Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label पटना. Show all posts
Showing posts with label पटना. Show all posts

Friday, 5 March 2021

16:54

मत्स्य विभाग सरकार के द्वारा सब्सिडी के तहत गाड़ी वितरण किया गया है।

tap news India deepak tiwari 
पटना. पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री और MLC मुकेश सहनी के भाई के मामले को लेकर शुक्रवार को विधान परिषद् में जबरदस्त हंगामा हुआ। मुकेश सहनी के भाई संतोष सहनी ने गुरुवार को हाजीपुर में एक सरकारी कार्यक्रम में मत्स्य विभाग की योजना के तहत चयनित मछलीपालकों को आइस बॉक्स, मोपेड, बाइक और छोटी मालवाहक गाड़ियां वितरित की थीं। इस कार्यक्रम में मुकेश सहनी को जाना था। सदन में विपक्षी सदस्यों ने आरोप लगाया कि मुकेश सहनी ने अपनी जगह अपने भाई संतोष सहनी को भेज दिया। ऐसा कर उन्होंने सरकार और सरकारी कार्यक्रम का मजाक उड़ाया है। विपक्षी सदस्यों का विरोध इस कदर बढ़ गया कि सदन में CM नीतीश कुमार को खुद हस्तक्षेप करना पड़ा। इस मामले में सरकार को बैकफुट पर आना पड़ा। दैनिक भास्कर ने शुक्रवार के अंक में मंत्री के भाई के इस कारनामे को प्रकाशित किया है। परिषद् में हंगामे और CM के संज्ञान के बाद मुकेश सहनी ने मीडिया के सामने इसके लिए माफी मांगी।
हंगामा तेज होने पर मामले में हस्तक्षेप करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी। अगर ऐसा हुआ है तो यह आश्चर्यजनक है। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से पूछा कि मामला क्या है। फिर जल संसाधन मंत्री संजय झा को कहा कि आप इस मामले की जांच करें। मुख्यमंत्री ने संजय झा से कहा कि यह गंभीर मामला है, इसे अपने स्तर पर जांच कराइए। मुख्यमंत्री ने इस मामले पर विधान परिषद में विपक्षी नेताओं से भी बातचीत की।
भाजपा के MLC ने भी किया विरोध
सदन में यह मामला राजद के भाई विरेंद्र और ललित यादव ने उठाया। जैसे ही यह मामला उठा सदन में हंगामा होने लगा। विपक्षी सदस्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। राजद के MLC सुबोध राय ने मंत्री मुकेश सहनी को बर्खास्त करने की मांग की। सुबोध राय ने कहा कि मुकेश सहनी ने सरकार को घर की जागीर समझ रखा है। इसके बाद विपक्ष के सारे नेता खड़े होकर मंत्री मुकेश सहनी को बर्खास्त करने की मांग करने लगे। इस मामले का सत्तापक्ष के सदस्यों ने भी विरोध किया। भाजपा के MLC नवल किशोर यादव ने कहा कि लोकतांत्रिक संस्था के लिए यह कलंक है। लोकतंत्र लोक लाज से चलता है, हम इसका निंदा करते हैं। कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि मंत्री के बजाय सरकारी योजना का उद्घाटन उनके परिवार के लोग कर रहे हैं, यह सुशासन नहीं, दुशासन का राज है, महा जंगलराज है। उन्होंने कहा कि इस मामले में संबंधित अधिकारियों और मंत्री पर कार्रवाई होनी चाहिए। प्रेमचंद मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री ने हमें आश्वस्त किया है कि उनके संज्ञान में यह मामला आया है और वह इसको लेकर वे गंभीर है।
क्या है मामला?
हाजीपुर में गुरुवार को मत्स्य विभाग की ओर से सरकारी कार्यक्रम आयोजित था। मत्स्य विभाग की योजना के तहत चयनित मछलीपालकों को आइस बॉक्स, मोपेड, बाइक, छोटी मालवाहक गाड़ियां वितरण की जानी थी। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि व उद्घाटन के तौर पर मंत्री मुकेश सहनी को पहुंचना था। मंच के पीछे मंत्रालय का बड़ा सा बैनर लगा था। बैनर पर कार्यक्रम का डिटेल के साथ मंत्री जी की फोटो भी लगी थी। नीचे मंत्री जी के नाम के साथ उद्घाटनकर्ता माननीय मंत्री लिखा था। उनकी जगह कार्यक्रम में पहुंचे मंत्री जी के भाई संतोष सहनी। खास बात यह कि मंत्री के भाई संतोष मंत्री की सरकारी गाड़ी से ही कार्यक्रम में पहुंचे थे। मंत्री के भाई को विभाग की ओर से मंत्री वाली ट्रीट व प्रोटोकॉल भी दिया गया।
कार्यक्रम के बाद क्या कहा था मंत्री के भाई ने
"मत्स्य विभाग सरकार के द्वारा सब्सिडी के तहत गाड़ी वितरण किया गया है। इससे हमारे जो मछली मारने वाले लोग हैं उनको सुविधा मिले। मछली बाजार लेकर जाने के लिए। यही सब है। हम किए हैं, मंत्री जी के सहयोगी की तरह। बाकी ऐसे ही पूरे बिहार में कार्यक्रम चलेगा सब जगह। अच्छे से काम किया जाएगा।"

