Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label किशनगढ़. Show all posts
Showing posts with label किशनगढ़. Show all posts

Monday, 27 January 2020

07:50

किशनगढ़ ब्लॉक के शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी रहने पर दिया गया शर्मा को सम्मान



 चंद्र शेखर शर्मा किशनगढ़ राजस्थान: किशनगढ़। पीटीएस ग्राउंड किशनगढ़ में आयोजित ब्लॉक स्तरीय 71 वें गणतंत्र दिवस समारोह कार्यक्रम में रविवार को मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी राजेंद्र कुमार शर्मा को शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान हेतु सम्मानित किया गया। गणतंत्र दिवस समारोह में उपखंड अधिकारी किशनगढ़ देवेंद्र कुमार ( प्रशिक्षु आईईएस) एवं नगर परिषद सभापति सीताराम साहू द्वारा प्रमाण पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मान प्रदान किया गया। संदर्भ व्यक्ति ओम प्रकाश शर्मा ने बताया कि संपूर्ण अजमेर जिले में राज्य सरकार एवं शिक्षा विभाग द्वारा संचालित विभिन्न शैक्षणिक गतिविधियों के क्रियान्वयन एवं पर्यवेक्षण में किशनगढ़ ब्लॉक कुछ समय पूर्व कुल 9 ब्लॉकों में से छठवें नंबर पर था। लेकिन मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी राजेंद्र कुमार शर्मा के कुशल नेतृत्व में संपूर्ण कार्यालय कर्मियों,ग्राम पंचायत शिक्षा अधिकारियों, प्रधानाचार्यो,माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापकों तथा समस्त शालाओं के संस्था प्रधानों द्वारा परस्पर सहयोग प्रदान कर राज्य सरकार एवं शिक्षा विभाग की संपूर्ण गतिविधियों में बेहतर प्रदर्शन किया गया। जिसके चलते विगत माह एवं इस माह (अनवरत दो महीने ) किशनगढ़ ब्लॉक संपूर्ण जिले में प्रथम स्थान पर रहा। विशेष रुप से मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी राजेंद्र कुमार शर्मा को शाला दर्पण पोर्टल एवं विभिन्न नवा चारों एवं सरकार और  शिक्षा विभाग तथा समग्र शिक्षा अभियान के लक्ष्य को निर्धारित समय सीमा में अर्जित करने के चलते रविवार को हजारों लोगों की उपस्थिति में यह सम्मान प्रदान किया गया। इसके अलावा शिक्षा विभाग की ओर से  राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रलावता में पद स्थापित व्याख्याता (चित्रकला) रविंद्र दोसाया, राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय मोहनपुरा में कार्यरत शा. शिक्षिका गीता जड़िया एवं राजकीय संस्कृत विद्यालय मेहनत नगर के  प्रधानाध्यापक नंदकिशोर शर्मा को भी शिक्षा के क्षेत्र में, श्रेष्ठ परीक्षा परिणाम, बालक- बालिकाओं के नामांकन एवं ठहराव तथा वृक्षारोपण जैसे सराहनीय कार्यों में विशेष योगदान एवं भामाशाह प्रेरक के रूप में उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान करने पर गणतंत्र दिवस समारोह में सम्मानित किया गया। ओके ब्लॉक शिक्षा अधिकारी राजेंद्र कुमार शर्मा को उपखंड स्तर पर सम्मानित होने पर संपूर्ण शिक्षा जगत ने बधाइयां प्रेषित की है।

Sunday, 19 January 2020

18:53

ज्योतिष शास्त्र/ वास्तु शास्त्र का परीक्षा परिणाम घोषित। धर्मानंद शर्मा शास्त्राचार्य एवं सीताराम गर्ग वास्तु रत्न की उपाधि से अलंकृत।



चंद्र शेखर शर्मा किशनगढ़ राजस्थान: सवाई माधोपुर@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। अखिल भारतीय ज्योतिष संस्था संघ (पं.) नई दिल्ली द्वारा नियोजित पाठयक्रम ज्योतिष शास्त्र, वास्तु शास्त्र के शिक्षार्थियों द्वारा दी गई परीक्षा ज्योतिष रत्न, ज्योतिष भूषण, ज्योतिष प्रभाकर, ज्योतिष शास्त्राचार्य, ज्योतिष ऋषि, वास्तु रत्न, वास्तु शास्त्राचार्य, वास्तु ऋषि, सामुद्रिक रत्न व सामुद्रिक शास्त्राचार्य का परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया। टोंक चैप्टर चैयरमैन बाबूलाल शास्त्री ने बताया कि ज्योतिष रत्न में राजेश जोशी, भुपेंद्र शर्मा, सीताराम गर्ग, वास्तु रत्न में गिरधर गोपाल शर्मा,  ओमप्रकाश राजोरा, जगदीश नारायण शर्मा, ज्योतिष प्रभाकर में राजेन्द्र प्रसाद शर्मा, उर्मिला शर्मा, ज्योतिष शास्त्राचार्य में धर्मानन्द शर्मा, महावीर प्रसाद जैन, ज्योतिष ऋषि में महामुनिश्री महापदम सागर जी महाराज  को उत्तीर्ण घोषित किया गया । शास्त्री ने बताया कि ज्योतिष शास्त्र, वास्तु शास्त्र का  सत्र 19 जनवरी रविवार से प्रारंभ कि जाकर कक्षाएं प्रति शनिवार एवं रविवार को लगायी जाकर शिक्षण दिया जायेगा। जिसके लिये प्रवेश प्रारंभ है।

