Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Monday, 31 August 2020

19:43

रिलायंस रिटेल ने फ्यूचर ग्रुप का रिटेल कारोबार 24,713 करोड़ रुपये में खरीदा

  deepak tiwari 
 August 30, 2020

नई दिल्‍ली। रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की सब्सिडियरी कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) फ्यूचर ग्रुप के खुदरा एवं थोक कारोबारों और रसद तथा भंडारण कारोबारों के अधिग्रहण का ऐलान ने किया है। आरआरवीएल ये अधिग्रहण 24,713 करोड़ रुपये में कर रही है। रिलायंस रिटेल की डायरेक्टर ईशा अंबानी ने इस अवसर पर कहा कि वह फ्यूचर ग्रुप के ब्रांड्स को एक नया आशियाना देकर खुश हैं।
आरआरवीएल ने शनिवार को प्रेस रिलीज जारी कर कहा कि वह फ्यूचर ग्रुप की खुदरा और थोक करोबार और रसद तथा भंडारण कारोबारों का अधिग्रहण करने जा रही है। ये डील 24713 करोड़ रुपये में फाइनल हुई है। इस डील के बाद भारत के खुदरा कारोबार में रिलायंस बेताज बादशाह बन गई है। इस डील से फ्यूचर ग्रुप के खुदरा और थोक उपक्रम को रिलायंस रिटेल में स्थानांतरित कर दिया जाएगा, जबकि फैशन लाइफस्टाइल और लॉजिस्टिक्स तथा वेयरहाउसिंग उपक्रम को रिलायंस रिटेल वेंचर्स (आरआरवीएल) में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।
रिलायंस रिटेल एंड फैशन लाइफस्टाइल लिमिटेड (आरआरएफएलएल)) मर्जर के बाद बड़े पैमाने पर फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड में निवेश भी करेगी। वह, 1200 करोड़ रुपये प्रेफरेंशियल इश्यू के जरिए निवेश करेगी और फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड में 6.09 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी। इसके अलावा वह 400 करोड़ रुपये इक्विटी वारंट के रूप में निवेश करेगी।
इस मौके पर ईशा अंबानी ने कहा कि ‘इस लेन‑देन के साथ हम फ्यूचर ग्रुप के प्रसिद्ध प्रारूपों और ब्रांड्स को एक घर प्रदान करने के साथ‑साथ इसके बिजनेस इकोसिस्टम को संरक्षित करके खुश हैं, जिसने भारत में आधुनिक खुदरा क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हम देश भर में अपने उपभोक्ताओं को लगातार बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं
15:01

प्रदेश में रविवार का लॉकडाउन खत्म होटल रेस्टोरेंट और बार भी खुलेंगे


deepak tiwari 
मध्य प्रदेश  में अब किसी प्रकार का कोई लॉकडाउन  नहीं रहेगा| अब तक अलग अलग जिलों में रविवार को लागू किया जा रहा लॉकडाउन  को भी अब ख़त्म कर दिया गया है|

प्रदेश के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने एलान करते हुए कहा है कि आज से प्रदेश में कोई लॉकडाउन नहीं रहेगा|गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में अब किसी भी प्रकार का लॉकडाउन नहीं रहेगा। अब तक हो रहे रविवार के लॉकडाउन को खत्म कर दिया गया है। अब सिर्फ कंटेनमेंट जोन में पाबंदी रहेगी। उन्होंने बताया कि केंद्र की अनुमति के बिना कोई भी लॉकडाउन नहीं होगा।

मंत्री डॉ मिश्रा ने कहा कि लॉकडाउन के लिए केंद्र से प्राप्त गाइडलाइन के तहत करना होगा| अगर किसी ने सीधा लॉकडाउन कर दिया तो उन पर कार्रवाई की जायेगी| उन्होंने कहा कि 21 सितंबर से प्रदेश में राजनीतिक सभाएं शुरू हो सकेंगी| 100 प्रतिशत कारोबार संचालित हो सकेंगे|

होटल और बार खुलेंगे

अनलॉक 4 की गाइडलाइंस का ऐलान भी कर दिया गया है। अब मध्य प्रदेश में होटल, रेस्टोरेंट और बार भी खुल सकेंगे। साथ ही रिसॉर्ट्स और सिविलियन क्लब भी खोले जाएंगे। आबकारी आयुक्त ने इस संबंध में सभी जिला कलेक्टरों को पत्र लिखकर कहा है कि सभी बार लायसेंस के नवीनीकरण के प्रस्ताव की औपचारिकताएं जल्द से जल्द पूरी करा ली जाएं।
06:07

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन बेटे अभिजीत ने दी जानकारी


बीते कुछ समय से बीमार चल रहे देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का सोमवार को निधन हो गया। उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने यह जानकारी दी। दिल्ली कैंट स्थित आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा है। आज सुबह ही अस्पताल की तरफ से बताया गया था कि उनके फेफड़ों में संक्रमण की वजह से वह सेप्टिक शॉक में थे।

85 वर्षीय मुखर्जी लगातार गहरे कोमा में थे और उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। सेप्टिक शॉक एक ऐसी गंभीर स्थिति है, जिसमें रक्तचाप काम करना बंद कर देता है और शरीर के अंग पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त करने में विफल हो जाते हैं। उन्हें 10 अगस्त को दिल्ली कैंट स्थित सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

मुखर्जी के मस्तिष्क में खून के थक्के जमने के बाद उनका ऑपरेशन किया गया था। अस्पताल में भर्ती कराए जाने के समय वह कोविड-19 से भी संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद उन्हें श्वास संबंधी संक्रमण हो गया था। मुखर्जी भारत के 13वें राष्ट्रपति के रूप में वर्ष 2012 से 2017 तक पद पर रहे। 
00:41

कल धरती के करीब से गुजरेगा क्षुद्रग्रह

Deepak Tiwari 
अगले 10 वर्षों तक नहीं दिखेगा ऐसा अद्भुत दृश्य
एक चक्कर पूरा करने में लगाता है 1.14 वर्ष का समय
आने वाले महीने में एक सितंबर को 20-40 मीटर चौड़ा क्षुद्रग्रह 2011 ES4 धरती के करीब से गुजरेगा। इसकी दूरी पृथ्वी से फिलहाल 1.2 लाख किलोमीटर आंकी गई है यानी यह धरती और चांद के बीच में काफी करीब होगा। लेकिन इसके धरती से टकराने की संभावना न के बराबर है। नासा के मुताबिक, इस क्षुद्रग्रह की सापेक्ष गति लगभग 8.16 किलोमीटर प्रति सेकंड है। अगले एक दशक तक पृथ्वी के पास से गुजरने वाले क्षुद्रग्रहों में से यह सबसे पास से गुजरेगा।

साल 2011 में इस क्षुद्रग्रह की खोज हुई थी। उस समय वैज्ञानिक केवल इस पर चार दिन तक नजर रख पाए थे। यह अपना एक चक्कर पूरा करने में 1.14 साल का समय लगाता है। धरती के साथ इसकी कक्षा सिर्फ 9 साल में एक बार इसे हमारे करीब लाती है। हालांकि, इसका मार्ग फिर भी काफी अलग होगा और इससे पृथ्वी या उससे जुड़ी किसी आर्टिफिशल सैटेलाइट को खतरा नहीं है।

नासा के जेट लैबोरेटरी के आंकड़ों के मुताबिक, यह क्षुद्रग्रह 1987 से 8 बार पृथ्वी के करीब से गुजरा है, लेकिन इस बार यह अब तक सबसे पास से गुजरेगा।

इससे पहले यह 2011 में 13 मार्च को पृथ्वी के सबसे नजदीक से होकर गुजरा था। उस समय यह पृथ्वी से 4,268,643 किलोमीटर दूर से गुजरा था। इस बार यह केवल 29376 किलोमीटर की दूरी से गुजरेगा। आधिकारिक तौर पर इस क्षुद्रग्रह का नाम 2011 ईएस3 है। बताया जा रहा है कि केवल 2032डीबी नाम का क्षुद्रग्रह इसी दूरी से पृथ्वी के पास से साल 2032 में गुजरेगा।

Sunday, 30 August 2020

17:46

रूस के अंतरराष्ट्रीय ​युद्धाभ्यास से पीछे हटा भारत जाने क्यों deepak tiwari

 August 30, 2020

नई दिल्ली । ​पूर्वी लद्दाख में चीन ​और ​एलओसी​ पर पाकिस्तान से ​चल रही तनातनी को देखते हुए भारत अगले माह रूस में होने वाले युद्धाभ्यास में शामिल नहीं होगा​।​ इसमें हिस्सा लेने चीनी और पाकिस्तानी सेना भी जा ​रही हैं। ​​दक्षिणी रूस के अस्त्रखान क्षेत्र में होने वाले वॉरगेम्स में ​न जाने का निर्णय लेने के ​पीछे ​भारतीय अधिकारियों ने वैश्विक ​कोविड​-19 की बिगड़ती स्थिति को भी ध्यान में रखा है​​।​

​​​​दक्षिण रूस के अस्त्रखान क्षेत्र में 15 से 26 सितम्बर के बीच ​​​​​​युद्धाभ्यास आयोजित किया जाएगा। इसमें ​​शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य चीन, पाकिस्तान, रूस, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, तजाकिस्तान और उजबेकिस्तान समेत ​​11 देश हिस्सा लेंगे। इसके अलावा इस ड्रिल में मंगोलिया, सीरिया, ईरान, मिस्र, बेलारूस, तुर्की, आर्मेनिया, अबकाज़िया, दक्षिण ओसेतिया, अजरबैजान और तुर्कमेनिस्तान भी शामिल होंगे। अगले महीने होने वाले ​​इस ​​युद्धाभ्यास में मेजबान रूस सहित ​​19 काउंटी देश शामिल होंगे। सारे देशों को मिलाकर इस अभ्यास में 12 हजार 500 से अधिक सैनिक भाग लेंगे​​।​ ​रूस ​ने इस युद्धाभ्यास में भाग लेने के लिए भारत को भी तीनों सेनाओं की लगभग 200 कर्मियों की टुकड़ी के साथ आमंत्रित किया था।​ ​पिछले साल ​इस युद्धाभ्यास में भारत, पाकिस्तान और सभी एससीओ सदस्य देशों ​ने भागीदारी ​की ​थी।
​ ​​
एक उच्च‑स्तरीय बैठक में विदेश मंत्री एस. जयशंकर और रक्षा स्टाफ के प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने चर्चा कर बताया कि ​दक्षिण रूस के अस्त्रखान क्षेत्र में होने वाले ​युद्धाभ्यास में इसलिए भाग लेना सही नहीं होगा, क्योंकि इसमें चीनी और पाकिस्तानी सेनाएं भी शामिल हो रही हैं​। चीन के साथ चल रहे टकराव के चलते पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत की सेनाएं हाई अलर्ट पर है, इसलिए हमारे लिए बहुपक्षीय युद्धाभ्यास में भाग लेने के लिए जाना सही नहीं होगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शंघाई सहयोग संगठन के सदस्य देशों के रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए 4–6 सितम्बर को रूस जायेंगे। राजनाथ सिंह की वहां चीनी रक्षा मंत्री के साथ वार्ता करने की कोई योजना नहीं है। इस बैठक में भारत पूर्वी लद्दाख में चीन की विस्तारवादी नीतियों का मुद्दा उठा सकता है।
भारत और चीनी सेनाओं के बीच लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चार महीने से ज्यादा लंबे समय से गतिरोध बना हुआ है। बातचीत के कई स्तरों के बावजूद लद्दाख में तनाव कम करने में सफलता नहीं मिली है और अभी टकराव बरकरार है। लद्दाख से लेकर अरुणाचल, उत्तराखंड, सिक्किम में दोनों तरफ से सैनिकों और हथियारों का जमावड़ा बढ़ता ही जा रहा है। इसी तरह जम्मू-कश्मीर में भी सीमा पर पाकिस्तान के साथ हालात ठीक नहीं है। सीमा पर लगातार सीज फायर उल्लंघन और पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की घटनाएं बढ़ रही हैं। भारत ने एलओसी पर लड़ाकू विमान तेजस तैनात कर रखा है और सीमा पर हाई अलर्ट रखा गया है।
14:39

संत के साथ मारपीट व लूटपाट करने वाले चार आरोपीयों और पुलिस ने कसा शिकंजा


सवाई माधोपुर/बौंली @रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। बौंली उपखंड क्षेत्र के जस्टाना कस्बे के अंतर्गत मोरेल नदी किनारे स्थित आश्रम के सन्त भरोसानन्दजी महाराज के साथ विगत दिनों लूटपाट एवं मारपीट की घटना को अंजाम देने  वाले आरोपियों पर शिकंजा कसते हुए स्थानीय पुलिस द्वारा तत्परता दिखाते हुए चार आरोपियों को  गिरफ्तार किया है। जांच अधिकारी अब्दुल रहमान से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने इस मामले में 6 लोगों को ट्रेस कर चार लोगों को दौसा जिले के लालसोट थाना क्षेत्र के उनकी झुग्गी- झोपड़ियों से रविवार को गिरफ्तार किया है । दो लोग अभी फरार चल रहे हैं जिनकी पुलिस को तलाश है। गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों में सभी कालबेलिया जाति के हैं इनमें एक आरोपी खानपुर थाना क्षेत्र के गोलचोक का निवासी सुरेश उर्फ गोलू है तथा 3 आरोपी मंडावरी थाना क्षेत्र के धोलीपाल के भैंरूलाल, नेपाल व हरकेश कालबेलिया है। जांच अधिकारी ने अपनी टीम के साथ इन चारों आरोपियों को इनकी झुग्गी झोपड़ियों से गिरफ्तार कर गंगापुर सिटी न्यायालय में पेश कर तीन दिवस के पुलिस रिमांड पर लिया है। जांच अधिकारी ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ जारी है उन्होंने इस मामले में दो आरोपियों के नाम और बताए हैं जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। गौरतलब है कि करीबन चार- पांच दिवस पूर्व कुछ असामाजिक तत्व मोरेल नदी किनारे स्थित आश्रम में घुसकर संत व आश्रम में रह रहे अन्य लोगों के साथ मारपीट कर करीबन ₹50000 की नकदी व मोबाइल लूटकर ले गए थे । इस मामले की जब ग्रामीणों को जानकारी मिली तो ग्रामीणों में रोष पनप गया तथा उन्होंने बौंली पहुंचकर उपखंड अधिकारी व थाना अधिकारी को ज्ञापन सौंप असामाजिक तत्वों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की । पुलिस ने इस मामले में तत्परता दिखाई व टीम बनाकर असामाजिक तत्वों की छानबीन शुरू की । इस मामले में पुलिस ने कुछ संदिग्धों से पूछताछ भी की व करीबन आधा दर्जन लोगों को इस मामले में संलिप्त पाया । ऐसे में पुलिस ने रविवार को चार लोगों को तो गिरफ्तार कर लिया व दो लोगों की तलाश कर रही है ।
14:37

गंगापुर में विप्र समाज की कार्यकारिणी की बैठक आहूत, परशुराम सेना अध्यक्ष पद पर गोपाल महंत की हुई ताजपोशी

