Tap news india

Hindi news ,today news,local news in india

Breaking news

गूगल सर्च इंजन

Thursday, 31 March 2022

18:14

अब खाद्य तेल बनाने निकालने वाले अपनी भंडारण क्षमता को 90 दिनों का स्टॉक कर सकेंगे

रामजी पांडे

नई दिल्ली:सरकार ने खाद्य तेल की बढ़ती कीमतों को कम करने के लिए 30 मार्च, 2022 को एक केंद्रीय आदेश अधिसूचित किया है। इसमें लाइसेंसिंग आवश्यकताओं, स्टॉक सीमा और निर्दिष्ट खाद्य पदार्थ आदेश, 2016 की गतिविधि पर प्रतिबंध और दिनांक 3 फरवरी, 2022 को जारी इसके केंद्रीय आदेश को सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के लिए 31 दिसंबर, 2022 तक की अवधि के लिए सभी खाद्य तेलों और तिलहनों के लिए स्टॉक सीमा का विस्तार करते हुए संशोधित किया गया है। यह आदेश पहली अप्रैल, 2022 से 31 दिसंबर, 2022 तक प्रभावी है।

 

इससे पहले, सरकार ने 3 फरवरी, 2022 को जारी अपने आदेश के तहत खाद्य तेलों और तिलहनों पर 30 जून, 2022 तक स्टॉक सीमा मात्रा लगाई थी जिसे अब नवीनतम आदेश के माध्यम से 31 दिसंबर 2022 तक बढ़ा दिया गया है। इस आदेश में एक अन्य महत्वपूर्ण संशोधन यह है कि उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान और बिहार जैसे 6 राज्य, जिन्होंने केंद्रीय आदेश के अनुपालन में अपना नियंत्रण आदेश जारी किया था, को भी पहली अप्रैल, 2022 से प्रभावी नवीनतम आदेश के दायरे में लाया गया है।

उपरोक्त फैसला दुनिया भर में मौजूदा भू-राजनीतिक स्थितियों के कारण सभी खाद्य तेलों की कीमतों में उच्चतम स्तर पर बढ़ोतरी की प्रवृति पर विचार-विमर्श के बाद लिया गया था। यूक्रेन से सूरजमुखी के तेल की आपूर्ति पर दबाव का इंडोनेशिया की निर्यात नीति पर असर पड़ा है, जिससे पाम के तेल के आयात पर असर पड़ा है। इसके अलावा, यह असर दक्षिण अमेरिका में फसलों को हुए नुकसान से और भी बढ़ गया है जिससे सोयाबीन तेल की आपूर्ति प्रभावित हुई। इसके कारण सोयाबीन तेल की अंतर्राष्‍ट्रीय कीमतों में बड़े उछाल की प्रवृत्ति देखी गई है। सोयाबीन तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमतों में महीने के दौरान 5.05% और वर्ष के दौरान 42.22% की वृद्धि हुई। कच्चे और परिष्कृत दोनों प्रकार के पाम तेल की अंतर्राष्‍ट्रीय कीमतों में सप्ताह और महीने में कमी देखी गई है लेकिन जनवरी, 2022 से इसमें बहुत अधिक वृद्धि की प्रवृत्ति देखी गई है।

 

खाद्य तेलों के लिए, खुदरा विक्रेताओं के लिए स्टॉक सीमा 30 क्विंटल, थोक विक्रेताओं के लिए 500 क्विंटल, थोक उपभोक्ताओं के लिए खुदरा विक्रेताओं यानी बड़ी चेन खुदरा विक्रेताओं और दुकानों के लिए 30 क्विंटल और इसके डिपो के लिए 1000 क्विंटल की स्टॉक सीमा होगी। खाद्य तेलों के प्रसंस्करणकर्ता अपनी भंडारण/उत्पादन क्षमता के 90 दिनों का भंडारण कर सकेंगे।

 

खाद्य तिलहन के लिए, खुदरा विक्रेताओं के लिए स्टॉक की सीमा 100 क्विंटल और थोक विक्रेताओं के लिए 2000 क्विंटल होगी। खाद्य तिलहन के प्रसंस्करणकर्ता दैनिक इनपुट उत्पादन क्षमता के अनुसार 90 दिनों के खाद्य तेलों के उत्पादन का स्टॉक कर सकेंगे। निर्यातकों और आयातकों को कुछ चेतावनियों के साथ इस आदेश के दायरे से बाहर रखा गया है।

उपरोक्त उपाय से बाजार में जमाखोरी, कालाबाजारी आदि जैसे किसी भी अनुचित व्यवहार पर अंकुश लगने की उम्मीद है और यह खाद्य तेलों की कीमतों को नियंत्रित करने में मदद करेगा। इससे यह भी सुनिश्चित होगा कि शुल्क में कमी का अधिकतम लाभ अंतिम उपभोक्ताओं तक पहुंचाया जाए।

18:08

मुंबई पोत परिवहन के अध्यक्ष श्री राजीव जलोटा ने कहा कि मुंबई बंदरगाह पर घरेलू और अंतर्राष्‍ट्रीय क्रूज सेवा मुख्य गतिविधि होने की उम्मीद है


मुंबई:बीपीएक्स-इंदिरा डॉक पर बनकर तैयार होने वाला प्रतिष्ठित समुद्री क्रूज टर्मिनल - मुंबई इंटरनेशनल क्रूज टर्मिनल के जुलाई 2024 तक चालू होने की उम्मीद है। टर्मिनल में प्रति वर्ष 200 जहाजों और 1 मिलियन यात्रियों की आवाजाही को संभालने की क्षमता होगी। कुल परियोजना लागत 495 करोड़ रुपए में से 303 करोड़ रुपए मुंबई पोत प्राधिकरण और शेष निजी ऑपरेटरों द्वारा खर्च किए जाएंगे। मुंबई पोत प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री राजीव जलोटा ने राष्ट्र के बंदरगाह-केंद्रित विकास के लिए भारत सरकार के प्रमुख कार्यक्रम - सागरमाला के 7 साल पूरे होने के अवसर पर आज मुंबई में मीडिया को संबोधित करते हुए यह जानकारी  दी।

 

IMG_256

भारत में अपनी तरह का पहला प्रतिष्ठित समुद्री क्रूज टर्मिनल का कुल निर्माण क्षेत्र 4.15 लाख वर्ग फुट है। इसमें 22 एलिवेटर, 10 एस्केलेटर और 300 कारों के लिए बहुमंजिला कार पार्किंग की सुविधा होगी। डॉक पर एक बार में दो क्रूज जहाजों को जगह मिलेगी।

 

श्री जलोटा ने कहा कि आने वाले दिनों में मुंबई पोर्ट पर घरेलू और अंतर्राष्‍ट्रीय क्रूज सेवा मुख्य गतिविधि होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि मुंबई पोत प्राधिकरण क्रूज पर्यटन, यात्री परिवहन, जहाज मरम्मत पर विशेष ध्यान दे रहा है। श्री जलोटा ने कहा कि भारत को एक क्रूज गंतव्य के रूप में  स्थापित करने के लिए एक क्रूज कॉन्फ्रेंस की योजना बनाई जा रही है, जिसका उद्देश्य मुंबई, गोवा, कोच्चि जैसे बंदरगाहों और पूर्वी तट पर बंदरगाहों को देश के क्रूज हब के रूप में स्थापित करना है।

18:05

गणतंत्र दिवस परेड-2022 के सर्वश्रेष्ठ मार्चिंग दल की ट्रॉफी दी गई


नई दिल्ली:नौसेना प्रमुख एडमिरल आर. हरि कुमार ने 31 मार्च 2022 को नौसेना दल के कर्मियों को गणतंत्र दिवस परेड-2022 के लिए सर्वश्रेष्ठ मार्चिंग दल की ट्रॉफी प्रदान की।

आईएएफ 2013 के साथ संयुक्त विजेता होने के बावजूद यह पहली बार है कि इस भारतीय नौसेना दल को जजों के ऐसे पैनल द्वारा विजेता के रूप में चुना गया है जिसमें तीनों सेवाओं में से प्रत्येक के वरिष्ठ सेवानिवृत्त अधिकारी शामिल थे।

इस टुकड़ी का नेतृत्व लेफ्टिनेंट कमांडर आंचल शर्मा ने किया, जिसमें लेफ्टिनेंट शुभम शर्मा, सब-लेफ्टिनेंट सूर्यकांत और सब-लेफ्टिनेंट अवंतिका प्लाटून कमांडर थे और इसमें 96 युवा नाविक शामिल थे। 72 कर्मियों के इस संयुक्त नौसेना बैंड का नेतृत्व विन्सेंट जॉनसन एमसीपीओ-1 म्यूज़िशियन (मानद एसएलटी) ने किया था।

आईएनएस इंडिया के सीओ और आईएनएस चिल्का के सीओ की मौजूदगी में दल कमांडरों और गनरी प्रशिक्षकों द्वारा यह ट्रॉफी ग्रहण की गई, जो कि इस दल के प्रशिक्षण में सहायक थे।

 


09:23

सरकार और निजी स्कूल संचालकों का गठजोड़ हुआ उजागर : विमल किशोर


हरियाणा आज का 30 मार्च सोनीपत आज हरियाणा सरकार ने निजी स्कूल संचालकों के आगे नतमस्तक होते हुए गरीबों का हक मारते हुए निजी स्कूलों में गरीब विद्यार्थियों का 10% कोटा समाप्त कर दिया जोकि सरकार की गरीब विरोधी मानसिकता को दर्शाता है
सरकार यह नहीं चाहती कि गरीब बच्चे भी शिक्षा ग्रहण कर सकें सीधा-सीधा सरकार ने गरीबों से शिक्षा का हक छीन लिया है उपरोक्त बातें आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता विमल किशोर ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहीं

 विमल किशोर ने कहा कि हरियाणा सरकार पहले ही सैकड़ों सरकारी स्कूल बंद कर चुकी है और जो सरकारी स्कूल बचे हुए हैं उनकी हालत जर्जर है जिसमें पढ़ाई नाम की कोई चीज नहीं होती 
जिससे गरीब बच्चों को 134 ए के तहत निजी स्कूलों में पढ़ने का मौका मिलता था किंतु हरियाणा सरकार ने निजी स्कूल संचालकों के दबाव में धारा 134 ए को समाप्त कर दिया 

विमल किशोर ने कहा कि यदि हरियाणा सरकार ने 134 ए को समाप्त करना ही था तो पहले सरकारी  स्कूलों की हालत में सुधार करना चाहिए था ताकि गरीब बच्चे अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सकें 

आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता विमल किशोर ने आगे कहा की 134 ए नियमावली 2003 के तहत निजी स्कूलों में गरीब बच्चों का कोटा 25% था जिसे 2013 में तत्कालीन कांग्रेश की हुड्डा सरकार ने निजी स्कूल संचालकों के दबाव में 10% कर दिया था जिसे अब हरियाणा की बीजेपी सरकार ने बिल्कुल समाप्त कर दिया है जो सरासर गरीबों के साथ अन्याय है जो यह दर्शाता है हरियाणा की अब तक की सभी सरकारी निजी स्कूलों की लूट में शामिल रही हैं और निजी स्कूल संचालकों के दबाव में रही हैं 

विमल किशोर ने आगे कहा कि हरियाणा में आम आदमी पार्टी की सरकार आने पर सरकारी स्कूलों को निजी स्कूलों से भी बेहतर बनाया जाएगा जिससे गरीब बच्चों को अच्छी शिक्षा निशुल्क मिल सकेगी और 134 ए की भी जरूरत नहीं पड़ेगी

विमल किशोर ने हरियाणा सरकार से मांग की कि 134 ए को समाप्त करने से पहले सरकारी स्कूलों की दशा में सुधार किया जाए अन्यथा आम आदमी पार्टी पूरे हरियाणा में आंदोलन करने को मजबूर होगी
06:44

सरकार का देश में सूरजमुखी के क्षेत्र व उत्पादन को बढ़ावा देने पर जोर tap news india


नई दिल्ली कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार का देश में सूरजमुखी (सनफ्लावर) के क्षेत्र और उत्पादन को बढ़ावा देने पर जोर है। इस संबंध में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने राज्य सरकारों तथा संबंधित विशेषज्ञों के साथ एक बैठक में विस्तृत विचार-विमर्श किया। बैठक में श्री तोमर ने कहा कि जिस तरह से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में देश में दलहन-तिलहन और राष्ट्रीय आयल पाम मिशन प्रारंभ किया गया है, उसी तरह सूरजमुखी को भी योजनाबद्ध ढंग से बढ़ावा दिया जाएगा। राज्यों व विशेषज्ञों के सुझावों का अध्ययन कर उसके आधार पर इस संबंध में विस्तृत कार्ययोजना बनाई जाएगी। उन्होंने घोषणा की कि सभी प्रमुख राज्य सरकारों और उद्योग, बीज संघों आदि जैसे हितधारकों तथा कृषि आयुक्त व अन्य संबंधित अधिकारियों की एक उप-समिति आगे की रूपरेखा बनाएगी। उन्होंने राज्यों से सूरजमुखी के उत्पादन को बढ़ाने का आग्रह करते हुए राज्य सरकारों को बीज, उद्योगों को सूक्ष्म सिंचाई सहायता आदि जैसे के समर्थन का आश्वासन भी दिया।

केंद्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर की अध्यक्षता में, नई दिल्ली स्थित कृषि भवन हुई इस उच्चस्तरीय बैठक में उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, पंजाब, तमिलनाडु सहित अन्य राज्यों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया, वहीं तिलहन क्षेत्र के विभिन्न महत्वपूर्ण हितधारकों, जैसे राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड, नेशनल सीड्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया, फेडरेशन ऑफ सीड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया सहित निजी क्षेत्र के उद्यमियों आदि के साथ भी केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने बातचीत की। बैठक में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी व सुश्री शोभा करंदलाजे तथा कृषि सचिव श्री संजय अग्रवाल भी उपस्थित थे। संयुक्त सचिव श्रीमती शुभा ठाकुर ने बैठक का संचालन करते हुए सूरजमुखी के क्षेत्र और उत्पादन पर प्रकाश डाला। सूरजमुखी महत्वपूर्ण तिलहन फसलों में से एक है, जिसे प्रमुख रूप से कर्नाटक, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, पंजाब, हरियाणा में उगाया जाता है। सूरजमुखी के क्षेत्र की गुंजाइश अन्य राज्यों में भी है, जैसे बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, छत्तीसगढ़ आदि।

बैठक में, उ.प्र. सरकार ने सूक्ष्म सिंचाई के समर्थन से सूरजमुखी क्षेत्र विस्तार में रुचि दिखाते हुए कहा कि सरसों की सफलता के मॉडल को सूरजमुखी के लिए दोहराने की जरूरत है। कर्नाटक, किसानों की आय बढ़ाने के लिए सुनिश्चित सिंचाई सुविधा के साथ सीमांत भूमि में, विशेषकर रबी मौसम में क्षेत्र विस्तार कार्यक्रम जारी रखने के लिए तैयार है। कर्नाटक सरकार ने राज्य के पश्चिमी घाट क्षेत्र में प्रमुख फसलों जैसे अरहर, सोयाबीन, मक्का की इंटरक्रॉपिंग के साथ सोयाबीन की खेती की भी वकालत की तथा बाजरा कार्यक्रम के पैटर्न पर सूरजमुखी क्षेत्र के विस्तार में रुचि दिखाई। आंध्र प्रदेश ने धान क्षेत्र में टीआरएफए भूमि के विस्तार द्वारा सूरजमुखी की खेती में रुचि दिखाई, विशेष रूप से जहां बोरवेल स्थापित हैं। वहीं, पंजाब धान के रकबे को डायवर्जन कर क्षेत्रविस्तार के लिए तैयार है। हरियाणा ने लगभग 30000 एकड़ के आलू परती क्षेत्र में क्षेत्र विस्तार की योजना बनाई है। तिलहन क्षेत्र के महत्वपूर्ण हितधारकों ने सूरजमुखी के लिए अलग मिनी-मिशन, बीज उपलब्धता, रोग-कीट नियंत्रण, बाजार समर्थन एवं बीमा सहायता के लिए अनुरोध किया है।

