Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label मनोरंजन. Show all posts
Showing posts with label मनोरंजन. Show all posts

Friday, 12 February 2021

17:25

एक सिगरेट ने बदल दी इस अभिनेता की तकदीर, निभाया करते थे रामलीला में सीता का किरदार Tap news India deepak


मुंबई। दिग्गज दिवंगत एक्टर प्राण (Actor Pran) ने हिंदी सिनेमा (Hindi Cinema) में 350 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। निगेटिव (Nigetive) रोल या फिर पॉजिटिव (Pojitive), अपने कमाल के अभिनय के जरिए प्राण हर तरह के किरदार (Kirdar) में जान फूंक देते थे। वह एक ऐसे कलाकार थे जिन्होंने बतौर विलेन (Vilen) भी उतनी ही लोकप्रियता हासिल की जितने वह एक हीरो (Hero) के तौर दर्शकों के बीच पसंद किए गए। प्राण के जन्मदिन पर चलिए जानते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें।

मधुमति, जिस देस में गंगा बहती है, उपकार, शहीद, पूरब और पश्चिम, आंसू बन गए फूल, जॉनी मेरा नाम, जंजीर, डॉन, अमर अकबर एंथनी और दुनिया जैसी तमाम हिट फिल्मों का हिस्सा रहे प्राण का जन्म 12 फरवरी 1920 को पुरानी दिल्ली में हुआ था। प्राण का पूरा नाम प्राण कृष्ण सिकंद था और उनके पिता एक सरकारी सिविल इंजीनियर थे। प्राण एक संपन्न परिवार में पले बढ़े लेकिन पढ़ाई में उनका खास मन नहीं लगता था।

रामपुर (Rampur) से उन्होंने मैट्रिक पास किया और फिर फोटोग्राफर बनने के लिए अप्रेंटिस की। इसके बाद वह शिमला (Shimla) चले गए जहां वह रामलीला (Ramleela) में सीता (Sita) का किरदार किया करते थे। इसी प्ले में मदन पुरी में राम का किरदार निभाया था। हालांकि सबसे मशहूर किस्सा है प्राण को उनकी पहली फिल्म मिलने के बारे में। कहा जाता है कि सिर्फ एक सिगरेट ने प्राण की तकदीर बदल दी थी।

सिगरेट के जरिए कैसे मिली फिल्म : प्राण सिगरेट को अपना पहला प्यार कहा करते थे। उनको ये लत छठवीं क्लास से ही लग गई थी। एक बार प्राण सिगरेट लेने पान की दुकान पर गए हुए थे और वहीं पर उनकी मुलाकात राइटर मोहम्मद वली से हुई। वली ने जब प्राण को देखा तो उन्हें लगा कि उन्हें अपनी फिल्म के लिए एक किरदार मिल गया है। वली के कहने पर ही प्राण ने पंजाबी फिल्म यमला जट से अपना करियर शुरू किया था

Sunday, 24 January 2021

06:54

फ़िल्म अभिनेता संजय दत्त अपनी बहन के साथ श्री सांवलिया जी दर्शन करने पहुंचे deepak tiwari

निम्बाहेड़ा। बॉलीवुड सुपरस्टार संजय दत्त अपनी बहन पूर्व सांसद प्रिया दत्त के साथ मुम्बई से श्री सांवलिया जी के दर्शन के लिए रविवार को पहुंचे। मंदिर मंडल अध्यक्ष कन्हैया दास वैष्णव, मंदिर मंडल प्रशासनिक अधिकारी कैलाशचंद्र दाधीच, पूर्व सदस्य ममतेश शर्मा सहित ग्रामीणों ने अभिनेता संजय दत्त एवं बहन पूर्व सांसद प्रिया दत्त का परम्परागत तरीके से स्वागत किया। श्री सांवलिया जी के दर्शन के दौरान उन्हें चरणामृत एवं प्रसाद के साथ ही स्मृति चिन्ह के रूप में श्री सांवलिया जी की तस्वीर भेंट की गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार अभिनेता संजय दत्त अपनी बहन पूर्व सांसद प्रिया दत्त के साथ रविवार को मुम्बई से स्पेशल श्री सांवलिया जी के दर्शन के लिए ही पहुंचे थे,दर्शन के पश्चात वापस उदयपुर से मुम्बई के लिए रवाना हो गए।

