Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label राष्ट्रीय. Show all posts
Showing posts with label राष्ट्रीय. Show all posts

Tuesday, 22 September 2020

08:49

deepak tiwari लोक भाषा बघेली कवियों में बैजनाथ बैजू सैफुद्दीन



घेली कविता की त्रिवेणी...बैजू सैफू, शंभू...
Tap news India deepak tiwari 
लोक भाषा बघेली कवियों में बैजनाथ बैजू,.  सैफुद्दीन सैफू .और शंभू प्रसाद द्विवेदी शंभू काकू .को बघेली कविता का त्रई कहां जाता है । वस्तुतः बघेली में कविताओं के मुख्य शुरुआत यहीं से होती है। यद्यपि इससे पूर्व भी नाथ राय हरिदास और मुन्नीलाल कि कुछ कविताएं मिलती है। बैजू को बघेली कविता का वटवृक्ष कहा जाता है उनकी प्रकाशित बैजू की. सूक्तियां. में बघेलखंड का अंतर्मन झलकता है। 
अभी तक बैजू तथा शंभू काकू की कविताओं का कोई संग्रह लोगों के बीच नहीं है जबकि सैफू का बघेली साहित्य काफी मात्रा में मैं उपलब्ध है। यह सुखद संयोग है कि शंभू काकू का एक कविता संग्रह. बोले चला निरा  लबरी .अगले महीने लोगों के बीच उपलब्ध हो जाएगा वही बैजनाथ बैजू के पौत्र चंद्रनाथ के अनुसार बैजू की प्रकाशित बैजू की .सूक्तियां. का पुनः प्रकाशन के साथ बैजू जी के दो अन्य कविता संग्रह साल के अंत तक छप कर  लोगों के बीच उपलब्ध हो जाएंगे ।  यह बघेली साहित्य के लिए एक उपलब्धि होगी ।

Monday, 21 September 2020

06:23

चीन ने अमेरिकी नेवल बेस गुआम पर हमले का नकली वीडियो जारी कियाdeepak tiwari

 September 21, 2020
H‑6 बॉम्बर से किया अटैक
पेइचिंग। अमेरिका से जारी तनाव के बीच चीन ने प्रशांत महासागर में स्थिति अमेरिकी नौसैनिक बेस गुआम पर हमले का नकली वीडियो जारी किया। इस हमले में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयरफोर्स ने अपने एच‑6 परमाणु बॉम्बर का उपयोग किया। चीनी सेना ने इस हमले का बकायदा एक सिमुलेटेड वीडियो भी जारी किया है, जिसमें उसका एच‑6 बॉम्बर अमेरिकी एंडरसन एयर फोर्स बेस पर बम गिराता दिखाई दे रहा है।
चीनी एच‑6 बॉम्बर ने गुआम में किया ‘अटैक’
पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयरफोर्स के वीबो अकाउंट पर यह वीडियो शनिवार को अपलोड किया गया था। चीनी वायुसेना का दो मिनट और 15 सेकंड का यह वीडियो किसी हॉलीवुड फिल्म की ट्रेलर की तरह दिखाई दे रहा है। जिसमें चीन का एच‑6 बॉम्बर रेगिस्तान में स्थित किसी एयरफोर्स बेस से उड़ान भरता दिखाई दे रहा है। वीडियो में कहा गया है कि युद्ध के देवता एच-6के हमले पर जा रहे हैं।
इस वीडियो में आगे दिखाई देता है कि चीनी एयरफोर्स का पायलट आसमान में एक बटन दबाता है और मिसाइल समुद्र के किनारे बने एक रनवे पर गिरकर फट जाती है। जैसे ही मिसाइल रनवे से टकराती है वैसे ही उपग्रह से इसका चित्र दिखाया जाता है। जिसमें यह रनवे अमेरिकी नेवल बेस गुआम के एंडरसन एयरफोर्स बेस की तरह दिखाई देता है। इस वीडियो में चीनी एयरफोर्स ने कई तरह के म्यूजिक का भी प्रयोग किया है।
चीनी और अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने नहीं की कोई टिप्पणी
PLAAF ने वीडियो को जारी कर कैप्शन में लिखा कि हम मातृभूमि की हवाई सुरक्षा के रक्षक हैं। हमारे पास मातृभूमि के आसमान की सुरक्षा करने का हमेशा से भरोसा और क्षमता है। इस वीडियो के जारी होने के बाद न तो चीनी रक्षा मंत्रालय ने और न ही अमेरिकी इंडो-पैसिफिक कमांड ने अभी तक कोई टिप्पणी की है।
चीन ने इसलिए जारी किया है यह वीडियो
सिंगापुर के इंस्टीट्यूट ऑफ डिफेंस एंड स्ट्रेटेजिक स्टडीज के एक रिसर्च फेलो कोलिन कोह ने कहा कि चीन ने इस वीडियो को एक खास मकसद से जारी किया है। चीन के इस वीडियो को जारी करने का उद्देश लंबी दूरी तक मार करने की उसकी क्षमताओं का प्रदर्शन करना है। इस वीडियो के जरिए चीन ने अमेरिका को चेतावनी भी दी है कि वह ताइवान और साउथ चाइना सी में विवादों से दूर रहे।
प्रशांत महासागर में अमेरिका का बड़ा सैन्य ठिकाना है गुआम
प्रशांत महासागर में स्थित गुआम नेवल बेस चीन के नजदीक अमेरिका का बड़ा सैन्य ठिकाना है। इस नेवल बेस की बदौलत अमेरिका चीन के साथ उत्तर कोरिया की हरकतों पर भी करीबी नजर रखता है। हाल के दिनों में चीन से बढ़ते तनाव के बीच अमेरिका ने गुआम नेवल बेस पर सैनिकों की संख्या के साथ ही कई आधुनिक एयरक्राफ्ट को भी तैनात किया है। यहां से मिनटों में अमेरिकी बॉम्बर साउथ चाइना सी में स्थित चीन के कई सैन्य ठिकानों पर भीषण बमबारी कर सकते हैं।

Monday, 14 September 2020

07:52

अब्राहम लिंकन के बाल के गुच्छे 81 हजार डॉलर में नीलाम

  deepak tiwari 
 September 14, 2020

टेलीग्राम के लिए भी जमकर लगी बोली
वाशिंगटन। अब्राहम लिंकन के बाल का गुच्छा और खून लगे टेलीग्राम की नीलामी हो गई है. नीलामी में बाल और टेलीग्राम की कीमत 81 हजार डॉलर लगाई गई। टेलीग्राम में 1865 में उनकी हत्या के बारे में बताया गया है।
बॉस्टेन में शनिवार को खत्म हुए नीलामी में दोनों सामानों की बिक्री हुई। हालांकि खरीदार कौन है इस बारे में जानकारी साझा नहीं साझा की गई है। लिंकन को गोली लगने के बाद 2 इंच लंबा बाल का गुच्छा पोस्टमॉर्टम परीक्षण के दौरान हटाया गया था। उसके बाद गुच्छे को डॉक्टर लेयमन बीचर टोड के हवाले किया गया। बीचर 16वें राष्ट्रपति की विधवा के चचेरे भाई थे। बताया जाता है कि जिस वक्त लिंकन का पोस्टमॉर्टम किया जा रहा था उस वक्त बीचर मौजूद थे। बाल को सरकारी युद्ध विभाग के टेलीग्राम पर लगाया था, जिसे जॉर्ज किनेर ने डॉक्टर बीचर को भेजा था।
टेलीग्राम वाशिंगटन में 1865 में 14 अप्रैल को 11 बजे रात में हासिल किया गया। RR ऑक्शन ने एक बयान में कहा, “इस सिलिसिले में हमे मालूम है कि ये राष्ट्रपति के बेड के पास मौजूद परिवार के एक सदस्य की तरफ से आया है।” 81 हजार 250 डॉलर की बिक्री कीमत थोड़ा ज्याद रखी गई थी। जबकि उसके 75 हजार डॉलर होने का अनुमान जताया जा रहा था। टेलीग्राम इस मामले में ज्यादा अहम हो जाता है कि इसमें एक थ्योरी को खारिज किया गया है। अब्राहम लिंकन की हत्या के पीछे कहा जाता है कि उस वक्त के युद्ध सचिव एडविन स्टानटोन ने वारदात की साजिश रची थी। इतिहासकारों के मुताबिक स्टानटोन के उनसे राजनीतिक और निजी मतभेद थे। 14 अप्रैल 1865 को अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति अब्राहिम लिंकन को वॉशिंगटन के ‘फोर्ड थियेटर’ में नाटक देखते समय गोली मार दी गई। अगली सुबह उनका देहांत हो गया था।