06:37

औद्योगिक श्रमिकों का उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 2016 फरवरी, 2022

  नई दिल्ली श्रम ब्यूरो, श्रम एवं रोज़गार मंत्रालय से संबंधित कार्यालय द्वारा हर महीने औद्योगिक श्रमिकों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का संकलन सम्पूर्ण देश में फैले हुए 88 महत्वपूर्ण औद्योगिक केंद्रों के 317 बाजारों से एकत्रित खुदरा मूल्यों के आधार पर किया जाता है। सूचकांक का संकलन 88 औद्योगिक केंद्रों एवं अखिल भारत के लिए किया जाता है और आगामी महीने के अंतिम कार्यदिवस पर जारी किया जाता है। फरवरी, 2022 के लिए सूचकांक इस प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से जारी किया जा रहा है ।

            फरवरी, 2022 का अखिल भारत उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (औद्योगिक श्रमिक) 0.1 अंक घटकर 125.0 (एक सौ पच्चीस ) अंकों के स्तर पर संकलित हुआ। सूचकांक में पिछले माह की तुलना में 0.08 प्रतिशत की कमी रही जबकि एक वर्ष पूर्व इन्हीं दो महीनों के बीच 0.68 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी ।

सूचकांक में दर्ज कमी में अधिकतम योगदान खाद्य एवं पेय समूह का रहा जिसने कुल बदलाव को 0.30 बिन्दु प्रतिशतता से प्रभावित किया। मदों में चावल, बीटरूट, बंदगोभी, गाजर, ड्रम्स्टिक, फ्रेंच बीन, भिंडी, प्याज, आलू और टमाटर इत्यादि सूचकांक को घटाने में जिम्मेवार रहे। इसके विपरित मुख्यतः गोट मीट/मटन, पोल्ट्री चिकन, सेब, हरी मिर्च, परवल, मिट्टी का तेल, डॉक्टर/सर्जन फीस, एलोपेथिक दवाईयां, बस किराया एवं ट्यूशन/कोचिंग फीस इत्यादि ने सूचकांक में दर्ज कमी को नियंत्रित करने का प्रयास किया ।

केंद्र-स्तर पर सेलम के सूचकांक में अधिकतम 4.7 अंक की कमी रही जिसके पश्चात तिरुनेल्वेलि में 3.7 अंक की कमी दर्ज की गई। अन्य 5 केंद्रों में 2 से 2.9 अंक, 4 केंद्रों में 1 से 1.9 तथा 28 केंद्रों में 0.1 से 0.9 अंक के बीच कमी रही। इसके विपरीत थाने में अधिकतम 2.9 अंक की वृद्धि दर्ज की गयी जिसके पश्चात भीलवाड़ा में 2.1 अंक की वृद्धि दर्ज की गई। अन्य 9 केंद्रों में 1 से 1.9 तथा 35 केंद्रों में 0.1 से 0.9 अंक के बीच वृद्धि रही । शेष 3 केंद्रों के सूचकांक स्थिर रहे।

फरवरी, 2022 के लिए मुद्रास्फीति दर पिछले महीने के 5.84 प्रतिशत तथा गत वर्ष के इसी माह के 4.48 प्रतिशत की तुलना में 5.04 प्रतिशत रहा। खाद्य-स्फीति दर पिछले माह के 6.22 प्रतिशत एवं एक वर्ष पूर्व इसी माह के 4.64 प्रतिशत की तुलना में 5.09 प्रतिशत रहा ।

 

सी.पी.आई.- आई.डब्ल्यू. पर आधारित मुद्रास्फीति दर (खाद्य एवं सामान्य)

 

 

06:32

AAP ने सीएम अरविंद केजरीवाल के घर पर हमले के खिलाफ कार्यकर्ताओ का विरोध-प्रदर्शन

 
नोयडा। 31 मार्च दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर हमले के विरोध में आम आदमी पार्टी ने प्रदेशव्यापी विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान नोएडा में पार्टी के जिलाध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह जादौन की अध्यक्षता में आयोजित विरोध-प्रदर्शन में प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह भी शामिल हुए। आप कार्यकर्ताओं ने यहां हमला करने वालों की गिरफ्तारी और घटना की सुप्रीम कोर्ट के नयायाधीश की निगरानी में जांच कर दोषियों पर कानूनी कार्रवाई की मांग की।
 
प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने सीएम अरविंद केजरीवाल के घर किये गये हमले की निंदा की। उन्होंने इस घटना को शर्मनाक बताया और कहा कि पंजाब में मिली करारी हार के बाद बीजेपी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की हत्या कराना चाहती है। वो अरविंद केजरीवाल जी को मारना चाहती है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से कल पुलिस की मौजूदगी में पुलिस के साथ भारतीय जनता पार्टी के गुंडे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दिल्ली स्थित आवास पर पहुंचे और उन्होंने घर के सीसीटीवी तोड़े और सिक्योरिटी के बूम बैरियर तोड़े। इससे साफ है कि वो उनको नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से वहां गये थे। भूपेन्द्र सिंह जादौन ने मांग की है कि यह काम भारतीय जनता पार्टी के गुंडो ने किया है। दिल्ली के यशस्वी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर हमला सोची समझी साजिश के तहत किया गया है। इसलिए दोषियों पर कठोर कार्रवाई की जानी चाहिये। 

पार्टी प्रवक्ता संजीव निगम ने जानकारी देते हुये बताया कि
कार्यक्रम में विनय पटेल मीनाक्षी श्रीवास्तव ,रामजी पांडे,  ओमवीर यादव पंकज अवाना संजय चेची प्रो ऐ के सिंह पूनम सिंह नितिन प्रजापति राकेश अवाना राहुल सेठ तरुन तंवर,डॉ बी पी सिंह,कुलदीप कुमार,मुन्ना गुप्ता,अनिल चेची,परशुराम चौधरी, उमेश गौतम,मुकेश प्रधान,अखंड प्रताप सिंह गुडू यादव,जय किशन जैसवाल,प्रीति उपाध्यक्ष, अनीता चौधरी, रिहाना खातून,नितिन प्रधान,कैलाश शर्मा,ऋषि बैसोया, सतीश कुमार,एडवोकेट प्रशान्त राज,दिलीप मिश्रा, अमित भारद्वाज, श्रीकांत वैद्य,मुकुल अवाना, भूपेन्द्र, आकाश,कमल मावी,राजेश उपाध्याय, प्रदीप सुनाईया,वीरेन चौधरी,गजेन्द्र चौधरी, अफजल चौधरी, राजीव कुमार इम्तियाज अली, उदय कुमार,नितिन प्रधान,सुमित चपराना,मनदीप अवाना, सुमित,सतवीर,राहुल, नवीन भाटी,रहीस ठाकुर, अफलातून, श्यामू रवि चौधरी,संदीप भाटी , नियामत, बब्लू, रिजवान, सरिता, अंजू,मुश्कान, पुष्पा,उदय कुमार, प्रमोद सिंह,सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता शामिल रहे।

Wednesday, 30 March 2022

21:44

ग्रेटर नोएडा में बनेगा ट्रांसपोर्ट नगर 100 दिन में शुरू होगी प्रक्रिया

विक्रम पांडे

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने नोएडा ट्रांसपोर्ट संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष चौधरी वेदपाल सिंह के नेतृत्व में गए प्रतिनिधिमंडल को 100 दिन के भीतर ट्रांसपोर्ट नगर के लिए स्थान चिह्नित कर निर्माण की प्रक्रिया शुरू कराने का भरोसा दिया है। यह भरोसा मोर्चा के अध्यक्ष चौधरी वेदपाल सिंह नेतृत्व में गये प्रतिनिधिमंडल को तब दिया जब ग्रेटर नोएडा में ट्रकों और दूसरे मालवाहक वाहनों की पार्किंग और ट्रांसपोर्टरों की समस्याओं के बाबत बुधवार को सीईओ नरेंद्र भूषण से मुलाकात की। लगभग 50 मिनट तक चली बैठक के दौरान सीईओ को ग्रेटर नोएडा में ट्रांसपोर्ट की समस्याओं से अवगत कराया गया। 

नोएडा ट्रांसपोर्ट संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष चौधरी वेदपाल ने बताया कि ग्रेटर नोएडा बड़ा औद्योगिक क्षेत्र है। यहां पर तमाम नेशनल और मल्टी नेशनल कंपनियां काम कर रही हैं। इनमें सैमसंग, एलजी, यामाहा, होंडा आदि बड़ी कंपनियां भी शामिल हैं। यहां से देश के दूसरे राज्यों और विदेशों से भी सामानों का आयात निर्यात किया जाता है। लेकिन, यहां पर ट्रांसपोर्ट नगर नहीं बसाया गया। इससे उद्यमियों और व्यापारियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। श्री सिंह ने कहा कि ट्रांसपोर्ट नगर न होने से शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या बनी रहती है। ट्रांसपोर्ट नगर बसने से इन समस्याओं का समाधान हो सकेगा। 

नोएडा ट्रांसपोर्ट संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष चौधरी वेदपाल सिंह ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल की बात सुनने के बाद सीईओ नरेंद्र भूषण ने 100 दिन के भीतर जगह चिह्नित कर ग्रेटर नोएडा में ट्रांसपोर्ट नगर बसाने की शुरुआत करने का आश्वासन दिया है। उनके इस भरोसे पर ट्रांसपोर्टरों में खुशी की लहर है। प्रतिनिधिमंडल में मनोज गर्ग, महावीर नागर, योगेश वर्मा, मनोज गोयल, इंद्रजीत कसाना, सुनील नागर, अमित यादव और सुरेंद्र नागर आदि शामिल थे।
06:55

वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया ने पत्रकारों की 30 सूत्रीय मांगों को लेकर दिल्ली के जंतर मंतर पर किया महाप्रदर्शन

रामजी पांडे
नई दिल्ली देश के पत्रकारों के सबसे बड़े संगठन वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ़ इंडिया ने आज दिल्ली के जंतर मंतर पर महा प्रदर्शन किया I इसमे देश के लगभग 30 पत्रकार संगठनों ले भाग लिया I इन संगठनों के पत्रकारों ने  पत्रकारों की दयनीय स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि देश के पत्रकारों को इस से बाहर निकालना चाहिए I  तभी पत्रकार देश के विकास मे भागीदार बन सकते है I  
इस मौके पर सभी वक्ताओं ने कहा कि  पत्रकार देश और दुनियाँ मे होने वाली सभी घंटनाओ को दिखाते और छापते है I इन खबरों मे कुछ खबरें सामने वालो को पसंद नहीं आती है जिसके कारण उनकी सुरक्षा की समस्या उत्पन हो जाती है और उन पर फर्जी FIR तक दर्ज करा दी जाती है I इसलिए इनकी सुरक्षा सर्वोपरि है I वैसे तो  देश में सैकड़ों पत्रकार  एसोशिएशन है जो पत्रकारों के  प्रतिनिधित्व का दावा तो करती है लेकिन इनकी सुरक्षा के बारे मे कोई भी बात नहीं करता है I वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ़ इंडिया ने पिछले पांच छ सालों में पत्रकारों के हितों को लेकर कई आंदोलन किए हैI  उससे देशभर के पत्रकारों में वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ़ इंडिया ही अग्रणी संस्था नज़र आती है जो हर तरह से पत्रकारों के लिए और उनके साथ खड़ी होकर उनका हर तरह से  सहयोग करती है I 

प्रधानमंत्री कार्यालय को दिये गए ज्ञापन मे निम्न मांगो को शामिल किया गया है।

 पत्रकार सुरक्षा कानून बनाया जाए ।
 मीडिया आयोग का गठन किया जाए ।
 प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया को भंग करके जिला स्तर पर मीडिया कॉउंसिल बनाये जाए । 
 पत्रकारों का नेशनल रजिस्टर बनाया जाए ।
 गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिये उन्हें आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जाए।
 60 साल से ऊपर के पत्रकारों को 20 हज़ार रुपये की मासिक पेंशन दी जाए । 
 पत्रकारो को केंद्रीय राशनिंग प्रणाली से जोड़ा जाए। 
 देश मे  ई-पेपर को मान्यता दी जाए।
 पीआईबी की पत्रकारो को मान्यता देने के लिये जारी नई गाइडलाइन्स को वापिस लिया जाए व सेंट्रल प्रेस एकरीडिशन समिति को भंग किया जाए।
 पत्रकारो को सरकारी मान्यता देने की नीति को सरल किया जाए ।
 पत्रकारो को रियायती दरों पर भूखंड आबंटित किये जायें ।
 जिला स्तर पर प्रेस कल्ब व मीडिया सेन्टर बनाये जाए । 
 महिला पत्रकारो के लिये, होस्टल बनाये जाए ।
पत्रकारो को  इन्शुरन्स कवर उपलब्ध करवाया जाए । 
 पत्रकार की आकस्मिक मृत्यु होने पर उसके परिवार को आर्थिक सहायता  दी जाए ।
 पत्रकारो को सम्मानजनक ढंग से अपना कार्य करने देने हेतु एक विशेष प्रोत्साहन नीति बनायी जाए। 
 मीडिया से जुड़े कानूनी मामलों के जल्द निपटारे के लिए आयोग बनाया जाए।
                           इस मौके पर भारतीय मजदूर संघ दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष अनीश मिश्रा ने वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया के आहवान पर महाप्रदर्शन में आए पत्रकार संगठनों को हर संभव सहायता एवम मार्गदर्शन का आश्वासन दिया। महाप्रदर्शन में केरल से सीजू , उत्तराखंड के अध्यक्ष श्री सुनील गुप्ता जी ,श्री रजनीश जी ,हरियाणा से कार्यकारी अध्यक्ष श्री विकास सुखीजा जी अध्यक्ष श्री योगेश सूद जी महासचिव श्री संजीव कौशिक जी , मध्य प्रदेश के श्री राजेंद्र जैन जी श्री मधु सिंह नेशनल फाउंडेशन से, श्री शिव कुमार जी जबलपुर से , नेशनल प्रेस क्लब से नंद गोपाल, आई एन एस से प्रदीप महाजन, राम गोपाल, श्री राकेश कुमार के साथ साथ  इस अवसर  पर WJI  के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप चौधरी राष्ट्रीय महासचिव नरेंद्र भंडारी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संजय उपाध्याय राष्ट्रीय सचिव विपिन चौहान के अलाबा दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष संदीप शर्मा महासचिव देवेंद्र सिंह तोमर उपाध्यक्ष सुधीर सलूजा उपाध्यक्ष अशोक धवन परामर्शदाता देवेंद्र पंवार,प्रमोद गोस्वामी  मीडिया सेक्रेटरी धर्मेंद्र भदौरिया वरिष्ठ पत्रकार मुकेश मधुर, ईश मलिक प्रीतपाल सिंह, अशोक सक्सेना अशोक धवन, सुनील परिहार  नरेंद्र धवन आदि उपस्थित थेI

Tuesday, 29 March 2022

21:06

लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के जिला अध्यक्ष व सोनीपत प्रभारी रहे रमेश कुमार आजाद ने साथियों सहित थामा आम आदमी पार्टी का दामन TAP NEWS INDIA


हरियाणा सोनीपत में लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के जिला अध्यक्ष व लोकसभा प्रभारी रहे रमेश कुमार आजाद आम आदमी पार्टी तथा केजरीवाल की नीतियों से प्रभावित होकर अपने साथियों रजनी चौधरी,आजाद बाहमनिया, महा सिंह इस्टकॉन,दलबीर गुरइया सहित आम आदमी पार्टी में हुए शामिल 

राज्यसभा सांसद व हरियाणा प्रभारी सुशील गुप्ता ने अपने कार्यालय फिरोजशाह रोड दिल्ली में रमेश कुमार आजाद व उनके साथियों को आम आदमी पार्टी की टोपी पहना कर विधिवत रूप से आम आदमी पार्टी में शामिल कराया

