Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Friday, 30 September 2022

23:49

गरीब रेहड़ी पटरी वालों को क्यों उजाड़ रहे है नोएडा प्राधिकरण के बुलडोजर- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडेय
नोएडा, नोएडा प्राधिकरण का बुलडोजर आए दिन गरीब रेहड़ी पटरी दुकानदारों को उजाड़ने में लगा हुआ है कल सेक्टर- 8, नोएडा में पिछले 25 वर्षों से चाय की दुकान लगाकर अपना व अपने परिवार का भरण पोषण करने वाली गरीब विधवा महिला दीपा देवी का पूरा सामान तोड़फोड़ कर नष्ट कर प्राधिकरण के कर्मचारी उठाकर ले गए इसी तरह अन्य कई स्थानों पर नियम कानूनों की धज्जियां उड़ा कर गरीब रेहड़ी पटरी के दुकानदारों को उजाड़ा गया है। इसी तरह पिछले दिनों सेक्टर- 50, नोएडा के वेंडिंग जोन में बैठे दुकानदारों को प्राधिकरण के बुलडोजर ने उजाड़ कर बेरोजगार कर दिया प्राधिकरण की वेंडर्स को उजाड़ने की कार्रवाई की पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन सीटू ने कड़ी निंदा किया है और रविवार 2 अक्टूबर 2022 को आंदोलन की रणनीति बनाने के लिए सेक्टर- 10, नोएडा के बिजली घर पार्क में बैठक रखी गई है। और गरीब रेहड़ी पटरी दुकानदारों को उक्त बैठक में आमंत्रित किया गया है।
सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि नोएडा प्राधिकरण की वेंडर्स को व्यवस्थित करने की प्राथमिक जिम्मेदारी थी लेकिन नोएडा प्राधिकरण उक्त जिम्मेदारी को पूरा करने में विफल रहा और अब शहर से गरीब रेहड़ी पटरी के दुकानदारों को भगाना चाहता है जिसे कतई मंजूर नहीं किया जाएगा और कल की बैठक में आगे की रणनीति तय की जाएगी।

Wednesday, 28 September 2022

07:16

कार्बन उत्सर्जन को और कम करने के लिए सतत प्रयास किए जाएंगे - अध्यक्ष सेल


नई दिल्ली ।भारतीय इस्पात प्राधिकरण स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने आज नई दिल्ली में कंपनी के मुख्यालय में अपनी 50वीं वार्षिक आम बैठक आयोजित की। सेल की अध्यक्ष श्रीमती सोमा मंडल ने वर्चुअल प्लेटफॉर्म के माध्यम से आयोजित बैठक में शेयरधारकों को संबोधित किया।

अपने संबोधन में श्रीमती मंडल ने वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान कंपनी की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला और कंपनी की भविष्य की कार्ययोजना के बारे में बताया। सेल ने वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान 18.733 मिलियन टन (एमटी) हॉट मेटल और 17.366 एमटी कच्चे इस्पात का उत्पादन किया, जो अब तक का सर्वाधिक है। कंपनी ने पहली बार एक लाख करोड़ रुपये से अधिक के कारोबार वाली भारतीय कंपनियों के शीर्ष समूह में में प्रवेश किया। वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान 1.03 लाख करोड़ रुपए का कारोबार, पिछले वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान अब तक के सर्वाधिक 68452 करोड रुपए की तुलना में 50 प्रतिशत की पर्याप्त वृद्धि दर्शाता है। कारोबार में वृद्धि के साथ-साथ उन्नत संचालन आत्मक निष्पादन से इस कंपनी को मुनाफे के रूप में भी अब तक के उच्चतम आंकड़े तक पहुंचने में मदद मिली।

 

 

श्रीमती मंडल ने वर्ष 2022 को देश के लिए एक ऐतिहासिक वर्ष बताया, क्योंकि भारत ने स्वतंत्रता के 75 गौरवशाली वर्ष पूरे किए और इसे आधुनिक भारत की यात्रा में एक असाधारण मील का पत्थर के रूप में निरूपित किया, जो भारत 2.0 में आगे बढ़ने के लिए भारत की तैयारियों के संदर्भ में और भी अधिक महत्व रखता है। सेल की अध्यक्ष ने कहा कि सेल आंतरिक शक्ति और संसाधनों के बल पर भारत की इस विकास गाथा में योगदान देने के लिए तैयार है।

श्रीमती मंडल ने एक ईमानदार नैतिक कॉर्पोरेट के रूप में सेल की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पर्यावरण, सामाजिक और शासन (ईएसजी) संबंधी लक्ष्यों को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित किया गया है। आने वाले समय में, सेल वैश्विक मानकों को पूरा करने के लिए कार्बन उत्सर्जन को कम करने के लिए कई और कार्य करेगा। सिल्की अध्यक्ष ने कहा कि स्थिरता पर उचित जोर देने के साथ, कंपनी भविष्य के लिए एक महत्वाकांक्षी रोडमैप का निर्माण करते हुए अपनी प्रक्रियाओं, उत्पाद सामग्री, नीतियों में लगातार सुधार कर रही है।

07:13

देश ही नहीं दुनिया के दिलों की भी लता दीदी ने जीता- श्री जी. किशन रेड्डी


लखनऊ ।केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री श्री जी. किशन रेड्डी और उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अयोध्या में लता मंगेश्कर चौक का लोकार्पण किया। इस अवसर पर बोलते हुए श्री रेड्डी ने कहा कि अयोध्या को विश्व पर्यटक केंद्र बनाने के लिये प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार और राज्य सरकार संयुक्त रुप से काम कर रही है।

07:12

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग और अमेजन सेलर प्राइवेट लिमिटेड के बीच आज त्रिपक्षीय समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए

रामजी पांडे

भारत सरकार के दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग (डीईपीडब्ल्यूडी), दिव्यांग व्यक्तियों के लिए कौशल परिषद् (एससीपीडब्ल्यूडी) और अमेजन सेलर प्राइवेट लिमिटेड के बीच आज एक त्रिपक्षीय समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। इस समझौता ज्ञापन का मुख्य उद्देश्य ई-कॉमर्स क्षेत्र में दिव्यांग जनों के लिए संयुक्त रूप से कौशल प्रशिक्षण और रोजगार के अवसर प्रदान करना है। यह दिव्यांग जनों के अधिकारिता विभाग द्वारा दिव्यांग जनों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करेगा, दिव्यांग जनों के लिए कौशल परिषद द्वारा ई-कॉमर्स क्षेत्र के लिए नौकरी की भूमिकाओं को डिजाइन करने और अमेजन द्वारा दिव्यांग जनों को कौशल प्रशिक्षण और भर्ती करने की परिकल्पना तैयार करता है। सभी पक्षों की इस तरह की पहल से दिव्यांग जनों (पीडब्ल्यूडी) के लिए नौकरी में उनकी स्थायी रोजगार क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ उन्हें सक्षम बनाने के लिए आपूर्ति श्रृंखला क्षेत्र में नौकरी विशेष, व्यावहारिक और ई-कॉमर्स कौशल प्रदान करके उद्यमी बनाने के बेहतर अवसर पैदा होंगे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001LLC4.jpg

 

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार ने नई दिल्ली के डॉ. आंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर के लिए आयोजित समारोह में अपनी उपस्थिति से इस अवसर की शोभा बढ़ाई।

इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की यह भी इच्छा है कि दिव्यांग जनों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए निजी कंपनियों को शामिल किया जाए। मंत्री महोदय ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत को ध्यान में रखते हुए न केवल  अमेजन जैसी निजी कंपनियां बल्कि समाज को भी आगे आकर दिव्यांग जनों को आत्मनिर्भर बनाना चाहिए।

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के सचिव, श्री राजेश अग्रवाल ने दिव्यांग व्यक्तियों के लिए कौशल परिषद् (एससीपीडब्ल्यूडी) और अमेजन की सराहना करते हुए कहा कि कार्यक्रम के अंतर्गत प्रशिक्षित / नियोजित दिव्यांग जनों की संख्या की निगरानी की जानी चाहिए और दिव्यांग जनों को गोदामों में नौकरी उद्यमी बनाने के लिए रोजगार के अवसर प्रदान करने के प्रयास किए जाने चाहिए।

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग का प्रतिनिधित्व उप महानिदेशक, श्री किशोर बी सुरवड़े, दिव्यांग व्यक्तियों के लिए कौशल परिषद् का प्रतिनिधित्व परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री रवीन्द्र सिंह ने और अमेजन सेलर प्राइवेट लिमिटेड का प्रतिनिधित्व एपीएसी/एमईएनए/एलएटीएम परिचालन के उपाध्यक्ष श्री अखिल सक्सेना द्वारा किया गया था।

04:33

माकपा व सीटू कार्यकर्ताओं ने मनाया भगत सिंह का 116 जन्मदिन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडेय

नोएडा, अमर शहीद क्रांतिकारी भगत सिंह का 116 जन्मदिन सीटू व माकपा कार्यकर्ताओं ने सेक्टर- 8, नोएडा पर धूमधाम से मनाया और उन्हें याद करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित किए।
इस अवसर पर सीपीआईएम जिला प्रभारी व सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि देश को आजाद कराने के लिए हर धर्म और जाति के लोगों ने भारी कुर्बानियां दी हैं उक्त में भगत सिंह का विशेष स्थान है उन्होंने कहा कि आजादी के जिन मूल्यों में सपनों के लिए भगत सिंह ने फांसी का फंदा पहना आज उन मूल्यों/ सपनों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। अंग्रेजी हकूमत द्वारा मजदूर विरोधी लेबर कानूनों के खिलाफ असेंबली में बम फेक कर उन्होंने अंग्रेजी हकूमत की जड़ें हिला दी थी। उन्होंने कहा कि आज भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार कुर्बानियों से हासिल किए गए कानूनों को उद्योगपतियों के पक्ष में लेबर कोड़ों के माध्यम से बदल रही है आज देश को फिर विदेशी कंपनियों के लिए खोल दिया गया है। जनता की रोजी-रोटी भाईचारा जनतंत्र को देश की आजादी के लिए खतरा पैदा कर दिया गया है उपरोक्त हालातों के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की जरूरत को उन्होंने रेखांकित किया। साथ ही उन्होंने भगत सिंह के विचारों को  जन जन तक पहुंचाने का अनुरोध किया।

Tuesday, 27 September 2022

06:44

केवल पांच वर्षों में ही, लगभग 500 सदस्य इसमें शामिल हो चुके हैं


रक्षा मंत्री ने एसआईडीएम की उन्‍नति की सराहना करते हुए कहा कि इसकी स्थापना के केवल पांच वर्षों में ही, लगभग 500 सदस्य इसमें शामिल हो चुके हैं, जो भारतीय रक्षा उद्योग की प्रगति का संकेतक है। उन्‍होंने दिल्ली के बाहर एसआईडीएम के विस्तार को उद्योग के विश्‍वास के प्रतिबिंब और साथ ही साथ स्थानीय कंपनियों के हितों की रक्षा के प्रति एसोसिएशन के संकल्प के रूप में वर्णित किया, जिसका मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करना है।

एसआईडीएम  के 5वें वार्षिक सत्र का आयोजन 'इंडिया@75: शेपिंग फॉर इंडिया@100' की थीम पर आयोजित किया गया, जिसका उद्देश्य भारत को रक्षा निर्माण के क्षेत्र में शीर्ष देशों में शामिल करना है। इस सत्र में रक्षा मंत्रालय, भारतीय सशस्त्र बलों, उद्योग जगत और भारत में विदेशी रक्षा अटैचियों के शीर्ष नेतृत्व, वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वी आर चौधरी, नौसेना के उप प्रमुख वाइस एडमिरल एस एन घोरमडे,  थल सेना के उप प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल बी एस राजू, एसआईडीएम के 

 इस अवसर पर श्री राजनाथ सिंह ने एसआईडीएम चैंपियंस अवार्ड के दूसरे संस्करण के विजेताओं को सम्मानित किया। विजेताओं में भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड, भारत फोर्ज लिमिटेड और लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड शामिल रहे, जिन्हें क्षमता संबंधी कमियों को दूर करने के लिए प्रौद्योगिकीय नवाचार, डिजाइन/विकास और परीक्षण के लिए आयात प्रतिस्थापन तथा अवसंरचना जैसी विभिन्न श्रेणियों में सम्मानित किया गया।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/PIC657BV.JPG 


06:39

धर्मेन्‍द्र प्रधान ने भारतीय और वैश्विक संस्थानों के बीच तालमेल बनाकर एक नए ज्ञान नेटवर्क का आह्वान किया


नई दिल्ली ।केन्‍द्रीय शिक्षा और कौशल विकास मंत्री श्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने आज "डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन एण्‍ड इंटरनेशनलाइजेशन ऑफ हायर एजुकेशन" विषय पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में भाग लिया और उसे संबोधित किया। इसका आयोजन दिल्ली में टीसीएस के सहयोग से डीकिन यूनीवर्सिटी ने किया।

1.jfif 

श्री प्रधान "डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन एंड इंटरनेशनलाइजेशन ऑफ हायर एजुकेशन" विषय पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में डीकिन यूनीवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. इयान मार्टिन, ओपी जिंदल विश्वविद्यालय के श्री सुब्रमण्यम रामादुरई, संस्‍थापक कुलपति प्रो. सी राजकुमार,  श्री मैथ्यू जॉनसन और भारत और ऑस्ट्रेलिया के अन्य विचारशील नेताओं के साथ शामिल हुए।

श्री प्रधान ने कहा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया साझा मूल्यों के आधार पर लंबे सम्‍बन्‍धों को साझा करते हैं। शिक्षा और कौशल क्षेत्रों में हमारी साझेदारी मजबूत होती जा रही है। भारत औद्योगिक क्रांति 4.0 का नेतृत्व करने की इच्छा रखता है। इस यात्रा में भारत-ऑस्ट्रेलिया साझेदारी एक प्रमुख भूमिका निभा सकती है।

श्री प्रधान ने कहा कि ज्ञान किसी भी सभ्यता का एक महत्वपूर्ण स्तंभ है। भारतीय सभ्यता हमेशा से ज्ञान आधारित और ज्ञान पर चलने वाली रही है। इसे आगे बढ़ाते हुएभारत एनईपी 2020 को लागू कर रहा है। आज की चुनौती 15 से 25 आयु वर्ग की विशाल आबादी को शिक्षित और कुशल बनाना है।

उन्होंने यह भी कहा कि भारत में एक नया "डिजिटल लाइफस्टाइल" आकार ले रहा है। 2023 के अंत तक डिजिटल भुगतान में स्वदेशी 5जी से विश्‍व नेतृत्‍व तक, आगामी डिजिटल विश्वविद्यालय और हाई-स्पीड इंटरनेट के साथ सभी गांवों की नेटवर्किंग, भारत का डिजिटलीकरण नए अवसर पैदा कर रहा है।

श्री प्रधान ने नए ज्ञान नेटवर्क का भी आह्वान किया जिसमें अंतर्राष्ट्रीय संस्थान भारत में कैंपस स्थापित कर रहे हैं और भारतीय संस्थान भी वैश्विक हो रहे हैं। बाद में, उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा विवेक के साथ समाज को समृद्ध किया है। हमेशा विकसित दुनिया में, भारतीय ज्ञान नेटवर्क मानवता के लाभ के लिए होगा।