Wednesday, 3 March 2021

17:13

पंचायत चुनाव में जिलावार लगेगी आचार संहिता

tap news India deepak tiwari 
पटना. बिहार पंचायत चुनाव 2021 कई मायनों में खास होने वाला है। राज्य में पहली बार पंचायत चुनाव EVM से होने जा रहे हैं। इस बार के पंचायत चुनाव में पहली बार चरणवार आदर्श आचार संहिता लागू होगी। 10 चरणों में होने वाले पंचायत चुनाव में जिस चरण में जिन जिलों में चुनाव होगा, उस चरण में केवल उन्हीं जिलों में मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट यानी आदर्श आचार संहिता लागू होगी। चुनावी आचार संहिता के कारण विकास कार्यों में लंबे समय तक रोक न लगे इसी कोशिश को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने प्लान तैयार किया है। इससे पहले के पंचायत चुनाव में एक साथ पूरे राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू हो जाती थी।
बाढ़ प्रभावित इलाकों में सबसे पहले होगा चुनाव
सबसे पहले बाढ़ प्रभावित जिलों की पंचायतों में चुनाव कराए जाने हैं। इसके साथ ही निकटतम प्रमंडलों के एक-एक जिले में एक चरण में चुनाव कराने की तैयारी की गई है। एक फेज में अधिकतम 4 से 5 जिलों में चुनाव होंगे। इसमें वैसे जिले होंगे जो छोटे हैं और जहां पंचायतों की संख्या कम है। लेकिन, जो जिले बड़े हैं वैसे अधिकतम 3 जिलों में एक चरण में चुनाव होगा।
खर्चा ना बढ़े इसलिए होंगे 10 चरणों में चुनाव
राज्य कैबिनेट ने मंगलवार को EVM खरीद के लिए 122 करोड़ की राशि के आवंटन को मंजूरी दे दी है। लेकिन EVM से चुनाव होने के बावजूद इस बार भी बिहार में 10 चरणों में चुनाव होने जा रहे हैं। इसकी वजह यह है कि जिन 90 हजार बैलेट यूनिट की खरीदारी के लिए सरकार ने यह राशि आवंटित की है, उनकी संख्या बिहार में पंचायतों की कुल संख्या 8387 के लिहाज से कम है। कम चरणों में चुनाव कराने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग को और ज्यादा बैलेट यूनिट खरीदने होंगे, जिससे चुनाव का खर्च और बढ़ जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से खर्च कम करने की कोशिश को लेकर ही 10 चरणों में चुनाव कराने की तैयारी की जा रही है।
अदालत से अब तक नहीं सुलझा का है खरीद का मामला
राज्य कैबिनेट ने भले ही EVM की खरीद के लिए राशि आवंटित कर दी हो लेकिन इसे लेकर अदालती सुनवाई होनी अभी बाकी है।असल में बिहार राज्य निर्वाचन आयोग ने भारत निर्वाचन आयोग से EVM खरीदने के लिए NOC मांगी थी जो नहीं मिला। EVM खरीद की अनुमति में कथित देरी को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने भारत निर्वाचन आयोग के खिलाफ हाईकोर्ट में 11 फरवरी को रिट याचिका दायर कर दी है। इस पर 10 मार्च को सुनवाई होनी है। राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से पंचायत चुनाव को मार्च से लेकर 15 जून से पहले कई चरणों में पूरा किए जाने की योजना है लेकिन मामला अब अदालत में पहुंच चुका है, लिहाजा इसमें देरी के कयास लगाए जा रहे हैं।
ECIL से होगी EVM की खरीद
राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव के लिए M3 मॉडल EVM इलेक्ट्रॉनिक कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (ECIL) से खरीदने के लिए भारत निर्वाचन आयोग से NOC मांगी थी। सूत्रों के अनुसार भारत निर्वाचन आयोग ने राज्य निर्वाचन आयोग को M2 मॉडल लेने की सलाह दी है। राज्य निर्वाचन आयोग तैयार नहीं हुआ और कोर्ट पहुंच गया। राज्य निर्वाचन आयोग के इंकार की वजह यह है कि पंचायत चुनाव में एक साथ छह पदों के लिए मतदान कराया जाता है। M3 मॉडल में एक कंट्रोल यूनिट (CU) के साथ आठ बैलेट यूनिट (BU) का इस्तेमाल किया जा सकता है। यानी एक साथ छह वोट दिए जा सकते हैं। इस खास तरह की EVM में एक डिटेचेबल मेमोरी कार्ड होता है। उस कार्ड को हटाकर दूसरे कार्ड का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इस तरह EVM को स्ट्रांग रूम में रखने की जरूरत नहीं होगी। इस EVM का इस्तेमाल पहले चरण के मतदान के बाद फिर से तीसरे चरण के मतदान में किया जा सकता है।
17:11