इस मौके पर राज्यसभा सांसद व हरियाणा प्रभारी सुशील गुप्ता ने कहा कि दिल्ली तथा पंजाब की तरह सभी पार्टियों को देख चुके आजमा चुके तंग आ चुके लोग  हरियाणा में भी आम आदमी पार्टी की तरफ बड़ी उम्मीद से देख रहे हैं क्योंकि आम आदमी पार्टी जाति व धर्म की राजनीति नहीं काम की राजनीति करती है मुद्दों की राजनीति करती है आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में जो शिक्षा स्वास्थ्य बिजली पानी में अभूतपूर्व काम किए हैं व पंजाब में कर रहे हैं वही काम हरियाणा में भी करेंगे और 

सुशील गुप्ता ने आगे कहा कि पंजाब में ऐतिहासिक जीत के बाद से उनके कार्यालय दिल्ली में आम आदमी पार्टी में शामिल होने के लिए पूरे हरियाणा से हर रोज लगातार भारी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं 
उन्होंने कहा कि पार्टी में शामिल होने वालों की भारी भीड़ को देखते हुए शीघ्र ही जिला लेवल पर पार्टी के उच्च पदाधिकारियों तथा विधायकों की जिला लेवल पर ड्यूटिया लगाकर लोगों को पार्टी में शामिल कराया जाएगा

मौके पर मध्य जोन संयुक्त सचिव विजेंद्र दहिया ,जिला उपाध्यक्ष राकेश नाहरा, जिला संगठन मंत्री देवेंद्र त्यागी, जिला युवा अध्यक्ष नवीन ओहल्याण, गोहाना से अध्यक्ष परमवीर मलिक, मध्य हरियाणा युवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पवन तोमर ,दीपक खत्री, सुशील नाहरी आदि मौजूद रहे

उपरोक्त जानकारी आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता विमल किशोर ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी
14:09

बेरोजगारी का समाधान राष्ट्रीय रोजगार नीति -गोपाल राय

नई दिल्ली:राष्ट्रीय रोजगार नीति पर चर्चा के लिए दो दिवसीय राष्ट्रीय रोजगार सम्मेलन 23, 24 मार्च को शाह ऑडिटोरियम सिविल लाइन्स दिल्ली  में सफलतापूर्वक आयोजित हुआ।
 राष्ट्रीय रोजगार सम्मेलन में आए हुए 200 से अधिक संगठनों के 700 प्रतिनिधियों  ने राष्ट्रीय रोजगार नीति, आगामी राष्ट्रीय रोजगार आंदोलन की रूपरेखा एवं उनके संगठन की सहभागिता पर अपनी बात रखी । 
राष्ट्रीय रोजगार सम्मेलन में आगामी राष्ट्रीय रोजगार आंदोलन को लेकर निम्न महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।

आंदोलन के संचालन के लिए संयुक्त रोजगार आन्दोलन समिती का गठन

200 से अधिक प्रमुख छात्र संगठन, युवा संगठन, शिक्षक संगठन, ट्रेड यूनियन, किसान यूनियन, महिला संगठन, LGBTIQ+, पत्रकार संगठन, दलित संगठन, आदिवासी संगठन, NGO's आदि संगठनों की सयुंक्त रोजगार आंदोलन समिति (SRAS) बनी बनाई गई।

राष्ट्रीय रोजगार आंदोलन

16 अगस्त से दिल्ली में बेरोजगारी के खिलाफ राष्ट्रीय रोजगार आन्दोलन शुरु करने का निर्णय लिया गया।

रोजगार संसद

1 मई से 26 जून तक सभी राज्यों मे  रोजगार संसद के आयोजन का निर्णय लिया गया।

तारीख      स्थान      राज्य

01.05.2022 जयपुर  राज्यस्थान 
08.05.2022 भोपाल  मध्यप्रदेश 
08.05.2022 रोहतक  हरियाणा  
08.05.2022 राँची  झारखण्ड 
15.05.2022 भुवनेश्वर  ओड़िशा 
22.05.2022 लखनऊ उत्तर प्रदेश 
22.05.2022 त्रिवंदंपुरम  केरला 
22.05.2022 चंडीगढ़ पंजाब 
22.05.2022 रायपुर  छत्तीसगढ़ 
22.05.2022 चेन्नई  तमिलनाडु 
05.06.2022 बेंगलोरे  कर्नाटक 
05.06.2022 कोलकत्ता  पश्चिम बंगाल 
12.06.2022 श्रीनगर  जम्मू-कश्मीर 
12.06.2022 शिमला  हिमाचल प्रदेश  
12.06.2022 हेदराबाद  तेलंगाना & आँध्रप्रदेश 
12.06.2022 गुवाहाटी  असम 
12.06.2022 पटना  बिहार 
19.06.2022 अहमदाबाद  गुजरात 
19.06.2022 देहरादून  उत्तराखंड 
19.06.2022 पंदजी  गोंवा 
26.06.2022 मुंबई  महाराष्ट्र 
 
रोजगार संवाद यात्रा

1 जुलाई से 31 जुलाई तक पूरे देश मे विश्वविद्यालय, कॉलेज तथा तहसील व जिला स्तर पर रोजगार संवाद यात्रा निकली जाएगी, जिसमें वहाँ के सभी संघर्षरत संगठनों को शामिल किया जाएगा।
07:05

विभिन्न स्थानों पर हड़ताल के समर्थन में जुलूस निकालकर सीटू कार्यकर्ताओं ने किए विरोध प्रदर्शन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

 नोएडा, संगठित व असंगठित क्षेत्र के मजदूरों, कर्मचारियों, कामगारों के विभिन्न मुद्दों/ मांगों  और मजदूर विरोधी लेबर कोडों  को रद्द करवाने की मांग को लेकर केंद्रीय ट्रेड यूनियनों की दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल के दूसरे दिन 29 मार्च 2022 को उद्योग विहार ग्रेटर नोएडा अनमोल इंडस्ट्रीज से सीटू नेता रामसागर, मुकेश कुमार राघव, मोहम्मद फिरोज, रामप्रवेश आदि के नेतृत्व में जुलूस निकला जो जिला विकास अधिकारी कार्यालय सूरजपुर ग्रेटर नोएडा पर प्रदर्शन व सभा के बाद समाप्त हुआ। भंगेल फेस-2 नोएडा में सीटू नेता राम स्वारथ के नेतृत्व में प्रदर्शन हुआ। यूसुफपुर चक शाहबेरी से किसान चौक तक सीटू नेता नरेंद्र पांडे, मिथिलेश गुप्ता, उपेंद्र गुप्ता, रोमा शर्मा, के नेतृत्व में जुलूस निकला तथा सीटू जिला कार्यालय सेक्टर- 8, नोएडा बांस बल्ली मार्केट से सीटू नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा, पूनम देवी, मदन प्रसाद, लता सिंह, गुड़िया, सरस्वती, भीखू प्रसाद, रेहड़ी पटरी के नेता हरी गुप्ता, गणेश कुमार, जनवादी महिला समिति की नेता आशा यादव, चंदा बेगम, रेखा चौहान, सन्तोष आदि के नेतृत्व में जुलूस निकला जो सेक्टर- 5, होते हुए नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण कार्यालय सेक्टर- 6, पर विरोध प्रदर्शन कर पथ विक्रेताओं की लंबित समस्याओं/ मांगों के समाधान करवाने की मांग पर माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी नोएडा प्राधिकरण को संबोधित ज्ञापन दिए जाने के बाद समाप्त हुआ।
 सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा, महासचिव राम सागर ने हड़ताल कर जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन कर हड़ताल को सफल बनाने के लिए सभी कर्मचारियों, मजदूरों का आभार व्यक्त किया और धन्यवाद देते हुए कार्यक्रम को समाप्त किया।  
इसके अलावा 


   
06:46

भारत-उज्बेकिस्तान संयुक्त सैन्य अभ्यास "युद्धाभ्यास डस्टलिक" उज्बेकिस्तान के यांगियारिक में संपन्न हुआ


नई दिल्ली भारत-उज्बेकिस्तान संयुक्त सैन्य अभ्यास "युद्धाभ्यास डस्टलिक" का तीसरा संस्करण 29 मार्च 2022 को उज्बेकिस्तान के यांगियारिक में संपन्न हुआ। संयुक्त अभ्यास के दौरान दोनों सैन्य टुकड़ियों को अर्ध-शहरी वातावरण में आतंकवाद रोधी अभियानों में कार्रवाई के लिए प्रशिक्षण प्राप्त करने का अवसर मिला। अभ्यास के अंतिम दो दिन वेलिडेशन एक्सरसाइज के लिए समर्पित थे, जहां पर दोनों टुकड़ियों ने मिलजुल कर संयुक्त राष्ट्र के मैन्डेट के तहत चरमपंथी समूहों के खिलाफ सिम्युलेटेड ऑपरेशन किए।

 

इस अभ्यास का आयोजन काफी सफल रहा है, जिसमें मैदानी परिस्थितियों में क्रॉस ट्रेनिंग और कॉम्बैट कंडीशनिंग से लेकर खेल तथा सांस्कृतिक आदान-प्रदान के क्षेत्र में एक व्यापक हिस्से को कवर किया गया। "युद्धाभ्यास डस्टलिक" दोनों सेनाओं के बीच रक्षा सहयोग के स्तर को आगे बढ़ाएगा और भविष्य में भारत तथा उज्बेकिस्तान के बीच मित्रता के पारंपरिक बंधन को और मजबूत करने के लिए ऐसे कई संयुक्त कार्यक्रमों में उत्प्रेरक के रूप में कार्य करेगा।

06:42

असम के मुख्यमंत्री श्री हिमंता बिस्वा सरमा ने नरेन्द्र मोदी का किया आभार व्यक्त जाने क्यों


असम :असम के मुख्यमंत्री श्री हिमंत बिस्वा सरमा और मेघालय के मुख्यमंत्री श्री कोनराड के. संगमा ने असम और मेघालय राज्यों के बीच अंतरराज्यीय सीमा विवाद के कुल बारह क्षेत्रों में से छह क्षेत्रों के विवाद के निपटारे के लिए आज नई दिल्ली में केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह की उपस्थिति में एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के शांतिपूर्ण और समृद्ध पूर्वोत्तर के विजन की पूर्ति की दिशा में यह एक और मील का पत्थर है। इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्रालय, असम सरकार और मेघालय सरकार के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

     इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कहा कि आज का दिन एक विवादमुक्त नॉर्थईस्ट के लिए ऐतिहासिक दिन है। उन्होंने कहा कि 2014 में जब श्री नरेन्द्र मोदी जी देश के प्रधानमंत्री बने, तब से मोदी जी ने नॉर्थईस्ट की शांति प्रक्रिया, विकास, समृद्धि और सांस्कृतिक धरोहर के संवर्धन लिए अनेक प्रयास किए हैं,  जिसके हम सभी साक्षी हैं। उन्होंने कहा कि 2019 में गृह मंत्री बनने के बाद जब मैं प्रधानमंत्री से मिलने गया तो उन्होंने इन चारों क्षेत्रों में सरकार की प्राथमिकताओं के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि 2019 से 2022 तक का ये सफ़र एक बहुत बड़ा माइलस्टोन हासिल करने में सफल रहा है। 

श्री अमित शाह ने कहा कि पिछले तीन वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने उग्रवाद को समाप्त करने और पूर्वोत्तर के राज्यों में स्थायी शांति के लिए कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में उग्रवादियों को समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए अगस्त, 2019 में NLFT (SD) समझौते पर हस्ताक्षर किए गए जिसने त्रिपुरा को एक शांत राज्य बनाने में बहुत बड़ा योगदान दिया। फिर 23 साल पुराने ब्रू-रियांग शरणार्थी संकट को हमेशा के लिए हल करने के लिए 16 जनवरी, 2020 को एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। इसके अंतर्गत 37,000 से ज़्यादा आदिवासी भाई-बहन जो कठिन जीवन जी रहे थे, वो आज सम्मानपूर्वक जीवन जी रहे हैं। श्री शाह ने कहा कि 27 जनवरी 2020 को हस्ताक्षरित बोडो समझौता किया गया जिसने असम के मूल स्वरूप को बनाए रखते हुए 50 साल पुराने बोडो मुद्दे को हल किया। असम और भारत सरकार ने इस समझौते की 95 प्रतिशत शर्तों को पूरा कर लिया है और आज बोडोलैंड एक शांत क्षेत्र के रूप में जाना जाता है और विकास के रास्ते पर अग्रसर है। 4 सितंबर, 2021 को असम के कार्बी क्षेत्रों में लंबे समय से चले आ रहे विवाद को हल करने के लिए कार्बी-आंगलोंग समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। इसके अंतर्गत लगभग 1000 से अधिक  हथियारबंद कैडर आत्मसमर्पण कर मुख्यधारा में शामिल हुए।

05:12

TNI बेरोजगारी के समाधान के लिए राष्ट्रीय रोजगार नीति बनाना वक्त की मांग – गोपाल राय

 

नई दिल्ली: देश में राष्ट्रीय रोजगार नीति की की मांग को लेकर चर्चाएं तेज होने लगी है इसी कड़ी में नई दिल्ली के शाह स्टेडियम में एक रोजगार संसद का आयोजन किया गया जिसमें देश भर के 250 से अधिक प्रमुख छात्र संगठन, युवा संगठन, शिक्षक संगठन, ट्रेड यूनियन, किसान यूनियन, महिला संगठन, LGBTIQ+, पत्रकार संगठन, दलित संगठन, आदिवासी संगठन, NGO's आदि संगठनों के लगभग 700 प्रितिनिधियों ने हिस्सेदारी कि  जिसमे 
मुख्य अतिथि  देश की बात फाउंडेशन के संस्थापक एवं दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री श्री गोपाल राय रहे उन्होंने राष्ट्रीय आंदोलन को लेकर प्रस्ताव रखा की एक राष्ट्रीय आंदोलन समिति बननी चाहिए, जो आंदोलन की रूप रेखा पर चर्चा करे और उससे आगे बढ़ा सकें I

 बताते चले कि पिछले वर्ष दिल्ली की जंतर मंतर पर हुई रोजगार संसद की तरज पर भारत के हर राज्य मे एक रोजगार संसद के आयोजन की रूपरेखा तैयार की गई
जिसमे श्री गोपाल राय ने कहा बेरोजगारी के समाधान के लिए राष्ट्रीय रोजगार नीति बनाना वक्त की मांग है उन्होंने कहा कि देश बेरोजगारी के भयावह संकट से जूझ रहा है यहाँ बड़ी- बड़ी डिग्रियां लेकर भी युवा आज काम के लिए दर -दर भटक रहे हैं । रोजगार का नया सृजन करना तो दूर देशभर में लाखों खाली पड़ी सरकारी वेकैंसी पर भी भर्ती नहीं की जा रही है, इसके उलट भर्ती की जगह युवाओंको लाठियां मिल रही है अभी हाल ही मे पुरे देश ने देखा की किस तरह रेलवे RRB-NTPC की भर्ती को लेकर छात्रों के उपर बर्बर दमन किया गया I जहाँ भर्ती हो भी रही है, ठेकेदारी व्यवस्था के तहत हो रही है, जहाँ मिनिमम वेज इतना कम है की जिससे काम करने के बावजूद भी लोगो को सम्मानपूर्वक जीवन जीना मुश्किल हो रहा है, प्राइवेट सेक्टर मे भी रोजगार के नए अवसर पैदा होने की जगह छटनी की तलवार लोगों के सर मंडरा रही है I वहीं हम देख रहे है की देश के किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) के लिए कानून बनवाने के लिए संघर्ष करने को मजबूर हैं I जहाँ तक देश की आधी आबादी महिलाओं का प्रश्न है उनकी आर्थिक मजबूती के लिए सरकार के पास कोई कार्ययोजना नही है उन्होंने कहा कि बेरोजगारी की समस्या के समाधान के लिए भारत में आजादी के बाद जिस तरह की नीतियां बनाने की जरूरत थी, हमारी अब तक की सरकारों ने वैसी नीतियां नही बनाई। यही वजय है कि आजादी के सात दशक से ज्यादा वक्त गुजर जाने के बाद भी हमारे देश में राष्ट्रीय रोजगार नीति नहीं बन पाई है I  पहले से ही बेरोजगारी की मार झेल रही हमारी अर्थव्यवस्था को कोरोना ने और आधिक चिंताजनक स्तिथि मे पहुचां दिया I आज बेरोजगारी की समस्या ना सिर्फ गांव के लोगों की है बल्कि जो लोग बड़े-बड़े शहरों में रहते हैं, उनकी भी समस्या है I चाहे कोई किसी भी जाति में पैदा हुआ हो, किसी भी धर्म को मानने वाला हो, किसी भी भाषा को बोलने वाला हो, चाहे कोई किसी भी क्षेत्र का रहने वाला हो, चाहे महिला हो, पुरुष हो या फिर ट्रांस जेंडर, कोई भी बेरोजगारी की इस मार से नहीं बच पाया है Iश्री गोपाल राय ने कहा पिछले कई वर्षों से बेरोजगारी व आर्थिक समस्याओं को लेकर छात्र, युवा, मजदूर, किसान, महिलाएं सहित देश के तमाम संगठन अलग-अलग तरीके से संघर्ष कर रहे हैं लेकिन केंद्र की सरकार सुनने को तैयार नहीं है ऐसे समय में ये वक्त की जरूरत है कि बेरोजगारी के खिलाफ सभी संगठन मिलकर राष्ट्रीय आंदोलन की पहल करें I

