Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Thursday, 30 June 2022

00:58

बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, लेबर कोड,अग्निपथ योजना के विरोध में माकपा कार्यकर्ताओं ने दिया ज्ञापन- गंगेश्वर दत्त शर्मा


 नोएडा,बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, मजदूर विरोधी लेबर कोड़,युवा विरोधी अग्नीपथ योजना के विरोध में तथा आम जनता के ज्वलंत मुद्दों/ मांगो व राशनिंग व्यवस्था में सुधार हेतु भंगेल फेस-2 नोएडा कन्या इंटर कॉलेज पर माकपा कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी गौतम बुध नगर के माध्यम से माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार व माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को संबोधित ज्ञापन दिया। ज्ञापन जिलाधिकारी के प्रतिनिधि के तौर पर सी.ओ. श्री सुदीप कुमार उपाध्याय जी ने आकर लिया और उन्होंने आश्वासन दिया कि ज्ञापन को केंद्र व प्रदेश सरकार को भेज दिया जाएगा और जिला स्तर की जो भी मांगे हैं उनका समाधान कराने का प्रयास किया जाएगा।
 कार्यक्रम की जानकारी देते हुए माकपा जिला प्रभारी गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि हमारी पार्टी ने जनता के ज्वलंत मुद्दों पर पूरे जून महा अभियान चलाया जिसमें जनसंपर्क, पर्चा वितरण, नुक्कड़ सभा, जगह-जगह प्रदर्शन आयोजित किए गए और आज पार्टी का जिलाधिकारी कार्यालय सूरजपुर ग्रेटर नोएडा पर प्रदर्शन के माध्यम से सरकार को ज्ञापन देने का कार्यक्रम था लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों के अनुरोध पर कार्यक्रम में बदलाव कर भंगेल फेज- 2, कन्या इंटर कॉलेज पर हमारे कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों को ज्ञापन दिया हमें उम्मीद है कि हमारी समस्याओं/ मांगों पर शासन प्रशासन उचित कार्रवाई करेंगे यदि ज्ञापन में दी गई मांगों पर उचित कार्रवाई नहीं हुई तो हमारी पार्टी बड़ा आंदोलन करने को विवश होगी।
 कार्यक्रम में सीटू नेता राम सागर, जनवादी महिला समिति के नेता रेखा चौहान, माकपा कार्यकर्ता राजकरण सिंह, रामस्वारथ, गुड़िया देवी आदि उपस्थित रहे
                         

Wednesday, 29 June 2022

21:20

घोषित वेंडर जोन में भी सुरक्षित नहीं है वेंडर प्राधिकरण कर्मी कर रहे हैं क़ुरतापूर्ण कार्रवाई- गंगेश्वर दत्त शर्मा


 नोएडा, प्राधिकरण के वर्क सर्किल- 2, वेंडर जोन संख्या- 9, बोटनिकल गार्डन सेक्टर- 38-ए नोएडा पर वर्क सर्किल सुपरवाइजर श्री राजकुमार व कर्मचारी गोरी लाल, सतेंद्र, संजीव आदि ने अतिक्रमण हटाओ दस्ता को साथ लेकर 28 जून 2022 को प्राधिकरण द्वारा घोषित उक्त वेंडिंग जोन में पहुंचकर वेंडर्स के साथ गाली-गलौच व बत्तमीजी किया और क़ुरतापूर्ण कार्रवाई करते हुए वेंडर्स को वहां से भगा दिया और कई वेंडर्स की ठेली उठाकर ले गए और आज फिर दिनांक:  29-06-2022 को दोपहर प्राधिकरण के कर्मी वेंडर्स को हटाने व परेशान करने पहुंच गए। जिसकी सूचना पीड़ित वेंडरों ने पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन सीटू के पदाधिकारियों से किया जिस पर तुरंत यूनियन के महामंत्री गंगेश्वर दत्त शर्मा, मंत्री भरत डेंजर ने मौके पर पहुंचकर हस्तक्षेप किया और वेंडिंग जोन स्थल पर ही नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया जिसके बाद प्राधिकरण कर्मी वापस लौट गए जिसके चलते वेंडर्स को राहत मिल पाई और उनका रोजगार चलता रहा।
 प्रदर्शन को संबोधित करते हुए पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन के महामंत्री व सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि वेंडिंग जोन में बैठे वेंडर्स को परेशान करना व उनका सामान उठाकर ले जाना सरासर गलत व निंदनीय कार्य है जिसकी हम कड़ी निंदा करते हैं और प्राधिकरण से मांग करते हैं कि जिन वेंडर्स की ठेली उठाई गई है उन्हें निशुल्क वापिस की जाए और बोटनिकल गार्डन के सभी पथ विक्रेताओं को उक्त वेंडिंग जोन में कार्य करने दिया जाए और वेंडिंग जोन का विस्तार करते हुए सभी वेंडर्स का मौके पर सत्यापन कर उन्हें लाइसेंस जारी किया जाए।
 साथ ही उन्होंने कहा कि यदि वेंडर्स को फिर से हटाया या परेशान किया तो हमारी यूनियन वर्क सर्किल व प्राधिकरण कार्यालय पर आंदोलन करने को विवश होगी।
20:59

AAP के ब्राह्मण नेता रामजी पांडेय लड़ेंगे 2024 का लोकसभा चुनाव

उत्तर प्रदेश की राजनीति में तेजी से उभरे ब्राह्मण नेता रामजी पांडेय 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ सकते है
मिली जानकारी के अनुसार यूपी में AAP से जुड़े ब्राह्मण नेता रामजी पांडे आगामी लोकसभा चुनाव लड़ सकते है
हालांकि यह चुनाव वह राज्य की किस लोकसभा सीट से लड़ेंगे यह अभी तक साफ नही हो पाया है लेकिन चर्चा है कि तय रणनीति के अनुसार रामजी पांडे उत्तर प्रदेश की ही किसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने का आवेदन करेंगे।


Tuesday, 28 June 2022

19:43

हमारी सोच और कहन को विस्तार देता है कथा संवाद: सुशांत सुप्रिय

               संवाददाता
  ग़ाज़ियाबाद। मीडिया 360 लिट्रेरी फाउंडेशन के "कथा संवाद" को संबोधित करते हुए सुप्रसिद्ध लेखक, कवि व अनुवादक सुशांत सुप्रिय ने कहा कि "कथा संवाद" जैसे कार्यक्रम हमारी सोच और कहन को विस्तार देने के साथ नवांकुरों को गढ़ने की परंपरा भी निभाते हैं। इंटरनेट के दौर में कहानी की वाचिक परंपरा को पूर्णतः लोप हो गया है। आभासी दुनिया के विस्तार में साहित्य गौण हो रहा है, ऐसे में इस पर मंडरा रहे खतरे से, ऐसी कार्यशालाओं के जरिए ही साहित्य के अस्तित्व को बचाया जा सकता है। श्री सुप्रिय ने अपनी रचना "खोया हुआ आदमी" पर श्रोताओं की भरपूर सराहना बटोरी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अवधेश श्रीवास्तव ने कहा कि वैश्वीकरण के दौर में बढ़ते बाजारवाद ने साहित्य को पीछे धकेल दिया है। उन्होंने कहा कि यहां पढ़ी गई अधिकांश कहानियां स्त्री-पुरुष के संबंधों के दायरों में घूम रही हैं। जो इस बात का प्रतीक है कि प्रेम आज भी एक शाश्वत सत्य है। जिसे आपको साहित्य में भी स्वीकार करना पड़ेगा। यह और बात है कि लेखक उसका ट्रीटमेंट कैसे करता है। 
  होटल रेडबरी में आयोजित "कथा संवाद" का शुभारंभ शकील‌ अहमद की कहानी के मसविदे "बन्ने मियां की दुल्हनिया" से हुआ। इसका कथानक एक विधुर के पुनर्विवाह के प्रयासों के इर्दगिर्द घूमता है। लेखक शकील अहमद के प्रथम लेखकीय प्रयास की एक सुर से सराहना की गई। सुप्रसिद्ध साहित्यकार सुभाष चंदर ने मनु लक्ष्मी मिश्रा की कहानी "निर्णय" को मौजूदा दौर में दांपत्य जीवन पर गहरा रहे संकट को रेखांकित करने वाली रचना बताया। सुरेन्द्र सिंघल ने कहा कि हमारे टीवी सीरियल के कथानक विवाहेत्तर संबंधों के पैरोकार नजर आते हैं। ऐसे में कथा नायिका के निर्णय और साहस को स्वीकार किया जाना चाहिए। फाउंडेशन के अध्यक्ष शिवराज सिंह की शीर्षक विहीन कहानी के प्लॉट पर चर्चा करते हुए रंगकर्मी अनिल शर्मा ने कहा कि शादीशुदा दंपति के बच्चे न होना बुजुर्ग अभिभावकों की चिंता का बड़ा विषय बनता जा रहा है। ऐसे में एक बच्चे की नीति को और बढ़ावा मिल रहा है। हमारी यह प्रवृत्ति संतान के रूप में बालक की चाह को निरंतर प्रबल करती जा रही है। डॉ. प्रीति कौशिक ने कहानी का शीर्षक "डर" सुझाते हुए कहा कि कहानी बेटी बचाओ अभियान का बेहतरीन उदाहरण पेश करती है। पत्रकार सुभाष अखिल की लघु उपन्यासात्म कथा "बाजार बंद" पर भी गंभीर विमर्श हुआ। कथा के तकनीकी पक्ष‌ को लेकर हुए विमर्श पर टिप्पणी करते हुए अवधेश श्रीवास्तव ने कहा कि इस तरह के गंभीर आयोजनों को हमें टीवी डिबेट जैसे निम्नस्तर तक जाने से बचाए रखना है। 
  लेखक रविन्द्र कांत त्यागी ने कहा कि लेखक बहुत संवेदनशील होता है। कोई भी आलोचना उसके मन मस्मिष्क पर लंबे समय तक दर्ज रह सकती है। विमर्श के इस क्रम में हमें इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि आलोचना लेखक की रचनाधर्मिता को हानि न पहुंचाए। पहाड़ की स्त्री के संघर्ष और स्मिता की रक्षा पर आधारित डाॅ. पुष्पा जोशी की कहानी "रमोती" पर चर्चा करते हुए रंगकर्मी अक्षयवरनाथ श्रीवास्तव ने कहा कि कहानी में आ रही स्थूलता कहानी में और रंग भरने की मांग करती है। उभरते हुए रचनाकार देवेंद्र देव के कथा प्रयास "अहिल्या" पर आलोक यात्री, डॉ. बीना शर्मा, वागीश शर्मा, लीना सुशांत, बी. एल. बतरा सहित अन्य लोगों ने भी प्रतिक्रिया व्यक्त की। बौद्धिक विमर्श को बढ़ावा देते हुए तेजवीर सिंह ने कहा कि आज भी अधिकांश कहानियां दलित, आदिवासी, हाशिए पर पहुंची स्त्री और वर्ग संघर्ष पर ही टिकी हैं। उन्होंने कहा कि हमें कहानी को उसके दायरे से बाहर लाने के लिए भी खड़ा होना पड़ेगा। कार्यक्रम का संचालन आलोक यात्री ने किया। विमर्श में गोविंद गुलशन, अमर पंकज, प्रमोद कुमार कुश 'तन्हा', सुशील शर्मा, रवि शंकर पाण्डेय, पराग कौशिक, देवेंद्र गर्ग, सौरभ कुमार, अंजलि, अभिषेक कौशिक, विनोद कुमार विनय, साजिद खान, ओंकार सिंह, दर्शना अर्जुन 'विजेता' सहित बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सेदारी निभाई।

07:02

भगवन्त खुबा ने एसईसीआई कार्यालय का दौरा किया


नई दिल्ली:नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा तथा रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री श्री भगवन्त खुबा ने एसईसीआई कार्यालय का दौरा किया। श्री खुबा ने वहां एसईसीआई के वरिष्ठ अधिकारियों से भारतीय नवीकरणीय ऊर्जा (आरई) क्षेत्र और भारत की सीओपी-26 संबंधी प्रतिबद्धताओं के बारे में विचार-विमर्श किया।

श्री खुबा को एसईसीआई की जारी मौजूदा गतिविधियों के साथ ही बैटरी स्टोरेज, आरई टेंडर्स, ई-मोबिलिटी, एग्रो पीवी, ग्रीन हाइड्रोजन और कचरे से ऊर्जा बनाने जैसी नई पहलों के बारे में बताया गया। इन पहलों से राष्ट्रीय लक्ष्यों को तेजी से हासिल करने में मदद मिलेगी।

एसईसीआई के दल को राज्यमंत्री श्री खुबा की उत्साहवर्धक टिप्पणियों से काफी प्रोत्साहन मिला और उन्होंने देश में नवीकरणीय ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ाने की प्रतिबद्धता को दोहराया।

नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में की गई प्रगति की सराहना करते हुए मंत्री ने आश्वस्त किया कि इस मिशन को सरकार का पूर्ण समर्थन है।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001JTBG.jpg

**

06:57

किसानों को लगभग 4543 करोड रूपए का ऋण खेती बैंक ने अभी तक दिया है


नई दिल्ली:केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए द गुजरात स्टेट को-ऑपरेटिव एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट बैंक लि. (खेतीबैंक)की अहमदाबाद में आयोजित 70 वीं AGMको संबोधित किया।

 

            इस अवसर पर श्री अमित शाह ने कहा किआज भारत आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है और 25 साल बाद आजादी की शताब्दी मनाएगा। ऐसे में देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने सहकार से समृद्धि का संकल्प पूरे देश के सामने रखा है। मोदी जी ने देश की समृद्धि और आर्थिक उत्थान में योगदान देने की जिम्मेदारी सहकारिता क्षेत्र को सौंपी है। आज गुजरात के सहकारी महाकुंभ में 70 साल पूरे कर खेती बैंक 71वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है, मैं इसके लिए बैंक से जुड़े सभी किसान भाईयो और अन्य लोगों को दिल से बधाई देना चाहता हूं। 