Wednesday, 9 September 2020

01:44

जाने आखिर क्यों इस महिला ने पैदल चलकर तय किया 1500 किमी का सफर deepak tiwari

जोहन्ना मारिया स्कॉटिश यूनिवर्सिटी में एग्रीकल्चर की स्टूडेंट हैं। उनके पोनी का नाम हेचिजो है जिसकी उम्र 14 साल है। जोहन्ना पोनी को अपने साथ यूनिवर्सिटी ले जाना चाहती हैं,लेकिन उसे अपने घर से यूनिवर्सिटी तक ले जाने का खर्च तकरीबन डेढ़ करोड़ है। पैसों की कमी के चलते जोहन्ना के लिए पोनी को ले जाने का इतना खर्च उठाना भी मुश्किल है।
जोहन्ना को जब कोई और रास्ता नहीं सूझा तो उसने यूनिवर्सिटी तक लगभग 1500 किमी की दूरी अपने पोनी के साथ मिलकर अकेले ही पैदल तय करने का फैसला किया।
पिछले सात महीनों के दौरान जोहन्ना ने हर दिन 13 से 20 किलोमीटर का सफर पोनी के साथ तय किया। पोनी के साथ जोहन्ना ने एक छोटा सा कार्ट भी अटैच किया। इसके ऊपर उसने अपना सारा सामान रखा।
जोहन्ना ने अपने मजेदार सफर को सोशल मीडिया पर शेयर किया। उन्होंने ये भी बताया कि जब रात को वे काफी थक जातीं तो पोनी के साथ किसी खेत में सो जातीं।
जोहन्ना कहती हैं - ''जब पोनी के साथ अपने सफर को मैंने सोशल मीडिया पर शेयर किया तो ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने मुझे उनके घर में रात रूकने का ऑफर दिया। लेकिन मेरे लिए पोनी के साथ किसी के घर ठहरना भी आसान नहीं था''।
जोहन्ना के लिए ये सफर यादगार रहा। इस दौरान उनके कई दोस्त बनें। उन्होंने हर तरह के मौसम का मजा लिया। कभी तपती धूप में सफर किया तो कभी कड़कड़ाती ठंड के बीच खेतों में रात गुजारी।
जोहन्ना के पिता ने एक कैम्पर वैन के माध्यम से उनके सफर को आसान बनाया और चैनल को पार करने में जोहन्ना की मदद की। इस तरह जोहन्ना 13 जुलाई को इंग्लैंड पहुंचीं। उसके बाद 1 अगस्त से उन्होंने अपने सफर की एक बार फिर शुरुआत की। अपने प्यारे पोनी के साथ उनका ये सफर अब भी जारी है।

Sunday, 6 September 2020

17:50

यूके की आर्टिस्ट बेकेह स्टोनफॉक्स पेपर की कतरन से बनाती हैं पोर्ट्रेट तस्वीर ,deepak tiwar

यूके की आर्टिस्ट बेकेह स्टोनफॉक्स पेपर की कतरन से बनाती हैं पोर्ट्रेट,deepak tiwari दिन की रोशनी के साथ रंग बदलती हैं इनकी बनाई कलाकृतियां
यूके की 45 वर्षीय बेकेह स्टोनफॉक्स पेपर की रंगीन कतरनों द्वारा मुश्किल से मुश्किल आकृतियां बनाने में माहिर हैं। कागज के छोटे से छोटे टुकड़े का भी ये उपयोग कर लेती हैं। वैसे तो ये आर्ट वर्क लंबे समय से कर रही हैं, लेकिन बीते पांच वर्षों से ये दुनिया की नजरों में छा गई हैं।
इनके आर्ट कलेक्शन में काल्पनिक ह्यूमन कैरेक्टर से लेकर विभिन्न प्राणी जैसे डॉगी, कैट, गोरिल्ला, हॉर्स आदि हैं, इनको देखकर लगेगा जैसे ये अब बोलने ही वाले हों। रंगीन कागज से बनी इनके पोर्ट्रेट की खासियत यह है कि ये दिन की कम-ज्यादा होती रोशनी के अनुसार रंग बदल लेते हैं।
स्टोनफॉक्स कागज की कतरनों को चोटी जैसा गूंथकर किसी का भी चेहरा या पूरी आकृति बना देती हैं। इनका कहना है कि दुनिया में ऐसा कुछ नहीं, जिसे वे अपने आर्ट से न बना सकें।
बेकेह स्टोनफॉक्स ने अभी तक केवल पुरुषों तथा प्राणियों की आकृतियां ही बनाई थीं, लेकिन अब वे महिलाओं के विभिन्न पोज पर काम कर रही हैं।
इनके पोर्ट्रेट की खासियत यह भी है कि यह थी-डी तकनीक से प्रेरित हैं। जैसे-जैसे दिनभर में सूरज की रोशनी कम-ज्यादा होती है, पोर्ट्रेट के रंग अपने आप कम या ज्यादा होने लगते हैं। इनमें कभी शाइनिंग आती है तो कभी हल्के रंग दिखने लगते हैं।

Tuesday, 1 September 2020

02:42

अफगानिस्तान में फिर बम विस्फोट, तीन सैनिकों की मौत कई घायल हुए

  deepak tiwari 
 September 1, 2020

काबुल । अफगानिस्तान के पूर्वी प्रांत पक्तिया की राजधानी गार्देज में मंगलवार को एक बम विस्फोट में कम से कम तीन सैनिकों की मौत हो गयी और पांच अन्य घायल हो गये। आतंकवादी संगठन तालिबान ने बम विस्फोट की जिम्मेदारी ली है। यहां सुरक्षा कमान के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी।

 
उन्होंने एक बयान में कहा कि दुर्भाग्य से, हमले में हमारे तीन सैनिक मारे गये और पांच अन्य घायल हो गये। स्थिति अब सामान्य है और सुरक्षा बल इलाके में तैनात हैं। बतादें कि इससे पहले स्थानीय सरकार के प्रवक्ता अब्दुल रहमान मांगल ने गार्देज में बम विस्फोट की पुष्टि की थी।
वहीं, बतादें कि प्रांत के गवर्नर मोहम्मद हलीम फिदाई ने इससे पहले एक बयान में कहा कि अफगान पब्लिक प्रोटेक्शन फोर्स के कम से कम छह सैनिक घायल हो गये हैं। उन्होंने बताया कि पहला विस्फोट स्थानीय समयानुसार सुबह 05:30 बजे हुआ। सुरक्षा बलों ने क्षेत्र को साफ कर दिया और दो आत्मघाती हमलावर मारे गए। अब तक, सार्वजनिक सुरक्षा बल के छह सदस्य घायल हुए हैं।