Wednesday, 20 January 2021

01:11

सोनू सूद के नाम पर शुरू की फ्री एंबुलेंस सेवा, लोगों का दिल जीत रहा ये शख्स tap news india

Tap news India deepak tiwari 
 Jan 20, 2021

 लॉकडान में जिस तरह अभिनेता सोनू सूद (Sonu Sood) ने समाज सेवा का उदाहरण पेश किया जो वह आज भी निरंतर जारी है। हाल ही उनके नाम की एक फ्री एंबुलेंस सेवा शुरू की गई है। जिस पर सोनू सूद कहा कहा, ‘मुझे गर्व है कि मैं इस एम्बुलेंस का उद्घाटन करने आया हूं। शिवा को धन्यवाद. मैंने उनके बारे में बहुत सुना है कि वह लोगों की जान बचाने का काम कर रहे हैं. हमारे समाज को शिवा जैसे लोगों की जरूरत है ताकि सभी लोग आगे आकर दूसरों की सहायता कर सकें.’

कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के चलते देश में लगे लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान लोगों की मदद कर एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) ने खूब सुर्खियां बटोरीं। लोगों ने भी उनके काम की जमकर सराहना की. यहां तक कि कइयों ने उनसे प्रेरणा लेकर जरूरतमंदों की मदद भी की. ऐसे ही एक नेकदिल व्यक्ति ने सोनू सूद से प्रेरित होकर ‘सोनू सूद एम्बुलेंस सेवा’ की शुरुआत की है. शख्स का नाम शिवा है और वह एक तैराक हैं।  शिवा के अनुसार उन्होंने हुसैन सागर झील में डूब कर आत्महत्या करने का प्रयास करने वाले सौ से अधिक लोगों की जिंदगी बचाई है. उनके इस निस्वार्थ कार्य को देखते हुए लोगों ने उन्हें दान देना शुरू कर दिया. शिवा ने एक एम्बुलेंस खरीदी है और उसका नाम सोनू सूद के नाम पर रखा है।  शिवा ने कहा, ‘लोगों ने मुझे और मेरे परिवार को दान दिया. लेकिन मैंने उस राशि का इस्तेमाल एम्बुलेंस खरीदने के लिए किया. सोनू सूद के अच्छे काम से प्रेरित होकर मैंने एम्बुलेंस का नामकरण उनके नाम पर किया।
गौर करने वाली बात यह है कि इस एम्बुलेंस सेवा का उद्घाटन खुद सोनू सूद ने किया और शिवा के इस प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा, ‘मुझे गर्व है कि मैं इस एम्बुलेंस का उद्घाटन करने आया हू। शिवा को धन्यवाद. मैंने उनके बारे में बहुत सुना है कि वह लोगों की जान बचाने का काम कर रहे हैं. हमारे समाज को शिवा जैसे लोगों की जरूरत है ताकि सभी लोग आगे आकर दूसरों की सहायता कर सकें

Sunday, 18 October 2020

05:23

आज अभिनेता ओमपुरी का जन्मदिन है जाने उनके संघर्ष की कहानी deepak tiwari

 October 18, 2020

मुंबई. एक जमाना ऐसा हुआ करता था जब किसी फिल्म में एक हीरो को कास्ट करने की कई सारी धारणाए बनी हुई थीं. उसका गोरा रंग, अच्छे लुक्स, अच्छी पर्सनालिटी इन सारी चीजों को प्रथमिकता दी जाती थी. ऐसा नहीं है कि आज इंडस्ट्री में ये सारी धारणाएं मिट गई हैं मगर 4 दशक पहले एक ऐसे शख्स ने फिल्म इंडस्ट्री में एंट्री मारी जिसने इन धारणाओं को कमजोर जरूर कर दिया. साधारण सा दिखने वाला शख्स, एक दमदार आवाज और Act­ing के प्रति ऐसा जुनून जिसने उसे सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विश्वभर में पहचान दिलाई. एक्टर का नाम ओम पुरी.