श्री अमित शाह ने कहा कि द गुजरात स्टेट को-ऑपरेटिव एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट बैंक लि. जिसे खेती बैंक कहते हैं, उसकी स्थापना 1951 में हुईऔर उस वर्ष में इसकी स्थापना का ऐतिहासिक महत्व भी है। सौराष्ट्र और काठियावाड़ में उस वक़्त लगभग 222 छोटे-छोटे रजवाडे थे और समग्र सौराष्ट्र की जमीन राजों-रजवाडों के नाम पर थी। किसान राजा के लिए जमीन जोतते थे और अपना जीवनयापन करते थे। परंतु जब राजों-रजवाडों का एकीकरण देश के लौहपुरूष सरदार पटेल के नेतृत्व में हुआ और भारतीय संघ अस्तित्व में आया तब स्वाभाविक तौर से उस जमीन के मालिक किसान बनते। लेकिन उस समय राजों-रजवाडों को क़ीमत देने के लिए किसानों के पास पैसा नहीं था और इस कारण वह भूमि उनके नाम नहीं हो सकी। उस समय सरदार पटेल साहब की प्रेरणा से और पोरबंदर के युवराज उदयभान सिंह जी के प्रयासों से एक सौराष्ट्र लैंड मोर्गेज बैंक की स्थापना हुई और किसानों को ऋण देकर उन्हें जमीन का मालिक बनाने की प्रक्रिया शुरू हुई। आज सौराष्ट्र, कच्छ और उत्तर गुजरात के किसान जमीन के मालिक हैं और इसका सबसे बडा श्रेय इस खेती बैंक को जाता है। उससमय 56 हजार किसान भाईयों को जमीन का मालिक बनाने में इस खेती बैंक ने लोन देकर बहुत बड़ी भूमिका अदा की थीऔर उन 56 हजार किसानों के माध्यम से आज यह संख्या बहुत बडी होने जा रही है।

06:55

डाक विभाग के कर्मचारियों के अच्छे प्रदर्शन को मान्यता देने के लिए मेघदूत पुरस्कार प्रदान किया गया


नई दिल्ली संचार, रेल, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव और संचार राज्य मंत्री श्री देवुसिंह चौहान ने इंडिया हैबिटाट सेंटर के स्टीन ऑडिटोरियम में आयोजित एक समारोह में डाक विभाग के एक ई-लर्निंग पोर्टल ‘डाक कर्मयोगी' की आज (28-06-2022) शुरूआत की।

wps6 

इस पोर्टल को 'मिशन कर्मयोगी' की परिकल्पना के तहत 'संस्‍‍थान में' विकसित किया गया है, जिसकी संकल्पना प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍‍द्र मोदी ने भारत सरकार के सभी कर्मचारियों के कार्यों में दक्षता लाने और ‘न्यूनतम सरकार' और 'अधिकतम शासन' के साथ नौकरशाही की कार्य क्षमता में बदलाव लाने के उद्देश्य से की थी। ।

'डाक कर्मयोगी' पोर्टल लगभग 4 लाख ग्रामीण डाक सेवकों और विभागीय कर्मचारियों की दक्षताओं में वृद्धि करेगा, जिससे प्रशिक्षुओं की समान मानकीकृत प्रशिक्षण सामग्री तक ऑनलाइन या मिश्रित कैंपस मोड तक पहुंच प्रदान करने में सक्षम बनाया जा सके ताकि वे ग्राहक की बेहतर संतुष्टि के लिए कई जी2सी सेवाओं को प्रभावी ढंग से वितरित कर सकें। अंतिम योगात्मक मूल्यांकन के सफल समापन पर, एक स्वत: तैयार पाठ्यक्रम पूर्णता प्रमाण पत्र प्रशिक्षु के पंजीकृत ईमेल आईडी पर भेजा जाएगा। प्रशिक्षु प्रत्येक वीडियो और अन्य शिक्षण सामग्री के लिए अपनी प्रतिक्रिया, रेटिंग और सुझाव दे सकते हैं ताकि आवश्यक संवर्धन सुनिश्चित किया जा सके।

डाक विभाग अपने 10 डाक प्रशिक्षण कें‍द्रों/क्षेत्रीय प्रशिक्षण केन्द्र और रफी अहमद किदवई राष्ट्रीय डाक अकादमी (आरएकेएनपीए), केन्द्रीय प्रशिक्षण संस्थान के नेटवर्क के माध्यम से अपने कर्मचारियों को प्रशिक्षण दे रहा है। हालांकि, इस पोर्टल के शुभारंभ के साथ, विभागीय कर्मचारी और ग्रामीण डाक सेवक अपनी सुविधा के अनुसार 'कभी भी, कहीं भी' प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेंगे और अपने दृष्टिकोण, कौशल तथा ज्ञान (एएसके) को अपनी सुविधानुसार अपडेट कर सकेंगे। यह पोर्टल कर्मचारियों और ग्रामीण डाक सेवकों को अपग्रेड करके बेहतर सेवाएं प्रदान करने में समर्थ होकर लम्‍‍बा सफर तय करेगा।

Monday, 27 June 2022

08:26

जहां झुग्गी वही मकान को लेकर झुग्गीवासी फिर शुरू करेंगे आंदोलन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

 नोएडा, झुग्गी बस्ती की समस्याओं को लेकर नोएडा झुग्गी झोपड़ी संयुक्त पुनर्वास मंच के पदाधिकारियों/ सदस्यों की बैठक 26 जून 2022 को मंच के अध्यक्ष रमाकांत सिंह की अध्यक्षता सीटू कार्यालय सेक्टर- 8, नोएडा पर हुई। बैठक का संचालन मंच के कोषाध्यक्ष शाहबुद्दीन ने किया।
 बैठक को संबोधित करते हुए मंच के संयोजक गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि प्राधिकरण की उपेक्षा व मनमानी से झुग्गी वासियों की परेशानियां लगातार बढ़ रही है। जिन झुग्गी वासियों ने नोएडा प्राधिकरण की पुनर्वास स्कीम के तहत फ्लैट लिया है उन्हें बुनियादी सुविधाएं नहीं दी जा रही है तथा सीलिंग के नाम पर जबरदस्त भ्रष्टाचार हो रहा है तथा सीलिंग में भेदभाव किया जा रहा है नेताओं व प्रभावशाली लोगों की झुग्गी सील नहीं की जा रही है।
 साथ ही उन्होंने विस्तार से झुग्गी बस्ती की समस्याओं को रेखांकित किया और कहा कि जिन्हें फ्लैट लेना था उन्होंने ले लिया अब शेष बचे झुग्गी वासियों को केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार की योजना के तहत जहां झुग्गी वही मकान के तहत स्थाई कर सभी मूलभूत बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करा दी जाए।
 मंच के संयोजक व अध्यक्ष द्वारा रखे गए प्रस्ताव पर मंच के वरिष्ठ नेता उपदेश श्रीवास्तव, मुन्ना आलम, वीरो देवी, होराम शर्मा, हारून खान, अजब सिंह, अवधेश चौबे, बाला देवी, दीपक आदि ने बैठक को संबोधित करते हुए अपने अपने विचार- सुझाव रखे।
 बैठक में सर्वसम्मति से तय किया गया कि जहां झुग्गी वही मकान की मांग को लेकर अभियान चलाकर नोएडा प्राधिकरण पर बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा। अभियान/ आंदोलन की शुरुआत 2 जुलाई 2022 को शाम 5:00 बजे बांस बल्ली मार्केट तिराहे पर विशाल आमसभा किए जाने के साथ होगी। मंच के नेताओं ने झुग्गी वासियों के बड़ी संख्या में उक्त सभा में शामिल होने की अपील किया। 

Sunday, 26 June 2022

21:18

आत्मनिर्भर भारत अभियान में ‘वोकल फॉर लोकल’ पर काम कर रही केंद्र सरकार - श्री तोमर


नई दिल्ली:केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने नागालैंड प्रवास के दौरान भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के राष्ट्रीय मिथुन अनुसंधान केंद्र (एनआरसी), आईसीएआर के अनुसंधान संस्थान व अनानास के खेत का दौरा किया। इस दौरान श्री तोमर ने कहा कि भारत सरकार आत्मनिर्भर भारत अभियान में ‘वोकल फॉर लोकल’ की थीम पर लगातार काम कर रही है। “कोविड-19 महामारी के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा इसके लिए पहल करते हुए इस पर विशेष जोर दिया गया व देश के आर्थिक विकास के लिए इसे मिशन मोड पर लिया गया है,” उन्होंने कहा।

श्री तोमर ने कहा कि राष्ट्रीय मिथुन अनुसंधान केंद्र पूर्वोत्तर भारत का अनूठा जैव संसाधन है, जिसे संरक्षित करना सबकी जिम्मेदारी है।

“पहले मिथुन को फ्री-रेंज सिस्टम में पाला जाता था, जैसे-जैसे कृषि बढ़ रही है, वन क्षेत्र कम हो रहा है, ऐसे में किसानों को आईसीएआर-एनआरसी द्वारा विकसित अर्ध-गहन प्रणाली के तहत मिथुन पालन के लिए प्रथाओं का वैकल्पिक पैकेज अपनाना चाहिए,” उन्होंने कहा।

श्री तोमर ने मिथुन-किसानों को उनके आर्थिक उत्थान के लिए लाभान्वित करने वाली प्रौद्योगिकियों के विकास में संस्थान की सफलता पर बात की, साथ ही किसानों में रूचि पैदा करके व आय बढ़ाकर जीवन स्तर बदलने के लिए केंद्र के प्रयासों को सराहा। उन्होंने किसानों के अधिकाधिक लाभ के लिए मिथुन के उपयोग पर और शोध करने की जरूरत भी बताई। श्री तोमर ने इस केंद्र से दूध के पोषण व चिकित्सीय गुणों का पता लगाने और एक व्यवसाय मॉडल विकसित करने के लिए अनुसंधान करने का आग्रह किया और कहा कि प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए मिथुन के गोबर और मूत्र की उर्वरक क्षमता का पता लगाना होगा। श्री तोमर ने केंद्र द्वारा विकसित विभिन्न तकनीक व उत्पाद प्रदर्शित करने वाले मिथुन फार्म और प्रदर्शनी स्टालों का दौरा किया। उन्होंने केंद्र द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों, जैसे- फीड ब्लॉक, मिनरल ब्लॉक डिस्पेंसर व क्षेत्र-विशिष्ट खनिज मिश्रण पर चर्चा की। उन्होंने यहां पौधारोपण भी किया। निदेशक डॉ. एम.एच. खान ने स्वागत भाषण देते हुए केंद्र की 33 वर्षों की प्रमुख उपलब्धियों पर प्रकाश डाला

20:34

Loksabha Election 2024: श्रमिक नेता रामजी पांडे लड़ सकते है लोकसभा चुनाव

UP: प्रदेश में वर्षों से श्रमिकों की लड़ाई लड़ रहे श्रमिक नेता व श्रमिक विकास संगठन SVS के उत्तर प्रदेश के प्रदेश उपाध्यक्ष रामजी पांडे 2024 का आगामी लोकसभा चुनाव लड़ सकते है।
मिली जानकारी के अनुसार रामजी पांडे  आगामी 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ सकते है।  हालांकि वह यह चुनाव कहाँ से और किस पार्टी से लड़ेंगे यह अभी तक पता नही चल सका है ।लेकिन चर्चा है कि वह उत्तर प्रदेश की ही किसी सीट से चुनाव लड़ सकते है।बताते चले कि रामजी पांडे पिछले दिनों देश भर में भ्रष्टाचार के विरुद्ध चले अन्ना हजारे के लोकपाल आंदोलन से जुड़े रहे है ।इसके बाद बनी आम आदमी पार्टी में भी काफी सक्रिय रहे है।बाद में आम आदमी पार्टी की मजदूर इकाई SVS के गौतमबुद्ध नगर के जिला अध्यक्ष,फिर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रदेश सचिव कई जिलों के प्रभारी
 रहते हुए मौजूदा वक्त में उतर प्रदेश के प्रदेश उपाध्यक्ष है।
इस पर उनसे बात करने पर उन्होंने कहा कि मै आम आदमी पार्टी का एक छोटा सा कार्यकर्ता हूँ पार्टी मेरे लिये सर्वपरि है ।पार्टी जो आदेश देगी वही करूंगा।
06:37

संत कबीरदास का विजन भारतीय संस्कृति को समझने की कुंजी: श्री अर्जुन राम मेघवाल


नई दिल्ली:गलियों में प्रदर्शन करने वाले, रेलगाड़ियो में मनोरंजन करने वाले, मंदिरों से जुड़े कलाकारों आदि सहित देश भर के दुर्लभ संगीत वाद्ययंत्रों की प्रतिभा को प्रदर्शित करने के लिए एक अनूठा उत्सव ज्योतिर्गमय का आज नई दिल्ली के कमानी ऑडिटोरियम में समापन हुआ।

केन्‍द्रीय संस्कृति और विदेश राज्य मंत्री श्रीमती मीनाक्षी लेखी, केन्‍द्रीय संस्कृति और संसदीय कार्य राज्य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल और संस्कृति मंत्रालय में सचिव श्री गोविंद मोहन भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0019S1W.jpg

इस अवसर पर संस्कृति राज्य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल ने कबीर गायन की विशेष प्रस्तुति दी। श्री मेघवाल ने कबीर परंपरा के महत्व की व्‍याख्‍या करते हुए बताया कि हमें भारतीय संस्कृति को समझने के लिए संत कबीरदासजी के दृष्टिकोण को समझने की आवश्‍यकता है।

श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने अपने संबोधन में कहा कि यह युवाओं का उत्तरदायित्‍व है कि वे हमारे समृद्ध सांस्कृतिक इतिहास को आगे ले जाएं। उन्होंने कहा कि त्योहार के दौरान बजाए जाने वाले दुर्लभ वाद्ययंत्रों ने लोगों को ऐसे समय में आवाज प्रदान की, जब समाज को शब्दों द्वारा समझाया जाना विफल रहा।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002K6Q3.jpg

श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने ब्रह्म वीणा के वरिष्ठतम कलाकार श्री आनंद बाग का अभिनंदन किया। इसके बाद विभिन्न दुर्लभ संगीत वाद्ययंत्रों पर कलाकारों द्वारा प्रस्तुतियां दी गईं। संगीत नाटक अकादमी के सचिव ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी के प्रति हार्दिक कृतज्ञता व्यक्त की।