पूर्व मध्य रेल चलाएगा यह ट्रेनें, ज्यादा भीड़ न हो इसलिए किराया महंगा रखा

deepak tiwari 
पटना. पूर्व मध्य रेल यात्रियों की सुविधा के लिए 5 मार्च से 11 जोड़ी डेमू (DMU) पैसेंजर स्पेशल ट्रेन चलाएगा। इस ट्रेनों का परिचालन अगली सूचना तक प्रतिदिन होगा। कोविड-19 को देखते हुए इन स्पेशल ट्रेनों का किराया मेल/एक्सप्रेस (अनारक्षित) के बराबर रखा गया है ताकि ट्रेन में अतिरिक्त भीड़ ना हो और कोविड मानकों का अनुपालन सुनिश्चित किया जा सके। इन स्पेशल ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों को स्वयं और सहयात्री के व्यापक स्वास्थ्य हित में भारत सरकार द्वारा जारी कोविड-19 मानकों का अनुपालन आवश्यक है।
डेमू पैसेंजर स्पेशल ट्रेनों की सूची
05207/05208 दरभंगा-रक्सौल-दरभंगा: 05207 स्पेशल ट्रेन दरभंगा से 10: 45 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 15: 00 बजे रक्सौल पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05208 रक्सौल से 04: 40 बजे खुलकर छोटे/ बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 09: 00 बजे दरभंगा पहुंचेगी।
05209/05210 रक्सौल-नरकटियागंज-रक्सौल: 5209 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन रक्सौल से 16: 40 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 19.10 बजे नरकटियागंज पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05210 नरकटियागंज से 07: 25 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 09: 55 बजे रक्सौल पहुंचेगी ।
05213/05214 रक्सौल-सीतामढ़ी-रक्सौल: 05213 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन रक्सौल से 11: 40 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 13: 50 बजे सीतामढ़ी पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05214 सीतामढ़ी से 15:15 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रूकते हुए 17: 45 बजे रक्सौल पहुंचेगी।
05219/05220 दरभंगा-हरनगर-दरभंगा: 05219 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन दरभंगा से 16:10 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 18: 25 बजे हरनगर पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05220 हरनगर से 05:15 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 07: 35 बजे दरभंगा पहुंचेगी।
05222/05221 समस्तीपुर-सहरसा-समस्तीपुर: 05222 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन समस्तीपुर से 18:10 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 22: 55 बजे सहरसा पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05221 सहरसा से 10: 00 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 14: 35 बजे समस्तीपुर पहुंचेगी।
05223/05224 सहरसा-पूर्णिया-सहरसा: 05224 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन सहरसा से 06: 20 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 10 बजे पूर्णिया जंक्शन पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05223 पूर्णिया जंक्शन से 11 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 13: 40 बजे सहरसा पहुंचेगी ।
05225/05226 सहरसा-पूर्णिया-सहरसा: 05226 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन सहरसा से 17: 55 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 20: 45 बजे पूर्णिया जंक्शन पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05225 पूर्णिया जंक्शन से 21: 15 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 23: 55 बजे सहरसा पहुंचेगी ।
05229/05230 सहरसा-बड़हरा कोठी-सहरसा: 05230 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन सहरसा से 07: 25 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 10 बजे बड़हरा कोठी पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05229 बड़हरा कोठी से 17 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 19 :40 बजे सहरसा पहुंचेगी ।
05237/05238 बड़हरा कोठी-बनमनखी-बड़हरा कोठी: 05237 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन बड़हरा कोठी से 13 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 13:30 बजे बनमनखी पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05238 बनमनखी से 14: 30 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 15 बजे बड़हरा कोठी पहुंचेगी ।
05239/05240 सहरसा-पूर्णिया-सहरसा: 05240 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन सहरसा से 02:05 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 04: 45 बजे पूर्णिया जंक्शन पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05239 पूर्णिया जंक्शन से 06 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 08:55 बजे सहरसा पहुंचेगी ।
05241/05242 सोनपुर-पंचदेवरी-सोनपुर: 05241 पैसेंजर स्पेशल ट्रेन सोनपुर से 16:50 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 22:10 बजे पंचदेवरी पहुंचेगी। ट्रेन नंबर 05242 पैसेंजर स्पेशल पंचदेवरी से 06:15 बजे खुलकर छोटे/बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 11:40 बजे सोनपुर पहुंचेगी ।

Tuesday, 23 February 2021

18:04

डीजल की महंगाई दिखाने ट्रैक्टर से आए तेजस्वी, सब्जियों का रेट दिखाने आलू-प्याज लेकर पहुंचे कांग्रेसी MLA

tap news India deepak tiwari 
पटना.बजट सत्र में शामिल होने के लिए विपक्ष के विधायकों का सोमवार को अलग-अलग अंदाज देखने को मिला। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ, किसान कानून के विरोध और किसानों के आंदोलन के समर्थन में ट्रैक्टर से विधानमंडल के पास पहुंचे, लेकिन पुलिस ने ट्रैक्टर के साथ अंदर जाने की अनुमति नहीं दी। इसके बाद वे कुछ दूर तक पैदल चले। फिर दूसरी गाड़ी में बैठकर सदन तक पहुंचे, वहीं कांग्रेस नेता शकील अहमद आलू , प्याज और अनाज लेकर विधानमंडल परिसर पहुंचे। वे प्याज के बढ़ते दामों का विरोध और किसान आंदोलन के समर्थन में ये सब लेकर आए थे।
तेजस्वी के 2 गार्ड को किया गया बाहर
तेजस्वी के ट्रैक्टर प्रदर्शन की वजह से विधानसभा गेट पर कुछ देर के लिए जाम लग गया। कुछ मंत्रियों और कई विधायकों की गाड़ियां फंसी नजर आईं। वहीं, तेजस्वी यादव के दो गार्ड आर्म्स के साथ गेट के अंदर आ गए थे। उन्हें सुरक्षाबलों ने बाहर किया। तेजस्वी यादव ने कहा कि सरकार किसान विरोधी है। किसानों को उनकी मेहनत का फल नहीं मिल रहा है। सरकार को ध्यान दिलाने के लिए वे ट्रैक्टर से विधानमंडल पहुंचे हैं। वहीं, कांग्रेस नेता शकील अहमद ने कहा है कि आलू-प्याज की कीमत आसमान छू रही है। आम लोग महंगाई से परेशान हैं। लेकिन सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है।
विभिन्न मुद्दों पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी
विधानसभा परिसर में कई जगह विपक्षी सदस्य पोस्टर और बैनर लेकर विभिन्न मुद्दों पर सरकार का विरोध करते नजर आए। उधर, विधान परिषद के मुख्य गेट पर भी ऐसा ही नजारा देखने को मिला। विधानपरिषद के बाहर विपक्षी सदस्यों ने मैट्रिक परीक्षा के पर्चे लीक होने के मामले पर बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर को बर्खास्त करने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया। विधानसभा के गेट पर वामपंथी विधायकों ने बैनर और पोस्टरों के साथ विभिन्न मुद्दों को लेकर सरकार का विरोध करते हुए प्रदर्शन किया। उसके बाद नारेबाजी करते हुए पैदल ही विधानमंडल परिसर के अंदर गए।