Monday, 31 August 2020

00:41

कल धरती के करीब से गुजरेगा क्षुद्रग्रह

Deepak Tiwari 
अगले 10 वर्षों तक नहीं दिखेगा ऐसा अद्भुत दृश्य
एक चक्कर पूरा करने में लगाता है 1.14 वर्ष का समय
आने वाले महीने में एक सितंबर को 20-40 मीटर चौड़ा क्षुद्रग्रह 2011 ES4 धरती के करीब से गुजरेगा। इसकी दूरी पृथ्वी से फिलहाल 1.2 लाख किलोमीटर आंकी गई है यानी यह धरती और चांद के बीच में काफी करीब होगा। लेकिन इसके धरती से टकराने की संभावना न के बराबर है। नासा के मुताबिक, इस क्षुद्रग्रह की सापेक्ष गति लगभग 8.16 किलोमीटर प्रति सेकंड है। अगले एक दशक तक पृथ्वी के पास से गुजरने वाले क्षुद्रग्रहों में से यह सबसे पास से गुजरेगा।

साल 2011 में इस क्षुद्रग्रह की खोज हुई थी। उस समय वैज्ञानिक केवल इस पर चार दिन तक नजर रख पाए थे। यह अपना एक चक्कर पूरा करने में 1.14 साल का समय लगाता है। धरती के साथ इसकी कक्षा सिर्फ 9 साल में एक बार इसे हमारे करीब लाती है। हालांकि, इसका मार्ग फिर भी काफी अलग होगा और इससे पृथ्वी या उससे जुड़ी किसी आर्टिफिशल सैटेलाइट को खतरा नहीं है।

नासा के जेट लैबोरेटरी के आंकड़ों के मुताबिक, यह क्षुद्रग्रह 1987 से 8 बार पृथ्वी के करीब से गुजरा है, लेकिन इस बार यह अब तक सबसे पास से गुजरेगा।

इससे पहले यह 2011 में 13 मार्च को पृथ्वी के सबसे नजदीक से होकर गुजरा था। उस समय यह पृथ्वी से 4,268,643 किलोमीटर दूर से गुजरा था। इस बार यह केवल 29376 किलोमीटर की दूरी से गुजरेगा। आधिकारिक तौर पर इस क्षुद्रग्रह का नाम 2011 ईएस3 है। बताया जा रहा है कि केवल 2032डीबी नाम का क्षुद्रग्रह इसी दूरी से पृथ्वी के पास से साल 2032 में गुजरेगा।

Sunday, 30 August 2020

17:46

रूस के अंतरराष्ट्रीय ​युद्धाभ्यास से पीछे हटा भारत जाने क्यों deepak tiwari

 August 30, 2020

नई दिल्ली । ​पूर्वी लद्दाख में चीन ​और ​एलओसी​ पर पाकिस्तान से ​चल रही तनातनी को देखते हुए भारत अगले माह रूस में होने वाले युद्धाभ्यास में शामिल नहीं होगा​।​ इसमें हिस्सा लेने चीनी और पाकिस्तानी सेना भी जा ​रही हैं। ​​दक्षिणी रूस के अस्त्रखान क्षेत्र में होने वाले वॉरगेम्स में ​न जाने का निर्णय लेने के ​पीछे ​भारतीय अधिकारियों ने वैश्विक ​कोविड​-19 की बिगड़ती स्थिति को भी ध्यान में रखा है​​।​

​​​​दक्षिण रूस के अस्त्रखान क्षेत्र में 15 से 26 सितम्बर के बीच ​​​​​​युद्धाभ्यास आयोजित किया जाएगा। इसमें ​​शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य चीन, पाकिस्तान, रूस, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, तजाकिस्तान और उजबेकिस्तान समेत ​​11 देश हिस्सा लेंगे। इसके अलावा इस ड्रिल में मंगोलिया, सीरिया, ईरान, मिस्र, बेलारूस, तुर्की, आर्मेनिया, अबकाज़िया, दक्षिण ओसेतिया, अजरबैजान और तुर्कमेनिस्तान भी शामिल होंगे। अगले महीने होने वाले ​​इस ​​युद्धाभ्यास में मेजबान रूस सहित ​​19 काउंटी देश शामिल होंगे। सारे देशों को मिलाकर इस अभ्यास में 12 हजार 500 से अधिक सैनिक भाग लेंगे​​।​ ​रूस ​ने इस युद्धाभ्यास में भाग लेने के लिए भारत को भी तीनों सेनाओं की लगभग 200 कर्मियों की टुकड़ी के साथ आमंत्रित किया था।​ ​पिछले साल ​इस युद्धाभ्यास में भारत, पाकिस्तान और सभी एससीओ सदस्य देशों ​ने भागीदारी ​की ​थी।
​ ​​
एक उच्च‑स्तरीय बैठक में विदेश मंत्री एस. जयशंकर और रक्षा स्टाफ के प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने चर्चा कर बताया कि ​दक्षिण रूस के अस्त्रखान क्षेत्र में होने वाले ​युद्धाभ्यास में इसलिए भाग लेना सही नहीं होगा, क्योंकि इसमें चीनी और पाकिस्तानी सेनाएं भी शामिल हो रही हैं​। चीन के साथ चल रहे टकराव के चलते पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत की सेनाएं हाई अलर्ट पर है, इसलिए हमारे लिए बहुपक्षीय युद्धाभ्यास में भाग लेने के लिए जाना सही नहीं होगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शंघाई सहयोग संगठन के सदस्य देशों के रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए 4–6 सितम्बर को रूस जायेंगे। राजनाथ सिंह की वहां चीनी रक्षा मंत्री के साथ वार्ता करने की कोई योजना नहीं है। इस बैठक में भारत पूर्वी लद्दाख में चीन की विस्तारवादी नीतियों का मुद्दा उठा सकता है।
भारत और चीनी सेनाओं के बीच लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चार महीने से ज्यादा लंबे समय से गतिरोध बना हुआ है। बातचीत के कई स्तरों के बावजूद लद्दाख में तनाव कम करने में सफलता नहीं मिली है और अभी टकराव बरकरार है। लद्दाख से लेकर अरुणाचल, उत्तराखंड, सिक्किम में दोनों तरफ से सैनिकों और हथियारों का जमावड़ा बढ़ता ही जा रहा है। इसी तरह जम्मू-कश्मीर में भी सीमा पर पाकिस्तान के साथ हालात ठीक नहीं है। सीमा पर लगातार सीज फायर उल्लंघन और पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की घटनाएं बढ़ रही हैं। भारत ने एलओसी पर लड़ाकू विमान तेजस तैनात कर रखा है और सीमा पर हाई अलर्ट रखा गया है।
08:44