06:37

वित्तीय सेवाओं में स्वरोजगार में महिलाओं की संख्या पुरुषों से अधिक है

नई दिल्ली केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री श्री भूपेंद्र यादव ने अखिल भारतीय त्रैमासिक स्थापना आधारित रोजगार सर्वेक्षण (एक्यूईईएस) के तहत तिमाही रोजगार सर्वेक्षण (क्यूईएस) के चौथे दौर (जनवरी-मार्च 2022) की रिपोर्ट जारी की।

नौ चुने हुए सेक्टर के तहत संगठित और असंगठित दोनों क्षेत्रों में रोजगार एवं प्रतिष्ठानों से संबंधित बदलाव के बारे में त्रैमासिक अनुमान प्रदान करने के लिए श्रम ब्यूरो यह सर्वेक्षण (एक्यूईईएस) करता है। इन्हीं नौ क्षेत्रों में गैर-कृषि प्रतिष्ठान सबसे ज्यादा रोजगार देते हैं। ये नौ चयनित क्षेत्र विनिर्माण, निर्माण, कारोबार, परिवहन, शिक्षा, स्वास्थ्य, आवास और रेस्तरां, आईटी/बीपीओ और वित्तीय सेवाएं हैं।

अखिल भारतीय त्रैमासिक स्थापना आधारित रोजगार सर्वेक्षण (एक्यूईईएस) के दो हिस्से हैं- पहला, त्रैमासिक रोजगार सर्वेक्षण (क्यूईएस) और दूसरा, एरिया फ्रेम प्रतिष्ठान सर्वेक्षण (एएफईएस)। पहला 10 या उससे अधिक श्रमिकों को रोजगार देने वाले प्रतिष्ठानों से संबंधित है, जबकि दूसरा 9 या उससे कम श्रमिकों को रोजगार देने वाले प्रतिष्ठानों को लेकर है।

अर्थव्यवस्था के संगठित क्षेत्र में रोजगार और उससे संबंधित परिवर्तन को लेकर महत्वपूर्ण जानकारी जुटाने के लिए अप्रैल 2021 में एक्यूईईएस के एक हिस्से के रूप में क्यूईएस शुरू किया गया था। हर तिमाही में करीब 12,000 प्रतिष्ठानों से जानकारी इकट्ठा की जा रही है। अप्रैल-जून 2021 की अवधि के लिए ऐसी पहली रिपोर्ट सितंबर 2021 में जारी की गई थी।

चौथी तिमाही की रिपोर्ट जारी करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था के चुने हुए क्षेत्रों में रोजगार में बढ़ोतरी के रुझान दिख रहे हैं। अनुमानित रोजगार तीसरी तिमाही (सितंबर-दिसंबर 2022) के 3.14 करोड़ से बढ़कर चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च 2022) में 3.18 करोड़ हो गए हैं। यहां इस बात का जिक्र करना महत्वपूर्ण है कि छठी आर्थिक गणना (2013-14) में सामूहिक रूप से लिए गए इन 9 चुने हुए क्षेत्रों में कुल रोजगार 2.37 करोड़ दर्ज किया गया था।

यह त्रैमासिक रोजगार सर्वेक्षण की रिपोर्ट आपूर्ति के साथ-साथ मांग पक्ष को लेकर भी सर्वेक्षण है, यानी आवधिक श्रम बल सर्वेक्षण (पीएलएफएस) देश में रोजगार पर डेटा संबंधी अंतर को भरेगा।


06:32

पंचकूला के इंद्रधनुष सभागार में आजादी के अमृत महोत्सव पर दूरदर्शन द्वारा आयोजित ‘स्वराज’ धारावाहिक की विशेष स्क्रीनिंग पर पहुंचे थे मुख्यमंत्री


हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेश की सभी संस्थाओं, स्कूलों, कॉलेजों व समाज के अन्य वर्गों को आजादी के अमृतकाल में आजादी के किस्सों से जुड़े अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित करने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि आजादी से जुड़े किस्से, कहानियां, चर्चा और इससे जुड़ी बातें होती रहनी चाहिए, ताकि हम आने वाली युवा पीढ़ी को बता सकें कि देश को आजादी कैसे मिली। मुख्यमंत्री मंगलवार को पंचकूला के इंद्रधनुष सभागार में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत दूरदर्शन द्वारा आयोजित ‘स्वराज’ धारावाहिक की विशेष स्क्रीनिंग के अवसर पर बोल रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि आजादी के इतिहास में क्या छिपा है और क्या हमें ज्ञात है व क्या अभी भी अज्ञात है, इसे आम लोगों तक पहुंचाने के लिए दूरदर्शन द्वारा किया गया यह प्रयत्न सराहनीय है। उन्होंने कहा कि ऐसा माना जाता है कि हमारी आजादी की लड़ाई 1857 में शुरू हुई लेकिन इससे पूर्व भी अनेक ऐसे क्रांतिकारी और शहीद हुए, जिन्होंने इस देश की आजादी के लिए बहुत प्रयत्न किए। उन्होंने पहले मुगलों से संघर्ष किया फिर अंग्रेजों से लोहा लिया, इस संघर्ष में बहुत सी महान विभूतियों ने अपने प्राण न्योछावर कर दिए, जो इतिहास में दर्ज नहीं हो पाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के इस अमृत महोत्सव में यह प्रयास किया गया है कि वीर शहीदों के बारे में उपलब्ध जानकारियां को दूरदर्शन ने इक_ा करने का बीड़ा उठाया और स्वराज नाम से धारावाहिक की श्रृंखला को बनाया। दूरदर्शन ने स्वराज के 75 एपिसोड बनाए, जिनमें से आज पहले और तीसरे एपिसोड की विशेष स्क्रीनिंग हुई।  

नई पीढ़ी को बताना होगा स्वराज का अर्थ

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि स्वराज शब्द के कई मायने लिए गए। ऐसा माना जाता है कि शासन हमारा है तो हम स्वतंत्र हैं लेकिन स्वराज की गाथा हमारे देश के इतिहास से, हमारे देश की संस्कृति से, भाषा से, हमारे धर्म से शुरू होती है। यह बातें हमें नई पीढ़ी को बतानी पड़ेगी। यह समय की आवश्यकता है कि हम आजादी के 100 साल बाद तक भी युवा पीढ़ी को स्वराज का सही अर्थ बताए।  

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का जताया आभार

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का आभार है, जो उन्होंने वर्ष 2020 में आजादी के अमृत महोत्सव की योजना बनाई। अमृतकाल में 2 वर्ष तक कार्यक्रम बनाने की बात कही गई है। इसी के अंतर्गत यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने दूरदर्शन की टीम को यह धारावाहिक श्रृंखला बनाने पर हार्दिक बधाई दी।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव एवं महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल ने मुख्यमंत्री का इस कार्यक्रम में पहुंचने पर आभार जताया। डॉ. अग्रवाल ने कहा कि पूरा देश आजादी के अमृत महोत्सव को मना रहा है। हरियाणा का सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग इस अमृत काल में लगातार प्रदेशभर में कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है। दूरदर्शन ने भी अमृत महोत्सव के अंतर्गत 75 एपिसोड की धारावाहिक श्रृंखला बनाई है। उन्होंने दूरदर्शन की टीम को भी बधाई दी।

इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता, गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज, शिक्षा मंत्री श्री कंवरपाल, परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा, शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा, सोनीपत के सांसद श्री रमेश कौशक, राज्यसभा सांसद श्री कृष्ण लाल पंवार, विधायक मोहन बड़ौली व अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

 

 

00:48

सीटू के बैनर तले मैसर्स- पाल सेल्स प्रा. लि. कम्पनी पर श्रमिकों का धरना जारी- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे

नोएडा, श्रम कानूनों के तहत मिलने वाली विधिक सुविधाओं की मांग करने पर मैसर्स- पाल सेल्स प्राइवेट लिमिटेड ए-94/3 सेक्टर- 58, नोएडा के प्रबंधकों द्वारा गैरकानूनी तरीके से नौकरी से निकाले जाने के खिलाफ 27 सितंबर 2022 को दुसरे दिन भी श्रमिकों ने सीटू के बैनर तले कंपनी के समक्ष धरना जारी रखा।  
धरनारत श्रमिकों को सीटू गौतमबुद्धनगर जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने संबोधित किया। साथ ही उन्होंने बताया कि जब तक गैरकानूनी तरीके से निकाले गए श्रमिकों को क्षतिपूर्ति सहित कार्य पर नहीं लिया जाएगा तब तक श्रमिकों का शांतिपूर्ण तरीके से कम्पनी के गेट पर धरना जारी रहेगा।
वहीं उप श्रम आयुक्त गौतम बुध नगर ने समस्या का समाधान हेतु पक्षों को 28 सितंबर 2022 को प्रातः 11:00 बजे श्रम कार्यालय सेक्टर- 3, नोएडा पर वार्ता के लिए बुलाया हैं।

Monday, 26 September 2022

06:53

डिजिटल प्लेटफॉर्म के विकास और सभी के लिए डिजिटल सेवाओं तक पहुंच सुनिश्चित होने पर ही किया जा सकता है - श्री देवुसिंह चौहान


संचार राज्य मंत्री, श्री देवुसिंह चौहान ने कहा है कि बेहतर डिजिटल भविष्य का निर्माण व्यापक डिजिटल बुनियादी ढांचे की उपलब्‍धता, प्रत्येक नागरिक को सरकारी सेवाओं की आपूर्ति के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म विकसित करने और सभी के लिए डिजिटल सेवाओं तक पहुंच सुनिश्चित होने पर ही किया जा सकता है। वे आज रोमानिया के बुखारेस्ट में मंत्रिस्तरीय गोलमेज सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे, जो अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) के पूर्ण सम्मेलन 2022 का हिस्सा है। इस सम्मेलन का विषय "बेहतर डिजिटल भविष्य का निर्माण" है।

DayI (19).jpg

इस अवसर पर श्री देवुसिंह चौहान ने बेहतर और समावेशी डिजिटल भविष्य की सुविधा के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार के एकीकृत दृष्टिकोण पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि हमने सभी आवश्‍यक चेक बॉक्स की पहचान कर ली है। दूरसंचार बुनियादी ढांचे के निर्माण में सरकार की प्रतिबद्धता के उदाहरणों का संदर्भ देते हुए उन्‍होंने संकेत दिया कि भारत सरकार ने 2023 तक देश के सभी 6,40,000 गांवों तक मोबाइल सेवाओं और 2025 तक ऑप्टिकल फाइबर का विस्तार करने की योजना बनाई है। उन्होंने यह उल्लेख भी किया कि हाल ही में सफल 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी हुई है, जिसमें 1.5 लाख करोड़ का निवेश आकर्षित हुआ, जिससे उद्योग में बहुत उत्साहजनक प्रतिक्रिया का संकेत मिला है। यह नागरिक केंद्रित और उद्योग के अनुकूल सार्वजनिक नीतियों का परिणाम है तथा यह भारत के भविष्य के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण का सूचक भी है।

DayI (10).jpg

श्री चौहान ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू की गई डिजिटल इंडिया पहल की सफलता पर प्रकाश डाला। उन्होंने आधार और आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) की सफलता का जिक्र किया। उनहोंने प्रतिष्ठित सदन को यह भी बताया गया कि एईपीएस से प्रतिदिन 40 करोड़ लेनदेन हो रहे हैं, जो डिजिटल बुनियादी ढांचे के विकास के माध्यम से प्रभावित वित्तीय समावेश का एक बेहतरीन उदाहरण है। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि असंबद्ध लोगों तक पहुंचने के लिए, भारत ने दूरस्थ और ग्रामीण क्षेत्रों में 5,70,000 सामान्य सेवा केंद्र स्थापित किए हैं, जो विभिन्न सरकार-से-नागरिकों (जी2सी) और अन्य नागरिक-केंद्रित ई-सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भारत दुनिया के साथ अपनी सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने के लिए तैयार है। श्री देवुसिंह चौहान ने आईटीयू परिषद में भारत का पुन: चयन और श्रीमती एम. रेवती का रेडियो विनियमन बोर्ड के सदस्य के रूप में चुनाव के लिए सदस्य देशों का समर्थन मांगा।

06:49

संयुक्त समुद्री बल अभ्यास में भारतीय नौसेना पहली बार भाग लेगी


आईएनएस सुनयना 24 सितंबर, 22 को वार्षिक प्रशिक्षण अभ्यास, ‘ऑपरेशन सदर्न रेडीनेस ऑफ कंबाइंड मैरीटाइम फोर्सेज’ (सीएमएफ) में भाग लेने के लिए पोर्ट विक्टोरिया सेशेल्स पहुँची। यह न केवल हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा के लिए भारतीय नौसेना की प्रतिबद्धता को सुदृढ़ करता है, बल्कि सीएमएफ अभ्यास में भारतीय नौसेना के जहाज की पहली भागीदारी को भी दर्शाता है।

जहाज, सीएमएफ द्वारा आयोजित क्षमता निर्माण अभ्यास में सहयोगी भागीदार के रूप में भाग लेगा। संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास में संयुक्त राज्य अमेरिका, इटली, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा तथा न्यूजीलैंड के प्रतिनिधिमंडल और यूके, स्पेन तथा भारत के जहाज भाग लेंगे।

जहाज के पोर्ट कॉल के दौरान, भाग लेने वाले देशों के साथ पेशेवर स्तर पर बातचीत की योजना तैयार की गई है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/Pics(1)QFW5.jpeg

06:46

ईएनएस तरकश पोर्ट जेंटिल, गैबॉन में भारतीय नौसेना के युद्धपोत का पहला दौरा


नई दिल्ली आईएनएस तरकश ने समुद्री डकैती रोधी गश्त के लिए गिनी की खाड़ी में उसकी इन दिनों चल रही तैनाती के अंतर्गत पोर्ट जेंटिल, गैबॉन में एक पोर्ट कॉल किया। यह किसी भारतीय नौसेना जहाज की गैबॉन की पहली यात्रा है।

इस बंदरगाह में अपने प्रवास के दौरान, जहाज और उसके चालक दल आधिकारिक और पेशेवर बातचीत के साथ-साथ खेल संबंधी आयोजनों में भाग लेंगे।

उनकी पेशेवर बातचीत में अग्निशमन और क्षति नियंत्रण, चिकित्सा और हताहतों की निकासी के मुद्दों और गोताखोरी संबंधी ऑपरेशन्स पर चर्चा और अभ्यास शामिल होंगे। स्थितियों के परिचय के उद्देश्य से करवाए गए दौरे भी होंगे। इसके अतिरिक्त योग सत्र और सामाजिक बातचीत की भी योजना बनाई गई है।

यह जहाज आगंतुकों के लिए भी खुला रहेगा।


04:39

सीटू के बैनर तले मैसर्स- पाल सेल्स प्रा. लि. कम्पनी पर श्रमिकों ने शुरू किया धरना- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडेय

नोएडा, श्रम कानूनों के तहत मिलने वाली विधिक सुविधाओं की मांग करने पर मैसर्स- पाल सेल्स प्राइवेट लिमिटेड ए-94/3 सेक्टर- 58, नोएडा के प्रबंधकों द्वारा गैरकानूनी तरीके से नौकरी से निकाले जाने के खिलाफ 26 सितंबर 2022 को प्रातः 9:00 बजे से श्रमिकों ने सीटू के बैनर तले कंपनी के समक्ष धरना शुरू कर दिया तथा श्रम कार्यालय पर भी विरोध प्रदर्शन किया श्रमिकों की शिकायत पर उप श्रम आयुक्त के निर्देश के तहत श्रम प्रवर्तन अधिकारी श्री हंसराज सिंह, राजकुमार सिंह, घनश्याम निषाद जी ने संस्थान स्तर पर जाकर श्रमिकों की समस्याओं का समाधान करवाने का प्रयास किया। लेकिन प्रबंधकों के हठधर्मिता पूर्ण रूप के चलते वार्ता विफल रही। श्रम समस्याओं के समाधान हेतु उप श्रमायुक्त ने 28 सितंबर 2022 को पुनः पक्षों को वार्ता के लिए बुलाया है।
धरनारत श्रमिकों को सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा, महासचिव रामसागर ने संबोधित किया। साथ ही उन्होंने बताया कि जब तक गैरकानूनी तरीके से निकाले गए श्रमिकों को क्षतिपूर्ति सहित कार्य पर नहीं लिया जाएगा तब तक श्रमिकों का शांतिपूर्ण तरीके से कम्पनी के गेट पर धरना जारी रहेगा।

Sunday, 25 September 2022

09:18

दीदी की रसोई ट्रस्ट ने सैकड़ों जरूरतमंदों को बाटा निशुल्क भोजन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडेय
 नोएडा, बच्चों व जरूरतमंद लोगों की सेवा में रात दिन लगी दीदी की रसोई ट्रस्ट ने 25 सितंबर 2022 को ट्रस्ट की अध्यक्ष रितु सिन्हा व कोषाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा, टीम सदस्य अमित सिंह आदि के नेतृत्व में तिगड़ी हैबतपुर ग्रेटर नोएडा वेस्ट पर सैकड़ों गरीब बच्चों व जरूरतमंद लोगों को निशुल्क भोजन का वितरण किया।
इस अवसर पर दीदी की रसोई ट्रस्ट की अध्यक्ष व समाजसेवीका रितु सिन्हा, ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष व सामाजिक कार्यकर्ता गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि हमारी संस्था लगातार गरीब जरूरतमंद लोगों की सेवा में लगी रहती है और संस्था की ओर से अलग-अलग स्थानों पर प्रतिदिन गरीब जरूरतमंद लोगों, बच्चों को भोजन का वितरण किया जाता है और हमारा यह प्रयास आगे भी निरंतर जारी रहेगा।
दीदी की रसोई ट्रस्ट के कार्यों की स्थानीय लोगों ने काफी सराहना किया और टीम सदस्यों का धन्यवाद व्यक्त किया।

Saturday, 24 September 2022

05:07

बढ़ती महंगाई बेरोजगारी व सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ माकपा कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन- गंगेश्वर दत्त शर्मा


नोएडा, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी को रोकने के लिए तुरंत ठोस कदम उठाए जाएं तथा शहरी रोजगार योजना शुरू की जाए। खाने पीने के सामान पर जीएसटी तुरंत वापस ली जाए! पेट्रोलियम उत्पादों पर सभी उपकर वापस लिए जाएं! सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों एवं संस्थानों को बेचना बंद किया जाए! हर परिवार को राशन कार्ड मुहैया कराया जाए, सभी आवश्यक वस्तुओं विशेषकर दाल और खाद्य तेल को सार्वजनिक वितरण प्रणाली में शामिल किया जाए! मेहनतकशों के बच्चों की पहुंच से शिक्षा को दूर करने वाली राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) को रद्द किया जाए! जनवादी अधिकारों और संवैधानिक संस्थानों पर हमले बंद किए जाएं राजद्रोह का कानून रद्द किया जाए! गांव व मजदूर बस्तियों/ कालोनियों में सभी मूलभूत नागरिक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। मजदूरों के लिए न्यूनतम वेतन ₹26000 घोषित किया जाए आदि मांगों/ समस्याओं को लेकर पिछले 1 सप्ताह से अभियान चलाने के बाद भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी के कार्यकर्ताओं ने पार्टी कार्यालय सेक्टर- 8, नोएडा से श्रम कार्यालय सेक्टर- 3, नोएडा तक जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन किया और पाल सेल्स प्राइवेट लिमिटेड ए- 94/3, सेक्टर- 58, नोएडा के प्रबंधकों द्वारा गैरकानूनी तरीके से नौकरी से निकाले गए श्रमिकों को छतिपूर्ति सहित कार्य पर भिजवाने के लिए उप श्रम आयुक्त को ज्ञापन दिया प्रदर्शन को माकपा जिला प्रभारी गंगेश्वर दत्त शर्मा, सीटू जिला महासचिव रामसागर, सचिव राम स्वारथ, जनवादी महिला समिति की नेता रेखा चौहान, सीटू नेता लता सिंह, गुड़िया देवी, सरस्वती सुधा, राजकरण सिंह, सुनील पंडित, हुकम सिंह आदि ने संबोधित करते हुए केंद्र प्रदेश सरकार की जनविरोधी मजदूर विरोधी नीतियों की कड़ी निंदा किया इसके बाद माकपा, सीटू, जनवादी महिला समिति के कार्यकर्ताओं ने जंतर-मंतर पर पहुंचकर प्रदर्शन किया जिसे सीपीआईएम की राष्ट्रीय नेता पूर्व सांसद कॉमरेड वृंदा करात, सीपीआईएम दिल्ली एनसीआर राज्य सचिव कॉमरेड के.एम. तिवारी, सचिव मंडल सदस्य आशा शर्मा, मैमूना, पुष्पेंद्र ग्रेवाल, साहिबा फारुकी आदि ने संबोधित किया।

Friday, 23 September 2022

20:26

नर्सिंग स्टाफ को वापस नौकरी पर रखने की मांग को लेकर चाइल्ड पीजीआई में हंगामा निदेशक के कक्ष का घेराव मरीज परेशान


नोएडा : सेक्टर-30 स्थित चाइल्ड पीजीआई में एक संविदा पर रखे गये एक स्टाफ नर्स की सेवा समाप्त करने के विरोध में नर्सिंग स्टाफ ने जम कर हंगामा किया और काम बंद कर निदेशक के कक्ष का घेराव कर नारेबाजी कर रहे है. जिसके कारण इलाज करवाने के लिए आने वाले मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

सेक्टर-30 में स्थित चाइल्ड पीजीआई में निदेशक के कक्ष का घेराव कर नारेबाजी कर रहे है. ये स्वास्थ्यकर्मी चाइल्ड पीजीआई के नर्सिंग स्टाफ है. ये लोग संविदा पर काम कर कर रहे स्टाफ नर्स सुरेंद्र बोरा को नौकरी से निकालने का विरोध कर रहे है। इनका कहना है की पत्नी के बीमार होने पर सुरेंद्र 4 दिन की छुट्टी लेकर घर गए थे। इसकी जानकारी सुरेंद्र ने वार्ड नर्सिंग इंचार्ज और चीफ नर्सिंग ऑफिसर को मेल कर के दिया था। और वे 16 सितंबर को सुबह की ड्यूटी करके अपने घर राजस्थान गए थे। इसके बाद 21 सितंबर को सुरेंद्र ने आकर नाइट ड्यूटी की। 22 सितंबर को सुबह उन्हें निष्कासित करने का नोटिस जारी कर दिया गया। सुरेंद्र ने बताया कि संस्थान के निदेशक ने उन्हें बुलाकर डांट लगाई। उनकी कोई बात नहीं सुनी। बिना जांच कमेटी के निष्कासित करने का निर्देश जारी कर दिया। 

बिना जांच कमेटी के सुरेंद्र बोरा को नौकरी से निकालने से चाइल्ड पीजीआई के स्टाफ में भारी गुस्सा देखने को मिल रहा है. उनका कहना है कि सेक्टर-30 चाइल्ड पीजीआई में सुरेंद्र बोरा स्टाफ नर्स के रुप में पिछले 4 साल से काम कर रहे हैं। उन्होंने कोविड के दौरान सेक्टर-39 में बने कोविड अस्पताल में काम किया है। चाइल्ड पीजीआई में भी लगातार मरीजों की सेवा की है। पत्नी की हालत ज्यादा बिगड़ गई थी, इसलिए छुट्टी लेकर मजबूरी में घर जाना पड़ा। इसका नतीजा यह हुआ कि उनको नौकरी से निकाल दिया गया।

नर्सिंग यूनियन और एसएसपीएच पीजीटीआई कर्मचारी संघ, गौतमबुद्ध नगर की ओर से गुरुवार को एक मीटिंग हुई। मीटिंग में तय हुआ कि स्टाफ नर्स के निकाले जाने के विरोध में अन्य कर्मचारी काला फीता बांधकर काम करेंगे और अपना विरोध दर्ज कराएंगे, इसलिये आज चाइल्ड पीजीआई के नर्सिंग स्टाफ ने निदेशक के कक्ष का घेराव कर नारेबाजी कर रहे है लेकिन विरोध प्रदर्शन के कारण इलाज करवाने के लिए आने वाले मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
07:31

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने पिछले दशक में 34.3 मिलियन डॉलर के निवेश के साथ अनुसंधान विकास और प्रौद्योगिकी की तैनाती को समर्थन दिया है


विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी एवं विद्युत, नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के उच्च स्तरीय संयुक्त मंत्रिस्तरीय शिष्टमंडल का नेतृत्व कर रहे विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह ने आज कहा कि सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के लिए शहरों और भवनों को डिकार्बोनाइज करने के काम को सर्वोच्च प्राथमिकता देनी चाहिए और व्यवस्थित दक्षता लाने के लिए इसे बड़े पैमाने पर, गति और एकीकृत तथा डिजिटलीकृत दृष्टिकोण का उपयोग करते हुए किए जाने की आवश्यकता है।

sct-j1.jpeg

अमरीका के पीट्सबर्ग में ग्लोबल क्लिन एनर्जी एक्सनफोरम-2022 में “नेट जीरो बिल्ट एनवायरनमेंट विथ कनेक्टेड कम्युनिटीज” विषय पर गोलमेज सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हम अपने शहरों और इमारतों को बदले बिना जलवायु परिवर्तन की समस्या का समाधान नहीं कर सकते हैं और इसके लिए सार्वजनिक और निजी क्षेत्र को व्यापक स्तर पर प्रयास करने की आवश्यकता है और यह आज की  प्रौद्योगिकियों के साथ ही सम्भव है।

डॉ. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि कूलिंग को तेजी से विकास की आवश्यकता के रूप में माना जा रहा है जो अनेक सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने से जुड़ा है। उन्होंने कहा वैश्विक स्तर पर नेट जीरो कनेक्टेड कम्युनिटीज के लक्ष्य को हासिल करने में प्रदर्शन और तैनाती, निवेश, टेक्नोलॉजी महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं।

डॉ. जितेन्द्र सिंह ने बताया कि मजबूत अनुसंधान विकास तथा नवाचार इको-सिस्टम के विकास में अन्य बातों के साथ-साथ क्षेत्र में वैज्ञानिक मानव शक्ति का और अधिक विकास, अपेक्षित शैक्षिक और अनुसंधान तथा विकास की संस्थागत क्षमताओं, कुलिंग के विभिन्न पहलुओं पर अनुसंधान और विकास गतिविधियों के लिए मदद शामिल हैं जिसमें रेफरिजरेंट, कूलिंग उपकरण, ठोस भवन डिजाइन कार्यक्रम, वैकल्पिक टेक्नोलॉजी तथा नई उभरती टेक्नोलॉजी अपनाने के लिए उद्योग की तैयारी शामिल हैं।

07:29

जटिल सामाजिक मुद्दों की उनकी गहरी समझ पर प्रकाश डालती है: श्री अनुराग ठाकुर


पूर्व उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु ने आज केरल के राज्यपाल श्री आरिफ मोहम्मद खान और केन्‍द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अनुराग ठाकुर के साथ प्रधानमंत्री के चुनिंदा भाषणों के संग्रह 'सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास' पुस्तक का विमोचन किया। प्रकाशन विभाग निदेशालय ने इस समारोह का आयोजन किया। पुस्तक विभिन्न विषयों पर मई 2019 से मई 2020 तक प्रधानमंत्री के 86 भाषणों का संकलन है।

 

इस अवसर पर पूर्व उपराष्ट्रपति ने कहा कि यह पुस्तक राष्ट्र के समक्ष मौजूद चुनौतियों को समझने और उनसे निपटने के लिए किए जा रहे ठोस प्रयासों की समझ को व्यापक बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देती है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार पूर्णत: तत्‍व ज्ञान के तहत काम कर रही है 'सर्वे जन सुखिनो भवन्तु'। उन्होंने कहा कि अच्‍छी योजनाएं पहले भी शुरू की गई हैं, लेकिन केवल वर्तमान प्रधानमंत्री, नेतृत्व करते हुए यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि सभी कार्यक्रम निर्धारित समय सीमा और लक्ष्यों का पालन करें। वे स्‍वयं कमान संभालते हैं और निरंतर निगरानी एवं संभावित वितरण सुनिश्चित करते हैं, श्री नायडु ने कहा कि अपने असाधारण संवाद कौशल के कारण प्रधानमंत्री मोदी देश के सभी लोगों से समान रूप से जुड़ सकते हैं ।

07:26

तमिलनाडु में सामुदायिक बीज बैंक पहल ने चावल की पारम्‍परिक किस्मों का पता लगाया और उसे पुन: प्रचलन में लाए

रामजी पांडे

तमिलनाडु में लगभग 10 सामुदायिक बीज बैंकों के माध्यम से चावल की लगभग 20 पारम्‍परिक किस्मों का पता लगाकर, उन्‍हें एकत्र किया जा रहा है, बचाया जा रहा है और पुन: प्रचलन में लाया जा रहा है, जिससे राज्य में 500 से अधिक किसान लाभान्वित हो रहे हैं।

तमिलनाडु के अधिकांश छोटे और मध्यम किसान संकरों (हाइब्रिड) की मोनोक्रॉपिंग के कारण किसी समय उनके समुदाय के पूर्वजों के स्वामित्व वाले पारम्‍परिक बीजों को खो चुके हैं। इन किस्मों की पहचान उनके अद्वितीय पोषण, औषधीय और पारिस्थितिक गुणों तथा सबसे बढ़कर, जलवायु के प्रति उनके लचीलेपन के लिए की गई थी। धान की किस्मों के पारम्‍परिक आनुवंशिक क्षरण और स्वदेशी जीन पूल, देशी मौजूदा किस्मों के चिकित्सीय/उपचारात्मक गुणों के बारे में जानकारी के नुकसान, उनके बीज भंडार तक पहुंच की कमी, तमिलनाडु में कृषि और मानव स्वास्थ्य के भरण-पोषण तथा भविष्य के लिए एक चुनौती है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001TM72.jpg

इन सामुदायिक बीज बैंकों को 24 जिलों - अरियालुर, चेंगलपट्टू, कोयम्‍बटूर, धर्मपुरी, डिंडीगल, इरोड, कांचीपुरम, करूर, मदुरै, मयीलादुरई, नागपट्टिनम, पुदुकोट्टई, रामनाथपुरम रानीपेट्टई, सेलम, शिवगंगई, तेनकासी, तंजावुर, थूथुकुडी, तिरुवन्नामलाई, थिरुवरुर, तिरुचिरापल्ली, विल्लुपुरम और विरुदुनगर में स्थानीय गैर सरकारी संगठनों की सहायता से स्थान के आधार पर इच्छुक किसानों द्वारा इनकी पहचान करके बढ़ावा दिया गया है।