Saturday, 13 February 2021

07:38

बिहार में कोरोना घोटाले की जांच हो: राघवेन्द्र कुशवाहा


पटना,  फरवरी: कोरोना नियंत्रण के नाम पर आम जनता की गाढ़ी कमाई से अर्जित सरकारी  धन के अरबों   रुपया के बंदर-बांट की जांच हेतु जन अधिकार पार्टी कि प्रदेश अध्यक्ष श्री राघवेंद्र सिंह कुशवाहा ने भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) को पत्र लिखा है एवं बिहार सरकार से स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत को अविलंब बर्खास्त करते हुए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से इनकी तथा परिजनों की चल और अचल संपत्ति की जांच की मांग की है। आज संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कोविड-19 हेतु मास्क  सैनिटाइजर , पी.पी.कीट, जांच किट, इलाज आदि कई मदों में भारी आर्थिक अनियमितता का आरोप लगाया है। काली सूची में दर्ज कंपनियों से घटिया सामग्री को महंगे दाम पर खरीदने का आरोप लगाते हुए कहा की फर्जी मरीज के डाटा पर जांच और इलाज करने के नाम पर अरबों रुपए के घोटाला हुआ है। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर वे हाईकोर्ट में पी.आई.एल. भी दर्ज कराएंगे।

इस अवसर पर उपस्थित राष्ट्रीय महासचिव  सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह एवं राजेश रंजन ‘पप्पू’ ने कहा कि संयुक्त किसान संघर्ष मोर्चा के आह्वान पर आगामी 14 फरवरी को पुलवामा में सैनिको तथा किसान आंदोलन में शहीदों की श्रद्धांजलि हेतु कैंडल मार्च निकाला जाएगा। साथ ही आगामी 18 फरवरी 2021 को रेल का चक्का जाम किया जाएगा। यह दोनों कार्यक्रम बिहार के सभी जिला में हमारी पार्टी करेगी।

इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश सचिव अभिजीत सिंह, वरुण सिंह, युवा प्रदेश अध्यक्ष राजू दानवीर, साहान परवेज, पटना पूर्वी जिलाध्यक्ष सचिदानंद यादव आदि उपस्थित थे|

Thursday, 7 January 2021

05:10

जाप की राज्य कार्यकारणी के सदस्यों के नाम घोषित* जाप ने की किसान-मजदूर रोजगार यात्रा के कार्यक्रमों की घोषणा tap news india

पटना, 7 जनवरी: किसानों की मांगों के समर्थन में जन अधिकार पार्टी (लो०) के प्रदेश अध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह कुशवाहा ने पार्टी के भावी कार्यक्रमों की घोषणा की. उन्होंने कहा कि आगामी 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जी की जयंती के अवसर पर पार्टी के छात्र, युवा एवं किसान परिषद् के सभी कार्यकर्ता देशव्यापी कार्यक्रम के तहत पटना में राजभवन मार्च करेंगे. साथ ही 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) को झंडोतोलन के बाद सभी जिला मुख्यालयों में ट्रैक्टर जुलुस निकला जायेगा. वे मंदिरी स्थित पार्टी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थें.

संवाददाताओ से बातचीत करते हुए राघवेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि सभी संगठनों की बारी-बारी से बैठक कर समीक्षा की जाएगी तथा किसान-मजदूर रोजगार यात्रा में उनकी ओर से पूरी ताकत लगाई जाएगी. आगामी 14 जनवरी को समस्तीपुर, 15 को औरंगाबाद एवं 16 को गया में किसान-मजदूर रोजगार महासभा का आयोजन किया जाएगा. इन सभी कार्यक्रमों में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव के साथ राष्ट्रीय पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे.

आगे उन्होंने कहा कि आज पार्टी की राज्य कार्यकारणी का विस्तार करते हुए 18 उपाध्यक्ष, 44 महासचिव, 74 सचिव सहित 23 कार्यसमिति के सदस्य मनोनीत किए गए हैं. इसके साथ ही शिक्षक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में पटना सायंस कॉलेज के प्राध्यापक डॉ अभय कुमार तथा विधि प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में पटना उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता धनंजय पांडे को मनोनीत किया गया है.

18 उपाध्यक्षों की सूची में सूर्यनारायण सहनी एवं प्रो. अरविंद कुमार खां शामिल हैं तो वहीँ प्रदेश महासचिव की सूची में अरुण कुमार सिंह, रमेश रंजन यादव सहित 44 नेताओं को जगह मिली है. हरिनंदन राय, ददन यादव सहित 74 नेताओं को पार्टी के प्रदेश सचिव का पदभार सौंपा गया है और राज्य कार्यसमिति में राजनीती यादव, कृष्ण कुमार सिंह समेत 23 नेताओं को शामिल किया गया है. मुक्तेश्वर प्रसाद, नागेन्द्र सिंह त्यागी सहित 8 अन्य नेताओं को प्रवक्ता बनाया गया है. 

इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू, नवल किशोर यादव, दिलीप कुमार यादव, पुरुषोत्तम कुमार एवं पार्टी के अन्य नेता उपस्थित थें.
रामजी पांडे

Monday, 4 January 2021

04:44

5 जनवरी से जाप निकलेगी किसान-मजदूर रोजगार यात्रा: पप्पू यादव

4 जनवरी, पटना तीन कृषि कानूनों के विरोध और किसानों के समर्थन में जन अधिकार पार्टी (लो) 5 जनवरी से किसान-मजदूर रोजगार यात्रा की शुरुआत करेगी. इसकी शुरुआत बाबू वीर कुंवर सिंह जी की धरती से होगी. साथ ही 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती के मौके पर राज भवन मार्च निकाला जाएगा और 26 जनवरी को युवा परिषद् के द्वारा हर जिले में किसान विरोधी सरकार के खिलाफ ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी. उक्त बातें जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने कही. वे उत्तरी मंदिरी स्थित पार्टी कार्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे.

पप्पू यादव ने कहा कि किसान-मजदूर रोजगार यात्रा के दौरान हम बिहार के किसानों को यह बताएंगे कि यदि देश में कहीं किसानों की सबसे ज्यादा बुरी स्थिति है तो वो है बिहार. राज्य के 40 फीसदी किसान बिना जमीन के हैं. अधिकतर किसान कर्ज के बोझ तले दबे हुए हैं और सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ रहा. यह यात्रा मार्च के महीने में गाँधी मैदान में खत्म होगी. 

दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों के बारे में बोलते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि ये लड़ाई जो किसानों ने शुरू की उसे पूरे देश की जनता का समर्थन मिल रहा है. अगर जरूरत पड़ी तो हम ट्रैक्टर लेकर सिंघु बॉर्डर भी कूच करेंगे.

केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए पप्पू यादव ने कहा कि नरेंद्र मोदी जी ने कहा था कि तीन महीने में ब्लैक मनी वापस देश में ले आऊंगा लेकिन सात साल भी कुछ नहीं आया. सभी को 15-15 लाख रुपए देने के लिए 2 महीने का समय मांगा था लेकिन किसी को एक पैसा भी नहीं मिला. नोटबंदी में कहा था कि एक महीने के अन्दर सभी चींजे व्यवस्थित हो जाएगी और जीएसटी के समय 21 दिन माँगा था, लेकिन आज तक चींजे व्यवस्थित नहीं हुई. कोरोनावायरस में एक महीना कहा लेकिन कुछ नहीं हुआ. अब बोल रहे हैं कि एमएसपी है और रहेगा लेकिन कानून नहीं बनाएंगे. केंद्र सरकार पर भरोसा नहीं किया जा सकता है. एमएसपी पर बिना कानून बनाए और बिना कृषि कानून वापस लिए, हम पीछे नहीं हटेंगे.

वैक्सीन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने पहले बोला था कि सभी को टीके देंगे और अब एक से दो करोड़ पर आ गए हैं. भाजपा बिहार के 13 करोड़ लोगों को टीके देने का अपना चुनावी वादा पूरा करे. जब तक देश के सभी लोगों को टीका नहीं लग जाता तब तक जाप का कोई सदस्य वैक्सीन नहीं लेगा. 

पप्पू यादव ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ लव जिहाद कानून से समाज में नफरत फैला रहे हैं. प्रेम का राजनीतिकरण किया जा रहा है. जिन नेताओं ने प्रेम विवाह किया है, पहले उन पर केस किया जाना चाहिए. 

इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह कुशवाहा, राजू दानवीर सहित पार्टी के अन्य मौजूद रहें।

रामजी पांडे

Tuesday, 1 December 2020

07:02

पर्यटकों के लिए खुलेगा सफारी पार्क:deepak tiwari

पटना.पर्यटकों के लिए खुशखबरी है। राज्य का पहला 8 सीटर रोपवे राजगीर में फरवरी से चालू हो जाएगा। इसका 90 प्रतिशत निर्माणकार्य पूरा हो चुका है और अब यह पूरी तरह से तैयार है। फिलहाल कंपनी द्वारा ट्रायल पीरियड चल रहा है। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजगीर में निर्माणाधीन 8 सीटर रोपवे का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने रोपवे का जायजा लिया और फरवरी से इसे शुरू करने का निर्देश दिया।
मुख्यमंत्री के पहुंचने पर जिला प्रशासन ने सबसे पहले उन्हें गॉड ऑफ ऑनर की सलामी दी। इसके बाद वह वेणुवन भी गए, जहां वन का सौंदर्यीकरण चल रहा है। घोरा कटोरा में भी निर्माणाधीन पार्क में गए और अधिकारियों को हरियाली से छेड़छाड़ नहीं करने का निर्देश दिया।
ये रोपवे पुराने रोपवे के पास ही है, जहां पर्यटकों के लिए 8 सीटर रोपवे बनाया जा रहा है। सूबे का यह पहला अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस 8 चेयर रोपवे है, जिसके लिए ऑस्ट्रेलिया से सामान मंगवाया गया है। पर्यटकों को अब पहले की तरह बैठने की जरुरत नहीं होगी। एंट्री और एग्जिट के समय ऑटोमैटिक डोर खुद खुलेगा और बंद होगा। अपर और लोअर टर्मिनल स्टेशन पर पर्यटकों के सवार होने और बैठने के क्रम में रुका रहेगा जबकि दूसरा केबिन पर्यटकों को सैर कराएगा। रोपवे की कुल लंबाई 1700 मीटर है। रोपवे 2.5 मीटर प्रति सेकेंड चलेगी।
रोपवे बिजली और जेनेरेटर से चलेगी जबकि दोनों के फेल होने पर पर्यटकों को मैनुअल भी उतारा जा सकेगा। पर्यटकों की सुविधा के लिए यहां तीन मंजिला भवन का निर्माण किया गया है, जिसमें बाथरूम, पेयजल और बैठने की व्यवस्था की गई है। पुराने रोपवे के बगल में ही 8 सीटर रोपवे का निर्माण किया जा रहा है।
4 सीटेड होगा मंदार हिल का रोपवे
अभी बिहार में केवल एक रोपवे है, जो राजगीर में है। ये रोपवे सिंगल सीटेड है लेकिन मंदार हिल में बनने वाला रोपवे 4 सीटेड होगा। फिलहाल राजगीर के अलावा आठ रोपवे निर्माणाधीन हैं। राजगीर रोपवे के अलावा बांका का मंदार पर्वत, राजगीर, नालंदा, ब्रह्मयोनि पर्वत, डुंगेसरी, गया, बानवर, जहानाबाद,रोहतासगढ़ का किला, मुंडेश्वरी, बोधगया में रोपवे का निर्माण कार्य जारीहै।
1969 में बना था राजगीर में पहला रोपवे
बिहार का सबसे पहला रोपवे 1969 में राजगीर के रत्नगिरी पर्वत पर लगाई गई थी। जापान सरकार की मदद से 1969 में पहले रोपवे का निर्माण किया गया था। इसकी लम्बाई लगभग 2200 फीट है और इसमें 11 टावर और 101 कुर्सियां हैं। ये पूर्णतया बिजली से संचालित है।

