Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label हिमाचल प्रदेश. Show all posts
Showing posts with label हिमाचल प्रदेश. Show all posts

Thursday, 26 November 2020

07:26

हिमाचल में बर्फबारी के चलते अटल टनल बंद;deepak tiwari

इन दिनों ठंड ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। हिमाचल में भारी बर्फबारी के कारण अटल टनल को बंद कर दिया गया है। इस वजह से बड़ी संख्या में टूरिस्ट फंस गए हैं। इस बर्फबारी के चलते पंजाब और हरियाणा में सर्दी बढ़ी है और कई जगह धुंध छाई रही। राजस्थान में वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के चलते जयपुर समेत कई राज्यों में बादल छाए रहे। मौसम विभाग ने आने वाले एक-दो दिनों में कुछ राज्यों में शीतलहर की संभावना जताई है।
हिमाचल
हिमाचल के लाहौल स्पीति और कुल्लू में बुधवार को जमकर बर्फबारी हुई है। जिस कारण अटल टनल रोहतांग को बंद कर दिया गया है। इस वजह से लाहौल घाटी में कई पर्यटक वाहनों समेत फंस गए हैं। घाटी से बाहर निकलने के लिए उन्हें टनल खुलने का इंतजार करना पड़ेगा। अटल टनल रोहतांग के नॉर्थ पोर्टल सिसु और आसपास के क्षेत्रों में 2 फुट से ज्यादा बर्फबारी हुई है। टनल के साउथ पोर्टल में भी 2 फुट से अधिक बर्फबारी हुई है। ऐसे में वाहनों की आवाजाही सुरक्षित नहीं है।
सड़क मार्ग को यातायात के लिए बहाल करने का काम शुरू कर दिया गया है, ताकि लाहौल घाटी में फंसे पर्यटकों को सुरक्षित मनाली की तरफ लाया जा सके। फिलहाल पर्यटकों को मनाली की तरफ से पलचान तक ही जाने दिया जा रहा है।
पूरा हिमाचल बर्फबारी की वजह से शीतलहर की चपेट में है। मौसम विभाग ने शिमला, किन्नौर, कुल्लू, लाहौल-स्पीति व चंबा जिलों में भारी बारिश और बर्फबारी को लेकर यलो अलर्ट जारी किया है। मुख्य पर्यटन स्थलों का तापमान माइनस में पहुंच गया है। मनाली -1, लाहौल स्पीति -17, रोहतांग -7 और किन्नौर का न्यूनतम तापमान -12 डिग्री हो गया है।
राजस्थान
वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर राजस्थान के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्रों में रहा। इसके चलते जोधपुर, बीकानेर संभाग के कई शहरों में हल्की बूंदाबांदी भी हुई। जयपुर, अजमेर जोन के कई जिलों में बुधवार सुबह बादल छाए रहे। जयपुर में मंगलवार रात हवा चलने लगी और आसमान में हल्के बादल भी रहे। हालांकि, बुधवार को मौसम साफ हो गया।
राजस्थान के उदयपुर, माउंट आबू को छोड़कर सभी शहरों में न्यूनतम तापमान बुधवार को दो डिजिट में दर्ज हुआ है।
मौसम विभाग के मुताबिक, उदयपुर और माउंट आबू को छोड़कर सभी शहरों का न्यूनतम तापमान 11 डिग्री से ऊपर चला गया। जिसके कारण सर्दी का असर भी सुबह थोड़ा कम रहा। इधर, सीकर, बीकानेर, चूरू, जैसलमेर इनके आस-पास के क्षेत्रों में देर रात हल्की बूंदाबांदी हुई। वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर 25 नवंबर तक रहेगा। 27 और 28 नवंबर से शीतलहर झेलनी पड़ेगी। विभाग ने यलो अलर्ट जारी किया है।
जयपुर 15.5, अजमेर 15.3, भीलवाड़ा 11.2, पिलानी 14.1, सीकर 14, कोटा 11.6, सवाई माधोपुर 13.2, बूंदी 11.8, चित्तौड़गढ़ 11.5, उदयपुर 9.4, बाड़मेर 16.6, पाली 13, जैसलमेर 13.3, जोधपुर 17.2, माउंट आबू 3, बीकानेर 15, चुरू 13.9 और श्रीगंगानगर में न्यूनतम तापमान 14.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
मध्य प्रदेश
बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान 'निवार' के आज तमिलनाडु के तट पर टकराने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक, निवार के असर से पूर्वी मध्य प्रदेश में खासकर जबलपुर संभाग में बुधवार-गुरुवार को बारिश हो सकती है। तूफान के असर से राजधानी भोपाल सहित शेष इलाकों में बादल छाने से न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी हुई है। आज रात का तापमान कल के मुकाबले 3 डिग्री तक बढ़ गया, जिससे ठंड से राहत मिली है।
तस्वीर भोपाल बोट क्लब बड़ा तालाब की है, यहां पर शाम के वक्त मौसम में धुंध छाई रही।
हालांकि, 28 नवंबर के बाद एक बार फिर ठंड का दौर शुरू होने के आसार हैं। ऐसा वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से होगा। मौसम विज्ञान केंद्र भोपाल के एचएस पांडेय ने बताया कि निवार तूफान का असर छत्तीसगढ़ के अलावा पूर्वी मप्र में बुधवार से ही दिख रहा है। बारिश भी हो सकती है।

