Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label कोटा. Show all posts
Showing posts with label कोटा. Show all posts

Thursday, 17 September 2020

02:53

नाव पलटने से 11 की मौत

कोटा. कोटा जिले के इटावा के पास चंबल नदी में नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई। सभी के शव निकाले जा चुके हैं। 3 लोग लापता हैं। हादसा बुधवार सुबह 9 बजे हुआ। मृतकों में 6 पुरुष, 4 महिलाएं और 1 बच्चा शामिल है। नाव चलाने वाला तैरकर बाहर निकल आया। नाव 25 लोगों का भार उठा सकती थी, लेकिन उसमें 40 लोग सवार थे। यही नहीं, इन लोगों ने नाव में 14 बाइक भी रख दी थीं। इसी वजह से नाव पलट गई। जहां हादसा हुआ, वहां नदी की गहराई 40 से 50 फीट थी।
घटना के तुरंत बाद मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने लोगों को बचाने की कोशिश की, लेकिन बहाव तेज होने की वजह से कुछ लोग बह गए। पुलिस ने बताया कि ये लोग कमलेश्वर धाम जा रहे थे। मारे गए ज्यादातर लोग गोठड़ा कला के रहने वाले हैं।
लड़कों ने 25 लोगों की जान बचाई
चार लड़कों ने मिलकर कुल करीब 25 लोगों की जान बचाई। उन्होंने बताया कि नाव वाले ने ज्यादा लोगों को बैठाने से इनकार किया था, फिर भी लोग नहीं माने और नाव में चढ़ते गए। लोगों को बचाने के लिए कुछ देर में दूसरी नाव भी गहरे पानी में पहुंची, लेकिन तब तक काफी लोग डूब चुके थे।
हादसा चाणदा और गोठड़ा गांव के बीच हुआ। अच्छी बात यह रही कि मौके पर कई लोग मौजूद होने से राहत कार्य में मदद मिली और कुछ लोगों को बचा लिया गया।
स्थानीय लोगों ने एक महिला की लाश नदी से बाहर निकाली।
लोगों ने बताया कि लकड़ी की नाव की हालत पहले से खराब थी। इसके बाद भी क्षमता से ज्यादा यात्रियों को बैठाया गया था। साथ ही नदी पार करवाने के लिए नाव पर बाइकें भी बांध दी गई थीं। इस वजह से नाव वजन नहीं सह सकी और डूब गई।
कोटा के सांसद और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने प्रशासन से हादसे की जानकारी ली। उधर, कोटा से एसडीआरएफ की टीम मौके के लिए रवाना कर दी गई है। सकती थी, लेकिन उसमें 40 लोग सवार थे और 14 बाइक भी रख दी थीं
कोटा. कोटा जिले के इटावा के पास चंबल नदी में नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई। सभी के शव निकाले जा चुके हैं। 3 लोग लापता हैं। हादसा बुधवार सुबह 9 बजे हुआ। मृतकों में 6 पुरुष, 4 महिलाएं और 1 बच्चा शामिल है। नाव चलाने वाला तैरकर बाहर निकल आया। नाव 25 लोगों का भार उठा सकती थी, लेकिन उसमें 40 लोग सवार थे। यही नहीं, इन लोगों ने नाव में 14 बाइक भी रख दी थीं। इसी वजह से नाव पलट गई। जहां हादसा हुआ, वहां नदी की गहराई 40 से 50 फीट थी।
घटना के तुरंत बाद मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने लोगों को बचाने की कोशिश की, लेकिन बहाव तेज होने की वजह से कुछ लोग बह गए। पुलिस ने बताया कि ये लोग कमलेश्वर धाम जा रहे थे। मारे गए ज्यादातर लोग गोठड़ा कला के रहने वाले हैं।
लड़कों ने 25 लोगों की जान बचाई
चार लड़कों ने मिलकर कुल करीब 25 लोगों की जान बचाई। उन्होंने बताया कि नाव वाले ने ज्यादा लोगों को बैठाने से इनकार किया था, फिर भी लोग नहीं माने और नाव में चढ़ते गए। लोगों को बचाने के लिए कुछ देर में दूसरी नाव भी गहरे पानी में पहुंची, लेकिन तब तक काफी लोग डूब चुके थे।
हादसा चाणदा और गोठड़ा गांव के बीच हुआ। अच्छी बात यह रही कि मौके पर कई लोग मौजूद होने से राहत कार्य में मदद मिली और कुछ लोगों को बचा लिया गया।
स्थानीय लोगों ने एक महिला की लाश नदी से बाहर निकाली।
लोगों ने बताया कि लकड़ी की नाव की हालत पहले से खराब थी। इसके बाद भी क्षमता से ज्यादा यात्रियों को बैठाया गया था। साथ ही नदी पार करवाने के लिए नाव पर बाइकें भी बांध दी गई थीं। इस वजह से नाव वजन नहीं सह सकी और डूब गई।
कोटा के सांसद और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने प्रशासन से हादसे की जानकारी ली। उधर, कोटा से एसडीआरएफ की टीम मौके के लिए रवाना कर दी गई है।