Friday, 27 November 2020

00:27

पटना में कोरोना के साथ जहरीली हवा का खतरा, महाजाम से बढ़ गया वायु प्रदूषण deepak tiwari

 
पटना.महाजाम से पटना की हवा में जहर घुलता जा रहा है। प्रदूषण के कारण सुबह आसमान में धुंध भी अधिक दिख रही है। सेहत को लेकर यह काफी खराब है। सांस लेने में भी लोगों को तकलीफ हो रही है। अस्पतालों में सांस के रोगियों की संख्या अचानक से बढ़ गई है। हर मरीज में कोरोना का खतरा दिख रहा है।
पटना में बढ़ता जा रहा है खतरा
पटना का एयर क्वालिटी इंडेक्स हर दिन बढ़ता जा रहा है। गुरुवार दोपहर यह 326 पहुंच गया। दो दिनों 100 तक बढ़ोत्तरी हुई है। डीआरएम कार्यालय दानापुर में हवा सबसे प्रदूषित हैं, यहां का इंडेक्स 409 तक पहुंच गया है। वहीं आईजीएससी का एयर क्वालिटी इंडेक्स 381 है। मुरादपुर का 275, राजवंशी नगर का 310 और राजकीय विद्यालय शिकारपुर का एयर क्वालिटी इंडेक्स 310 है। पूरे पटना का 326 है। प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड पटना की हवा को काफी खराब बता रहा है और इसे सेहत के लिए जहर कहा जा रहा है। लोगों से अपील की जा रही है कि वह मास्क का प्रयोग करें।
जाम के कारण हर दिन बिगड़ रही हवा
पर्यावरण पर काम करने वाले सनी का कहना है कि प्रदूषण के कारण हवा में जहर घुल रहा है। दीपावली में भी इतनी खराब हवा नहीं हुई थी जितनी जाम के कारण हो रही है। वाहनों का दबाव बढ़ने के कारण ही प्रदूषण बढ़ रहा है। सावधानी से ही इस जहर से बचा जा सकता है। मास्क का प्रयोग किया जाए और मॉर्निंग वॉक पर जोर दिया जाए।
सांस के रोगियों से अस्पतालों की ओपीडी फुल
इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में अचानक से सांस के रोगियों की भीड़ बढ़ गई है। हर दिन ओपीडी फुल चल रही है। संस्थान के छाती रोग विशेषज्ञ डॉ शंकर का कहना है कि प्रदूषण और ठंड दोनों बड़ा कारण है सांस के मरीजों के लिए। उनका कहना है कि सांस के मरीजों को कई तरफ सेहत की मार पड़ी रही है। ऐसे मरीजों को ठंड के साथ प्रदूषण का भी खतरा है। इसके साथ ही कोरोना तो उनके लिए काल बनकर आ रहा है। मरीजों की ओपीडी हर दिन फुल है। मरीजों को वेटिंग करना पड़ रहा है, क्योंकि एक दिन में 100 की ही ओपीडी चल रही है। पटना मेडिकल कॉलेज के साथ एनएमसीएच व अन्य अस्पतालों में भी ओपीडी अचानक से 20 से 25 प्रतिशत बढ़ गई है। डॉ. गौतम मोदी का कहना है कि मौजूदा समय में ठंड और प्रदूषण के कारण मरीजों की संख्या बढ़ गई है। कोरोना जैसा ही लक्षण मरीजों में देखने को मिल रहा है।
मास्क से हो सकती है दोहरी सुरक्षा, कोरोना के साथ हवा से भी होगा बचाव
डॉक्टरों को कहना है कि मौजूदा समय में जो हालात हैं उसमें मास्क का प्रयोग काफी कारगर है। प्रदूषण के कारण सांस में समस्या हो रही है। मास्क लगाने से कोरोना और प्रदूषण दोनों से बचाव होगा। आईजीआईएमएस के टीबी विभाग के एचओडी डॉ. शंकर का कहना है मास्क को लेकर लोगों की लापरवाही भारी पड़ रही है। हर किसी को मास्क का प्रयोग करना चाहिए और एक्सरसाइज पर विशेष ध्यान देना चाहिए। मास्क नहीं लगाने वालों में कोरोना के साथ मौसम और प्रदूषित हवा की मार पड़ रही है।