 
जिस तरह पिछले वर्ष 19 दिसंबर को दिल्ली में जंतर मंतर पर रोजगार संसद का आयोजन किया गया था, उसी तरज पर भारत के हर राज्य मे आयोजित होगी एक रोजगार संसद जिसमें वहाँ के सभी संघर्षरत संगठनों को शामिल किया जाएगा I  


श्री गोपाल राय ने प्रस्ताव रखा की एक राष्ट्रीय आंदोलन समिति बननी चाहिए जिसमे हर संगठन का एक प्रितिनिधि हो जो आंदोलन की रूप रेखा पर चर्चा करे और उससे आगे बढ़ा सकें Iइसके अलावा राष्ट्रीय रोजगार संसद में
प्रसिद्ध अर्थशास्त्री प्रो. अरुण ने कहा की बेरोजगारी की समस्या आज चरम सीमा पर है, जिसका समाधान राष्ट्रीय रोजगार निति हैं, इसमें दिए गए 10 M’s की मिनी टेक्नोलॉजी, मिनी मार्किट, मिनिमम वागेस (न्यूनतम मजदूरी), माइंड सेट एंड स्किल ट्रेनिंग निचले स्तर से विकास की बात करता हैं I     


Monday, 28 March 2022

06:01

दक्षिण-पश्चिम रेलवे (एसडब्लूआर) की साइकलिंग टीम ने ऑल इंडिया रेलवे रोड साइकलिंग चैम्पनियनशिप जीती tap news


नई दिल्ली दक्षिण-पश्चिम रेलवे (एसडब्लूआर) की साइकलिंग टीम ने 58वीं ऑल इंडिया रेलवे रोड साइकलिंग चैम्पियनशिप जीत ली है, जिसका आयोजन बीकानेर में 21 मार्च, 2022 से 23 मार्च, 2022 तक हुआ था। चैम्पियनशिप का आयोजन उत्तर-पश्चिम रेलवे स्पोर्ट्स एसोसियेशन ने किया था। दक्षिण-पश्चिम रेलवे टीम ने चैम्पियनशिप में एक स्वर्ण और चार रजत पदकों पर कब्जा जमाया।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001I7PL.jpg

इस टूर्नामेंट में दक्षिण-पश्चिमी रेलवे के एथलीटों की उपलब्धियों का विवरण इस प्रकार हैः-

एक सौ किलोमीटर रोड-रेस में श्री वेनकप्पा के (टिकट निरीक्षक-हुब्बाल्ली डिविजन) ने स्वर्ण पदक, श्री अनिल मांगलौ (टिकट निरीक्षक- हुब्बाल्ली डिविजन) ने रतज पदक और श्री सचिन देसाई (टिकट निरीक्षक- हुब्बाल्ली डिविजन) ने चौथा स्थान प्राप्त किया।

पचास किलोमीटर की क्रिटेरियम-रेस में श्री सचिन देसाई (टिकट निरीक्षक- हुब्बाल्ली डिविजन) ने रजत पदक और श्री अस्विन पाटिल (टिकट निरीक्षक- हुब्बाल्ली डिविजन) ने पांचवां स्थान हासिल किया।

चालीस किलोमीटर के इंडीविजुअल टाइम ट्रायल में श्री वेनकप्पा के (टिकट निरीक्षक-हुब्बाल्ली डिविजन) ने रजत पदक और श्री अनिल मांगलौ (टिकट निरीक्षक- हुब्बाल्ली डिविजन) ने चौथा स्थान अर्जित किया।

टीम में श्री अनिल मांगलौ (टिकट निरीक्षक- हुब्बाल्ली डिविजन), श्री वेनकप्पा के (टिकट निरीक्षक-हुब्बाल्ली डिविजन), श्री राजू बाटी (टिकट निरीक्षक- हुब्बाल्ली डिविजन) और श्री विश्वनाथ जी (प्रोबेशनरी कमर्शियल क्लर्क-जोनल ट्रेनिंग सेंटर, धारवाड़) ने 60 किलोमीटर टीम टाइम ट्रायल में रजत पदक जीता। चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने वाले उपरोक्त सभी एथलीटों को हुब्बाल्ली डिविजन के मुख्य टिकट निरीक्षक श्री नानजप्पा येनटाड ने कोचिंग दी थी।

 

05:58

रक्षा मंत्रालय ने भारतीय तटरक्षक बल के लिए आठ तीव्र निगरानी पोतों के निर्माण के लिए जीएसएल के साथ 473 करोड़ रुपये के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए


नई दिल्ली रक्षा मंत्रालय ने भारतीय तटरक्षक बल के लिए गोवा शिपयार्ड लिमिटेड (जीएसएल) के साथ 473 करोड़ रुपये की कुल परियोजना लागत पर आठ तीव्र निगरानी पोतों के निर्माण के लिए एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं। इस अनुबंध पर 28 मार्च, 2022 को नई दिल्ली में संयुक्त सचिव (समुद्री और प्रणाली) श्री दिनेश कुमार और जीएसएल के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक कोमोडोर बीबी नागपाल (सेवानिवृत्त) ने हस्ताक्षर किए।

जीएसएल, खरीदें (भारतीय-आईडीडीएम) श्रेणी के तहत इन सतह प्लेटफार्मों का स्वदेशी रूप से डिजाइन, विकास और निर्माण करेगी। ये आठ उच्च गति वाले पोत उथले जल में भी काम करने और विशाल तट रेखा के साथ सुरक्षा तंत्र को बढ़ाने की क्षमता के साथ भारतीय तट पर तैनात होंगे। 'आत्मनिर्भर भारत' के उद्देश्यों को पूरा करते हुए यह स्वदेशी पोत निर्माण क्षमता को बढ़ावा देगा। साथ ही इस क्षेत्र में रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी करेगा।

वहीं, यह अनुबंध भारत को एक रक्षा विनिर्माण केंद्र, जो न केवल घरेलू बल्कि निर्यात बाजार की जरूरतों को भी पूरा करता है, बनाने के सरकार के संकल्प को और अधिक बढ़ावा देगा।


05:25

हड़ताल कर मजदूरों ने जगह-जगह जुलूस निकालकर किया विरोध प्रदर्शन

 नोएडा, केंद्र व राज्य सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ कारपोरेट घरानों की जन संसाधनों की लूट, चार मजदूर विरोधी लेबर कोड़, निगमीकरण, ठेकाकरण, बेतहाशा महंगाई के खिलाफ, सभी श्रमिकों को ₹26000 हजार मासिक न्यूनतम वेतन व सामाजिक सुरक्षा, घरेलू कामगारों, स्कीम वर्कर्स को कर्मचारी का दर्जा, श्रम कानून, पथ विक्रेता अधिनियम को सही तरीके से लागू कराने आदि मांगों को लेकर केंद्रीय ट्रेड यूनियनों, फेडरेशन के 28- 29 मार्च को संयुक्त रूप से देशव्यापी आम हड़ताल के आह्वान के तहत सीटू जिला कमेटी गौतम बुध नगर ने हड़ताल के प्रथम दिन 28 मार्च को सीटू जिला कार्यालय सेक्टर- 8, नोएडा बॉस बली मार्केट से सीटू नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा, लता सिंह, मदन प्रसाद, भीखू प्रसाद, हरेराम, राजकरन सिंह, रमाकांत सिंह, गुडिया, जनवादी महिला समिति की नेता आशा यादव, रेखा चौहान आदि के नेतृत्व में जुलूस शुरू हुआ जो हरौला होते हुए श्रम कार्यालय सैक्टर-3,नोएडा पर विरोध प्रदर्शन के बाद समाप्त हुआ। सिलारपुर भंगेल से सीटू नेता राम स्वारथ, पिंकी, किरण, राम क्रांती, एक्टू नेता अमर सिंह आदि के नेतृत्व में जुलूस निकला जो होजरी कंपलेक्स फेस-2, नोएडा थाने के पास विरोध प्रदर्शन/ सभा के बाद समाप्त हुआ। ग्रेटर नोएडा उद्योग विहार अनमोल इंडस्ट्रीज से सीटू नेता रामसागर, मुकेश कुमार राघव, मोहम्मद फिरोज, रामप्रवेश सिंह, सुखलाल, मनोज आदि के नेतृत्व में जुलूस शुरू हुआ जो औद्योगिक क्षेत्र, सूरजपुर गोलचक्कर, पुलिस आयुक्त कार्यालय होते हुए जिलाधिकारी कार्यालय सूरजपुर ग्रेटर नोएडा पर जोरदार प्रदर्शन के बाद श्रमिकों की समस्याओं/ मांगों पर माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार, माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को संबोधित ज्ञापन दिए जाने के बाद समाप्त हुआ।

Saturday, 26 March 2022

22:20

पुश्तैनी जमीन बँटवारे को लेकर एक परिवार के दो पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले और हुई फायरिंग

 
विक्रम 
ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र के दुजाना गांव में पुश्तैनी जमीन बँटवारे ने पारिवारिक रिश्तेदारो के बीच रंजिश के बीज वो दिए थे। जमीन का बैनामा रिश्तों के बीच खून की वजह बना। दो पक्षों में जमकर संघर्ष हुआ। इस दौरान दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले और फायरिंग भी हुई। 24 मार्च की घटना को पुलिस ने एनसीआर मे दर्ज आरोपियों 151 चलान कर जेल भेज दिया. लेकिन इस खूनी संघर्ष के मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। तो पुलिस एक्शन में आई, मेडिकल रिपोर्ट, एक्सरे रिपोर्ट के आधार पर मुकदमे को संगीन धाराओं मे तरमीम कर, होम गार्ड रामलखन, सुमन को गिरफ्तार किया गया है, जबकि आरोपी अंकित के खिलाफ गुंडा एक्ट के तहत कार्यवाही की जा रही है.    

दोनों पक्षों के बीच मारपीट का 34 सेकेंड ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।इस वायरल वीडियो में दो गुटों जमकर लाठी डंडे चलते हुए देखा जा सकता है. इस वीडियो एक युवक पैंट की पीछे की जेब से तमंचा निकाल कर फायर करता है. एक अन्य युवक एक महिला को जमकर डंडे से पीटा रहा है। वही एक युवक को तीन से चार लोग लाठी और डंडों से बुरी तरह पीटते नजर आ रहे. इस खूनी संघर्ष में दोनों पक्ष दुजाना गांव में एक ही परिवार के सदस्य है. दो पक्षों में जमीन को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था। दरसल कुछ दिन पहले परिवारों के दो लोग रामलखन और युद्धवीर के बीच ज़मीन का बंटवारा हुआ था। इस बंटवारे से रामलखन नाराज था। जब युद्धवीर अपनी पत्नी के साथ खेत पर जा रहा था तभी रामलखन उसकी पत्नी और बेटे ने युद्धवीर पर लाठी डंडों से हमला कर दिया ।इस दौरान जमकर लाठी डंडे चले। इस दौरान फायरिंग भी हुई।

पुलिस ने पीडित युद्धवीर कि शिकायत मौके पर पहुंच कर दोनों पक्षों के लोगों को उठाकर थाने पर ले आई और मेडिकल कराया इसमें राम लखन और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी रामलखन होमगार्ड में पीसी के पद पर तैनात है।आरोपी अंकित के खिलाफ गुंडा एक्ट के तहत कार्यवाही की जा रही है।साथ ही रामलखन के विरुद्ध सम्बन्धित अधिकारी को रिपोर्ट भेजी गयी है।

Friday, 25 March 2022

06:31

आम आदमी पार्टी की ट्रेड विंग SVS के प्रदेश उपाध्यक्ष बने रामजी पांडे

शिवेंद्र राठौर
नई दिल्ली :आम आदमी पार्टी की ट्रेड विंग SVS के मजदूर  नेता रामजी पांडे को उत्तर प्रदेश का प्रदेश उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
SvS उत्तर प्रदेश कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय नेतृत्व के अनुमोदन पर आम आदमी पार्टी की ट्रेड विंग के प्रदेश अध्यक्ष इक़बाल हुसैन रिजवी ने उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी है।प्रदेश अध्यक्ष ने टैप न्यूज़ इंडिया को बताया कि उत्तर प्रदेश में पार्टी के मजदूर नेता व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सचिव रामजी पांडे को आम आदमी पार्टी की मजदूर इकाई श्रमिक विकास संगठन SVS का प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया है
बताते चले कि रामजी पांडे मौजूदा समय मे भी AAP/SVS के कई महत्वपूर्ण पदों पर विराजमान है इसके बावजूद भी पार्टी ने उनके संगठनात्मक कौशल को देखते हुए उत्तर प्रदेश में उनका कद बढ़ाया है और उन्हें श्रमिक विंग की बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है।
02:10

28-29 मार्च को होनेवाली देशव्यापी हड़ताल को सफल बनाने के लिए सीटू कार्यकर्ता कर रहे हैं धुआंधार प्रचार और जनसंपर्क- गंगेश्वर दत्त शर्मा


 नोएडा, मजदूर विरोधी 4 नए लेवर कोड, निजीकरण, छटनी, ठेकाकरण, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी के विरोध में और 26000 हजार रुपया न्यूनतम वेतन, सामाजिक सुरक्षा, समान कार्य का समान वेतन, स्थाई प्रति के कार्यों में ठेका करण बंद करने, रेहड़ी पटरी को उजाड़ना बंद कर पथ विक्रेता अधिनियम के तहत कार्य स्थल के पास ही वेंडिंग जोन बनाकर जगह देने, सभी भवन निर्माण मजदूरों का पंजीकरण कर उन्हें योजनाओं का लाभ देने, टेंम्पू, रिक्शा चालकों को सामाजिक सुरक्षा देने, आंगनवाड़ी, आशा व अन्य स्कीम वर्कर्स को कर्मचारी का दर्जा देने आदि मांगों को लेकर टे्ड यूनियनों के संयुक्त आह्वान पर 28-29 मार्च 2022 को दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल होने जा रही है। सीटू जिला कमेटी नोएडा व ग्रेटर नोएडा, गौतम बुध नगर के सभी मजदूरों से हड़ताल में शामिल होकर हड़ताल को सफल बनाने की अपील कर रही है। जिसमे श्रमिक विकास संगठन SVS ने सीटू को समर्थन देने की बात कही है।SVS प्रदेश उपाध्यक्ष रामजी पांडे ने बताया कि SVS उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष इक़बाल हुसैन रिजवी जी के निर्देशानुसार SVS उत्तर प्रदेश व गौतमबुद्ध नगर यूनिट सीटू के साथ कंधे से कंधा मिला के खड़ी है।जिसके लिए सीटू ने SVS का धन्यवाद किया।
गौतमबुद्ध नगर में प्रचार अभियान के दौरान मजदूरों को संबोधित करते हुए सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि अपने हक अधिकारों को बचाने के लिए 28-29 मार्च 2022 को अपने कार्यों का बहिष्कार कर सभी मजदूर विरोध प्रदर्शन करें और बड़ी संख्या में सड़कों पर जुलूस निकालकर अपनी एकता व ताकत का एहसास केंद्र प्रदेश सरकार को कराएं और 28 29 मार्च 2022 को होनेवाली देशव्यापी हड़ताल को सफल बनाएं।
 जगह-जगह हुए माइक प्रचार, पर्चा वितरण, नुक्कड़ नाटक, नुक्कड़ सभाओं का नेतृत्व सीटू नेता रामसागर, लता सिंह, पूनम देवी, मुकेश कुमार राघव, गंगेश्वर दत्त शर्मा, मदन प्रसाद, राम स्वारथ, विजय गुप्ता आदि ने किया।