सवाई माधोपुर/गंगापुर सिटी@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। ब्राह्मण समाज गंगापुर सिटी कार्यकारिणी और पदाधिकारियों की बैठक सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करते हुए नसियां कॉलोनी स्थित विजयलक्ष्मी ऑडिटोरियम में आहूत की गई। महामंत्री नरेश शर्मा ने बताया कि ब्राह्मण धर्मशाला के समस्त दुकानदारों ने लिखित रूप से आवेदन करते हुए समाज से कोरोना काल में उनका व्यापार बुरी तरह प्रभावित होने के कारण उनकी दुकानों के किराये को उनके द्वारा दी गई अग्रिम राशि में से समायोजित करने का आग्रह किया गया था।
इस पर बैठक में सर्वसम्मति से पटवा बाजार स्थित ब्राह्मण धर्मशाला में व्यवसायिक दुकानों के एक वर्ष के किराये को समस्त दुकानदारों द्वारा पूर्व में जमा कराई गई अग्रिम राशि में समायोजित करने का सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित हुआ।
साथ ही बैठक में श्री गोपाल महंत को परशुराम सेना का अध्यक्ष सर्वसम्मति से चुना गया और सात दिवस में उन्हें अपनी कार्यकारिणी बनाकर घोषित करने के लिए कहा गया। गोपाल महंत का उपस्थित कार्यकारिणी सदस्यों पदाधिकारियों ने माला पहनाकर स्वागत किया।
बैठक में ब्राह्मण समाज अध्यक्ष हेमंत शर्मा, उपाध्यक्ष युगल किशोर शर्मा, महामंत्री नरेश शर्मा और भंडारी कौशल पाराशर, वेद प्रकाश आर ओ, हरि गोपाल शर्मा, महेंद्र शर्मा, श्याम सेवा, सुरेश शर्मा, गोपाल बुकसेलर, विष्णु गुरु जी, गोविंद पाराशर, अध्यक्ष युवा प्रकोष्ठ राकेश जैमिनी, अध्यक्ष युवा प्रकोष्ठ, बालकृष्ण शर्मा, गिर्राज शर्मा, जितेंद्र उपाध्याय, जितेंद्र शर्मा, शिव चरण शर्मा, राजेंद्र सहारिया, हनुमान द्विवेदी, विशम्भर पांडे, विनोद गंगाजी उपस्थित थे।
14:35

पूर्व सभापति ने जलझूलनी एकादशी पर गजानन से की सुख समृद्धि की कामना

सवाई माधोपुर@ रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। जिला मुख्यालय स्थित परमहंस गौशाला में मां राधे देवी के सानिध्य में योग सेवा दल समिति सवाई माधोपुर के तत्वावधान में चल रहे सातवें श्री गणेशोत्सव के आठवें दिन जलझूलनी एकादशी पर शनिवार को प्रात: काल सचिव बंटी सैनी के नेतृत्व में सोशल डिस्टेसिंग को ध्यान में रखते हुए पुजा अर्चना एवं आरती की गई।
कोषाध्यक्ष राजेश सैनी ने कहा की आज प्रातः काल आरती के मुख्य अतिथि श्रीमती गीता सैनी (निवर्तमान सभापति) नगरपरिषद सवाई माधोपुर पती श्री रविशंकर सैनी ने गणेश प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित पूजा अर्चना कर कोविड 19 महामारी से जल्द निजात दिलाने की कामना करते हुए आरती की। इस अवसर पर समिति की ओर से अतिथियो का माला पहनाकर दूपट्टा उडाकर स्वागत किया गया।
सभापति ने कहा की इस तरह के आयोजनों से लोगो में धर्म के प्रति लगाव रहता है एवं संगठन के साथ आयोजन सम्पन्न होते हैं। समिति की ओर से कोविड 19 प्रोटोकाल का पूर्ण तरह पालन किया जा रहा है और गौशाला परिसर में भीड़ पर पाबंदी लगा रखी है। 
 प्रचार मंत्री जितेंद्र सैनी के अनुसार समिति के दो तीन पदाधिकारी नित्य शाम सुबह पुजा अर्चना एवं आरती करते हैं इस वर्ष शोभायात्रा जैसे विभिन्न कार्यक्रमों को स्थगित कर केवल साधारण रूप से पूजा अर्चना की जा रही है। इससे पूर्व शुक्रवार को सातवें दिन संध्या कालीन आरती के मुख्य अतिथि मालूराम माली ने सपरिवार गजानन की आरती की। इस अवसर पर अध्यक्ष रविशंकर सैनी, उपाध्यक्ष रामवतार पाठक, कोषाध्यक्ष राजेश सैनी, प्रचार मंत्री जितेंद्र सैनी, कार्यक्रम संयोजक देवप्रकाश सैनी, सचिव बंटी सैनी, अमित नामा, प्रशांत, विनोद, विष्णु, धर्मराज सैनी आदि मौजूद रहे।
14:34

आशा मीणा का ग्रामीण क्षेत्र का दौरा आज

 माधोपुर@ रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा । सवाई माधोपुर भारतीय जनता पार्टी की नेता एवं गत विधान सभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी रही श्रीमती आशा मीना कल सवाई माधोपुर विधानसभा क्षेत्र के दौरे पर रहेंगी। सूत्रों के अनुसार मीणा द्वारा विधान सभा क्षेत्र के करेल, दुब्बी बनास एवं जिला मुख्यालय के एक दिवसीय गांवों एवं कस्बों का दौरा कर ग्रामीणों से भेंट कर उनकी जन समस्याएं सुनी जाएगी। इसके साथ ही श्रीमती मीना द्वारा विगत दिनों करेल गांव में बिजली के तारों की चपेट में आकर अपनी जान गंवा बैठे युवक के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें ढा़ढस बंधाया जाएगा। इसके बाद मीणासवाई माधोपुर जिला मुख्यालय के समीपवर्ती गांव दुब्बी- बनास गांव में आमजन की समस्याओं से रूबरू होंगी। श्रीमती आशा मीणा द्वारा प्रमुख रूप से जिला मुख्यालय पर बिजली के दरों मे की गई बढ़ोतरी के चलते एवं प्रदेश मे कानून व्यवस्था के बिगड़ते हालातों के मध्ये नजर कांग्रेस नीत राज्य सरकार के खिलाफ बिजली कार्यालय खैरदा पर अपने समर्थकों के साथ अधिक्षण अभियंता को ज्ञापन सौंपकर धरना प्रदर्शन किया जाएगा।
14:33

विप्र फाउंडेशन की जिला सवाईमाधोपुर व ब्लॉक गंगापुर महिला कार्यकारिणी का विस्तार


सवाई माधोपुर/गंगापुर सिटी@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा । विप्र फॉउंडेशन राजस्थान ज़ोन-डी 1 में ज़ोन प्रभारी विनोद अमन की सहमति से जोन-डी प्रदेशाध्यक्ष वेदप्रकाश उपाध्याय (बन्टू नेता) एवं महिला प्रदेशाध्यक्ष विमला शर्मा व प्रदेश महामंत्री बबीता शर्मा की अभिशंसा से प्रदेश संगठन महामंत्री शान्तनु पाराशर ने जोन के महिला प्रकोष्ठ में सवाईमाधोपुर महिला जिलाध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ आशा शर्मा व गंगापुर ब्लॉक अध्यक्ष आरती शर्मा की अभिशंसा पर महिला प्रकोष्ठ जिला महामन्त्री सविता पांडेय ने गंगापुर ब्लॉक महामन्त्री पद पर अपर्णा शर्मा, उपाध्यक्ष पद पर कल्पना शुक्ला, शोभा दीक्षित, नीरज दीक्षित, ब्लॉक सचिव पद पर अंजलि शर्मा, कोमल शर्मा, पूनम सारस्वत, शिवानी शर्मा, ब्लॉक कोषाध्यक्ष सीमा शर्मा व ब्लॉक सदस्य सुरेखा गौत्तम, कुसुम व्यास की नियुक्ति की है। डी-जोन के सवाईमाधोपुर जिले के गंगापुर ब्लॉक के महिला मंच में नवनियुक्त सभी पदाधिकारियों को हार्दिक बधाई व अनन्त शुभकामनाएं देते हुए जिलाध्यक्ष आशा शर्मा व ब्लॉक गंगापुर अध्यक्ष आरती शर्मा ने सभी महिला प्रकोष्ठ की नवनियुक्त पदाधिकारियों को संगठन के प्रति समाजहित में अपनी जिम्मेदारियों का पूर्णरूपेण निर्वहन करने हेतु तत्पर रहने के लिए कहा है।
14:32

बिजली दरों में की गई बढ़ोतरी के विरोध में भाजपाइयों का हल्ला- बोल धरना-प्रदर्शन कल

सवाई माधोपुर/गंगापुर सिटी@रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा। सवाई माधोपुर जिले के गंगापुर सिटी उपखंड मुख्यालय पर हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत राजस्थान सरकार की जनविरोधी नीतियों व बिजली की दरों मे की गई वृद्धि को कम करने एवं लॉकडाउन में 4 महीनों के बिजली बिलों को माफ करने की मांग को लेकर भाजपा शहर मण्डल गंगापुर सिटी के कार्यकर्ताओं व आमजन के साथ 31 अगस्त को सुबह 11 बजे विद्युत निगम के कार्यालय फब्बारा चौक के पास (पावर हाऊस) पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एकत्रित होकर धरना-प्रदर्शन एवं अधिशाषी अभियंता को ज्ञापन दिया जाएगा।
मण्डल अध्यक्ष वीरेंद्र शर्मा (वीरु पुजारी) ने बताया कि समस्त कार्यकर्ता व आमजन पुरानी अनाज मण्डी में एकत्रित होकर बिजली विभाग कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन देंगे। यह जानकारी जानकारी शहर मण्डल मंहामत्री मिथलेश व्यास ने दी।
08:49

मॉर्निंग वॉक करते करते तय कर देते थे गीतों के बोल deepak tiwari

 August 30, 2020

आज है मशहूर गीतकार शैलेन्द्र की जयंती 
इन्दौर। गीतकार शैलेन्द्र एक सादगी भरी शख्शियत के लिए याद किए जाते हैं वे ऐसे गीतकार थे जो सुबह जुहू बीच पर सुबह टहलने के दौरान ही अपने अधिकांश गीतों की रचना कर देते थे … राजकपूर को अपने गीतों के जरिए शैलेन्द्र ने ही ऊंचाईयों पर पहुंचाया था ।
बॉलीवुड जगत के पिछले दो दशक से लगभग 170 फिल्मों में 500 से अधिक गीतों के जरिए लोगों को जिंदगी का हर फलसफा समझाना और जिंदगी के हर रंग को दिखाने में माहिर गीतकार शैलेन्द्र की आज 30 अगस्त को जयंती है। शैलेन्द्र ने वो हर गीत लिखे जिसमें इंसान अपनी जिंदगी के हर पहलू को जोड़ सकता है। मुंबई के जुहू बीच पर सुबह की सैर के दौरान गीत लिखने वाला ये गीतकार जीवन की हर छोटी से छोटी बात अपने गीतों के जरिए समझाता था।पश्चिमी पंजाब का रावलपिंडी शहर हुआ करता था जो आज के पाकिस्तान में बसा है वहां 30 अगस्त 1923 को शंकरदास केसरीलाल उर्फ शैलेन्द्र का जन्म हुआ , साल 1947 शैलेन्द्र में करियर और काम की तलाश में मुंबई आए और रेलवे में नौकरी करने लगे लेकिन मन उनका कविताओं में ही रहता। वो ऑफिस के समय काम कम और कविताएं लिखा करते थे। उनके इस रवैये के कारण उनके कई अधिकारी उनसे नाराज चलते थे गीतकार के रूप में शैलेन्द्र ने अपना पहला गाना राजकपूर की साल 1949 में आई फिल्म ‘बरसात’ के लिए ‘बरसात में तुमसे मिले हम सजन’ लिखा। यह गाना लोगों को काफी पसंद आया औऱ इस गाने के बाद शैलेन्द्र और राजकपूर की मानो जोड़ी बन गई। दोनों ने इसके बाद ‘आवारा’, ‘आग’, ‘श्री 420’, ‘चोरी चोरी’ ‘अनाड़ी’, ‘जिस देश में गंगा बहती है’, ‘संगम’, ‘तीसरी कसम’, ‘एराउंड द वल्र्ड’, ‘दीवाना’, ‘सपनों का सौदागर’ और ‘मेरा नाम जोकर’ जैसी फिल्मों में काम किया।
आखिरी समय एक वादा अधूरा रह गया
शैलेन्द्र ने फिल्मों में भी हाथ आजमाया और साल 1966 में ‘तीसरी कसम’ फिल्म बनाई जो बॉक्स ऑफिस पर बड़ी असफल साबित हुई जिसके बाद उन्हें गहरा सदमा लगा और उन्हें दिल का दौरा पड़ गया। 13 दिसंबर 1966 को अस्पताल जाने से पहले वो राजकपूर से मिले और उनकी आने वाली फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ का गीत ‘जीना यहां मरना यहां’ पूरा लिखने का वादा किया लेकिन ये वादा सिर्फ एक वादा ही रह गया। अगले दिन 14 दिसंबर 1966 को उनका निधन हो गया।
08:47

एशिया का पहला कोरोना लंग्स ट्रांसप्लांट: deepak tiwari

चेन्नई के एक निजी अस्पताल में 48 साल के कोरोना मरीज का डबल लंग ट्रांसप्लांट हुआ। कोरोना संक्रमण की वजह से उसके दोनों फेफड़े बुरी तरह डैमेज हो गए थे। हालत अधिक बिगड़ने पर उसे गाजियाबाद से चेन्नई के एमजीएच हेल्थकेयर अस्पताल ले जाया गया। यहां उसके दोनों फेफड़ों को ट्रांसप्लांट किया गया। यह एशिया का पहला मामला है, जब किसी कोरोना मरीज का लंग ट्रांसप्लांट किए गए।
एमजीएच हेल्थकेयर अस्पताल ने बताया कि मरीज दिल्ली का रहने वाला है। 8 जून को उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उस समय फेफड़े का एक छोटा सा हिस्सा ही काम कर रहा था। कोरोना के संक्रमण के कारण उसके फेफड़े बुरी तरह से डैमेज हो चुके थे। संक्रमण के बाद डेढ़ महीने तक फायब्रोसिस की समस्या से जूझ रहे थे।
दोनों फेफड़े बेहतर काम कर रहे हैं
हॉस्पिटल के चेयरमैन और हॉर्ट-लंग ट्रांसप्लांट प्रोग्राम के हेड डॉ. के आर बालाकृष्णन ने बताया कि ट्रांसप्लांट के बाद मरीज की हालत स्थिर है। अब मरीज के दोनों फेफड़े बेहतर काम कर रहे हैं। मरीज को दिया जा रहा इक्मो सपोर्ट भी हटा लिया गया।
हॉस्पिटल के इंटरवेंशनल पल्मनोलॉजी एंड चेस्ट मेडिसिन के क्लीनिकल डायरेक्टर अपार्थ जिंदल के मुताबिक, कोरोना के ऐसे मरीज जो कोविड निमोनिया से जूझते हैं उनमें वेंटिलेटर सपोर्ट भी बेहतर नतीजे नहीं देता है। ऐसे मामलों में शुरुआत में ही इक्मो सपोर्ट लाइफसेविंग साबित हो सकता है।
08:44