एक प्रमुख किसान अपने खेत में एक से लेकर अनेक पारंपरिक किस्मों की खेती करता है, जिसका एक हिस्सा कटाई के बाद पड़ोसी इलाकों और जिलों में अन्य इच्छुक किसानों को भुगतान के साथ या उसके बिना वितरित किया जाता है। यह स्‍वैच्छिक भागीदारी के साथ एक औपचारिक ढांचा है। बीज बैंक की 2000 रुपये की पूंजी प्रत्येक लाभार्थी किसान को वितरित की गई ताकि पारम्‍परिक चावल समुदाय बीज बैंकों को मजबूत बनाया जा सके।

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) की विज्ञान और पारम्‍परिक अनुसंधान पहल (एसएचआरआई) कार्यक्रम के समर्थन से सस्त्र डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी की पहल से चावल की पारम्‍परिक किस्मों को पुन: प्रचलन में लाया जा रहा है, संरक्षित किया जा रहा है और उसकी विशेषता बताई जा रही है।

 

07:24

पब्लिक अफेयर्स फोरम ऑफ इंडिया के 9वें एनुअल फोरम 2022 में संबोधन दिया


रामजी पांडे

नई दिल्ली ।केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी और कौशल विकास राज्य मंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि यह कर्मचारी- उद्यमियों का युग है और कॉरपोरेट्स/कंपनियों को अब यह समझना चाहिए कि युवा भारतीय तकनीकी कार्यबल के मस्तिष्क और दृष्टिकोण में संरचनात्मक बदलाव आया है। वह आज यहां पब्लिक अफेयर्स फोरम ऑफ इंडिया (पीएएफआई) के 9वें एनुअल फोरम 2022 को संबोधित कर रहे थे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001YGZI.jpg

मूनलाइटिंग के मुद्दे पर संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वे दिन लद गए जब कर्मचारियों ने बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों के साथ करार किया और नौकरी में ही अपना जीवन बिता दिया। मूनलाइटिंग का मतलब एक समय में एक से ज्यादा नियोक्ताओं के साथ काम करने से है। उन्होंने कहा, “आज के युवाओं में आत्मविश्वास की भावना है और अपने कौशल के मुद्रीकरण, ज्यादा मूल्य तैयार करने की इच्छा है। इस प्रकार अपने कर्मचारियों पर बंदिशें लगाने की कंपनियों की कोशिशें जिससे वह अपने स्टार्टाअप पर काम न कर सकें, उनका असफल होना तय है।”

मूनलाइटिंग से किसी भी संविदात्मक दायित्वों का उल्लंघन नहीं होने की बात पर सहमति जताते हुए उन्होंने कहा, “कोई भी कैप्टिव मॉडल यानी बंदिशें लगाने वाला मॉडल फीका पड़ जाएगा। नियोक्ता अपनी सेवा के दौरान कर्मचारियों से उद्यमशील होने की उम्मीद करते हैं। इसी बात को उनके ऊपर भी लागू किया किया जा सकता है। एक ऐसा समय आएगा जहां उत्पाद निर्माताओं का एक वर्ग होगा जो अपना समय कई परियोजनाओं पर लगाएगा। ऐसी ही वकील या सलाहकार करते हैं। काम का यही भविष्य है।”

2015 में सरकार द्वारा घोषित उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना (पीएलआई) पर एक प्रश्न के उत्तर में, श्री चंद्रशेखर ने कहा कि 2014 में जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पदभार संभाला था, उस समय भारत का विनिर्माण क्षेत्र लगभग निष्क्रिय स्थिति में था।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0025DJV.jpg

श्री चंद्रशेखर ने कहा, “पीएम श्री मोदी ने पिछले 6-7 वर्षों में पीएलआई और अन्य कार्यक्रमों के साथ व्यवस्थित रूप से विनिर्माण क्षेत्र को इतना मजबूत बनाया है कि दुनिया आज वियतनाम और ताइवान के अलावा भारत को भी प्रौद्योगिकी के एक विश्वसनीय स्रोत के रूप में देख रही है। इस सूची में हमारे नजर आने की वजह प्रधानमंत्री की दूरदर्शी नीतियां हैं।”

डिजिटल इंडिया विधेयक के बारे में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह विधेयक ज्यादा व्यवस्थित होगा और इससे प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विशेष बदलाव शामिल होंगे। इस विधेयक को जल्द ही परामर्श के लिए हितधारकों के पास भेजा जाएगा।

 

Thursday, 22 September 2022

04:04

सरल उपयोग और निजता के प्रति सम्मान के सिद्धांत पर आधारित नई पहलें

रामजी पांडे

नई दिल्ली।भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) नई पहलों के समुच्चय पर काम कर रहा है, ताकि नागरिक अपनी इच्छा से उपलब्ध एकाधिक सेवाओं के लिये आधार का इस्तेमाल कर सकें। यह आधार के उपयोग को विस्तार देने और जीवन सुगमता का समर्थन करने की दिशा में उठाया गया कदम है। इस पहल के तहत मौजूदा आधार के तीन घटकों का उपयोग किया जायेगा – ऑफलाइन केवाईसी सत्यापन, लोकल फेस मैचिंग और एम-आधार एपलीकेशन। इनसे उपयोगकर्ताओं को नये अनुभव मिलेंगे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001YLNQ.jpg

इसका प्रदर्शन मुम्बई में वैश्विक फिनटेक फेस्ट 2022 में किया गया, जो फिनटेक उद्योग को आधुनिक विकासों के प्रति जागरूक करने और उनका फीडबैक प्राप्त करने की एक गतिविधि है।

यूआईडीएआई के सीईओ डॉ. सौरभ गर्ग ने बताया कि इन पहलों के दिग्दर्शक सिद्धांतों में – नागरिकों के लिये सरल इस्तेमाल, हर व्यक्ति की निजता का सम्मान, नागरिकों को लेन-देन के लिये अपनी इच्छा से अपनी सूचना साझा करने का अधिकार तथा अपनी इच्छा से उपलब्ध तमाम सेवाओं का उपयोग शामिल है।

सहजता के लिये नागरिकों के अनुभवों पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा तथा इस बात की अनुमति दी जायेगी कि वे यूआईडीएआई से बिना ऑनलाइन जुड़े अपनी केवाईसी सूचना ऑफलाइन साझा कर सकते हैं। इसके लिये वे अपने स्मार्टफोन से एम-आधार एप्लीकेशन के जरिये अपने बारे में प्रमाण दे सकते हैं।

इससे निजता सुनिश्चित होगी, क्योंकि इसके लिये नागरिकों के आधार नंबर को साझा करने की जरूरत नहीं है। इसके अलावा व्यक्ति के बारे में प्रमाण नागरिक के अपने स्मार्टफोन पर लोकल मैचिंग के जरिये स्थापित किया जायेगा। साथ ही, नागरिक खुद सुरक्षित तरीके से केवाईसी के विवरण को सेवा प्रदाता और व्यापार एप्प पर खुद साझा कर सकते हैं तथा उसे नियंत्रित कर सकते हैं।

ऑफलाइन केवाईसी के ऐच्छिक उपयोग में दोहरे सत्यापन से नागरिकों को एकाधिक सेवाओं का लाभ मिलेगा, जो सभी सेक्टरों और उप-सेक्टरों में उपलब्ध हैं। नागरिकों के सामने अपनी इच्छा के अनुरूप तमाम विकल्प मौजूद रहेंगे, जिनका लाभ नागरिक उठा सकेंगे। आधार के जरिये यूआईडीएआई नागरिकों को अधिकार सम्पन्न बनाने का लगातार प्रयास कर रहा है, जिसके तहत पहले से ही नागरिकों को सुशासन तथा जीवन सुगमता मिल रही है।

ये प्रस्तावित विशेषतायें प्रमाण की अवधारणा पर आधारित हैं। इनके बारे में जनता और विशेषज्ञों सहित सभी हितधारकों के साथ गहन विचार-विमर्श किया गया है। इन पहलों को परामर्श तथा आवश्यक नियम-कानून के बाद अंतिम रूप दिया जायेगा। एक बार जब इसे अंतिम रूप दे दिया जायेगा, तो नागरिक सेवायें लेने के लिये अपनी सूचना अपनी इच्छा से साझा करने के लिये स्वतंत्र हो जायेंगे।

भारत में लगभग सभी वयस्कों को आधार मिल चुका है। कुल आबादी का लगभग 94 प्रतिशत इसके दायरे में आ गया है। यूआईडीएआई विभिन्न सत्यापनों के जरिये एक दिन में सात करोड़ से अधिक बार नागरिकों के उपयोग में आता है। नई पहलें लागू हो जाने के बाद इसके ऑफलाइन सत्यापन का इस्तेमाल बढ़ेगा तथा आधार के ऐच्छिक उपयोग के जरिये नागरिकों को अपनी इच्छा से सेवायें लेने की स्वतंत्रता हो जायेगी।

03:59

भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार और ब्रिटेन के उच्चायुक्त ने शी इज़ – विमेन इन स्टीम का विमोचन किया

रामजी पांडे

नई दिल्ली ।भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार प्रो. अजय सूद और ब्रिटेन के उच्चायुक्त श्री एलेक्स एलिस ने 21 सितंबर, 2022 को “शी इज़ – विमेन इन स्टीम” पुस्तक का विमोचन किया। इस पुस्तक को एल्सा मैरी डी’ सिल्वा और सुप्रीत के. सिंह ने लिखा है।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001YZRA.jpg

 

75 विमेन इन स्टीम भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक और ब्रिटेन के उच्चायुक्त के साथ पुस्तक के विमोचन के अवसर परइस पुस्तक में एसटीईएएम (स्टीम) में उनकी यात्रा के विभिन्न पहलुओं को दर्शाया गया है

भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष होने के क्रम में इस पुस्तक में एसटीईएएम (विज्ञान, प्रौद्योगिकी, अभियांत्रिकी, कला और गणित के क्षेत्र) की 75 महिलाओं को सम्मानित किया गया है। पुस्तक में स्टीम के क्षेत्र में सतत विकास, नेतृत्व और स्त्रीत्व का अभिनंदन किया गया है। साहस, आशा और दृढ़ता की निजी कहानियों को पेश करते हुये यह पुस्तक उन महिलाओं की निजी और व्यावसायिक संघर्षों को बयान करती है, जिन्हें आसानी से कुछ नहीं मिला। ये महिलायें, निश्चित रूप से हर उस लड़की के लिये प्रेरणा हैं, जो इन विषयों में आगे बढ़ना चाहती है। 

03:57

प्रधानमंत्री के चयनित भाषणों का संग्रह, सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास का विमोचन


https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/01Y27B.jpg


नई दिल्ली।प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के चयनित भाषणों का संग्रह, "सबका साथसबका विकाससबका विश्वास - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संबोधन (मई 2019 - मई 2020)", का विमोचन सूचना और प्रसारण मंत्रालय के प्रकाशन विभाग द्वारा 23 सितंबर, 2022 को सुबह 11 बजे रंग भवन सभागार, आकाशवाणी भवन, नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में किया जाएगा।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि, केरल के राज्यपाल, श्री आरिफ मोहम्मद खान और विशिष्ट अतिथि, पूर्व उपराष्ट्रपति, श्री वेंकैया नायडू होंगे। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण तथा युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर इस कार्यक्रम के मेजबान की भूमिका में होंगे। इस अवसर पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव श्री अपूर्व चंद्रा तथा मंत्रालय की विभिन्न मीडिया इकाइयों के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के चुनिंदा भाषणों का यह संकलन, 130 करोड़ भारतीयों की आशा और आकांक्षाओं के माध्यम से न्यू इंडिया के निर्माण का सारसंग्रह है।

'जनभागीदारी-सब को साथ लेकर चलना' - इस विजन को प्राप्त करने का मुख्य आधार है, सामूहिक विश्वास और संकल्प के माध्यम से समावेशी विकास।

यह संग्रह विभिन्न विषयों पर मई 2019 से मई 2020 तक प्रधानमंत्री के 86 भाषणों पर केंद्रित है। दस विषयगत क्षेत्रों में विभाजित, ये भाषण प्रधानमंत्री के ‘न्यू इंडिया’ दृष्टिकोण को दर्शाते हैं। अच्छी तरह से विभाजित किये गए खंड हैं - आत्मनिर्भर भारत: अर्थव्यवस्था, जन-प्रथम शासन, कोविड -19 के खिलाफ लड़ाई, उभरता भारत: विदेशी मामले, जय किसान, टेक इंडिया-न्यू इंडिया, हरित भारत-सहनशील भारत-स्वच्छ भारत (ग्रीन इंडिया-रेसिलिएंट इंडिया-क्लीन इंडिया), स्वस्थ भारत-सक्षम भारत (फिट इंडिया- एफिशिएंट इंडिया), सनातन भारत-आधुनिक भारत: सांस्कृतिक विरासत और मन की बात।

पुस्तक प्रधानमंत्री के न्यू इंडिया के दृष्टिकोण को चित्रित करती है, जो आत्मनिर्भर, सहनशील और चुनौतियों को अवसरों में बदलने में सक्षम हो। प्रधानमंत्री अपनी असाधारण वक्तत्व शैली के माध्यम से जनता से जुड़ने के लिए; उत्कृष्ट संवाद क्षमता के साथ नेतृत्व गुण, दूरदर्शी सोच और दूरदर्शिता का संयोजन करते हैं। यही बात इस पुस्तक में उनके शब्दों के माध्यम से परिलक्षित होती है, जैसे, "हमने 'सबका साथ, सबका विकास' के मंत्र से शुरुआत की थी; लेकिन पांच साल के निरंतर समर्पण के साथ, लोगों ने इसमें एक और अद्भुत शब्द जोड़ा है, वह है 'सबका विश्वास'।“

हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी में प्रकाशित यह किताब पूरे देश में प्रकाशन विभाग के बिक्री केन्द्रों और सूचना भवन, सीजीओ कॉम्प्लेक्स, नई दिल्ली की बुक गैलरी में उपलब्ध होगी। पुस्तक को प्रकाशन विभाग की वेबसाइट के साथ-साथ भारतकोश प्लेटफॉर्म के माध्यम से ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है। ई-पुस्तक अमेज़न और गूगल प्ले पर भी उपलब्ध होगी।

03:54

समय के साथ आगे बढ़ने और खुद को फिर से परिभाषित करने की जरूरत है": डॉ. मांडविया

रामजी पांडे

नई दिल्ली ।केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री और आईआरसीएस के अध्यक्ष डॉ. मनसुख मांडविया ने आज कहा, सेवा और सहयोग हमारी विरासत का हिस्सा हैं और वे हमारे संस्कार का एक अभिन्न अंग हैं। ये भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी के आदर्श वाक्य को भी रेखांकित और परिभाषित करते हैं जो जरूरत और आपात स्थिति में मानवता की सेवा और सहायता के प्रति अपने काम के लिए जाना जाता है। वे इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी (आईआरसीएस) के राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के लीडरशिप समिट का उद्घाटन कर रहे थे। इस दो दिवसीय चिंतन शिविर के आयोजन का उद्देश्य आईआरसीएस के कामकाज में सुधार के तरीकों और साधनों पर गहन विचार-विमर्श करना है। बैठक में राज्य रेड क्रॉस के अध्यक्षों, उपाध्यक्षों, सचिवों और आईआरसीएस के अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने भाग लिया।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0029O0C.jpg

