभग बराबर सीटों पर चुनाव लड़ा,जहां भाजपा 70%से अधिक मार्जिन से चुनाव जीती वहीं शिव सेना महज 40%से कुछ ही अधिक मार्जिन से जीत हासिल की,कहा जाय तो अतिशयोक्ति नहीं होगी कि भाजपा गठबंधन को जनादेश मिला जिसका कांग्रेस व एन सी पी ने शिवसेना को झांसे में लेकर अपहरण कर लिया,यह कर्नाटक की पुनरावृत्ति है, सम्भव हो कुछ ही दिनों या महीनों में यहीं हाल उद्धव ठाकरे का हो,मेरे हिसाब से एक मायने में भजपा को इसका लाभ मिला, अब शिव सेना से अलग होकर भाजपा सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी,और यदि लड़ती तो आज यह थुक्का फजीहत की स्थिति न बनती,जो गठबंधन की वजह से सीटों के बंटवारे में आधी सीटों पर लड़ने की वजह से बनी,एक तरह से शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने पैरों में कुल्हाड़ी मार ली,कल निश्चित है साथ सत्ता हासिल करने वाले दल अलग चुनाव लड़ें,जिसका खामियाजा शिवसेना भुगतना पड़ेगा, अब इस खेल में कांग्रेस व एन सी पी के पास खोने को कुछ भी नही,और पाने को क्या है यह सबके सामने है,, ।

Tuesday, 26 November 2019

15:38

महाराष्ट्र के सियासी संकट पर प्रधानमंत्री मोदी ने ली बैठक



*नई दिल्ली।* महाराष्ट्र में नई सरकार को लेकर चल रही जद्दोजहद के बीच सबसे बड़ी खबर सामने आई है। फडणवीस सरकार को बचाने के लिए अब बीजेपी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में अहम बैठक बुलाई है। इस बैठक में पीएम मोदी के साथ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह और वरिष्ठ नेता जेपी नड्डा मौजूद हैं।

*नए फॉर्मूले पर हो सकती है चर्चा*

बताया जा रहा है फडणवीस को बहुमत साबित करने के लिए 30 घंटे का वक्त मिला है। ऐसे बीजेपी उस हर संभव कोशिश पर चर्चा कर रही है जिससे सरकार को बचाया जा सके। इसके लिए कोई नया फॉर्मूला बनाना पड़ा तो बनाया जाएगा।

*तीनों दल चुनेंगे सीएम*

आपको बता दें कि शाम 5 बजे शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की सामूहिक बैठक होने वाली है। इस बैठक में ही नेता चुना जाएगा। यानी तीनों दलों का नेतृत्व कौन होगा ये साफ हो जाएगा। मुख्यमंत्री के नाम पर शाम 5 बजे मुहर लग जाएगी।

*बीजेपी का आखिरी दांव*

ऐसे में इस बैठक से पहले बीजेपी की बैठक भी काफी अहम है क्योंकि इससे फडणवीस सरकार को बचाने के लिए आखिरी और कारगर दांव चलने पर चर्चा हो रही है।

*उद्धव ठाकरे के नाम पर मुहर*

तीनों दलों की बैठक में उद्धव ठाकरे के नाम पर बतौर सीएम मुहर लग सकती है। इससे पहले भी तीनों दलों की 22 नवंबर को हुई बैठक में उद्धव को सभी दलों ने सीएम बनने के लिए मनाया था। हालांकि इसके बाद तेजी से घटनाक्रम बदला और नए समीकरण सामने आए।
15:05

पाकिस्तानी सेना में फेरबदल लेफ्टिनेंट जनरल मिर्जा बने नए चीफ आफ ज्वाइंट स्टाफ


*पाकिस्तान :* पाकिस्तानी सेना में बड़े पैमाने पर फेरबदल किया गया है. पाकिस्तानी सेना ने सोमवार को बताया कि लेफ्टिनेंट जनरल साहिर शमशाद मिर्जा को नया चीफ ऑफ ज्वाइंट स्टाफ नियुक्त किया गया है जबकि दो मेजर जनरल को भी पदोन्नति देकर लेफ्टिनेंट जनरल बनाया गया है.

पाकिस्तानी सेना की ओर से जारी बयान के मुताबिक अभी तक मेजर जनरल के पद पर कार्यरत अली आमिर अवान और मुहम्मद सईद को पदोन्नति देकर लेफ्टिनेंट जनरल बनाया गया है. बयान में कहा गया, लेफ्टिनेंट जनरल साहिर शमशाद मिर्जा को चीफ ऑफ ज्वाइंट स्टाफ नियुक्त किया गया है. अवान सेना में संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी के महानिरीक्षक होंगे जबकि सईद को इस्लामाबाद स्थित राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

अन्य नियुक्तियों में लेफ्टिनेंट जनरल मुहम्मद अमीर को ऐड्जुटैंट जनरल बनाया गया है. सेना के मुताबिक, लेफ्टिनेंट जनरल नदीम जकी मांज को रणनीतिक योजना डिवीजन बल का महानिदेशक, लेफ्टिनेंट जनरल शाहीन मज़हर मेहमूद को मंगला कॉर्प का कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल नौमान महमूद को पेशावर कॉर्प का कमांडर नियुक्त किया गया है.