सरकारी ताजिया इबादत के बाद

सरकारी ताजिया:इबादत के बाद प्रशासन ने बंद करवाया इमामबाड़े का गेट, ताजिए के दीदार को आए लोगों को लौटाती रही पुलिस deepak tiwari 
इंदौर.मोहर्रम पर्व पर रविवार को इमामबाड़े पर ही सरकारी ताजिया पर रीति रिवाज से फातेहा पढ़कर वापस से इमामबाड़ा के गेट को प्रशासन द्वारा बंद करवा दिया गया। रविवार के लॉकडाउन के साथ ही प्रशासन ने किसी भी प्रकार के आयोजन पर प्रतिबंध लगा रखा हे। इस दौरान जो भी सरकारी ताजिए की जियारत करने के लिए पहुंचे। पुलिस-प्रशासन उन्हें समझाइश देकर वापस लौटा दिया गया। सुरक्षा की दृष्टि से इमामबाड़े के चारों तरफ बेरिकेडिंग की गई है। साथ ही बड़ी संख्या में पुलिस फाेर्स को भी तैनात किया है।
रविवार को रीति रिवाज का निर्वहन करते हुए समाजजनों ने इमामबाड़ा के अंदर ही ताजिए को अपनी जगह से उठाकर फिर उसी जगह रखा। हालांकि ताजिए को उठाने के लिए बहुत से लोग इमामबाड़े पर पहुंचे थे। बाहर खड़ीं सराफा थाना टीआई अमृता सोलंकी खुद लोगों को हटाती रहीं। कई बार उन्होंने समाजजनों को भी लोगों को समझाने को कहा। लगातार समझाइश के बाद भी समाजजन ताजिए का दीदार करने यहां पहुंच रहे थे। इस पर पुलिस ने समाजजनों की मदद से लोगों को लौटाया।
सराफा थाना टीआई ने बताया है कि शहरकाजी और ताजिया कमेटी के अध्यक्ष ने चर्चा में कहा था कि सरकारी ताजिया नियमों का पालन करने हुए बाहर नहीं जाएगा। इसी के चलते रविवार को इमामबाड़े के भीतर ही सभी प्रक्रियाओं को पूरा किया गया। इसके बाद इमामबाड़े के दरवाजे बंद कर दिए गए हैं। अब किसी प्रकार की भीतर इबादत नहीं होगी। लाॅकडाउन को देखते हुए हमने बेरिकेडिंग के साथ ही जवानों को तैनात कर रखा है। यदि कोई कानून का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस के अनुसार रविवार को जो घर के बाहर निकल रहा है, वह गैरकानूनी काम कर रहा है। ताजिए का विसर्जन घर पर ही होगा। इसलिए लोग अपने घरों पर ही रहें।
मुस्लिम समाज ने मोहर्रम की 9 तारीख शनिवार को इमाम हुसैन की शहादत को याद कर रोजा रखा। इस मौके पर फातेहा पढ़ी गई और कुरान की तिलावत हुई। साथ ही दिनभर इमामबाड़ा पर सरकारी ताजिए की जियारत के लिए जायरीनों की आवाजाही भी बनी रही। इस बार कोरोना की वजह से शहादत की रात पर सरकारी ताजिया इमामबाड़ा से निकलकर राजबाड़ा की परिक्रमा पर नहीं निकला। मोहर्रम की 10 तारीख पर रविवार को यौमे आशुरा हुआ। इस दिन भी समाजजनों ने रोजा रखा।
राजबाड़ा क्षेत्र को इस प्रकार से सील कर दिया गया था।
सरकारी ताजिया इंतेजामिया कमेटी के अध्यक्ष हाजी इनायत हुसैन कुरैशी ने बताया कि कोरोना महामारी की वजह से 100 साल में पहली बार एेसा हो रहा है, जब सरकारी ताजिया शहादत की रात राजबाड़े की परिक्रमा पर नहीं निकला। रविवार को यौमे आशुरा के दिन भी सरकारी ताजिया जुलूस के रूप में कर्बला मैदान नहीं ले जाया गया। प्रशासन के निर्देशों का पालन किया जा रहा है। सरकारी ताजिया हमारी गंगा-जमुना तहजीब का प्रतीक है। साढ़े बारह फीट ऊंचा और साढ़े नौ फीट चौड़ा ताजिया बनाया गया है। प्रशासन की अनुमति जब मिलेगी, तब ताजिए को कर्बला मैदान ले जाया जाएगा।
08:42

रातभर में गिरा पौने 3 इंच पानी

इंदौर.deepak tiwari शनिवार से रविवार सुबह तक तीन इंच से ज्यादा बारिश हुई। इस बारिश के साथ इंदौरियों के चेहरे भी खिल गए, क्योंकि शहर की जरूरत का पानी यानी 34 इंच से ज्यादा बारिश हो गई है। रविवार रात को ही 2.8 इंच बारिश हो गई। इसे मिलाकर 36 इंच से ज्यादा पानी बरस गया। पिछले साल की तरह इस बार भी जरूरत से बहुत ज्यादा पानी गिरने के आसार हैं। इसका अंदाज इस बात से भी लगाया जा सकता है कि इस वक्त औसत 32 फीसदी ज्यादा पानी गिर चुका है। सितंबर में भी अच्छी बारिश के आसार हैं। इसी ठोस वजह यह है कि बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बनने की गतिविधि जारी है। सितंबर के पहले सप्ताह में भी प्रदेशभर में पानी बरसेगा।
पिछले साल के रास्ते पर मानसून
विगत 21 और 22 अगस्त को हुई 12.5 इंच बारिश ने 20 से 32 इंच तक पहुंचा दिया था। ठीक सात दिन फिर शनिवार-रविवार की रात मौसम मेहरबान हुआ तो तीन इंच से ज्यादा पानी गिर गया। पिछले साल भी ठीक इसी समय तक कुल बारिश 35 इंच हो गई थी। मानसून पिछले साल वाले ट्रैक पर ही चल रहा है। इस हिसाब से इस बार भी 40 इंच से ज्यादा पानी बरसने की पूरी संभावना है। इंदौर, खंडवा, बुरहानपुर, बड़वानी जिले में औसत से कहींं ज्यादा पानी बरस चुका है।
अगस्त के औसत से दो गुना बारिश हो गई
अगस्त की औसत बारिश 11 इंच मानी जाती है। अब तक इससे दोगुना यानि 21 इंच पानी गिर चुका है। 31 जुलाई की स्थिति में 14 इंच के करीब पानी बरसा था। 1 से 20 अगस्त के बीच सात इंच पानी गिरा। इसके बाद एक साथ 12.5 पानी और फिर शनिवार को पौने दो इंच। इसे मिलाकर 21 इंच के करीब अगस्त में गिर चुका है। पिछले साल के अगस्त के मुकाबले 1 इंच अधिक है। पिछले वर्ष 20 इंच पानी अगस्त में बरसा था।
फिर सात दिन पहले वाला संयोग
मौसम विशेषज्ञ एके शुुक्ला के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बना सिस्टम का केंद्र टीकमगढ़, उज्जैन, भोपाल संभाग बना हुआ है। इंदौर तक आते-आते यह ज्यादा कमजोर, लेकिन अरब सागर से भी नमी मिलने के कारण इंदौर में यह असरदार हो गया। हालांकि इसका असर रविवार को कम हो गया। सात दिन पहले भी 12.5 इंच पानी गिरा था, तब भी इसी संयोग के चलते लगातार बारिश हुुई थी।
सोयाबीन के लिए नुकसान वाला पानी
साढ़े 12 इंच हुई बारिश का पानी अभी सोयाबीन के खेतों में सूखा ही नहीं है और फिर से ज्यादा पानी बरस गया। यह पानी फसल को नुकसान पहुंचाएगा। सोयाबीन पर पहले से ही कीट प्रकोप है।
08:40

भोपाल की पॉश कॉलोनी इंडस एम्पायर में रात में 8 फीट तक पानी घुसा deepak tiwari

भोपाल.राजधानी भोपाल में बीते 24 घंटे में 112 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश हो चुकी है। देर रात करीब 1 बजे के बाद बारिश थम गई, लेकिन जलभराव के कारण हालात बद से बदतर हो गए। शाहपुरा थाने से कुछ दूरी पर बनी रहवासी कॉलोनी इंडस एंपायर में शनिवार को 8 फीट तक पानी भर गया। इससे करीब 60 परिवार फंस गए। उनके लिए रात आफत भरी रही। सुबह 11.30 बजे कोलार एसडीएम राजेश गुप्ता और उनकी टीम मौके पर पहुंची। रहवासियों को आश्वस्त किया और वहां से चले गए।
रविवार की सुबह जब पानी कम हुआ तो घरों में कीचड़ भरा था। घरों के सोफे, बेड, फ्रिज, कूलर और यहां तक की ड्रेसिंग टेबल तक में पानी भर गया था। डॉ. संजय दीवान और उनका पूरा परिवार सुबह से घर की सफाई में जुटा। उन्होंने बताया कि मैं दोपहर बाद 2 बजे घर आया तो हमारी काॅलोनी में रास्ते से आना संभव नहीं था तो मैं पीछे की काॅलोनी से आया था। साढ़े 9 बजे तक इंतजार करते रहे कि पानी उतर जाएगा, लेकिन जब पानी नहीं कम हुआ तो हमने प्रशासन को फोन किया और यहां पर बोट आईं और हम किसी तरह से छतों से कूदकर बोट में बैठे और रात में दोस्त के यहां शरण ली। अब लौटे हैं तो घर का बुरा हाल है।
कालोनी निवासी डॉ. संजय दीवान। इनके घर में पानी उतरने के बाद सामान कीचड़ में सना है। परिवार अब घर को व्यवस्थित करने में लगा है।
कालोनी निवासी डॉ. संजय दीवान। इनके घर में पानी उतरने के बाद सामान कीचड़ में सना है। परिवार अब घर को व्यवस्थित करने में लगा है।
ये लगातार दूसरा हफ्ता है, जब हमारे घर में पानी 7-8 फीट तक भर गया। पिछले शनिवार और रविवार को भी ऐसा ही हाल हुआ था, एक हफ्ते तक हम घर ठीक करते रहे और अब फिर से पूरे घर में पानी और कीचड़ हो गया है। पत्नी-बच्चे सब परेशान हैं।
घर में आठ फीट पानी भर गया, रात को भागना पड़ा
दीपेश मोहता के घर में 7-8 फीट पानी भर गया था। हमारे पड़ोस की एक कालोनी है, जिसका नाम द एड्रेस है। उन्होंने अपनी कॉलोनी का बेस ऊंचा कर लिया है और पानी के निकासी के लिए पाइप भी ऊंचा लगाया है। जिससे हमारी कालोनी में पानी भर गया। 25-26 घरों में पानी ही पानी था। एसडीआरएफ की टीम आई और उनके साथ बोट में बैठकर जाना पड़ा। जान बच गई, यही काफी है। घर का सामान पानी तैर रहा था। अब सफाई करेंगे घर की।
कॉलोनी के लोगों को सामान शिफ्ट करने का मौका भी नहीं मिला
परिवार और बच्चों के साथ वह पूरे समय घर का सामान बचाने और उसे दूसरी जगह शिफ्ट करने में जुटे रहे। बारिश रुकने के बाद रविवार को पानी कम हुआ, तो घर की हालत देख सभी ने माथा पकड़ लिया। सड़कों से लेकर घर के अंदर तक कीचड़ ही कीचड़ हो गया। सामान को पलंग और बेड पर रखा गया। जो बचा सकते थे, उसे पहली मंजिल पर शिफ्ट किया गया, जबकि अन्य सामान पानी में बह गया।
कीचड़ और पानी में सना सामान मिला है
डॉ. अतुल अग्रवाल ने बताया कि छह महीने में हमारी पड़ोस में एक कालोनी डेवलप हो रही है। उन्होंने अपना बेस इतना ऊंचा कर लिया है कि हमारी कालोनी का ग्राउंड फ्लोर में पानी भर गया, जिससे रेस्क्यू टीम ने बोट में जंप कराके यहां फंसे लोगों को बाहर निकाला गया। यहां पर बुजुर्ग रहते हैं, बच्चे रहते हैं। गली में पानी भरा, इसके बाद घरों में पानी भर गया। अब सुबह हुई तो यहां पर घरों में सामान कीचड़ और पानी सना हुआ है।
रातभर पानी निकालते रहे
रहवासियों ने बताया कि इंडस एंपायर में करीब 60 परिवार रहते हैं। बारिश के कारण यहां पर पूरी कॉलोनी के अंदर पानी भर गया। सड़के तो लबालब थी हीं, घरों में भी पानी घुस गया था। पानी बढ़ने पर छोटे-मोटे और पानी में खराब होने वाले सामान को किसी तरह पहली मंजिल पर शिफ्ट किया। कुर्सी-टेबल को पलंग के ऊपर रखा, जबकि भारी सामान को यूं ही छोड़ना पड़ा।
देखते ही देखते पानी पहली मंजिल की 4 सीढ़ी के ऊपर पहुंचने लगा, तो पूरे परिवार के साथ पहली मंजिल पर ही रात बिताई। रातभर पानी घटने का इंतजार करते रहे। सुबह जब पानी घटा, तो पूरे घर में कीचड़ ही कीचड़ था। यह हालत अकेले यहीं के नहीं कोलार के दामखेड़ा में तो पूरे गांव को ही सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है।
कोलार इलाके में दीवार गिरी; एक की मौत, दो घायल, राहत और बचाव कार्य शुरू
बारिश के कारण भोपाल के कोलार इलाके में रविवार शाम एक दीवार गिर गई। इसके मलबे में दबने से एक व्यक्ति कह मौत हो गई, जबकि दो घायल बताए जाते हैं। घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है। पुलिस ने मलबे को हटाने के लिए जेसीबी मशीन लगाई है। मृतक की उम्र करीब 45 साल बताई जाती है। बारिश के कारण कोलोर का दामखेड़ा सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका है।
कोलार थाना प्रभारी सुधीर अरजरिया ने बताया कि मलबे को हटाया जा रहा है। अभी किसी के दबे होने की सूचना नहीं है, लेकिन हम तलाश कर रहे हैं। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा मौके पर पहुंच गए थे।
08:39

धोने और धूप में सुखाने से दो हजार रुपए के 17 करोड़ नोट खराब हुए deepak tiwari

कोरोना काल में बड़ी संख्या में भारतीय करंसी खराब हो गई। वजह- लोगों ने नोटों को सैनिटाइज किया, उन्हें धोया और घंटों तक धूप में सुखाया। यही वजह है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) तक पहुंचने वाले खराब नोटों की संख्या ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए।
आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल दो हजार रुपए के 17 करोड़ नोट खराब हुए। यह संख्या पिछले साल की तुलना में 300 गुना ज्यादा है। दूसरे नंबर पर 200 रुपए के नोट हैं। वहीं, तीसरे नंबर 500 रुपए के नोट हैं। पिछले साल की तुलना में इन सभी नोटों के खराब होने की संख्या बढ़ी है।
बैंकों में भी गडि्डयों पर सैनिटाइजर का स्प्रे
रिपोर्ट में कहा गया है कोरोना काल में लोगों को डर था कि करंसी भी ‘संक्रमित’ हो सकती है। इस तरह की कई रिपोर्ट्स आने के बाद लोगों ने करंसी को सैनिटाइज करना शुरू कर दिया। वहीं शुरुआत में लोगों ने नोटों को धो डाला। इतना ही नहीं नोटों को घंटों तक धूप में सुखाया भी। बैंकों में भी गड्डियों पर सैनिटाइजर स्प्रे किया जा रहा है। इसका नतीजा ये हुआ कि पुरानी तो छोड़िए नई करंसी ने भी सालभर में दम तोड़ दिया।
10 रुपए से लेकर दो हजार रुपए तक के नोट खराब
आरबीआई द्वारा जारी खराब नोटों की रिपोर्ट से साफ है कि 10 रुपए से लेकर दो हजार रुपए तक के नोट पहली बार इतनी बड़ी संख्या में खराब हुए हैं। दो हजार के नोट की छपाई बंद हो चुकी है। पिछले साल दो हजार के 6 लाख नोट आरबीआई बदलने के लिए पहुंचे थे। इस बार ये संख्या 17 करोड़ से भी ज्यादा हो गई।
20 रुपए की नई करंसी 20 गुना खराब
500 की नई करंसी दस गुना ज्यादा खराब हो गई। 200 के नोट तो पिछले साल की तुलना में 300 गुना से भी ज्यादा खराब हो गए। 20 रुपए की नई करंसी एक साल में बीस गुना ज्यादा खराब हो गई।
08:34