Thursday, 24 March 2022

10:23

साईकिल रैली व नुक्कड़ नाटक के जरिए सीटू ने 28-29 मार्च को होने वाली हड़ताल को सफल बनाने की अपील- गंगेश्वर दत्त शर्मा

 नोएडा,  मजदूर विरोधी नए लेबर कोड, निजीकरण, ठेकाकरण, और बढ़ती महंगाई व ₹26000 न्यूनतम वेतन और सामाजिक सुरक्षा आदि को लेकर ट्रेड यूनियनों के संयुक्त आह्वान पर 28-29 मार्च 2022 को होने वाली दो दिवसीय हड़ताल को सफल बनाने के लिए सीटू जिला कमेटी गौतम बुध नगर ने  जनसंपर्क अभियान के तहत 24 मार्च 2022 को सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा, महासचिव रामसागर, सीटू नेता मदन प्रसाद, भीखू प्रसाद पूनम देवी आदि ने  नोएडा औद्योगिक क्षेत्र में कई स्थानों पर जनसंपर्क, पर्चा वितरण, नुक्कड़ सभा तथा दिल्ली जन नाट्य मंच के कलाकार आदि ने नुक्कड़ नाटक मशीन का मंचन कर हड़ताल को सफल बनाने की अपील किया।
 उद्योग विहार ग्रेटर नोएडा, फेस- 2, होजरी काम्पलेक्स में सीटू नेता मुकेश कुमार राघव, राम स्वारथ, लता सिंह के नेतृत्व में साइकिल रैली निकाली गई और माइक प्रचार, परचा वितरण व जन संपर्क कर हड़ताल को सफल बनाने की अपील किया। 
 
 
02:57

रसोई गैस के दामों में मूल्य वृद्धि के खिलाफ माकपा कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन


 नोएडा, डीजल पेट्रोल की कीमतों के साथ ही देश में घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम बढ़ा दिए गए हैं जिसके तहत 14.2 किलोग्राम सिलेंडर की ₹50 की बढ़ोतरी कर दी गई है जिसके विरोध में 24 मार्च 2022 को माकपा जिला सचिव मदन प्रसाद के नेतृत्व में सीटू, जनवादी महिला समिति, सीपीआईएम पार्टी कार्यकर्ताओं ने बांस बल्ली मार्केट सेक्टर- 8, नोएडा पर विरोध प्रदर्शन किया।
 विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए माकपा नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि पांच राज्यों के चुनाव खत्म होते ही पेट्रोल, डीजल और एलपीजी की कीमतों में एक बार फिर से बढ़ोत्तरी शुरू हो गई। सीपीआई(एम) नोएडा कमेटी इस जनविरोधी वृद्धि की कड़ी निंदा करती है। स्पष्ट है कि सरकार अन्य क्षेत्रों में राजस्व की कमी को पूरा करने के लिए पेट्रोलियम पदार्थों पर उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी की अपनी पुरानी और पसंदीदा नीति पर वापस जाकर आम लोगों को दंडित करना चाहती है। मोदी सरकार महामारी से पहले की कॉर्पोरेट टैक्स की दरों पर वापस नहीं जाना चाहती। मोदी सरकार ने 2019 में महामारी से पहले कॉरपोरेट टैक्स कमी कर कॉरपोरेट घरानों को 1.45 लाख करोड़ की रियायतें दी थीं। एक तरफ आरएसएस-भाजपा अपने कॉरपोरेट साथियों को टैक्स रियायत का बोनस दे रही है और उसके बदले वे सत्ताधारी भाजपा को चुनावी बांड देने का एकतरफा रिकॉर्ड बना रहे।  50/- प्रति एलपीजी सिलेंडर चार राज्यों के साथ-साथ देश में बड़े पैमाने पर मतदाताओं के लिए 'रिटर्न गिफ्ट' के रूप में आया है। मुद्रास्फीति में जबरदस्त बढ़त एवं कर्मचारी भविष्य निधि की ब्याज दरों में कमी की घोषणा के बाद तो लोगों की बचत बुरी तरह प्रभावित होगी। सीपीआई(एम) नोएडा कमेटी ने इस जनविरोधी वृद्धि के खिलाफ आम जनता को लामबंद कर बड़े आंदोलन की तरफ जाएगी।
 विरोध प्रदर्शन को माकपा जिला सचिव मदन प्रसाद, जनवादी महिला समिति के नेता चंदा बेगम, सीटू नेता पूनम देवी, राम सागर, माकपा नेता भीखू प्रसाद, विजय गुप्ता, हरकिशन सिंह, शम्भू पेन्टर आदि ने संबोधित किया।

02:09

शादी के दो दिन बाद 42 हजार रुपये का कैश और लाखों की ज्वेलरी लेकर दुल्हन फरार पुलिस जाँच में जुटी


नोएडा :विवाह एक पवित्र बंधन है, इस बंधन के माध्यम से दंपत्ति अपने नए जीवन की शुरुआत करते हैं. लेकिन इस बंधन के आड़ में लूट का कारोबार चल रहा है जिसकी मिसाल ग्रेटर नोएडा के दनकौर कस्बे में देखने को मिली जब एक नई दुल्हन अपने एक रिश्तेदार के घर से 42 हजार कैश और लाखों के जेवर आभूषण लेकर फरार हो गई. पीड़ित परिवार ने दनकौर कोतवाली में शिकायत दी है पुलिस शिकायत की जांच में जुटी है. 

दनकौर कस्बा के सालारपुर रोड निवासी ललित मलिक ने कोतवाली दनकौर में शिकायत दी है जिस्के अनुसार  बुलंदशहर जिले के स्याना निवासी उनका साला कृष्णपाल उनके पास ही रहता है। कृष्णपाल ग्रेटर नोएडा में स्थित एक कंपनी में जॉब करता है. उन्होंने बताया कि 21 मार्च को उन्होंने बुलंदशहर के जहांगीरपुर निवासी एक युवती से अपने साले की मंदिर में शादी कराई थी। उनका कहना है कि जिसके बाद दुल्हन उनके घर पर ही रह रही थी।

दनकौर कोतवाली प्रभारी सुधीर कुमार का कहना है कि ललित ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि मंगलवार की देर रात जब परिवार के लोग सोए हुए थे। उसी दौरान दुल्हन घर से 42 हजार रुपये का कैश और लाखों के आभूषण समेत अन्य कीमती सामान लेकर फरार हो गई। बुधवार तड़के जब परिवार के लोग जागे तो दुल्हन नहीं दिखाई दी। जिसके बाद उन्होंने काफी जगह तलाश की। लेकिन उसका कोई सुराग नहीं चल पाया। कुछ देर बाद परिवार के लोगों ने देखा कि घर में सामान बिखरा हुआ है। जहां से कैश और आभूषण गायब थे।जिसके बाद परिवार के लोगों ने बुधवार को दिनभर उसकी तलाश की। लेकिन जब भी कोई सुराग नहीं चल पाया। 
प्रभारी सुधीर कुमार का कहना है कि पीड़ित परिवार की शिकायत के आधार पर जांच की जा रही है। जिसके बाद आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Wednesday, 23 March 2022

21:33

नौसेना प्रौद्योगिकी त्वरण परिषद (एनटीएसी) की बैठक आयोजित की गई


नई दिल्ली:नौसेना प्रौद्योगिकी त्वरण परिषद (एनटीएसी) ने 23 मार्च, 2022 को नई दिल्ली में अपनी दूसरी बैठक की। यह नौसेना नवोन्मेषण और स्वदेशीकरण संगठन (एनआईआईओ) की शीर्ष निकाय है। इस बैठक की अध्यक्षता नौसेना के उप प्रमुख वाइस एडमिरल एएस एन घोरमडे ने की। इसमें परिषद ने चालू और प्रस्तावित स्वदेशीकरण व नवाचार मामलों की समीक्षा की।

13 अगस्त, 2020 को माननीय रक्षा मंत्री ने एनआईआईओ की स्थापना की थी। इसके बाद हर महीने औसतन दो से अधिक आईपीआर आवेदन नौसेना कर्मियों ने दायर किए हैं। सैन्य विशिष्टता के साथ-साथ दोहरे उपयोग वाले नवाचारों के लिए पेटेंट आवेदन दायर किए गए हैं। राष्ट्रीय अनुसंधान और विकास निगम (एनआरडीसी) और राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय के जरिए बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए कई दोहरे उपयोग वाले उत्पादों को पहले ही एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय) को हस्तांतरित कर दिया गया है।

भारतीय नौसेना पूरी तरह सक्रिय और डायनेमिक (गतिशील) स्वदेशीकरण निदेशालय के साथ स्वदेशीकरण में सबसे आगे रही है। इसके अलावा नवाचार पर ध्यान केंद्रित करने के लिए एनआईआईओ के तहत एक प्रौद्योगिकी विकास त्वरण प्रकोष्ठ (टीडीएसी) भी गठित किया गया है।

स्वदेशीकरण की दिशा में प्रमुख पहलों में उद्योग आउटरीच कार्यक्रम (अहमदाबाद, भुवनेश्वर और कोयंबटूर में आयोजित) और स्वदेशीकरण व आत्मनिर्भरता (सीआईएसआर) के लिए एक केंद्र स्थापित करने का प्रस्ताव शामिल हैं।

टीडीएसी, घरेलू नौसैनिक नवाचारों को आगे बढ़ाने के अलावा अकादमिक और उद्योग के साथ भी जुड़ा हुआ है। वहीं, सोसाइटी ऑफ इंडियन डिफेंस मैन्युफैक्चरर्स (एसआईडीएम) के समन्वय में उद्योग जगत के साथ एक ऑनलाइन मासिक वार्ता भी शुरू की गई है। इसके अलावा डीप टेक स्टार्टअप्स को 'नवाचार उद्योग साझेदार' के रूप में भी मान्यता दी जा रही है और उन्हें नौसेना की आवश्यकताओं को बेहतर ढंग से समझने के लिए हैंडहोल्डिंग प्रदान की जाती है।

'इंडियन नेवल स्टूडेंट्स टेक्निकल एंगेजमेंट प्रोग्राम' (इन स्टेप) प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों के युवा मस्तिष्कों को इससे जोड़ने को लेकर नेवल प्रॉब्लम स्टेटमेंट पर काम करने के लिए पांच महीने की ऑनलाइन इंटर्नशिप प्रदान करता है। एनटीएसी की बैठक के दौरान इन स्टेप के तहत एक 'ओपन चैलेंज' की घोषणा की गई। इसे एसआईडीएम और BharatShakti.in के साथ साझेदारी में शुरू किया जाएगा। इसके लिए तीनों संगठनों के बीच एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए।

 

 


21:27

बातचीत मुख्य तौर पर आत्मनिर्भर भारत की दिशा में कदम बढ़ाते हुए खेतों की जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत में एसएसपी का उत्पादन बढ़ाने पर केंद्रित रही


 

 

नई दिल्ली :केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया ने आज सिंगल सुपर फॉस्फेट (एसएसपी) उद्योग से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचार विमर्श करने के लिए एसएसपी उद्योग के प्रतिनिधिमंडल के साथ बातचीत की।

उद्योग चालू वर्ष में प्रवेश कर रहा है जहां विशेष रूप से रबी सीजन 2021-22 में फॉस्फेटिक उर्वरकों की घरेलू आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एसएसपी की बिक्री में 18 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

विचार विमर्श का मुख्य केंद्र आत्मनिर्भर भारत की दिशा में एक कदम के रूप में खेतों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए भारत में एसएसपी का उत्पादन बढ़ाने पर रहा।

09:47

शहीदी दिवस पर नुक्कड़ नाटक के जरिए सीटू ने हड़ताल को सफल बनाने की अपील- गंगेश्वर दत्त शर्मा


 नोएडा, 4 नए लेबर कोड, निजीकरण, ठेकाकरण, और बढ़ती महंगाई व ₹26000 न्यूनतम वेतन और सामाजिक सुरक्षा आदि को लेकर ट्रेड यूनियनों के संयुक्त आह्वान पर 28-29 मार्च 2022 को होने वाली दो दिवसीय हड़ताल को सफल बनाने के लिए सीटू जिला कमेटी गौतम बुध नगर ने  जनसंपर्क अभियान तेज कर दिया है, जिसके तहत देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले महान देशभक्त अमर बलिदानी भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु के 23 मार्च 2022 शहीदी दिवस पर गांव बरौला सेक्टर- 49, नोएडा जूनियर हाई स्कूल पार्क में आमसभा नुक्कड़/ नाटक का आयोजन कर उन्हें याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित किया।
 इस अवसर पर आम सभा को संबोधित करते हुए मजदूर नेता सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि 23 मार्च भारत के इतिहास में एक ऐसा दिन है जो हमेशा से भारत के विद्यार्थी, युवा, किसान और मजदूर वर्ग को संघर्ष करने की प्रेरणा देता है। इसी दिन किसान-मजदूर राज तथा शोषण रहित समाज का सपना देखने वाले शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को फांसी दी गई थी।अंग्रेजी हुकूमत अपने राज के लिए इन क्रांतिकारियो को घातक मानती थी, क्योंकि स्वतंत्रता संग्राम को कमजोर करने के उद्देश्य से बनायी अंग्रेजी हुकूमत की हिन्दू–मुस्लिम राजनीति के विरूद्ध शहीद भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु और अन्य साथी देशभर में एकता का संदेश फैलाकर अंग्रेजों की चाल को नाकामयाब कर रहे थे समाजवाद और साम्यवाद की बात कर रहे थे। लेकिन आज केंद्र की भाजपा सरकार भगत सिंह के सपनों की हत्या कर रही है और नए नए तरीके अपनाकर मजदूर वर्ग को फिर से गुलामी की तरफ धकेल रही है जिसके खिलाफ ही ट्रेड यूनियने 28-29 मार्च 2022 को देशव्यापी 2 दिन से हड़ताल कर रही है। उन्होंने लोगों से बढ़ चढ़कर हड़ताल में हिस्सा लेने का आह्वान किया।
  तथा इसके साथ ही नोएडा औद्योगिक क्षेत्र में कई स्थानों पर जनसंपर्क, पर्चा वितरण, नुक्कड़ सभा तथा दिल्ली जन नाट्य मंच के कलाकारो ने नुक्कड़ नाटक मशीन का मंचन कर हड़ताल को सफल बनाने की अपील किया।
 जनसंपर्क अभियान का नेतृत्व जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा, महासचिव राम सागर, सीटू नेता भीखू प़साद, रामस्वारथ, लता सिंह, पिकीं, गुडिया, सरस्वती, धर्मपाल चौहान, प़दीप, ओमबीर शर्मा आदि ने किया।


