Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label उड़ीसा. Show all posts
Showing posts with label उड़ीसा. Show all posts

Friday, 27 August 2021

05:29

प्रभावित लोगों के दावों का निपटारा 30 दिनों के भीतर होगा: डाक सचिव


पोस्ट किया गया: 27 अगस्त 2021 

उड़ीसा :संचार मंत्रालय के डाक विभाग के सचिव श्री विनीत पांडेय ने आज यहां कहा, “डाक प्रणाली में जनता के विश्वास से कोई समझौता नहीं होगा और भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी के मामलों को रोकने के लिए प्रणाली को लगातार मजबूत किया जाएगा।” एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए, श्री विनीत पांडे ने हाल ही में ओडिशा में सामने आए धोखाधड़ी के मामलों से निपटने में विभाग की सक्रिय कार्रवाई के बारे में बताया। श्री विनय प्रकाश सिंह, वरिष्ठ उप महानिदेशक (सतर्कता) और मुख्य सतर्कता अधिकारी और डाक विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी सम्मेलन में शामिल हुए। श्री सुवेंदु स्वैन, मुख्य पोस्टमास्टर जनरल, ओडिशा वस्तुतः ओडिशा से सम्मेलन में शामिल हुए।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001M2DS.jpg

  

पर 21 कोरापुट के लिए यात्रा के दौरान सेंट अगस्त, 2021, Lachipeta, मल्कानगिरी कॉलोनी और कोरापुट डिवीजन के Bhejangiwada डाक घर के तीन धोखाधड़ी मामलों जनता के सदस्यों द्वारा संचार मंत्री, सूचना प्रौद्योगिकी और रेलवे श्री AshwaniVaishnaw के ध्यान में लाया गया और मीडिया।

श्री पाण्डेय ने बताया कि कुल मिलाकर रु. इन सभी मामलों में 2.44 करोड़ रुपए शामिल हैं। सभी संबंधित पोस्टमास्टरों को पहले ही निलंबित कर दिया गया है। श्री बिश्वनाथ पोडियामी द्वारा किए गए लचीपेटा और मलकानगिरी कॉलोनी डाकघरों में धोखाधड़ी की रिपोर्ट केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को दी गई है, जिन्होंने उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। भेजंगीवाड़ा बीओ के शाखा पोस्टमास्टर श्री मन पुजारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और आईपीसी की धारा 408, 409, 420, 468, 471 और 473 के तहत मामला दर्ज किया है। सीबीआई और पुलिस अधिकारियों को जल्द से जल्द जांच पूरी करने को कहा गया है। मुख्य आरोपियों और उनके परिवार के सदस्यों की संपत्ति कुर्क करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

लचीपेटा डाकघर में विभागीय जांच पहले ही पूरी कर ली गई है। अन्य दो मामलों में प्रारंभिक जांच विभाग द्वारा पूरी कर ली गई है और विस्तृत जांच जारी है और एक महीने के भीतर पूरी कर ली जाएगी। प्राथमिक अपराधियों के खिलाफ बड़ी सजा की कार्यवाही शुरू की जा रही है। अन्य सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, जिनकी ढिलाई से इन धोखाधड़ी को बढ़ावा मिला है।

जनता के प्रभावित सदस्यों से दावे प्राप्त करने के लिए कार्रवाई शुरू की गई है, जिसके लिए ओडिशा के मुख्य पोस्टमास्टर जनरल पहले ही एक प्रेस नोट जारी कर चुके हैं। सभी वास्तविक दावे मानक संचालन प्रक्रिया के अनुसार 30 दिनों के भीतर बसे किया जाएगा पर 27 डाक विभाग, नई दिल्ली द्वारा जारी किए गए वें मई, 2021 प्रभावित जमाकर्ताओं भी फार्म लिंक से अपने दावे प्रस्तुत करने के लिए डाउनलोड कर सकते हैं https: // उपयोगिताओं.सेप्ट gov.in//dop/pdfbind.ashx?id=5602 

Friday, 15 May 2020

15:08

जानिए कोडार्क के भव्य सूर्य मंदिर की महिमा-के सी शर्मा


उड़ीसा राज्य के पवित्र शहर पुरी के पास सूर्य देवता को समर्पित कोणार्क का भव्य सूर्य मंदिर है।

 सूर्य देवता के रथ के आकार में बनाया गया यह मंदिर सभी पत्थरों पर की गई अद्भुत नक्काशी और भारत की मध्यकालीन वास्तुकला का अनोखा उदाहरण है। 

इस सूर्य मंदिर का निर्माण राजा नरसिंहदेव ने 13वीं शताब्दी में करवाया था। यह मंदिर अपने विशिष्ट आकार और शिल्पकला के लिए दुनिया भर में जाना जाता है।

माना जाता है कि मुस्लिम आक्रमणकारियों पर सैन्यबल की सफलता का जश्न मनाने के लिए राजा ने कोणार्क में सूर्य मंदिर का निर्माण करवाया था। 15वीं शताब्दी में मुस्लिम सेना ने लूटपाट मचा दी थी, तब सूर्य मंदिर के पुजारियों ने यहाँ स्थपित सूर्य देवता की मूर्ति को पुरी में ले जाकर सुरक्षित रख दिया, लेकिन पूरा मंदिर काफी क्षतिग्रस्त हो गया था।

 इसके बाद धीरे-धीरे मंदिर पर रेत जमा होने लगी और यह पूरी तरह रेत से ढँक गया था। 20वीं सदी में ब्रिटिश शासन के अंतर्गत हुए रेस्टोरेशन में सूर्य मंदिर खोजा गया।
 
पुराने समय में समुद्र तट से गुजरने वाले योरपीय नाविक मंदिर के टावर की सहायता से नेविगेशन करते थे, लेकिन यहाँ चट्टानों से टकराकर कई जहाज नष्ट होने लगे और इसीलिए इन नाविकों ने सूर्य मंदिर को 'ब्लैक पगोड़ा' नाम दे दिया।  स्थानीय लोगों का मानना है कि यहां के टावर में स्थित दो शक्तिशाली चुंबक मंदिर के प्रभावशाली आभामंडल के शक्तिपुंज हैं।

 जहाजों की इन दुर्घटनाओं का कारण भी मंदिर के शक्तिशली चुंबकों को ही माना जाता है।