आईआरसीएस को उसके सराहनीय कार्य के लिए बधाई देते हुए डॉ. मनसुख मांडविया ने कहा कि रेड क्रॉस लोगों के बीच उम्‍मीद और आशा की किरण के तौर पर पहचाना जाता है। यह भरोसे और सुनिश्चित उपस्थिति का प्रतीक है।" लेकिन उन्होंने आगाह किया कि अगर आईआरसीएस बदलते समय के साथ तालमेल नहीं बिठाता तो इसकी प्रासंगिकता और पहचान खो सकती है। उन्‍होंने कहा, “आईआरसीएस को अपनी ताकत और कमजोरियों पर आत्मनिरीक्षण करने और समय के साथ बदलती भूमिका को अपनाने तथा इसके लिए खुद को फिर से परिभाषित करने की एक कार्य योजना तैयार करने की आवश्यकता है। इसके लिए संरचनात्मक और संगठनात्मक संरचनाओं के बारे में गहरी समझ बनाने, आईआरसीएस क्षेत्रीय केंद्रों के कामकाज में अनुशासन पर ध्यान देने, नियुक्तियों में पारदर्शिता बरतने, बेहतर शिकायत निवारण तंत्र बनाने और अन्य बातों के साथ-साथ जन-केंद्रित गतिविधियों के लिए डिजिटल तकनीक का बेहतर उपयोग करने की आवश्यकता है।”

Wednesday, 21 September 2022

06:12

घरेलू कामगारों का राष्ट्रीय कन्वेंशन बड़े अभियान आंदोलन चलाने की आह्वान के साथ हुआ संपन्न- गंगेश्वर दत्त शर्मा "सीटू" नेता

रामजी पांडे

नई दिल्ली, सीटू द्वारा आयोजित घरेलू कामगारों का राष्ट्रीय कन्वेंशन घरेलू कामगारों को संगठित कर बड़े आंदोलन अभियान चलाने के आह्वान के साथ बीटीआर भवन नई दिल्ली पर संपन्न हुआ। कन्वेंशन की जानकारी देते हुए सीटू दिल्ली एनसीआर राज्य उपाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि दो दिवसीय 20-21 सितंबर 2022 को नई दिल्ली में आयोजित घरेलू कामगारों का राष्ट्रीय कन्वेंशन में दूसरे दिन भी 21 सितंबर 2022 को कन्वेंशन में विभिन्न राज्यों/ जिलों से आयी घरेलू कामगारो की प्रतिनिधियों ने घरेलू कामगारों की समस्याओं / मुद्दों को प्रमुखता के साथ कन्वेंशन में रखा और कन्वेंशन में प्रस्तुत रिपोर्ट व मांगों पर देश भर में घरेलू कामगारों को संगठित कर घरेलू कामगारों के बीच व्यापक अभियान चलाकर मांग पत्र केंद्र व प्रदेश सरकार के समक्ष प्रस्तुत करने और श्रमिक के रूप में मान्यता, न्यूनतम वेतन, सामाजिक सुरक्षा आदि मांगों पर 1 दिसंबर 2022 को पूरे देश में मांग दिवस मनाने का निर्णय लिया गया साथ ही कन्वेंशन में यह भी प्रस्ताव पारित किया गया 1 मई 2023 मजदूर दिवस व 16 जून 2023 को अंतरराष्ट्रीय घरेलू कामगार महिला दिवस पर धरना- प्रदर्शन, आम सभा, रेलिया जैसे बड़े कार्यक्रम आयोजित किए जाने के आह्वान के साथ सी.आई.टी.यू.- जिंदाबाद, घरेलू कामगारों की- एकता जिंदाबाद, घरेलू कामगारों को मातृत्व लाभ, बीमारी व सप्ताहिक अवकाश- देना होगा, घरेलू कामगारों को ईएसआई-पीएफ सहित सामाजिक सुरक्षा देनी होगी, मजदूर विरोधी चारों श्रम संहिताओं को निरस्त करो, न्यूनतम पेंशन ₹3000 घोषित करो, घरेलू कामगारों के लिए अलग कल्याण बोर्ड का गठन करो, घरेलू कामगारों का सर्वेक्षण कर पंजीकरण व पहचान पत्र देना होगा, कामगारों के लिए शिशु ग्रह का प्रबंध करो, शहरी रोजगार गारंटी अधिनियम का गठन करो आदि जोरदार नारों के साथ सम्मेलन का समापन हुआ।
सम्मेलन को जनवादी महिला समिति दिल्ली एनसीआर राज्य कमेटी के नेता आशा शर्मा, सोनिया, सीटू की राष्ट्रीय नेता कामरेड ए आर सिंधु, घरेलू कामगारों की नेता कामरेड गायत्री आदि नेताओं ने संबोधित किया।
कन्वेंशन में नोएडा से गुड़िया देवी, गंगेश्वर दत्त शर्मा, लता सिंह, रेखा चौहान, सरस्वती ने विचार रखें।

06:02

सड़क निर्माण में तेजी व गुणवत्ता पूर्ण कार्य को लेकर राष्ट्रीय परशुराम सेना ने लोक निर्माण विभाग में सौंपा ज्ञापन


प्रतापगढ़ ।शासन द्वारा स्वीकृत लोक निर्माण विभाग द्वारा जेल  रोड से जगनीपुर तक कराए जा रहे चौड़ीकरण कार्य की लागत के मानक अनुरूप गुणवत्ता व समय पर सड़क निर्माण कार्य पूर्ण कराए जाने से संबंधित ज्ञापन आज सामाजिक संगठन राष्ट्रीय परशुराम सेना द्वारा पीडब्ल्यूडी कार्यालय में निर्माण विभाग सहायक अधिशासी अभियंता प्रांतीय खंड संदीप तिवारी को सौंपा । संगठन द्वारा सात सूत्रीय मांगों क्रमशः मानक अनुरूप कार्य मोड़ को चौड़ा किए जाने विद्युत पोल हटवाने पुलिया का चौड़ीकरण कराने गिट्टी डामर आदि का मानक अनुसार मिश्रण किए जाने  से संबंधित ज्ञापन देकर सभी बिंदुओं पर नियमानुसार कार्यवाही की मांग की गई । जिलाध्यक्ष अनिल स्वतंत्र ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार जनता की सेवा सुविधा व सुरक्षा के लिए कार्य कर रही है लोगो के लिए आवागमन आसान हो इसके लिए प्रदेश के सड़को को गढ्ढा मुक्त कर नवीनीकरण चौड़ीकरण का कार्य हो रहा है । गुणवत्ता पूर्ण कार्य के लिए सभी विभागों को निर्देशित भी किया गया है । उक्त मार्ग पर लोग प्रतापगढ़ से होकर जौनपुर को जाते हैं इस पर आवागमन अधिक रहता है भारी वाहनों का आना जाना लगा रहता है  सड़क निर्माण में अनियमितता होने से लोगो में आक्रोश बढ़ सकता है । ज्ञापन देते समय राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप शुक्ला एडवोकेट राजन मिश्रा एडवोकेट महेंद्र मिश्र एडवोकेट मनीस तिवारी ओम तिवारी विनय मिश्रा सूरज पांडेय राकेश दुबे अंकुर शुक्ला सहित अन्य लोग उपस्थित रहे ।

Tuesday, 20 September 2022

06:14

सीटू ने घरेलू कामगारों के मुद्दों पर दिल्ली में राष्ट्रीय कन्वेंशन का किया आयोजन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडेय

नई दिल्ली, घरेलू कामगारों को मजदूर के रुप में मान्यता और कामकाजी परिस्थितियों में सुधार के लिए व्यापक कानून, न्यूनतम मजदूरी कम से कम ₹75 प्रति घंटे 8 (घंटे कार्य दिवस के लिए ₹600 ), सप्ताहिक अवकाश, 6 महीने का मातृत्व लाभ, सवेतनिक अवकाश,₹3000 मासिक पेंशन, भारत सरकार द्वारा आईएलओ कन्वेंशन 189 का तत्काल अनुमोदन, मजदूर विरोधी चारों श्रम संहिताओं को तुरंत निरस्त करने, सभी जाति और अन्य भेदभाव पूर्ण प्रथा की समाप्ति, शहरी रोजगार गारंटी अधिनियम तुरंत बनाया जाए आदि मांगों एवं घरेलू कामगारों के ज्वलंत मुद्दों/समस्याओं पर 20 सितंबर 2022 को सीटू मुख्यालय बीटीआर भवन नई दिल्ली पर घरेलू कामगारों का दो दिवसीय अखिल भारतीय कन्वेंशन का आयोजन किया गया कन्वेंशन में स्वागत भाषण सीटू की राष्ट्रीय सचिव कामरेड ए आर सिंधु व उद्घाटन/ अध्यक्षीय भाषण सीटू की राष्ट्रीय अध्यक्षा कामरेड ड़ा. के हेमलता ने रखा, सम्मेलन में रिपोर्ट कॉमरेड किरन ने प्रस्तुत किया। जिस पर विभिन्न राज्यों से आए प्रतिनिधियों ने अपने अपने विचार/सुझाव रखे।
कन्वेंशन में नोएडा से सीटू नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा, महिला नेता आशा यादव के नेतृत्व में रेखा चौहान, लता सिंह, सरस्वती देवी, गुड़िया देवी, सुधा आदि ने हिस्सा लिया।


Monday, 19 September 2022

05:26

दीदी की रसोई ट्रस्ट ने सैकड़ों जरूरतमंदों को बाटा निशुल्क भोजन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे
 नोएडा, बच्चों व जरूरतमंद लोगों की सेवा में रात दिन लगी दीदी की रसोई ट्रस्ट ने 19 सितंबर 2022 को ट्रस्ट की अध्यक्ष रितु सिन्हा, सचिव सुरेश अग्रवाल व कोषाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा के नेतृत्व में गांव चौड़ा शिव मार्केट सेक्टर- 22, नोएडा पर सैकड़ों गरीब बच्चों व जरूरतमंद लोगों को निशुल्क भोजन का वितरण किया।
इस अवसर पर दीदी की रसोई ट्रस्ट की अध्यक्ष व समाजसेवीका रितु सिन्हा, ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष व सामाजिक कार्यकर्ता गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि हमारी संस्था लगातार गरीब जरूरतमंद लोगों की सेवा में लगी रहती है और संस्था की ओर से अलग-अलग स्थानों पर प्रतिदिन गरीब जरूरतमंद लोगों, बच्चों को भोजन का वितरण किया जाता है और हमारा यह प्रयास आगे भी निरंतर जारी रहेगा।
दीदी की रसोई ट्रस्ट के कार्यों की स्थानीय लोगों ने काफी सराहना किया और टीम सदस्यों का धन्यवाद व्यक्त किया।
 भोजन वितरण कराने में आशा गुप्ता, गुड़िया देवी, नीलम कपूर, पिंकू, योगेश गुप्ता, अमित कुमार  आदि ने योगदान किया।
 
05:14

साहित्य व्यक्ति को मनुष्य बनाने का काम करता है : हरि सुमन बिष्ट

               संवाददाता
  गाजियाबाद। सुप्रसिद्ध लेखक हरि सुमन बिष्ट ने कहा कि लेखन व्यक्ति व समाज को बेहतर बनाने की प्रक्रिया है। लेखक का धर्म कागज काले करने के बजाए व्यक्ति को मनुष्य बनाना है। हमारे पास मनुष्य नाम का जो व्यक्ति था, आजादी के बाद हमने उसे मार दिया। हम आज भी व्यक्ति के रूप में बचे हुए हैं। 'कथा संवाद' में बतौर अध्यक्ष श्री बिष्ट ने नई पीढ़ी को संबोधित करते हुए कहा कि लेखक का दायित्व अपने समय को लेखन में दर्ज करना होता है। लिहाजा नए लेखकों का अपने परिवेश का विश्लेषण निरंतर करते रहना जरूरी है।
  मीडिया 360 लिट्रेरी फाउंडेशन की ओर से होटल रेडबरी में आयोजित 'कथा संवाद' में श्री बिष्ट ने कहा कि संवादहीनता के बढ़ते दौर में ऐसे आयोजन जड़ता तोड़ने का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि कार्यशाला में सुनी गईं रचनाएं भविष्य के प्रति आश्वस्त करती हैं। मुख्य अतिथि सुप्रसिद्ध रचचनाकार राकेशरेणु ने कहा कि ऐसी कार्यशालाएं ही हमारी कल्पनाशीलता को मूर्त रूप देने के साथ यह सिखाती हैं कि रचना की भाषा और शिल्पा कैसे गढ़ा जाता है। उन्होंने कहा कि यहां बैठे नए रचनाकारों के पास संवेदनशीलता व वैचारिक दृष्टि है, लेकिन लेखन का अनुभव नहीं है। हमारे रचनाक्रम में शामिल होने से पहले बहुत कुछ लिखा जा चुका है। उसे पढ़ने से हमें खुद को फिल्टर करने में सुविधा होती है। कार्यशाला में सुनी गई कईं कहानियां रुढ़िवादिता और अंधविश्वास के परंपरागत खांचों से बाहर नहीं निकल पाई हैं। इन खांचों को तोड़कर ही लेखक समाज का कल्याण कर सकता है।
  'कथा संवाद' में प्रतिभा प्रीत की कहानी 'मुक्ति', शकील सैफ की 'करामाती जिन्नात', सिमरन की 'मां', तेजवीर सिंह की 'गुनमुनी', मनु लक्ष्मी मिश्रा की 'मृत्यु नहीं जीवन', डॉ. अजय गोयल की 'इंडिया मस्ट बी ब्लेड', संस्था के अध्यक्ष शिवराज सिंह की 'आत्मा' व डॉ. प्रीति कौशिक की शीर्षक विहीन कहानी पर हुए विमर्श में सुभाष चंदर, सुरेंद्र सिंघल, आलोक यात्री, अनिल शर्मा, हंसराज सिंह, सत्यनारायण शर्मा ने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन रिंकल शर्मा ने किया। द्वितीय "दीप स्मृति कथा सम्मान डॉ. पूनम सिंह की कहानी  'मत लौटना आंगन पाखी' को प्रदान किया गया। उनकी अनुपस्थिति में सम्मान डॉ. बीना शर्मा ने ग्रहण किया।
 इस अवसर पर सिनीवाली शर्मा, नेहा वैद, डॉ. निधि अग्रवाल, अनिल मीत, पवन कुमार 'पवन', अक्षयवरनाथ श्रीवास्तव, संजीव शर्मा, सरोज गुप्ता, नित्यानंद तुषार, डॉ. मिथिलेश भास्कर, बी. एल. बतरा, राजीव सिंघल, जावेद खान सैफ, आचार्य शील भास्कर, अंजलि, टेकचंद, सौरभ कुमार, निकिता करायत, पराग कौशिक, शिवानी, हेमलता, अभिषेक कौशिक, कुलदीप, राममूर्ति शर्मा, गजेंद्र चौधरी, साजिद खान सहित बड़ी संख्या में श्रोता उपस्थित थे।

Saturday, 17 September 2022

03:03

कानून व मुख्यमंत्री के आदेशों की धज्जियां उड़ा कर नोएडा प्राधिकरण ने गरीब वेंडर्स को उजाड़ा, सीटू ने की कड़ी निंदा- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे

नोएडा, सामान्य प्रशासन नोएडा प्राधिकरण के विशेष कार्यधिकारी के आदेश 7 सितंबर 2022 के तहत नोएडा प्राधिकरण वर्क सर्किल संख्या- 3, के अधिकारियो/ कर्मचारियों ने भारी पुलिस बल लेकर 17 सितंबर 2022 को सेक्टर- 50, नोएडा के वेंडिंग जोन में बुलडोजर चलाकर वर्षों वर्षों से बैठे वेंडर्स को जबरन उजाड़ कर उनका सामान तोड़फोड़ कर जप्त कर उन्हें रोजगार हीन कर दिया। इसी तरह की कार्रवाई अन्य कई स्थानों पर भी की गई।
माननीय मुख्यमंत्री के आदेशों और पथ विक्रेता अधिनियम कानून की धज्जियां उड़ा कर वेंडर्स को प्राधिकरण द्वारा उजाड़ने की अमानवीय कार्रवाई की पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन गौतम बुध नगर के महामंत्री व सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कड़ी निंदा करते हुए वेंडर्स के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ बड़ा आंदोलन करने की बात कही। उन्होंने कहा कि वेंडर्स को व्यवस्थित करने की शुरू हुई प्रक्रिया के दौरान प्राधिकरण और पथ विक्रेता प्रतिनिधियों के मध्य यह सहमति बनी कि वेंडिंग जोन के बाहर बैठे वेंडर्स को वेंडिंग जोन में बैठा कर उनकी कानूनी प्रक्रिया पूरी कर उन्हें भी वेंडिंग जोन में शामिल कर लिया जाएगा इसी समझ के तहत बिना लाइसेंस प्राप्त वेंडरों को भी वेंडिंग जोन में प्राधिकरण द्वारा बैठाया गया और उनसे आवेदन फार्म भी भरवाए गए लेकिन आज तक उनका ड्रा कर उन्हें जगह का आवंटन नहीं किया गया यह प्राधिकरण की नाकामी है। फिर उसका दंड वेंडर्स को क्यों दिया जा रहा है।

Friday, 16 September 2022

04:16

नोएडा एनसीआर में तेज बरसात के बाद, हल्की फुहारे बरसने का अनुमान मौसम हुआ सुहावना TNI

नोएडा: नोएडा एनसीआर में मंगलवार देर रात को हुई तेज बारिश के बाद, बुधवार को कई जगह बादल छाए रहे और बारिश की हल्की की फुहारे बरसी। आज सुबह से बादल छाए हुए है और रुक-रुक बारिश भी हो रही, जिसकी वजह से बढ़ती उमस भरी गर्मी से राहत मिली है. 