Tuesday, 24 December 2019

05:43

सेवा परमो धर्म: का रखें मन में भाव-चंद्रशेखर शर्मा



 किशनगढ़। (रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा) ब्लाॅक अंतर्गत राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय फलौदा में  अंत्योदय संस्था मुंबई के संस्थापक व समाजसेवी महेंद्र सिंह मेहता के सौजन्य से मंगलवार को खिलौना बैंक की स्थापना की गई। वहीं किशनगढ़ सोशल सेवा संस्थान एवं भारत विकास परिषद के संयुक्त सौजन्य से 55 गरम स्वेटर तथा स्थानीय भामाशाहों द्वारा  शिक्षण सहायक सामग्री का वितरण विद्यालय में अध्ययनरत बच्चों को किया गया। खिलौना बैंक के उद्घाटन एवं स्वेटर वितरण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजस्थान शिक्षक संघ ( शेखावत) के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर शर्मा थे, कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्राम पंचायत शिक्षा अधिकारी हरीनारायण चौधरी ने की। जबकि विशिष्ट अतिथि के तौर पर सिलोरा प्रधानाचार्य दिनेश चंद्र पारीक, ग्राम सेवा सहकारी समिति अध्यक्ष करण सिंह चौहान, समाजसेवी दयारामराम गुर्जर, मेघराज बलाई तथा संदर्भ व्यक्ति (सीडब्ल्यूएसएन) चंद्रशेखर शर्मा आदि विशिष्ट अतिथि के तौर पर कार्यक्रम में उपस्थित थे। संस्था प्रधान जगमाल गुर्जर नेअंत्योदय संस्था मुंबई के बारे में जानकारी देते हुए  बताया कि राज्य के 381 राजकीय विद्यालयों में खिलौना बैंक खोल चुके मुंबई के व्यवसाई एवं समाजसेवी महेंद्र मेहता ने राज्य के उच्च प्राथमिक विद्यालय फलौदा को भी मंगलवार को खिलौना बैंक की सौगात दी, ताकि बच्चों को विभिन्न खेल सामग्री के जरिए खेल-खेल में पढ़ने का सुअवसर मिल  सके। गुर्जर ने बताया कि संस्था  नवोदय विद्यालय में भी प्रवेश दिलाने में विद्यार्थियों की हर संभव मदद करती है इसके अतिरिक्त जरूरतमंद बच्चों को कपड़े, शिक्षण सामग्री एवं आत्मरक्षा के प्रशिक्षण हेतु समय-समय पर आर्थिक/भौतिक रूप से सहयोग प्रदान किया जाता है। कार्यक्रम में उपस्थित संभागीयों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि चंद्रशेखर शर्मा ने कहां की, सेवा परमो धर्म:'एवं' नर सेवा- नारायण सेवा' का भाव रखकर हर व्यक्ति को अपनी मासिक आय में से कुछ न कुछ अवश्य ही समाज हित में या असहाय, दरिद्र , गरीब व जरूरमंद लोगों के लिए आवश्यक संसाधन जुटाने हेतु दान करना चाहिए। तभी वह दान सफल दान की श्रेणी में आता है।उन्होंने कहा कि किशनगढ़ सोशल सेवा संस्थान भी समय-समय पर रक्तदान से लेकर वृक्षारोपण, शिक्षा के क्षेत्र में जरूरतमंद बच्चों को आर्थिक/भौतिक सहायता एवं जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिताओं आदि का आयोजन कर सामाजिक सरोकार के क्षेत्र मे लोगों को लाभान्वित करता रहा है। इसी कड़ी में  फलौदा विद्यालय  के 55 जरूरतमंद बच्चों को भारत विकास परिषद के साथ मिलकर आज संस्था द्वारा गरम स्वेटर का वितरण किया गया है। इसके अतिरिक्त फलौदा गांव के स्थानीय भामाशाहों द्वारा  भी बच्चों को शिक्षण सामग्री के रूप में पेन, पेंसिल रबड़, शाॅपनर  आदि भैंट किए गए।कार्यक्रम को प्रधानाचार्य दिनेश चंद्र पारिक व हरीनारायण चौधरी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर बाल सभा सम्बलन पर्यवेक्षक संतोष शर्मा ( हरमाड़ा), अध्यापक रुस्तम अली, नरेंद्र गुर्जर के अलावा समस्त विद्यालय के स्टाफ कर्मी, सैकड़ों बच्चे एवं उनके अभिभावक तथा काफी  संख्या में ग्रामीण जन भी मौजूद थे।
05:33

राजस्थान: 10 दिवसीय आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर संपन्न