Tuesday, 22 March 2022

06:15

हेनरी हरविन एजुकेशन इन्सटीयूट पर सीटू व डीवाईएफआई के कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे
 नोएडा, बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने के विरोध में मैसर्स- हेनरी हरविन बी- 12, सेक्टर- 6, नोएडा एजुकेशन इन्सटीयूट पर सीटू व डीवाईएफआई के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन कर संस्थान के प्रबंधक अभिषेक जी को ज्ञापन दिया जिसमें कहा गया है कि संस्थान में ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर बच्चों से फीस तो जमा कर लेते हैं लेकिन उसके बाद उनकी पढ़ाई का कोर्स बीच में ही बंद कर देते हैं और उन्हें उनकी जमा धनराशि भी वापिस नहीं करते हैं। ज्ञापन में मांग की गई है कि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना बंद किया जाए और जिन बच्चों की पढ़ाई बीच में ही बंद कर दी गई है उनकी पूरी फीस जमा धनराशि वापस की जाए।
 प्रबंधकों ने अनियमितताओं को दूर करने का आश्वासन सीटू व डीवाईएफआई के नेताओं को दिया और छात्र अनूप की पूरी फीस तुरंत वापस कर दी गई।
 विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व सीटू नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा, भीखू प्रसाद, विजय गुप्ता, रामसागर,मदन प़साद, डीवाईएफ की नेता अनुषा, स्वाथी आदि ने किया।
05:57

कार्यक्रम में सैंडआर्ट और नुक्कड़ नाटक के माध्यम से नदी कायाकल्प और जल संरक्षण का संदेश दिया गया

रामजी पांडे

नई दिल्ली:विश्व जल दिवस 2022 के अवसर पर आज राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन ने एपीएसी न्यूज नेटवर्क के सहयोग से नई दिल्ली में “यंग माइंड्स: प्लेजिंग रिवर रेजुवनेशन” विषय पर एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम में विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों के छात्र-छात्राएं समेत प्रमुख शिक्षकों ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित की। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य विशेष रूप से नदियों के कायाकल्प और जल के प्रभावी संरक्षण से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदुओं का सामने लाना है। आपको बता दें कि जल संसाधनों के सतत प्रबंधन की आवश्यकता और इनके प्रति समाज में व्यापक जागरूकता लाने की दृष्टि से हर वर्ष 22 मार्च को "विश्व जल दिवस" मनाया जाता है।

 

कार्यक्रम की अध्यक्षता माननीय जलशक्ति राज्यमंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने की। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के महानिदेशक श्री जी. अशोक कुमार और कार्यकारी निदेशक (तकनीकी) श्री डी.पी. मथुरिया भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे। इसके अलावा, कार्यक्रम में शोभित यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति कुंवर शेखर विजेंद्र,आईएमएस, नोएडा की एकेडमिक डीन डॉ. मंजू गुप्ता,सैनफोर्ट वर्ल्ड स्कूल की प्राचार्यसुश्री वंदना सेठऔरशारदायूनिवर्सिटी के एसोसिएट प्रोफेसरश्री अमन त्रिपाठी भी शामिल रहे।

 

बताया गया कि इस वर्ष विश्व जल दिवस की थीम "ग्राउंडवाटर: मेकिंग दि इनविजिबल विजिबल" है, यानी "भूजल: अदृश्य को दृश्यमान बनाना" है। जिसका अर्थ ग्राउंडवाटर लेवल को बढ़ाने से है|  यह आयोजन एनएमसीजी और एपीएसी द्वारा शुरू किए गए स्कूलों/विश्वविद्यालयों के साथ मासिक वेबिनार श्रृंखला का ही विस्तार है। जिसका मुख्य उद्देश्य युवाओं को जल एवं नदियों के संरक्षण और संवर्धन के कार्यों से जोड़कर उन्हें इसके प्रति संवेदनशील और जागरूक बनाना है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माननीय जलशक्ति राज्यमंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेलने कहा कि इस विशेष दिन पर होने वाली हर चीज सिर्फ एक घटना नहीं, बल्कि अपने आप में एक संकल्प है। पानी की एक बूंद भी बर्बाद नहीं करने का संकल्प, संभव तरीके सेजल संरक्षण का संकल्प हर। उन्होंने युवाओं से आगे आने और जल संसाधनों के संरक्षण और संचय में योगदान देने का आग्रह किया।

 

Monday, 21 March 2022

23:02

noidaऑनलाइन सेक्स रैकेट का धंधा चलाने वाले गैंग का पर्दाफाश, एक आरोपी गिरफ्तार, दो लड़कियों दो युवतियां को रेस्क्यू किया गया

विक्रम पांडे
नोएडा में ऑनलाइन सेक्स रैकेट का धंधा चलाने वाले गैंग का पर्दाफाश कर एक आरोपी को एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) और थाना सेक्टर 24 पुलिस ने गिरफ्तार किया है, पुलिस ने आरोपी के के कब्जे से दो युवतियों को भी छुड़ाया है। आरोपी ग्राहकों को आन डिमांड युवतियां मुहैया कराता था. जहां भी ग्राहक युवतियों को बुलाता था, वहां पर युवती को छोड़ने जाता था. पुलिस ने आरोपी  के कब्जे घटना में प्रयुक्त एक मोबाइल फोन व 3310 रुपये नकद और एक बाइक बरामद किया है।
 
पुलिस कि गिरफ्त में खडे राजेश पुत्र प्यारेलाल निवासी को एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) थाना 24 की टीम ने ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से सेक्टर-23 के एक गेस्ट हाउस में सेक्स रैकेट का धंधा चलाने के आरोप गिरफ्तार किया है। डीसीपी (महिला एवं बाल सुरक्षा) वृंदा शुक्ला ने बताया कि मुखबिर से इनपुट मिला था कि सेक्टर-23 के एक गेस्ट हाउस में ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से अनैतिक देह
व्यापार का धंधा चल रहा है एसीपी नोएडा के नेतृत्व में एएचटीयू पुलिस और थाना 24 की पुलिस टीम ने रेड कर अरोपी को गिरफ्तार किया. मौके से दो युवतियां को रेस्क्यू किया गया है जिनपर दबाव बनाकर आरोपी द्वारा अनैतिक कार्य करवाया जाता था। युक्त दोनों युवतियों को सखी वन स्टोप सेंटर भिजवाया जा रहा है। 

डीसीपी (महिला एवं बाल सुरक्षा) ने बताया कि पुलिस पूछताछ में आरोपियों  ने बताया कि इंटरनेट मीडिया से प्राप्त नंबरों के आधार लोगों से संपर्क करते हैं। वाट्सएप पर ही युवतियों के फोटो संबंधित लोगों को भेजे जाते हैं। फिर सारी बात होने पर आरोपित अपनी युवती को संबंधित व्यक्ति के घर या होटल के कमरों तक पहुंचाते हैं। डील होने पर आरोपी आरोपी ने बताया कि वह किसी ग्राहक से पांच हजार तो किसी ने छह हजार रुपये लेता था।
22:58

दिन-दहाडे बदमाशों ने 15 मिनट में एसबीआइ सेवा केंद्र से उड़ाए डेढ़ लाख सीसीटीवी कैमरे कैद वारदात की फुटेज में दिखाई दिये आरोपी


ग्रेटर नोएडा  के सूरजपुर कस्बे में स्थित एसबीआई सेवा केंद्र का ताला मास्टर चाबी से खोल कर दिन-दहाडे एक चोर ने डेढ़ लाख रुपये उड़ा लिए. चोरी की ये वारदात केंद्र में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. पीड़ित की शिकायत पर सूरजपुर कोतवाली पुलिस ने एफाआईआर दर्ज कर पुलिस सीसीटीवी में चोरी की वारदात के आधार पर   मामले की तहकीकात कर रही है. 

सूरजपुर निवासी हरीश कुमार भाटी महामेधा वाली गली में घर के नजदीक ही एसबीआई सेवा केंद्र चलाते हैं, दोपहर डेढ़ बजे के करीब वह केंद्र पर 15 मिनट के लिए ताला लगाकर अपने घर खाना खाने जाना भारी पड़ गया. इतने समय में चोर ने केंद्र से डेढ़ लाख रुपये उड़ा लिए. सीसीटीवी में चोरी की वारदात और चोर का चेहरा दर्ज हो गया है. सीसीटीवी में दर्ज चोरी की इस वारदात की तसवीरों में साफ देखा जा सकता कि हरीश कुमार भाटी केंद्र पर ताला लगा कर जाते ही पहले घात एक संदिग्ध व्यक्ति वहां रेकी कर रहा था. कुछ देर बाद दूसरा व्यक्ति मास्क लगाकर आया और ताला तोड़कर केंद्र के अंदर दाखिल हो गया. इन लोगों ने ग्राहकों से आए करीब डेढ़ लाख रुपये चोरी कर लिए हैं.

दिन-दहाडे हुई इस वारदात के दौरान सीसीटीवी में साफ दिखाई दे रहा है बदमाश कितने बेखौफ थे, जब वे इस  वारदात को अंजाम दे रहे उस समय सड़क लोग आ जा रहे थे. हरीश कुमार भाटी जब 15 मिनट बाद खाना खाकर केंद्र पर आये ताला खुला हुआ था और गल्ले से करीब डेढ़ लाख रुपये गायब थे, जिसे देखकर उनके होश उड गये. उन्होंने सूरजपुर कोतवाली में शिकायत दी. सूरजपुर कोतवाली प्रभारी अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि एफाआईआर दर्ज कर सीसीटीवी के आधार पर मामले की तहकीकात की जा रही और महत्वपूर्ण इनपुट मिले है, मामले का जल्द खुलासा किया जायेगा.
22:55

नोएडा में सुबह से ही दिखने लगे है मई-जून जैसी गर्मी का तेवर, थार मरुस्थल और मध्य पाकिस्तान से आ रही गर्म हवाओं ने किया बेहाल tap news

विक्रम पांडे
नोएडा:आजकल नोएडा में सुबह से ही गर्मी का तेवर देखने को मिल रहा है. रविवार को नोएडा में इस सीजन का सबसे अधिकतम तापमान दर्ज किया गया है. भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार, रविवार को नोएडा में 35 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया. यह सामान्य तापमान से 5 डिग्री ज्यादा है. आसमान साफ होने के साथ शुष्क मौसम होने से दिन में गर्मी ज्यादा महसूस होती है. अब तक मार्च के महीने में एक बार भी बारिश नहीं हुई है. अभी मार्च में 10 दिन और बाकी हैं और आशंका यह भी है कि गर्मी का रिकॉर्ड टूट सकता है. मौसम विभाग की बात करें तो अगले दो-तीन दिनों में हवाएं चलने से गर्मी से थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद की जा रही है.

नोएडा मे मार्च के महीने में अप्रैल-मई का महीने की जैसी गर्मी की तपन महसूस होने लगी है. यही हाल कमोबेश पूरे एनसीआर का है. नोएडावासी परेशान हैं कि पिछले 10 दिनों में मौसम को क्या हो गया है? हर कोई गर्मी की चर्चा कर रहा है. माथे से पसीना अभी से टपकने लगा है. बाजार में एसी, फ्रिज, कूलर, पंखे की डिमांड बढ़ गई है. गर्मी का ट्रेलर देख लोगों को लग रहा है कि इस बार भीषण गर्मी पड़ेगी. लोग अभी से अपने एसी, फ्रिज, कूलर, पंखे सर्विसिंग करा गर्मी से निपटने का हर इंतजाम कर लेना चाह रहे हैं. 

स्काईमैट के मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत बताते है कि इस बार गर्मी समय से पहले आई है. मार्च के अंत में राजस्थान में विपरीत चक्रवाती हवाओं का दौर बनता है, जो कि इस बार पहले बन गया. किसी तरह का पश्चिमी विक्षोभ भी सक्रिय नहीं रहा है. इसकी वजह से थार मरुस्थल और मध्य पाकिस्तान से गर्म हवाएं आने लगीं है. सूखी हवा और आसमान साफ होने की वजह से भी न्यूनतम और अधिकतम तापमान में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हो रही है. तीन दिनों तक नोएडा -एनसीआर में पूरब से हवाएं चलीं. रविवार को पश्चिम से आ रहीं हवाएं अपने साथ राजस्थान से गर्मी लेकर आईं और अधिकतम तापमान दो डिग्री बढ़ गया. शनिवार को शहर में अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था जो सामान्य से पांच डिग्री अधिक है.
07:15

NOIDA:हाई राइज सोसायटी में पकड़ बनाए बिना जीत संभव नहीं-शैलेंद्र वर्णवाल

नोएडा:बीजेपी जहां विजय के नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है वहीं पर समाजवादी पार्टी अपने परंपरागत तौर तरीके एवं रणनीति से ही चल रही है l, नतीजा एक बार फिर समाजवादी पार्टी को हार मिली और बीजेपी बड़े मार्जिन से जीत दर्ज की l
समाजवादी पार्टी को समझना पड़ेगा कि जैसे-जैसे नोएडा का विकास हो रहा है गांव कम एवं शहरी ग्रुप हाउसिंग सोसायटी एरिया बढ़ रहा है l, ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी इतना बड़ा है कि एक सोसाइटी में 5-10 गांव के बराबर वोट हैं l सेवन एक्स ग्रुप हाउसिंग सोसायटी सेक्टर 61- 62 के सोसाइटी के लाखों की संख्या में मध्यम वर्गीय वोट हैं l

समाजवादी पार्टी इस सत्य को दरकिनार कर अभी भी पूर्णतया गांव एवं शहरी सेक्टर पर ही निर्भर है l यहीं पर वह सारा दमखम समय एवं संसाधन लगाती है l परंतु यह जीत के लिए नाकाफी है l 

इसके उलट बीजेपी गांव एवं शहरी सेक्टर को, साथ लेते हुए उसका पूरा फोकस दमखम समय और संसाधन ग्रुप हाउसिंग सोसायटी के मध्यमवर्गीय वोट पर लगा रहता है l यहां के वोट निर्णायक होते हैं और बीजेपी को सदा जीत दिलाते आ रहे है l

बीजेपी बड़ी चतुराई से RSS धार्मिक सामाजिक सांस्कृतिक फ्लैट बायर्स एवं  AOA एसोसिएशन संस्थाओं के माध्यम से सोसाइटी के वोटर पर शिकंजा कसे हुए हैं l

सोसायटीओं में माहौल बनाने के लिए पानी की तरह पैसा बहाया जाता है बाहर से लोग लाए जाते हैं l 
कुछ AOA, बीजेपी के बहकावे एवं लालच में आकर लोकतंत्र की मर्यादा का उल्लंघन करती है lयहां तक की विपक्षी पार्टी को प्रचार तक नहीं करने देती l सोसाइटी के ग्रुप में आईटी सेल के लोग शामिल किए जाते हैं l बाहरी लोगों को सोसाइटी में किराए पर फ्लैट दिलवाया जाता है l इनका काम सिर्फ धार्मिक एवं मजहबी पोस्ट को डालना और उस पर 24*7 कुतर्क करते रहना है l

 चुनाव के दिन, पोलिंग बूथ के अंदर एवं बाहर लोगों का जमावड़ा तो रखती ही है साथ में मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए सोसायटीओं के मेन गेट के सामने हजारों रुपए खर्च कर बड़े पंडाल लगाती हैं l जिसमें बैठने,खाने पीने म्यूजिक सिस्टम आदि मौजूद होती है l गाड़ियां मौजूद होती हैं l
इन खर्चों पर चुनाव आयोग की तक नहीं पड़ती l 
समाजवादी पार्टी एवं अन्य विपक्षी दलों को इसका तोड़ निकालना होगा l
इसके लिए सिर्फ उम्मीदवार ही नही नेतृत्व को भी प्लानिंग करनी होगी l सालों भर सोसायटीओं में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से सक्रिय होने पड़ेंगे l
तभी विपक्ष नोएडा जैसे शहरी क्षेत्र में विजय हासिल कर सकता है अन्यथा 20 साल बल्कि उससे ज्यादा तक उसे इसी प्रकार से हार को झेलना पड़ सकता है l
शैलेंद्र वर्णवाल
उपाध्यक्ष समाजवादी पार्टी नोएडा महानगर
9891167773
02:23