मौसम की जानकारी देने वाली एजेंसी स्काई मेट मौसम वैज्ञानिको के अनुसार उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश के अलावा आसपास निम्न दबाव वाले क्षेत्र के प्रभाव की वजह से कुछ दिनों में नोएडा एनसीआर और उसके आसपास के इलाकों में बारिश होने अनुमान है बुधवार को न्यूनतम तापमान 2610 में 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया अधिकतम तापमान 30 डिग्री के आसपास रह सकता है

देशभर में मानसून का सीजन लगभग खत्म हो चुका है. लेकिन अभी भी राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में उमस भरी गर्मी से छुटकारा नहीं मिल पा रहा है. उमस भरी गर्मी की मार झेल रहे दिल्लीवासियों की बारिश ने कुछ हद तक राहत दी है. स्काईमेट मौसम वैज्ञानिक महेश पहलावत के अनुसार आज दिन भर आज हल्की बारिश होने का अनुमान हैं. वहीं हवा की गति 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है. नोएडा एनसीआर में दिन में आसमान में बादल छाए रहेंगे और कुछ हिस्सों में हल्की आंधी और गरज के चांसेस हैं.

मौसम वैज्ञानिक महेश पहलावत के मुताबिक, राजस्थान में आज और कल, उत्तरप्रदेश में आने वाले 2 दिनों के लिए, वहीं कोंकण और गोवा, हिमाचल प्रदेश और पंजाब  में आने वाले 3 दिनों के लिए कुछ इलाकों में भारी बारिश की आशंका बन रही है. आने वाले 5 दिनों में उत्तराखंड में भी हल्की बारिश का अनुमान जताया जा रहा है. इसके अलावा दक्षिण भारत के कई इलाकों में बारिश की संभावना जताई है. तटीय आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु के तटीय हिस्सों में आज मूसलाधार बारिश के साथ हल्के आंधी तूफान की भी संभावना है.
04:11

फिट इंडिया मिशन, विधि एवं न्याय मंत्रालय के साथ अंतर-मंत्रालय, बार व बेंच बैडमिंटन चैम्पियनशिप का समर्थन करेगा

रामजी पांडे

नई दिल्ली फिटनेस का नया मानदंड स्थापित करने के लिये फिट इंडिया मिशन, विधि एवं न्याय मंत्रालय के साथ अपनी तरह के पहले अंतर-मंत्रालय, बार व बेंच बैडमिंटन चैम्पियनशिप का आयोजन कर रहा है। इसमें सभी मंत्री, न्यायाधीश और वकील तथा अन्य हिस्सा लेंगे।

दो दिवसीय कार्यक्रम 17 सितंबर को दिल्ली के त्यागराज खेल परिसर में शुरू होगा। कार्यक्रम में केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्री श्री किरेन रिजिजू, विदेश मंत्री श्री एस. जयशंकर और युवा कार्य एवं खेल मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर सम्मिलित होंगे।

कार्यक्रम की अभिकल्पना पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी अबन्तिका डेका ने की है, जिसमें विधि एवं न्याय मंत्रालय और फिट इंडिया सहयोग कर रहे हैं। कार्यक्रम के बारे सुश्री डेका ने कहा, “अपने प्रोफेशनल करियर के बाद, मैं अब भी खेलों को जारी रखना चाहती हूं। फिट इंडिया मूवमेंट के जरिये फिटनेस के बारे में जागरूकता पैदा करने के विषय में हमारे माननीय प्रधानमंत्री की परिकल्पना ने मुझे इस कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने के लिए प्रेरित किया। इससे जीवन के सभी वर्ग के लोगों को खेल और फिटनेस गतिविधियों में हिस्सा लेने का प्रोत्साहन मिलेगा। इस श्रृंखला में हम इसी तरह के कार्यक्रम अन्य मंत्रालयों के साथ भी करेंगे।” सुश्री डेका राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी की सदस्य भी हैं।

कार्यक्रम में न्याय क्षेत्र की कई जानी-मानी हस्तियां हिस्सा लेंगी, जिनमें भारत के सॉलीसिटर जनरल श्री तुषार मेहता, न्यायमूर्ति श्री विक्रम नाथ, सुप्रीम कोर्ट बार एसोसियेशन के अध्यक्ष श्री विकास सिंह, विधि एवं न्याय मंत्रालय की संयुक्त सचिव डॉ. अंजू राठी राणा, डालमिया भारत लिमिटेड के महानिदेशक व सीईओ श्री सिंघी और अन्य शामिल हैं।

Thursday, 15 September 2022

20:27

लखीमपुर खीरी में दो सगी बहनों की निर्मम हत्या की न्यायिक जांच हो : सूरज प्रधान AAP



 रामजी पांडेय
लखीमपुर खीरी : लखीमपुर खीरी की निघासन विधानसभा में 14 सितंबर दो सगी बहनों को अगवा करने के बाद गैंगरेप व  हुई निर्मम हत्या कर पेड़ से लटका दिया गया था। जिस पर 15 सितंबर को आम आदमी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश प्रभारी राज्यसभा सांसद माननीय संजय सिंह के निर्देश पर अयोध्या प्रान्त अध्यक्ष सूरज प्रधान के नेतृत्व में  लखीमपुर पहुंचा।पीड़ित परिवार के घर पहुंचकर प्रतिनिधिमंडल ने परिवार जनों को सांत्वना दी एवं कहा कि दुख की इस घड़ी में आम आदमी पार्टी परिवार के साथ पूरी मजबूती से खड़ी है परिवार की हर सम्भव मदद की जाएगी।                  

     अयोध्या प्रांत अध्यक्ष सूरज प्रधान ने कहा कि सरकार में कानून व्यवस्था सिर्फ कागज़ों पर है ऐसा कोई दिन नहीं जाता जिस दिन पूरे प्रदेश में कई जगहों से अप्रिय घटनाओं की खबर न आती हो योगी सरकार पूरी तरह से विफल है बस ध्रुवीकरण के आंकड़ों के साथ सरकार में बने हैं जो बहुत दिन नहीं चलने वाला दिल्ली और पंजाब की तरह पूरे देश में परिवर्तन निश्चित है,

        सूरज प्रधान ने आगे कहा कि शासन व प्रशासन से आम आदमी पार्टी मांग करती है  कि दोषियों को जल्द गिरफ्तार करके फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर कठोर दण्ड दिया जाए, पीड़ित परिवार को एक करोड़ की आर्थिक मदद के साथ सरकारी नौकरी दी जाए,अगर आम आदमी पार्टी की मांगे पूरी नहीं होती हैं तो पार्टी पूरे प्रदेश में आंदोलन करेगी।

प्रदेश प्रवक्ता संजीव निगम ने बताया कि  प्रतिनिधिमंडल में अयोध्या प्रान्त से प्रांत अध्यक्ष सूरज प्रधान, प्रांत महासचिव अतुल सिंह,प्रांत उपाध्यक्षों में रविकांत तिवारी, हरीश चौधरी, शादाब राईन , प्रांत सचिव नूर सिद्दीकी ,प्रांत सदस्य ललित तिवारी व दीपांकर, वलीम खान जिलाध्यक्ष लखीमपुर, रामप्रताप चौधरी, शिवकुमार सिंह चौहान, निघासन विधानसभा प्रभारी हरीश वर्मा , श्रीनगर विधानसभा प्रभारी अनिल राजवंशी, गोला विधानसभा अध्यक्ष खुशी राम, पलिया विधानसभा अध्यक्ष ओमकार वर्मा मौजूद रहे।
20:25

उत्पीड़न के खिलाफ पाल सेल्स प्रा. लि. के श्रमिकों ने उप श्रम आयुक्त से मुलाकात कर किया शिकायत- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे

नोएडा, मैसर्स- पाल सेल्स प्राइवेट लिमिटेड ए- 94/3 सेक्टर- 58, नोएडा के प्रबंधकों द्वारा महिला श्रमिकों व अन्य कामगारों का आर्थिक व मानसिक रूप से उत्पीड़न करने उक्त के खिलाफ आवाज उठाने पर मनमानी व गैरकानूनी तरीके से कार्य से रोक देने के खिलाफ 15 सितंबर 2022 को सीटू जिलाध्यक्ष- गंगेश्वर दत्त शर्मा, महासचिव- रामसागर, सचिव- राम स्वारथ के नेतृत्व में श्रमिकों ने उप श्रम आयुक्त श्री धर्मेंद्र कुमार से श्रम कार्यालय सेक्टर- 3, नोएडा पर मुलाकात कर उन्हें समस्याओं से अवगत कराते हुए कार्यवाही किए जाने का अनुरोध किया। जिस पर उन्होंने कल श्रम प्रवर्तन अधिकारी को संस्थान स्तर पर भेज कर श्रमिकों की समस्याओं को हल कराने का आश्वासन दिया।
सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि उक्त कारखाना मालिक सभी नियम कानूनों की धज्जियां उड़ा कर मजदूरों का शोषण कर रहा है। श्रमिकों को सप्ताहिक अवकाश तक नहीं दिया जाता है, तथा जब चाहे उन्हें कार्य पर लेने से इंकार कर दिया जाता है तथा श्रमिकों के साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है शिकायत करने पर श्रमिकों को कार्य से रोक दिया है श्रमिकों के साथ यह अन्याय है यदि श्रमिकों की समस्याओं का समाधान व उन्हें कार्य पर नहीं लिया गया तो श्रमिक कम्पनी के गेट पर सीटू के बैनर तले धरना प्रदर्शन करेंगे।

Tuesday, 13 September 2022

06:02

वेंडिंग जोन से अवैध कब्जे को हटाने के लिए सेक्टर- 9 के वेंडर्स ने नोएडा प्राधिकरण को दिया ज्ञापन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे
नोएडा, वर्क सर्किल संख्या- 1, नोएडा प्राधिकरण सेक्टर- 9, नोएडा वेंडिंग जोन संख्या 9 (बी व ई ब्लॉक के मध्य) से दुकानदारों/ फैक्ट्री मालिकों द्वारा वेंडर्स को मारपीट कर वेंडिंग जोन से भगाने के विरुद्ध पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन के महामंत्री व सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा, टीवीसी सदस्य गणेश कुमार व विनोद पंजियार बाइक रिपेयरिंग वेंडर्स के प्रतिनिधि रामकुमार, उपदेश श्रीवास्तव, इकराम, रामपाल, मुकेश चंद, सूरज, पंकज, मनोज आदि ने नोएडा प्राधिकरण वर्क सरकिल संख्या- 1, के वरिष्ठ प्रबंधक श्री डोरीलाल जी से मिला और उन्हें लिखित शिकायत दिया जिसकी प्रति अथॉरिटी की मुख्यकार्यपालक अधिकारी महोदया को भी दी गई है और उनसे वेंडर्स की समस्याओं का समाधान कराने का अनुरोध किया गया। दिए गए शिकायत ज्ञापन पत्र में बताया गया है कि वेडिंग जोन पर स्थानीय दुकानदारों/फैक्ट्री मालिकों ने अपने निजी फायदे के लिए अवैध कब्जा कर रखा है और वेंडर्स को वेंडिंग जोन में बैठने नहीं देते हैं और वेंडिंग जोन में समान व गाड़ियां खड़ी कर दी जाती है कोई बेंडर बैठने का प्रयास करता तो उसे मारपीट कर भगा दिया जाता है। कल दिनांक 12-09- 2022 को भी वेंडर्स मौ.इकराम व अन्य के साथ फैक्ट्री मालिक मोहम्मद राशिद, मोहम्मद अनीस, मोहम्मद हाजी गुलजार ने मारपीट किया। दुकानदारों/फैक्ट्री मालिकों का कहना है कि हमें किराया दोगे तभी यहां बैठ सकते हैं। वेंडर्स ने संगठित होकर अवैध उगाही देना बंद कर दिया इसी कारण वेंडर्स को दुकानों को जबरन बंद कराया जा रहा है। उक्त सेक्टर में अधिकांश वेंडर बाइक रिपेयरिंग का कार्य करते हैं।
दिए गए प्रार्थना पत्र में मांग की गई है कि वेंडिंग जोन से अवैध कब्जा हटाकर वेंडर्स को बैठाने  की व्यवस्था की जाए। साथ ही अभी तक जिन वेंडर्स का सत्यापन नहीं हुआ है उन वेंडर्स का सत्यापन कर लाइसेंस देकर जगह आवंटित की जाए।प्राधिकरण के अधिकारियों ने  समस्या का समाधान कराने का आश्वासन वेंडर्स के प्रतिनिधियों को दिया।
सीटू नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि यदि समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो हम आंदोलन करने को विवश होंगे।

Monday, 12 September 2022

20:17

2024 के तक देश में 2 लाख डेयरियां और बनाएंगे देश में दूध उत्पादन दोगुना करेंगे: अमित शाह


ग्रेटर नोएडा : वर्ल्ड डेरी समिट का पीएम मोदी ने सुबह उद्घाटन किया, और शाम के सत्र में शामिल होने के लिये जब गृह मंत्री अमित शाह नालेज पार्क स्थित इंडिया एक्सपो मार्ट एंड सेंटर सड़क मार्ग से जा रहे थे तो उनका डीएनडी पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने वर्ल्ड डेरी समिट में सहकारी समिति के दुग्ध उत्पादक और सदस्य को संबोधित किया। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 2014 में दुनिया की इकोनॉमी में भारत 11वें नंबर पर था, आज पांचवें नंबर पर है। मुझे उम्मीद है कि जल्द हम तीसरे नंबर पर होंगे। शाह ने कहा कि 2024 के चुनाव से पहले देश में 2 लाख डेयरियां और बनाएंगे। देश में दूध उत्पादन दोगुना करेंगे।
 
अमित शाह ने अपने संबोधन में कहा कि डेयरी क्षेत्र में सहकारी संस्थाएं महिलाओं को सशक्त बनाती हैं और विभिन्न स्तरों पर गांवों के विकास में मदद करती हैं। शाह ने कहा, मैंने हवाई चप्पल पहने हुई महिला को 1 करोड़ 10 लाख रुपए का चेक अपने हाथ से दिया है। यह सब सहकारिता से संभव हुआ है। मैंने उनसे पूछा कि आपको क्या लगता है। महिला ने कहा कि डेयरी न होती तो आज खेत में मजदूरी कर रहे होते। डेयरी है तो बच्चा आज MBA कर रहा है।

लाखों छोटे और सीमांत डेयरी किसानों के योगदान से आज भारत पूरे विश्व में सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक देश है। इस अवसर पर अमित शाह ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा, प्राकृतिक खेती को सर्टिफाइड करने, उसकी मार्केटिंग करने, विदेश में एक्सपोर्ट करने के लिए हम 3 मल्टी लेवल सोसाइटी बनाने जा रहे हैं। इसी महीने के आखिर तक अमूल एक्सपोर्ट हाउस बना देगा। टेस्टिंग की श्रंखला में भी तेजी से काम चल रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय पशुपालन मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला शामिल हुए।
07:08

अपने जीवन की सुरक्षा के लिये सड़कों की सफाई हेलमेट पहनकर करते है-रोहित




नोएडा ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे के सेक्टर 168 के पास सर्विस लेन में सड़क की सफाई करते हुए अथॉरिटी के सफाईकर्मी रोहित को देखकर अक्सर लोग चौंक जाते हैं कारण है कि रोहित सड़क की सफाई हेलमेट लगाकर करते हैं और उनका कहना है कि वह हेलमेट लगाकर सड़क की सफाई वह अपनी जीवन की सुरक्षा के कारण करते हैं.  