सरकारी ताजिया इबादत के बाद

सरकारी ताजिया:इबादत के बाद प्रशासन ने बंद करवाया इमामबाड़े का गेट, ताजिए के दीदार को आए लोगों को लौटाती रही पुलिस deepak tiwari 
इंदौर.मोहर्रम पर्व पर रविवार को इमामबाड़े पर ही सरकारी ताजिया पर रीति रिवाज से फातेहा पढ़कर वापस से इमामबाड़ा के गेट को प्रशासन द्वारा बंद करवा दिया गया। रविवार के लॉकडाउन के साथ ही प्रशासन ने किसी भी प्रकार के आयोजन पर प्रतिबंध लगा रखा हे। इस दौरान जो भी सरकारी ताजिए की जियारत करने के लिए पहुंचे। पुलिस-प्रशासन उन्हें समझाइश देकर वापस लौटा दिया गया। सुरक्षा की दृष्टि से इमामबाड़े के चारों तरफ बेरिकेडिंग की गई है। साथ ही बड़ी संख्या में पुलिस फाेर्स को भी तैनात किया है।
रविवार को रीति रिवाज का निर्वहन करते हुए समाजजनों ने इमामबाड़ा के अंदर ही ताजिए को अपनी जगह से उठाकर फिर उसी जगह रखा। हालांकि ताजिए को उठाने के लिए बहुत से लोग इमामबाड़े पर पहुंचे थे। बाहर खड़ीं सराफा थाना टीआई अमृता सोलंकी खुद लोगों को हटाती रहीं। कई बार उन्होंने समाजजनों को भी लोगों को समझाने को कहा। लगातार समझाइश के बाद भी समाजजन ताजिए का दीदार करने यहां पहुंच रहे थे। इस पर पुलिस ने समाजजनों की मदद से लोगों को लौटाया।
सराफा थाना टीआई ने बताया है कि शहरकाजी और ताजिया कमेटी के अध्यक्ष ने चर्चा में कहा था कि सरकारी ताजिया नियमों का पालन करने हुए बाहर नहीं जाएगा। इसी के चलते रविवार को इमामबाड़े के भीतर ही सभी प्रक्रियाओं को पूरा किया गया। इसके बाद इमामबाड़े के दरवाजे बंद कर दिए गए हैं। अब किसी प्रकार की भीतर इबादत नहीं होगी। लाॅकडाउन को देखते हुए हमने बेरिकेडिंग के साथ ही जवानों को तैनात कर रखा है। यदि कोई कानून का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस के अनुसार रविवार को जो घर के बाहर निकल रहा है, वह गैरकानूनी काम कर रहा है। ताजिए का विसर्जन घर पर ही होगा। इसलिए लोग अपने घरों पर ही रहें।
मुस्लिम समाज ने मोहर्रम की 9 तारीख शनिवार को इमाम हुसैन की शहादत को याद कर रोजा रखा। इस मौके पर फातेहा पढ़ी गई और कुरान की तिलावत हुई। साथ ही दिनभर इमामबाड़ा पर सरकारी ताजिए की जियारत के लिए जायरीनों की आवाजाही भी बनी रही। इस बार कोरोना की वजह से शहादत की रात पर सरकारी ताजिया इमामबाड़ा से निकलकर राजबाड़ा की परिक्रमा पर नहीं निकला। मोहर्रम की 10 तारीख पर रविवार को यौमे आशुरा हुआ। इस दिन भी समाजजनों ने रोजा रखा।
राजबाड़ा क्षेत्र को इस प्रकार से सील कर दिया गया था।
सरकारी ताजिया इंतेजामिया कमेटी के अध्यक्ष हाजी इनायत हुसैन कुरैशी ने बताया कि कोरोना महामारी की वजह से 100 साल में पहली बार एेसा हो रहा है, जब सरकारी ताजिया शहादत की रात राजबाड़े की परिक्रमा पर नहीं निकला। रविवार को यौमे आशुरा के दिन भी सरकारी ताजिया जुलूस के रूप में कर्बला मैदान नहीं ले जाया गया। प्रशासन के निर्देशों का पालन किया जा रहा है। सरकारी ताजिया हमारी गंगा-जमुना तहजीब का प्रतीक है। साढ़े बारह फीट ऊंचा और साढ़े नौ फीट चौड़ा ताजिया बनाया गया है। प्रशासन की अनुमति जब मिलेगी, तब ताजिए को कर्बला मैदान ले जाया जाएगा।
08:39

धोने और धूप में सुखाने से दो हजार रुपए के 17 करोड़ नोट खराब हुए deepak tiwari

कोरोना काल में बड़ी संख्या में भारतीय करंसी खराब हो गई। वजह- लोगों ने नोटों को सैनिटाइज किया, उन्हें धोया और घंटों तक धूप में सुखाया। यही वजह है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) तक पहुंचने वाले खराब नोटों की संख्या ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए।
आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल दो हजार रुपए के 17 करोड़ नोट खराब हुए। यह संख्या पिछले साल की तुलना में 300 गुना ज्यादा है। दूसरे नंबर पर 200 रुपए के नोट हैं। वहीं, तीसरे नंबर 500 रुपए के नोट हैं। पिछले साल की तुलना में इन सभी नोटों के खराब होने की संख्या बढ़ी है।
बैंकों में भी गडि्डयों पर सैनिटाइजर का स्प्रे
रिपोर्ट में कहा गया है कोरोना काल में लोगों को डर था कि करंसी भी ‘संक्रमित’ हो सकती है। इस तरह की कई रिपोर्ट्स आने के बाद लोगों ने करंसी को सैनिटाइज करना शुरू कर दिया। वहीं शुरुआत में लोगों ने नोटों को धो डाला। इतना ही नहीं नोटों को घंटों तक धूप में सुखाया भी। बैंकों में भी गड्डियों पर सैनिटाइजर स्प्रे किया जा रहा है। इसका नतीजा ये हुआ कि पुरानी तो छोड़िए नई करंसी ने भी सालभर में दम तोड़ दिया।
10 रुपए से लेकर दो हजार रुपए तक के नोट खराब
आरबीआई द्वारा जारी खराब नोटों की रिपोर्ट से साफ है कि 10 रुपए से लेकर दो हजार रुपए तक के नोट पहली बार इतनी बड़ी संख्या में खराब हुए हैं। दो हजार के नोट की छपाई बंद हो चुकी है। पिछले साल दो हजार के 6 लाख नोट आरबीआई बदलने के लिए पहुंचे थे। इस बार ये संख्या 17 करोड़ से भी ज्यादा हो गई।
20 रुपए की नई करंसी 20 गुना खराब
500 की नई करंसी दस गुना ज्यादा खराब हो गई। 200 के नोट तो पिछले साल की तुलना में 300 गुना से भी ज्यादा खराब हो गए। 20 रुपए की नई करंसी एक साल में बीस गुना ज्यादा खराब हो गई।
08:23

सडक़ पर बैठकर भविष्य बताने वाले ने ऐसे की ठगी deepak tiwari

 August 30, 2020

- गोपुर चौराहे के समीप फुटपाथ पर बैठता था तोते वाला, ज्योतिष की पत्नी को भी बनाया आरोपी
इन्दौर। अन्नपूर्णा पुलिस ने एक ऐसे ज्योतिष और उसकी पत्नी को पकड़ा है, जो दूसरों का भविष्य बताने के नाम पर ठगी कर रहे थे। फुटपाथ पर तोता लेकर बैठने वाले इन ठगोरे दम्पति के बारे में बताया जा रहा है कि इन्होंने एक तलाकशुदा महिला से 20 लाख का सोना व इतनी ही नकदी ठग ली थी। इन्होंने महिला को कहा था कि यदि अनुष्ठान और तांत्रिक क्रिया नहीं कराई तो पूरा परिवार मर जाएगा। इसी डर से महिला उसे पैसे और सोना देती रही।
मिली जानकारी के अनुसार बृजविहार कॉलोनी में रहने वाली उषा पति सुभाष शर्मा ने डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र को शिकायत की कि उसके साथ गोपुर चौराहे के फुटपाथ पर बैठकर भविष्य बताने वाले ज्योतिष ने ठगी की है। इस पर डीआईजी ने अन्नपूर्णा थाना प्रभारी सतीश द्विवेदी को कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे । जांच के बाद कल रात अन्नपूर्णा पुलिस ने ज्योतिष रजत पिता राजेश जोशी निवासी ऋषि विहार कालोनी और उसकी पत्नी शीतल जोशी को गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि ठगी का शिकार हुई उषा शर्मा का पति से कुछ वर्ष पूर्व तलाक हो चुका है और वह मायके में रह रही है। उसकी एक पुत्री है, जिसकी शादी की चिंता उसे सता रही थी। बेटी की शादी के लिए जुटाई राशि 20 लाख तथा 20 लाख का सोना भी वह धीरे-धीरे तांत्रिक को दे चुकी थी। तोते के माध्यम से भविष्य बताने वाला उक्त ठग तांत्रिक ज्योतिषी और गृह शांति का झांसा देकर पिछले पांच सालों से ठगी करते आ रहा था, लेकिन महिला के घर की दशा सुधरने के बजाय बिगड़ती गई। पुलिस ने ठग दम्पति को पकडक़र उनके विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया है। उनसे पूछताछ की जा रही है
00:06