06:35

नशीले पदार्थों के दुरुपयोग के विरुद्ध अंतर्राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर नशा मुक्त भारत अभियान चलाया गया

रामजी पांडे

नई दिल्ली:सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा आज नई दिल्ली के प्रगति विहार में भीष्म पितामह मार्ग स्थित जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में नशा मुक्त भारत अभियान दौड़ -नशीले पदार्थों के दुरुपयोग के विरुद्ध 19वीं दौड़ - का आयोजन किया गया। इस दौड़ का आयोजन नई दिल्ली के हेल्थ फिटनेस ट्रस्ट के सहयोग से किया जा रहा है। युवाओं और अन्य लोगों को नशे से दूर करने और देश को नशा मुक्त बनाने के लिए प्रतिभागियों को संकल्‍प भी दिलाया जाएगा।


https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001BITP.jpg

नशीले पदार्थों के दुरुपयोग के विरुद्ध जन जागरूकता फैलाने के लिए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार द्वारा दौड़ को झंडी दिखाने के बाद शपथ दिलाई जाएगी।

नशीले पदार्थों के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के विरुद्ध अंतर्राष्ट्रीय दिवस हर साल 26 जून को नशीले पदार्थों के दुरुपयोग से मुक्त दुनिया का निर्माण करने के लिए उठाए गए कदमों और सहयोग को सुदृढ़ बनाने के लिए मनाया जाता है। इस दौड़ का आयोजन इसके लिए जागरूकता पैदा करने और नशीली पदार्थों के दुरुपयोग के विरुद्ध एक संयुक्त मोर्चा प्रस्‍तुत करने के लिए किया जाता है।

06:33

अनुराग ठाकुर ने मीडिया एवं इंटरटेनमेंट क्षेत्र में स्टार्ट-अप संस्कृति को मजबूत करने का आह्वान किया


नई दिल्ली :केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा कि देश में तेजी से बढ़ते डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर और एवीजीसी (एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक्स) क्षेत्र में हो रही प्रगति भारत को मीडिया और मनोरंजन उद्योग का पसंदीदा पोस्ट-प्रोडक्शन केंद्र बनाने की क्षमता रखती है।

पुणे में सिम्बायोसिस स्किल एंड प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित 'मीडिया और मनोरंजन के बदलते परिदृश्य 2022' पर राष्ट्रीय सम्मेलन में मुख्य भाषण देते हुए, श्री ठाकुर ने कहा, "एवीजीसी क्षेत्र के लिए एक ठोस डिजिटल आधार देश भर में उभर रहा है तथा घरेलू एवं वैश्विक मांग को पूरा करने के लिए विश्व स्तरीय रचनात्मक प्रतिभा विकसित करने के लिए सरकार ने एवीजीसी क्षेत्र के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया है।”

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/IMG-20220626-WA0000UDJL.jpg

सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि मीडिया और इंटरटेनमेंट इको-सिस्टम एक उभरता हुआ क्षेत्र है,  जो 2025 तक सालाना 4 लाख करोड़ रुपये अर्जित करने और 2030 तक 100 अरब डॉलर या 7.5 लाख करोड़ रुपये के उद्योग तक पहुंच सकता है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने ऑडियो-विजुअल सेवाओं को 12 चैंपियन सेवा क्षेत्रों में से एक के रूप में नामित किया है और उन्होंने इसके निरंतर विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रमुख नीतिगत उपायों की घोषणा की।

श्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि रेडियो, फिल्म और मनोरंजन उद्योग में रोजगार के बहुत बड़े अवसर हैं, क्योंकि हम गुणवत्तापूर्ण कंटेंट क्रिएशन के डिजिटल युग में छलांग लगा रहे हैं। उन्होंने कहा, "वीडियो संपादन, कलर ग्रेडिंग, विजुअल इफेक्ट्स (वीएफएक्स), साउंड डिजाइन, रोटोस्कोपिंग, 3 डी मॉडलिंग इत्यादि क्षेत्रों में कई प्रकार के रोजगार उभरे हैं। इस क्षेत्र में प्रत्येक नौकरी की भूमिका के लिए कौशल और दक्षताओं के एक विशिष्ट सेट की आवश्यकता होती है। उद्योग और शिक्षा जगत के लिए यह अनिवार्य है कि वे एक साथ आएं और इस क्षेत्र की जरूरतों के लिए प्रासंगिक कार्यक्रम तैयार करें।" श्री ठाकुर ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए निजी क्षेत्र के साथ नई साझेदारी कायम करने में जुटी है ताकि देश के छात्रों का रुझान इस क्षेत्र से जुड़ी प्रौद्योगिकी के अनुरूप हों।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/IMG-20220626-WA00016XXD.jpg

श्री ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रौद्योगिकी के प्रति उत्साह ने युवाओं की महत्वाकांक्षा को पंख देने के अवसर प्रदान किए हैं और युवाओं को सशक्त बनाने की प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षा को कौशल भारत मिशन द्वारा साकार किया गया है, जिसका उद्देश्य बाजार में 40 करोड़ युवाओं को आवश्यक कौशल प्रशिक्षण प्रदान करना है।

भारत के अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2021 के दौरान शुरू की गई '75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमॉरो' परियोजना के बारे में श्री ठाकुर ने कहा कि उनमें से कई प्रतिभाएं मीडिया और मनोरंजन क्षेत्र में रचनात्मक योगदान दे रही हैं और कुछ ने सफल स्टार्ट-अप स्थापित किए हैं।

भारत में बढ़ते स्टार्ट-अप इको-सिस्टम के बारे में चर्चा करते हुए, श्री ठाकुर ने कहा, यहां तक कि कोविड महामारी की अवधि के दौरान भी भारत ने 50 यूनिकॉर्न स्टार्ट-अप जोड़े, जो भारत की उद्यमशीलता की भावना से अवगत कराता है। श्री ठाकुर ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि एफटीआईआई और एसआरएफटीआई जैसे प्रमुख फिल्म स्कूलों द्वारा निर्मित प्रतिभा पूल से अधिक से अधिक स्टार्ट-अप उभरेंगे।

06:20

गृह मंत्रालय से सम्बद्ध संसदीय परामर्शदात्री समिति की बैठक हुई

नई दिल्ली :केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह की अध्यक्षता में आज केवड़िया, गुजरात में ‘न्यायालयिक विज्ञान क्षमताएं: समयबद्ध और वैज्ञानिक जांच के लिए सुदृढ़ीकरण’ विषय पर गृह मंत्रालय से सम्बद्ध संसदीय परामर्शदात्री समिति की बैठक हुई। बैठक में समिति के दोनों सदनों के सदस्य, गृह राज्य मंत्री श्री नित्यानंद राय, श्री अजय कुमार मिश्रा, श्री निशिथ प्रामाणिक और केन्द्रीय गृह सचिव सहित गृह मंत्रालय, एनसीआरबी और राष्ट्रीय फॉरेन्सिक विज्ञान विश्वविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। बैठक में देश में उपलब्ध फोरेंसिक विज्ञान क्षमताओं, विशेष रूप से फोरेंसिक जांच पर आपराधिक न्याय प्रणाली की बढ़ती निर्भरता को ध्यान में रखते हुए, की समीक्षा की गई।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार देश की आंतरिक और बाहरी सुरक्षा को सबसे अधिक महत्व देती हैऔर अपराध का पता लगाने और रोकथाम के लिए प्रणालियों को मजबूत करने और प्रभावी कानून प्रवर्तन के माध्यम से लोक कल्याण के प्रति कटिबद्ध है। केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह के मार्गदर्शन में केंद्रीय गृह मंत्रालय 90% तक दोषसिद्धि दर हासिल करने और देश में एक नागरिक अनुकूल और प्रभावी आपराधिक न्याय प्रणाली प्रदान करने के प्रति कटिबद्ध है।

श्री अमित शाह ने अपराधियों द्वारा प्रौद्योगिकी के उपयोग के मद्देनज़र जांच ऐजेंसियों को उनसे एक कदम आगे रहने की आवश्यकता पर ज़ोर दिया और कहा कि मोदी सरकार राज्य सरकारों के साथ मिलकर पुलिस जांच, अभियोजन और फोरेंसिक के क्षेत्र में सुधारों के लिए त्रि-आयामी दृष्टिकोण पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि लक्षित दोषसिद्धि दर हासिल करने के लिए प्रौद्योगिकी आधारित और साक्ष्य आधारित जांच पर ध्यान देने का ये सही समय है।

Saturday, 25 June 2022

04:35

पीएमएवाई-यू की 7 साल की यात्रा के दौरान इस मिशन की उपलब्धियों पर ई-बुक का विमोचन

नई दिल्ली:भारतीय वायु सेना ने आज पहले युद्ध और एयरोस्पेस रणनीति कार्यक्रम (डब्ल्यूएएसपी) के समापन के अवसर पर नई दिल्ली स्थित वायु सेना सभागार में कैपस्टोन सेमिनार का आयोजन किया। यह सेमिनार कॉलेज ऑफ एयर वारफेयर एंड सेंटर फॉर एयर पावर स्टडीज के तत्वावधान में आयोजित किया गया। इस अवसर पर वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने अपना मुख्य भाषण दिया। इस कार्यक्रम में तीनों सेवाओं के वरिष्ठ अधिकारी, वायु शक्ति के विद्वान और देश के प्रमुख थिंक टैंक व प्रमुख कॉलेजों के शिक्षाविदों ने हिस्सा लिया।

वायु सेना प्रमुख ने अपने संबोधन में बताया कि डब्ल्यूएएसपी का उद्देश्य भारतीय वायुसेना के अधिकारियों में रणनीतिक सोच और समझ पैदा करना है। उन्होंने रेखांकित किया कि इस कार्यक्रम को एक राष्ट्र की व्यापक राष्ट्रीय शक्ति के प्रमुख विषयों से प्रतिभागियों को परिचित कराने के लिए डिजाइन किया गया था, जो उन्हें संपूर्ण सरकार के दृष्टिकोण को समझने व स्वतंत्र विचार प्रस्तुत करने में सक्षम बनाएगा। उन्होंने भारतीय वायुसेना की रणनीतिक प्राथमिकताओं का फिर से मूल्यांकन करने और कार्यों को फिर से संगठित करने की जरूरत पर जोर दिया, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि सेवा पीछे न छूट जाए। वायु सेना प्रमुख ने प्रतिभागियों को बधाई दी। उन्होंने आगे प्रतिभागियों से अपने प्राप्त ज्ञान को व्यावहारिक रणनीतियों में रूपांतरित करने और यह याद रखने का अनुरोध किया कि उनके विचार न केवल वायु शक्ति से संबंधित रणनीतियों को आगे बढ़ाएंगे, बल्कि सुसंगत सैन्य और राष्ट्रीय रणनीति बनाने में भी योगदान देंगे। उन्होंने इस तथ्य को भी रेखांकित किया कि एक अच्छी तरह से तैयार की गई रणनीति सफलता की गारंटी नहीं दे सकती है, एक सुसंगत और टिकाऊ रणनीति की अनुपस्थिति निश्चित रूप से विफलता का कारण बनेगी।

इस सेमिनार के प्रतिभागियों ने हालिया संघर्षों में वायु शक्ति के अनुप्रयोग और राष्ट्रीय सुरक्षा में वायु शक्ति की प्रमुख भूमिका को स्थापित करने वाले बदलते सैद्धांतिक नियमों से संबंधित समकालीन विषयों पर पेपर प्रस्तुत किए।

04:31

पीएमएवाई-यू की 7 साल की यात्रा के दौरान इस मिशन की उपलब्धियों पर ई-बुक का विमोचन


नई दिल्ली:आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय (एमओएचयूए) ने प्रधानमंत्री आवास योजना- शहरी (पीएमएवाई-यू) के 7 साल पूरे होने का जश्न मनाने के लिए आज एक वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन किया। इस योजना को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 25 जून 2015 को लॉन्च किया गया था। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय के सचिव श्री मनोज जोशी ने की। कार्यक्रम में मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, राज्यों/ केंद्रशासित प्रदेशों के प्रधान सचिव, राज्यों/ केंद्रशासित प्रदेशों के एमडी और केंद्र एवं राज्य सरकारों के वि​भिन्न हितधारकों ने भाग लिया।

A group of people sitting at desks in a meetingDescription automatically generated with medium confidence

इस सातवीं वर्षगांठ समारोह में पीएमएवाई-यू मिशन के तहत कार्या​न्वित महत्वपूर्ण पहलों पर प्रकाश डाला गया। पीएमएवाई-यू दुनिया का एक सबसे बड़ा शहरी आवास कार्यक्रम है। शुरुआत में पीएमएवाई-यू की 7 साल की शानदार यात्रा को दर्शाने वाला एक वीडियो चलाया गया जिसमें दिखाया गया था कि मिशन किस प्रकार लाखों भारतीयों के लिए पक्के घर के सपने को पूरा कर रहा है।

एमओएचयूए के सचिव ने कार्यक्रम के दौरान इस मिशन की उपलब्धियों पर एक ई-बुक का विमोचन किया। इस पुस्तक में देश के शहरी परिदृश्य को बदलने के लिए इस मिशन के तहत जारी पहलों व सुधारों के बारे में बताया गया है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसमें पीएमएवाई-यू के लाखों लाभार्थियों पर इस मिशन के प्रभाव पड़ा  के बारे में बताया गया है जो अब सभी बुनियादी सुविधाओं के साथ एक पक्के मकान के मालिक हैं। ई-बुक को पीएमएवाई-यू की वेबसाइट (https://pmay-urban.gov.in/) से डाउनलोड किया जा सकता है।

04:29

सबसे कमजोर तबके के जीवन में बदलाव लाना ही वास्तविक विकास- श्री तोमर


नई दिल्ली:केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि विकास की जब बात हो तो दृष्टि सर्वांगीण होना चाहिए। “विकास का मतलब सिर्फ सड़कें या घर बनाना ही नहीं होता बल्कि समाज के सबसे कमजोर तबके के जीवन में सकारात्मक बदलाव आएं, तभी सार्थकता है और यहीं वास्तविक विकास है। एक लंबे कालखंड के बाद श्री नरेंद्र मोदी के रूप में देश को एक ऐसे प्रधानमंत्री का नेतृत्व मिला है, जिनमें कुछ कर गुजरने की तमन्ना है, उनमें श्रेष्ठ भारत की कल्पना है और इसे साकार करने का जज्बा भी है,” उन्होंने कहा।