रोहित पिछले 7 से 8 महीने से लगातार हेलमेट लगाकर सफाई का काम कर रहे हैं. वे कहते हैं कि इन सड़कों पर तेज रफ्तार गाड़ियां दौड़ती हैं जिसके कारण दुर्घटना का अंदेशा सदा बना रहता है. वे बताते हैं की पहले वह भी बिना हेलमेट लगाकर सफाई का काम करते थे लेकिन सड़क पर हुए दो हादसों में जब वह बाल बाल बच गए इसके बाद से ही उन्होंने हेलमेट लगाना शुरू कर दिया और लगातार हेलमेट लगाकर ही सफाई का काम करते हैं. 

सड़कों पर बिना हेलमेट लगाए तमाम दुपहिया वाहन चालक यातायात के नियमों की अनदेखी कर सड़कों पर वाहन चलाते हुई दिख जाते हैं. ऐसे में रोहित उन्हें एक संदेश देते हुए नजर आते हैं कि हेलमेट को बोझ न समझे यह जीवन बचाने का मंत्र है
06:49

सामान्य लॉजिस्टिक्स सहमति स्थापित करने पर ध्यान दिया जाना चाहिए

रामजी पांडेय

नई दिल्ली सरकार भविष्य की सुरक्षा चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने और देश को विकास की ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए एक मजबूत, सुरक्षित, त्‍वरित और आत्‍मनिर्भर लॉजिस्टिक्‍स (रसद) प्रणाली का निर्माण करने के लिए प्रतिबद्ध है। यह बात रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज नई दिल्ली में 'सामंजस्‍य से शक्ति' नामक विषय पर आयोजित पहले भारतीय सेना लॉजिस्टिक्‍स सम्‍मेलन में अपने मुख्य भाषण के दौरान कही।

भारत आज दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है और यह तेजी से 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। भविष्य में, चाहे युद्ध क्षेत्र हो या नागरिक क्षेत्र हो, रसद जीविका का महत्‍व बढ़ने वाला है। ऐसी स्थिति में 21वीं सदी की जरूरतों के अनुसार लॉजिस्टिक्स की व्यवस्था में सुधार करना समय की जरूरत की मांग है। लॉजिस्टिक्स के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता एक महत्वपूर्ण घटक है। अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए हमें एक आत्मनिर्भर लॉजिस्टिक्स आपूर्ति प्रणाली की जरूरत है। यह बात श्री राजनाथ सिंह ने 2047 तक भारत को 'अमृत काल' में एक महाशक्ति बनाने के लिए सरकार द्वारा निर्धारित ढांचे के बारे में विस्‍तार से जानकारी देते हुए कही।

रक्षा मंत्री ने तीनों सेवाओं के बीच संयुक्त जुड़ाव को पिछले कुछ वर्षों में रक्षा मंत्रालय में किए गए प्रमुख नीतिगत परिवर्तनों में से एक बताया है, जिससे अनेक क्षेत्र, विशेष रूप से लॉजिस्टिक्स के कई क्षेत्रों में काफी लाभ हुआ है। उन्होंने कहा कि एक मजबूत लॉजिस्टिक्स प्रणाली स्थापित करने के लिए नींव रखी गई है, जो सशस्त्र बलों की परिचालन तैयारी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे यह सुनिश्चित होता है कि सही गुणवत्ता और मात्रा के साथ सही वस्तुएं सेना को सही समय और सही जगह पर उपलब्ध हो सकें। उन्होंने कहा कि सैन्य लॉजिस्टिक्स एक बहुत महत्वपूर्ण पहलू है जो किसी युद्ध का परिणाम निर्धारित करता है।

प्रत्यक्ष सकारात्मक परिणामों के बारे में जानकारी देते हुए श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार के प्रयासों के कारण विद्रोहियों से निपटने के साथ-साथ आपदा राहत कार्यों, मानवीय सहायता, गैर-संघर्ष निकासी, संघर्ष के दौरान खोज, बचाव और हताहत निकासी से निपटने की प्रतिक्रिया में लगने वाले समय में काफी कमी आई है। उन्होंने कहा कि यह राष्ट्र निर्माण का एक महत्वपूर्ण पहलू है और इस संबंध में सभी प्रयास किए जा रहे हैं।

लॉजिस्टिक्‍स प्रणाली को मजबूत बनाने की आवश्यकता पर जोर देते हुए  रक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार तीनों सेवाओं की जरूरतों के अनुसार देश में सामान्य लॉजिस्टिक्‍स सहमति स्थापित करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। उन्होंने कहा कि इन सहमति (नोड्स) के माध्यम से एक सेवा के संसाधन निर्बाध रूप से अन्‍य सेवाओं के लिए भी उपलब्ध होंगे।

श्री राजनाथ सिंह ने सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) वास्तुकला पर अपनी अंतर्दृष्टि को साझा करते हुए इसे कुशल लॉजिस्टिक्‍स का एक प्रमुख हिस्सा बताया। तीनों सेवाओं ने अपनी आईसीटी वास्तुकला विकसित की है। हमारा यह प्रयास है कि तीनों सेवाओं के बीच अंतर-संचालन हो  ताकि हम अपने संसाधनों का श्रेष्‍ठ तरीके से उपयोग कर सकें।

Sunday, 11 September 2022

05:45

श्रमिक उत्पीड़न के खिलाफ जन संघर्षों को तेज करने के आह्वान के साथ सीटू गौतम बुध नगर का जिला सम्मेलन संपन्न- गंगेश्वर दत्त शर्मा


नोएडा, सीटू जिला कमेटी गौतमबुध्दनगर का त्रवार्षिक आठवां जिला सम्मेलन सामुदायिक केंद्र भंगेल सेक्टर- 110, नोएडा में 11 सितंबर 2022 को प्रातः 9:00 बजे सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा द्वारा झंडारोहण किए जाने और सभी डेलीगेट साथियों द्वारा शहीद वेदी पर पुष्प चढ़ाकर विगत 3 वर्षों में हुए शहीदों एवं दिवंगत लोगों को 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दिए जाने के साथ शुरू हुआ। सम्मेलन को सुचारू रूप से चलाने के लिए कॉमरेड गंगेश्वर दत्त शर्मा, लता सिंह, पूनम देवी तीन सदस्य अध्यक्ष मंडल का चुनाव किया गया। अध्यक्ष मंडल के नेतृत्व में सम्मेलन की कार्रवाई विधिवत रूप से शुरू हुई। सम्मेलन में उद्घाटन भाषण कॉमरेड जी एस तिवारी राज्य सचिव मंडल सदस्य ने रखा। उन्होंने अपने उद्घाटन भाषण में केंद्र व प्रदेश भाजपा सरकार कि मजदूर विरोधी, जनविरोधी नीतियों के कारण मजदूरों किसानों पर बढ़ते दमन, शोषण, उत्पीड़न को रेखांकित किया और न्यूनतम वेतन ₹26000 घोषित करवाने, मजदूरों को आवास बना कर दिए जाने, ठेकेदारी प्रथा का खात्मा, पथ विक्रेता व अन्य असंगठित क्षेत्र के कामगारों को सामाजिक सुरक्षा, मजदूर विरोधी लेबर कोड़ की वापसी सहित विभिन्न लंबित मांगों पर बड़ा जन आंदोलन का निर्माण करने का आह्वान किया। सम्मेलन में सीटू जिला महासचिव कामरेड रामसागर ने पिछले 3 सालों के कार्यों व संघर्षों की समीक्षा एवं आगामी 3 साल के कार्यक्रमों व संघर्षों की दिशा तय करने के लिए रिपोर्ट प्रस्तुत किया। जिस पर सम्मेलन में आए दर्जनों डेलीगेट प्रतिनिधियों ने रिपोर्ट पर बहस में हिस्सा लेते हुए अपने अपने विचार व सुझाव रखे। सम्मेलन में मेहनतकशों के कई ज्वलंत मुद्दों पर संघर्ष को तेज करने के प्रस्ताव रखे गए। रिपोर्ट एवं प्रस्ताव पर विचार विमर्श के बाद आए सुझावों को जोड़ते हुए सम्मेलन में उपस्थित दिल्ली डेलीगेट प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से रिपोर्ट एवं प्रस्ताव को पारित किया।
सम्मेलन को किसान सभा के नेता डॉक्टर रुपेश वर्मा, जनवादी महिला समिति की नेता आशा यादव, रेखा चौहान, चंदा बेगम, सरस्वती ने संबोधित किया और बधाई दिया।
सम्मेलन में 11 पदाधिकारियों सहित 25 सदस्य नई जिला कमेटी का चुनाव किया गया जिसमें गंगेश्वर दत्त शर्मा- अध्यक्ष,  लता सिंह- उपाध्यक्ष, रामसागर- महासचिव, लक्ष्मीनारायण- सचिव, राजकरण सिंह -सह सचिव, राम स्वारथ- कोषाध्यक्ष, इशरत जहां, सुनील पंडित, नरेंद्र पांडे, मिथलेश, पिंकी, जिला कमेटी सदस्य चुना गया।
सम्मेलन में समापन भाषण कॉमरेड अनुराग सक्सेना राज्य महासचिव ने रखा। अध्यक्ष मंडल द्वारा सभी को धन्यवाद दिए जाने व मजदूर आंदोलन को तेज करने के आह्वान के साथ सम्मेलन का समापन हुआ।

Friday, 9 September 2022

04:32

11 सितंबर को सामुदायिक केंद्र भंगेल में होने वाले सीटू जिला सम्मेलन की तैयारियों को लेकर हुई बैठक- गंगेश्वर दत्त शर्मा

नोएडा, सी.आई. टी. यू. जिला कमेटी गौतम बुध नगर का त्रवार्षिक 8 वां जिला सम्मेलन 11 सितंबर 2022 को प्रातः 9:00 बजे से सामुदायिक केंद्र भंगेल सेक्टर- 110 नोएडा पर होने जा रहा है। सम्मेलन की तैयारियों के लिए चल रहे अभियान की समीक्षा एवं सम्मेलन के कार्यक्रमों की रूपरेखा तय करने के लिए सीटू पदाधिकारियों की बैठक जिला कार्यालय सेक्टर- 8, नोएडा पर हुई।
बैठक की जानकारी देते हुए सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि सम्मेलन में सीटू जिला कमेटी के पिछले 3 साल के कार्यों  व संघर्षों की समीक्षा एवं आगामी 3 साल के लिए कार्यक्रमों व संघर्षों की दिशा तय करने के लिए सम्मेलन में विचार-विमर्श के लिए रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी। सम्मेलन में सीटू से सम्बंधित यूनियन के पदाधिकारी एवं कारखाना स्तर की मिल कमेटियों के नेता डेलीगेट के रूप में हिस्सा लेंगे। सम्मेलन में नई जिला कमेटी का चुनाव किया जाएगा। साथ ही सम्मेलन में न्यूनतम वेतन, श्रम कानूनों, सामाजिक सुरक्षा एवं मजदूर विरोधी लेबर कोडो़ के खिलाफ संघर्ष का प्रस्ताव। बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और ठेकेदारी प्रथा के खिलाफ संघर्ष का प्रस्ताव। पथ विक्रेताओं व अन्य असंगठित क्षेत्र के कामगारों की समस्याओं पर संघर्ष का प्रस्ताव। कामकाजी महिलाओं के साथ भेदभाव एवं यौन उत्पीड़न के खिलाफ संघर्ष का प्रस्ताव जैसे कई मुद्दों पर संघर्षों को तेज करने के लिए सम्मेलन में प्रस्ताव रखे जाएंगे।
सीटू जिला महासचिव राम सागर ने बताया कि सम्मेलन को सफल बनाने के लिए सीटू कार्यकर्ता व्यापक स्तर पर प्रचार व जनसंपर्क अभियान चला रहे हैं। साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि सभी डेलीगेट 11 सितंबर 2022 को प्रातः 9:00 बजे से पहले सम्मेलन स्थल पर पहुंच जाएं ताकि रजिस्ट्रेशन कर 10:00 बजे झंडारोहण व उद्घाटन भाषण के साथ समय से सम्मेलन की कार्रवाई शुरू हो जाए।

विशेष नोट:- उक्त कार्यक्रम की कवरेज करने के लिए न्यूज़ चैनल/ न्यूज़ पेपर व सोशल मीडिया के सभी सम्मानित मीडिया बंधु जन सम्मेलन में सादर आमंत्रित हैं
04:27

सुपरटेक ट्विन टावर के महा-भ्रष्टाचार पर तात्कालीन जांच सीबीआई व ईडी से कराई जाए -AAP NOIDA

नोएडा।आज शुक्रवार को आम आदमी पार्टी के पदाधिकारियों ने जिलाध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह व ऐ के सिंह के नेतृत्व में नोएडा प्राधिकरण के ऐसीईओ प्रवीण मिश्रा से मुलाकात कर सुपरटेक ट्विन टावर के महा-भ्रष्टाचार पर तात्कालीन प्रमुख सचिव, औद्योगिक व अवस्थापना विकास विभाग तथा मुख्य कार्यपालक अधिकारी नोएडा प्राधिकरण की जांच सीबीआई व ईडी से कराने तथा इन पर कार्रवाई को लेकर
मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश के नाम का ज्ञापन सौंपा। 


