Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Showing posts with label शक्तिनगर. Show all posts
Showing posts with label शक्तिनगर. Show all posts

Thursday, 20 February 2020

02:50

महाशिवरात्रि पर अराजक तत्वों पर रहेगी पुलिस की पैनी नजर





शक्तिनगर| महाशिवरात्रि पर्व के मद्देनजर शक्तिनगर थाना परिसर में मंगलवार को पीस कमेटी की बैठक संपन्न हुईं। थाना प्रभारी अंजनी राय ने सभी समुदाय के लोगों के अलावा समाजसेवियों को शांतिपूर्ण तरीके से त्योहार मनाने की अपील करते हुए कहा कि कोई अराजकतत्व व शरारतीतत्व अगर शांति व्यवस्था भंग करने का प्रयास किया तथा लोगों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए पाए गए या शिकायत मिली तो उनकी खैर नहीं होगी|शिवरात्रि पर निकलने वाली शिव बरात में एनटीपीसी कालोनी परिसर में पुलिस तैनात रहेगी|शिवरात्री त्योहार को सौहार्द पूर्ण तरीके से मनाएं और किसी भी समस्या के लिए मेरे नंबर पर संपर्क कर सूचना देने के साथ डायल 112 पर भी सूचना दे सकते हैं।

पीस कमेटी बैठक में प्रमुख रूप से चिल्कटान्ड ग्राम प्रधान रवीन्द्र यादव, बृजबिहारी यादव, शान्ति देवी, मुकेश सिन्ह, वकिल खान, अब्दुल रशीद अन्सारी, सर्वजीत चौबे एव नगर के प्रबुद्धजन, समाजसेवी व मीडिया बंधु उपस्थित रहे|

Thursday, 13 February 2020

15:19

योगी सरकार में लाखों का बिजली बिल देख कर उपभोक्ताओं में मची हलचल

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र शक्तिनगर के
ग्राम कोटा बस्ती जवाहर नगर थाना शक्तिनगर जनपद सोनभद्र में जैसे ही लोगों को उनके बिजली के बिल मिले तो उनके होश उड़ गए है। इसका कारण यह था कि इसके पहले आने वाले बिजली के बिलों से तीन से चार गुना अधिक राशि के बिल उन्हें हाथ से लिखित रूप में मिले हैं। हद तो तब हो गयी जब कई का मीटर लाखों में पहुंच गया इसे लेकर उपभोक्ताओं में गहरा असंतोष है जिसे बिजली कंपनी के अधिकारी अनदेखा करके वसूली व कनेक्शन काटने में जुटे हैं।

कई उपभोक्ताओं ने बताया जा रहा है आज तक कभी मीटर लगाए नहीं और बिजली बिल वसूली के लिए आ रहे हैं। हर माह में आए बिजली के बिलों ने वैसे भी जमकर करंट मारा है। जिनके बिजली के बिल आम महीनों में चार से पांच सौ रुपए आया करते थे, इस बार उनके बिल 1500 से 2000 रुपए के बीच आए हैं। कई उपभोक्ताओं को तो हजारों व लाखों रुपए के बिजली बिल भेजे गए हैें। इन बिलों ने उपभोक्ताओं की नींद उड़ा दी है। इस परेशानी को लेकर पूरे गांव  में हड़कंप मचा है। जिसके मारे आम गरीब आदमी बिजली के बिल से अच्छे खासे परेशान हैं। बिजली विभाग में कोई सुनने वाला नहीं है। ऐसे में कोई भी अप्रिय घटना कभी भी घट सकती है। बिजली उपभोक्ताओं का कहना है कि मीटर खराब होने के बाद भी बिल भेजे जा रहे हैं। न मीटर सुधार कि या गया है न कोई सुनवाई हो रही है, बिल बराबर बढ़ा-चढ़ाकर दिए जा रहे हैं। कोटा बस्ती जवाहर नगर के ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि उसके यहां लगा मीटर काफी समय से खराब है इसे बदलने के लिए उसने कंपनी में आवेदन भी लगाया है,और कितने लोगो का कनेक्शन पेपर तो मिल गया है लेकिन मीटर नहीं लगा है , यहा तक की किसी- किसी का एक के बजाय दो कनेक्शन हो गया है।और कितने लोगो का मीटर लगा ही नहीं है और बिल पर बिल आते जा रहा है।