सुशांत सिंह केस में आया नया मोड़

  deepak tiwari 
 August 30, 2020

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच में ड्रग्स एंगल सामने आने के बाद अब इस मामले की जांच नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने भी शुरू कर दी है। वहीं सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने व्हाट्स एप चैट के स्क्रीनशॉट शेयर किया है जिसमें ड्रग्स को लेकर बातचीत हो रही है और रिया चक्रवर्ती ने ग्रुप में डूबी लाने को कहती है।
एनआईएफडब्ल्यू नाम के व्हाट्स एप ग्रुप में आयुष एसएसआर, आनंदी एसएसआर, सिद्धार्थ पिठानी एसएसआर, शोविक, सैमुअल मिरांडा, रिया चक्रवर्ती और अन्य नाम शामिल हैं। सभी ड्रग्स और सिगरेट रोल करने की बात कर रहे हैं। इससे पता चलता है कि इनके तार ड्रग्स से जुड़े हुए थे। इस चैट में वाटरस्टोन रिजॉर्ट की भी बात हो रही है। इस ग्रुप में ड्रग्स की फोटो भी शेयर की गई है। ये ग्रुप चैट जुलाई 2019 का है। 27 अगस्त को ग्रुप में ड्रग्स की तस्वीर भी भेजी गई है। श्वेता सिंह कीर्ति ने चैट के स्क्रीनशॉट शेयर कर लिखा-‘क्या चल रहा था …।’

अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने लिखा है कि डूबी की आवश्यकता, आयुष एसएसआर ने लिखा रोलिंग तो सिद्धार्थ पिठानी एसएसआर कहते हैं मिरांडा यहां पर है। इस चैट में एक अन्य व्यक्ति लिखता है कि वाटरस्टोन की जिस दिन की बुकिंग की गई थी, वह कैंसिल हो गई है। रिया इस सदस्य से कहती हैं कि लिफ्ट का दरवाजा लॉक कर देना। रिया कहती है कि सुश के लिए टैंग भेजो। रिया ने कहा है कि हमारे पास डूब है। तब जवाब आता है, चेक कर रहा हूं, रोल करके ला रहा हूं। डूबी एक तरह की गांजे की सिगरेट होती है। सैमुअल मिरांडा इस ग्रुप में ड्रग्स ब्लूबेरी कुश की एक तस्वीर भेजते हैं और कहते हैं ये कैसा है तो जवाब आता है, वाह।
सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई रिया चक्रवर्ती से पूछताछ कर रही है। सीबीआई ने सुशांत के रुममेट सिद्धार्थ पिठानी से भी पूछताछ की है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) सुशांत मामले में ड्रग कनेक्शन की गहन जांच कर रही है। इस मामले में केपीएस मलहोत्रा के नेतृत्व में 4 ड्रग पेडलरों से पूछताछ की गई है। एनसीबी ने गोवा में होटल व्यवसायी गौरव आर्या को नोटिस जारी किया है और उन्हें सोमवार को एनसीबी कार्यालय मुंबई में उपस्थित रहने का निर्देश दिया है।

Friday, 28 August 2020

08:08

प्लेन यात्रा के 8 दिन बाद एक कोरियाई महिला को हुआ संक्रमण जाने कैसे

हवाई यात्रा के दौरान टॉयलेट इस्तेमाल करने पर कोरोना का संक्रमण होने का अपनी तरह का अनोखा मामला सामने आया है। साउथ कोरिया की रहने वाली 28 साल की महिला विमान में 300 यात्रियों के साथ थी। महामारी की घोषणा के बीच उसे 31 मार्च को इटली के मिलान शहर में उतरना पड़ा था। यह दावा साउथ कोरिया के रिसर्चर्स ने किया है।
सियोल की सुंचूंहयांग यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च के मुताबिक, महिला ने पूरी यात्रा के दौरान एन-95 मास्क पहन रखा था सिर्फ टॉयलेट का इस्तेमाल करते समय उसने इसे हटाया था।
6 पॉइंट्स कब और कैसे संक्रमित हुई
इमर्जिंग इंफेक्शियस डिसीज जर्नल में प्रकाशित खबर के मुताबिक, यात्रा के दौरान एक ऐसे यात्री ने टॉयलेट का इस्तेमाल किया, जो एसिम्प्टोमैटिक था। उसके बाद महिला जब टॉयलेट गई तो संक्रमित सतह को छुआ या कोरोना से संक्रमिण कणों के सम्पर्क में आई।
रिसर्चर्स का कहना है कि यह विमान यात्रा साउथ कोरिया के अधिकारियों ने कराई थी। इस दौरान प्लेन में बैठने से पहले सभी यात्रियों की जांच भी हुई थी।
कुल 310 यात्री मिलान एयरपोर्ट पर उतरे थे। इनमें से 11 में कोरोना के लक्षण दिखे थे और इन्हें प्लेन में वापसी की अनुमति नहीं दी गई थी।
मिलान से वापस प्लेन में पहुंचने वाले सभी यात्रियों को एन-95 मास्क दिए गए थे। बोर्डिंग से पहले सभी एक-दूसरे से 6 फीट की दूरी पर थे। सिर्फ खाना खाने और टॉयलेट का इस्तेमाल करने के अलावा पूरे समय तक सभी ने मास्क पहन रखे थे।
11 घंटे की यात्रा के बाद जब 299 यात्री साउथ कोरिया पहुंचे को उन्हें दो हफ्ते के लिए क्वारैंटाइन किया गया। इनमें 6 में कोरोना की पुष्टि होने पर अस्पताल में भर्ती किया गया।
क्वारैंटाइन के 8वें दिन 28 साल की उस महिला में कोविड-19 के लक्षण दिखने शुरू हुए। उसे खांसी आई, नाक से पानी बहा और मांसपेशियों में दर्द हुआ। उसे 14वें दिन हॉस्पिटल में भर्ती किया गया।
महिला से 3 कतार पीछे बैठा था एसिम्प्टोमैटिक शख्स
रिसर्चर्स के मुताबिक, महिला को जिस एसिम्प्टोमैटिक शख्स से संक्रमण फैलने की बात की जा रही है वह उनसे तीन कतार (रो) पीछे बैठा था। मिलान शहर में महिला घर से बाहर नहीं निकली और 3 हफ्ते तक खुद को क्वारैंटाइन में रखा। रिसर्चर्स ने हिदायत दी कि विमान में यात्रा करते समय एसिम्प्टोमैटिक इंसान से भी कोरोना का संक्रमण होने का खतरा रहता है।
06:15