 
ओम पुरी ने एक्टर की एक ऐसी परिभाषा गढ़ी जिसने Cin­e­ma की दुनिया में एक मिसाल कायम की. नामुमकिन सी लगने वाली बात को मुमकिन किया. एक्टर ओम पुरी के 70वें जन्मदिन पर बता रहे हैं एक्टर के संघर्ष और सफलता की कहानी. ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर, 1950 को पंजाब के अंबाला में हुआ. उनका जीवन गरीबी में गुजरा. उन्होंने एक Inter­view के दौरान ये बताया था कि जब वे 6 साल के थे तो एक ढाबे में बर्तन साफ किया करते थे. एक्टर को बचपन से ही फिल्मों का शौक था और उन्होंने अपनी आरंभिक पढ़ाई पूरी करने के बाद एक्टिंग स्कूल में ही दाखिला लेने की ठानी. उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन लिया.
एक्टर का संघर्ष यहीं खत्म नहीं हुआ. उन्हें नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में ये महसूस हुआ कि अपने साथियों की तुलना में उनकी इंग्लिश बड़ी खराब है. वे इस बात को लेकर बेहद मायूस रहते. फिर उन्होंने इंग्लिश सीखने की इच्छा जाहिर की तो इसमें उनके मेंटर ने उनकी मदद की. इसके अलवा साथी नसीरुद्दीन शाह ने भी उनका बहुत साथ दिया. नतीजतन ओम पुरी ने Eng­lish पर इतनी अच्छी पकड़ बना ली कि उन्होंने 20 के करीब इंग्लिश फिल्मों में काम किया.
इन शानदार फिल्मों में किया काम
ओम पुरी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. उन्हें फिल्मों में सिर्फ सपोर्टिंग रोल ही नहीं मिले बल्कि लीड रोल भी मिले. एक्टर ने भूमिका, स्पर्श, आक्रोश, कलयुग, गांधी, जाने भी दो यारों, आरोहन, अर्ध सत्या, मंडी, पार, मिर्च मसाला, सिटी ऑफ जॉय, अ रेल्युकटेंट फंडामेंटलिस्ट, चार्ली विलसन्स वार, इन कस्टडी, गुप्त, चाची 420, चोर मचाए शोर, मकबूल, धूप, मेरे बाप पहले आप, मालामाल वीकली, दबंग, अ डेथ इन अ गुंज, द जंगल बुक और द गाजी अटैक जैसी इंग्लिश और हिंदी फिल्मों में काम किया

Monday, 28 September 2020

16:38

घर की जिम्मेदारियों में दबी रही शादी नहीं की lata ji

deepak tiwari 
इन्दौर। लता मंगेशकर भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका हैं जिनका छह दशकों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा पड़ा है। स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने 20 भाषाओं में 30 हजार गाने गाये है। उनकी आवाज़ सुनकर कभी किसी की आंखों में आंसू आए, तो कभी सीमा पर खड़े जवानों को सहारा मिला। लताजी आज भी अकेली हैं।
लताजी का जन्म 28 सितंबर को हमारे शहर इंदौर में हुआ था, बचपन में उन्हें काफी संघर्षों का सामना करना पड़ा। जब वो 13 साल की थीं तभी दिल का दौरा पडऩे से उनके पिता गुजर गए थे। कड़ी मेहनत के बाद 1947 में जब फि़ल्म आपकी सेवा में उन्हें एक गीत गाने का मौक़ा मिला, 1949 में आएगा आने वाला… गीत गाया जिसके बाद आपके प्रशंसकों की संख्या दिनों दिन बढऩे लगी। इस बीच आपने उस समय के सभी प्रसिद्ध संगीतकारों के साथ काम किया। अनिल बिस्वास, सलिल चौधरी, शंकर जयकिशन, एस. डी. बर्मन, आर. डी. बर्मन, नौशाद, मदनमोहन, सी. रामचंद्र आदि सभी संगीतकारों ने आपकी प्रतिभा का लोहा माना। लताजी ने दो आंखें बारह हाथ, दो बीघा ज़मीन, मदर इंडिया, मुग़ल‑ए-आज़म आदि महान फि़ल्मों में गाने गाये है। आपने महल, बरसात, एक थी लडक़ी, बडी़ बहन आदि फि़ल्मों में अपनी आवाज़ के जादू से इन फि़ल्मों की लोकप्रियता में चार चांद लगाए। इस दौरान आपके कुछ प्रसिद्ध गीत थे। लताजी के सुपरहिट गीतों की एक लम्बी कतार है।
आज भी अकेली है..
पिता के गुजर जाने के बाद घर की सारी जिम्मेदारियां लता मंगेशकर पर आ गईं थीं। लताजी ने कहा कि घर के सभी सदस्यों की जिम्मेदारी मुझ पर थी। ऐसे में कई बार शादी का ख्याल आता भी तो उस पर अमल नहीं कर सकती थी। बेहद कम उम्र में ही मैं काम करने लगी थी। छोटे भाई‑बहनों को सम्भालती थी, फिर बहन की शादी हो गई और उनके बच्चे हो गए तो उन्हें संभालने की जिम्मेदारी आ गई।