Saturday, 31 October 2020

09:36

सत्ता में आने पर लोकपाल बिल लाएंगे- पप्पू यादव


पटना,  31 अक्टूबर: जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने प्रशासन पर आरोप लगाते कहा कि सत्ता पक्ष के नेताओं की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाता है लेकिन विपक्ष के नेताओं की सुरक्षा पर किसी का ध्यान नहीं होता। आज मैं बाल-बाल बचा हूं। मेरे और मेरे पार्टी के साथियों के साथ आज कोई भी अप्रिय घटना घट सकती थी। 

आपको बता दें कि मुज़फ्फरपुर में अचानक मंच टूट जाने से पप्पू यादव को चोट लग गई और उनके दायें हाथ में फ्रैक्चर में हो गया। जिस वक्त मंच टूटा उस वक्त पप्पू यादव मीनापुर में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। घटना के तुरंत बाद पप्पू यादव का स्थानीय स्तर पर प्राथमिक उपचार कराया गया।

मंच टूटने के कारणों की जांच की मांग करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि इस घटना की अच्छी तरह से जांच होनी चाहिए। क्या यह किसी सोची-समझी साजिश के तहत किया गया? चोट के बाद भी पप्पू यादव ने चुनाव सभाओं को संबोधित किया। 

लोकपाल पर बोलते हुए पप्पू यादव ने कहा कि हम सरकार में आने के बाद लोकपाल बिल लाएंगे। इससे सिस्टम में पारदर्शिता बढ़ेगी और अधिकारियों और नेताओं की जवाबदेही तय की जा सकेगी। 

आशा और जीविका का जिक्र करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि यदि हम सत्ता में आते हैं तो आशा, जीविका, ममता, विकास मित्र और टोला सेवकों के मानदेय में वृद्धि की जाएगी।  ममता आसा और  जीविका दीदियों  की सैलरी 9000 करेगी। साथ ही समान काम के लिए समान वेतन को भी लागू किया जाएगा। सभी नियोजित और संविदा  शिक्षकों को स्थायी किया जाएगा। वित्तरहित शिक्षकों को सरकार सम्मान के साथ वेतन देगी।  बिहार में जनवितरण प्रणाली के दुकानदारों को मानदेय देगी।

Tuesday, 29 September 2020

15:42

चुनावी तैयारियों के बीच कोरोना संक्रमण deepak tiwari

पटना.बिहार पहला ऐसा राज्य है जहां कोरोना काल में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। चुनावी बिगुल बजने के बाद तैयारियां भी जोरों पर है, लेकिन कोरोना संक्रमण बाधा बन रही है। डीएम कार्यालय से लेकर सिविल सर्जन ऑफिस तक कोरोना संक्रमण फैल चुका है। इसलिए दिनों दिन कर्मियों की संख्या घटती जा रही है। डीएम कार्यालय में 40 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि स्वास्थ्य विभाग के चार अहम पदों पर कार्यरत कर्मचारी संक्रमित हैं। सिविल सर्जन कार्यालय में मुख्य एकाउंटेंट से लेकर क्लर्क के कोरोना पॉजिटिव होने से हड़कंप मच गया है।
कोरोना को लेकर एहतियात बरतने का निर्देश
चुनाव की तैयारियों के बीच कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर पटना की सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी ने कर्मियों को सावधानी बरतने को कहा है। डॉ विभा का कहना है कि इस बार चुनाव में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी जिम्मेदारी है। ऐसे में कार्यालयों में तैयारियां काफी तेज हो गई है। इस बीच कोरोना संक्रमण बाधा ना बने, इसके लिए सावधान रहना होगा।
डीएम कार्यालय में भी बढ़ी सतर्कता
डीएम कार्यालय में भी कोरोना को लेकर सतर्कता बढ़ा दी गई है। अब तक डीएम कार्यालय में संक्रमितों की संख्या 40 तक पहुंच चुकी है। इसमें अधिकतर ऐसे लोग हैं जो चुनाव का अहम काम देख रहे थे। डीएम कुमार रवि ने सभी पटल पर काम करने वालों को सतर्क रहने को कहा है। किसी भी बैठक और मीटिंग के पहले हॉल को सैनिटाइज करने का निर्देश दिया गया है।
डीएम कुमार रवि का कहना है कि सुरक्षा को लेकर हर सावधानी बरती जा रही है। संक्रमण से बचकर चुनाव को संपन्न कराने को लेकर मास्क के साथ सैनिटाइजेशन पर जोर दिया जा रहा है। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भी कार्यालय पूरी तरह से अलर्ट है। मीटिंग और बैठकों में भी दूरी बनाकर ही काम किया जा रहा है।

Tuesday, 15 September 2020

16:35

BJP के लिए प्रचार करेंगी एक्ट्रेस कंगना रनौत

पटना:महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस सोमवार को राज्य के कटिहार पहुंचे। इस दौरान उनसे बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और सुशांत सिंह राजपूत को लेकर भी सवाल पूछे गए। जब फडणवीस से पूछा गया कि क्या कंगना बिहार में बीजेपी के लिए प्रचार करेंगी तो उन्होंने इनकार करते हुए प्रधानमंत्री मोदी को पार्टी का सबसे बड़ा स्टार प्रचारक बताया।