Thursday, 12 December 2019

20:10

कोटा समेत देश के कई हिस्सों में बूंदाबांदी से मौसम ने बदली करवट गर्म कपड़ों का बाजार गर्म




कोटा. हाड़ौती अंचल में सर्दी का उतार चढ़ाव जारी है। गुरुवार को कहीं बूंदाबांदी हुई, कहीं बादल छाए और फिर धूप निकली। सुबह-शाम के साथ रात में कड़ाके की सर्दी का अहसास हुआ।

कोटा की सुबह सर्दी का असर रहा। घना कोहरा छाया व तेज हवा से लोग ठिठुर गए। बादलों ने भी शहर को घेरे रखा। कुछ देर बूंदाबांदी हुई। बाद में बादल छंट गए और तेज धूप निकली। शाम को फिर सर्दी ने लोगों को जकड़ा। मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम ताममान 24.5 व न्यूनतम 15.3 डिग्री रहा। जिले के अरण्डखेड़ा व दीगोद में सुबह बूंदाबांदी हुई।

*गर्म कपड़ों में दिखे शहरवासी*

झालावाड़ जिले में सुबह से ही मौसम बदला हुआ नजर आया। पूरे दिन बादलों की आवाजाही से तापमान 2 डिग्री बढ़ गया। दिनभर बादल छाए रहे। इससे सर्दी रही। शहरवासी दिनभर गर्म कपड़ों में नजर आए। अधिकतम तापमान 27 व न्यूनतम 14 डिग्री रहा।

*सुबह रही गलन*

बारां शहर सहित जिले में दिनभर धूप खिली। सुबह-शाम गलन रही। दोपहर को भी लोग गर्म कपड़ों में नजर आए। अधिकतम तापमान 27 व न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस रहा।

*कई जगहों पर बूंदाबांदी*

बूंदी जिले में सुबह सात बजे के लगभग कई जगहों पर बूंदाबांदी हुई। बूंदी शहर में लगभग पन्द्रह-बीस मिनट बूंदाबांदी होने से जन जीवन प्रभावित रहा। इसी प्रकार नोताड़ा, बड़ानयागांव, पेच की बावड़ी, रामगंजबालाजी, नैनवां, करवर, तालेड़ा, कापरेन में भी बूंदाबांदी होने से लोग सुबह देर तक घरों में दुबके रहे।

कोहरा से वाहनों की गति धीमी रही। वहीं 11 बजे के बाद सूर्यदेव के दर्शन हुए। बाद में भी बादलों की आवाजाही बनी रही। अधिकतम तापमान 24 व न्यूनतम 14 डिग्री सेल्यियस दर्ज किया गया।