उपभोक्ताओं की मानें तो इस बार मिले बिजली के बिलों को औसत बिजली का बिल की बजाय वास्तविक बिल दर्शाकर इसमें मीटर रीडिंग भी दी गई है। उपभोक्ता हैरान हैं कि ठंडी में उनके द्वारा आखिर कितने
कूलर, पंखे चला लिए गए हैं कि बिजली का बिल तीन गुना के आसपास आया है।

डोर लॉक दिखाकर मीटर रीडिंग करने वाले चढ़ा दे रहे मनमाना रीडिंग

*मीटर रीडिंग लेकर बिल कम कराने उपभोक्ता लगा रहे कार्यालय के चक्कर*

एक तरफ विद्युत विभाग सप्लाई बेहतर करने का दावा कर रहा है तो वहीं दूसरी तरफ उपभोक्ता को औसत बिल भेज कर परेसान किया जा रहा है। घर-घर जाकर विद्युत मीटर की रीडिंग लेने की जगह ठेका कर्मचारी औसत यानी घरों में खपत होने वाली बिजली से ज्यादा बिल थमाकर चले जा रहे हैं। इससे उपभोक्ताओं को राज्य सरकार की बिजली बिल योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

गौरतलब है कि राज्य भर में मीटर रीडिंग लेकर बिल उपभोक्ता को बिल देने की जिम्मेदारी ठेका कंपनी को दी गई है। ठेका कंपनी ने इसके लिए अलग-अलग क्षेत्र के लिए कर्मचारी नियुक्त किए हैं। इन कर्मचारियों की ड्यूटी है कि वह घर-घर जाकर उपभोक्ता के सामने मीटर की रीडिंग ले और उसके बाद जो बिजली बिल आता है उसे मशीन से निकालकर उपभोक्ता को दे। ठेका कर्मचारी अपने इस कार्य लापरवाही बरत रहे हैं। इससे उपभोक्ताओं को परेशानी हो रही है। ठेका कर्मचारी कम समय में अधिक मीटर्स की रीडिंग करने के लिए बिना उपभोक्ता को बुलाए रीडिंग लेता है और बिल दरवाजे के नीचे डालकर चला जा रहा है। इसमें मकान के बाहर लगे मीटर की रीडिंग तो ठीक हो जा रही है, लेकिन जिनके विद्युत मीटर मकान के अंदर लगे हैं, उन्हें औसत बिजली बिल दे दिया जाता है।

*वहीं अवर अभियंता राजीव वर्मा द्वारा बताया जा रहा है कि  मेरे द्वारा कई बार लिखित रूप से भी दिया गया है। रीडिंग लेकर बिल उपभोक्ता को बिल देने की जिम्मेदारी ठेका कंपनी को दी गई है। ठेका कंपनी ने इसके लिए अलग-अलग क्षेत्र के लिए कर्मचारी नियुक्त किए हैं। इन कर्मचारियों की ड्यूटी है कि वह घर-घर जाकर उपभोक्ता के सामने मीटर की रीडिंग ले और उसके बाद जो बिजली बिल आता है उसे मशीन से निकालकर उपभोक्ता को दे। ठेका कर्मचारी अपने इस कार्य लापरवाही बरत रहे हैं। इससे उपभोक्ताओं को परेशानी हो रही है।

लाखों का बिल मिलने से  ग्राम कोटा बस्ती जवाहर नगर थाना शक्तिनगर जिला सोनभद्र की जनता परेशान