पुलिस और पेचकस गैंग के बदमाशों मुठभेड़ में गोली लगने से 20 हज़ार का इनामी गिरफ्तार, उसका साथी बदमाश मौके से फरार


ग्रेटर नोएडा के बीटा 2 थाना पुलिस और बाइक सवार  पेंचकस गैंग के बदमाशों के बीच यमुना एक्सप्रेस वे पर हुए मुठभेड़ के दौरान 20 हज़ार रुपये का इनामी बदमाश गोली लगने से घायल हो गया। पुलिस ने उसे  इलाज अस्पताल में भर्ती कराया है जबकि उसका साथी बदमाश मौके से पुलिस को चकमा दे कर फरार हो गया। पुलिस फरार हुए बदमाश की गिरफ्तारी के लिए कॉम्बिंग कर रही है बदमाश के कब्जे से चोरी की मोटरसाइकिल, अवैध तमंचा मय कारतूस बरामद हुए है।

पुलिस की मुठभेड़ में घायल बदमाश की पहचान हेमंत शर्मा के रूप में हुई । जोकि अलीगढ़ के जट्टारी का रहने वाला है। डीसीपी ग्रेटर नोएडा अमित कुमार ने बताया कि हेमंत पर 20 हज़ार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था। यह अंतरराज्यीय पेशकश गैंग का एक सक्रिय सदस्य था। जो अपने साथियों के साथ मिलकर लूट की वारदातों को अंजाम दिया करता था। अक्टूबर 2021 में इस गैंग के साथ मुठभेड़ गैंग के चार सदस्यों को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था लेकिन उस दौरान हेमंत शर्मा और ट्विंकल दोनों मौके से फरार हो गए थे।
बाइट : अमित कुमार (डीसीपी ग्रेटर नोएडा)
डीसीपी ग्रेटर नोएडा ने बताया कि बीटा टू थाना पुलिस को सूचना मिली की पेचकस गैंग के फरार चल रहे दो बदमाश ग्रेटर नोएडा में आने वाले है जिसके बाद पुलिस ने यमुना एक्सप्रेस वे पर घेराबंदी शुरू की तभी बाइक पर दो बदमाश आते हुए दिखाई दिए जिन्हें पुलिस ने रुकने का इशारा किया लेकिन वह लोग नहीं रुके उन्होंने अपनी बाइक दौड़ा दी। पुलिस ने उनका पीछा किया आगे चलकर उनकी बाइक डिसबैलेंस होकर गिर गयी । इसके बाद उन लोगों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी । पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की, जिसमें बदमाश हेमंत शर्मा के पैर में गोली लग गई और पुलिस ने उस बदमाश को दौड़कर पकड़ लिया। जबकि उसका एक साथी ट्विंकल मौके से फरार हो गया। हेमंत शर्मा पेशकश गैंग का एक सक्रिय सदस्य था। जो अपने साथियों के साथ मिलकर लूट की वारदातों को अंजाम दिया करता था। इस पर एक दर्जन से ज्यादा लूट के मुकदमे दर्ज हैं फिलहाल पुलिस के आपराधिक इतिहास को भी खंगाल रही है।

Sunday, 20 March 2022

23:38

नोएडा में कल रात हुए एक सुसाइड केस में सामने आया एक नया ऑडियो TNI

नोएडा:कल रात सेक्टर 100 नोएडा में एक मेड ने एक फ्लैट से कूद कर आत्महत्या कर ली. पुलिस अपनी तहकीकात कर ही रही थी की अब इस मामले में एक बड़ा सबूत सामने आ रहा है जिसमें लड़की का भाई यह बात कबूल कर रहा है कि उसके पिता और उसकी बहन की अक्सर लडाई होती रहती थी, और उसके साथ मारपीट और गाली गलौज भी हुई थी जिस कारण एक बार पहले भी उसकी बहन ने अपनी हाथ की नस काट ली थी, हालांकि अभी इस ऑडियो की पोलिस और परिवार की तरफ से पुष्टि नही की गई है, यह ऑडियो फ्लैट मालिक और लड़की के भाई की बताई जा रही है..लेकिन ऑडियो सुन के यह साफ लग रहा है की लड़की का अपने परिवार के साथ विवाद चल रहा था.. नोएडा पोलिस अब ऑडियो की जांच में लग गई गई..
05:56

सीमापार से ज़ीरो घुसपैठ सुनिश्चित करने और आतंकवाद को पूरी तरह से खत्म करने के लिए सुरक्षा ग्रिड को और मजबूत किया जाना चाहिए-अमित शाह


नई दिल्ली:केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज जम्मू में जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल श्री मनोज सिन्हा और भारत सरकार व जम्मू-कश्मीर प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ जम्मू और कश्मीर में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की।

 

केंद्रीय गृह मंत्री ने सुरक्षा स्थिति में सुधार, 2018 में हुई 417 आतंकी घटनाएँ कम होकर 2021 में 229 होने और 2018 में शहीद हुए सुरक्षा बलों के जवानों की संख्या 91 से घटकर 2021 में 42 होने की सराहना की। श्री अमित शाह ने आतंकवादियों के खिलाफ सक्रिय अभियानों और उन्हें सुरक्षित पनाहगाह या वित्तीय सहायता से वंचित करने पर ज़ोर दिया। उन्होंने सुरक्षा बलों और पुलिस को प्रभावी आतंकवाद विरोधी अभियानों और जेलों से आतंकवादियों की निगरानी गतिविधियों के लिए वास्तविक समय आधारित समन्वय (Real Time Coordination) सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। गृह मंत्री ने नार्को आतंकवाद को रोकने के लिए जम्मू-कश्मीर में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) को और मजबूत करने का आदेश दिया।

05:53

देश की सुरक्षा के लिए अपने आपको पुन: समर्पित करे और सीआरपीएफ के ऐतिहासिक रिकॉर्ड को तेजस्विता के साथ और आगे बढ़ाने का संकल्प करे

रामजी पांडे

नई दिल्ली:केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह आज जम्मू में केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (CRPF) के 83वें स्थापना दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। इस अवसर पर केन्द्रीय गृह मंत्री ने परेड का निरीक्षण भी किया। समारोह में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल श्री मनोज सिन्हा, केन्द्रीय मंत्री श्री जितेन्द्र सिंह और केन्द्रीय गृह सचिव सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। ये पहला अवसर है जब सीआरपीएफ़ अपना स्थापना दिवस दिल्ली से बाहर मना रहा है।

अपने संबोधन में केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि भारत सरकार ने एक निर्णय किया है कि सभी केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ़) की वार्षिक परेड देश के अलग-अलग हिस्सों में आयोजित की जाएगी। इसके पीछे उद्देश्य है कि देश की सीमाओं की सुरक्षा और आंतरिक सुरक्षा में लगे सभी सीएपीएफ़ संगठन अलग-अलग हिस्सों में जाकर देश की जनता के साथ आत्मीय संबंध बनाएं और देश की संस्कृति के साथ घुलमिल कर अपने आप को सदैव ड्यूटी के लिए समर्पित करें। इसी के तहत सीआरपीएफ़ की वार्षिक परेड आज ऐतिहासिक शहर जम्मू में आयोजित की गई है।

श्री अमित शाह ने कहा कि इसी भूमि से पंडित प्रेमनाथ डोगरा और श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने कश्मीर को भारत का अटूट हिस्सा बताते हुए एक देश में दो प्रधान, दो निशान और दो विधान नहीं चलेंगे, इस पर आंदोलन किया था। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में आज श्यामाप्रसाद मुखर्जी और पंडित प्रेमनाथ डोगरा, दोनों का एक प्रधान, एक निशान और एक विधान का स्वप्न पूरा हुआ है।

05:49

भारत सरकार के पर्यटन सचिव श्री अरविंद सिंह ने सूरजकुंड शिल्प मेले को संबोधित किया


हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय और हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज 35वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेले का उद्घाटन किया। इस अवसर पर हरियाणा के पर्यटन वन, आतिथ्य और कला, शिक्षा, संसदीय कार्य मंत्री श्री कंवर पाल, उज़्बेकिस्तान दूतावास के विशिष्ठ राजदूत दिलशोद अखतोव, बड़खल की विधायक श्रीमती सीमा त्रिखा, भारत सरकार के केंद्रीय विद्युत और भारी उद्योग राज्य मंत्री श्री कृष्ण पाल, परिवहन, खान और भूविज्ञान, कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण एवं चुनाव मंत्री श्री मूल चंद शर्मा और भारत सरकार पर्यटन मंत्रालय के सचिव श्री अरविंद सिंह सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति और केंद्र सरकार एवं राज्य सरकारों के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001G2BC.jpg

उद्घाटन सत्र के दौरान हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने अपने संबोधन में सभ्यता और संस्कृति के विकास में कला और शिल्प के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने शिल्प मेला आयोजित करने के लिए केंद्र सरकार और हरियाणा सरकार के मंत्रालयों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे भारत के शिल्पियों के साथ-साथ प्रतिभागी देशों को अपने-अपने देशों की कला और शिल्प की समृद्ध विरासत को प्रस्तुत करने का अवसर मिलता है।

05:42

नीति आयोग 21 मार्च को वूमेन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया अवार्ड्स के 5वें संस्करण का आयोजन करेगा


नई दिल्ली:नीति आयोग का महिला उद्यमिता मंच (डब्ल्यूईपी) 21 मार्च 2022 को वूमेन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया अवार्ड्स (डब्ल्यूटीआई) के पांचवें संस्करण का आयोजन कर रहा है।

इस वर्ष, भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष का उत्सव मनाने के लिए आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में, डब्ल्यूटीआई पुरस्कार 75 महिलाओं को 'सशक्त और समर्थ भारत' के लिए उनके योगदान का उत्सव मनाने के लिए प्रदान किए जाएंगे।

एकजुटता और गठबंधन के प्रदर्शन में, यह पुरस्कार महिलाओं के समान रूप से असाधारण समूह द्वारा दिए जाएंगे। इस समूह में पुद्दुचेरी की पूर्व उपराज्यपाल किरण बेदी; संयुक्त राष्ट्र की पूर्व सहायक महासचिव लक्ष्मी पुरी; डॉ. टेसी थॉमस, रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन-डीआरडीओ में वैमानिकी प्रणाली की महानिदेशक, भारतीय स्टेट बैंक की पूर्व अध्यक्ष अरुंधति भट्टाचार्य; नैसकॉम की अध्यक्ष देबजानी घोष; विख्यात गायिका इला अरुण,; दूरदर्शन समाचार की पूर्व समाचार प्रस्तोता सलमा सुल्तान; अपोलो हॉस्पिटल्स की संयुक्त प्रबंध निदेशक डॉ. संगीता रेड्डी; और दा मिलानो लेदर्स की प्रबंध निदेशक शिवानी मलिक शामिल हैं।

स्पोर्ट्स चैंपियन और ट्रैक एंड फील्ड एथलीट शाइनी विल्सन; वर्ष 2000 के ओलंपिक खेलों में भारोत्तोलन स्पर्धा में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला कर्णम मल्लेश्वरी; बॉक्सिंग में टोक्यो ओलंपिक खेलों की पदक विजेता लवलीना बोर्गोहेन; एसएल-3 में दुनिया की नंबर 1 पैरा-बैडमिंटन एकल खिलाड़ी मानसी जोशी; टोक्यो 2020 ओलंपियन जिमनास्ट और 2019 एशियाई चैम्पियनशिप पदक विजेता प्रणति नाइक; और टोक्यो 2020 ओलंपियन और 2018 एआईबीए विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता सिमरनजीत कौर और महिला रक्षा अधिकारी भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगी।

नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी-सीईओ अमिताभ कांत और वरिष्ठ सलाहकार अन्ना रॉय; शोम्बी शार्प, भारत में यूएन रेजिडेंट कोऑर्डिनेटर; और डब्ल्यूईपी एंथम को लिखने, संगीतबद्ध और अपनी आवाज देने वाले कैलाश खेर, भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे।

वूमेन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया अवार्ड्स देश की महिलाओं का नेतृत्व करने और परिवर्तन करने वालों के सराहनीय और महत्वपूर्ण प्रयासों को उजागर करने के लिए नीति आयोग की वार्षिक पहल है।

 

निम्नलिखित सात श्रेणियों में से एक या एक से अधिक श्रेणियों के अंतर्ग्त 1 अक्टूबर 2021 से 21 फरवरी 2022 तक डब्ल्यूटीआई अवार्ड्स' 2021 के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे:

1.    सार्वजनिक और सामुदायिक सेवा

2.    विनिर्माण क्षेत्र

3.    गैर-विनिर्माण क्षेत्र

4.    आर्थिक विकास को सक्षम करने वाले वित्तीय उत्पाद

5.    जलवायु कार्रवाई

6.    कला, संस्कृति और हस्तशिल्प को बढ़ावा देना

7.    डिजिटल नवाचार

 

75 पुरस्कार विजेता विभिन्न क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं और कई महीनों तक चली एक विस्तृत प्रक्रिया के माध्यम से चुने गए हैं। पुरस्कार विजेताओं का चयन डब्ल्यूईपी पर प्राप्त नामांकन और एक खोज और चयन समिति द्वारा चुनाव के आधार पर किया गया है।

 

महिला उद्यमिता मंच के बारे में:

महिला उद्यमिता मंच (डब्ल्यूईपी) एक समूहक पोर्टल है जिसका उद्देश्य महिलाओं के लिए उद्यमशीलता इकोसिस्टम को प्रेरित करना और सूचना विषमता को दूर करना है। महिलाओं के नेतृत्व वाले उद्यमों के लिए एक जीवंत इकोसिस्टम का निर्माण करने के लिए, यह मंच उद्योग संबंधों को मजबूत करने और मौजूदा कार्यक्रमों और सेवाओं के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए काम करता है।

अब तक, मंच पर आयोजित 77 कार्यक्रमों और आयोजनों के माध्यम से 900 से अधिक महिला उद्यमियों को लाभ प्राप्त हुआ है।

इस मंच ने महिला उद्यमियों को व्यावसायिक सहायता प्रदान करने के लिए वेबिनार आयोजित करके और कोविड-19 के दौरान अपने मास्किंग इट अप अभियान के माध्यम से एक सक्रिय भूमिका निभाई, जिससे भारत में महिलाओं के नेतृत्व वाले छोटे व्यवसायों पर हुए प्रतिकूल प्रभाव को कम करने में सहायता मिली।

आयोजन की जानकारी:

दिनांक: 21 मार्च 2022

समय: सायं 7–9 बजे

 

इस आयोजन को देखने के लिए यहां क्लिक कीजिए:https://tinyurl.com/WTIAwards

 

TextDescription automatically generated


05:33

इथेनॉल मेथनॉल, बायोएथेनॉल बायो एनजी बायोडीजल बायो एलएनजी ग्रीन हाइड्रोजन और इलेक्ट्रिक में ही भविष्य निहित है


केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने चीनी मिलों को बदलते समय की वास्तविकताओं और राष्ट्र की आवश्यकताओं के अनुरूप चीनी को इथेनॉल में बदलने की अपील की है। श्री गडकरी ने चीनी और संबद्ध उद्योगों के नेताओं को चेतावनी जारी की कि यदि चीनी का उत्पादन अभी की ही तरह आगे बढ़ता रहा, तो यह आने वाले समय में उद्योग के लिए हानिकारक होगा। यह स्मरण कराते हुए कि एक देश के रूप में, हम चावल-अधिशेष, मक्का-अधिशेष और चीनी-अधिशेष हैं, श्री गडकरी ने कहा कि हमारे भविष्य के लिए चीनी का उत्पादन कम करना और इथेनॉल का उत्पादन बढ़ाना बेहतर है।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/png_20220320_140833_0000S5HW.png

 