टीवी अभिनेता राजेश कुमार कोरोना संक्रमित

deepak tiwari 
 August 28, 2020
टीवी के मशहूर अभिनेता राजेश कुमार कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है। हालांकि उनमें कोरोना के कोई लक्षण नजर नहीं आए हैं। राजेश कुमार फिलहाल घर में क्वारंटाइन है। राजेश कुमार ने कुछ दिन पहले ही टीवी शो ‘एक्सक्यूज मी मैंडम’ की शूटिंग शुरू की थी। कोरोना पॉजिटिव होने के बाद राजेश ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर लिखा कि वह होम क्वारंटाइन में हैं और इलाज चल रहा है। साथ ही उन्होंने फैंस के प्यार के लिए शुक्रिया अदा किया।
राजेश कुमार शो ‘एक्सक्यूज मी मैंडम’ में मुख्य भूमिका निभा रहे हैं और अभिनेत्री नायरा बनर्जी उनकी बॉस की भूम‍िका में हैं। इसी शो में राजेश कुमार की पत्नी का क‍िरदार अभिनेत्री सुचेता खन्‍ना निभा रही हैं।
राजेश कुमार टीवी के पॉपुलर कलाकार हैं। उन्होंने बा बहू बेबी, मिस्टर एंड मिसेज शर्मा इलाहाबाद वाले, साराभाई वर्सेज साराभाई, खिचड़ी, प्रीतम प्यारे और वो, नीली छतरी वाले, बड़ी दूर से आए हैं और शरारत जैसे हिट टीवी शो में काम किया है। छोटे पर्दे की दुन‍िया में राजेश कुमार को रोसेश के क‍िरदार से ज्‍यादा जाना जाता है। उन्‍होंने साराभाई वर्सेज साराभाई में रोसेश का किरदार न‍िभाया था
06:12

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश ए.आर. लक्ष्मणन का निधन

 deepak tiwari 
 August 28, 2020
तिरुचिरापल्ली ।  उच्चतम न्यायायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए आर लक्ष्मणन का गुरुवार सुबह यहां एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 78 वर्ष के थे। न्यायमूर्ति लक्ष्मणन एक निजी अस्पताल में आयुजनित रोगों का उपचार करा रहे थे। उनके परिवार में दो बेटे और दो बेटियां हैं। उनकी पत्नी मीनाक्षी अच्ची का शिवगंगा जिले के कराईकुडी में दो दिन पहले निधन हो गया था। उनके एक बेटे ए आर एल सुंदरेशन मद्रास उच्च न्यायालय में वरिष्ठ अधिवक्ता हैं।

 
न्यायमूर्ति लक्ष्मणन का जन्म शिवगंगा जिले के देवकोट्टाई में वर्ष 1942 में हुआ। उन्होंने तिरुचिरापल्ली में सेंट जोसेफ कॉलेज से स्नातक किया था और मद्रास लॉ कॉलेज से 1966 में कानून की डिग्री हासिल की थी। न्यायमूर्ति लक्ष्मणन ने 20 दिसंबर 2002 से 21 मार्च 2007 तक उच्चतम न्यायालय में अपनी सेवाएं दी। इससे पहले, न्यायमूर्ति लक्ष्मणन मद्रास उच्च न्यायालय और केरल उच्च न्यायालय में न्यायाधीश रहे थे। उन्होंने आंध्र प्रदेश और राजस्थान में भी मुख्य न्यायाधीश के रूप में अपनी सेवा दी थी।
उच्चतम न्यायालय से सेवानिवृत्त होने के बाद वह देश के 18वें विधि आयोग के अध्यक्ष रहे और देश की न्यायिक प्रणाली में सुधार के बारे में एक साल में उन्होंने सरकार को 32 रिपोर्ट सौंपी। न्यायमूर्ति लक्ष्मणन ने अपनी एक रिपोर्ट में चेन्नई सहित देश के चार क्षेत्रों में सर्वोच्च न्यायालय के क्षेत्रीय पीठों की स्थापना की भी सिफारिश की थी। वह वर्तमान में शीर्ष अदालत द्वारा नियुक्त मुल्ला पेरियार पैनल में तमिलनाडु के मौजूदा प्रतिनिधि थे।
न्यायमूर्ति लक्ष्मणन का अंतिम संस्कार आज उनके पैतृक स्थान देवकोट्टाई में किया जाएगा। पूर्व वित्त मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया।

Wednesday, 26 August 2020

05:39

20 साल की लड़की को डाक्टर ने बताया मृत अंतिम संस्कार के समय जाग उठीdeepak tiwari

August 26, 2020
ऐसा बहुत ही कम होता है कि मृत व्यक्ति पुन: जिंदा हो जाए। खासकर डाक्टरों द्वारा मृत घोषित करने के बाद अगर कोई जीवित हो जाए, तो आश्चर्यजनक घटना के रूप में लोग देखते हैं। ऐसा ही कुछ अमेरिका के मिशिगन में सामने आया है। जहां पर  20 साल की लड़ी को को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था। परिजन अंतिम संस्कार की के लिए शमशान घाट ले चुके थे। इसी बीच ही लड़की ने आंखें खोल दीं. लड़की को दोबारा जिंदा होते देख वहां मौजूद लोगों के होश उड़ गए. आनन-फानन में उसे वे दोबारा अस्पताल लेकर पहुंचे.
डेली मेल की एक रिपोर्ट अनुसार, मिशिगन शहर में रहने वाली 20 साल की तिमेशा बिउचैंप शारीरिक रूप से दिव्यांग है. रविवार सुबह परिवार वालों ने उसे घर में बेहोश पाया. उन्होंने ततक्ल एंबुलेंस को बुलाया. मेडिकल स्टाफ ने उसका चेकअप किया तो युवती की सांस नहीं चल रही थी.

लड़की के घर वालों ने समीप  के हॉस्पिटल में एडमिट कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे आधिकारिक तौर से मृत घोषित कर दिया. इसके बाद घर वाले उसे वापस ले आए और उसके अंतिम संस्कार की तैयारी होने लगी. इसी बीच कुछ ऐसा हुआ कि सब हैरान रह गए.  आनन-फानन में उसे वे दोबारा अस्पताल लेकर पहुंचे जहां उसकी जांच की गई. डॉक्टर्स ने पाया कि लड़की जीवित है. डॉक्टरों ने उसे गलती से मृत घोषित कर दिया था. उस लड़की का फिर से चेकअप किया गया. फिलहाल उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है. इस घटना से लड़की के घर वाले और वहां के आसपास के लोग हैरान रह गए