इंदौर में कोरोना टेस्ट की फीस 2500 रुपए तय

इंदौर में कोरोना टेस्ट की फीस 2500 रुपए तय, 10 दिन भर्ती रखने का नियम खत्म, बिना लक्षण वाले मरीज तीन दिन बाद जा सकेंगे होम आइसोलेशन में
इंदौर.deepak tiwari मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद रविवार को कोरोना टेस्टिंग और अस्पतालों द्वारा लिए जा रहे बिल को लेकर गाइड लाइन जारी कर दी गई। अब यह तय कर दिया गया है कि निजी लैब कोरोना टेस्टिंग के लिए अधिकतम ढाई हजार रुपए ही ले सकेंगी, इसमें घर से सैंपल कलेक्शन चार्ज भी शामिल है। साथ ही अब सरकारी, निजी या अनुबंधित कोविड अस्पताल हल्के या बिना लक्षण पर मरीज को 10 दिन तक बेवजह भर्ती नहीं रखेंगे। ऐसे मरीज जिन्हें हल्के लक्षण थे और तीन दिन में खत्म हो गए, बुखार भी नहीं है, वह डिस्चार्ज हो सकेंगे। किसी भी अस्पताल को भर्ती मरीजों की टेस्टिंग कराने की पात्रता नहीं होगी, केवल गंभीर लक्षण वाले मरीज के लिए ही निजी लैब से टेस्टिंग करा सकेंगे। इस संबंध में कलेक्टर मनीष सिंह ने धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी कर दिए हैं
अस्पतालों को लेकर जारी गाइडलाइन
जिले की सभी निजी लैब जो कोविड टेस्टिंग के लिए लाइसेंस प्राप्त है, वह प्रति टेस्टिंग ढाई हजार रुपए से अधिक नहीं ले सकेंगी, इसमें घर से सैंपल कलेक्शन चार्ज भी शामिल है।
कोई भी अस्पतातल भर्ती मरीज की कोरोना टेस्टिंग नहीं करा सकेंगे, केवल गंभीर मरीज की स्थिति में ही जांच हो सकेगी।
ऐसे मरीज जो भर्ती हैं, हल्के लक्षण थे जो तीन दिन में खत्म हो गए, बुखार नहीं है, आक्सीजन की जरूरत नहीं है, वह अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर पर होम आईसोलेशन में या पैड कोविड केयर सेंटर में रह सकेंगे।
मरीज को 10 दिन तक अनिवार्य तौर पर भर्ती नहीं रखा जा सकेगा।
होम आइसोलेशन में शिफ्ट करने के लिए अस्पताल प्रबंधन डॉ. बीएस शेखावत, डॉ. महेश कुमार खरचीया से संपर्क करेंगे। डॉ. हेमंत जैन व डॉ. सुनील गंगराडे होम आइसोलेशन व्यवस्था को देखेंगे।
सैंपलिंग से लेकर 10 दिन तक की अवधि पूरी होने तक होम आइसोलेशन में रहना होगा।
यदि कोई मरीज किसी अस्पताल से अन्य अस्पताल में शिफ्ट होना चाहता है तो वह अपनी सहमति देकर शिफ्ट हो सकेगा।
मरीज को कोई दवा लगती है तो वह अस्पताल के साथ ही बाहर से भी ले सकेगा, अस्पताल प्रबंधन अस्पताल से ही दवा लेने के लिए बाध्य नहीं कर सकेगा।
08:32

बाढ़ में नर्मदा में फंसे लोगों को बचाने के लिए सेना ने संभाला मोर्चा

रायसेन.जिले में बरेली से 40 किमी दूर गाडरवास पंचायत के गांव भौंती नर्मदा के पानी से घिर गया। इस गांव में रहने वाले 85 लोग बाढ़ के पानी से घिर गए। नर्मदा का पानी बढ़ने लगा तो गांव के लोगों को घर की छत पर ही मचान बनाकर दो दिन तक गुजारने पड़े। जब यह जानकारी प्रशासन को लगी तो सेना की मदद से ग्रामीणों को हेलीकाप्टर से बचाकर लाया गया है। रायसेन में नर्मदा पट्टी के करीब 40 गांव बाढ़ से घिरे हुए हैं। जहां पर लोगों को निकाला जा रहा है। हालांकि बारिश थमने के बाद अब नर्मदा का पानी भी उतरने लगा है, जिससे थोड़ी राहत मिली है।
ग्रामीण को बचाने के लिए रेस्क्यू आपरेशन सुबह 10.30 बजे प्रारंभ हुआ है। बरेली नगर में बने हेलीपेड से हेलीकाप्टर बार-बार उडान भर रहा है और भौती गांव पहुंच कर वहां से ग्रामीणों को यहां पर ला रहा है। हैलीपेड से ग्रामीणों को सीधे अस्पताल पहुंचाया जा रहा है, ताकि उनका इलाज और जांच हो सके। भौंती गांव के राम सिंह ने बताया कि चार दिन से नर्मदा नदी का पानी बढ़ रहा है। परसों तो उनके घर डूबने लगे, ऐसी स्थिति में गांव के लोगों ने मकान की छतों पर दिनरात गुजारे। मकान की छत पर तक मचान बनानी पड़ी, तब कहीं जाकर वे बच पाए हैं। एक बार में 10 से 12 लोगों को हेलीकाप्टर से लाया जा रहा है।
यहां पर सेना के ट्रक भी बुलाए गए हैं, जिसमें रेस्क्यू करके लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।
नर्मदा नदी से लगे गांवों की स्थिति है ज्यादा खराब
नर्मदा किनारे बसे गांवों में स्थिति ज्यादा खराब है, जहां पर बाढ़ का पानी घुसने से प्रशासन द्वारा 700 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। सेना का रेस्क्यू जारी है और नर्मदा पट्टी के दूसरे गांवों में भी बाढ़ में घिरे लोगों को निकाला जा रहा है।
08:30

मध्यप्रदेश में भारी बारिश से सब हुआ अस्तव्यस्त

भोपाल.मध्यप्रदेश में लगातार बारिश के कारण अधिकांश इलाकों में बाढ़ के हालात बन गए। सबसे ज्यादा खराब स्थिति होशंगाबाद जिले की है। यहां बीते 24 घंटे में 340.4 मिमी बारिश हो चुकी है। ऐसे में नर्मदा नदी खतरे के निशान से काफी ऊपर बह रही है। जिले में लगातार भारी बारिश और तवा, बारना, बरगी बांध से पानी छोड़े जाने से नर्मदा नदी में बाढ़ की स्थिति बन रही है। प्रदेश में बाढ़ से निपटने के लिए सेना के पांच हैलीकॉप्टर बुलाए गए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को फिर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई दौरा किया।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई दौरा किया। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि सरकार हरसंभव मदद करेगी।
बाढ़ से प्रदेशभर में यही हालात हैं। बस्तियां डूब गई हैं। नदियां उफान पर हैं।
बाढ़ से प्रदेशभर में यही हालात हैं। बस्तियां डूब गई हैं। नदियां उफान पर हैं।
सीएम ने कहा- मैं खुद रातभर हालात की जानकारी लेता रहा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी प्रदेश में बाढ़ के हालात के बारे में बताया। चौहान ने कहा कि प्रदेश में बाढ़ से निपटने की पूरी तैयारी है। रातभर प्रशासन और मैं स्वयं राहत और बचाव में लगा रहा। बाढ़ प्रभावित 12 जिलों के 411 गांवों के करीब 9 हजार लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। कुछ जगहों पर बचाव और राहत कार्य जारी है। सीएम ने बताया कि राहत और बचाव कार्य में तेजी आने के लिए प्रधानमंत्री से सेना के 5 हेलीकॉप्टर मांगे। सेना के हेलीकॉप्टर आने के बाद राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया था।
9 जिलों के 364 में भीषण बाढ़
प्रदेश के 9 जिलों के 394 से ज्यादा गांवों में भीषण बाढ़ आई है। यहां के 7 हजार से ज्यादा लोगों को राहत शिविर में ले जाया गया है। जहां पर रुकने, भोजन, दवाओं आदि सभी जरूरी व्यवस्थाएं की गई हैं। प्रदेश के तीन जिले होशंगाबाद, सीहोर और रायसेन में कई गांव बाढ़ से घिरे हैं। छिंदवाड़ा जिले में 5 व्यक्तियों को एयरलिफ्ट कर सुरक्षित बचाया गया। होशंगाबाद, रायसेन और सीहोर जिलों मे बाढ़ में मदद के लिए सेना बुलाई गई है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें बचाव कार्यों में लगी हैं।
भोपाल के ईंटखेड़ी गांव में हलाली नदी का पानी पहुंच गया। होमगार्ड भोपाल की रेस्क्यू टीम ने गांव से 30 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला।
भोपाल के ईंटखेड़ी गांव में हलाली नदी का पानी पहुंच गया। होमगार्ड भोपाल की रेस्क्यू टीम ने गांव से 30 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला।
प्रदेश के ज्यादा बारिश वाले जिले
बीते 24 घंटे में होशंगाबाद शहर में 340.4 मिमी हो चुकी है। यहां डोलरिया में 120 मिमी, इटारसी में 107.4 मिमी, पिपरिया में 105.8 मिमी, सोहागपुर में 103.4 मिमी बारिश हुई।
भोपाल के बैरागढ़ में 112 मिमी, भोपाल शहर में 93.1 मिमी, कोलार में 69.8 मिमी, नवीबाग में 62.8 मिमी, बैरसिया में 55.1 मिमी।
रायसेन के सुल्तानपुर में 103 मिमी, बाड़ी में 85 मिमी।
विदिशा के ग्यारसपुर में 102 मिमी, लटेरी में 86 मिमी।
इंदौर के देपालपुर में 167.7 मिमी, सांवेर में 104.4 मिमी, गौतमपुरा में 87.5 मिमी।
सीहोर के बुधनी में 276 मिमी, इछावर में 267 मिमी, रेहटी में 266 मिमी, जावर में 228 मिमी, नसरुल्लागंज में 215 मिमी, आष्टा शहर में 202 मिमी, श्यामपुर में 142 मिमी।
उज्जैन के महिदपुर में 257 मिमी, घट्टिया में 253 मिमी, तराना में 190 मिमी, नागदा में 140 मिमी, खाचरौद में 132 मिमी।
देवास के सोनकच्छ में 208 मिमी, खातेगांव में 197 मिमी, हटपीपल्या में 192 मिमी, टोंकखुर्द में 186 मिमी, कन्नौद में 171 मिमी।
आगर के बड़ौद में 220 मिमी।
रतलाम के पिपलौदा में 204 मिमी, सैलाना में 203 मिमी।
08:28

उद्घाटन से पहले ही बह गया नवनिर्मित पुल:deepak tiwari

सिवनी.मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में 9 करोड़ की लागत से वैनगंगा नदी पर बना 300 मीटर लंबा पुल बारिश में बह गया। पुल का उद्घाटन होना बाकी है, लेकिन इसका इस्तेमाल शुरू हो गया था। जिले के सुनवारा गांव में एक महीने पहले ही बनकर तैयार हुआ था। लोग निर्माण एजेंसी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे हैं।
पुल निर्माण का कार्य 1 सितंबर 2018 को शुरू हुआ था, निर्माण पूरा होने की तारीख 30 अगस्त तय की गई थी। पुल इससे पहले ही बनकर तैयार भी हो गया था और गांव के लोग करीब एक महीने से इसका इस्तेमाल भी कर रहे हैं, लेकिन इससे पहले कि इसका उद्घाटन होता। 29-30 की दरम्यानी रात भारी बारिश से आई वैनगंगा नदी में बाढ़ से पुल बह गया।
यह पुल सिवनी की केवलारी विधानसभा के तहत आता है। पुल बहने से इलाके का संपर्क टूट गया है जिससे लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है। असल में, संजय सरोवर बांध के सभी 10 गेट खोल दिए गए हैं, जिससे वैनगंगा उफान पर आ गई और करीब 80 गांव प्रभावित हुए हैं।
08:26

उज्जैन:नाला उफान पर था, गर्भवती महिला दर्द से तड़प रही थी, पुलिस ने लोगों के साथ खाट पर बैठाकर नाला पार करवाया

उज्जैन.deepak tiwari जिले में लगातार बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं। इसके चलते कई जगह आवागमन बाधित हो गया है। ऐसा ही मामला कायथा में सामने आया। यहां कालीसिंध नदी उफान पर आने से पुलिया पर पानी था। इसी पुलिया से होकर रहवासी मुख्य बाजार एवं बस स्टैंड आते हैं। रविवार को आंबेडकर नगर निवासी दीपक राजोरिया की पत्नी को प्रसव पीड़ा होने पर डिलेवरी के लिए हॉस्पिटल ले जाना था, लेकिन छोटा बाजार की पुलिया पर पानी होने से रास्ता बंद था।
कायथा टीआई प्रदीप राजपूत ने बताया कि पुलिस को सुबह करीब 10:30 बजे इसकी जानकारी मिली। इस पर मौके पर जाकर देखा तो ऊपर से पानी बह रहा था। महिला को जल्द हॉस्पिटल पहुंचाना था। ऐसे में नाव आने का इंतजार नहीं कर सकते। टीआई राजपूत ने बताया थाने के जवान घासीराम, तुलसीराम, लाखन, भोनीसिंह ने गांव के लोगों की मदद से महिला को खटिया पर बैठाकर नदी पार करवाई। पुलिया के इस ओर पहले से एम्बुलेंस बुला ली गई थी। पुलिया पार कर महिला एवं उसके परिजनों को उज्जैन भेजा गया।
08:25

भोपाल में खिला ब्रह्मकमल; पांच साल पहले घर के आंगन में पौधा रोपा था, पुराणों में भी इसका महत्व deepak tiwari