किशनगढ़। रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा) मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय समग्र शिक्षा अभियान किशनगढ़ के तत्वावधान में जाट विश्राम स्थली सुरसुरा में आयोज्य 10 दिवसीय आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर सोमवार को विधिवत संपन्न हुआ। समारोह के मुख्य अतिथि तेजा विकास समिति सुरसुरा के अध्यक्ष तेजाराम जाजड़ा थे। जबकि समापन कार्यक्रम की अध्यक्षता अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी एवं ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी मोहनलाल ढाका ने की।  विशिष्ट अतिथि के तौर पर शिविर प्रभारी एवं सुरसुरा प्रधानाचार्य किरण बारहट भी उपस्थित थी। मुख्य अतिथि के रुप में प्रशिक्षणार्थियों के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए जाजड़ा ने कहा कि यह सरसुरा का सौभाग्य है, कि वीर तेजाजी धाम में शिक्षा विभाग ने निष्ठा एवं आत्मरक्षा जैसे प्रशिक्षण लगाकर तकरीबन 1000 शिक्षक- शिक्षिकाओं को पूरे 1 महीने तेजाजी महाराज के पावन सानिध्य में प्रशिक्षण प्राप्त करने  का मौका प्रदान किया। जिससे हमारे सुरसुरा क्षेत्र का जिले में ही नहीं वरन् राजस्थान राज्य के कोने कोने में नाम पहुंचा। उन्होंने यह भी कहा कि महिलाएं पुरुषों से कहीं कमतर नहीं है, महिलाओं को सामाजिक बुराइयों और अत्याचारों के विरुद्ध लड़ाई में हमेशा तत्पर रहना होगा।एसीबीईओ ढाका ने भी अपने उद्बोधन में कहा, कि आत्मरक्षा के लिए अपने आप में आत्मविश्वास का होना अत्यंत जरूरी है। महज आत्मरक्षा के गुर सीख लेना ही कोई उपलब्धि नहीं होगी। जब तक की हम उसका समय और परिस्थिति के हिसाब से सही ढंग से इस्तेमाल ना करें । मुझे आशा ही नहीं अपितु विश्वास है कि, यह आत्मरक्षा प्रशिक्षण आगे चलकर  विद्यालय में अध्ययनरत बालिकाओं के लिए अवश्य ही वरदान साबित होगा।  शिविर प्रभारी एवं प्रधानाचार्य किरण बारहठ ने भी अपनी बात रखते हुए  कहा कि आत्म सम्मान के लिए जरूरी है, कि महिलाओं को आत्मरक्षा के गुर(तरीके) अवश्य ही आने चाहिए। इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए  ही यह प्रशिक्षण आयोजित किया गया है । शिविर सहयोगी श्योजी राम जाट, संदर्भ व्यक्ति  चंद्रशेखर शर्मा, अशोक यादव आदि ने भी संभागीयों को संबोधित किया ।इस अवसर पर कई  संभागीयों ने भी 10 दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान सीखी गई विधवाओं एवं नवाचारों को लेकर अपने-अपने विचार व अनुभव व्यक्त किए ।संदर्भ व्यक्ति चंद्रशेखर शर्मा ने बताया कि 10 दिवसीय शिविर में कुल 143 प्रशिक्षणार्थियों ने पूर्ण मनोयोग से भाग लिया। प्रशिक्षण में 10 दिनों तक योग गुरु कानाराम चौधरी द्वारा योगा एवं प्राणायाम की तथा आलोक शर्मा एवं गीता जडिया द्वारा संयुक्त रूप से विभिन्न व्यायामों( एक्सरसाइज) की शिक्षा प्रदान की गई। इसके अलावा प्रशिक्षण के बीच- बीच में मुख्य वक्ताओं द्वारा महिला एवं बाल अधिकारों, पोक्सो एक्ट, महिला सशक्तिकरण, महिला सुरक्षा आदि विषयों से संबंधित मुद्दों पर भी प्रकाश डाला जाता रहा।  शिविर सह प्रभारी प्रेमचंद शर्मा के अनुसार आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर में भावना कंवर, अंजू बलौदा, अर्चना मीणा, मीनाक्षी वर्मा एवं करुणा मीणा आदि द्वारा दक्ष प्रशिक्षक के रूप में संभागीयों को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी गई । समापन समारोह के अवसर पर  संदर्भ व्यक्ति राजेंद्र कुमार कुम्हार,अशोक यादव, पवन कुमार शर्मा, कंट्रोल रूम प्रभारी सुरेश कुमार वैष्णव, आलोक शर्मा, सिया राम चौधरी ,ईश्वरलाल मालाकार आदि भी उपस्थित थे। जिन्होंने संपूर्ण  शिविर में अपनी सराहनीय सेवाएं देकर महत्ती सहयोग प्रदान किया।

Sunday, 22 December 2019

03:57

आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का प्रभारी किरण बारहट ने किया अवलोकन