Sunday, 16 August 2020

05:39

यूएई और इजराइल साथ मिलकर टेस्टिंग डिवाइस बनाएंगे

कोरोना दुनिया में :deepak tiwariयूएई और इजराइल साथ मिलकर टेस्टिंग डिवाइस बनाएंगे, दोनों देशों के बीच यह पहली बिजनेस डील; दुनिया में 2.16 करोड़ मरीज
दुनिया में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 2 करोड़ 16 लाख 638 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 1 करोड़ 43 लाख 21 हजार 853 मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि 7 लाख 68 हजार 603 की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं। यूएई और इजराइल की कंपनियां साथ मिलकर तेज परिणाम देने वाली कोविड-19 की टेस्टिंग डिवाइस बनाएंगी। दोनों देशों के बीच यह पहली बिजनेस डील दुबई में हुई।
यूएई की एपेक्स नेशनल इंवेस्टमेंट ने इजराइल की टेरा ग्रुप के साथ समझौता किया है। यह पार्टनरशिप गुरुवार को दोनों देशों के बीच शुरू हुए डिप्लोमेटिक रिलेशन के बाद हुई है। दोनों देशों ने अपनी दुश्मनी भुलाकर दोस्त बनने का फैसला किया है।
मैक्सिको: एक दिन में 6 हजार से ज्यादा मामले
मैक्सिको के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में 6 हजार 345 नए मामले सामने आए और 635 मौतें हुईं। अब देश में संक्रमितों का आंकड़ा 5 लाख 17 हजार 714 हो गया है। अब तक देश में 56 हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं। मैक्सिको सरकार ने रविवार को कहा कि देश में जल्द वैक्सीन तैयार करने की कोशिश हो रही है। 14 अगस्त को सरकार ने एस्ट्रेजेनेका कंपनी के साथ करार किया है। देश को महामारी से लड़ने के लिए करीब 20 करोड़ वैक्सीन की जरूरत होगी।
न्यू मैक्सिको सिटी में शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अंतिम संस्कार में शामिल होते मृतक के परिजन।
फ्रांस: लॉकडाउन हटाने के बाद मामले बढ़े
फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार बताया कि देश में बीते 24 घंटे में 3310 नए मामले मिले हैं। यह देश में लॉकडाउन हटाने के बाद आए सबसे ज्यादा मामले हैं। यहां चार दिन पहले लॉकडाउन हटाया गया था। इसके साथ ही देश में संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 15 हजार 521 हो गया है। फ्रांस सभी ऑफिस में मास्क जरूरी करने पर विचार कर रहा है।
फ्रांस की राजधानी पेरिस में शनिवार को सीन नदी के किनारे मास्क लगाकर टहलते स्थानीय लोग। बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने सभी के लिए मास्क पहनना जरूरी किया है।
साउथ अफ्रीका: लॉकडाउन हटाने का ऐलान
साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने शनिवार को देश में लॉकडाउन हटाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि देश में संक्रमण के मामले कम हो रहे हैं। सरकार तंबाकू और शराब पर लगाया गया बैन हटाएगी। रेस्टोरेंट और स्कूल, कॉलेज खोलने की इजाजत दी जाएगी। लोग एक राज्य से दूसरे राज्य के बीच यात्रा कर सकेंगे। हालांकि, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और मास्क लगाना जरूरी होगा।
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) की टीम साउथ अफ्रीका में संक्रमण रोकने में मदद करेगी। यहां के स्वास्थ्य मंत्री जवेली मखाइजे ने बताया कि इस टीम में 43 सदस्य होंगे। इनमें से 16 लोग 13 अगस्त को देश में पहुंच गए।
दक्षिण अफ्रीका के सोवेटो में कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के दौरान एक वॉलंटियर को इंजेक्शन लगाते स्वास्थ्यकर्मी। देश में बीते तीन हफ्तों में संक्रमण के मामले कम हुए हैं।
ब्रिटेन: लगातार पांचवें दिन हजार से ज्यादा मामले
ब्रिटेन में शनिवार को 1012 मामले आए। देश में लगातार पांच दिनों से 1 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। ब्रिटेन में अब संक्रमितों की संख्या 3 लाख 17 हजार 379 हो गई है। देश में अब तक 41 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई है। इस बीच ब्रिटेन सरकार ने 9 लाख वैक्सीन खरीदने का ऑर्डर भी दिया है। ब्रिटेन अब तक चार वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से इसे खरीदने का करार कर चुकी है। हालांकि, इनमें से किसी भी कंपनी की वैक्सीन अभी तैयार नहीं है।
ब्रिटेन के नार्थम्पटन में 14 अगस्त को ग्रीनकोर सैंडविच फैक्ट्री के पास कार सवार का सैंपल लेता नेशनल हेल्थ सर्विस का एक स्टाफ।
ब्राजील: एक दिन में 41 हजार 576 नए मामले
ब्राजील में बीते 24 घंटे में संक्रमण के 576 नए मामले मिले हैं और 709 मौतें हुई हैं। इसी के साथ देश में संक्रमितों का आंकड़ा 33 लाख 17 हजार 96 हो गया है। यहां के साओ पाउलो राज्य में बीते 24 घंटे में 11 हजार 408 नए मामले मिले और 167 मौतें हुईं। साओ पाउलो सबसे प्रभावित है। इस राज्य में 6 लाख 97 हजार 530 मामले सामने आए हैं और 26 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई है। देश में अब तक 1 लाख 7 हजार 232 मौतें हुई हैं।
ब्राजील के रियो डे जनेरियो में शनिवार को क्राइस्ट रिडीमर स्टैच्यू खोले जाने के बाद फेस शील्ड लगाकर प्रेयर करती एक महिला।

Saturday, 4 January 2020

10:48

विश्व का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संगठन है RSS दीप शंकर मिश्रा दीप



लेखक:- दीप शंकर मिश्र"दीप"
             