इस अवसर पर भूपेन्द्र सिंह जादौन ने कहा सुपरटेक ट्विन टावर के भ्रष्टाचार की एसआईटी द्वारा की गई जाँच आधी अधूरी है इसमें बड़े बड़े मुख्य आरोपियों में वर्तमान के प्राधिकरण के उन अधिकारियों तथा औद्योगिक विकास विभाग के तत्कालीन प्रमुख सचिवों को बचाने के लिए तथ्यों को छुपाया गया है जिनकी देखरेख में इतने बड़े भ्रष्टाचार को अंजाम दिया गया। एसआईटी जाँच में जो अधिकारी कर्मचारी आरोपी साबित हुए हैं उन पर भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है । ऐ के सिंह ने बताया कि जांच को गठित एसआईटी ने जाँच से असली भ्रष्टाचारियों को बड़ी साफगोई से बाहर कर दिया है जिन की देखरेख सर्वोच्च न्यायालय में पैरवी के दौरान प्रमुख सचिवों, नोएडा अथॉरिटी के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों सहित दौरान तत्तकालीन प्रमुख सचिवों, औद्योगिक विकास व मुख्य कार्यपालक अधिकारियों सहित निचले अधिकारियों की पूरी जिम्मेदारी थी कि मा.सुप्रीम कोर्ट के सामने सुपरटेक के खिलाफ मजबूत पक्ष रखते परंतु इन जिम्मेदार अधिकारियों ने ऐसा नहीं किया और भ्रष्टाचार को पोषित करने के सभी उपाय भी किए इसलिए इन पर भी उतनी ही कार्रवाई बनती है जितनी की अब तक के आरोपितो पर बन रही है। बिना इन अधिकारियों के संरक्षण के निचले स्तर के अधिकारी अरबो रुपये के भ्रष्टाचार मे संलिप्त नही रह सकते। उन्होंने कहा आम आदमी पार्टी ट्विन टावर के महा-भ्रष्टाचार की सीबीआई व ईडी द्वारा जाँच कर  दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की माँग करती है इस दौरान जिला प्रवक्ता ऐ के सिंह,माइनॉरिटी विंग जिलाध्यक्ष दिलदार अंसारी, जिला महासचिव राकेश अवाना, जिला कोषाध्यक्ष मुन्ना गुप्ता,श्रमिक विकास संगठन के उत्तर प्रदेश उपाध्यक्ष राम जी पांडेय,जिला सचिव सविता सिंह,शौकत चौधरी,मनोज यादव,माधव मिश्रा,लखन यादव,मुकेश सिंह आदि मौजूद रहे।

   

Thursday, 8 September 2022

03:25

नीट की परीक्षा में फेल हो जाने के कारण छात्रा ने डिप्रेशन के कारण नौवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या की


ग्रेटर नोएडा में बनी ऊंची ऊंची इमारतें सुसाइड पॉइंट बन गई है, लगातार इन इमारतों से लोग कूदकर सुसाइड कर रहे है. ऐसे ही एक मामला कोतवाली नॉलेज पार्क क्षेत्र में स्थित जेपी अमन सोसायटी सोसाइटी में आया है जहाँ की बहुमंजिली इमारत से कूदकर एक छात्रा ने आत्महत्या कर ली सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर  पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.  बताया जा रहा है कि परीक्षा के रिजल्ट में फेल होने के चलते डिप्रेशन के कारण छात्रा ने आत्महत्या की है.
 
सेक्टर 151 स्थित जेपी अमन सोसायटी के समय सनसनी फैल गई जब एक छात्रा का शव टावर नंबर 7 के पास लान में पड़ा हुआ मिला. लोगों ने इसकी पुलिस को दी, मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पूछताछ की तो छात्रा की पहचान टावर नंबर 5 में रहने वाली 22 वर्षीय संपदा पुत्री अनुज चौधरी के रूप में हुई.  
 
संपदा ने टावर नंबर 7 के नौवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया उसकी मौके पर ही मौत हो गई. पुलिस का कहना है कि प्रारंभिक पूछताछ से पता चला है कि संप्रदा ने इस साल नीट की परीक्षा दी थी उसमें फेल हो जाने के कारण वह डिप्रेशन में आ गई थी.  जिसके चलते उसने यह आत्मघाती कदम उठाया. पुलिस का कहना है कि इस संबंध में अभी तक परिजनों की तरफ से कोई शिकायत नहीं मिली है शिकायत मिलने पर ही कार्यवाही की जाएगी.

Tuesday, 6 September 2022

05:43

साइबर ठग गैंग 500 डीमैट खाते खुलवा कर करीब 15 करोड़ की ठगी को अंजाम दे चुका है


नोएडा : साइबर क्राइम थाना पुलिस ने करेंसी में ट्रेडिंग करने के डीमैट खाता खुलवा कर ठगी करने वाले गैंग पर्दाफाश कर एक साइबर ठग को गिरफ्तार किया है.  ये गैंग 500 डीमैट खाते खुलवा कर करीब 15 करोड़ की ठगी को अंजाम दे चुका है। इस गिरोह ने गाजियाबाद निवासी अशोक मिश्रा से 15 लाख की ठगी की थी। जिनकी शिकायत जांच कर रही नोएडा साइबर क्राइम थाना पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार मध्यप्रदेश के देवास से गिरफ्तार किया है। इसके अन्य साथियों की तलाश की जा रही है. 

साइबर क्राइम थाना सेक्टर 36 में पुलिस की गिरफ्त खड़ा शोएब ने अमदानी सॉल्यूशन नाम से ऑफिस खोलकर अपने साथियों के साथ लोगों को फोन कर करेंसी में ट्रेडिंग करने के डीमैट खाता खुलवा कर  500 से ज्यादा लोगों से 15 करोड़ की ठगी से ज्यादा कर चुका है साइबर सेल प्रभारी रीता यादव ने बताया कि गाजियाबाद निवासी अशोक मिश्रा से 15 लाख की ठगी की थी जिनकी शिकायत पर जांच के दौरान शोएब को मध्यप्रदेश के देवास से गिरफ्तार किया है. 

 
साइबर सेल प्रभारी रीता यादव ने बताया कि शोएब ने अमदानी सॉल्यूशन के नाम से स्कीम नंबर 94 रिंग रोड इंदौर में ऑफिस खोला था। अपने साथियों के साथ लोगों को फोन कर करेंसी में ट्रेडिंग करने के डीमैट खाता खुलवाते थे। ये लोग अलग-अलग कस्टमर से डिमैट खातों में पैसा मंगवाते थे। डीमैट खातों का एडिमन एक्सिस करने के लिए यूजर आईडी व पासवर्ड अपने पास ही रखते थे। डिमैट खातों में दिखाई देने वाली धनराशि केवल डिजिट के रुप में कस्टमर को बढ़ती हुई दिखाई देती थी। जबकि असल में वह धनराशि बढ़ती नहीं थी। जिससे कस्टमर धनराशि बढ़ता देख इंवेस्ट करता रहता था। इसके बाद जब कस्टमर खातों में दिख रही धनराशि का प्रॉफिट लेना चाहता था तो जीएसटी , कन्वर्जन चार्ज और सेटलमेंट चार्ज के नाम पर विभिन्न बैंकों खातों में और पैसे ट्रांसफर करवा लिए जाते थे

इन लोगों ने ट्रेडिंग की फर्जी एंड्राइड एप्लीकेशन मेटा ट्रेडर्स-05 नाम से बनाकर प्ले स्टोर पर अपलोड कर रखी थी। ऑफिस में कुछ लड़को और लड़कियों को जॉब पर रखा था। ये लोगों को फोन करके स्कीम और डिमैट खातों में पैसा ट्रांसफर करने को कहते थे। इनको बतौर सैलरी दी जाती थी। बताया गया कि इन लोगों ने सिर्फ यूपी नहीं बल्कि अन्य राज्यों के लोगों को भी ठगी का शिकार बनाया है। पुलिस को फरार इनके दो और साथियों की तलाश कर रही है.
03:54

दीदी की रसोई ट्रस्ट ने सैकड़ों जरूरतमंदों को कराया निशुल्क भोजन- गंगेश्वर दत्त शर्मा


रामजी पांडे
 नोएडा, बच्चों व जरूरतमंद लोगों की सेवा में रात दिन लगी दीदी की रसोई ट्रस्ट ने 06 सितंबर 2022 को ट्रस्ट की अध्यक्ष रितु सिन्हा, सचिव सुरेश अग्रवाल व कोषाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा के नेतृत्व में मजदूर बस्ती शिव नगरी सेक्टर- 17, नोएडा पर भंडारा का आयोजन कर सैकड़ों गरीब बच्चों व जरूरतमंद लोगों को निशुल्क भोजन का वितरण किया।
इस अवसर पर दीदी की रसोई ट्रस्ट की अध्यक्ष व समाजसेवीका रितु सिन्हा, ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष व सामाजिक कार्यकर्ता गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि हमारी संस्था लगातार गरीब जरूरतमंद लोगों की सेवा में लगी रहती है और संस्था की ओर से अलग-अलग स्थानों पर प्रतिदिन गरीब जरूरतमंद लोगों, बच्चों को भोजन का वितरण किया जाता है और हमारा यह प्रयास आगे भी निरंतर जारी रहेगा।
दीदी की रसोई ट्रस्ट के कार्यों की स्थानीय लोगों ने काफी सराहना किया और टीम सदस्यों का धन्यवाद व्यक्त किया।
आज के भजन का प्रबंध अपने जन्मदिन की खुशी में ट्रस्ट की सदस्या श्वेता शर्मा ने किया। भोजन वितरण कराने में कृष्ण मुरारी, सविता आदि ने योगदान किया।
 

Monday, 5 September 2022

22:30

गोला विधानसभा सीट से लगातार 5 बार विधायक अरविंद गिरी की हार्ट अटैक से मौत

रामजी पांडे
लखीमपुरः-BJP MLA Arvind Giri dies  लखीमपुर खीरी जिले के गोला गोकर्ण नाथ सीट से पांचवीं बार जीत दर्ज करने वाले विधायक अरविंद गिरी की मंगलवार सुबह आर्ट अटैक से मौत हो गई। खास बात यह है कि वह पूरी तरह से स्वस्थ थे और लखीमपुर से लखनऊ जा रहे थे। अरविंद गिरी मंगलवार की सुबह करीब छह बजे अपने गोला स्थित आवास से लखनऊ के लिए रवाना हुए थे। विधायक की गाड़ी अटरिया के पास पहुंची थी, तभी उनकी तबीयत अचानक खराब होने लगी।
विधायक के सीने में तेज दर्द शुरू हो गया था। उन्होंने ड्राइवर को अपनी तबियत के बारे में अवगत कराया। ड्राइवर ने तत्काल किसी को जानकारी दी। लेकिन, जब तक अरविंद गिरी को अस्पताल पहुंचाया जाता तब तक उनकी सांस थम चुकी थी। यह सूचना पूरे जिले में सनसनी की तरह फैल गई। 
06:50

मजदूरों और किसानों के अधिकारों पर तालकटोरा स्टेडियम में मजदूर किसान महा अधिवेशन हुआ संपन्न- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे

नई दिल्ली, भाजपा सरकार की जन विरोधी कारपोरेट परस्त सांप्रदायिक नीतियों के खिलाफ एवं मजदूरों किसानों के अधिकारों पर सी.आई.टी.यू., अखिल भारतीय किसान सभा, खेत मजदूर यूनियन ने 5 सितंबर 2022 को तालकटोरा स्टेडियम नई दिल्ली पर मजदूर किसान अधिकार महाअधिवेशन का आयोजन किया। जिसमें देशभर से हजारों की संख्या में मजदूरों किसानों व खेत मजदूरों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।
कन्वेंशन को सीटू के राष्ट्रीय नेता कामरेड तपन सेंन, डा. के हेमलता, एम एल मलकोटिया, किसान सभा के राष्ट्रीय नेता कामरेड हनान मौला, कामरेड धंवले, अमराराम व खेत मजदूर यूनियन सहित कई राष्ट्रीय फेडरेशन के राष्ट्रीय नेताओं ने संबोधित किया।
कन्वेंशन में नोएडा व ग्रेटर नोएडा से सीटू नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा, रामसागर, महेंद्र सिंह, मुकेश कुमार राघव, राम स्वारथ, सुखलाल, धर्मेंद्र सहित दर्जनों सीटू कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया।
कार्यक्रम की जानकारी देते हुए सीटू नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया है कि महाधिवेशन में सभी कामगारों को न्यूनतम वेतन ₹26000 और पेंशन ₹10000 सुनिश्चित करने, ठेकेदारी प्रथा बंद करने, अग्निपथ योजना को रद्द करने। चार श्रम संहिताओं को समाप्त करने और विद्युत संशोधन विधेयक 2022 को वापस लेने। महंगाई पर रोक लगाकर खाद्य पदार्थों और आवश्यक वस्तुओं पर जीएसटी वापस लेने, पेट्रोल- डीजल, मिट्टी के तेल, खाना पकाने की गैस पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क में कटौती करने। सभी नागरिकों के लिए आवास सुनिश्चित करने आदि 14 सूत्रीय मांग पत्र पारित किया गया। साथ ही आगामी दिनों के लिए योजनाबद्ध तरीके से व्यापक स्तर पर जन अभियान चलाते हुए संसद के बजट सत्र के दौरान 2023 में दिल्ली में बड़ी मजदूर किसान संघर्ष रैली करने का ऐलान कन्वेंशन से किया गया।

Sunday, 4 September 2022

06:18

सीटू गाजियाबाद जिला कमेटी का त्रवार्षिक जिला सम्मेलन संपन्न- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे
गाजियाबाद, मजदूरों के मुद्दों पर संघर्ष को तेज करने के आह्वान के साथ सीटू जिला कमेटी गाजियाबाद का 17 वां त्रवार्षिक जिला सम्मेलन 4 सितंबर 2022 को लाल झंडा भवन कल्लूपुरा अंबेडकर रोड गाजियाबाद पर संपन्न हुआ।
सम्मेलन का विधिवत उद्घाटन भाषण सीटू के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष कामरेड एम एल मलकोटिया ने रखा।
सम्मेलन में पिछले 3 साल के कामकाज और आगामी 3 वर्षों के लिए कामकाज की दिशा योजना पर रिपोर्ट सीटू गाजियाबाद के नेता कामरेड जीएस तिवारी ने रखी जिस पर सम्मेलन में आए दर्जनों डेलीगेट साथियों ने अपने विचार व सुझाव रखे।  सम्मेलन में सीटू जिला गौतम बुध नगर महासचिव रामसागर ने बधाई संदेश रखा। विचार विमर्श के बाद रिपोर्ट और संघर्षों के प्रस्ताव सर्वसम्मति के साथ पास हुए।
सम्मेलन में समापन भाषण सीटू दिल्ली एनसीआर राज्य अध्यक्ष कॉमरेड वीरेंद्र गोंड ने रखा।
सम्मेलन में नई जिला कमेटी का चुनाव किया गया जिसमें जे.पी. शुक्ला अध्यक्ष महासचिव जी एस तिवारी कोषाध्यक्ष व श्रीकृष्ण सहित 30 सदस्य कमेटी का चुनाव किया गया।
सम्मेलन में सीटू राज्य कमेटी की ओर से पर्यवेक्षक के रुप में राज्य महासचिव अनुराग सक्सेना, सचिव मंडल सदस्य सिद्धेश्वर शुक्ला, गंगेश्वर दत्त शर्मा आदि नेता मौजूद रहे।