चंद्रशेखर शर्मा। किशनगढ़ ( राजस्थान)मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय समग्र शिक्षा अभियान किशनगढ़ के तत्वावधान में ब्लॉक स्तरीय 10 दिवसीय गैर आवासीय आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर जाट विश्राम स्थली सुरसुरा में आयोजित किया जा रहा है। शनिवार को शिविर के अष्टम दिवस शिविर प्रभारी एवं सुरसुरा प्रधानाचार्य किरण बारहठ ने आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का अवलोकन किया। संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए बारहठ ने अपने उद्बोधन में कहा कि आत्मरक्षा से अभिप्राय खुद की रक्षा करने से है ,आत्मरक्षा करते समय व्यक्ति सामने वाले व्यक्ति को पीट भी सकता है या फिर किसी की जान भी ले सकता है। लेकिन यदि हमारे पास सबूत है, कि यह सब आत्मरक्षा के दौरान हुआ है तो वह दंडनीय नहीं है। शिविर सहयोगी श्योजी राम जाट ने भी उपस्थित संभागीयों को बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 96 से लेकर 106 ने हमें आत्मरक्षा व सुरक्षा का अधिकार दिया है, इसलिए इस अधिकार की जानकारी सभी को होना अत्यंत आवश्यक है, उन्होंने यह भी बताया कि आत्मरक्षा का अधिकार स्थान(जगह) एवं परिस्थिति पर निर्भर करता है। इस अवसर पर शिविर सह प्रभारी एवं संदर्भ व्यक्ति प्रेमचंद शर्मा ने भी  संभागीयों को आत्मरक्षा प्रशिक्षण के उद्देश्यों से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी(पोक्सो एक्ट, बाल अधिकार अधिनियम, महिला सशक्तिकरण, गुड टच- बेड टच आदि) प्रदान की । संदर्भ व्यक्ति चंद्रशेखर शर्मा ने बताया कि आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर में पांच दक्ष प्रशिक्षक  तथा 143 प्रशिक्षणार्थी हिस्सा ले रहे हैं। अष्टम दिवस शनिवार को आत्मरक्षा शिविर  में योग प्रशिक्षक कानाराम जाट ( व. अध्यापक राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय त्योद ) ने संभागीयों को योगासन एवं प्राणायाम की विभिन्न विधाओं से अवगत कराया। साथ ही आलोक शर्मा एवं गीता जड़िया ने प्रथम सत्र में हल्का योग व्यायाम तथा पूर्व दिनों में दिए गए प्रशिक्षण का पूर्वाभ्यास करवाया तथा द्वितीय सत्र में नारी शक्ति को समर्पित प्रेरक प्रसंगों की भी जानकारी प्रदान की। तृतीय सत्र में दोनों ग्रुपों में आत्मरक्षा एवं नारी शक्ति विषय पर आधारित चित्रकला (पोस्टर) गतिविधि भी आयोजित की गई। गौरतलब है कि, आत्मरक्षा प्रशिक्षण मुख्यमंत्री बजट घोषणा में शामिल किया गया है। इसलिए आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविरों की राज्य व जिला स्तर से नित्य प्रतिदिन मॉनिटरिंग की जा रही है। प्रशिक्षण में शनिवार को दक्ष प्रशिक्षक  भावना तंवर, अर्चना मीणा, करुणा मीणा, मीनाक्षी वर्मा एवं अंजू बलौदा ने 143 संभागीयों को आत्मरक्षा( सेल्फ डिफेंस) के अनेकानेक करतब(गुर) सिखाए। इस अवसर पर कंट्रोल रूम प्रभारी के रूप में  आलोक शर्मा, सतीश कुमार शर्मा, सुरेश कुमार वैष्णव व ईश्वरलाल मालाकार आदि भी उपस्थित थे।

Saturday, 21 December 2019

12:27

बालिकाओं को सशक्त एवं सबल बनाना आत्मरक्षा प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य-ढाका