अंग्रेजी हुकूमत के दौरान भरत जी के नाम से बना भारत देश का उदय भारत माता के रूप में हुआ तो इस दौर में डॉ केशव राव बलिराम हेडगेवार नाम के भारत माँ के एक ऐसे सपूत का भी उदय हुआ जो जिन्होंने 1889 में एक गरीब ब्राह्मण कुल में जन्म लेकर अपने जन्म से नागपुर की धरती को अलंकृत करने वाले डॉ केशवराव बलिराम हेडगेवार अपने देश के प्रति कुछ सोंच व विचार कर कांग्रेस से अलग हो गये और अपने कुछ साथियों के साथ अपनी जन्म स्थली नागपुर में विजय दशमी के दिन एक ऐसे संगठन को जन्म दिया जिसका नाम आरएसएस राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के रुप में विश्व विख्यात हुआ।
अंग्रेजी हुकूमत से लड़ाई के दौरान ही भरत जी का भारत देश भारत माँ का रूप ले  चुका था। अपने विचारों का कांग्रेस की विचार धाराओं से मेल खाता न देखकर भगवा प्रेम व भारतीय संस्कृति के विचारों के धनी व भारत माँ के प्रति अटूट आस्था रखने वाले डॉ केशवराव बलिराम हेडगेवार ने अपने कुछ साथियों के साथ 27 सितम्बर 1925 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ नाम के एक स्वयं सेवी संगठन की स्थापना की, जानकारी के अनुसार विश्वनाथ केलकर, भाऊराव कावरे, बाला जी हुद्दार,अण्णा साहने, बापू राव भेदी, जैसे लगभग दर्जन भर राष्ट्र भक्त लोगों ने अपने साथी डॉ केशवराव बलिराम हेडगेवार को ही राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का सर संघचालक तो भरत जी भारत देश के समय का भगवा रंग धारी ध्वज की अपना प्रमुख ध्वज मान कर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विस्तार का कार्य गुलाम भारत के दौर में ही प्रारम्भ दिया।
यहाँ पर गुलाम भारत के समय के इकलौते नायक जिनके मन दिल और दिमाग मे भारतीय संस्कृति के विचारों की आस्था की हिलोरें लेने वाले इकलौते नायक डॉ केशवराव बलिराम हेडगेवार के प्रति यह कहावत चरितार्थ होने में देर न लगीं कि "हम अकेले ही चले थे,लोग जुड़ते गये,और कारवां बढ़ता गया"  आज आरएसएस भारत देश की आन-बान-शान के साथ एक विराट रूप लेकर विश्व मे अपनी पहचान बना चुका है।
यही कारण है कि आज लोग अपने को संघ का स्वयं सेवक बताने में गर्व महसूस करते है। आज राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक विश्व के लगभग पचास देशों में शाखा पर अपने ध्वज का ध्वजारोहण करके नमस्ते सदा वत्सले मातृ भूमें.. की प्रार्थना कर रहे है तो कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे व पूर्व राष्ट्रपति प्रणव दा भी संघ के विचारों से प्रभावित होकर संघ की तारीफ कर संघ के कार्यक्रम में जाने व आरएसएस की प्रार्थना करने में कोई परहेज नही करते।
प्रणव दा को परहेज करना भी नही चाहिये था क्योंकि कांग्रेस बनाने में अग्रणी व देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू भी तो आरएसएस के विचारों से ही नही 1962 में जब चाइना ने धोखेबाजी से देश पर आक्रमण किया तो पूरा भारत देश सन्न रहा गया था। ऐसे समय मे आरएसएस के स्वयं सेवकों द्वारा अपने देश के सैनिको की मदद संघ की देश प्रेम की निष्ठा व कार्यशैली को देखकर पण्डित जवाहर लाल नेहरू भी प्रभावित हुये और वह डॉ केशवराव बलिराम हेडगेवार द्वारा स्थापित राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से इतना प्रभावित हुये थे कि- गणतंत्र दिवस की परेड में आरएसएस को आमन्त्रित किया था। संघ अपने संगठन व अपने प्रथम सर संघचालक व संस्थापक डॉ केशवराव बलिराम हेडगेवार द्वितीय सरसंघचालक गुरु गोलवरकर गुरु जी, बालासाहब देवरस और राजेंद्र सिंह रज्जु भइया का विजयध्वज संघ के सन्देश को साथ लेकर मौजूदा सरसंघचालक मोहन भागवत विजय दशमी को स्थापित राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को विजय पथ की और तेजी से बढ़ा रहे है।
संघ के स्वयं सेवक जाति-पात के भेद भाव से अलग रहकर अपने संगठन का कार्य करने में अग्रणी रहते है।
आरएसएस के विराट रुप से आज देश के ही नही विश्व के लोग भी संघ के विचारों से प्रभावित होकर नमस्ते सदा वत्सले मात्र भूमि.. की प्रार्थना कर रहे है। संघ का विराट रूप आज विश्व के लगभग 50 देशों में फैला हुआ है औऱ यह तब है जब अपने भारत देश में ही संघ अपने ऊपर लगाये गये तीन-तीन प्रतिबन्धों को झेल चुका है। संघ पर प्रथम बार गाँधी वध के समय जब गुरु गोलवरकर गुरुजी संघ के सरसंघ चालक थे। तो दूसरी बार आपात काल के समय तथा तीसरी बार 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के समय छह महीने के लिये संघ को प्रतिबंधित किया गया था।
अपनी मात्र भूमि को लेकर संघ के अपने कुछ सिद्धान्त है, और उन्ही सिद्धान्तों और संघ की नेक नियति से ही प्रभावित होकर पंडित जवाहर लाल नेहरू ने संघ की तब तारीफ की थी और इंदिरा गांधी भी तारीफ कर चुकी है। अच्छे व नेक राष्ट्रपति माने जाने वाले प्रणव मुखर्जी प्रणव दा को तो आरएसएस की नेकनियती को समझने कुछ समय लगा परन्तु पण्डित जवाहरलाल नेहरू ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अपने देश के समर्पण भाव को समझा ही नही देखा भी, संघ को राजनीति से कुछ लेना देना नही परन्तु देश की आन-बान-शान के लिये आज संघ देश की किसी भी सत्ता को उखाड़ फेंकने की दम रखता है।
भाजपा में ज्यादा तर संघ के विचार से ओतप्रोत लोग ही आते है जो संघ के विचारों व कार्यक्रमों में भाग लेकर संघ के समक्ष नतमस्तक रहते है।
मौजूदा समय संघ की लगभग 60 हजार शाखाये लगती हैं और लगभग 50 लाख के आसपास स्वयम सेवक प्रतिदिन शाखाओं पर भाग लेते है। इसके अतिरक्त सायं कालीन शाखाओं का भी आयोजन होता है। संघ की शाखाओं पर संगठन गढ़े चलो सुपंथ पर बढ़े चलो जैसे देश प्रेम से प्रेरित गीत गाकर स्वयम सेवक  देश प्रेम का आगाज करते है। शहर व कस्बों में संघ के स्वयम सेवकों द्वारा निकाला जाने वाला पथ संचलन लोगों को भाव विभोर कर देता है। भाजपा में प्रदेश से लेकर केंद्र की मोदी सरकार का बड़े से बड़ा मन्त्री भी संघ के सामने नतमस्तक रहेता है, तो संघ का स्वयम सेवक भी चुनाव के दौरान भाजपा नेताओं की तनमन से मदद करने में कोई कसर नही छोड़ता है।
लगभग 5 वर्षो बाद संघ की स्थापना के 100 वर्ष पूर्ण हो जायेंगे। कुल मिलाकर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ जो गुलाम भारत के समय स्थापित हुआ और आज देश ही नही विश्व के सबसे बड़े स्वयम सेवी संगठन के रुप में हम सबके साथ व सामने मौजूद है।



Tuesday, 24 December 2019

05:54

जनता को हल्के में लेने का परिणाम है झारखंड में बीजेपी की हार अमित द्विवेदी




देश में भारतीय जनता पार्टी के सरकार ने जनता के सामने झूठ का गुब्बारा फट गया है कांग्रेस मुक्त करने वाली भारतीय जनता पार्टी अब स्वयं प्रदेशों से मुक्त होती देख रही है इसका परिणाम झारखंड में हुए विधानसभा चुनाव को देखकर भारतीय जनता पार्टी के नीति और नीति को जनता ने ठुकरा दिया है उक्त बातें मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव अमित द्विवेदी ने कही, श्री द्विवेदी ने कहा कि कुछ दिन पूर्व में हुए विधानसभा चुनाव में मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने सरकार बनाया है इसी तरह से देश में भारतीय जनता पार्टी के द्वारा रोजगार - नोटबंदी, जीएसटी ,आर्थिक मंदी ,किसानों के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी फेल होती नजर आ रही है   कांग्रेस झामुमो गठबंधन की ऐतिहासिक विजय पर हर्ष जाहिर करते हुए अमित द्विवेदी प्रदेश सचिव ने कहा कि एनडीए का पतन होता दिखाई दे रहा है भाजपा व आर एस एस की विभाजन कारी राजनीति के विरुद्ध देश की जनता ने अपना मत देकर बता दिया है देश आज रोजगार- आर्थिक मंदी से मुक्ति, नोटबंदी, जीएसटी ,कारोबार में गिरावट जैसे मुद्दों पर काम करने हेतु  लोकसभा में वोट दिया था मगर भाजपा उसके विपरीत मुद्दों से जनता का ध्यान भटका कर अपना उल्लू सीधा करने की राजनीति कर रही है देश को बांट कर कोई भी चुनाव नहीं जीता जा सकता इसका परिणाम झारखंड में हुए विधानसभा चुनाव पर बनाया जा सकता है

Thursday, 12 December 2019

07:11

धर्म की रक्षा किए बिना नहीं हो सकती मानवता की रक्षा के सी शर्मा



*धर्म की रक्षा किये बिना नही हो सकती मानवता की रक्षा-के सी शर्मा*

 धर्म रक्षा किए बिना मानवता की बात सोच भी नहीं सकते...क्योंकि एक व्यक्ति में धर्म ही है जो मानवता का निर्माण करता है...और अधर्म जो हैवानियत का निर्माण करता है

 शृष्टि का मात्र एक ही धर्म है सत्य सनातन जिसका न आदि है न अंत...इसके अलावा अनेकों मत पंथ और सम्प्रदाय किसी न किसी व्यक्तिगत समझ से बनाये गए...।

 यदि हम धर्म को समझकर उसका अनुशरण नहीं करते हैं तो आज नहीं तो कल अधर्म हम लोगों पर भारी हो जाएगा और चारों तरफ हाहाकार, होगा, लूट बलात्कार, हत्या, आतंकवाद ये सब फैलता रहेगा।

 अधर्म करने वाला तो अपनी प्रवर्ति के अनुसार कार्य कर रहा है लेकिन धर्म मार्गियों को चाहिए कि वो अधर्म को बढ़ने से रोकें उनका दमन करें अन्यथा जो अन्याय आज बढ़ते जा रहा है उसके भोगी आप भी बनेंगे...।

 धर्म क्या है, क्या सिखाता है, इसका ज्ञान शास्त्रों में भरा पड़ा है लेकिन दुख आज हिंदुओं के पास समय नहीं की वो अपने शास्त्रों का अध्ययन करे और धर्म-परायण बने...शास्त्र और शस्त्र दोनों का ज्ञान ले और आवश्यक हो वहां उसका प्रयोग करे।