श्री तोमर ने यह बात इंडिया सस्टेनेबिलिटी कॉन्क्लेव में कही। केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी विशेष अतिथि थे। श्री तोमर ने कहा कि हमारे देश में बड़ी आबादी है, जिन्हें सुविधाएं मुहैया कराते हुए विकसित भारत का निर्माण तभी संभव होगा, जब इसमें सभी लोग मिलकर योगदान दें। “सभी के कंधे- सभी के कदम, हर व्यक्ति-हर क्षेत्र इसमें साथ निभाएं। मनुष्य जीवन का सदुपयोग समाज के हित, प्रकृति की रक्षा, देश की सेवा और देश को निरंतर उत्कृष्टता की ओर ले जाने में होना चाहिए,” उन्होंने कहा।

श्री तोमर ने कहा कि कृषि प्रधान देश होने के नाते कृषि क्षेत्र की भूमिका महत्वपूर्ण है। “यदि हम कृषि क्षेत्र से विमुख होते गए तो पैसा होने पर भी कृषि उत्पाद उपलब्ध नहीं होंगे। देश की आजादी के समय जीडीपी में कृषि क्षेत्र का योगदान पचास प्रतिशत था, जो धीरे-धीरे घटता गया व बाकी सेक्टर बढ़ते गए, जो तात्कालिक परिस्थितियां थी लेकिन आज हमें देखना होगा कि देश में कृषि का क्षेत्र व्यापक है और लगभग साठ प्रतिशत आबादी कृषि से जुड़ी हुई है तथा अधिकांश लोगों की आजीविका कृषि पर निर्भर है, छियासी प्रतिशत छोटे किसान है, जिनके लिए खेती को लाभप्रद बनाते हुए उन्नत कृषि के रूप में बदलना, वैश्विक मानकों के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण उत्पादन बढ़ाना जरूरी है,” उन्होंने कहा।

श्री तोमर ने कहा ड्रोन जैसी टेक्नालाजी, डिजिलट एग्री मिशन तथा निजी निवेश बढ़ाने आदि के जरिये कृषि को उन्नत बनाया जा रहा है। “पूर्व सरकारों में कृषि को अपेक्षित प्रधानता नहीं मिली व कृषि विकास के प्रति नजरिया कमजोर रहा, जिससे किसानों की आमदनी नहीं बढ़ी व पर्याप्त साधन भी उन्हें उपलब्ध नहीं हुए लेकिन अब प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में किसानों को सशक्त किया जा रहा है,” उन्होंने कहा।

श्री तोमर ने कहा कि आज के बदलते भारत में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से साढ़े 11 करोड़ किसानों के बैंक खातों में हर साल छह-छह हजार रू. भेजे जाते है, जो दुनिया का सबसे बड़ा कार्यक्रम है। “अभी तक 2 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा राशि किसानों को दी जा चुकी है, जिसमें अमानत में खयानत नहीं होती, पूरे छह हजार रु. सीधे किसानों के खातों में जमा होते हैं,” 

Friday, 24 June 2022

05:13

एनसीसी कैडिटों को शस्त्र प्रशिक्षण का अभ्यास कराया

सहारनपुर 24 जून। 26 उ.प्र. बालिका वाहिनी एनसीसी के वार्षिक प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन कैम्प कमान्डेन्ट ले.कर्नल लक्ष्मण सिंह गुंसाई ने कैडेटों को सम्बोधित करते हुए बताया कि एनसीसी भारत सरकार द्वारा चलाया जाने वाला एक युवा शक्ति कार्यक्रम है, जो कि युवाओं को सेना के प्रति आकर्षित करता है। 
श्री गुंसाई विद्या देवी कन्या डिग्री कालेज, जन्धेडा समसपुर में चल रहे शिविर के दूसरे दिन एनसीसी कैडिटों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एनसीसी शिविर में कैडेटों को सेना से सम्बन्धित सभी तरह की शिक्षाएं दी जाती है। प्रशिक्षण शिविर में दूसरे दिन कैडेटों को कई तरह के प्रशिक्षण दिये गये, जिनमें मैप रीडिंग, टैन्ट लगाने का अभ्यास, बाधांए पार करने का अभ्यास, शस्त्र प्रशिक्षण व फायरिंग का अभ्यास कराया गया। 
इसके अतिरिक्त शिविर में मेजर शशि मेहता, डिप्टी कैम्प कमान्डेंट कैप्टेन अल्का अग्रवाल, ले.मुक्ता शर्मा, सूबेदार मेजर दलीप सिंह सूबेदार मेजर बिटटू सिंह, जीसीआई भावना खत्री, बीएचएम सत्रे रामदास, सीएचएम शांति कुमार आदि ने भाग लिया।
03:42

NOIDA:अग्निपथ योजना रद्द कराने की मांग पर माकपा का प्रदर्शन

रामजी पांडेय
 नोएडा, अग्निपथ योजना रद्द करो, सेना में स्थाई भर्ती शुरू करनी होगी, देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करना बंद करो, खाली पड़े सभी सरकारी पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू करो आदि नारों के साथ भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी गौतम बुध कमेटी ने सेक्टर- 8, नोएडा बॉस बल्ली मार्केट पर विरोध प्रदर्शन किया और महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन भेजा।
 विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए सीपीआईएम जिला प्रभारी गंगेश्वर दत्त शर्मा ने केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना की कड़ी आलोचना करते हुए देश हित में उक्त योजना को वापस लिए जाने की मांग करते हुए कहा कि अग्नीपथ योजना देश के बेरोजगार युवाओं के सपनों के साथ खिलवाड़ तो है ही साथ ही राष्ट्रीय सुरक्षा व देश के भविष्य के साथ भी खिलवाड़ है। तथा सेना में ठेका प्रथा शुरू करना ही इसका मकसद है। जिसका सेना की कार्य क्षमता गुणवत्ता पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा जिसे कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता है साथ ही उन्होंने उक्त योजना को रद्द कर सेना में स्थाई भर्ती शुरू करने की मांग किया।
 विरोध प्रदर्शन को माकपा नेता भरत डेंजर, रामाकांत सिंह, रविंद्र भारती, सीटू नेता पूनम देवी, भोला सिंह आदि ने संबोधित किया।


*सीपीआई(एम) की ओर से अग्निपथ विरोध दिवस पर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन* गंगेश्वर दत्त शर्मा

24 जून 2024

श्री रामनाथ कोविंद
महामहिम राष्ट्रपति, भारत गणतंत्र
राष्ट्रपति भवन,
नई दिल्ली

विषय: देश, जवान और किसान के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वाली "अग्निपथ" योजना को रद्द करने बाबत

महामहिम राष्ट्रपति जी,

आप देश के मुखिया होने के साथ-साथ भारत की सेना के सर्वोच्च कमांडर भी हैं। देश में जवान और किसान के अभिन्न रिश्ते से आप परिचित हैं। इसलिए हम भारत के जवान और किसान इस उम्मीद के साथ आपसे यह अपील कर रहे हैं कि आप "अग्निपथ" नामक योजना से देश, जवान और किसान के भविष्य के साथ होने वाले खिलवाड़ को रोकेंगे। 

1. महामहिम, जैसा आप जानते हैं, केंद्र सरकार भारतीय सेना में भर्ती की पुरानी पद्धति को खत्म कर "अग्निपथ" नामक एक नई योजना लाई है। इस नई योजना के के तहत सेना की भर्ती में कई बड़े और दूरगामी बदलाव एक साथ किए गए हैं:
a) सेना में जवानों की पक्की नौकरी में सीधी भर्ती बंद कर दी गई है।
b) थल सेना और वायु सेना में जो पक्की भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो चुकी थी (जिसमें फाइनल टेस्ट या नियुक्ति पत्र जारी करने बाकी थे) उसे भी रद्द कर दिया गया है।
c) अब से सेना में भर्ती सिर्फ 4 साल के कॉन्ट्रैक्ट की नौकरी के जरिए होगी। अग्निवीर नामक इन अस्थाई कर्मचारियों को न तो कोई रैंक दिया जाएगा न ही 4 साल के बाद कोई ग्रेच्युटी या पेंशन। चार साल की सेवा समाप्त होने के बाद इनमें से एक चौथाई या उससे भी कम को ही सेना में पक्की नौकरी दी जाएगी।
d) वर्ष 2020 में हुई पिछली भर्ती में 87,000 नियुक्तियों की जगह इस योजना के पहले साल में सिर्फ 46,000 और पहले चार साल में कुल दो लाख अग्निवीरों को नियुक्त किया जाएगा।
e) अब तक चले आ रहे रेजीमेंट आधारित क्षेत्र समुदाय कोटा की जगह सभी भर्तियां "ऑल इंडिया ऑल क्लास" के आधार पर होगी।

2. यह हैरानी की बात है कि इतने बड़े और दूरगामी बदलावों की घोषणा करने से पहले सरकार ने किसी न्यूनतम प्रक्रिया का भी पालन नहीं किया। नई भर्ती की प्रक्रिया का कोई "पायलट" प्रयोग कहीं नहीं किया गया। संसद के दोनो सदनों या संसद की रक्षा मामलों की स्थाई समिति के सामने इन प्रस्तावों पर कोई चर्चा नहीं हुई। इस योजना से प्रभावित होने वाले स्टेकहोल्डर (भर्ती के आकांक्षी युवा, सेवारत जवान और अफसर, सघन भर्ती के इलाकों के जनप्रतिनिधि और साधारण जनता) के साथ कभी कहीं कोई विचार-विमर्श नहीं किया गया। उलटे, पिछले कुछ वर्षों में सरकार ने वर्तमान रेजिमेंट भर्ती व्यवस्था को बनाए रखने और रिटायरमेंट की आयु को बढ़ाने जैसे फैसले लिए है।

3. पिछले कुछ दिनों से इस योजना को लेकर हुई राष्ट्रव्यापी चर्चा से यह स्पष्ट हो गया है कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा को बहुत बड़ा धक्का है:
a) अगर यह योजना अपने वर्तमान स्वरूप में लागू होती है तो आने वाले 15 वर्षों में हमारे सैन्य बलों की संख्या आधी या उससे भी कम रह जाएगी।
b) यह सोचना भी हास्यास्पद है कि 4 साल की अवधि में अग्निवीर वह तकनीकी दक्षता और संस्कार हासिल कर पाएंगे जिसके आधार पर वह देश की रक्षा के लिए प्राणों की बाजी लगा सकेंगे।
c) रेजिमेंट की सामाजिक बुनावट को रातों-रात बदलने से सेना के मनोबल पर बुरा असर पड़ेगा।
d) यह अफसोस की बात है कि सरकार ऐसे बदलाव उस समय ला रही है जबकि पिछले कुछ वर्षों में पड़ोसी देशों की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा गहरा हुआ है।
e) इस परिस्थिति में सरकार द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा के बजट को वर्ष 2017-18 में केंद्र सरकार के खर्च के 17.8% से घटाकर 2021-22 में 13.2% करना चिंताजनक है। यह राष्ट्रीय शर्म का विषय है की जो सरकार दिखावे के प्रोजेक्ट में तमाम फिजूलखर्ची कर सकती है वह सैनिकों के वेतन और पेंशन में कंजूसी कर रही है।
f) सेना के भूतपूर्व जनरल, अफसरों, परमवीर चक्र जैसे शौर्य पदक प्राप्त सैनिकों और सैन्य विशेषज्ञों ने इस योजना के गंभीर दुष्परिणाम के बारे में आगाह किया है। लेकिन सरकार की तरफ से इनका कोई जवाब नहीं आया है।

4. सेना में भर्ती के आकांक्षी युवाओं और देश के किसान परिवारों के लिए भी यह बहुत बड़ा धोखा है:
a) जिन युवकों की भर्ती प्रक्रिया 2020-21 में शुरू हो चुकी थी उसको बीच में रोकना उनके सपनों के साथ खिलवाड़ है।
b) सेना में भर्ती की संख्या को घटाना, सेवाकाल को घटाकर 4 साल करना और पेंशन समाप्त करना उन सब युवाओं और परिवारों के साथ अन्याय है जिन्होंने फौज को देशसेवा के साथ कैरियर के रूप में देखा है। किसान परिवारों के लिए फौज की नौकरी मान सम्मान के साथ आर्थिक खुशहाली से भी जुड़ी रही है है।
c) चार साल की सेवा के बाद तीन-चौथाई अग्नि वीरों को सड़क पर खड़ा कर देना युवाओं के साथ भारी अन्याय है। हकीकत यह है कि सरकार अब तक 15 से 18 साल सेवा करने वाले अधिकांश पूर्व सैनिकों के लिए भी पुनर्वास की संतोषजनक व्यवस्था नहीं कर पाई है। वह अग्नि वीरो के रोजगार की क्या व्यवस्था करेगी?
d) रेजीमेंट के सामाजिक चरित्र की जगह "ऑल क्लास ऑल इंडिया" भर्ती करने से उन क्षेत्रों और समुदायों को भारी झटका लगेगा जिन्होंने पीढ़ी दर पीढ़ी सेना के जरिए देश की सेवा की है। इनमे पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पूर्वी राजस्थान जैसे इलाके शामिल है।

5. महामहिम, ऐसा प्रतीत होता है कि अग्निपथ इस सरकार की एक व्यापक मुहिम का हिस्सा है जिसके तहत खेती पर कंपनी राज स्थापित करने की कोशिश की जा रही है, सभी स्थाई सरकारी नौकरियों को ठेके पर दिया जा रहा है या कॉन्ट्रैक्ट की नौकरी में बदला जा रहा है, देश की संपत्तियां प्राइवेट कंपनियों को बेची जा रही है और पूरे देश का नीति निर्धारण चंद कॉरपोरेट घरानों का हित साधने के लिए किया जा रहा है। ऐसी तमाम नीतियां जनता और जनप्रतिनिधियों से छिपाकर बनाई जा रही है और उनका विरोध करने वालों का बर्बर तरीके से दमन किया जा रहा है।