Saturday, 18 January 2020

15:46

भाजपा की शक्तिनगर मंडल कार्यकारिणी घोषित होते ही धधकने लगी विद्रोह कि आग,,!!*




 *शक्तिनगर* ::- भाजपा  मंडल शक्तिनगर कार्यकारिणी का गठन होते ही पद से वंचित रहे तमाम वरिष्ठ कार्यकर्ता पदाधिकारियों ने विद्रोह शुरू कर दिया है बीते गुरुवार को का करना पदाधिकारियों ने एक बैठक लेकर नवीन कार्यकारिणी के प्रति विरोध जताते हुए वरिष्ठ नेतृत्व पर सौतेला व्यवहार अपनाने का आरोप लगाया है
                इस दौरान तमाम कार्यकर्ताओं पदाधिकारियों ने एक स्वर से सामूहिक इस्तीफे की बात करते हुए क्षेत्रवाद एवं जातिवाद अपनाने का आरोप भी लगाया है
           उल्लेखनीय है कि इस औद्योगिक क्षेत्र में स्थानीय परियोजनाओं में रोजी रोजगार कि अपेक्षा लेकर संगठन में समर्पित भाव से काम करने वाले तमाम कार्यकर्ता पदाधिकारियों कि उपेक्षा होती रही है वही भारी भरकम राशि देकर पद पाने वाले लोग मनमानी करते हैं लिहाजा विद्रोह की आग बढ़ती ही जा रही है
       इस मामले को लेकर अंचल में खासा चर्चाओं का बाजार गर्म है

Tuesday, 10 December 2019

20:52

नाबालिक बच्चे से छेड़खानी के आरोपी को पुलिस ने रवाना किया जेल


शक्तिनगर। शक्तिनगर पुलिस ने नाबालिग बच्चे से छेड़छाड़ के आरोप में अभियुक्त को धारा 377/511 पंजिकृत कर जेल भेज दिया गया। जानकारी के अनुसार आरोपी व्यक्ति हमेशा की तरह कश्मीर से ट्रक से सामान लेकर शक्तिनगर में आता था और आज गाड़ी खड़ी कर 8 वर्षीय बच्चे के साथ छेड़खानी के बारे में बच्चे के पिता द्वारा शक्तिनगर पुलिस से अवगत कराया गया। आरोपी व्यक्ति का नाम कुलदीपक राज पंडित निवासी बनरी थाना सुंदर जिला राजौरी जम्मू का बताया जा रहा है। जिसके बाद पुलिस द्वारा कड़ी जांच पड़ताल की जा रही है।

Tuesday, 26 November 2019

11:34

छात्रों ने छेड़छाड़ एवं दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों पर आधारित नुक्कड़ नाटक किया प्रस्तुत



शक्तिनगर/सोनभद्र। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ एन टी पी सी परिसर शक्तिनगर सोनभद्र में संचालित एम एस डब्ल्यू तृतीय सेमेस्टर के छात्र एवं छात्राओं के द्वारा आज दिनांक 25 नवंबर 2019 को आठ दिवसीय ग्रामीण शिविर के अंतर्गत ग्राम शिवाजीनगर में छेड़छाड़ एवं दहेज प्रथा पर आधारित नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया गया। ग्रामीण शिविर के दौरान शिवाजीनगर के लोगों को यह संदेश देने का प्रयास किया गया कि छेड़छाड़ जैसी घटनाओं को किस प्रकार से रोकने में उनकी एवं आज के युवाओं की भूमिका हो सकती क्योंकि इस प्रकार की घटनाएं निरंतर बढ़ती चली जा रही हैं एवं इसका परिणाम लड़कियों को गंभीर रूप में भुगतना पड़ता है । दहेज प्रथा पर आधारित नुक्कड़ नाटक के माध्यम से छात्र- छात्राओं ने यह संदेश देने का प्रयास किया कि दहेज प्रथा एक कुप्रथा है और इस प्रथा को समाप्त करने में सभी लोगों का योगदान आवश्यक है।
दहेज प्रथा के उन्मूलन के लिए हम सभी छात्र-छात्राओं एवं ग्राम वासियों, महिलाओं, लड़कियों सभी लोगों को जागरूक होना पड़ेगा एवं एक दूसरे को जागरूक करना पड़ेगा तभी इस प्रथा को  समाप्त किया जा सकता है।
ग्रामीण शिविर का आयोजन डॉक्टर मनिंदर डिसूजा ने किया। इस अवसर पर समस्त छात्र छात्राएं उपस्थित रहें।