श्री गडकरी आज 20 मार्च 2022 को मुंबई में चीनी और इथेनॉल भारत सम्मेलन (एसईआईसी) 2022 को संबोधित कर रहे थे। चीनी और संबद्ध उद्योगों के लिए समाचार और सूचना पोर्टल चीनीमंडी द्वारा आयोजित इस सम्मेलन में घरेलू और वैश्विक चीनी व्यापार में शीर्ष चुनौतियों और जोखिम प्रतिक्रिया रणनीतियों तथा भारत में एक अधिक नवोन्मेषी और स्थिर चीनी और इथेनॉल क्षेत्र का निर्माण करने की भविष्य की योजना पर चर्चा करने के लिएघरेलू और वैश्विक उद्योग के विख्यात विशेषज्ञों को एक साथ लाने की इच्छा जताई गई थी।

Wednesday, 16 March 2022

09:15

विदाई समारोह में अतिथियों ने दिए परीक्षा में सफलता के मंत्र


गोविन्द राणा बदायूं- संतोष कुमारी श्रवण कुमार अग्रवाल सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज उझानी बदायूं में आज द्वादश के छात्र छात्राओं के लिए शुभाशीष तथा विदाई कार्यक्रम में मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलन  विद्यालय के प्रबंधक महोदय श्री रतन जिंदल जी ,कोषाध्यक्ष श्री प्रदीप गोयल जी, उपाध्यक्ष डॉ आलोक गुप्ता जी, नगर संघचालक डॉ विजेंद्र जी ,चंपालाल सरस्वती शिशु मंदिर के अध्यक्ष श्री कमलेश जी, जिला प्रचारक श्री राज किशोर जी ,नगर कार्यवाह श्री शैलेंद्र जी ,अयोध्या अयोध्या प्रसाद सरस्वती विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य श्री घनश्याम जी तथा विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री विश्राम तथा अभिभावक उपस्थित रहे ।
इस अवसर पर विद्यालय के पूर्व छात्र प्रतीक तोमर का एमबीबीएस में नंबर आने पर विद्यालय की ओर से प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया। विद्यालय के प्रधानाचार्य जी ने द्वादश के छात्र छात्राओं को परीक्षा के लिए प्रोत्साहित किया । इस अवसर पर होली कार्यक्रम की प्रस्तुति छात्र छात्राओं के द्वारा की गई । मंचासीन द्वारा छात्र छात्राओं के उज्जवल भविष्य के लिए आशीर्वाद दिया ।  कार्यक्रम का संचालन श्री शैलेंद्र शर्मा जी ने किया तथा विद्यालय के अध्यापकों द्वारा छात्रों को शुभाशीष दिया ।

Tuesday, 15 March 2022

04:26

मानीताऊ कम्पनी के कर्मचारियों ने आम सभा का किया आयोजन - गंगेश्वर दत्त शर्मा

रामजी पांडे

ग़ेटर नोएडा, मैसर्स - मानिताऊ इक्यूपमेंट इण्डिया प्रा०लि०, प्लांट न0- 22 उधोग विहार, ग्रेटर के कर्मचारियों ने कम्पनी प्रबंधकों द्वारा गैरकानूनी तरीके से कार्य से रोके जाने के खिलाफ एवं कई मांगों को लेकर चले आन्दोलन की समीक्षा के लिए सूरजपुर ग्रेटर नोएडा पार्क में आमसभा किया। यूनियन की तरफ से आंदोलन में मदद सहयोग करने वाले सभी साथियों का आभार व्यक्त किया और ट्रेड यूनियन के आह्वान पर 28 व 29 मार्च 2022 को होनेवाली देशव्यापी हड़ताल को ग्रेटर नोएडा में सफल बनाने का निर्णय लिया गया।  
 आम सभा को सीटू जिलाध्यक्ष- गंगेश्वर दत्त शर्मा, महासचिव- राम सागर, कोषाध्यक्ष रामस्वारथ श्रमिक नेता मोहम्मद फिरोज, संतोष आदि ने संबोधित किया। 

 

Monday, 14 March 2022

23:12

समग्र योजना, एकीकृत प्रबंधन और संयुक्त प्रयासों के माध्यम से हम आने वाली पीढ़ियों को बेहतर संसाधन उपलब्ध कराने की दिशा में आगे बढ़ सकते हैं'

रामजी पांडे

नई दिल्ली केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री भूपेंद्र यादव और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने राज्य मंत्री, एमओईएफ एंड सीसी श्री अश्विनी कुमार चौबे के साथ संयुक्त रूप से वानिकी संबंधी पहलों के माध्यम से 13 प्रमुख नदियों के कायाकल्प पर विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) जारी की। झेलम, चिनाब, रावी, ब्यास, सतलुज, यमुना, ब्रह्मपुत्र, लूनी, नर्मदा, गोदावरी, महानदी, कृष्णा और कावेरी इन 13 नदियों के लिए डीपीआर जारी किए गए हैं। डीपीआर को राष्ट्रीय वनीकरण और पर्यावरण विकास बोर्ड (एमओईएफ एंड सीसी) द्वारा वित्तपोषित किया गया और इसे भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद (आईसीएफआरई) देहरादून, द्वारा तैयार किया गया। इस अवसर पर श्रीमती लीना नंदन, सचिव, एमओईएफ एंड सीसी, श्री सीपी गोयल वन महानिदेशक एवं विशेष सचिव एमओईएफ एंड सीसी, श्री अरुण सिंह रावत महानिदेशक आईसीएफआरई भी उपस्थित थे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001YZA9.jpg

 

नदी पारिस्थितिकी तंत्र के सिकुड़ने और उसके क्षरण के कारण ताजा पानी के संसाधनों के घटने से बढ़ता जल संकट पर्यावरण, संरक्षण, जलवायु परिवर्तन और सतत विकास से संबंधित राष्ट्रीय लक्ष्यों को हासिल करने में बड़ी बाधा है। 13 नदियां सामूहिक रूप से 18,90,110 वर्ग किमी के कुल बेसिन क्षेत्र को आच्छादित करती हैं, जो देश के भौगोलिक क्षेत्र का 57.45 फीसदी हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है। परियोजना के अंतर्गत 202 सहायक नदियों सहित 13 नदियों की लंबाई 42,830 किमी है।

सभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय पर्यावरण मंत्री श्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि ये डीपीआर आने वाले 25 वर्षों को 'अमृत काल' के रूप में बनाने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समग्र दृष्टिकोण के अनुरूप हैं। ये डीपीआर आगामी 10 वर्षों और 20 वर्षों के लिए ग्रीन कवर विस्तार का लक्ष्य तैयार करेंगे, जिससे वर्तमान पीढ़ी की 'वन भागीदारी और जन भागीदारी' पहल के माध्यम से आने वाली पीढ़ियों के लिए 'ग्रीन इंडिया' मिले। श्री यादव ने आगे कहा कि परियोजनाओं से बढ़ता जल संकट कम होगा और जलवायु परिवर्तन व सतत विकास से संबंधित राष्ट्रीय लक्ष्यों को हासिल करने में मदद मिलेगी।

23:09

एनजीडीआरएस सॉफ्टवेयर के प्रयोग से राज्य सरकारों को भू-राजस्व में उल्लेखनीय वृद्धि हुई: श्री गिरिराज सिंह

रामजी पांडे

नई दिल्ली केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री श्री गिरिराज सिंह ने घोषणा की कि जल्द ही देश के लोग अपनी भूमि का रिकॉर्ड अपनी भाषा में प्राप्त कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि भूमि संसाधन विभाग, ग्रामीण विकास मंत्रालय, अप्रैल 2022 से बहुभाषी सॉफ्टवेयर शुरू करने की योजना बना रहा है। उसके बाद, भूमि रिकॉर्ड 22 भाषाओं में उपलब्ध होगा। मंत्री बजट में घोषित भूमि शासन सुधारों पर एक ई-पुस्तक का विमोचन करने के बाद बोल रहे थे, जिसका शीर्षक था "Empowering Citizens- Powering India" (नागरिकों को सशक्त बनाना-भारत को सशक्त बनाना)"।

स्वदेशी रूप से विकसित एनजीडीआरएस (राष्ट्रीय सामान्य दस्तावेज़ पंजीकरण प्रणाली) सॉफ्टवेयर पर बोलते हुए, श्री गिरिराज सिंह ने कहा कि एनजीडीआरएस सॉफ्टवेयर लगभग 4 करोड़ में तैयार किया गया है, लेकिन इस सॉफ्टवेयर के उपयोग के परिणामस्वरूप राज्य सरकारों को भू-राजस्व में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। मंत्री ने कहा कि एनजीडीआरएस 13 राज्यों में लागू किया जा रहा है, जिससे 22 करोड़ लोगों को लाभ होगा। अब तक इस प्रणाली के माध्यम से 30.9 लाख दस्तावेज पंजीकृत किये जा चूके हैं, जिनसे 16 हजार करोड़ से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ है।


23:08

दोनों पक्षों ने स्वास्थ्य कर्मियों के लिए संयुक्त प्रशिक्षण कार्यक्रमों पर चर्चा की tni

रामजी पांडे

नई दिल्ली:डेनमार्क के स्वास्थ्य मंत्री, मैग्नस ह्यूनिक ने केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री एवं पृथ्वी विज्ञान राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार),  प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्य मंत्री, डॉ. जितेंद्र सिंह से भेंट की एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के लिए संयुक्त प्रशिक्षण कार्यक्रमों पर चर्चा की।

 

मैग्नस ह्यूनिक ने डॉ. जितेंद्र सिंह को सूचित किया कि डेनमार्क का नोवो नॉर्डिस्क फाउंडेशन अस्थायी अस्पताल परियोजना की सफलता से प्रेरित होकर भारत में कार्यान्वयन के लिए 10 करोड़ अमेरिकी डॉलर की परियोजना तैयार कर रहा है। यह परियोजना कार्डियो-मेटाबोलिक रोगों में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के अनुसंधान-निर्देशित प्रशिक्षण पर ध्यान केंद्रित करेगी तथा यह  कार्यक्रम प्रारंभिक चरण के मधुमेह और अन्य ऐसे सीएमडी रोगों के गैर-फार्मा प्रबंधन में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने के लिए एक स्थायी प्रणाली तैयार करेगा।

डेनमार्क के स्वास्थ्य मंत्री के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने अपने भारतीय समकक्षों के साथ विशेष रूप से हरित सामरिक भागीदारी जैसे क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग की प्रगति की समीक्षा की।

23:06

विकसित किए गए टच-लेस टच स्क्रीन प्रौद्योगिकी लगा सकती है संपर्क से फैलने वाले वायरस पर लगाम tni

रामजी पांडे

नई दिल्ली:भारतीय वैज्ञानिकों ने कम लागत वाला एक टच-कम-प्रॉक्सिमिटी सेंसर अर्थात स्पर्श-सह-सामीप्य संवेदक विकसित करने के लिए प्रिंटिंग तकनीक के जरिये एक किफायती समाधान प्रदान किया है जिसे टचलेस टच सेंसर कहा जाता है।

कोरोनावायरस महामारी ने हमारी जीवन शैली को महामारी परिदृश्यों के अनुकूल बनाने के प्रयासों को तेज कर दिया है। कामकाज स्वाभाविक रूप से वायरस फैलने के जोखिम को कम करने के लिए रणनीतियों से प्रेरित हो गया हैं, खासतौर से सार्वजनिक स्थलों पर जहां सेल्फ-सर्विस कियोस्क, एटीएम और वेंडिंग मशीनों पर टचस्क्रीन लगभग अपरिहार्य हो गए हैं।
हाल ही में भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) के स्वायत्त संस्थानों के नैनो और सॉफ्ट मैटर साइंसेज (सीईएनएस) तथा जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस एंड साइंटिफिक रिसर्च (जेएनसीएएसआर), बेंगलुरु के वैज्ञानिकों ने प्रिंटिंग एडेड पैटर्न (लगभग 300 माइक्रोन का रिजॉल्यूशन) पारदर्शी इलेक्ट्रोड के उत्पादन के लिए एक अर्ध-स्वचालित उत्पादन संयंत्र स्थापित किया है जिसमें उन्नत टचलेस स्क्रीन प्रौद्योगिकियों में उपयोग किए जाने की क्षमता है।
प्रो. जी. यू. कुलकर्णी और सहकर्मियों के नेतृत्व में और सीईएनएस में डीएसटी-नैनोमिशन द्वारा वित्त पोषित टीम द्वारा किया गया यह कार्य हाल ही में ’मैटेरियल्स लेटर्स’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे वैज्ञानिक डॉ. आशुतोष के. सिंह ने कहा, ’’हमने एक टच सेंसर बनाया है जो डिवाइस से 9 सेमी की दूरी से भी नजदीकी या आसपास मडराने वाली चीजों के स्पर्श को महसूस करता है।’’
शोधपत्र के एक अन्य सह-लेखक डॉ. इंद्रजीत मंडल ने कहा, ’’हम अन्य स्मार्ट इलेक्ट्रॉनिक अनुप्रयोगों के लिए उनकी व्यावहारिकता साबित करने के लिए अपने पैटर्न वाले इलेक्ट्रोड का उपयोग करके कुछ और प्रोटोटाइप बना रहे हैं। इन पैटर्न वाले इलेक्ट्रोड को सहयोगी परियोजनाओं का पता लगाने के लिए इच्छुक उद्योगों और आरएंडडी प्रयोगशालाओं को अनुरोध के आधार पर उपलब्ध कराया जा सकता है।’’
नए, कम लागत पैटर्न वाले पारदर्शी इलेक्ट्रोड में उन्नत स्मार्ट इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों जैसे टचलेस स्क्रीन तथा सेंसर में उपयोग किए जाने की काफी संभावना है। यह टचलेस टच सेंसर तकनीक संपर्क से फैलने वाले वायरस को फैलने से रोकने में मदद कर सकती है।

IMG_256


23:03

103.40 लाख किसान 1,43,380.03 करोड़ रुपये के न्यूनतम समर्थन मूल्य भुगतान से लाभान्वित हुए हैं

रामजी पांडे

नई दिल्ली:खरीफ विपणन सत्र (केएमएस) 2021-22 में किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीद सुचारू रूप से की जा रही है, जिस प्रकार से पिछले वर्षों में होती रही है।

खरीफ विपणन सत्र 2021-22 में दिनांक 13.03.2022 तक चंडीगढ़, गुजरात, असम, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, तेलंगाना, राजस्थान, केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, एनईएफ (त्रिपुरा), बिहार, ओडिशा, महाराष्ट्र, पुद्दुचेरी, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों में 731.53 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की खरीद की गई है।

अब तक लगभग 103.40 लाख किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 1,43,380.03 करोड़ रुपये के भुगतान से लाभान्वित हो चुके हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001BOYB.png

 

राज्यवार धान की खरीद केएमएस 2021-22 में (13.03.2022 तक) / 14.03.2022 के अनुसार

 

राज्य/केंद्र शासित प्रदेश

धान खरीद की मात्रा (एमटी)

लाभान्वित किसानों की संख्या

न्यूनतम समर्थन मूल्य (करोड़ रुपये में)

आंध्र प्रदेश

3753713

580467

7357.28

तेलंगाना

7022000

1062428

13763.12

असम

86173

12242

168.9

बिहार

4489978

642175

8800.36

चंडीगढ़

27286

1781

53.48

छत्तीसगढ़

9201000

2105972

18033.96

गुजरात

121865

25081

238.86

हरियाणा

5530596

310083

10839.97

हिमाचल प्रदेश

27628

5851

54.15

झारखंड

490348

94625

961.08

जम्मू और कश्मीर

40520

8724

79.42

कर्नाटक

173408

58027

339.88

केरल

275449

109206

539.88

मध्य प्रदेश

4582610

661756

8981.92

महाराष्ट्र

1335973

474855

2618.51

ओड़िशा

5574670

1245961

10926.35

पुद्दुचेरी

217

37

0.42

पंजाब

18685532

924299

36623.64

एनईएफ त्रिपुरा

31250

14575

61.25

तमिलनाडु

2383021

355000

4670.72

उत्तर प्रदेश

6553029