6. जैसा कि आप जानते हैं, उपरोक्त कारणों के चलते अग्निपथ योजना की घोषणा के बाद से युवाओं का आक्रोश सड़कों पर उबल पड़ा है। कई युवकों ने सदमे में आकर आत्महत्या कर ली है। पूरे देश भर में सड़कों पर प्रदर्शन हो रहे हैं। यह आक्रोश दुर्भाग्यवश कई जगह हिंसक स्वरूप भी ले रहा है। हमें बहुत अफसोस से कहना पड़ रहा है कि सरकार ने युवाओं के इस जख्मों पर मलहम लगाने की बजाय नमक छिड़कने का काम किया है और हास्यास्पद घोषणाएं की हैं। तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने लोकतांत्रिक विरोध प्रदर्शन के अधिकार के विरुद्ध युवाओं को धमकाने के निंदनीय हरकत की है। तमाम विरोध के बावजूद केंद्र सरकार इस योजना को लागू करने पर आमादा है। आज 24 जून से इस योजना के तहत रजिस्ट्रेशन की शुरुआत करने की घोषणा की गई है।

7. इसलिए अब हम भारतीय सेना के सर्वोच्च कमांडर के पास यह अनुरोध लेकर पहुंचे है कि:
a) अग्नीपथ योजना को तत्काल और पूरी तरह रद्द किया जाए। इस योजना के तहत भर्ती का नोटिफिकेशन वापस लिया जाए।
b) सेना में पिछली बकाया 1,25,000 वेकेंसी और इस वर्ष रिक्त होने वाले लगभग 60,000 पदों पर पहले की तरह नियमित भर्ती तत्काल शुरू की जाए।
c) जहां भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो चुकी थी उसे पूरा किया जाए और पिछले दो साल भर्ती ना होने के एवज में युवाओं को सामान्य भर्ती की आयु सीमा में 2 वर्ष की छूट दी जाए।
d) किसी भर्ती के लिए आवेदकों से ऐसा हलफनामा लेने की शर्त न रखी जाए जो उन्हें लोकतांत्रिक प्रदर्शन के अधिकार से वंचित करती हो।
e) अग्निपथ विरोधी प्रदर्शनों में शामिल युवाओं के खिलाफ दर्ज सभी झूठे मुकदमे वापस लिए जाएं, गिरिफ्तार युवाओं को रिहा किया जाय और आंदोलनकारियों को नौकरी से बाधित करने जैसी शर्तें हटाई जाए।

हमें विश्वास है की संविधान और राष्ट्रीय सुरक्षा के अभिभावक के बतौर आप देश के भविष्य के साथ होने वाले इस खिलवाड़ को तुरंत रुकेंगे।

Thursday, 23 June 2022

04:58

इससे लोगों में आएगी जागरूकता जीव जंतुओं के संरक्षण के प्रति होंगे संवेदनशील

रामजी पांडे

नई दिल्ली :केंद्रीय पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन तथा उपभोक्ता मामले, खाद्य व सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बंगाल सफारी नॉर्थ बंगाल वाइल्ड एनिमल्स पार्क का बुधवार को निरीक्षण के दौरान एक साल के टाइगर (बाघ) को 1 साल के लिए गोद लिया व उसे 'अग्निवीर' नाम दिया।

 

गंगटोक से आने के क्रम में उन्होंने सफारी का निरीक्षण किया। इस दौरान एडॉप्शन प्रोग्राम (गोद अभियान) के तहत लोगों में जागरूकता के लिए केंद्रीय राज्यमंत्री श्री चौबे ने टाइगर को गोद लिया। उन्होंने कहा कि मैंने केदारनाथ धाम में प्रकृति का रौद्र रूप देखा है। प्रकृति के संरक्षण के लिए सभी को जागरूक रहना चाहिए। ताकि इस तरह की घटनाएं न हो। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व व मार्गदर्शन में केंद्र सरकार ने जीव जंतुओं के संरक्षण के लिए व्यापक कदम उठाएं हैं।  आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर लोगों में जागरूकता के साथ केदारनाथ त्रासदी के हुतात्माओं की याद में टाइगर गोद लिया है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संतुलन में जीव जंतुओं की प्रमुख भूमिका है। उनका संरक्षण जरूरी है। इसके लिए लोगों को नियमित रूप से जागरूक करते रहने की भी  जरूरत है। इस मौके पर मौजूदा अधिकारियों को "जीव जंतु गोद अभियान" के बारे में जागरूकता अभियान नियमित रूप से चलाने के लिए निर्देशित किया। 

Wednesday, 22 June 2022

04:14

माकपा कार्यकर्ताओं ने राशन कार्यालय पर प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन- गंगेश्वर दत्त शर्मा


 नोएडा, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी व राशनिंग व्यवस्था में व्याप्त भ्रष्टाचार/ अनियमितताओं के खिलाफ एवं राशनिंग व्यवस्था को दुरुस्त करने की मांग को लेकर भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) गौतम बुद्ध नगर कमेटी द्वारा चलाए जा रहे अभियान के तहत 21 जून 2022 को सीपीआईएम कार्यकर्ताओं ने क्षेत्रीय खादृय आपूर्ति अधिकारी कार्यालय सेक्टर- 6, नोएडा पर प्रदर्शन कर जिलाधिकारी व जिला खादृय आपूर्ति अधिकारी को संबोधित ज्ञापन दिया।
 दिए गए ज्ञापन मांग की गई है की राशन वितरण प्रणाली में व्याप्त अनियमितताओं को समाप्त करा कर सही तरीके से राशन का वितरण सुनिश्चित कराने व जिन पात्र लोगों के गलत तरीके से राशन कार्ड निरस्त कर दिए गए हैं उन्हें बहाल कर राशन दिया जाए तथा जिन गरीब पात्र लोगों के राशन कार्ड नहीं बने हैं उनके राशन कार्ड बनाने के साथ ही राशन की दुकानें नियमित रूप से खुलवाए जाएं और बदतमीजी व कालाबाजारी करने वाले राशन डीलरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अपनाते हुए उनके दुकान के लाइसेंस रद्द किए जाए।
 प्रदर्शन को संबोधित करते हुए माकपा जिला प्रभारी गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि राशनिंग व्यवस्था दुरुस्त नहीं हुई तो हमारी पार्टी उपरोक्त मुद्दों को लेकर जनता के बीच जन अभियान चलाकर जिलाधिकारी व जिला खाद्य आपूर्ति कार्यालय पर बड़ा प्रदर्शन करेगी।
 प्रदर्शन को जनवादी महिला समिति की नेता आशा यादव, चंदा बेगम, गुड़िया देवी, माकपा नेता हरकिशन सिंह, भरत डेंजर, विरेन्द्र प़साद, सीटू नेता लता सिंह, राम सागर आदि ने संबोधित किया।

 

Tuesday, 21 June 2022

09:01

भाईचारा मंच गौतमबुधनगर ने अग्निपथ योजना के विरोध में डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन- गंगेश्वर दत्त शर्मा


रामजी पांडे
 नोएडा, सेना में भर्ती की अग्निपथ योजना का विरोध करते हुए उसे रद्द कराने की मांग को लेकर 21 जून 2022 को भाईचारा मंच गौतम बुध नगर कमेटी ने डीएम कार्यालय सूरजपुर ग्रेटर नोएडा पर प्रदर्शन कर जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति व माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार को संबोधित ज्ञापन दिया। ज्ञापन एसडीएम उमेश निगम जी ने लिया और प्रदर्शनकारियों को आश्वासन दिया है कि अपनी संस्तुति के साथ ज्ञापन महामहिम राष्ट्रपति व माननीय प्रधानमंत्री जी को भेज दिया जाएगा।
 प्रदर्शन को संबोधित करते हुए किसान सभा जिला प्रवक्ता व मंच के संयोजक डॉ रुपेश वर्मा ने कहा कि अग्निपथ योजना छल कपट के साथ सेना में चोर दरवाजे से ठेका प्रथा शुरू करना है जिसका सेना की गुणवत्ता और सैन्य बलों की क्षमता पर विनाशकारी प्रभाव पड़ेगा। प्रदर्शन को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता व मंच के सह संयोजक राजकुमार भाटी जी ने केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना की कड़ी आलोचना करते हुए देश हित में उक्त योजना को वापस लिए जाने की मांग केंद्र सरकार से किया। प्रदर्शन को संबोधित करते हुए माकपा नेता व मंच के सह संयोजक गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि अग्निपथ योजना देश के बेरोजगार युवाओं के सपनों के साथ खिलवाड़ है ही साथ ही राष्ट्रीय सुरक्षा व देश के भविष्य के साथ भी खिलवाड़ है जिसे किसी भी रूप में स्वीकार नहीं किया जा सकता।
 धरना प्रदर्शन में लायर्स यूनियन के नेता अजय एडवोकेट, उमेश भाटी, मांगेराम भाटी, विनोद भाटी, सपा नेता देवेंद्र सिंह, नोजवान सभा के नेता सुमित प़धान, किसान सभा के नेता जगबीर नंबरदार, निरंकार, रणवीर सिंह मास्टर, जनवादी महिला समिति के नेता चंदा बेगम, गुड़िया देवी, सुधा, मनीषा सिंह, सीटू नेता मुकेश कुमार राघव, पूनम देवी, धर्मेंद्र, निशा झा, राजकरण सिंह  आदि ने हिस्सा लिया।

 
03:01

बीते 24 घंटे कोरोना संक्रमित 99 नए मरीजों की पुष्टि सक्रिय मरीज की संख्या बढ़कर हुई 562

 विक्रम पांडेय
नोएडा:  कोरोना संक्रमितो रोगियो में लगातार हो रहे इजाफा स्वास्थ्य विभाग के चिंता का कारण बना हुआ है. पिछले छह दिनों में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या में दो गुना बढ़ोतरी दर्ज की गई है। बीते 24 घंटे कोरोना संक्रमित 99 नए मरीजों की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। होम आइसोलेशन से 34 मरीज स्वस्थ हुए। सक्रिय मरीज की संख्या बढ़कर 562 हो गई है, वर्तमान में 17 मरीजों का इलाज चल रहा है। जिसमें से पांच का इलाज सेक्टर-39 स्थित कोविड अस्पताल में किया जा रहा है। अन्य निजी अस्पताल में इलाज करा रहे हैं। 

नोएडा में बीते 6 दिनों से जिले में 100 से कम नए मरीज मिले। इससे पहले के 19 जून को 87, 18 जून को 90, और 17 जून को 95 नए मरीज मिले थे। वहीं 16 जून को मरीजों की संख्या 100 थी। 10 दिनों से नए मरीजों के मुकाबले स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 50 प्रतिशत कम है। लिहाजा सक्रिय मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। सक्रिय मरीजों की संख्या के लिहाज से जिला प्रदेश में पहले स्थान पर आ गया है। दूसरे स्थान पर लखनऊ है। आने वाले दिनों में सक्रिय मरीजों की संख्या और भी बढ़ने की आशंका है। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुनील कुमार शर्मा ने बताया कि अभी अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या काफी कम है। एक भी गंभीर मरीज नहीं है। होम आइसोलेशन में इलाज कराने वालों की नियमित रूप से डॉक्टर बातचीत कर रहे हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की अपील की।

Monday, 20 June 2022

06:20

संयुक्त रोजगार आंदोलन समिति SRAS ने अग्निपथ योजना के विरोध में किया शांतिपूर्ण प्रदर्शन

रामजी पांडेय

नई दिल्ली :संयुक्त रोजगार आंदोलन समिति (SRAS) द्वारा अग्निपथ योजना के विरोध में आज दिल्ली के जंतर मंतर के नजदीक पटेल चौक मेट्रो के सामने विरोध प्रदर्शन किया जिसमे दिल्ली के कैबिनेट मंत्री गोपाल राय भी शामिल रहे।
हालांकि पहले यह प्रदर्शन जन्तर मंतर पर होना तय हुआ था लेकिन उस इलाके को पुलिस ने छावनी में तब्दील कर दिया।इसके बाद नाराज SRAS के प्रदर्शनकारी पटेल चौक पर ही डट गए और जोरदार प्रदर्शन सुरु कर दिया।
मामला गर्माता देख पुलिस के बड़े अधिकारी मौके पर पहुंचे और प्रदर्शन कारियों को समझा बुझाकर मामला शांत कराया।
मिली जानकारी के अनुसार केंद्र की मोदी सरकार द्वारा युवाओं को धोखा देने एवं सेना को कमजोर करने वाली अग्निपथ योजना के खिलाफ संयुक्त रोजगार आंदोलन समिति (SRAS) द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। जिसमे संयुक्त रोजगार आंदोलन समिति ने सेना के अपमान के विरोध में जंतर मंतर पर  कैलाश विजयवर्गीय की फोटो सहित उनके बेतुके बयान की कापी जलाकर विरोध प्रदर्शन किया ।
बताते चले कि पिछले दिनों
16 जून को ITO पर हुए संयुक्त रोजगार आंदोलन समिति (SRAS) द्वारा प्रदर्शन किया था जिसमे SRAS से जुड़े सभी संगठनो के शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन में पुलिस की बर्बरता देखने को मिली थी । जिसमे संयुक्त रोजगार आंदोलन समिति के लगभग 100 से अधिक प्रदर्शनकारियों को दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर राजेंद्र नगर पुलिस स्टेशन ले जाया गया था। इसके बावजूद आज पुनः SRAS द्वारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन में संयुक्त रोजगार आन्दोलनं समिति के संगठनो- देश की बात फाउंडेशन, CYSS, RYA, श्रमिक विकास संगठन (SVS), AISA, JNCP, INSO,  AAP यूथ विंग आदि संगठनों ने इस आज के आंदोलन में हिस्सा लिया।