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में कंगना रनौत जैसे स्टार प्रचारक की बिहार में कोई जरूरत नहीं है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही बीजेपी के स्टार और सुपर स्टार हैं। उनकी वजह से ही हमने देश में जीत दर्ज की और कहीं भी जीत दर्ज कर सकते हैं।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि बिहार के चुनाव में सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या जैसा मुद्दा कोई चुनावी राजनीति का हिस्सा नहीं है। इससे पहले, शुक्रवार को फडणवीस ने कहा था कि सुशांत राजपूत-रिया मुद्दा बीजेपी के लिए चुनावी मुद्दा नहीं है। लेकिन हम इसे न भूलें हैं और न भूलने देंगे। न्याय मिलने तक इसे नहीं छोड़ेंगे।

‘बिहार ही नहीं, देश के बेटे थे सुशांत’

देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को सुशांत सिंह राजपूत को देश का बेटा बताया था। उन्होंने कहा था, ‘सुशांत बिहार ही नहीं, देश के बेटे थे। इस उदयीमान सितारे के निधन के बाद आम लोगों को लगा था कि अब न्याय नहीं मिलेगा। लेकिन मीडिया की मुहिम का असर हुआ।’ हालांकि, उन्होंने कंगना रानौत की ओर से मुंबई को पीओके कहे जाने को अनुचित बताया था। फडणवीस ने कहा, ‘महाराष्ट्र सरकार बदले की भावना से काम कर रही है। कंगना का घर ध्वस्त करने तक मामला आ पहुंचा है। हकीकत है कि महाराष्ट्र सरकार कोरोना के बदले कंगना से मुकाबला कर रही है।’

कंगना और शिवसेना के बीच चल रही तनातनी

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही कंगना रनौत महाराष्ट्र सरकार, मुंबई पुलिस, शिवसेना पर हमलावर हैं। उन्होंने कुछ दिन पहले मुंबई की तुलना पीओके से कर दी थी, जिसके बाद विवाद काफी बढ़ गया था। इसके बाद लगातार शिवसेना और एक्ट्रेस के बीच बयानबाजी जारी थी। कंगना के हमलावर होने के बाद, बीमएसी ने बीते सप्ताह एक्ट्रेस का मुंबई के पाली हिल स्थित दफ्तर को अवैध निर्माण बताकर तोड़ दिया था। बीएमसी ने दफ्तर के बाहरी हिस्से और अंदर तोड़फोड़ की थी, जिसके बाद एक्ट्रेस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर जमकर निशाना साधा था

Wednesday, 9 September 2020

01:27

पटना :धर्मस्थल, मॉल और पार्क खुले मंदिर में जुटी भक्तों की भीड़ मॉर्निंग वाक करने वालों को मिली सुविधा

deepak tiwari 
पटना.कोरोना से बचाव के लिए केंद्र सरकार के अनलॉक 4 को लेकर जारी दिशा निर्देश बिहार में भी लागू हो गया है। पटना समेत पूरे बिहार में मंगलवार को धर्मस्थल-मॉल-पार्क खुल गए। सब्जी, फल, मीट-मछली सहित अन्य सभी तरह की दुकानों के खुलने और बंद होने के लिए तय समय सीमा की पाबंदी समाप्त कर दी गई है।
लंबे समय बाद मंदिर के गेट खुले तो भक्तों की भीड़ जुटी। पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर में सुबह 6 बजे से ही लोग पूजा करने पहुंचने लगे। मंगलवार होने के चलते भी अधिक संख्या में लोग जुटे। यहां कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों के बीच जागरूकता दिखी। महिलाएं-पुरुष मास्क लगाकर मंदिर में पहुंचे। मंदिर प्रबंधन द्वारा भी बिना मास्क लगाए आए भक्तों को मास्क पहनकर ही मंदिर में प्रवेश के लिए कहा गया।
मंगलवार सुबह पीएनएम मॉल का गेट नहीं खुला। मॉल खुलने की सूचना पाकर लोग पहुंचे, लेकिन गेट बंद होने के चलते लौटना पड़ा। कहा गया कि मॉल कई माह से बंद है। आज पूरे दिन मेंटेनेंस होगा इसके बाद मॉल खुलेगा।
अनलॉक 4 में राजधानी के पार्क भी खुल गए हैं। इससे मॉर्निंग वाक करने वालों को सुविधा मिली है। मॉर्निंग वाक पर आए सांसद रामकृपाल यादव ने कहा कि गांधी मैदान और शहर के अन्य पार्क बंद होने से लोगों को काफी असुविधा हो रही थी। स्वस्थ्य रहने के लिए सुबह टहलना और एक्सरसाइज करना चाहिए। पार्क बंद होने के चलते मैं मजबूरी में सड़क पर टहल रहा था। एक बार तो मैं हादसे से बाल-बाल बचा।

Tuesday, 5 November 2019

08:50

पटना में मूर्ति विसर्जन के दौरान बवाल

संजीव सिंह/ पटना में मूर्ति विसर्जन जुलूस के दौरान भीषण बवाल,दो पक्षो मे भिड़ंत,पुलिसवाहन के शीशे तोड़े, बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात मिली जानकारी के अनुसार पटना के आलमगंज थाना क्षेत्र में रात्रि में प्रतिमा विसर्जन जुलूस के दौरान भीषण बवाल उस वक्त हो गया जब मूर्ति जुलूस में शामिल लड़के और स्थानीय लड़को में भिड़ंत हो गई । घटना आलमगंज चौकी के समीप  हुई है।बवाल में दोनों पक्षों के तरफ से रोड़े लाठियां बरसाई गयी जिसमे कई मासूमो के साठ युवा जख्मी है जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।