भोपाल.अति दुर्लभ और पौराणिक महत्व का ब्रह्मकमल भोपाल में खिला है। तुलसी नगर में रहने वाले वीके पांडे ने इसे पांच साल पहले घर के आंगन में इसका पौधा रोपा था। उनके बेटे अनिरुद्ध ने बताया कि हिमालय में खिलने वाले इन फूलों के पौधों की काफी देखभाल करना पड़ती है। पांच साल के इंतजार के बाद इसमें 10 कलियां आई थीं, लेकिन उनमें से एक ही शनिवार रात खिल सकी। पूरे परिवार ने इसे देखा। कई परिचित भी इसे देखने आए।
वीके पांडे को इस फूल को खिलता देखने के लिए पांच साल का इंतजार करना पड़ा।
शाम करीब साढ़े 7 बजे यह खिलना शुरू हुआ। करीब ढाई घंटे बाद यह पूरी तरह खिल गया। इसके बाद पूरे घर में उसकी सुगंध फैल गई। यह खिलकर करीब एक फिट तक बड़ा हो गया। इस दुर्लभ फूल की सुंदरता देखते ही बन रही थी। इधर, कोटरा सुल्तानाबाद में रहने वाले अशोक शुक्ला के घर पर में एक साथ 4 फूल खिले। उन्होंने बताया कि यह करीब 3 से लेकर 4 घंटे पूरी तरह खिलता है।
सिर्फ रात को खिलता है
यह हिमालय की वादियों में मिलता है। इसका नाम है ब्रह्मकमल। यह फूल तीन हजार मीटर की ऊंचाई पर सिर्फ रात में खिलता है। सुबह होते ही इसका फूल बंद हो जाता है। इसे देखने दुनियाभर से लोग वहां पहुंचते हैं। इसे उत्तराखंड का राज्य पुष्प भी कहते हैं। ब्रह्मकमल को अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग नामों से जाना जाता है। उत्तरखंड में ब्रह्मकमल, हिमाचल में दूधाफूल, कश्मीर में गलगल और उत्तर-पश्चिमी भारत में बरगनडटोगेस कहा जाता है।
औषधीय गुणों के कारण संरक्षित प्रजाति में रखा गया है
ब्रह्मकमल हिमालय के उत्तरी और दक्षिण-पश्चिम चीन में पाया जाता है। बदरीनाथ, केदारनाथ के साथ ही फूलों की घाटी, हेमकुंड साहिब, वासुकीताल, वेदनी बुग्याल, मद्महेश्वर, रूप कुंड, तुंगनाथ में ये फूल मिलता है। धार्मिक और प्राचीन मान्यता के अनुसार ब्रह्मकमल को भगवान महादेव का प्रिय फूल माना गया है। इसका नाम उत्पत्ति के देवता ब्रह्मा के नाम पर दिया गया है। इसकी सुंदरता और औषधीय गुणों के कारण ही इसे संरक्षित प्रजाति में रखा गया है। कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के इलाज में ब्रह्मकमल को काफी मुफीद माना जाता है। यह भी कहा जाता है घर में भी ब्रह्मकमल रखने से कई दोष दूर होते हैं।
08:23

सडक़ पर बैठकर भविष्य बताने वाले ने ऐसे की ठगी deepak tiwari

 August 30, 2020

- गोपुर चौराहे के समीप फुटपाथ पर बैठता था तोते वाला, ज्योतिष की पत्नी को भी बनाया आरोपी
इन्दौर। अन्नपूर्णा पुलिस ने एक ऐसे ज्योतिष और उसकी पत्नी को पकड़ा है, जो दूसरों का भविष्य बताने के नाम पर ठगी कर रहे थे। फुटपाथ पर तोता लेकर बैठने वाले इन ठगोरे दम्पति के बारे में बताया जा रहा है कि इन्होंने एक तलाकशुदा महिला से 20 लाख का सोना व इतनी ही नकदी ठग ली थी। इन्होंने महिला को कहा था कि यदि अनुष्ठान और तांत्रिक क्रिया नहीं कराई तो पूरा परिवार मर जाएगा। इसी डर से महिला उसे पैसे और सोना देती रही।
मिली जानकारी के अनुसार बृजविहार कॉलोनी में रहने वाली उषा पति सुभाष शर्मा ने डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र को शिकायत की कि उसके साथ गोपुर चौराहे के फुटपाथ पर बैठकर भविष्य बताने वाले ज्योतिष ने ठगी की है। इस पर डीआईजी ने अन्नपूर्णा थाना प्रभारी सतीश द्विवेदी को कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे । जांच के बाद कल रात अन्नपूर्णा पुलिस ने ज्योतिष रजत पिता राजेश जोशी निवासी ऋषि विहार कालोनी और उसकी पत्नी शीतल जोशी को गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि ठगी का शिकार हुई उषा शर्मा का पति से कुछ वर्ष पूर्व तलाक हो चुका है और वह मायके में रह रही है। उसकी एक पुत्री है, जिसकी शादी की चिंता उसे सता रही थी। बेटी की शादी के लिए जुटाई राशि 20 लाख तथा 20 लाख का सोना भी वह धीरे-धीरे तांत्रिक को दे चुकी थी। तोते के माध्यम से भविष्य बताने वाला उक्त ठग तांत्रिक ज्योतिषी और गृह शांति का झांसा देकर पिछले पांच सालों से ठगी करते आ रहा था, लेकिन महिला के घर की दशा सुधरने के बजाय बिगड़ती गई। पुलिस ने ठग दम्पति को पकडक़र उनके विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया है। उनसे पूछताछ की जा रही है
07:53

सेक्टर 70 नोएडा में घर मकानों व पार्क को किया सैनिटाइज, और जरूरतमंदों में मास्क व सेनीटाइजर का किया वितरण-"गंगेश्वर दत्त शर्मा"


नोएडा, कोरोना महामारी में जरूरतमंदों तक मदद पहुंचाने के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत दीदी की रसोई संस्था की टीम जिसमें सामाजिक कार्यकर्ता रितु सिन्हा, गंगेश्वर दत्त शर्मा, भारती नेगी, सरिता चंद्र, बबीता, विनिता जी आदि ने सेक्टर 70 नोएडा आरडब्ल्यूए अध्यक्ष जंटर सिंह, व उनके सहयोगी साधु राम गुप्ता, संगीता चौधरी, राजकुमारी, सीमा, चंचल, बब्बन, मानसिंह आदि के सहयोग से सेक्टर 70 नोएडा में जरूरतमंदों के बीच फेस मास्क, सैनिटाइजर, का वितरण किया और सेक्टर के मकानों व बड़ा पार्क में लगे ओपन जिम को दवा छिड़ककर सेनेटाइज किया गया।
उपरोक्त कार्य के लिए सेक्टर वासियों ने काफी प्रशंसा किया और पूरी टीम को धन्यवाद अदा किया।
07:46

बिजली समस्याओं के निराकरण हेतु निरन्तर प्रदर्शन कर रहे हैं हिनैता कला के ग्रामीणdeepak tiwari

 मध्य प्रदेश  वर्तमान में बिजली विभाग की कार्यशैली से लोग परेशान हैं कई गाँवों के ट्रान्सफार्मर खराब है जन्हें अभो तक बदला नहीं गया है।ऐसा ही हाल हिनौता कला का है जहाँ 10 दिनों से गाँव के लोग अँधेरे में रहने को विवश हैं।यहाँ ग्रामीण सर्वाङ्ग सामाजिक विकास परिषद के नेतृत्व में लगातार 4 दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए श्री मिश्रा ने बताया कि ट्रान्सफार्मर खराब होने से विद्युत् आपूर्ति पूर्णरूपेण अवरुद्ध है इसके कारण कई तरह की समस्याओं का सामना ग्रामीणों को करना पड़ रहा है।मोबाईल चार्ज न होने से बच्चे ऑनलाइन क्लास अटेंड नहीं कर पा रहे हैं।उनकी पढ़ाई बुरी तरह से प्रभावित हो रही है।पंखे न चलने से मच्छरजनित बीमारियां पनप रही है लोग बीमार हो रहे हैं।ग्राम पंचायत कार्यालय का कम्प्यूटर भी इसके कारण बन्द है जिसके कारण कई शासकीय कार्य प्रभवित हो रहे है मजदूरों का मस्टर फीड न होने से निर्माण कार्य पूरी तरह ठप्प है अतः शीघ्र ही ट्रान्सफार्मर बदला जाये।शनिवार रात किये गए प्रदर्शन के दौरान राजभान पटेल सतेंन्द्र मिश्रा दिलीप पयासी सुनील रावत मायाराम रावत शुभम रावत संजय पटेल लालजी कोल पन्नेलाल रावत रामशरण कोल गोपाल शरण सूरज रावत प्रभूदयाल पटेल अनिल पटेल वंशगोपाल रजक मुनेश कोल रोहित विश्वकर्मा रोहित रावत मिथलेश विश्वकर्मा बरातीलाल साकेत मुकेश पटेल दीपक पटेल सुरेंद्र पटेल झल्लू विश्वकर्मा देवेंद्र पटेल राजेश दाहिया राहुल पयासी ब्रजेश कोल लालू विश्वकर्मा रामसुजान कोल महेंद्र रामावतार पटेल सहित भारी तादाद में ग्रामीण मौजूद रहे।
07:40

अमन मयंक शर्मा एंटी करप्शन मूवमेंट भारत के राष्ट्रीय प्रभारी मनोनीत हुए

एंटी करप्शन मूवमेंट भारत के मुख्य कार्यालय मुखर्जीनगर दिल्ली में आयोजित बैठक में एंटी करप्शन मूवमेंट भारत के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमकार गुप्ता एवं संरक्षक आईएएस डॉ जेके मित्तल एवं आईएएस डॉ आर के भटनागर ने राष्ट्रीय महासचिव मुकेश नादान के अनुमोदन पर बदायूँ निवासी बदायूँ गौरव क्लब के मुख्य सचिव एवं बदायूँ गौरव महोत्सव के मुख्य संयोजक अमन मयंक शर्मा को एंटी करप्शन मूवमेंट भारत का राष्ट्रीय प्रभारी मनोनीत किया।राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमकार गुप्ता ने बताया कि एंटी करप्शन मूवमेंट भारत भारतवर्ष को भ्रष्टाचार मुक्त करने,स्वच्छ्ता, स्वास्थ्य, नारी सशक्तिकरण करने तथा कन्या भ्रूण हत्या के विरुध्द नागरिकों को जागरूक करने के लिए भारत वर्ष के 26 राज्यों में लगातार कार्य कर रहा है।अमन मयंक शर्मा की प्रादेशिक एवं राष्ट्रीय सक्रियता को देखते हुए उन्हें राष्ट्रीय प्रभारी नियुक्त किया गया है।नवनियुक्त एंटी करप्शन मूवमेंट भारत के राष्ट्रीय प्रभारी अमन मयंक शर्मा ने कहा कि पूरे देश मे एंटी करप्शन मूवमेंट भारत की सक्रियता को बढ़ाने के लिए वह टीम का विस्तार करेंगे।आगामी समय मे उत्तर प्रदेश सहित देश के प्रत्येक राज्य में दौरा कर भ्रष्टाचार से लड़ाई लड़ने के लिए एंटी करप्शन मूवमेंट भारत का विस्तार किया जाएगा।हर स्तर पर भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई लड़ी जाएगी।अमन मयंक शर्मा के राष्ट्रीय प्रभारी मनोनीत होने पर जनपद के प्रबुध्द नागरिकों दिनेश चंद्र शर्मा,गौरव पाठक,हरीश सक्सेना,हिलाल बदायूँनी, अलंकार तोमर,जयवीर चंद्रवंशी,करुणेश राठौड़,हिमांशु गुप्ता,अमित दीक्षित,गौतम शर्मा,असरार अहमद बदायूँनी,वीरेंद्र जाटव,अनादि शंखधार,रितेश उपाध्याय,पीयूष शर्मा,पूजा शर्मा,अंजलि मिश्रा,नियति मिश्रा सहित सैकड़ों प्रबुध्द नागरिकों ने हर्ष व्यक्त किया।गौरव पाठक ने बताया कि जल्द ही सामाजिक दूरी का पालन करते हुए नवनियुक्त राष्ट्रीय प्रभारी अमन मयंक शर्मा का भव्य स्वागत एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा।
07:38

भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान की आनलाइन बैठक सम्पन्न

भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान की एक आवश्यक बैठक गूगल मीट एप के माध्यम से आयोजित की गई। बैठक में सांगठनिक कार्यो की समीक्षा के साथ ही भावी रणनीति तय की गई।

इस अवसर पर विचार व्यक्त करते हुए भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट ने कहा कि जन शिकायतों के निस्तारण हेतु अत्यन्त उपयोगी व्यवस्था जनसुनवाई पोर्टल को भ्रष्ट तत्वों ने निष्प्रभावी कर दिया है। शासनादेश के अनुसार आरोपी को जांच नहीं सौंपी जाएगी, किन्तु शासनादेश का उल्लंघन कर आरोपी को ही जांच सौंप दी जाती है और आरोपी की आख्या के आधार पर ही शिकायत निस्तारित दर्शा दी जाती है। असन्तुष्टि के आधार पर शिकायत कर्ता का फीडबैक प्राप्त होने पर उच्च अधिकारी से पुनः जांच कराये जाने की व्यवस्था है, किन्तु फीडबैक के पश्चात भी आरोपी से पुनः आख्या मांगकर शिकायत निस्तारित कर दी जाती है। कुछ विभागों में तो आख्या के प्रारूप तैयार कर लिए गए हैं। बिना पढ़े शिकायत निस्तारित कर दी जाती है। शिकायत निवारण तंत्र को पूरी तरह विफल कर दिया गया है। जनसुनवाई पोर्टल बाबुओं की गिरफ्त में हैं।

श्री राठोड़ ने कहा कि लम्बे समय से एक ही स्थान पर कार्यरत अधिकारियों के कारण भ्रष्टाचार में वृद्धि हो रही है। भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के सहयोगी 31 अगस्त 2020 को माई ग्रीवांस पोर्टल/ईमेल/ ट्विटर के माध्यम से मांगपत्र प्रधानमंत्री व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को प्रेषित करके, जनसुनवाई पोर्टल का मूल स्वरूप लौटाने, आरोपी को जांच न सौंपने, फीडबैक प्राप्त होने पर उच्च अधिकारी से जांच कराने, जांच में शिकायतकर्ता का सहयोग लेने तथा परिणाम से शिकायतकर्ता को अवगत कराने एवं कृषि, सहकारिता,गन्ना, चिकित्सा, आपूर्ति, खाद्य सुरक्षा,ग्राम विकास व पन्चायत राज विभाग सहित अन्य विभागों में लम्बे समय से कार्यरत अधिकारियों को स्थानांतरित किए जाने की मांग की जाएगी। मांगे न माने जाने पर सत्याग्रह किया जायेगा।

बैठक में प्रमुख रूप से एम एल गुप्ता, डाल भगवान सिंह, कैप्टन राम सिंह,शमसुल हसन, रामगोपाल,एम एच कादरी, अखिलेश सिंह, वेदपाल सिंह,अभय माहेश्वरी, अखिलेश सोलंकी, राम-लखन,आर्येन्द्र पाल सिंह,असद अहमद, नारद सिंह, कृष्ण गोपाल, सतेन्द्र सिंह, भुवनेश कुमार,समीरुद्दीन अन्सारी एडवोकेट, महेश चंद्र, वीरपाल, महावीर सिंह आदि की सहभागिता रही।
00:55

सोनू सूद का बड़ा दिल फिर एक बार सामने आया, अब परीक्षार्थियों की मदद करेंगे

  deepak tiwari 
 August 30, 2020

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (नीट) और संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई‑मेन) के परीक्षार्थियों की मदद करने का निर्णय लिया है।
लॉकडाउन में प्रवासी श्रमिकों की घर पहुंचने में मदद करने के बाद सोनू सूद ने परीक्षार्थियों की मदद का बीड़ा उठाया है। सोनू सूद सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में जानकारी दी कि वे जेईई और नीट परीक्षार्थियों के साथ खड़े हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर अपनी पोस्ट में लिखा यदि कोई भी परीक्षार्थी कहीं फंस जाए, तो अपनी यात्रा का मार्ग बताए। ऐसे फंसे हुए परीक्षार्थियों को वह उनके परीक्षा केंद्र तक पहुंचाएंगे। सोनू ने कहा कि वे नहीं चाहते कि कोई भी संसाधनों की वजह से परीक्षा से वंचित रह जाए।
बतादें कि इससे पहले सोनू ने सरकार से अपील की थी कि वह कोरोना काल को देखते हुए जेईई एवं नीट परीक्षा को रद्द करे। उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान हमें बेहद सावधान रहना चाहिए और विद्यार्थियों के जीवन को खतरे में डालने का जोखिम नहीं उठाना चाहिए।
00:06