इसके बाद (SRAS) द्वारा विरोध प्रदर्शन के  समर्थन में  दिल्ली के कैबिनेट मंत्री श्री गोपाल राय भी पहुंच गए उन्होंने कहा कि ने कहा कि इस देश के अंदर छात्र और जवान जो सेना में भर्ती के लिए तैयारी कर रहे है वो आज पूरे देश में अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे है लेकिन आज जंतर मंतर पर शांतिपूर्ण प्रदर्शन को प्रतिबंधित कर दिया गया है।  यह लोकतंत्र की हत्या है लेकिन इससे अग्निपथ योजना के खिलाफ आवाज़ बंद नहीं होगी।  कल जिस तरह से भाजपा के नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा अग्निवीरो को हम भाजपा कार्यालयों   में सिक्योरिटी की नौकरी देंगे, यह इस तरह से दर्शाता है कि भाजपा की  मानसिकता क्या है।  अग्निपथ योजना के घोषित होने पांच दिन के अंदर पांच तरह के परिवर्तन किए गए, यह इस बात को दर्शा रहा है कि अग्निपथ योजना केंद्र सरकार द्वारा बिना तैयारी के लाई हुई योजना है, साथ ही मंत्री गोपाल राय ने  कहा कि आज देश में बेरोजगारी कि समस्या के लिए राष्ट्रीय रोजगार नीति बनाना अनिवार्य है। यह सरकार सब से बातचीत करके बेरोजगारी का समाधान निकालें जिससे सबको रोजगार मिल सके, एक सही मानचित्र तैयार हो सके और एक नीति बन सके।

दिल्ली के कैबिनेट मंत्री श्री गोपाल राय ने आज एक ट्वीट कर कहा, "अग्निपथ योजना के खिलाफ जंतर मंतर पर शांतिपूर्ण प्रदर्शनों को प्रतिबंधित करके मोदी सरकार अघोषित आपातकाल की परिस्थितियां पैदा कर रही है। आज पूरा जंतर मंतर छावनी में तब्दील कर दिया गया है
मोदी जी बताएं कि लोकतंत्र में असहमति की आवाज कैसे उठाई जाए 
02:16

फौज में जवानों की भर्ती ठेके पर और नाम अग्निवीर देकर सेना का अपमान कर रही सरकार : विमल किशोर


आज सोनीपत 20 जून 2022 को भारत बंद के आह्वान पर अग्नीपथ योजना के विरोध में तथा छात्र एकता मंच के युवाओं की गिरफ्तारी के विरोध में आम आदमी पार्टी जिला सोनीपत द्वारा  प्रदेश प्रवक्ता  विमल किशोर और युवा जिला अध्यक्ष नवीन ओहल्याण के नेतृत्व में  सुभाष चौक सोनीपत पर सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में रोष प्रकट किया ।
इस दौरान कल पुलिस द्वारा छात्र एकता मंच संगठन के पदाधिकारियों की गिरफ्तारी के विरोध में आम आदमी पार्टी यूथ विंग ने जोरदार प्रदर्शन किया औऱ सरकार की  दमनकारी नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और गिरफ्तार छात्रों की रिहाई की मांग की क्योंकि लोकतांत्रिक प्रणाली में शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करना सभी देशवासियों का मौलिक अधिकार हैं 

इस मौके पर आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता विमल किशोर तथा युवा अध्यक्ष नवीन ओल्हाण ने कहा कि बीजेपी सरकार सभी सरकारी संस्थानों को बेचने के बाद अब सेना को भी ठेके पर देने का काम कर रही है जो कि सरासर सेना व युवाओं का अपमान है और दूसरी तरफ अग्नीपथ के विरोध में आंदोलन कर रहे युवाओं पर सरकार दमनकारी नीति अपनाते हुए बल का प्रयोग कर रही है और निर्दोष छात्रों को मुकदमों में जेल में डाला जा रहा है 
जबकि सरकार को युवाओं से बात कर युवाओं की समस्या का हल करना चाहिए उन्होंने मांग की कि अग्निपथ योजना को तुरंत वापस लिया जाए तथा पुरानी भर्ती प्रक्रिया के हिसाब से युवाओं की फौज में भर्ती की जाए 

विमल किशोर और नवीन ओल्हाण ने कहा कि अग्नीपथ योजना के अनुसार केवल 4 साल की नौकरी में उन्हें नौकरी के बाद ना तो पेंशन मिलेगी ना ही मेडिकल सुविधाएं और ना ही कैंटीन की सुविधा मिलेगी 
देश का गौरव देश की शान भारतीय सेना का बीजेपी कर रही अपमान

इस दौरान प्रदेश प्रवक्ता विमल किशोर ,युवा जिला अध्यक्ष नवीन ओहल्याण ,युवा जिला सचिव अजय आंतिल एडवोकेट ,जिला प्रवक्ता संजय मलिक , युवा हल्का राई अध्यक्ष सुरेंद्र दहिया संदीप हुड्डा सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे ।

Sunday, 19 June 2022

22:06

सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज 20 जून ‘दिल्ली चलो’ के बाद पुलिस ने बॉर्डरों पर अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई

नोएडा:केंद्र सरकार द्वारा सेना में भर्ती से जुड़ी अग्निपथ टीम का विरोध कर रहे युवाओं के प्रदर्शन की आड़ में शांति भंग करने का प्रयास करने वाले असामाजिक तत्वों को गौतम बुध नगर पुलिस कमिश्नरेट की तरफ से चेतावनी जारी की गई है, जो भी शांति व्यवस्था को बिगाडने का प्रयास करेगा उसके विरुध कडी कार्रवाही की जाएगी. सेना भर्ती से जुड़ी अग्निपथ स्कीम के विरोध में सोशल मीडिया में 20 जून यानि आज ‘दिल्ली चलो’ का मैसेज वायरल है। देशभर के युवाओं से विभिन्न पोस्टरों और मैसेज के जरिए दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहुंचने की अपील की गई है। इसको देखते दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर जिले के बॉर्डरों पर अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

अपर पुलिस उपायुक्त (कानून व्यवस्था) आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि सेना भर्ती से जुड़ी अग्निपथ स्कीम के विरोध में सोशल मीडिया में 20 जून यानि सोमवार को ‘दिल्ली चलो’ का मैसेज वायरल है। देशभर के युवाओं से विभिन्न पोस्टरों और मैसेज के जरिए दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहुंचने की अपील की गई है। हालांकि अपील कौन कर रहा है, नेतृत्व कौन कर रहा है, यह कुछ नहीं पता। फिर भी इसे लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस और अन्य सभी एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। 

आशुतोष द्विवेदी ने कहा, पुलिस को भी दिल्ली कूच करने के मैसेज प्राप्त हुए हैं। जिला गौतमबुद्धनगर में धारा-144 लागू है। ऐसे व्यक्ति समूह में अथवा अकेले भी कानून व्यवस्था बिगाडने का प्रयास करेंगे तो उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर जिले के बॉर्डरों पर अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

कांग्रेस ने भी जंतर-मंतर पर प्रोटेस्ट का ऐलान किया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी को आज यानि सोमवार को ईडी के समक्ष पेश होना है। इसे लेकर कांग्रेसी लामबंद हैं। उन्होंने दिल्ली पहुंचने का ऐलान कर रखा है। इसे लेकर भी बॉर्डर वाले जिलों की पुलिस अलर्ट मोड में है। गौतमबुद्धनगर के प्रमुख कांग्रेस नेताओं पर पुलिस का पहरा है। युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष पुरुषोत्तम नगर और महानगर अध्यक्ष राम कुमार तंवर इस विरोध प्रदर्शन में अपने साथियों के साथ दिल्ली जाना चाहते थे पुलिस ने दोनों को ही उनके घरों में नजरबंद कर दिया है.  आप जिला अध्यक्ष को भी नजरबंद कर दिया गया है।कांग्रेसी के जिलाध्यक्ष पुरुषोत्तम नगर ने पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया है उनका कहना है कि हर नौजवान भारतीय सेना में भर्ती होकर देश सेवा करना चाहता है.  सेना में पद खाली होने के बावजूद पिछले 3 साल से कोई भर्ती नहीं हुई है और सरकार अग्नि पथ योजना लाख युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है.
20:15

Noida:गौतमबुद्धनगर में हुआ भाईचारा मंच का गठन

रामजी पांडेय

ग्रेटर नोएडा,बढ़ती सांप्रदायिकता को रोकने एवं शांति सद्भाव तथा सौहार्द बनाए रखने के लिए गौतमबुद्धनगर जिले के सभी मजदूरों- किसानों,अधिवक्ता, बुद्धि जीवी व सामाजिक संगठनों, राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं तथा अमन पसंद, धर्मनिरपेक्षता व संवैधानिक लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास रखने वाले विशिष्ट व्यक्तियों ने 19 जून 2022 को एन आर सिटी परी चौक ग़ेटर नोएडा पर सम्मेलन कर भाई चारा मंच का गठन किया गया।
 सम्मेलन को संबोधित करते हुए भाईचारा मंच पश्चिमी उत्तर प्रदेश कमेटी के संरक्षक कर्नल जयवीर सिंह व भाईचारा मंच पश्चिमी उत्तर प्रदेश कमेटी के संयोजक व किसान सभा के वरिष्ठ नेता कॉमरेड डी पी सिंह व किसान सभा उत्तर प्रदेश के संयुक्त सचिव कॉमरेड चंद्रपाल सिंह ने कहा की देश मे साम्प्रदायिक ताकतो ने नफरत का बीज बो दिया है।समाज के अल्पसंख्यक, व कमजोर वर्गों पर लगातार हमले किये जा रहे हैं।जिससे देश की एकता अखंडता को गंभीर खतरा पैदा हो गया है। उन्होंने कहा कि साम्प्रदायिक ताकतो को समाज व देश की एकता को खतरे में डालने की इजाजत नहीं दी जा सकती है।
 बढ़ती सांप्रदायिकता को रोकने के लिए भाईचारा मंच पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सदस्य डॉ रुपेश वर्मा ने सम्मेलन के समक्ष प्रस्ताव रखा जिस पर सपा नेता राजकुमार भाटी, माकपा नेता कामरेड के.एम. तिवारी, गंगेश्वर दत्त शर्मा, रालोद नेता अजीत डोला, सपा नेता जगबीर, किसान यूनियन के नेता विकास भाई, एलपीएफ नेता राम मिलन सिंह, सीपीआई पार्टी के नेता कॉमरेड सदाशिव, लायर्स यूनियन के नेता गजेंद्र खारी, भाकपा माले रेड स्टार नेता उदय चंद्र झा, ग्रामीण विकास समिति के नेता लाइक हुसैन, जनवादी महिला समिति की नेता आशा यादव, जन संस्कृति मंच के नेता बाबूराज, सीटू नेता मुकेश राघव, भरत डेंजर, राम स्वार्थ, गुड़िया देवी, लता सिंह, आदि दर्जनों प्रतिनिधियों ने अपने अपने विचार व्यक्त किए गए इसके बाद सर्वसम्मति से प्रस्ताव को प्रतिनिधि ने पास किया।
 सम्मेलन में भाईचारा मंच गौतम बुध नगर कमेटी का गठन किया गया जिसमें जिला संरक्षक कामरेड सदाशिव, संयोजक डॉ रुपेश वर्मा, सह संयोजक राजकुमार भाटी, गंगेश्वर दत्त शर्मा, अजीत डोला, आशा यादव, सहित 23 सदस्य कमेटी चुनी गई।
 सम्मेलन में सांप्रदायिकता के विरोध में व्यापक जन अभियान चलाकर 9 अगस्त 2022 (भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ के अवसर पर) को जिला कलेक्ट्रेट गौतम बुध नगर पर प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया। तथा अग्नि पथ योजना के विरोध में 21 जून 2022 को डीएम कार्यालय सूरजपुर ग्रेटर नोएडा पर प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया। 
 सम्मेलन की अध्यक्षता कॉमरेड महावीर सिंह एडवोकेट तथा संचालन डॉक्टर रुपेश वर्मा ने किया।


Saturday, 18 June 2022

20:19

NOIDA:75 नामदर्ज और 150 अराजकतत्वों के खिलाफ मुकदमा दर्ज दस गिरफ्तार

नोएडा: जेवर कोतवाली क्षेत्र स्थित यमुना एक्सप्रेस वे पर सेना में भर्ती के लिए लाई गई अग्निपथ योजना के खिलाफ यमुना एक्सप्रेस वे युवाओं के उग्र प्रदर्शन करते जाम लगाया था और पथराव किया था और वहां खड़ी प्राइवेट बसों में तोड़फोड़ की थी.  इस प्रदर्शन के दौरान  आठ पुलिसकर्मी और एक बस चालक घायल हो गए थे. अब पुलिस ने 75 लोगों को नामदर्ज कर और डेढ़ सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज है.  पुलिस ने मौके से 10 अराजक तत्वों को गिरफ्तार भी किया है

जॉइंट सीपी लव कुमार ने बताया  थाना जेवर क्षेत्र के शांति/ और कानून व्यवस्था को बाधित कर, सड़क जाम कर लोगों के मार्ग को बाधित करने वाले अराजकतत्वों के विरुद्ध कार्यवाही की गई है. 75 लोगों को नामदर्ज कर और डेढ़ सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 147/148/149/
323/504/332/353/336/341/427 एवं 7 सीएलए अधि0 बनाम 75 नामजद व 150 अज्ञात व्यक्तियों के मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने घटना में शामिल 10 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है।सोशल मीडिया से फ़ोटो और वीडियो और यमुना यमुना एक्सप्रेस वे पर सीसीटीवी कैमरे और  अन्य माध्यमों की सहायता से घटना में शामिल अन्य अराजकतत्वों की भी पहचान की जा रही है। घटना में शामिल सभी अराजकतत्वों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
20:17

noida:अग्निपथ योजना के विरोध में यमुना एक्सप्रेस वे पर जाम लगा रहे पुलिस लाठीचार्ज कर प्रदर्शनकारियों को खदेडा


Noida सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का देश भर में विरोध किया जा रहा है.गौतमबुद्ध नगर के जेवर में भी युवाओं का गुस्साो फूट पड़ा.यमुना एक्सप्रेस वे पर शुक्रवार को अग्निपथ योजना के विरोध में छात्रों ने जाम लगा दिया.सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मार्ग पर धरने के लिए बैठ गए.इस वजह से एक्सप्रेस वे के दोनों लाइनों पर लंबा जाम लग गया.मामला गरमाता देख कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे.उन्होंने छात्रों को काफी मनाने का प्रयास किया, लेकिन छात्र नहीं माने.गुस्साए छात्रों ने पुलिस पर पथराव कर दिया.पुलिस लाठीचार्ज कर प्रदर्शनकारियों को खदेड दिया. पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि हालत अब पूरी तरह से कंट्रोल में है।

एक्सप्रेस वे पर जेवर क्षेत्र के कई गांवों के युवा एकत्रित हुए हैं.जिसमें रनहेरा, नंगला, साबोता और जहांगीरपुर शामिल है.इन युवाओं का कहना है कि कुछ दिन पहले ही सेना भर्ती के लिए फिजिकल और लिखित परीक्षा भी पास की है.अब सारी मेहनत खराब हो गई.सरकार की इस योजना से किसी तरह का लाभ नहीं है.गुस्साए छात्रों का कहना है कि केंद्र सरकार की वजह से देश के लाखों युवाओं का भविष्य खराब हो रहा है.धरने पर बैठे छात्रों की मांग है कि सरकार इस योजना को तत्काल प्रभाव से वापस ले.

