Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Wednesday, 4 December 2019

गैर आवासीय शिक्षक प्रशिक्षण शिविर के पांचवें चरण में चौथा दिन



किशनगढ़। विद्यालयी स्तर पर बच्चों की शिक्षा एक महत्वपूर्ण सरोकार है,जिसका उद्देश्य बच्चों के समग्र विकास को बढ़ावा देना है ताकि वह लचीले और रचनात्मक तरीके से नई परिस्थितियों का जवाब दे सकें और स्वयं तथा दूसरों के हित के प्रति संवेदनशीलता विकसित कर सकें। इन लक्ष्यों को प्राप्त करने में शिक्षक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। यह बात मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी राजेंद्र कुमार शर्मा ने कही, शर्मा बुधवार को श्रीराम बगीची सुरसुरा में आयोजित गैर आवासीय शिक्षक- प्रशिक्षण शिविर के पंचम चरण के चौथे दिवस संभागीयों के बीच बोल रहे थे। मुख्य दक्ष प्रशिक्षक एवं दक्ष प्रशिक्षकों द्वारा भी शुक्रवार को शिक्षक - प्रशिक्षण शिविर में संभागीयों को प्रशिक्षण के उद्देश्यों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।  इस संबंध में मुख्य दक्ष प्रशिक्षक जगमाल गुर्जर ने बताया कि शिक्षकों के क्षमता संवर्धन कार्यक्रम को महत्वपूर्ण पहल के रूप में देखा जाना चाहिए, वो इसलिए कि सेवाकालीन प्रशिक्षण कार्यक्रम शिक्षकों में विषय वस्तु और शिक्षण शास्त्र के साथ-साथ नई प्राथमिकताओं और पहल के बारे में शिक्षकों के बीच जागरूकता पैदा करेगें। संदर्भ व्यक्ति चंद्रशेखर शर्मा ने बताया, कि निष्ठा" शिक्षक- प्रशिक्षण शिविर में 12 माॅड्यूल्स का एक पैकेज है, जो विभिन्न विषयों पर आधारित है। इसमें पाठ्यचर्या, विद्यार्थी केंद्रित शिक्षण शास्त्र, समावेशी शिक्षा , वैयक्तिक- सामाजिक योग्यता, सुरक्षित और सकुशल विद्यालय वातावरण, स्वास्थ्य एवं कल्याण , कला समेकित शिक्षा, सीखने- सिखाने में आईसीटी, विद्यालय आधारित आकलन उपक्रम, चिंतन कौशल विकास , भाषाओं का शिक्षण शास्त्र, एवं गणित, विज्ञान, पर्यावरण अध्ययन और सामाजिक विज्ञान का शिक्षणशास्त्र आदि विषय शामिल है। चतुर्थ दिवस भी मुख्य दक्ष प्रशिक्षक जगमाल गुर्जर के नेतृत्व में दक्ष प्रशिक्षक नरेंद्र सिंह चौधरी, , रोशनलाल , राकेश कुमार वर्मा, नरेंद्र कुमार वैष्णव एवं  उमाशंकर शर्मा द्वारा ग्रुप वार  गतिविधि आधारित प्रशिक्षण उपस्थित संभागीयों को प्रदान किया गया। इस अवसर पर सीबीईओ कार्यालय से संदर्भ व्यक्ति अशोक कुमार यादव , ओम प्रकाश शर्मा, राजेंद्र कुमार सहित कंट्रोल रूम प्रभारी के रूप में श्योजी राम जाट(थल), सुरेश कुमार वैष्णव(सुरसुरा), सतीश कुमार शर्मा(झोल की ढाणी), सिया राम चौधरी(छोटा नरेना) आदि भी उपस्थित थे। शिविर सह प्रभारी राजेंद्र कुमार कुम्हार के अनुसार बुधवार को चतुर्थ दिवस प्रशिक्षण शिविर में 123 प्रशिक्षणार्थीयों ने हिस्सा लिया।पांच दिवसीय गैर आवासीय एकीकृत शिक्षक प्रशिक्षण शिविर चतुर्थ चरण का समापन गुरुवार   को होगा। जबकि षष्टम चरण का प्रशिक्षण शिविर श्रीराम बगीची सुरसुरा में 9 दिसंबर से 13 दिसंबर के बीच आयोजित किया जाएगा । जिसमें लगभग 135 संभागी शामिल होंगे।

No comments:

Post a comment