 राजस्थान: किशनगढ़।मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय समग्र शिक्षा अभियान किशनगढ़ के तत्वावधान में संचालित 10 दिवसीय गैर आवासीय आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का शुक्रवार को अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी एवं ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी मोहनलाल ढाका द्वारा आकस्मिक निरीक्षण किया गया। एसीबीईओ द्वारा शिविर में आवास, भोजन एवं सेल्फ डिफेंस से जुड़ी व्यवस्थाओं की जांच- परख की गई। इस दौरान उन्होंने शिविर में शामिल संभागीयों एवं दक्ष प्रशिक्षकों से फीडबैक भी प्राप्त किया।  संयुक्त सत्र के दौरान संभागयों के बीच बोलते हुए ढाका ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बालिकाओं को सशक्त एवं सबल बनाने के लिए हर स्तर पर भरपूर सहयोग प्रदान किया जा रहा  हैं । ताकि व विषम परिस्थितियों में अपनी एवं समुदाय में शामिल अन्य बालिकाओं/ महिलाओं की जरूरत पड़ने पर हर संभव मदद ( रक्षा) कर सकें। उन्होंने कहा कि आत्मरक्षा प्रशिक्षण उसी प्रक्रिया का एक अहम हिस्सा है।उन्होंने कहा कि वर्तमान में बालिकाओं एवं महिलाओं के साथ नित्य प्रतिदिन हिंसा, छेड़छाड़, लूट-पाट ,दुष्कर्म आदि की अनेकानेक घटनाएं घटित हो रही हैं। आत्मरक्षा प्रशिक्षण बालिकाओं को इन सब के खिलाफ आवाज उठाने एवं इन सब से अपनी सुरक्षा करने में सक्षम बनाएगा।  सुरसुरा स्थित जाट विश्राम स्थली  में संचालित आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर के सप्तम दिवस मुख्य रूप से योगा प्रशिक्षक कानाराम जाट ( वरिष्ठ अध्यापक राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, त्योद) ने प्रथम सत्र में संभागीयों को योगा एवं प्राणायाम से जुड़ी विभिन्न विधाओं की गतिविधि आधारित जानकारी प्रदान की । प्रशिक्षण के सप्तम दिवस दक्ष प्रशिक्षकों द्वारा भी संभागीयों को आत्मरक्षा (सेल्फ डिफेंस) के अनेकानेक गुर(टिप्स) सिखाए गए।  दक्ष - प्रशिक्षकों द्वारा गुरुवार को संभागीयों को सेल्फ डिफेंस के अंतर्गत आत्मरक्षा के साथ-साथ आत्मविश्वास बढ़ाने हेतु विभिन्न प्रकार की रोचक जानकारियों से भी अवगत कराया गया, दक्ष प्रशिक्षकों ने ब्लाक, अटैक, रोल, फॉल, तथा थ्रो करने की नई तकनीक संभागीयों को सिखाई । जबकि शिविर सहयोगी श्योजी राम जाट द्वारा दोनों ग्रुपों में विभिन्न प्रकार के चौक, साइबर क्राइम एवं पोक्सो एक्ट की जानकारी प्रदान की गई। शिविर सह प्रभारी एवं संदर्भ व्यक्ति प्रेमचंद शर्मा ने  आत्मरक्षा प्रशिक्षण के उद्देश्यों के महत्व पर प्रकाश डाला । शिविर में पूर्व दिवस के प्रशिक्षण  का अभ्यास,  व्यायाम, जूडो- कराटे, ताइक्वांडो आदि का पूर्ववत अभ्यास करवाया गया जिसमें समस्त प्रशिक्षणार्थियों  ने बेहद रूचि दिखाई। अन्य वक्ताओं ने भी शिविर में अपने विचार रखें, सभी की बातों से यही लगा कि आत्मरक्षा प्रशिक्षण  का मुख्य उद्देश्य  बालिकाओं में आत्मविश्वास पैदा करना है। प्रशिक्षण में दक्ष प्रशिक्षक के रूप में भावना कंवर, अर्चना मीणा, करुणा मीणा, मीनाक्षी वर्मा एवं अंजू बलौदा द्वारा संभागीयों को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जा रही हैं।संदर्भ व्यक्ति चंद्रशेखर शर्मा ने बताया कि 10 दिन से आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर में कुल 143 संभागी भाग ले रहे हैं। इस अवसर पर कार्यक्रम सहयोगी , ईश्वरलाल मालाकार,सिया राम चौधरी, सुरेश कुमार वैष्णव तथा आलोक शर्मा आदि भी उपस्थित थे।