सेना में यह पदोन्नति और स्थानांतरण ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टॉफ कमिटी के अध्यक्ष जनरल जुबैर महमूद हयात के सेवानिवृत्त होने के बाद की गई है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने 21 नवंबर को लेफ्टिनेंट जनरल नदीम रजा की नियुक्ति ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टॉफ कमिटी के अध्यक्ष के तौर पर की थी जो 27 नवंबर से प्रभावी होगी. खान ने पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा का कार्यकाल भी तीन साल के लिए बढ़ा दिया था. वह इस हफ्ते सेवानिवृत्त होने वाले थे लेकिन सेवा विस्तार के बाद वह नवंबर 2022 तक इस पद पर बने रहेंगे.

Friday, 22 November 2019

22:35

सीजेआई रंजन गोगोई ने जाते-जाते पेश की एक और मिसाल



नई दिल्ली  चीफ जस्टिस  रंजन गोगोई रिटायर होने के 3 दिन के भीतर खाली किया सरकारी बंगला सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई पिछले 17 नवंबर को रिटायर हुए हैं। लेकिन, संभवत: वे सुप्रीम कोर्ट के पहले रिटायर्ड चीफ जस्टिस बन गए हैं, जिन्होंने अपने रिटायरमेंटट के महज तीन दिनों बाद ही अपना सरकारी बंगला खाली कर दिया है।

उन्हें चीफ जस्टिस के तौर पर नई दिल्ली के 5 कृष्ण मेनन मार्ग पर सरकारी बंगला मिला हुआ था, जहां तय प्रावधानों के मुताबिक वह रिटायरमेंट के एक महीने बाद तक रह सकते थे। लेकिन, उन्होंने अंतिम तारीख का इंतजार नहीं किया और फौरन आवास खाली करके एक मिसाल पेश की है। जस्टिस गोगोई पिछले साल 3 अक्टूबर को चीफ जस्टिस बने थे। जस्टिस गोगोई से पहले पूर्व सीजेआई जेएस खेहर ने भी सेवा समाप्ति के एक हफ्ते बाद ही आधिकारिक बंगला छोड़ दिया था। गुवाहाटी में रहेंगे जस्टिस गोगोई नई दिल्ली के लुटियंस जोन स्थित 5 कृष्ण मेनन मार्ग वाला बंगला खाली करने के बाद बुधवार को वे गुवाहाटी के लिए रवाना हो गए। वह सुबह-सुबह ही वहां अपनी पत्नी और बेटे के साथ लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंच गए। एयरपोर्ट से वे सीधे गुवाहाटी के गीतानगर इलाके में स्थित अपने आवास की ओर प्रस्थान कर गए। रिटायरमेंट के बाद वह गुहावाटी के इसी आवास में रहेंगे। भारत के पूर्व चीफ जस्टिस को यह आवास गुवाहाटी हाई कोर्ट की ओर से उपलब्ध कराया गया है। कार्यकाल के आखिरी दिन भी दिया एक अहम संदेश जस्टिस रंजन गोगोई ने अपने कार्यकाल के आखिरी दिन सुप्रीम कोर्ट के रूम नंबर एक में कुछ वक्त बिताया था, जहां उन्हें औपचारिक विदाई दी गई। इस दौरान उन्होंने एक विडियो के जरिए उपस्थित लोगों को एक संदेश दिया। उन्होंने कहा कि कोर्ट के कामकाज में गुंडागर्दी और धमकाने वाली हरकतों की वजह से इसका स्तर गिरा है, जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि अदालत की गरिमा को हरहाल में बरकरार रहने की आवश्यकता है। अयोध्या पर ऐतिहासिक फैसले से इतिहास में दर्ज हुआ नाम देश में अब जब कभी भी अयोध्या विवाद का जिक्र होगा देश के 46वें चीफ जस्टिस रंजन गोगोई का नाम हमेशा लिया जाएगा। उन्होंने न केवल उस पांच जजों की संवैधानिक खंडपीठ की अगुवाई कि जिसने अयोध्या विवाद को हमेशा-हमेशा के लिए सुलझा दिया। बल्कि, जिस हौसले के साथ इतने जटिल और पुराने कानूनी मामले को 40 दिन तक लगातार सुनवाई करके उसे एक सुखद अंजाम तक पहुंचाया वह देश की अदालती प्रक्रिया के लिए एक मिसाल बन चुका है। इन फैसलों में भी निभाई अहम भूमिका जस्टिस गोगोई को भारतीय न्याय व्यवस्था में जिन और बड़े फैसलों के लिए याद किया जाएगा उनमें सीजेआई के दफ्तर को आरटीआई के दायरे में लाना, असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) लागू करना, राफेल विमान सौदा में सरकार को क्लीनचिट जैसे मामले शामिल हैं। इसके अलावा जस्टिस गोगोई को इसके लिए भी याद किया जाएगा कि उन्होंने जनवरी, 2018 में तत्कालीन चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के कार्य प्रणाली के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के तीन और जजों के साथ मिलकर प्रेस कांफ्रेंस की थी, जो देश के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ था।