Saturday, 16 November 2019

07:09

आज शक्तिनगर पहुंचेंगे हरिराम चेरो


के सी शर्मा-शक्तिनगर।सोनभद्र आज क्षेत्रीय  विधायक हरिराम चेरो एक दिवसीय शक्तिनगर के दौरे पर आरहे  है।
विधायक जी आज 1 एक बजे एनटीपीसी शक्तिनगर के  अतिथिगृह  पहुचेंगे और तीन बजे तक अतिथिगृह में ही जनता की  समस्याओ को सुनेंगे और  अधिकारियों  से चर्चा भी करेंगे।
यह जानकारी विधायक प्रतिनिधि अरुण टेडे  ने  सेल फोन  पर दी है।

उन्होंने कहा है कि इस मौके पर अधिक से अधिक संख्या में जनता पहुच अपनी समस्याओ से विधायक जी को अवगत कराएं।
 आज जनता की  समस्याओ के समाधान के लिए विधायक जी लगाएंगे जनता दरबार।

Tuesday, 5 November 2019

13:09

यहां प्रधानमंत्री मोदी और योगी के सपनों को पलीता लगाकर सभी नियम शर्तों को ताक पर रखकर आवंटित किया गया आवास



शक्तिनगर-म्योरपुर ब्लाक मुख्यालय से 72किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत मिसीरा के राजस्व गाँव भैरवाँ में आवास आवंटन के नाम पर बड़ा घोटाला किया गया है, व सभी नियम कानूनों को ठेंगा दिखाते हुए आवास आवंटन मे अनियमितताएं बरती गयी है,और सरकारी धन का दुरूपयोग किया जा रहा है।

ज्ञात हो कि भैरवाँ गाँव में विनय कुमार पान्डेय के नाम आवास आवंटित किया गया है, और निर्माण कार्य बड़े ही जोर शोर से चल रहा है जबकि पान्डेय जी शिक्षामित्र की नौकरी छोड़ कही अन्य रोजगार में लगे हैं और उनकी पत्नी बर्तमान में शिक्षामित्र के पद पर कार्यरत है
तथा दूसरा मामला- भैरवाँ में स्थित सीता देवी पत्नी स्व0 सत्यनारायन पान्डेय जी का है।जिनको को भी आवास आवंटित किया गया है ।
जबकि सीता देवी जी को उनके पति के निधन के बाद  सरकार 17000रू0 पेंशन देती है,
तीसरा मामला - सीता देवी के लड़के प्रमोद को आवास आवंटित करने का है।
माँ और बेटे को एक साथ लाभ
ग्रामप्रधान और सचिव  की मेहरबानी से अपात्रों को पात्र बना दिया गया है।
यदि सूत्रों पर भरोसा करें तो 25-25 हजार रुपये आवास आवंटन में लिया गया है।वरना गांव में पात्र लोग जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे हैं और एक छत के लिए मोहताज है उन्हें चयनित नही किया गया है।

 फिर सवाल उठता है कि उन्हें कैसे  आवास प्राप्त हुआ, जहा एक तरफ उसी गाँव में प्लास्टिक के तिरपाल के नीचे रहने को मजबूर हैं एक गरीब परिवार सब की नजरों में दिख रहा है, वही प्रधान जी व सचिव की मेहरबानी की गांव में चर्चा का विषय बनी हुई है।
इन्हें अपने करीबीयों को ले कर,शासन व प्रशासन का भी भय नही है। कहते हैं कि प्रधान जी विभागीय अधिकारियो को मैनेज करने की कला में माहिर हैं।
दरसल यह प्रधान जी बिगत चार वर्षों से लगातार इसी तरह वेख़ौफ़ सभी विभागीय पदाधिकारियों को साध उनके साथ साठ गांठ कर मनमानी करते हुए भ्र्ष्टाचार की पराकाष्ठा पार कर गए है।
प्रधान जी की तानाशाही ही है कि गरीबों को आवास का लाभ न देकर सरकारी  नुमाइंदो को व्यक्तिगत लाभ पहूँचा रहे हैं।
गांव वालों ने कभी किसी ने इसके विरोध में आवाज तक नहीं उठायी, जिससे उनकी मनमानी निरंतर जारी है।जो जाँच कराने पर सच सामने आ जायेगा और दूध का दूध-पानी का पानी साफ हो जाएगा और विगत चार वर्षों में हुए आवास ,शौचालयों, निर्माण कार्य मे किये गए लाखो का घोटाला भी सामने आजायेग।