Friday, 13 December 2019

17:51

राजस्थान के किशनगढ़ में शिक्षक प्रशिक्षण शिविर निष्ठा का शष्टम चरण संपन्न



किशनगढ़ राजस्थान। समग्र शिक्षा अभियान के तहत ब्लॉक स्तरीय गैर आवासीय पांच दिवसीय एकीकृत शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यक्रम 'निष्ठा' शुक्रवार को श्रीराम बगीची, सरसुरा में मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी राजेंद्र कुमार शर्मा के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी एवं ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी मोहनलाल ढाका ने की । शिविर प्रभारी एवं सुरसुरा प्रधानाचार्य किरण बारहठ भी मंचासीन अतिथि के रूप में शामिल थी। षष्ठम चरण के अंतिम दिवस (शुक्रवार को) संभागीयों के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए सीबीईओ शर्मा कहा, कि बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षण और अधिगम के अवसर प्रदान करने के लिए विद्यालय और शिक्षकों को अत्यधिक मेहनत के साथ अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। उन्होंने शिविर में मौजूद संभागी एवं दक्ष प्रशिक्षकों को यह भी बताया , कि राजस्थान में शिक्षा की गुणवत्ता सुधारना एवं विद्यार्थियों के नामांकन में वृद्धि करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। एसीबीईओ ढाका ने शिविर समापन के अंतिम सत्र में बोलते हुए  प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि आशा है, कि' निष्ठा' शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यक्रम शिक्षकों को शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार अपनाने के लिए प्रेरित करेगा एवं शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने में भी सहायक सिद्ध होगा। और तो और यह प्रशिक्षण मॉड्यूल संस्था प्रधानों एवं शिक्षकों के लिए एक पथ- प्रदर्शक के दायित्व को भी पूरा करेगा ।  इस अवसर पर संदर्भ व्यक्तियों के अलावा दक्ष प्रशिक्षकों एवं प्रशिक्षणार्थियों ने भी पांच दिवसीय शिविर के दौरान सीखी गई विधाओं, नवाचारों एवं शिविर संबंधी व्यवस्थाओं को लेकर पृथक- पृथक रूप से अपने विचार व्यक्त किए। शिविर प्रभारी एवं प्रधानाचार्य सुरसुरा किरण बारहट ने बताया कि कि शिक्षक शिक्षा के विकास एवं उत्कृष्ट शिक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए विद्यालय के संस्था प्रधानों एवं शिक्षक- शिक्षिकाओं की समग्र उन्नति के लिए ही 'राष्ट्रीय पहल' के रूप में' निष्ठा' कार्यक्रम संपूर्ण राज्य में  समग्र शिक्षा अभियान के तत्वाधान में बड़े पैमाने पर संचालित किया जा रहा है। संदर्भ व्यक्ति चंद्रशेखर शर्मा ने बताया कि  षष्टम चरण के शिविर में आमंत्रित 140 संभागीयों में से कुल 123 संभागी ही शिक्षक प्रशिक्षण में शामिल हुए।  शर्मा अनुसार एकीकृत शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यक्रम 'निष्ठा 'के तहत अंतिम चरण (सप्तम चरण )का प्रशिक्षण 14 दिसंबर से 18 दिसंबर  के बीच श्रीराम बगीची, सरसुरा में ही आयोजित किया जाएगा ।संदर्भ व्यक्ति एवं शिविर सह- प्रभारी राजेंद्र कुमार कुम्हार ने बताया कि 5 दिवसीय शिक्षक- प्रशिक्षण में मुख्य दक्ष- प्रशिक्षक बृजमोहन जांगिड़ एवं दक्ष प्रशिक्षक नरेंद्र चौधरी, नरेंद्र कुमार वैष्णव, राकेश कुमार वर्मा एवं उमाशंकर शर्मा तथा रोशन लाल द्वारा प्रशिक्षणार्थियों को नवाचारों से युक्त टी. एल. एम. तथा गतिविधि आधारित प्रशिक्षण प्रदान किया गया। शिविर सत्रांत प्रशिक्षणार्थियों को' निष्ठा' दिशा- निर्देश पुस्तिकाएं भी वितरित की गई ।  सीबीईओ ऑफिस से संदर्भ व्यक्ति ओम प्रकाश शर्मा, प्रेमचंद शर्मा ,पवन कुमार शर्मा व अशोक यादव  सहित कंट्रोल रूम प्रभारी के रूप में श्योजी राम जाट(थल), सुरेश कुमार वैष्णव(चौकी की ढाणी), सिया राम चौधरी (छोटा नरेना), सतीश कुमार शर्मा(झोल की ढाणी ) आदि भी उपस्थित थे, जिन्होंने संपूर्ण शिविर व्यवस्था में सराहनीय योगदान दिया।

Wednesday, 4 December 2019

17:47

गैर आवासीय शिक्षक प्रशिक्षण शिविर के पांचवें चरण में चौथा दिन



किशनगढ़। विद्यालयी स्तर पर बच्चों की शिक्षा एक महत्वपूर्ण सरोकार है,जिसका उद्देश्य बच्चों के समग्र विकास को बढ़ावा देना है ताकि वह लचीले और रचनात्मक तरीके से नई परिस्थितियों का जवाब दे सकें और स्वयं तथा दूसरों के हित के प्रति संवेदनशीलता विकसित कर सकें। इन लक्ष्यों को प्राप्त करने में शिक्षक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। यह बात मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी राजेंद्र कुमार शर्मा ने कही, शर्मा बुधवार को श्रीराम बगीची सुरसुरा में आयोजित गैर आवासीय शिक्षक- प्रशिक्षण शिविर के पंचम चरण के चौथे दिवस संभागीयों के बीच बोल रहे थे। मुख्य दक्ष प्रशिक्षक एवं दक्ष प्रशिक्षकों द्वारा भी शुक्रवार को शिक्षक - प्रशिक्षण शिविर में संभागीयों को प्रशिक्षण के उद्देश्यों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।  इस संबंध में मुख्य दक्ष प्रशिक्षक जगमाल गुर्जर ने बताया कि शिक्षकों के क्षमता संवर्धन कार्यक्रम को महत्वपूर्ण पहल के रूप में देखा जाना चाहिए, वो इसलिए कि सेवाकालीन प्रशिक्षण कार्यक्रम शिक्षकों में विषय वस्तु और शिक्षण शास्त्र के साथ-साथ नई प्राथमिकताओं और पहल के बारे में शिक्षकों के बीच जागरूकता पैदा करेगें। संदर्भ व्यक्ति चंद्रशेखर शर्मा ने बताया, कि निष्ठा" शिक्षक- प्रशिक्षण शिविर में 12 माॅड्यूल्स का एक पैकेज है, जो विभिन्न विषयों पर आधारित है। इसमें पाठ्यचर्या, विद्यार्थी केंद्रित शिक्षण शास्त्र, समावेशी शिक्षा , वैयक्तिक- सामाजिक योग्यता, सुरक्षित और सकुशल विद्यालय वातावरण, स्वास्थ्य एवं कल्याण , कला समेकित शिक्षा, सीखने- सिखाने में आईसीटी, विद्यालय आधारित आकलन उपक्रम, चिंतन कौशल विकास , भाषाओं का शिक्षण शास्त्र, एवं गणित, विज्ञान, पर्यावरण अध्ययन और सामाजिक विज्ञान का शिक्षणशास्त्र आदि विषय शामिल है। चतुर्थ दिवस भी मुख्य दक्ष प्रशिक्षक जगमाल गुर्जर के नेतृत्व में दक्ष प्रशिक्षक नरेंद्र सिंह चौधरी, , रोशनलाल , राकेश कुमार वर्मा, नरेंद्र कुमार वैष्णव एवं  उमाशंकर शर्मा द्वारा ग्रुप वार  गतिविधि आधारित प्रशिक्षण उपस्थित संभागीयों को प्रदान किया गया। इस अवसर पर सीबीईओ कार्यालय से संदर्भ व्यक्ति अशोक कुमार यादव , ओम प्रकाश शर्मा, राजेंद्र कुमार सहित कंट्रोल रूम प्रभारी के रूप में श्योजी राम जाट(थल), सुरेश कुमार वैष्णव(सुरसुरा), सतीश कुमार शर्मा(झोल की ढाणी), सिया राम चौधरी(छोटा नरेना) आदि भी उपस्थित थे। शिविर सह प्रभारी राजेंद्र कुमार कुम्हार के अनुसार बुधवार को चतुर्थ दिवस प्रशिक्षण शिविर में 123 प्रशिक्षणार्थीयों ने हिस्सा लिया।पांच दिवसीय गैर आवासीय एकीकृत शिक्षक प्रशिक्षण शिविर चतुर्थ चरण का समापन गुरुवार   को होगा। जबकि षष्टम चरण का प्रशिक्षण शिविर श्रीराम बगीची सुरसुरा में 9 दिसंबर से 13 दिसंबर के बीच आयोजित किया जाएगा । जिसमें लगभग 135 संभागी शामिल होंगे।