सुशांत सिंह केस में आया नया मोड़

  deepak tiwari 
 August 30, 2020

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच में ड्रग्स एंगल सामने आने के बाद अब इस मामले की जांच नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने भी शुरू कर दी है। वहीं सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने व्हाट्स एप चैट के स्क्रीनशॉट शेयर किया है जिसमें ड्रग्स को लेकर बातचीत हो रही है और रिया चक्रवर्ती ने ग्रुप में डूबी लाने को कहती है।
एनआईएफडब्ल्यू नाम के व्हाट्स एप ग्रुप में आयुष एसएसआर, आनंदी एसएसआर, सिद्धार्थ पिठानी एसएसआर, शोविक, सैमुअल मिरांडा, रिया चक्रवर्ती और अन्य नाम शामिल हैं। सभी ड्रग्स और सिगरेट रोल करने की बात कर रहे हैं। इससे पता चलता है कि इनके तार ड्रग्स से जुड़े हुए थे। इस चैट में वाटरस्टोन रिजॉर्ट की भी बात हो रही है। इस ग्रुप में ड्रग्स की फोटो भी शेयर की गई है। ये ग्रुप चैट जुलाई 2019 का है। 27 अगस्त को ग्रुप में ड्रग्स की तस्वीर भी भेजी गई है। श्वेता सिंह कीर्ति ने चैट के स्क्रीनशॉट शेयर कर लिखा-‘क्या चल रहा था …।’

अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने लिखा है कि डूबी की आवश्यकता, आयुष एसएसआर ने लिखा रोलिंग तो सिद्धार्थ पिठानी एसएसआर कहते हैं मिरांडा यहां पर है। इस चैट में एक अन्य व्यक्ति लिखता है कि वाटरस्टोन की जिस दिन की बुकिंग की गई थी, वह कैंसिल हो गई है। रिया इस सदस्य से कहती हैं कि लिफ्ट का दरवाजा लॉक कर देना। रिया कहती है कि सुश के लिए टैंग भेजो। रिया ने कहा है कि हमारे पास डूब है। तब जवाब आता है, चेक कर रहा हूं, रोल करके ला रहा हूं। डूबी एक तरह की गांजे की सिगरेट होती है। सैमुअल मिरांडा इस ग्रुप में ड्रग्स ब्लूबेरी कुश की एक तस्वीर भेजते हैं और कहते हैं ये कैसा है तो जवाब आता है, वाह।
सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई रिया चक्रवर्ती से पूछताछ कर रही है। सीबीआई ने सुशांत के रुममेट सिद्धार्थ पिठानी से भी पूछताछ की है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) सुशांत मामले में ड्रग कनेक्शन की गहन जांच कर रही है। इस मामले में केपीएस मलहोत्रा के नेतृत्व में 4 ड्रग पेडलरों से पूछताछ की गई है। एनसीबी ने गोवा में होटल व्यवसायी गौरव आर्या को नोटिस जारी किया है और उन्हें सोमवार को एनसीबी कार्यालय मुंबई में उपस्थित रहने का निर्देश दिया है।

Saturday, 29 August 2020

17:16

स्कूलों में फीस वसूली व मनमानी पर मुख्यमंत्री सख्त:deepak tiwari

इंदौर.लॉकडाउन के बाद से स्कूलों द्वारा अभिभावकों पर स्कूल फीस भरने को लेकर लगातार दबाव बनाया जा रहा है। कभी ऑनलाइन क्लास के नाम पर तो कभी ट्यूशन फीस के नाम पर। अभिभावक स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अब सड़क पर उतर रहे हैं। शुक्रवार को भी कुछ महिलाओं ने इसी मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री का काफिला रोक लिया था। शनिवार को मुख्यमंत्री ने वीडियाे कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इंदौर में अधिकारियों से इस मुद्दे को लेकर बात की। उन्होंने कहा कि वे महिलाएं बेहद दुखी थीं। इस मामले में प्रबंधन को बुलाकर जल्द निर्णय लें। कोई भी स्कूल संचालक ऐसी मनमानी नहीं कर सकता। इस मामले को लेकर हम एक्ट बनाने पर भी विचार कर रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अधिकारियों से स्कूल फीस वृद्धि को लेकर बात की। उन्होंने शुक्रवार को उनके काफिले को रोककर फीस मामले में बात करने वाली महिला का जिक्र करते हुए कहा कि वे बहुत दुखी थीं। क्योंकि ट्यूशन फीस ही कई गुना बढ़ा दी गई। इस मामले में नीतिगत फैसला लेते हुए मैं निर्देश देता हूं कि कोई भी स्कूल मनमानी फीस वृद्धि कर उसे वसूल नहीं सकते। फीस को लेकर हम एक्ट बनाने पर भी विचार कर रहे हैं। अधिकारियों से कहा कि जल्द स्कूल प्रबंधन को बुलाकर बात करें। अधिकारियों ने कहा कि अस्पताल में ज्यादा बिल और स्कूल फीस मामले में आज हम बैठक कर रहे हैं।
यह है मामला
बायपास से पिपलियाहाना चौराहे की ओर शुक्रवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान के काफिले को अग्रवाल पब्लिक स्कूल के बाहर कुछ पालकों ने रोक लिया था। पालकों ने इस दौरान सीएम को अपनी व्यथा बताते हुए कहा कि मैं एक पैरेंट होने के नाते इंदौर के सभी पैरेंट्स की ओर से आपसे एक निवेदन करना चाहती हूं कि ये जो फीस का मुद्दा है। आप जल्दी से जल्दी इसको सॉल्व करें। पैरेंट काफी परेशान हैं। आज मुझे अग्रवाल पब्लिक स्कूल के बाहर खड़े होते हुए तीन घंटे हो गए। हमें स्कूल के अंदर भी घुसने नहीं दिया गया। आप इस मुद्दे को उठाइये सर। सीएम ने आश्वस्त किया था कि आप चिंता मत करिए मैं इसको दिखवाता हूं।
02:48

क्या सारे नियम सिर्फ हम पर लागू होते है सरकार पर नही Deepak Tiwari

 क्या सारे नियम सिर्फ हम ही लोग पर Deepak Tiwari 
गाड़ी के कागज नहीं तो चालान, हेलमेट नहीं तो चालान, पैर में जूता नहीं तो चालान, इंश्योरेंस नहीं तो चालान, प्रदूषण नहीं तो चालान,
और तुम सड़क बनाने में भ्रष्टाचार करो तो उसकी कोई चालान नहीं..? नई सड़क बनते ही पहली ही बारिश में सड़क के गड्ढे में तब्दील हो जाती है, समझ में ही नहीं आता है कि सड़क में गड्ढा है या गड्ढे में सड़क है..? इस पर कोई ध्यान नहीं, लेकिन जनता की जेब कैसे काटनी है इस पर बखूबी पैनी नजर बनाए रखते हैं सरकारी महकमे....: #हेलमेट तो भैया हम लगा लेंगे लेकिन इस रोड को कौन बनवाएंगा और  इसका #चालान कौन भरेगा सामने आए ???

नियम बनाना गलत नहीं है लेकिन नियम पर चलना भी जरूरी है ...
02:45

जाने कहीं आप का गैस सिलेंडर एक्सपायर तो नही

अपने परिवार की सुरक्षा के लिए 2 मिनिट का समय निकाल कर इसे अवश्य पढ़े, deepak tiwari 
 देश दुनिया
L.P.G.गैस सिलेण्डर की भी "एक्सपायरी डेट" होती है।
एक्सपायरी डेट निकलने के बाद गैस सिलेण्डर को इस्तेमाल करना बम की तरह खरतनाक हो सकता है। आमतौर पर गैस सिलेण्डर की रिफील लेते समय उपभोक्ताओं का ध्यान इसके वजन और सील पर ही होता है।
उन्हें सिलेण्डर की एक्सपायरी डेट की जानकारी ही नहीं होती।
इसी का फायदा एलपीजी की आपूर्ति करने वाली कंपनियां उठाती हैं और धड़ल्ले से एक्पायरी डेट वाले सिलेण्डर रिफील कर हमारे घरों तक पहुंचाती हैं।
यहीं कारण है कि गैस सिलेण्डरों से हादसे होते हैं।

केसे पता करें एक्सपायरी डेट

सिलेण्डर के उपरी भाग पर उसे पकड़ने के लिए गोल रिंग होती है और इसके नीचे तीन पट्टियों में से एक पर काले रंग से सिलेण्डर की एक्सपायरी डेट अंकित होती है। इसके तहत अंग्रेजी में A, B, C तथा D अक्षर अंकित होते है तथा साथ में दो अंक लिखे होते हैं।
A अक्षर साल की पहली तिमाही (जनवरी से मार्च),
B साल की दूसरी तिमाही (अप्रेल से जून),
C साल की तीसरी तिमाही (जुलाई से सितम्बर)
तथा
D साल की चौथी तिमाही अर्थात अक्टूबर से दिसंबर को दर्शाते हैं।
इसके बाद लिखे हुए दो अंक एक्सपायरी वर्ष को संकेत करते हैं।
यानि यदि सिलेण्डर पर A 15 लिखा हुआ हो तो सिलेण्डर
की एक्सपायरी मार्च 2015 है। इस सिलेण्डर का "मार्च 2015" के बाद उपयोग करना खतरनाक होता है।
इस प्रकार के सिलेण्डर बम की तरह कभी भी फट सकते हैं।
ऐसी स्थिति में उपभोक्ताओं को चाहिए कि वे इस प्रकार के
एक्सपायर सिलेण्डरों को लेने से मना कर दें तथा आपूर्तिकर्त्ता एजेंसी को इस बारे में सूचित करें।

इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ साझा कीजिये
02:43

नेपाल का एकमात्र अरबपति हुआ कोरोना पॉजिटिव, जानिए क्यों कहा जाता है उन्हें नेपाल का अंबानी deepak tiwari

  deepak tiwari 
 August 29, 2020

नेपाल के एकमात्र अरबपति बिनोद चौधरी (Bin­od Chaud­hary) को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है. चौधरी निचले सदन के सदस्य भी हैं. बिनोद चौधरी ने शुक्रवार को बताया कि उन्हें COVID-19 पॉजिटिव पाया गया है. उद्योगपति ने एक माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट पर पॉजिटिव होने की पुष्टि की और हालही में उनसे मिलने वाले लोगों से सावधानी बरतने का आग्रह किया. अपने ट्वीट में चौधरी ने कहा कि वे असिमटोमैटिक हैं और डॉक्टर की सलाह के अनुसार खुद को आइसोलेट कर चुके हैं.

64 वर्षीय अरबपति ने लिखा “प्रिय मित्रों और शुभचिंतकों- आज सुबह पीसीआर टेस्ट के अनुसार कोरोना के लिए मुझे पॉजिटिव पाया गया है! भगवान की कृपा से, अब तक मुझमें कोई कोई लक्षण नहीं हैं. हालांकि मैंने डॉक्टर की सलाह के अनुसार खुद को आइसोलेट कर लिया है. कृपया जो भी मेरे संपर्क में आया था वह हर संभव सावधानी बरतें!.”
कौन हैं बिनोद चौधरी
फोर्ब्स बिलेनियर लिस्ट के अनुसार,चौधरी की कुल संपत्ति 1.413 बिलियन अमरीकी डालर है. चौधरी, सीजी कॉर्प ग्लोबल के मालिक हैं और नेपाल के नबील बैंक और लोकप्रिय वाई वाई नूडल्स के निर्माता सीजी फूड्स में भी उनकी हिस्सेदारी है. भारत और फिर पूरे एशिया में नूडल्स का कारोबार करने वाले चौधरी परिवार के पास एक बैंक और दूरसंचार व्यवसाय का स्वामित्व है. हालही में उन्होंने कहा था कि वह मुकेश अंबानी के जियो की तरह नेपाल में इंटरनेट क्रांति लाना चाहते हैं.
जबकि कंपनी के पास भारत के ताज समूह के साथ साझेदारी, मालदीव में दो रिसोर्ट समेत दर्जनों रिसॉर्ट्स हैं. चौधरी की भारत, सर्बिया और बांग्लादेश में विदेशी नूडल विनिर्माण फैक्ट्रियां हैं. चौधरी जो एक सांसद भी हैं. उन्होंने बीते साल कहा था कि वह चीनी कंपनी Huawei के साथ मिलकर नेपाल में 4जी सेवा लॉन्च करेंगे, जिसे बाद में 5जी में अपग्रेड किया जा सकता है.

Friday, 28 August 2020

21:08

मोदी लहर के सहारे अब किसी की नैया पार नहीं: BJP प्रदेश अध्यक्ष

  deepak tiwari  August 28, 2020
देहरादून। बीजेपी उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने अपनी पार्टी के विधायकों को नसीहत देते हुए एक बड़ा बयान दिया है। भगत ने कहा है कि ‘मोदी लहर के सहारे अब किसी की नैया पार नहीं होगी। इसलिए सभी को अपनी अपनी सीट जीतने के लिए खुद मेहनत करनी पड़ेगी। चुनावी क्षेत्र में जाकर जनता के काम पूरे करने के साथ सभी वायदे निभाने होंगे।’

बता दे कि 2017 के उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी की ऐसी बोल बाला था कि खुद हरीश रावत हरिद्वार ग्रामीण और किच्छा दोनों विधानसभा क्षेत्रों से अपनी सीट हार गए थे। भारतीय जनता पार्टी ने सूबे की 70 सीटों में से 57 पर प्रचंड जीत दर्ज कर के तीन चौथाई बहुमत वाली सरकार बनाई थी। वहीं कांग्रेस पार्टी मुश्किल से दहाई का आंकड़ा छू पाई और उसे 11 सीटों पर सिमट कर रह गयी।
लेकिन अब उत्तराखंड के मैदान में आम आदमी पार्टी की भी एंट्री हो चुकी है इशलिए विरोधियों में आप के आने की बेचैनी साफ दिखने लगी है ।
18:21

नकली डिटर्जेंट और हाउस क्लीनिंग का सामान बनाने अवैध गोदाम पर छापा, नामचीन कंपनियों के रैपर लगाकर तैयार किया जा रहा था डुप्लीकेट माल तैयार

नकली घी और नकली तेल के बाद अब नकली डिटर्जेंट और हाउस क्लीनिंग का सामान भी नकली बड़े बड़े पैमाने पर तैयार कर नामचीन कंपनियों के रैपर लगाकर मार्केट में धड़ल्ले से बेचा जा रहा था एक ऐसे ही गिरोह का भंडाफोड़ नोएडा पुलिस ने किया है जिसमें नकली सफाई व कपड़े धोने  के डिटर्जेंट पाउडर बनाकर धड़ल्ले से मार्केट में बेचा जा रहा था पुलिस ने इस  गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 