कई घंटों तक एक्सप्रेस वे पर जाम लगा रहा.जेवर विधायक और गौतमबुद्ध नगर के जॉइंट सीपी लव कुमार समेत कई पुलिस अधिकारी युवाओं काफी समझाने के बाद भी जब छात्र नहीं माने तो पुलिस को साथ उनकी झड़प हो गई.गुस्साए छात्रों ने पुलिस पर पथराव कर दिया इस पुलिस ने लाठीचार्ज कर छात्रों को वहां से खदेड़ दिया.हालांकि इस घटना में किसी को भी चोट नहीं आई है.पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि अब यमुना एक्सप्रेस वे पर जाम की स्थिति बिल्कुल नहीं है. हालत अब पूरी तरह से कंट्रोल में है।
09:04

कृषि को टिकाऊ बनाते हुए विद्यमान चुनौतियों का प्राथमिकता से किया जा रहा समाधान: श्री तोमर


बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी का वर्चुअल शुभारंभ केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किया। इस अवसर पर श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार कृषि को बढ़ावा देने पर विभिन्न योजनाओं-कार्यक्रमों के माध्यम से काम कर रही है, जिनसे कृषि क्षेत्र के हालात में बदलाव आ रहा है, साथ ही किसानों की आय बढ़ रही है। बीते 8 साल के दौरान देश में कृषि क्षेत्र में अभूतपूर्व काम हुआ है। कृषि को टिकाऊ बनाते हुए विद्यमान चुनौतियों का प्राथमिकता से समाधान किया जा रहा है।

‘सतत कृषि के लिए पोषक तत्व प्रबंधन रणनीतियों में हालिया विकासः भारतीय संदर्भ‘‘ विषय पर आयोजित इस संगोष्ठी में मुख्य अतिथि श्री तोमर ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों को आय सहायता देने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से अभी तक साढ़े 11 करोड़ किसानों के बैंक खातों में 2 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा राशि जमा कराई जा चुकी है। यह दुनिया में मोदी सरकार का सबसे बड़ा कार्यक्रम है। एक लाख करोड़ रु. के एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड सहित डेढ़ लाख करोड़ रुपए से अधिक के विशेष पैकेजों से कृषि क्षेत्र में सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। सरकार की किसान हितैषी नीतियों तथा किसानों व वैज्ञानिकों की मेहनत-कुशलता का परिणाम है कि आज कृषि उत्पादों की दृष्टि से भारत एक संपन्न राष्ट्र है और प्रतिकूल समय में भी भारत ने अन्य देशों को खाद्यान्न की आपूर्ति की है। अधिकांश कृषि उत्पादों के उत्पादन की दृष्टि से आज विश्व में भारत पहले या दूसरे क्रम पर है, वहीं देश से पौने 4 लाख करोड़ रु. के कृषि उत्पादों का निर्यात हुआ है, जो अपने-आप में एक कीर्तिमान है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001XKFB.jpg

श्री तोमर ने कहा कि आज कृषि में टेक्नालाजी का अधिकाधिक उपयोग करने, किसानों को महंगी फसलों की ओर आकर्षित करने, खेती की लागत कम करने, किसानों को उनकी उपज के वाजिब दाम दिलाने, फर्टिलाइजर पर निर्भरता कम करने, स्वाइल हेल्थ की ओर प्रवृत करने, सिंचाई में बिजली व पानी बचाने और उत्पादकता बढ़ाने की दृष्टि से काम करने की आवश्यकता है। इस संबंध में भारत सरकार, राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम कर रही है। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) भी तीव्र गति से काम कर रही है, साथ ही कृषि के सभी वि.वि. व अन्य संस्थान भी उत्तम काम कर रहे हैं। श्री तोमर ने कहा कि बिहार कृषि प्रधान राज्य है, जहां लगभग 70 फीसदी आबादी कृषि से जुड़ी हुई है। कृषि उत्पादकता की दृष्टि से भी बिहार उत्तम है, वहीं अनेक फसल किस्में यहां ईजाद की गई है, जिनसे प्रदेश को तो प्रतिफल मिल ही रहा है, देश की कृषि ग्रोथ में भी योगदान हो रहा है। उन्होंने पोषक तत्वों के प्रबंधन को समय की आवश्यकता बताते हुए कहा कि इस संबंध में ऐसी संगोष्ठी से निश्चय ही लाभ होगा।

Friday, 17 June 2022

06:05

लाठी और गिरफ्तारी के दम पर इस आंदोलन को दबाया नहीं जा सकता: गोपाल राय

रामजी पांडेय
नई दिल्ली:देश भर में जगह जगह केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन किया जा रहा है इसी के तहत अग्निपथ योजना के विरोध में संयुक्त रोजगार आंदोलन समिति ने एलान किया है कि वह 20 जून को सुबह 11 बजे से जंतर मंतर पर प्रमुख संगठनों के साथ मिलकर एक बड़ा  संयुक्त आंदोलन करेगी।  SRAS ने सभी सहयोगी संगठनों से 20 जून को जंतर मंतर पहुँचने की अपील की है।
बताते चलें कि आज SRAS ने ITO के मैट्रो गेट नम्बर 5 पर केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ दम दार प्रदर्शन किया था।जिसमे पुलिस ने सभी आन्दोलन कारियों को गिरफ्तार कर थाने ले गयी थी उसके बाद सभी युवाओं को रिहा कर दिया गया। आज के आंदोलन में ,देश की बात फउंडेशन (DKB),छात्र युवा संघर्ष समिति(CYSS),श्रमिक विकास संगठन (SVS), (AISA), (RYA), व आम आदमी पार्टी यूथ विंग व अन्य कई संगठनों  के सैकड़ों कार्यकता उपस्थिति रहे
दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री एवं देश की बात फाउंडेशन के संस्थापक  गोपाल राय ने राजेन्द्र नगर थाने में जाकर गिरफ्तार आंदोलनकारी  से मुलाकात की व युवाओं की गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करते हुए कहा शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी निंदनीय है और साथ ही केंद्र सरकार से यह अपील करते हैं कि इस योजना को वापस लिया जाए। मंत्री गोपाल राय ने कहा कि लाठी और गिरफ्तारी के दम पर सरकार द्वारा इस आंदोलन को दबाया नहीं जा सकता।

Wednesday, 15 June 2022

05:53

तेजी से मदद के कारण हजारों मंगोलियाई लोगों की जान बचाई जा सकी: श्री उखनागिन खुरेलसुख


नई दिल्ली केंद्रीय मंत्री श्री किरेन रिजिजू ने आज मंगोलिया के राष्ट्रपति उखनागिन खुरेलसुख के साथ गंदन मठ का दौरा किया और पवित्र कपिलवस्तु अवशेषों पर श्रद्धांजलि दी उन्होंने भगवान बुद्ध के मंगोलिया के पवित्र अवशेषों का भी सम्मान किया जिन्हें कपिलवस्तु अवशेषों के साथ रखा गया है।

इस अवसर पर भारतीय केंद्रीय कानून और न्याय मंत्री श्री किरेन रिजिजू, मंगोलिया के राष्ट्रपति श्री उखनागिन खुरेलसुख और मंगोलिया में भारतीय राजदूत श्री मोहिंदर प्रताप सिंह, खंबा नोमुन खान उपस्थित थे।

केंद्रीय कानून और न्याय मंत्री श्री किरेन रिजिजू ने कहा कि भारत ने कोविड महामारी के दौरान कई देशों की मदद की और आज मंगोलिया के लोगों को खुश देखकर उन्हें प्रसन्नता हो रही है। केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि जन-जन के बीच संपर्क के साथ-साथ भारत और मंगोलिया के बीच आर्थिक संबंध भी एक नया आकार ले रहे हैं। श्री किरेन रिजिजू ने कहा, "मैं चाहता हूं कि अधिक से अधिक भारतीय इस खूबसूरत देश की यात्रा करें और निकट भविष्य में जन-जन के बीच जुड़ाव बढ़े।"

मंगोलिया के राष्ट्रपति श्री उखनागिन खुरेलसुख ने कहा कि पवित्र बुद्ध के अवशेषों को मंगोलिया लाने का विशेष संकेत भारत और मंगोलिया के बीच आध्यात्मिक संबंध का प्रमाण है। मंगोलिया के लोगों की ओर से राष्ट्रपति ने प्रदर्शनी को मंगोलिया के लोगों के प्रति एक महान प्रतीक के रूप में आयोजित करने के लिए भारत सरकार को धन्यवाद दिया।

मंगोलिया के राष्ट्रपति ने भारत की सराहना करते हुए कहा कि यह पहला देश था जिसने हमें वैक्सीन दी और कोविड महामारी में मदद की और तेजी से मदद के कारण हजारों मंगोलियाई लोगों की जान बचाई जा सकी। उन्होंने कहा कि मंगोलिया में भारत द्वारा बनाई जा रही तेल रिफाइनरी भारत और मंगोलिया के बीच बढ़ते द्विपक्षीय संबंधों का प्रतीक है और भारत मंगोलिया का सबसे विश्वसनीय साझेदार और उसका तीसरा पड़ोसी देश है। राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि भगवान बुद्ध के पवित्र अवशेष लाना द्विपक्षीय संबंधों को समृद्ध करने का एक शानदार तरीका है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001R5XT.jpg


05:49

डिजिटल दूरदर्शन, आकाशवाणी समाचार ने अटूट विश्वास दर्ज किया

रामजी पांडे

नई दिल्ली भारत को अपने अच्छे पुराने सार्वजनिक प्रसारक पर सबसे अधिक भरोसा है, जिसकी पुष्टि रॉयटर्स इंस्टीट्यूट की एक हाल ही में जारी रिपोर्ट से हुई है। इससे पता चला है कि लोगों को दूरदर्शन और आकाशवाणी के समाचार नेटवर्क पर सबसे ज्यादा भरोसा है।

रॉयटर्स इंस्टीट्यूट की डिजिटल न्यूज रिपोर्ट 2022 के अनुसार, “भारत ने समाचार विश्वास में छोटी सी वृद्धि दर्ज करते हुए 46 बाजारों में अपनी समग्र स्थिति में सुधार किया है। पुराने प्रिंट ब्रांड और सार्वजनिक प्रसारक, जैसे दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी के बारे में सर्वेक्षण के दौरान उत्तरदाताओं के बीच सबसे अधिक विश्वास है, जबकि नए डिजिटल-जनित ब्रांडों के साथ 24 घंटे के टेलीविजन समाचार चैनल कम भरोसेमंद हैं।”

रॉयटर्स इंस्टीट्यूट द्वारा भारतीय समाचार ब्रांडों के सर्वेक्षण से पता चलता है कि समाचार की प्रामाणिकता और सटीकता के बारे में आकाशवाणी पर 72 प्रतिशत और दूरदर्शन समाचार पर 71 प्रतिशत 'सबका विश्वास' कायम है।

 

रिपोर्ट के अनुसार, दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी समाचार में उच्च स्तर के विश्वास लगातार बढ़ रहा है, इसके अलावा, दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी दोनों की पहुंच भी बढ़ गई है।

दूरदर्शन और आकाशवाणी में यह निरंतर विश्वास 'सबका विश्वास' और भी मजबूत हुआ है, हाल ही में दूरदर्शन और आकाशवाणी की मजबूत डिजिटल उपस्थिति के योगदान के लिए धन्यवाद।

रॉयटर्स इंस्टीट्यूट का दावा है कि इसकी डिजिटल न्यूज रिपोर्ट 2022 ने 46 बाजारों में 93, 000 से अधिक ऑनलाइन समाचार उपभोक्ताओं के यूगव सर्वेक्षण के आधार पर डिजिटल समाचार उपभोग को मापा, जिसमें दुनिया की आधी आबादी शामिल है।

Tuesday, 14 June 2022

07:51

भूपेंद्र जादौन आम आदमी पार्टी गौतमबुद्ध नगर के बने पुनः जिलाध्यक्ष

 नोएडा:आज 14 जून 2022 को आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय सयोंजक अरविंद केजरीवाल जी के निर्देश पर राज्यसभा सांसद एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने लखनऊ कार्यालय में प्रदेश के 16 जिलों के लिए मनोनीत जिलाध्यक्षों की दूसरी सूची जारी की जिसमे गौतमबुद्ध नगर में भूपेंद्र जादौन पर पुनः भरोसा जताते हुए जिले की जिम्मेदारी सौंपी है पिछले माह पहली सूची 26 जिलाध्यक्षों की जारी की जा चुकी है।जिले को आशा ही नही पूरा विस्वास है कि वह अपनी जिम्मेदारियों की पूर्व की ही निभाते रहेंगे व पार्टी को नई बुलंदियों पर ले जाएंगे