Tuesday, 26 November 2019

19:37

संविधान दिवस पर राजस्थान के किशनगढ़ के विद्यालयों में कार्यक्रम आयोजित




किशनगढ़। संविधान दिवस  को लेकर मंगलवार को ब्लॉक क्षेत्र अंतर्गत राजकीय विद्यालयों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए।इस बार राजस्थान सरकार संविधान दिवस को (26 नवंबर को) समरसता दिवस के रूप में मना रही है । इसी क्रम में प्रमुख शासन सचिव(हेल्थ) राजस्थान सरकार एवं अजमेर जिला प्रभारी हेमंत गेरा(आई ई एस) द्वारा ब्लाक अंतर्गत राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पाटन का आकस्मिक अवलोकन किया गया। प्रमुख शासन सचिव गेरा ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पाटन में संविधान दिवस कार्यक्रम को लेकर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करते हुए हर गतिविधि की बारीकी से जांच पड़ताल की। गेरा द्वारा विद्यालय की शिक्षण व्यवस्था से लेकर अन्य गतिविधियों का भी निरीक्षण किया गया।इस अवसर पर गेरा द्वारा उपस्थित छात्र-छात्राओं एवं विद्यालय स्टाफ कर्मियों को संविधान दिवस को लेकर शपथ भी दिलाई गई। संदर्भ व्यक्ति अशोक कुमार यादव ने बताया कि इस मौके पर विद्यालय में निबंध लेखन, प्रश्नोत्तरी, पोस्टर प्रतियोगिता, वाद-विवाद आदि स्पर्धाएं भी आयोजित की गई। जिनमें प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को प्रमुख शासन सचिव एवं एसडीएम देवेंद्र कुमार द्वारा पारितोषिक प्रदान कर पुरस्कृत भी किया गया। इस दौरान  किशनगढ़ एसडीएम देवेंद्र कुमार, सिलोरा पंचायत समिति विकास अधिकारी रामौतार यादव, अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी मोहनलाल ढाका एवं प्रधानाचार्य मंजू लता गुप्ता सहित संदर्भ व्यक्ति अशोक कुमार यादव भी उपस्थित थे।

Saturday, 23 November 2019

16:53

समग्र शिक्षा अभियान किशनगढ़ विश्वकर्मा स्कूल परिसर में आयोजित



किशनगढ़/ मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय समग्र शिक्षा अभियान किशनगढ़ के तत्वाधान में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय विश्वकर्मा स्कूल परिसर में एसएमसी/ एसडीएमसी के आर पी प्रशिक्षण शनिवार को आयोजित किया गया। कार्यक्रम प्रभारी एवं संदर्भ व्यक्ति अशोक कुमार यादव ने बताया कि प्रशिक्षण में कुल 15 संभागी शामिल हुए। जिन्हें मुख्य दक्ष प्रशिक्षक एवं प्रधानाचार्य टिकावड़ा नीलम चौधरी द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया गया। प्रशिक्षण के चलते नामांकन बढ़ोतरी, उजियारी पंचायत घोषित करने हेतु पूर्व प्रयास, भामाशाह को प्रेरित करना, विद्यालय का संपूर्ण विकास, राज्य सरकार की सुविधाओं का प्रचार -प्रसार एवं  एमडीएम आदि विषय पर दक्ष प्रशिक्षक द्वारा विस्तृत जानकारी प्रदान की गई। इस अवसर पर प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले संभागीयों में संस्था प्रधान घनश्याम सेन , (चक पिंगलोद), घनश्याम शर्मा (कचहरी चौक), वाशिद खान (रघुनाथपुरा), सुदीप पारीक( मुण्डोलाव), ईश्वर लाल (थल) आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय से संदर्भ व्यक्ति पवन कुमार शर्मा भी प्रशिक्षण में शामिल हुए
15:59