Thursday, 17 September 2020

17:24

अक्षय कुमार ले कर आ रहे है लक्ष्मी बॉम्‍ब जानिए कब कहा और किस बारे में है ये पिक्चर deepak tiwari




फ‍िल्‍म ‘लक्ष्मी बॉम्‍ब’ की रिलीज डेट सामने आ गई है। फ‍िल्‍म का प्रीमियर दीवाली के मौके पर 9 नवंबर को होगा। बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने अपने फैंस को यह खुशखबरी दी है। यह फिल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होगी। अक्षय कुमार ने रिलीज डेट की घोषणा करते हुए ट्विटर पर फिल्म का टीजर शेयर किया है। टीजर में आवाज सुनाई देती है-‘आज से तेरा नाम लक्ष्मण नहीं लक्ष्मी होगा।’ उसके बाद फिल्म का रिलीज डेट 9 नवंबर लिखा नजर आता है। फिल्म ‘लक्ष्‍मी बॉम्‍ब’ का प्रीमियर डिज्‍नी प्‍लस हॉटस्टार पर 9 नवंबर 2020 को होगा।
अक्षय कुमार ने ट्विटर पर टीजर शेयर कर लिखा-‘इस दिवाली आपके घरों में ‘लक्ष्मी’ के साथ एक धमाकेदार ‘बम’ भी आएगा। आ रही है ‘लक्ष्मी बॉम्‍ब’ 9 नवम्बर को, केवल डिज्‍नी प्‍लस हॉटस्टार पर। मैड राइड के लिए तैयार हो जाइए, क्योंकि यह दिवाली लक्ष्‍मी बॉम्‍ब वाली।’
‘लक्ष्मी बॉम्ब’ में अक्षय कुमार एक किन्नर का करिदार निभाते नजर आएंगे। टीजर में अक्षय कुमार को लक्ष्मण से लक्ष्मी बनने का ट्रांसफॉर्मेशन दिखाया गया है। हॉरर कॉमेडी फिल्म ‘लक्ष्मी बॉम्ब’ के निर्देशक राघव लॉरेंस हैं। यह फिल्म केप ऑफ गुड फिल्म्स, शबीना खान और तुषार कपूर द्वारा निर्मित है। इस फिल्म में अक्षय कुमार और कियारा आडवाणी मुख्य भूमिका में हैं। पहले यह फिल्म सिनेमाघरों में ईद के मौके पर 22 मई, 2020 को रिलीज होने वाली थी।
‘लक्ष्मी बॉम्ब’ साउथ की फिल्म ‘कंचना’ का हिंदी रीमेक है। वर्कफ्रंट की बात करें तो अक्षय कुमार इन दिनों यूके में फिल्म ‘बेल बॉटम’ की शूटिंग में बिजी हैं। इसके अलावा अक्षय कुमार फिल्म सूर्यवंशी, पृथ्वीराज, बच्चन पांडे, अतरंगी रे और रक्षाबंधन में नजर आएंगे।