   बताते चले कि भूपेंद्र जादौन आम आदमी पार्टी के गठन के पूर्व अन्ना आंदोलन से जुड़े रहे और पार्टी के  संस्थापक सदस्य है गौतमबुद्ध नगर की पहली जिला कार्यकारिणी के सदस्य रहे इसके बाद नोएडा विधानसभा और नोएडा महानगर के अध्यक्ष बने और बाद में गौतमबुद्ध नगर के जिलाध्यक्ष बने और अब पुनः जिलाध्यक्ष की जिम्मेदारी पार्टी ने दी है पिछले 11 वर्षों में पार्टी की तरफ से दिल्ली, पंजाब,हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में पार्टी के निर्देशानुसार कार्य किया। नोएडा में पार्टी कार्यकर्ताओं ने भूपेंद्र जादौन को पुष्पगुच्छ भेंटकर शुभकामनाएं दी

संजीव निगम
मीडिया प्रभारी
AAP
9891264194

Monday, 13 June 2022

01:13

महंगाई के खिलाफ माकपा का अभियान जारी- गंगेश्वर दत्त शर्मा


 नोएडा, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी व सांप्रदायिकता के विरोध में भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी नोएडा कमेटी के फैसले अनुसार माकपा नेता नरेंद्र पांडे, मिथिलेश गुप्ता के नेतृत्व में यूसुफपुर चक सबेरी में सीपीआईएम पार्टी ब्रांच सदस्यों ने बैठक किया और कॉलोनी में जनसंपर्क कर पर्चा वितरण किया। इसी तरह माकपा नेता लता सिंह, राम स्वारथ के नेतृत्व में सीपीआईएम बरौला ब्रांच की बैठक हुई और गांव में जनसंपर्क कर पर्चा वितरण किया गया। जिसमें माकपा कार्यकर्ता रेखा चौहान, पिंकी, गुड़िया, सरस्वती, नचिकेता आदि ने हिस्सा लिया।

Sunday, 12 June 2022

07:01

आयकर विभाग ने खेलों, पहेलियों और कॉमिक्स के माध्यम से बच्चों में कर साक्षरता का प्रसार करने का लक्ष्य निर्धारित किया


नई दिल्ली:कें‍द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने टेक्‍स्‍ट आधारित साहित्य, जागरूकता संगोष्ठियों और कार्यशालाओं से आगे बढ़ते हुए, ‘खेल से सीखने’ के तरीकों के माध्यम से कर साक्षरता फैलाने के लिए एक अभिनव दृष्टिकोण अपनाया है। सीबीडीटी ने बोर्ड गेम, पहेली और कॉमिक्स के माध्यम से हाई स्कूल के छात्रों के लिए कराधान, जिन्हें अक्सर जटिल माना जाता है, से संबंधित अवधारणाओं के लिए नया प्रोडक्‍‍ट प्रस्तुत किया है।

 

इस पहल को आरंभ करते हुए, कें‍द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार शाम गोवा के पणजी में आजादी का अमृत महोत्सव प्रतिष्ठित सप्ताह के समापन समारोह में वित्तीय और कर जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से संचार और लोक संपर्क प्रोडक्‍‍ट की एक श्रृंखला लॉन्च की। उन्होंने अगले 25 वर्षों को अमृत काल करार दिया और कहा कि नए भारत को आकार देने में युवा प्रमुख भूमिका निभाएंगे। श्रीमती सीतारमण ने कार्यक्रम में उपस्थित स्कूली छात्रों को चयन करने के लिए खेलों के पहले सेट का भी वितरण किया।

06:59

जब आत्मनिर्भर गांवों की संख्या बढ़ेगी


              

नई दिल्ली:केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज अपने गुजरात दौरे के तीसरे दिन इंस्टीट्यूट ऑफ़ रूरल मैनेजमेंट आणंद (IRMA) के 41वें वार्षिक दीक्षांत समारोह को संबोधित किया। श्री अमित शाह ने दीक्षित छात्रों को डिग्री वितरित कर उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएँ दीं और कहा कि मुझे विश्वास है कि यहाँ से जाने के बाद आप चाहे किसी भी क्षेत्र में काम करें लेकिन ग्रामीण विकास के विचार और संकल्प के प्रति आप सदैव समर्पित रहेंगे।

 

 

 

इस अवसर पर अपने संबोधन में केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री ने कहा कि आज यहां से डिग्री लेकर जाने वाले ये छात्र गांधी जी का स्वप्न साकार करने के लिए काम करने वाले हैं। इस देश के ग्रामीण विकास को गति देना, देश के अर्थतंत्र में ग्रामीण विकास को कंट्रीब्यूटर बनाना और ग्रामीण विकास के माध्यम से गांव में रहने वाले हर व्यक्ति को समृद्धि की ओर ले जाना, ये किए बिना देश कभी आत्मनिर्भर नहीं हो सकता है। आज यहां से दीक्षित हो कर जा रहे सभी लोगों से मेरा यही निवेदन है कि आप जीवनभर इस देश के ग्रामीण विकास के लिए कुछ ना कुछ करते रहिए क्योंकि योगदान देने से हमें कोई नहीं रोक सकता। आज आप इरमा को गुरू दक्षिणा देकर और ये प्रण लेकर जाइए कि जीवनभर मेरी दृष्टि ग्रामीण विकास से जुड़ी रहेगी और गांव के ग़रीब को समृद्ध करने में लगी रहेगी। श्री अमित शाह ने कहा कि ग्रामीण विकास थ्योरेटिकल नहीं होता है, ये तभी होता है जब इसके प्रति समर्पित लोग चंदन की भांति स्वंय को घिसकर सुगंध को गांव-गांव तक पहुंचाते हैं। उन्होंने कहा कि अगर आधुनिक ज़माने में ग्रामीण विकास करना है तो इसके लिए पाठ्यक्रम बनाने होंगे, इसे फ़ॉर्मलाइज़ करना होगा और आज के ज़माने की ज़रूरतों के हिसाब से ग्रामीण विकास को परिवर्तित करके ज़मीन पर उतारना होगा। मैं मानता हूं कि सरदार पटेल, त्रिभुवनभाई की इस पवित्र भूमि पर इरमा ने इसे ज़मीन पर उतारने का काम किया है। 

Saturday, 11 June 2022

22:26

लूट की फिराक में घूम रहे बाइक सवार बदमाशों और पुलिस के बीच मुठभेड़ में एक बदमाश घायल, दूसरा फरार NOIDA

विक्रम पांडे
ग्रेटर नोएडा। कोतवाली सेक्टर-142 पुलिस और लूट की फिराक में घूम रहे बाइक सवार बदमाशो के बीच हुई मुठभेड़ में पैर में गोली लगने से बदमाश घायल हो गया। बदमाश का साथी पुलिस को चकमा दे कर फरार होने में सफल हो गया. घायल बदमाश उसे फौरन इलाज के लिये अस्पताल भेजा गया है. पुलिस ने आरोपी के कब्जे से बिना नम्बर प्लेट की बाइक और तमंचा बरामद किया है। 

पुलिस मुठभेड़ घायल आरोपी की पहचान दिल्ली निवासी जितेंद्र उर्फ जीतू के रूप में हुई है। आरोपी दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद में 15 से ज्यादा  चेन लूट की वारदात कर चुका है। आरोपी का एक साथी भूरा भागने में कामयाब हो गया। नोएडा सेंट्रल के एडीसीपी इलामरन जी. ने बताया कि शुक्रवार रात सेक्टर-142 थाना पुलिस चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान सूचना मिली कि बाइक सवार दो बदमाश किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है। पुलिस ने सेक्टर-90 कट के पास संदेह होने पर बाइक सवार बदमाशों को रोकने का प्रयास किया। आरोपी पुलिस टीम पर गोली चलाते हुए भागने लगे। पुलिस ने बदमाशों को एफएनजी रोड पुश्ता के पास घेर लिया। इसी दौरान जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश पैर में गोली लगने से गिर पड़ा। जब कि एक साथी भूरा भागने में सफल रहा. 
बाइट:-इलामरन जी. ( एडीसीपी नोएडा सेंट्रल ज़ोन 2)

एडीसीपी ने बताया पुलिस ने बताया कि हाल ही में आरोपी ने नोएडा के सेक्टर-49 और साहिबाबाद थाना क्षेत्र में भी वारदात की थी। आरोपी के कब्जे से बिना नम्बर बाइक और तमंचा बरामद किया है। पुलिस ने आरोपी को अस्पताल में भर्ती कराया है और उसके साथी के संबंध में जानकारी जुटा रही है।
17:42

महंगाई से जनता त्रस्त सरकार मस्त माकपा कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

 नोएडा, महंगाई बेरोजगारी और जनता के ज्वलंत मुद्दों को लेकर भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी नोएडा कमेटी पूरे जून माह में जनसंपर्क व विरोध कार्रवाईयों का आयोजन कर रही है। इसी क्रम में सीपीआईएम महिला ब्रांच ने सेक्टर- 8, नोएडा कार्यालय पर अपनी बैठक कर झुग्गी बस्ती में जनसंपर्क,पर्चा वितरण कर विरोध प्रदर्शन किया।
 विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए माकपा जिला प्रभारी गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि लगातार बेलगाम महंगाई ने आम आदमी की थालियों से रोटी छीन ली है तथा बच्चों से उनकी शिक्षा और बीमारियों से उनका इलाज साथ ही उन्होंने कहा कि पहले से ही मौजूद भयंकर बेरोजगारी और घटते वेतन के बीच महंगाई की इस अभूतपूर्व मार से जनता त्रस्त है और सरकार मस्त है।
 महंगाई के खिलाफ जनसंपर्क/ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व व संबोधन माकपा नेता इशरत जहां, आशा यादव, भरत डेंजर, रेखा चौहान, गुड़िया देवी, सुधा, चंदा बेगम आदि ने किया।
02:36

दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र में महर्षि श्री मुरलीधर व्यास जी के सानिध्य में राष्ट्रीय कामधेनु गौकथा महोत्सव 2022 का आयोजन किया गया


दिल्ली :  कामधेनु गौ कथा महोत्सव' के दो दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन 9 जून और 10 जून 2022 को जयंत वाटिका, अमृत विहार बुराड़ी दिल्ली - 84 में किया गया। इस विशेष कार्यक्रम का आयोजन राष्ट्रीय संत महर्षि मुरलीधर व्यास जी के सानिध्य में जय भारत फाउण्डेशन द्वारा विश्व मानव परमार्थ ट्रस्ट व स्थानीय गणमान्य गौ भक्त परिवारों के सहयोग व योगदान फलस्वरूप किया गया।
9 जून को इस पावन गौ कथा कार्यक्रम का आरम्भ कलश यात्रा जो नत्थूपुरा के हनुमान मंदिर से निकल कर कलश स्थापना कथा पंडाल में की गयी। तत्पश्चात गणेश वंदना, गौ पूजा , गणेश वंदना पर सांस्कृतिक नृत्य, गौकथा, आरती से किया गया।

इस पावन सर्वजन हिताय 'राष्ट्रीय कामधेनु गौ कथा महोत्सव' कार्यक्रम में दिल्ली प्रान्त प्रमुख (राष्ट्र सेविका समिति में धर्म रक्षा प्रमुख) श्रीमती पूनम गौड़ जी के नेतृत्व में इस महोत्सव को भव्य रूप दिया गया। इस विशेष कार्यक्रम 'राष्ट्रीय कामधेनु गौ कथा महोत्सव' के आयोजन का मुख्य उद्देश्य हमारे सनातन धर्म में गौ माँ के विशेष स्थान, योगदान और महत्व से जन - जन को अवगत कराना था। संत महर्षि मुरलीधर व्यास जी ने गौकथा में बताया कि सनातन धर्म की संस्कृति सबसे प्राचीन बताई जाती है लेकिन आज हम सब अपनी संस्कृति को भुलाए बैठे है। हमारी नयी पीढ़ी जो पाश्चात्य संस्कृति के पीछे भाग रही है और भारतीय संस्कृति के विषय में जानकारी के अभाव में भटक रही है। ऐसे धार्मिक कार्यकर्मों द्वारा हम अपनी पीढ़ी को जागरूक करते है। और यह भी जानकारी देते है कि गौ माँ राष्ट्र की अमूल्य धरोहर है यह आध्यात्म, सामाजिक व आर्थिक रूप से सभी पहलुओं में अपना विशेष योगदान देती हैं। जन-जन को भांति-भांति प्रकार के लाभ देने के साथ पर्यावरण संरक्षण में भी मुख्य भूमिका निभाती है। साथ ही भारत में गौ की दुर्दशा पर भी चिंता जताई और गौ के प्रति हो रहे कई असहनीय कृत्यों की भी निंदा की। जन -जन को गौ रक्षा हेतु आगे आने, गौ हित के काम करने, के लिए भी अपना योगदान देने की बात कही गयी।
धर्म के इस पावन कार्यक्रम में अन्य गणमान्य स्थानीय श्रद्धालु परिवारों ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया और अपना सहयोग देकर कार्यक्रम को सफल बनाया जैसे राजकुमार प्रधान जी, राजेंद्र शर्मा जी, श्रीमती संध्या कुमारी जी, विनोद शर्मा जी, मनोज गौड़ जी, दिनेश गौड़ जी, अमित जी, दिलीप जी, संजय सिंह जी, प्रेमपाल जी। वही दूसरी और कार्यक्रम के कार्यकर्ता के रूप में योगदान रहा राजकुमार जी, अनमोल कुमार जी, मुकेश ठाकुर जी, रंजीत सिन्हा जी।
10 जून को गौ कथा, आरती, विशेष अतिथि सम्मान व विशाल सामूहिक हवन के बाद विशाल भंडारे के साथ पावन सर्वजन हिताय 'राष्ट्रीय कामधेनु गौ कथा महोत्सव' कार्यक्रम का समापन किया गया।
इस पावन सर्वजन हिताय 'राष्ट्रीय कामधेनु गौ कथा महोत्सव' कार्यक्रम में माननीय विशेष अथितिगण गोपाल झा जी (पूर्व विधायक प्रत्याशी भाजपा), गौरव खारी जी (दिल्ली प्रदेश महामंत्री भाजपा), नरेंद्र भंडारी जी (वरिष्ठ पत्रकार), देवेंद्र पवार जी (वरिष्ठ पत्रकार) , के.के. राय जी, (VHP), धर्मराज जी (VHP), महंत श्री चंद्र प्रकाश जी और शिव नारायण दत्त तिवारी जी (दिल्ली प्रकोष्ठ पुजारी) शामिल रहे।