Monday, 23 November 2020

20:09

हिमाचल प्रदेश में स्‍कूल-कॉलेज 31 दिसंबर तक बंद, 4 जिलों में रात 8 से सुबह 6 बजे तक रहेगा कर्फ्यू deepak tiwari

शिमला.deepak tiwari कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के मद्देनजर हिमाचल प्रदेश सरकार ने सख्त कदम उठाए हैं। ताजा हालात पर चर्चा के लिए आयोजित कैबिनेट की मीटिंग में फैसला लिया गया कि 31 दिसंबर तक राज्य के सभी स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे। हालांकि, इससे पहले ही कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के कारण 11 नवंबर से 25 तक स्‍कूलों व कॉलेज में छुट्टियां कर दी गई थीं। अब सरकार ने दिसंबर अंत तक शैक्षणिक संस्‍थान बंद रखने का फैसला लिया है। इसके अलावा चार जिलों शिमला, कांगड़ा, मंडी व कुल्लू में 24 नवंबर से 15 दिसंबर तक नाइट कर्फ्यू रहेगा।
आज सुबह साढ़े 10 बजे मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्‍यक्षता में कैबिनेट की मीटिंग शुरू हुई। बैठक में 13 एजेंडा शामिल किए गए। बैठक में सरकार ने सभी शैक्षणिक संस्थानों, स्कूल व कॉलेजों को 31 दिसंबर तक बंद रखने का निर्णय लिया है। जहां तक वजह की बात है, प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों में बीते सप्‍ताह भर में काफी तेजी आई है। कोरोना संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ा है। इस कारण सरकार ने बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य को ध्‍यान में रखते हुए सभी शिक्षण संस्‍थानों को बंद करने का फैसला लिया है। 26 नवंबर से पहले की तरह ऑनलाइन पढ़ाई शुरू कर दी जाएगी।
मंत्रिमंडल की बैठक में कोरोना वैक्सीन और कोरोना की मौजूदा स्थिति को लेकर प्रेजेंटेशन दी जा रही है। प्रेजेंटेशन के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी कि सरकार राज्य की सीमाओं को बंद रखने का निर्णय लेती है या नहीं। इसके अलावा जिन क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के अधिक मामले आ रहे हैं, क्या ऐसे क्षेत्रों में लॉकडाउन लगाया जा सकता है, जैसा कि कई राज्यों विशेषकर दिल्ली में किया गया है। कोरोना के मामले बढ़ने और त्‍योहारों के सीजन के कारण स्‍कूलों में 25 नवंबर तक छुट्टियां तय कर दी थीं।
इसके अलावा बैठक में तय किया गया कि चार जिलों शिमला, कांगड़ा, मंडी व कुल्लू में 24 नवंबर से 15 दिसंबर तक नाइट कर्फ्यू रहेगा। रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक मूवमेंट पर प्रतिबंध रहेगा। राजनीतिक रैलियों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। जनमंच कार्यक्रम को भी स्थगित कर दिया गया है।
मंत्रिमंडल के अन्य महत्वपूर्ण निर्णय
स्कूलों में 1 जनवरी से 12 फरवरी तक विंटर वैकेशन रहेगा, जिस दौरान ऑनलाइन स्टडी जारी रहेगी।
26 नवम्बर से स्कूलों में फिर ऑनलाइन स्टडी शुरू होगी। दसवीं व बाहरवीं की परीक्षाएं पहले की तरह मार्च 2021 में होंगी।
पालमपुर, सोलन व मंडी नगर निगम चुनाव धर्मशाला नगर निगम के साथ होंगे।
सोशल गैदरिंग में खुले स्थान पर 200 लोग शामिल हो सकेंगे।
पब्लिक प्लेस पर बिना मास्क घूमने वाले लोगों का अब एक हजार रुपए का चालान होगा।
सरकारी कार्यालयों में अब आधे ही कर्मचारी बुलाए जाएंगे। क्लास थ्री और क्लास फॉर कर्मचारी पचास फीसदी पहले दिन और पचास फीसदी अगले दिन बुलाए जाएंगे। रोस्टर कार्यालय प्रभारी तय करेंगे कि किन कर्मचारियों किस दिन बुलाना है।
बैठक में यह भी फैसला लिया गया है कि प्रदेश में अब 15 दिसंबर तक 50 फीसदी कैपिसिटी के साथ ही बसों का संचालन होगा।