आवास और शौचालय आवंटन के नाम पर पंचायत में बड़े स्तर पर घोटाला किया गया है ।जिसमें उपर से नीचे तक फिर चाहे व सेक्रेटरी हो या प्रधान या जेई0 सभी की भूमिका सवालों के घेरे में है।
 किसी ने भी अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई होती तो आज नतीजा कुछ और ही रहता बहरहाल यह तो जाँच का विषय है।

एक तरफ पीएम मोदी का सपना है कि 2022 तक सभी गरीबों का अपना पक्का मकान हो, सीएम योगी इस आदेश को जमीन पर सजाने में लगे हैं,
 वही दूसरी ओर सीएम योगी के ग्राम प्रधान जी सीएम के आदेशों को चुनौती देते उसका मख़ौल उड़ाते धज्जियां उड़ा रहे  हैं।

स्थानीय नागरिकों ने पंचायती राज विभाग व जिलाधिकारी सोनभद्र का इस ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए इस मामले को संज्ञान में लेकर तत्काल उचित कार्यवाही सुनिश्चित कराने की मांग की है।

Tuesday, 15 October 2019

08:04

बिजली कटौती पर मचा हाहाकार ग्रामीणों ने किया चक्का जाम




शक्तिनगर ( बीना  क्षेत्र के ग्राम पंचायत मिसीरा के राजस्व गाँव में बिना किसी अग्रिम सूचना के दिन सोमवार सुबह से ही बिजली सप्लाई बाधित कर दी जाती है, पूरे दिन पंचायत भर के लोग त्राहिमाम करते नजर आए लेकिन जैसे सी सूरज ने करवट लिया,क्षेत्र के वरिष्ठ भाजपा नेता व पत्रकार आदरणीय श्री के सी शर्मा जी ने मामले को नजदीक से समझा, तथा एक युवा नेता आनन्द ने अपना पक्ष साफ किया की जो भी व्यक्ति  गलती करता है सजा का हकदार वो है, पूरी क्षेत्र की बिजली काट देना बिलकुल अन्याय है, ग्राम प्रधान ने विभाग के इस कार्यवाही को अनैतिक बताया,

रात्रि के लगभग 9:30pmबजे ही थे, कि अचानक लोगों के गुस्से ने एक बड़ा रौद्र रूप धारण कर लिया तथा मिसीरा मे स्थित नेशनल हाइवे को लोगों द्वारा चक्काजाम कर दिया गया,

लेकिन हद तो तब हो गयी जब 1:30घंटे से बाधित सड़क सेवा का संज्ञान लेने कोई भी सरकारी नुमाइंदा वहा नही पहुंचा,जबकि इतने समय कुछ भी अनहोनी होने की संभावना से इंकार नही किया जा सकता था।
बावजूद इसके किसी को भी यहा की जनता की कोई फिक्र नही रही, फिर क्या था लोगो ने अपना विरोध दर्ज किया,

इस बीच एस0डी0ओ0 साहब से बात की गई तत्पश्चात लोगों के विरोध को देखते हुए
 एस0डी0ओ0 पिपरी जे0ई0 को कड़े शब्दों में आदेश दिये की तत्काल प्रभाव से आप मिसीरा पंचायत की बाधित बिजली को बहाल करवाएं,
क्योंकि आपने बिना किसी सूचना के , तथा जिनका बिल बाकी है उनका कट आउट करना चाहिए,

फिर क्या था जे0ई0 का आदेश पहूचते ही लाईनमैन पहुचे व बिजली को बहाल किया, फिर जाकर सड़क को संचालित कर दिया गया,मौके पर पंचायत मिसीरा प्रधान, सदस्य प्रतिनिधि, व आम जनता मौजूद रही,
तत्पश्चात पूरी जनता मे खुशी की लहर दौड़ पड़ी,,,,