एडिशनल डीसीपी रणविजय ने बताया कि थाना सेक्टर 39 पुलिस को न्यूक्लिऑन रिस्क कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड (Nucleion Risk Consulting Pvt Ltd)  के एसिसटेन्ट मैनेजर श्री यशपाल सिह सपरा ने शिकायत दर्ज कराई कि सेक्टर 81 मैट्रो स्टेशन के पास किसी मकान मे हिन्दुस्तान लीवर कम्पनी का डुप्लीकेट माल तैयार किया जा रहा है।पुलिस ने शिकायत दर्ज कर मामले कि जांच सुरू कि तो पता रामबीर के मकान में डुप्लीकेट माल तैयार किया जा रहे है। 
बाइट : रणविजय सिंह (एडिशनल डीसीपी, नोएडा ज़ोन 1)

एडिशनल डीसीपी ने बताया कि कोतवाली 39 पुलिस कि टीम ने एसिसटेन्ट मैनेजर यशपाल सिह को साथ लेकर सेक्टर 81 मैट्रो स्टेशन के पास रामबीर के मकान पर छापा मारा तो उस समय वहाँ पर एक ट्रक मजूदरो द्वारा लादा जा रहा था। माल को कम्पनी के एसिसटेन्ट मैनेजर यशपाल सिह द्वारा चैक करके बताया कि यह माल नकली स्टीकर लगाकर भेजा रहा है। पुलिस कि जांच में पता चला नकली माल इसी मकान मे तैयार किया जा रहा है। इसके उपरान्त वहाँ पर मौजूद व्यक्ति जो ट्रक मे माल लाद रहे है से पूछताछ की गयी तो उनके द्वारा बताया गया कि हम लोग तो दहाडी पर आये हुये मजदूर है। यह माल तो अंकुर व सन्नी का है । अंकुर एंव सन्नी पुलिस को आता देखकर मौके से फरार हो गये । मौके से बरामद किया गये माल को कब्जे में लेकर धारा 63 काँपी राइट एक्ट दर्ज किया गया । पुलिस अंकुर और उसके साले सन्नी कि तलाश कर रही है।
बाइट : रणविजय सिंह (एडिशनल डीसीपी, नोएडा ज़ोन 1)
18:19

गौतमबुद्ध नगर : 24 घंटे में 93 संक्रमित 112 ने कोविड को हराया

नोएडा। गौतमबुद्ध नगर प्रशासन के लिए शुक्रवार का दिन हौसले से भरा रहा। बीते 24 घंटे में 93 लोगों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है। जबकि 112 लोग कोरोना को परास्त कर अपने घरों को चले गए। फिलहाल कुल 971 लोगों का इलाज अभी जारी है। जिले में बीते 25 दिनों से एक व्यक्ति की मौत हुई। मौजूदा समय में कोविड महामारी की चपेट में आकर अब तक 45 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। 

प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग से शुक्रवार की शाम जारी आंकड़ों के मुताबिक गौतमबुद्ध नगर में बीते 24 घंटे में 93 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही जिले में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 7605 हो गई है। दूसरी ओर, 112 लोग कोरोना को परास्त कर अपने घर चले गए। इसके साथ ही कोविड-19 को मात देने वाले लोगों का आंकड़ा 6595 हो गया है। 
गौतमबुद्ध नगर जिले के प्रशासन आम जनता के सहयोग से महामारी पर प्रभावी अंकुश लगाने की ओर बढ़ रहा है। कोरोना को हराने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है। जिले में महामारी की चपेट में आकर जान गंवाने वालों की संख्या 45 हो गई है।

कोविड-19 महामारी के चलते जनपद गौतम बुद्ध नगर में धारा 144 तथा वीक एंड पर लॉकडाउन जारी है। पुलिस 200 चेकिंग बिंदुओं पर 24 घंटे बैरियर लगाकर लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालो की चेकिंग कर रही है। धारा 144 तथा लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने सघन चेकिंग करते हुए 4830  वाहनों को चेक किया है जिनमें 1802 वाहनों का चालान व 11 वाहनों को सीज किया गया। और जुर्माना के रूप में 177,500 रुपए वसूले।
18:11

लखीमपुर खीरी आज का हाल शहर बेहाल

लखीमपुर खीरी 28 अगस्त 2020।* विगत 24 घंटे में ( सायं 5:00 बजे तक) कुल 148 रिपोर्ट प्राप्त हुई है। जिसमें 19 (आरटी पीसीआर)लैब से पॉजीटिव रिपोर्ट एवं 129 नेगेटिव रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इसी के साथ 68 ( 11 अन्य लैब, 02 टुनेट एवं 55 एंटीजन) पॉजिटिव रिपोर्ट प्राप्त हुई है। अतः इस प्रकार कुल आज 87 पॉजिटिव रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इसी के साथ एक संक्रमित व्यक्ति की लखनऊ में इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। 

तहसील सदर : 56
जिला कारागार-01
महाराज नगर-02
सिकटिया-01
पनगी कला-01
ज्ञानपुर-01
किशोर नगर पिपरिया सीतापुर रोड-01
सुभाष नगर-01
सब्जी मंडी-01
स्वरूप नगर-01
मेला मैदान-02
नई बस्ती-01
शाहपुरा कोठी-01
मगरे पुरवा-01
शिव कॉलोनी-08
द्वारिका पुरी-01
अर्जुन पुरवा-02
दतसिया-01
गुटना बुजुर्ग-01
सराय वेल-01
हाथीपुर-01
पुलिस लाइन-02
घोसियाना-01
राजापुर-01
भीरा घासी-01
अरविंद नगर कॉलोनी-02
लखहा बेहजम-01
शांति नगर-01
शिवाला पुरवा-02
सरना पुरम-01
मिदानिया गढ़ी-01
मेला मैदान-01
शिवपुरी-01
हसनापुर ओयल-10
लघुचा-01

तहसील गोला गोकरण नाथ : 04
हाफिजपुर-01
ग्रंट नंबर दस-01
पश्चिमी दीक्षिताना-01
सिंगहा-01

तहसील मितौली : 09
कस्बा-07
मैगलगंज-01
औरंगाबाद-01

तहसील धोरहरा : 03
शिवपुर ईशानगर-01
कैमहा-01
भागहरपुर-01

तहसील पलिया : 02
इब्राहिमपुर-01
एकरामनगर-01

तहसील निघासन : 09
लाहोरी गोविंद नगर-01
तेलियार-08

तहसील मोहम्मदी : 02
कोतवाली मोहम्मदी-02

अतः इस प्रकार जनपद में अब तक कुल 2187 पॉजिटिव केस मिले, जिनमें उपचार उपरांत 1301 पॉजिटिव व्यक्ति पूर्ण रूप से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज कर दिए गए। वर्तमान में जनपद में कुल 862 एक्टिव पॉजिटिव केस है। वहीं अब तक 24 संक्रमित की मृत्यु हो चुकी है।
कमलेश पत्रकार
18:06

तीन दिवसीय ऑनलाइन कार्यशाला का हुआ समापन

सवाई माधोपुर रिपोर्ट चंद्रशेखर शर्मा@राजीव गांधी क्षेत्रीय प्राकृतिक विज्ञान संग्रहालय सवाई माधोपुर द्वारा 26 से 28 अगस्त तक पर्यावरण और वन्यजीवों के व्यवहार पर लॉकडाउन का प्रभाव विषय पर तीन दिवसीय राष्ट्रीय ऑनलाइन शिक्षक उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया।
संग्रहालय प्रभारी मोहम्मद यूनुस ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। संग्रहालय की वैज्ञानिक सी, सुस्मिता अधिकारी ने इस तीन दिवसीय ऑनलाइन कार्यक्रम के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्रदान की। संग्रहालय द्वारा विषय विशेषज्ञों के रूप में आमंत्रित प्रो. एम.एम.चतुर्वेदी, एसोसिएट प्रोफेसर, शहीद कैप्टन रिपुदमन सिंह राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, सवाई माधोपुर द्वारा वन्यजीवों के व्यवहार के विशेष संदर्भ में पर्यावरण पर लॉकडाउन के प्रभाव, डॉ. फातिमा सुल्ताना, एसोसिएट प्रोफेसर तथा विभागाध्यक्ष, जूलॉजी विभाग, जे.डी.बी. राजकीय गर्ल्स कॉलेज, कोटा विश्वविद्यालय, कोटा द्वारा कोविड-19 लॉकडाउन के बीच कोटा क्षेत्र के आर्द्रभूमि में प्रवासी और आवासीय पक्षियों की जनसंख्या वृद्धि एवं प्रो.ए. शशिकला (सेवानिवृत्त), सारदा विलास साइंस कॉलेज, मैसूर द्वारा युवा पीढ़ी के लिए क्रो क्विल डिप निब इंडियन इंक का उपयोग करके जैविक नमूनों के वैज्ञानिक चित्रण विषय पर ऑनलाइन प्रेजेन्टेशन रखा गया।
तीन दिवसीय राष्ट्रीय ऑनलाइन कार्यशाला के दौरान संग्रहालय के वैज्ञानिकों, मोडेलरों एवं कलाकार द्वारा प्रतिभागी शिक्षकों को विभिन्न प्रकार की अनौपचारिक पर्यावरण शिक्षा से अवगत कराया गया। संग्रहालय के प्रलेखन सहायक, डॉ. आलोक आर. चोरघे, द्वारा धन्यवाद ज्ञापित कर किया गया।
18:05

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला , यूजी व पीजी अंतिम वर्ष के छात्रों को देनी होंगी परीक्षा

जयपुर/ सवाई माधोपुर रिपोर्ट@ चंद्रशेखर शर्मा।देश भर के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में स्नातक कोर्सेज की फाइनल ईयर परीक्षाओं को लेकर यूजीसी के दिशा-निर्देशों पर सुप्रीम कोर्ट ने भी मुहर लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि यूजीसी की अनुमति के बिना राज्य एग्जाम रद्द नहीं कर सकते। फाइनल ईयर की परीक्षाएं आयोजित किए बिना छात्रों को पास नहीं किया जा सकता। राज्यों को 30 सितंबर तक एग्जाम कराने होंगे। न्यायालय ने कहा कि जो राज्य 30 सितम्बर तक अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने के इच्छुक नहीं हैं, उन्हें यूजीसी को इसकी जानकारी देनी होगी। शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में यूजीसी के 6 जुलाई के सर्कुलर को सही ठहराते हुए कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत राज्य महामारी को ध्यान में रखते हुए परीक्षा स्थगित कर सकते हैं और यूजीसी के साथ सलाह मशविरा करके नई तिथियां तय कर सकते हैं।
गौरतलब है कि यूजीसी ने 6 जुलाई को देशभर के विश्वविद्यालयों को 30 सितंबर तक अंतिम वर्ष की परीक्षाएं आयोजित करने का निर्देश दिया था। अगर परीक्षाएं नहीं हुई तो छात्रों का भविष्य खतरे में पड़ जाएगा। यूजीसी की इस गाइडलाइंस को देश भर के कई छात्रों और संगठनों ने याचिका दायर कर सुप्रीम कोर्ट में चुनौती थी। याचिकाओं में कहा गया था कि कोविड-19 महामारी के बीच परीक्षाएं करवाना छात्रों की सुरक्षा के लिए ठीक नहीं है। यूजीसी को परीक्षाएं रद्द कर छात्रों के पिछले प्रदर्शन और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर परिणाम घोषित करने चाहिए।
इससे पहले यूजीसी ने शीर्ष अदालत को बताया था कि विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों को कोविड-19 महामारी के बीच फाइनल ईयर की परीक्षाएं 30 सितंबर तक आयोजित कराने के संबंध में 6 जुलाई को जारी निर्देश कोई फरमान नहीं है, लेकिन परीक्षाओं को आयोजित किए बिना राज्य डिग्री प्रदान करने का निर्णय नहीं ले सकते। यूजीसी ने न्यायालय को बताया था कि यह निर्देश “छात्रों के लाभ” के लिए है क्योंकि विश्वविद्यालयों को स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों (पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज) के लिए प्रवेश शुरू करना है और राज्य प्राधिकार यूजीसी के दिशा-निर्देशों को नजरअंदाज नहीं सकते हैं।


 
यहां पढ़ें फाइनल ईयर परीक्षा पर यूजीसी गाइडलाइंस को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अपडेट

उच्चतम न्यायालय ने कहा कि जो राज्य 30 सितम्बर तक अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने के इच्छुक नहीं हैं, उन्हें यूजीसी को इसकी जानकारी देनी होगी।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि स्टूडेंट्स को प्रमोट करने के लिए राज्यों को एग्जाम अऩिवार्य रूप से कराने होंगे। कोर्ट ने कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत राज्य महामारी को ध्यान में रखते हुए परीक्षा स्थगित कर सकते हैं और यूजीसी के साथ सलाह मशविरा करके नई तिथियां तय कर सकते हैं।
यूजीसी ने 6 जुलाई को देशभर के विश्वविद्यालयों को 30 सितंबर तक अंतिम वर्ष की परीक्षाएं आयोजित करने का निर्देश दिया था। उसने कहा था कि अगर परीक्षाएं नहीं हुई तो छात्रों का भविष्य खतरे में पड़ जाएगा। यूजीसी की इस गाइडलाइंस को देश भर के कई छात्रों और संगठनों ने याचिका दायर कर सुप्रीम कोर्ट में चुनौती थी। याचिकाओं में कहा गया था कोविड-19 महामारी के बीच परीक्षाएं करवाना छात्रों की सुरक्षा के लिए ठीक नहीं है। यूजीसी को परीक्षाएं रद्द कर छात्रों के पिछले प्रदर्शन और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर परिणाम घोषित करने चाहिए। शीर्ष न्यायालय में इस विषय को लेकर याचिका दायर करने वालों में युवा सेना भी शामिल है जो शिवसेना की युवा शाखा है। उसने महामारी के दौरान परीक्षाएं कराये जाने के यूजीसी के निर्देश पर सवाल उठाया है।
दिल्ली, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, हरियाणा और मध्य प्रदेश सहित कुछ राज्यों ने अंतिम वर्ष की परीक्षा सहित विश्वविद्यालय की परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। हालांकि यूजीसी इस बात पर कायम है कि अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को आयोजित किए बिना स्नातक करने वाले छात्रों को डिग्री नहीं दी जा सकती।दिल्ली, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, हरियाणा और मध्य प्रदेश सहित कुछ राज्यों ने अंतिम वर्ष की परीक्षा सहित विश्वविद्यालय की परीक्षाओं को रद्द कर दिया है।
08:13