किशनगढ़ में समग्र शिक्षा अभियान के तहत शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम निष्ठा का हुआ समापन



किशनगढ़। समग्र शिक्षा अभियान के तहत ब्लॉक स्तरीय गैर आवासीय पांच दिवसीय एकीकृत शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यक्रम 'निष्ठा' शनिवार को श्रीराम बगीची, सरसुरा में संपन्न हुआ। तृतीय चरण के अंतिम दिवस संभागीयों के मध्य बोलते हुए शिविर प्रभारी एवं प्रधानाचार्य सरसुरा किरण बारहठ ने कहा, कि बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षण और अधिगम के अवसर प्रदान करने के लिए विद्यालय और शिक्षकों को अत्यधिक मेहनत के साथ अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए।

 उन्होंने उपस्थित संभागी एवं दक्ष प्रशिक्षकों को यह भी बताया , कि राजस्थान में शिक्षा की गुणवत्ता सुधारना एवं विद्यार्थियों के नामांकन में वृद्धि करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।बारहठने संदर्भ व्यक्तियों एवं दक्ष प्रशिक्षकों के साथ शिविर में संचालित विभिन्न ग्रुपों में जाकर शिक्षण गतिविधियों एवं शिविर संबंधी अन्य व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया ।कार्यक्रम समापन के अंतिम सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य दक्ष प्रशिक्षक जगमाल गुर्जर ने अपने उद्बोधन में उपस्थित प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि आशा है, कि' निष्ठा' शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यक्रम शिक्षकों को शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार अपनाने के लिए प्रेरित करेगा एवं शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने में भी सहायक सिद्ध होगा।


और तो और यह प्रशिक्षण मॉड्यूल संस्था प्रधानों एवं शिक्षकों के लिए एक पथ- प्रदर्शक का दायित्व भी पूरा करेगा ।  इस अवसर पर संदर्भ व्यक्तियों के अलावा दक्ष प्रशिक्षकों एवं प्रशिक्षणार्थियों ने भी पांच दिवसीय शिविर के दौरान सीखी गई विधाओं, नावा चारों एवं शिविर संबंधी व्यवस्थाओं को लेकर पृथक- पृथक रूप से अपने विचार प्रकट किए । गौरतलब है, कि शिक्षक शिक्षा के विकास एवं उत्कृष्ट शिक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए विद्यालय के संस्था प्रधानों एवं शिक्षक- शिक्षिकाओं की समग्र उन्नति के लिए ही 'राष्ट्रीय पहल' के रूप में' निष्ठा' कार्यक्रम संपूर्ण राज्य में विभिन्न जिला एवं उपखंड मुख्यालय पर समग्र शिक्षा अभियान के तत्वाधान में बड़े पैमाने पर संचालित किया जा रहा है।संदर्भ व्यक्ति चंद्रशेखर शर्मा ने बताया कि शिविर में 124 आमंत्रित संभागीयों में से कुल 116 संभागी ही शिक्षक प्रशिक्षण में शामिल हुए।  शर्मा अनुसार एकीकृत शिक्षक- प्रशिक्षण कार्यक्रम 'निष्ठा 'के तहत चतुर्थ चरण का प्रशिक्षण 26 नवंबर से 30 नवंबर के बीच श्रीराम बगीची, सरसुरा में ही आयोजित किया जाएगा ।संदर्भ व्यक्ति एवं शिविर सह- प्रभारी राजेंद्र कुमार कुम्हार ने बताया कि 5 दिवसीय शिक्षक- प्रशिक्षण में मुख्य दक्ष- प्रशिक्षक जगमाल गुर्जर एवं दक्ष प्रशिक्षक नरेंद्र चौधरी,  रोशनलाल, उमाशंकर शर्मा, नरेंद्र कुमार वैष्णव एवं सुश्री रेखा बघेल द्वारा प्रशिक्षणार्थियों को नवाचारों से युक्त टी. एल. एम. तथा गतिविधि आधारित प्रशिक्षण प्रदान किया गया। शिविर सत्रांत प्रशिक्षणार्थियों को' निष्ठा' दिशा- निर्देशक पुस्तिकाएं भी वितरित की गई। समापन अवसर पर संदर्भ व्यक्ति राजेंद्र कुमार कुम्हार, ओम प्रकाश शर्मा, प्रेमचंद शर्मा, अशोक कुमार यादव ,पवन कुमार शर्मा संदर्भ व्यक्ति (सीडब्ल्यूएसएन)चंद्रशेखर शर्मा सहित कंट्रोल रूम प्रभारी श्योजी राम जाट(थल) सुरेश कुमार वैष्णव(चौकी की ढाणी) सतीश कुमार शर्मा(झोल की ढाणी ) एवं आलोक शर्मा ( सुरसुरा)आदि भी उपस्थित थे।