कोरोना में मदद के लिए धन्यवाद लेकिन किसी को लूटने की अनुमति नही

इंदौर.सांसद शंकर लालवानी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री के समक्ष निजी अस्पतालों द्वारा कोरोना काल में ज्यादा बिल वसूली का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि जनता बार-बार यह कह रही है कि निजी अस्पताल वाले ज्यादा बिल वसूल रहे हैं। सरकार और अस्पताल प्रबंधन बैठकर इस मुद्दा पर बात कर इसका कोई रास्ता निकाले। इस बात पर सीएम शिवराज ने मंच से कहा कि कोरोना काल में निजी अस्पतालों ने मदद की, उसके लिए धन्यवाद, लेकिन उन्हें किसी मरीज को लूटने की अनुमति नहीं। उन्होंने कलेक्टर, कमिश्नर को अस्पताल वालों के साथ बैठकर रेट तय करने को कहा, साथ ही सफाई में इंदौर की तारीफ करते हुए कहा कि चौका क्या हम तो छक्का लगाएंगे। बात दें कि दो दिन पहले ही एक निजी अस्पताल ने एक मरीज को 6 लाख रुपए का बिल थमाया था।
मुख्यमंत्री ने एकजुट होकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने पर संभागायुक्त, कलेक्टर, डीआईजी सहित चिकित्सकों से लेकर जनप्रतिनिधियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में 20 हजार से ज्यादा टेस्टिंग हो रही है, कोरोना अजीब बीमारी है, जो अपनों को भी दूर कर देती है, मैं भी इसका भुक्तभोगी हूं, जब अस्पताल में 12 दिन भर्ती रहा और बाथरूम से लेकर रूम की सफाई तक की। इंदौर ने कोरोना की जंग में कई सफलताएं हासिल की। आज नए हॉस्पिटल के शुभारंभ के साथ बहुत बड़ी कामयाबी मिली है। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कहा कि निजी हॉस्पिटलों को लूट की अनुमति कतई नहीं दी जाएगी। उन्होंने अफसरों को मंच से ही निर्देश दिए कि जनता का इलाज बेहतर हो, लेकिन अवैध वसूली न होने दें।
सांसद ने एमवाय में सुविधाएं बढ़ाने की मांग की
सांसद ने कहा कि एमवाय अस्पताल इंदाैर ही नहीं, इंदाैर के अलावा करीब 1 कराेड़ जनसंख्या के लिए उपलब्ध है। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की कि इसमें और ज्यादा सुविधाएं बढ़ाई जाए। सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में एम्स जैसी सुविधाएं रहेंगी। लालवानी ने कहा कि इंदौर में हमें पीजीआई की जरूरत है। इससे पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाले छात्रों के साथ ही सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल को भी सुविधा मिलेगी। काेरोना काल में इंदौर की जनता के साथ ही प्रशासनिक, मेडिकल, पुलिस और निगम की पूरी टीम ने काम किया, वह अद्भुत है। उन्होंने कहा कि जनता की ओर से मांग आ रही है कि जो निजी अस्पताल हैं में ज्यादा बिल दिया जा रहा है उसे लेकर सरकार और अस्पताल वाले बैठकर निर्णय लें। बार-बार जनता कह रही है कि निजी अस्पताल की ओर से ज्यादा बिल दिया जा रहा है।
यह है मामला
भंवरकुआं स्थित एप्पल हॉस्पिटल ने कोरोना मरीज के इलाज के लिए छह लाख का भारी भरकम बिल मरीज के परिजनों को थमाया था।। सागर निवासी व्यक्ति के परिजन ने कलेक्टर को इसकी शिकायत की थी। इसमें कहा गया था कि 22 दिन तक भर्ती करने के बाद मरीज को छह लाख का बिल दिया गया। एक लाख रुपए की दवाई बाहर से मंगवाई, जिससे इलाज का कुल खर्च सात लाख हो गया। इसके बाद मंगलवार रात को जिला प्रशासन की समिति ने छापामार कार्रवाई की। शिकायत करने वाले मरीज के अलावा अन्य मरीजों के बिल का रिकाॅर्ड भी लिया गया था। जांच में पता लगा कि मरीज से रोजाना तीन हजार रुपए प्रतिदिन यूनिवर्सल प्रोटेक्शन के नाम पर लिए गए। वहां भर्ती सभी मरीजों से यह राशि ली जा रही है। जांच समिति को जो बिल की कॉपी दी गई, उसमें निजी लैब में करवाई कोरोना जांच का उल्लेख नहीं है। मरीज को दिए गए बिल में इसका भी शुल्क जोड़ा गया है।
3000 रुपए रोज में मरीज देख रहे थे सरकारी डॉक्टर
प्रशासन ने तीन सरकारी डॉक्टर्स डॉ. अजय गुप्ता, डॉ. सुनील मुकाती और डॉ. मिलिंद बालदी काे नोटिस दिए हैं। इन्हें प्रतिदिन 3 हजार रुपए का भुगतान किया गया। सरकारी डॉक्टर होते हुए भी निजी अस्पताल में मरीज देखना गलत है। नेशनल मेडिकल एक्ट 2019 की धारा 27 में इसे प्रोफेशनल मिसकंडाक्ट माना है।
08:11

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया इंदौर में सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल का शुभारंभ किया; deepak tiwari

इंदौर.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार दोपहर एक दिन के दाैरे पर इंदाैर पहुंचे। सीएम ने यहां सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल का उद्घाटन किया। अस्पताल को अभी सिर्फ कोरोना मरीजों के लिए शुरू किया जा रहा है। सुपर स्पेशिएलिटी की सेवाएं कुछ समय बाद मिलेंगी।
जटिल न्यूरो, कार्डियक और प्लास्टिक सर्जरी की सुविधा
402 बिस्तरों वाले इस अस्पताल में न्यूरोलॉजी, न्यूरो सर्जरी, नेफ्रोलॉजी, यूरो सर्जरी, कार्डियोलॉजी, कार्डियक सर्जरी, मेडिकल गेस्ट्रोइंलॉजी, सर्जिकल गेस्ट्रोइंट्रोलॉजी, प्लास्टिक एवं रिकंस्ट्रक्टिव सर्जरी के साथ ऑर्गन ट्रांसप्लांट की सुविधा भी होगी। ऐसा ये मध्यभारत का एकमात्र अस्पताल होगा, जहां एक फ्लोर अंगदान के लिए रिजर्व रहेगा।
यहां हार्ट, किडनी, लिवर ट्रांसप्लांट के लिए विशेष यूनिट है, जो प्रदेश के किसी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल में नहीं है। सारे ओटी एक-दूसरे से कनेक्टेड (इंटीग्रेटेड) हैं। छात्र सेमिनार या कॉन्फ्रेंस हॉल में बैठकर लाइव सर्जरी देख सकेंगे। सरकार ने यहां 24 पीजीएमओ, 112 डॉक्टर, 253 नर्स, 204 सफाई कर्मचारी, 102 सुरक्षाकर्मी के पद मंजूर किए है।
ऐसे पड़ी थी एमवाय की नींव
1939 में विश्व युद्ध के दौरान महाराजा यशवंतराव होलकर बीमार पड़ गए। वे इलाज के लिए अमेरिका गए। उन्हें पेट में चांदी की पसली लगाई गई। उन्हें लगा कि अगर जनता को ऐसा कुछ हो तो वह कहां जाएगी। इस पर उन्होंने सरकार को मुफ्त जमीन के साथ 30 लाख रुपए दिए और 6 जून 1948 को एमवायएच की नींव रखी गई। 18 फरवरी 1950 को काम शुरू हुआ। 26 अक्टूबर 1956 को तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री गोविंद वल्लभ पंत ने इसका उद्घाटन किया था।
08:08

प्लेन यात्रा के 8 दिन बाद एक कोरियाई महिला को हुआ संक्रमण जाने कैसे

हवाई यात्रा के दौरान टॉयलेट इस्तेमाल करने पर कोरोना का संक्रमण होने का अपनी तरह का अनोखा मामला सामने आया है। साउथ कोरिया की रहने वाली 28 साल की महिला विमान में 300 यात्रियों के साथ थी। महामारी की घोषणा के बीच उसे 31 मार्च को इटली के मिलान शहर में उतरना पड़ा था। यह दावा साउथ कोरिया के रिसर्चर्स ने किया है।
सियोल की सुंचूंहयांग यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च के मुताबिक, महिला ने पूरी यात्रा के दौरान एन-95 मास्क पहन रखा था सिर्फ टॉयलेट का इस्तेमाल करते समय उसने इसे हटाया था।
6 पॉइंट्स कब और कैसे संक्रमित हुई
इमर्जिंग इंफेक्शियस डिसीज जर्नल में प्रकाशित खबर के मुताबिक, यात्रा के दौरान एक ऐसे यात्री ने टॉयलेट का इस्तेमाल किया, जो एसिम्प्टोमैटिक था। उसके बाद महिला जब टॉयलेट गई तो संक्रमित सतह को छुआ या कोरोना से संक्रमिण कणों के सम्पर्क में आई।
रिसर्चर्स का कहना है कि यह विमान यात्रा साउथ कोरिया के अधिकारियों ने कराई थी। इस दौरान प्लेन में बैठने से पहले सभी यात्रियों की जांच भी हुई थी।
कुल 310 यात्री मिलान एयरपोर्ट पर उतरे थे। इनमें से 11 में कोरोना के लक्षण दिखे थे और इन्हें प्लेन में वापसी की अनुमति नहीं दी गई थी।
मिलान से वापस प्लेन में पहुंचने वाले सभी यात्रियों को एन-95 मास्क दिए गए थे। बोर्डिंग से पहले सभी एक-दूसरे से 6 फीट की दूरी पर थे। सिर्फ खाना खाने और टॉयलेट का इस्तेमाल करने के अलावा पूरे समय तक सभी ने मास्क पहन रखे थे।
11 घंटे की यात्रा के बाद जब 299 यात्री साउथ कोरिया पहुंचे को उन्हें दो हफ्ते के लिए क्वारैंटाइन किया गया। इनमें 6 में कोरोना की पुष्टि होने पर अस्पताल में भर्ती किया गया।
क्वारैंटाइन के 8वें दिन 28 साल की उस महिला में कोविड-19 के लक्षण दिखने शुरू हुए। उसे खांसी आई, नाक से पानी बहा और मांसपेशियों में दर्द हुआ। उसे 14वें दिन हॉस्पिटल में भर्ती किया गया।
महिला से 3 कतार पीछे बैठा था एसिम्प्टोमैटिक शख्स
रिसर्चर्स के मुताबिक, महिला को जिस एसिम्प्टोमैटिक शख्स से संक्रमण फैलने की बात की जा रही है वह उनसे तीन कतार (रो) पीछे बैठा था। मिलान शहर में महिला घर से बाहर नहीं निकली और 3 हफ्ते तक खुद को क्वारैंटाइन में रखा। रिसर्चर्स ने हिदायत दी कि विमान में यात्रा करते समय एसिम्प्टोमैटिक इंसान से भी कोरोना का संक्रमण होने का खतरा रहता है।
08:05

रायसेन में जब पक्षी लड़ते-लड़ते कुएं में गिर गए

रायसेन.रायसेन जिले के देवरी क्षेत्र के एक गांव में एक ही परिवार के तीन भाईयों की कुएं में गिरने से मौत हो गई। तीनों के शवों को तीन घंटे के रेस्क्यू से ग्रामीणों ने बाहर निकाला। घटना स्थल पर पहुंचने के लिए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने नाव का सहारा लिया। मृतकों में दो सगे और एक चचेरा भाई शामिल है।
शुक्रवार सुबह तीनों भाई देवरी के पतेरी गांव में अपने खेत में काम कर रहे थे, तभी दो पक्षी लड़ते-लड़ते कुएं में गिर गए। चूंकि कुशवाहा परिवार में इसी कुएं का पानी पीने के उपयोग में लाया जाता था, पानी गंदा न हो इसलिए जगदीश कुशवाहा (36) पक्षियों को बाहर निकालने के लिए कुएं में नीचे उतर गया। थोड़ी देर हुई और जगदीश बाहर नहीं निकला तो दूसरा भाई ब्रजेश कुशवाहा (34) भी नीचे उतर गया और जहरीली गैस की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। दोनों बाहर नहीं आए आए तो तीसरा चचेरा भाई प्रीतम कुशवाहा (23) भी गया और कुएं में उतर गया। उतरने के बाद वह भी जहरीली गैस से उसकी भी मौत हो गई।
लड़के को रस्सियों से बांधकर नीचे उतारा, वह भी अचेत हो गया
तीनों भाइयों के कुएं में मौत की सूचना मिलने पर मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्र हो गए। उन्होंने पता लगाने की कोशिश की कि आखिर इन तीनों की मौत कैसे हुई। उन्होंने एक लड़के को रस्सियों से बांधकर नीचे उतारा। उसे 8 फीट ही नीचे उतारा होगा, तभी वह बेहोश होने लगा।
लोगों को समझ में आ गया कि नीचे जहरीली गैस का रिसाव हो रहा है। उन्होंने लड़के को फौरन रस्सी से वापस खींच लिया। इसके बाद प्रशासन और पुलिस को इसकी जानकारी दी गई। पतई गांव काफी इंटीरियर इलाके में है, जिससे वहां पहुंचने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को नाव का सहारा लेना पड़ा। दो नाले पार करके तहसीलदार और डीएसपी मौके पर पहुंचे।
08:03

रायसेन में झमाझम बारिश:deepak tiwari

रायसेन में गुरुवार रात से हो रही तेज बारिश के बाद नदी-नाले उफना गए हैं। शुक्रवार सुबह 6 बजे बारना डैम के 8 गेट खोल दिए गए। डैम से छोड़े जा रहे पानी की वजह से बरेली में बारना पुल पर 20 फीट पानी आ गया है। इससे नेशनल हाइवे-12 जयपुर-जबलपुर बंद हो गया।
डैम के आठ गेट खोलने के बाद जबलपुर-जयपुर बंद हो गया है।
भोपाल मार्ग भी बंद
बेगमगंज-गैरतगंज क्षेत्र में कहूला पुल पर पानी आ जाने भोपाल मार्ग बंद हो गया। जिले में 24 घंटे में 122 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है। बरेली में निचली बस्ती से लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किया गया है।
बाड़ी खुर्द और बाड़ी कला का संपर्क टूटा
तेज बारिश की वजह से बाड़ी कला के पुल पर भी पानी आ गया है। इस सीजन में पहली बार बाड़ी कला पुल पर पानी आया है। बाड़ी खुर्द और बाड़ी कला का संपर्क टूट गया है। बता दें कि बाड़ी खुर्द और बाड़ी कला के लोग दोनों जगह जरूरी काम से आते-जाते हैं। रास्ता बंद होने से लोग परेशान हैं।
08:01

फिर अदालत में JEE- NEET विवाद:deepak tiwari

नई दिल्ली.इंजीनियरिंग और मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम JEE- NEET के आयोजन को लेकर चल रहे विवाद के बीच पश्चिम बंगाल, झारखंड, राजस्थान, छत्तीसगढ़, पंजाब और महाराष्ट्र के मंत्रियों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। दायर याचिका में मंत्रियों ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा 17 अगस्त के जारी किए गए आदेश की समीक्षा करने की मांग की है। साथ ही सितंबर में होने वाली JEE- NEET को स्थगित करने की भी अपील की है।
सरकार बनाम विपक्ष बना जेईई मेन और नीट मुद्दा
जेईई मेन और नीट की परीक्षा ने अब सरकार बनाम विपक्ष का रूप ले चुका है। इस सिलसिले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में बुधवार काे 7 राज्याें के मुख्यमंत्रियाें ने परीक्षा टालने की मांग की। पं. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सभी राज्य सुप्रीम काेर्ट चलें। इसके बाद फैसला लिया गया कि सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की जाएगी। वहीं, झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने कोर्ट जाने से पहले राष्ट्रपति से मिलने की बात कही थी।
जेईई मेन और नीट (यूजी) के लिए जारी एडमिट कार्ड
दूसरी तरफ, एनटीए ने जेईई मेन और नीट (यूजी) 2020 दोनो ही प्रवेश परीक्षाओं के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं, जिसमें एजेंसी द्वारा परीक्षा के लिए जरूरी निर्देशों के साथ-साथ महामारी के सम्बन्ध में आवश्यक सावधानियों और तैयारियों के लिए एसओपी भी उपलब्ध कराए गए हैं। इसके साथ ही एजैंसी ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट, nta.ac.in पर पहले ही कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए एडवाइजरी जारी की है।